Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Overview

Benefits of Long Pepper (Pippali) And Its Side Effects

Indian long pepper has a ton of health benefits. It is good for diabetics as it helps control the sugar levels in the blood. It prevents liver ailments from occurring, such as jaundice. It can fight against bacterial infections and is good for weight loss as well. It is a known aphrodisiac and can bring back vitality and your libido into the bedroom. It is also a good cure for erectile dysfunction and cramps. It improves skeletal health. Indian long pepper is also known to help during menstruation and can make the cycle easier for women. It stimulates the flow of oxygen in the body. It can also relieve chronic headache and toothache. It is a good remedy for cholera and epilepsy. It can be used to speed up the recovery from a cough or cold and also reduces fever. It helps with indigestion and is a good remedy for diarrhea.It also helps with asthma.

Benefits of Long Pepper (Pippali) And Its Side Effects

Table of Content

Long Pepper (Pippali)
Nutritional Value of Long Pepper (Pippali)
Health Benefits of Long Pepper (Pippali)
It is good for diabetics
It prevents liver ailments
It fights against bacterial infections
It helps with weight loss
It oxygenates the body
It improves skeletal health
It good for menstrual problems
It’s an aphrodisiac
Other benefits
Uses of Long Pepper (Pippali)
Side-Effects & Allergies of Long Pepper (Pippali)
Cultivation of Long Pepper (Pippali)

Long Pepper (Pippali)

Long pepper is also known as pippali and is a very unique spice to have in your arsenal. It is the fruit of the piper lognum and unlike many other fruits and spices, it is more beneficial to your health when it is still unripe. It is dried under the sun, in slight shade, and then used. This pepper, also called Indian long pepper, is widely used in Ayurvedic medicine. It has various health benefits.

Nutritional Value of Long Pepper (Pippali)

Indian long pepper, or pippali, is rich in alkaloids, beta sitosterol, and analgesic. It also has a ton of eugenol, glycosides, piperine, resins, sugar, saturated fat, essential oil, volatile oil, piplartine, myrcene, terpenoids, quercetin, triacontane, and sylvatine. These are all essential nutrients and compounds that contribute to the better functioning of your entire system.

Health Benefits of Long Pepper (Pippali)

Mentioned below are the best health benefits of Long Pepper (Pippali)
Health Benefits of Long Pepper (Pippali)

It is good for diabetics

Diabetes is an extremely common disease that occurs when the glucose levels in the blood are too high or low. This can lead to many problems in the system, including organ failure, amputation, and even death, if left unchecked. Patients who have diabetes are told that though there is no hard and fast cure for this disease, the best way to handle it is to manage or control it. Indian long pepper has been used as a remedy for this disease in Ayurvedic medicine for a long time. It helps by regulating the amount of sugar in the blood, making the condition far more manageable and harmless.

It prevents liver ailments

A healthy liver ensures a healthy system. It plays a vital role in the way your digestive system works and also impacts the way certain enzymes and hormones are secreted in your body. These days, liver problems are incredibly common as we all tend to eat a lot of processed foods, which leads to many liver ailments occurring. Long pepper has components that are known to protect the liver. It can make sure that the liver toxicity is always managed, and it also prevents jaundice from occurring.

It fights against bacterial infections

Indian long pepper has strong antibacterial qualities. As bacteria are something that is always present around you, not much can be done in order to prevent your body’s exposure to the same. However, you can certainly prevent bacterial infections from occurring. Long pepper protects the body from bacterial infections. It also has anti-amoebic properties that help it do so. The root or stem of the pepper can be ingested in order to gain this protection.

It helps with weight loss

As we are constantly exposed to processed foods and junk food, and are becoming increasingly accustomed to consuming the same instead of healthy home foods, more and more people are becoming obese. The world is extremely obsessed with the idea of weight loss not just because of beauty standards and self-image, but because of health reasons. Indian long pepper helps with weight loss. It basically reduces the fat in the body and also gets rid of fatty toxins, which helps you lose the additional weight. Unlike diets or weight loss drugs, Indian long pepper does not hae any adverse effects on your body when used for weight loss.

It oxygenates the body

In order for your organs to work at their highest potential, they must receive oxygen and, in turn, energy from the lungs. When they don’t receive as much oxygen as they need, or at the rate that they need it at, it can lead to a ton of medical complications, such as organ failure and sepsis. It is extremely important for oxygen to flow throughout your blood properly without any problems from occurring. Indian long pepper helps stimulate the flow of oxygen to the brain and the organs.

It improves skeletal health

Strong bones mean a strong structure for your body. Indian long leaves help strengthen your entire skeletal system and improve the overall health of your bones. This can help make you feel stronger and more at ease. People with weak bones can suffer from fractures and other bone problems as time goes on.

It good for menstrual problems

Indian long pepper has been used to combat menstrual problems since time immemorial. It can help curb heavy menstrual flow and can also help with menstrual cramps. It even combats fatigue and some of the symptoms of PMS. Furthermore, Indian long pepper has been used by pregnant women who are in labor to stimulate the contractions of the uterus and speed up the delivery. Many women also consume this spice after the baby is born in order to stimulate the quick healing of the uterus. It is said to be extremely beneficial in these cases.

It’s an aphrodisiac

Indian long pepper also has the properties of an aphrodisiac. It can calm you down and relax your body. It promotes longevity and can also be used as a viable remedy for erectile dysfunction. Another great use for Indian long pepper is that it can also be used to stimulate the libido.

Other benefits

Apart from the health benefits listed above, Indian long pepper can be used for the other benefits it provides as well. It can help relieve chronic headache and toothache. It is a good remedy for cholera and epilepsy. It can be used to speed up the recovery from a cough or cold and also reduces fever. It helps with indigestion and is a good remedy for diarrhea. It can also help people with bronchitis and asthma. Furthermore, it is also used to treat patients who are in a coma. Indian long pepper can be used to improve your skin and also fight the effects of ageing on the skin. It can be used to prevent strokes from occurring. It can also be used to deal with stomach aches.

Uses of Long Pepper (Pippali)

Indian long pepper has a host of uses when it comes to Ayurvedic medicine. Apart from this, it is used in Indian and Asian cooking as it provides a great flavor to the food. In some cases, it is also used to flavor drinks.

Side-Effects & Allergies of Long Pepper (Pippali)

Indian long pepper is a completely natural and organic herb and does not pose a threat to your body. There are no known side effects of using this spice for your health. If you have never used it before, you can perform a patch test in order to feel more comfortable before you use it properly. This can help you determine whether or not you are allergic to this spice. You should always consult your doctor before adding anything new to your diet or lifestyle. If you are using this spice mainly because it is an aphrodisiac, you can consult with your sex therapist to make sure that it can work for you and your partner. You can always include it in your diet while cooking to let it blend with the rest of the flavors of the food in case you do not like the bitter, peppery taste that it has.

Cultivation of Long Pepper (Pippali)

As the name suggests, Indian long pepper comes from India and many regions in the Indian subcontinent. It is described in ancient ayurvedic texts along with its many health benefits. The spice was widely used in India, and then made its way to Greece and Rome in the 6th century. It became a very well-known spice throughout the world as travelers and merchants often traded in spices, which lead to it being discovered and used in many countries apart from India. Now, it is easily found everywhere in the world.

Popular Health Tips

Long Pepper (Pippali) Benefits and Side Effects in Hindi - पिप्पली के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Long Pepper (Pippali) Benefits and Side Effects in Hindi - पिप्पली के फायदे और नुकसान

छोटा पीपल के उपनाम से मशहूर पिप्पली के फायदे औषधीय रूप से बहुत ज्यादा है. इसके अलावा इसे मसाले के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं. लगभग शहतूत के फल के आकार वाले पिप्पली के नुकसान भी हैं. गहरे हरे रंग और ह्रदय के आकार वाले चौड़े पत्तों व कोमल लताओं वाले पिप्पली के कच्चे फलों का रंग गहरा हरा और पकने के बाद काला हो जाता है.

पहले जानते हैं पिप्पली के फायदों को
1. दिल के मामलों में

दिल की बीमारियों में भी पिप्पली के फायदे दिखाते हैं. इसका चूर्ण बनाकर शहद में मिलाकर सुबह खाने से कोलेस्ट्राल नियंत्रित होता है. इसके अलावा पिप्पली और छोटी हरड़ की समान मात्रा पीसकर एक चम्मच सुबह-शाम गुनगुने पानी के साथ लेने से पेट दर्द, मरोड़ और दुर्गन्धयुक्त अतिसार में राहत मिलती है.
2. साँसों की बीमारी में
यदि आपको साँसों की बिमारी है तो इसमें भी आप पिप्पली के फायदे से राहत पा सकते हैं. इसके लिए आपको 2 ग्राम पिप्पली का चूर्ण बनाकर 4 कप पानी में उबाल लें. जब यह 2 कप रह जाए तो इसे छान लें. इसे 2-3 घंटे के अंतर पर थोड़ा-थोड़ा दिन भर पीते रहने से कुछ ही दिनों में सांस फूलने की समस्या से राहत मिलेगी.
3. सर दर्द में
इसे पानी में पीसकर माथे पर लेप लगाने से सिर दर्द में फायदा मिलता है. इसके लिए पिप्पली और वच चूर्ण को बराबर मात्रा में मिला लें. फिर इसकी 3 ग्राम नियमित रूप से दो बार दूध या गर्म पानी के साथ लेने से सर दर्द में राहत मिलती है.
4. मोटापा से भी राहत
मोटापे में पिप्पली के फायदे लेने के लिए आपको इसका चूर्ण लगभग आधा ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम शहद के साथ रोजाना 1 महीने तक सेवन करने से मोटापा कम होता है. इसके अलावा पिप्पली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबालकर उसमें से पिप्पली निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पिने से भी मोटापे से राहत मिलती है.
5. छुआ-छूत के रोगों में
इसमें पाए जाने वाले प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के गुण से टी.बी. एवं अन्य संक्रामक रोगों में पिप्पली फायदेमंद है. इसके अलावा पिप्पली अनेक आयुर्वेदीय एंव आधुनिक दवाओं की कार्यक्षमता को बढ़ाने में मदद करती है.
पिप्पली के कई फायदों में से एक ये भी है कि इसके 1-2  ग्राम चूर्ण में सेंधानमक, हल्दी और सरसों का तेल मिलाकर दांतों पर लगाने से दांत के दर्द से राहत मिलती है. 
6. वात से उत्पन्न रोगों में
इसके लिए आपको 5-6 पुरानी पिप्पली के पौधे का जड़ सुखाकर उसका चूर्ण बनाना होगा. आपको बता दें कि इस चूर्ण की 1-3 ग्राम मात्रा को गर्म पानी या गर्म दूध के साथ पिलाने से शरीर के किसी भी हिस्से में होने वाले दर्द से 1-2 घंटे में ही राहत मिल जाती है. बुढ़ापे में इससे विशेष रूप से राहत मिलती है.
7. सर्दी जुकाम में
सर्दी जुकाम में पिप्पली का फायदा उठाने के लिए इसका मूल, काली मिर्च और सौंठ की बराबर मात्रा में चूर्ण लेकर इसकी 2 ग्राम की मात्रा शहद के साथ चाटने से जुकाम में राहत मिलती है. इसके अलावा आधा चम्मच पिप्पली चूर्ण में समान मात्रा में भुना जीरा तथा थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर छाछ के साथ सुबह खाली पेट लेने से बवासीर में भी लाभ होता है.

पिप्पली के नुकसान
1. बिना किसी सावधानी के, पंचकर्म और रसायन प्रक्रिया के बिना, पिप्पली को अधिक मात्रा या लंबे समय के लिए इस्तेमाल नुकसानदेह साबित हो सकता है. इससे काफ में वृद्धि होती है. पिप्पली की अन्दुरुनी गरमी के कारण पित्त दोष बढ़ता है. इसकी कम चिकनाई (Alpasneha) के कारण, यह वात संतुलन के लिए जिम्मेदार मानी जाती है.
2. छोटे बच्चों को शिशुओं को इसके सेवन से बचाना चाहिए.
3. दूध और घी के साथ, यह प्रति दिन 250 मिलीग्राम की एक छोटी खुराक में बच्चों को दिया जा सकता है.
4. जो महिलाएं स्तनपान कराती हैं वैसी माताओं को भी यह कम मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए.
5. जो महिलाएं गर्भावस्था में हैं उन्हें इसके उपयोग के लिए, अपने चिकित्सक की सलाह ज़रूर लेना चाहिए.
 

1 person found this helpful

Long Pepper (Pippali) Benefits and Side Effects in Hindi - पिप्पली के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Long Pepper (Pippali) Benefits and Side Effects in Hindi - पिप्पली के फायदे और नुकसान

छोटा पीपल के उपनाम से मशहूर पिप्पली के फायदे औषधीय रूप से बहुत ज्यादा है. इसके अलावा इसे मसाले के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं. लगभग शहतूत के फल के आकार वाले पिप्पली के नुकसान भी हैं. गहरे हरे रंग और ह्रदय के आकार वाले चौड़े पत्तों व कोमल लताओं वाले पिप्पली के कच्चे फलों का रंग गहरा हरा और पकने के बाद काला हो जाता है.

पहले जानते हैं पिप्पली के फायदों को

1. दिल के मामलों में
दिल की बीमारियों में भी पिप्पली के फायदे दिखाते हैं. इसका चूर्ण बनाकर शहद में मिलाकर सुबह खाने से कोलेस्ट्राल नियंत्रित होता है. इसके अलावा पिप्पली और छोटी हरड़ की समान मात्रा पीसकर एक चम्मच सुबह-शाम गुनगुने पानी के साथ लेने से पेट दर्द, मरोड़ और दुर्गन्धयुक्त अतिसार में राहत मिलती है.
2. साँसों की बीमारी में
यदि आपको साँसों की बिमारी है तो इसमें भी आप पिप्पली के फायदे से राहत पा सकते हैं. इसके लिए आपको 2 ग्राम पिप्पली का चूर्ण बनाकर 4 कप पानी में उबाल लें. जब यह 2 कप रह जाए तो इसे छान लें. इसे 2-3 घंटे के अंतर पर थोड़ा-थोड़ा दिन भर पीते रहने से कुछ ही दिनों में सांस फूलने की समस्या से राहत मिलेगी.
3. सर दर्द में
इसे पानी में पीसकर माथे पर लेप लगाने से सिर दर्द में फायदा मिलता है. इसके लिए पिप्पली और वच चूर्ण को बराबर मात्रा में मिला लें. फिर इसकी 3 ग्राम नियमित रूप से दो बार दूध या गर्म पानी के साथ लेने से सर दर्द में राहत मिलती है.
4. मोटापा से भी राहत
मोटापे में पिप्पली के फायदे लेने के लिए आपको इसका चूर्ण लगभग आधा ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम शहद के साथ रोजाना 1 महीने तक सेवन करने से मोटापा कम होता है. इसके अलावा पिप्पली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबालकर उसमें से पिप्पली निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पिने से भी मोटापे से राहत मिलती है.
5. छुआ-छूत के रोगों में
इसमें पाए जाने वाले प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के गुण से टी.बी. एवं अन्य संक्रामक रोगों में पिप्पली फायदेमंद है. इसके अलावा पिप्पली अनेक आयुर्वेदीय एंव आधुनिक दवाओं की कार्यक्षमता को बढ़ाने में मदद करती है.
पिप्पली के कई फायदों में से एक ये भी है कि इसके 1-2  ग्राम चूर्ण में सेंधानमक, हल्दी और सरसों का तेल मिलाकर दांतों पर लगाने से दांत के दर्द से राहत मिलती है. 
6. वात से उत्पन्न रोगों में
इसके लिए आपको 5-6 पुरानी पिप्पली के पौधे का जड़ सुखाकर उसका चूर्ण बनाना होगा. आपको बता दें कि इस चूर्ण की 1-3 ग्राम मात्रा को गर्म पानी या गर्म दूध के साथ पिलाने से शरीर के किसी भी हिस्से में होने वाले दर्द से 1-2 घंटे में ही राहत मिल जाती है. बुढ़ापे में इससे विशेष रूप से राहत मिलती है.
7. सर्दी जुकाम में
सर्दी जुकाम में पिप्पली का फायदा उठाने के लिए इसका मूल, काली मिर्च और सौंठ की बराबर मात्रा में चूर्ण लेकर इसकी 2 ग्राम की मात्रा शहद के साथ चाटने से जुकाम में राहत मिलती है. इसके अलावा आधा चम्मच पिप्पली चूर्ण में समान मात्रा में भुना जीरा तथा थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर छाछ के साथ सुबह खाली पेट लेने से बवासीर में भी लाभ होता है.

पिप्पली के नुकसान
1. बिना किसी सावधानी के, पंचकर्म और रसायन प्रक्रिया के बिना, पिप्पली को अधिक मात्रा या लंबे समय के लिए इस्तेमाल नुकसानदेह साबित हो सकता है. इससे काफ में वृद्धि होती है. पिप्पली की अन्दुरुनी गरमी के कारण पित्त दोष बढ़ता है. इसकी कम चिकनाई (Alpasneha) के कारण, यह वात संतुलन के लिए जिम्मेदार मानी जाती है.
2. छोटे बच्चों को शिशुओं को इसके सेवन से बचाना चाहिए.
3. दूध और घी के साथ, यह प्रति दिन 250 मिलीग्राम की एक छोटी खुराक में बच्चों को दिया जा सकता है.
4. जो महिलाएं स्तनपान कराती हैं वैसी माताओं को भी यह कम मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए.
5. जो महिलाएं गर्भावस्था में हैं उन्हें इसके उपयोग के लिए, अपने चिकित्सक की सलाह ज़रूर लेना चाहिए.
 

2 people found this helpful

Table of Content

Long Pepper (Pippali)
Nutritional Value of Long Pepper (Pippali)
Health Benefits of Long Pepper (Pippali)
It is good for diabetics
It prevents liver ailments
It fights against bacterial infections
It helps with weight loss
It oxygenates the body
It improves skeletal health
It good for menstrual problems
It’s an aphrodisiac
Other benefits
Uses of Long Pepper (Pippali)
Side-Effects & Allergies of Long Pepper (Pippali)
Cultivation of Long Pepper (Pippali)