Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call
Breach Candy Hospital, Mumbai

Breach Candy Hospital

  4.3  (12 ratings)

Multi-speciality Hospital (Dentist, Dermatologist & more)

# 60 A, Bhulabhai Desai Road, Breach Candy. Landmark: Next To Mahalakshmi Temple. Mumbai
136 Doctors · ₹0 - 3000
Book Appointment
Call Clinic
Breach Candy Hospital   4.3  (12 ratings) Multi-speciality Hospital (Dentist, Dermatologist & more) # 60 A, Bhulabhai Desai Road, Breach Candy. Landmark: Next To Mahalakshmi Temple. Mumbai
136 Doctors · ₹0 - 3000
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Feed
Services

About

We will always attempt to answer your questions thoroughly, so that you never have to worry needlessly, and we will explain complicated things clearly and simply....more
We will always attempt to answer your questions thoroughly, so that you never have to worry needlessly, and we will explain complicated things clearly and simply.
More about Breach Candy Hospital
Breach Candy Hospital is known for housing experienced General Physicians. Dr. Hemant Thacker, a well-reputed General Physician, practices in Mumbai. Visit this medical health centre for General Physicians recommended by 43 patients.

Timings

MON, THU
12:00 AM - 11:00 PM
TUE-WED, FRI-SAT
12:00 AM - 09:00 PM
SUN
12:00 AM - 10:55 AM

Location

# 60 A, Bhulabhai Desai Road, Breach Candy. Landmark: Next To Mahalakshmi Temple.
Breach Candy Mumbai, Maharashtra - 400026
Get Directions

Doctors in Breach Candy Hospital

Dr. Hemant Thacker

MBBS, MD - Medicine
General Physician
38 Years experience
2000 at clinic
Unavailable today

Dr. Pradeep Moonot

FRCS - Trauma & Orthopedic, Membership of the Royal College of Surgeons (MRCS), MS - Orthopaedics
Orthopedist
18 Years experience
Unavailable today

Dr. Ashok Dabir

BDS, MDS - Oral & Maxillofacial Surgery
Oral And Maxillofacial Surgeon
49 Years experience
Unavailable today

Dr. Nitin

MBBS
Neurologist
Available today
09:00 AM - 09:00 PM

Dr. Sudhir Gokral

MBBS, DGO, MD - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist
45 Years experience
1500 at clinic
Unavailable today

Dr. Reshma Rao

MD - Obstetrics & Gynaecology, DGO, MBBS
Gynaecologist
40 Years experience
2500 at clinic
Available today
06:00 PM - 08:00 PM
10 Years experience
500 at clinic
Unavailable today

Dr. Rajesh

MBBS
Cardiologist
3000 at clinic
Unavailable today
Available today
05:00 PM - 07:40 PM
1000 at clinic
Unavailable today
Available today
09:00 AM - 09:00 PM
48 Years experience
Available today
09:00 AM - 09:00 PM

Dr. Duru Shah

Gynaecologist
Available today
09:00 AM - 09:00 PM

Dr. Phiroze Soonawala

MBBS, MS - Urology, M.Ch (Urology), DNB (Urology), Fellowship of the Royal College of Surgeons (FRCS)
Urologist
35 Years experience
Unavailable today
Available today
09:00 AM - 09:00 PM

Dr. Samir Dalvie

MBBS, MS Orth
Orthopedist
28 Years experience
Available today
09:00 AM - 09:00 PM
Available today
09:00 AM - 09:00 PM
3000 at clinic
Unavailable today
Available today
09:00 AM - 09:00 PM
View All
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Breach Candy Hospital

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Fistula Treatment By Kshar Sutra

B.A.M.S
Ayurveda, Gorakhpur
Fistula Treatment By Kshar Sutra

Anal rectal problem fistula is most common problem at this time. And mostly it is misdiagnosed and people get operated as rectal access.
Most common feature are a boil around anus, pus supurating boil near anus. Musilaginous white or watery discharge near anus. Wet feeling always near anus. Painful protuted boil near anus. Sometimes anorectal abcess.

Now we have to to whom should I contact for this very problem.
First people should go for ayurvedic kshar sutra practitioner who is best for it's cure. Because fistula treatment by other surgical methods or medication, are very recurrent in nature. They again come with same symptoms. In a week, months, years.
And when we treat it with kshar sutra it is 100percent treated. Never comes again. And this kshar sutra method never injure the muscular rings of the anal canal and very safe method. Thanks

Tattoo Banvane ke Nuksan in Hindi - टैटू बनवाने के नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Tattoo Banvane ke Nuksan in Hindi - टैटू बनवाने के नुकसान

टैटू का आजकल के युवाओं में काफी ट्रेंड है. इसकी लोकप्रियता आजकल बहुत ज्यादा होती जा रही है. इसकी लोकप्रियता इतनी ज्यादा है कि आजकल महिलाएं और लड़कियाँ भी काफी टैटू बनवा रहे हैं. लेकिन इससे होने वाले नुकसान को कोई नहीं जानता है. यदि आप इससे होने वाले नुकसान को भी ध्यान में रखें तो आप इससे होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं. इसलिए आइए आपको हम टैटू से होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार से बताएं.
1. त्वचा की समस्या
ये तो आपको भी पता है कि टैटू आजकल के युवाओं में एक तरह का स्टाइल स्टेटमेंट बनता जा रहा है. आजकल के युवा अपने शरीर पर तरह-तरह के टैटू बनवाने का चलन है जो युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हो गया है. लेकिन आपको ये जानकर हैरानी हो सकती है कि टैटू से गंभीर बीमारियों की आशंका के अलावा त्वचा पर लालिमा, सूजन, मवाद आने के साथ दर्द होना, आदि तरह के त्वचा संक्रमण हो सकते हैं. इसके अलावा इससे बैक्टीरिया स्टाफ या स्ट्रेप के कारण जीवाणुओं का संक्रमण होने का भी डर रहता है. टैटू बनावाने में सावधानी बेहद आवश्यक है. यहाँ तक कि यदि आप नकली टैटू बनवाना चाहते हैं तो भी आपक सावधान रहने की जरुरत है. क्योंकि इससे आपके त्वचा पर एलर्जी जैसी समस्या हो सकती है.
2. चर्म रोग और कैंसर
टैटू बनावाने में और भी कई तरह के डर और समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं. जब कोई टैटू बनवाता है तब तो लोग ज्यादा विचार नहीं करते हैं. आपको जानकार हैरानी हो सकती है कि इससे सोराइसिस जैसी बीमारी होने का खतरा भी होता है. दरअसल टैटू बनाते समय जब एक व्यक्ति का नीडल दूसरे व्यक्ति पर इस्तेमाल की जाती है तब चर्म रोग, हेपेटाइटिस और एचआईवी जैसी संक्रमित बीमारियों के होने का खतरा है. यहाँ तक कि टैटू बनवाने से त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. लेकिन फिर भी शरीर पर तरह-तरह के टैटू बनवाने का चलन युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है.
3. विषैले तत्वों से खतरा
आपको ये भी जानना चाहिएकि टैटू बनाते समय लिए प्रयोग की जाने वाली स्याही में कई तरह के विषैले तत्व मौजूद होते हैं, जिनसे त्वचा कैंसर का खतरा बना रहता है. आपको बता दें कि टैटू बनाने वालों द्वारा प्रयुक्त नीले रंग की स्याही में कोबाल्ट और एल्यूमिनियम होता है. जबकि लाल रंग की स्याही में मरक्यूरियल सल्फाइड और दूसरे रंगों की स्याहियों में शीशा, कैडमियम, क्रोमियम, निकल, टाइटेनियम और कई तरह की दूसरी धातुएं मिली होती हैं. इन तत्वों से आपके त्वचा पर एलर्जी उत्पन्न होने का खतरा रहता है.
4. मांसपेशियों को नुकसान
टैटू बनाने से हमारे शरीर की त्वचा को होने वाले नुकसान को आज भी समझ नहीं पाते हैं. कुछ डिजाइनों में टैटू उकेरने वाली सूईयों को शरीर में गहरा चुभाया जाता है, जिससे मांसपेशियों तक को नुकसान पहुंचता है. विशेषज्ञ कहते हैं कि शरीर पर तिल वाले स्थान पर टैटू नहीं बनवाना चाहिए. यदि आप अपने शरीर की मांसपेशियों को टैटू बनाने से होने वाले नुकसान को बचाना चाहते हैं तो आपको इन सब बातों का ध्यान रखना चाहिए.
5. बरतें सावधानी
यदि आपको टैटू बनवाना अच्छा लगता है तो आप इससे पहले हेपेटाइटिस बी का टीका लगवा लें. इसके अलावा आप टैटू बनवाने से पहले ये भी जरूर सुनिश्चित कर लें कि टैटू बनाने वाला इसका अच्छा जानकार हो और उसके पास आधुनिक उपकरण और साफ-सफाई का पूरा ध्यान दिया जाता हो. उस जगह पर नियमित रूप से एंटीबायोटिक क्रीम लगाते रहें. इन सब उपायों को करने और इनके बारे में जानने के बाद आप टैटू बनवाएंगे तो आपको ज्यादा नुकसान नहीं होगा बल्कि आप टैटू बनाने के बाद होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं.

I am pregnant of 4th month. My doctor gave progesterone tablets. Is it necessary to take those tablets if so upto which month of pregnancy I have to take these tablets.

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, MRCOG(UK - London )
Gynaecologist, Gurgaon
I am pregnant of 4th month. My doctor gave progesterone tablets. Is it necessary to take those tablets if so upto whi...
Studies have shown that in healthy pregnancy you don't need progesterone supplementation. Was there any bleeding during pregnancy. If started, it is generally stopped by 12 weeks of pregnancy.
Submit FeedbackFeedback

Haldi Milk Benefits - हल्दी के दूध के फायदे

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Haldi Milk Benefits - हल्दी के दूध के फायदे

हल्दी और दूध दोनों ही पोषक तत्वों से भरपूर हैं. इसलिए जब हम इन्हें संयुक्त रूप से इस्तेमाल करते हैं तो ये बहुत फायदेमंद होता है. हल्दी और दूध के मिश्रित फायदे से हम कई तरह की परेशानियों से बच सकते हैं. ये पौष्टिक होने के साथ-साथ हमें कई तरह की बीमारियों और परेशानियों से बचाता है. आइए हम आपको हल्दी दुध के फायदों से रूबरू कराते हैं.
1. त्वचा के लिए
हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट मुक्त कणों से भी लड़ते हैं जो न केवल बीमारी का कारण होते हैं बल्कि उम्र बढ़ने का भी कारण होते हैं. इससे आपकी त्वचा युवा और स्वस्थ रहती है.
2. बेहतर नींद पाने में
हल्दी के गर्म दूध को सोने से एक घंटे पहले पीने से ज्यादा बेहतर नींद आती है. दूध में सेरोटोनिन और मेलाटोनिन है, जो मस्तिष्क रसायन हैं जो आपकी नींद चक्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. हल्दी तनाव कम कर देती है और आपके शरीर को आराम देती है.
3. मासिक धर्म में
हर दिन हल्दी के साथ दूध का एक गिलास पीने से मासिक धर्म की पीड़ा और ऐंठन से भी राहत मिलती है. मासिक धर्म के दौरान महिलाएं इसके इस्तेमाल से काफी राहत महसूस करती हैं. महिलाएं इसका इस्तेमाल करके अपनी परेशानी कम कर सकती हैं.
4. श्वसन प्रणाली से संबंधित बीमारियों
हल्दी दूध रोगाणुरोधी है और बैक्टीरियल संक्रमण और वायरल संक्रमण से लड़ता है. यह मसाला आपके शरीर के ताप को बढ़ाता है और फेफड़ों में कंजैशन और साइनस से जल्दी राहत प्रदान करता है, इसलिए यह श्वसन प्रणाली से संबंधित बीमारियों के उपचार में उपयोगी है. हल्दी दूध अस्थमा और ब्रोंकाइटिस के इलाज के लिए भी एक कारगर उपाय है.
5. सर्दी खांसी में
हल्दी एंटीसेप्टिक और सूजन को कम करने वाले गुणों से समृद्ध है जो संक्रमण के साथ-साथ खाँसी या ठंड के लक्षणों से लड़ने में मदद करते हैं. यह सूखी खांसी के खिलाफ विशेष रूप से प्रभावी है.
6. रक्त परिसंचरण सुधारने में
यह शक्तिशाली मसाला सदियों से आयुर्वेदिक दवाओं में एक रक्त शोधक के रूप में इस्तेमाल किया गया है. यह रक्त परिसंचरण में सुधार करता है. यह आपके लिवर द्वारा आपके पूरे शरीर को डिटॉक्सिफाय करने में भी मदद करता है.
7. बेहतर पाचन में मददगार
यह एक शक्तिशाली एंटीसेप्टिक हैं जो आंत्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है और पेट के अल्सर और कोलाइटिस को ठीक करता है. यह बेहतर पाचन में मदद करता है और अल्सर, दस्त, अपच आदि को रोकता है.
8. वजन कम करने में
हल्दी में पाए जाने वाले तमाम गुणों में से एक ये भी है कि इसमें उपस्थित यौगिक आपके शरीर में वसा को नष्ट कर आपको वजन कम करने में मदद करते हैं. डाइटिंग करने वाले लोग इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.
9. गठिया में
हल्दी में सूजन को कम करने वाले गुणों के साथ गठिया के साथ जुड़े दर्द, सूजन और जलन को शांत करने की क्षमता है. यह पेय आपकी हड्डियों और जोड़ों को मजबूत करता है, साथ ही लचीलेपन में सुधार लाता है.
10. कैंसर को रोकने में
कच्ची हल्दी से बना दूध स्तन, त्वचा, फेफड़े, प्रोस्टेट और पेट के कैंसर को रोकता है और क्योंकि इसमें सूजन को कम करने वाले गुण हैं. यह डीएनए को नुकसान पहुंचाने वाली कैंसर कोशिकाओं को रोकता है और कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों को कम कर देता है.
11. प्राकृतिक प्रतिरक्षा को बढ़ाने में
इस मसाले के एंटीवायरल गुण आपकी प्राकृतिक प्रतिरक्षा को बढ़ावा देते हैं और वायरस के बढ़ने को रोकते हैं, ताकि आप हेपेटाइटिस जैसे संक्रमणों से बचे रहें. शोध से यह भी पता चलता है कि हल्दी अल्जाइमर रोग की प्रगति को धीमा कर देती है और यहां तक कि कैंसर होने का खतरा भी कम करती है.

Benefits of Black Coffee in Hindi - ब् लैक कॉफी के फायदे

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Benefits of Black Coffee in Hindi - ब् लैक कॉफी के फायदे

चाय के बाद पिए जाने वाले पेय पदार्थों में कॉफ़ी लोकप्रिय पेय पदार्थ है. कई लोगों को सुबह-सुबह या दिन में कई बार पिने की आदत होती है. कुछ लोग इसे थकान दूर करने या नींद न आने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं. कॉफ़ी में भी एक तो होता है नॉर्मल कॉफ़ी और दूसरा है ब्लैक कॉफ़ी जिसे ज्यादातर लोग पसंद करते हैं. दरअसल कॉफ़ी को लेकर कई तरह की अफवाहें भी हैं जिनसे कई बार लोग भ्रमित हो जाते हैं. जबकि ब्लैक कॉफ़ी में मैग्नीज, पोटैशियम, मैग्नीशियम, विटामिन बी 5, विटामिन बी 3,राइबोफ्लेविन (विटामिन बी 2) आदि पोषक तत्व मौजूद होते हैं. इसलिए ये स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है. इसके अतिरिक्त ब्लैक कॉफी में कैफीन की भी मात्रा पायी जाती है जो कि आपकी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है. एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर कॉफी पार्किन्सन, अल्जाइमर और यहां तक कि डेमेंटिया जैसे न्यूरोडजेनेरेटिव विकारों के जोखिम को दूर करने में मदद कर सकती है. आइए ब्लैक कॉफ़ी पिने के फायदों को जानें.
1. मूड सही करने में
ब्लैक कॉफ़ी का सबसे ज्यादा इस्तेमाल मूड को सही करने के लिए ही किया जाता है. ये आपके मूड को सही करती है. जाहिर है जब आपका मूड सही रहेगा तो आप खुद को ताजा और अवसाद को दूर पाएंगे जिससे आप अपना काम ठीक से कर पाएंगे.
2. मस्तिष्क की क्षमता बढ़ाने में
यदि आप नियमति रूप से ब्लैक कॉफ़ी का सेवन करेंगे तो आपके मस्तिष्क की क्षमता में भी वृद्धि होगी. मॉडरेट ब्लैक कॉफ़ी पीने से आपको ध्यान में सुधारने और अपने मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाने में मदद मिलती है.
3. शरीर का इन्फ्लेमेशन कम करने में
ब्लैक कॉफ़ी की सहायता से आप अपने बॉडी का इन्फ्लेमेशन काफी हद तक कम कर सकते हैं. इसलिए जो लोग अपने शरीर का इन्फ्लेमेशन कम करना चाहते हैं उन्हें नियमित रूप से कॉफ़ी का सेवन करना चाहिए. 
4. ह्रदय को स्वस्थ रखने में
हमारे स्वस्थ रहने के लिए हमारे ह्रदय का स्वस्थ रहना बेहद आवश्यक है. काली कॉफी की मॉडरेट की खपत हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकती है. इसलिए यदि आप अपने ह्रदय को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आपको भी ब्लैक कॉफ़ी का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए.
5. शुगर के उपचार में
कई शोधों में ब्लैक कॉफ़ी को शुगर के उपचार के लिए भी आवश्यक माना गया है. ऐसा देखा गया है कि कॉफी आपको टाइप 2 डायबिटीज़ और कार्डियोवैस्कुलर से जुड़े रोगों से बचाती है. इसके सेवन से आप शुगर के जोखिम को कम कर सकते हैं.
6. तनाव कम करने में
कॉफी में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों और एंटीऑक्सिडेंट ऑक्सिडेटिव तनाव को कम कर सकते हैं. कॉफी में भारी मात्रा में क्लोरेनोनिक एसिड पाए जाते हैं, जो सबसे जरूरी एंटीऑक्सिडेंट्स में से एक है. इसलिए आप भी अपना तनाव कम करने के लिए ब्लैक कॉफ़ी का इस्तेमाल कर सकते हैं.
पिने की सही मात्रा
कहा जाता है कि बिना किसी भी चीज की सही मात्रा का सेवन किए हुए आप उसका उचित लाभ नहीं ले सकेंगे. विशेषज्ञों का सुझाव है कि एक व्यक्ति को एक दिन में 400 मिलीग्राम से अधिक कॉफी नहीं लेनी चाहिए. क्रीम और एडेड शुगर के बिना पीना सबसे अच्छा है. क्योंकि इससे आपको अधिक कैलोरी मिलती है. इसलिए आपको भी चाहिए कि ब्लैक कॉफ़ी का सेवन उचित अनुपात में ही करें.

1 person found this helpful

AYURVEDIC REMEDIES FOR BURNS

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Bangalore
AYURVEDIC REMEDIES FOR BURNS

Ayurvedic Remedies For Burns

Ghee - Ghee gives a cooling effect on the skin. Apply on the affected area.

  1. Wash with Cucumber Water - Put the affected area under running tap water for a few minutes and wash with cucumber water or rose water. Both of these have astringent properties and help in preventing infection.
  2. Aloe Vera Paste You can also crush Aloe Vera leaves and apply the pulp. If fresh leaves are not easily available, you can use Aloe Vera gel available in stores.
  3. Honey & Coconut Oil Mix equal amounts of honey with plain coconut oil. Use this mixture on the burn area for relief. Instead of coconut oil you can use sesame oil as well.
  4. Plain Honey - Apart from its delicious taste, honey may help heal a minor burn when applied topically. Honey is an anti-inflammatory and naturally anti-bacterial and anti-fungal.

Breast Enhancement With Ayurveda

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Bangalore

CAUSES OF SMALL BREASTS

There are several factors involved concerning the issue of a woman’s breast size but heredity is the fundamental one as it determines breast fat tissue distribution. Nonetheless there might be some other factors responsible for small breast size including hormonal factor, described as the lack of female hormone (oestrogen) or excessive production of male hormone which leads to natural breast growth setback.

Natural methods for breast enlargement –

Ayurveda provides a number of simple breast enhancement tips which can help women in their pursuit for perfect proportions of breasts to feel themselves on top. Usually it will require to use various herbal remedies which will to fix the problem:

  • Massage with sesame oil or Tila Taila : Ayurvedic treatment uses massage as one of its essential methods. For massage purposes it is strongly recommended to use sesame seed oil since it is very rich with protein, calcium, iron and phosphorus. You will need to do the massage twice a day to reach the result of bigger and healthy breasts. When doing your massage procedures always make sure you apply the right pressure to prevent your breasts from any damage. In case you want to get the best affordable result it might be a good to use professional masseur services.
  • Lifestyle change: It will require you to consume a lot of water and lots of green vegetables, soy products and everything which have high concentration of oestrogen like
  1. Tempeh - Tempeh is produced from soya beans and it contains oestrogen in high amount.
  2. Tofu. Tofu is the other soy product that can be most helpful to balance the oestrogen levels in the body.
  3. Soybeans.
  4. Soy milk.
  5. Flax seeds.
  6. Sesame seeds.
  7. Sunflower seeds.
  8. Dried apricots.
  9. Alcohol
  10. Dairy products
  11. Dried prunes
  12. Pistacios
  13. Beet roots and beet greens
  14. Chickpeas
  15. alfalfa sprout
  16. Bran - Rye bran, Wheat bran, Oat bran, Barley bran

Preventing a Sore Penis

MD - General Medicine
Sexologist, Delhi

Preventing a Sore Penis: Tips

When a guy's penis feels good, sex feels good - whether it's sex with a partner or with himself. (That's one of the primary reasons why men make it a habit of keeping an eye on their penis health.) But when a man has a sore penis, it can have a big impact on sex. Sometimes it makes it far less pleasurable; other times that sore penis may keep a guy from having sex altogether - and no man likes that, especially when the sexual urge is strong within him. Still, the occasional sore penis is a fact of life for just about every man, so let's investigate a few tips to help prevent or treat a sore penis.

Tips

- Don't be afraid of lubrication. One of the most common causes of a sore penis is rawness due to friction, and that tends to result from engaging in sex - partner-based or solo - without sufficient lubrication. Yes, the penis does tend to produce pre-seminal fluid which provides some lubrication, and yes, a woman's body also creates natural lubricants. But in many cases, this is not sufficient to the task at hand. Some men (and women) feel embarrassed at needing to use a lubricant, but doing so can play a big role in preventing a sore penis.

- Reapply the lubricant. Some guys are good at using an initial dose of lubricant, but then don't reapply it if it gets worn off. Granted, it's not so romantic to stop some great sex to withdraw the member and re-lubricate it; but doing so pays off in the long run. And if a guy is engaging in very length sex - and especially masturbating for an extended period of time - reapplication is key.

- Engage in foreplay. One reason some couples need to utilize lubricant is because they skimp on the foreplay, which thus impairs their bodies' ability to produce their own lubricants. Spending some extra time on foreplay can in many cases negate the need for additional lubrication.

- Use a well-fitting condom. A condom that fits correctly is important for several reasons; one of them is that it can contribute to penile soreness, especially if it is too tight. In addition, condom use greatly decreases the chances of getting a sexually-transmitted infection, which can in turn cause a seriously sore penis.

- Relax the grip. One of the most valuable tips for masturbation: Don't use a grip that is too tight for too long. This can create a friction situation that rubs the penis raw, leading both to soreness and to a loss of sensitivity in the penis, which no guy wants.

- Switch things up. For those men whose sexual escapades continue at length, it often helps to switch positions once or twice. Trying a new position means that different parts of the penis will receive stimulation, and this may help prevent the over-stimulation that can lead to a sore penis.

- Communicate. Often a partner may be making moves or otherwise handling the penis in an undesirable way. It pays to speak up about what doesn't feel good - and what does - so the partner can make changes as necessary.

These tips can help prevent a sore penis, but what happens if a guy gets soreness anyway? Assuming the cause is related to basic overuse, application of a first rate penis health crème (health professionals recommend Man1 Man Oil, which is clinically proven mild and safe for skin) can be beneficial. Overworked penis skin needs to be remoisturized, so the ideal crème will contain two moisturizing agents, such as Shea butter (an acclaimed emollient) and vitamin E (one of nature's best hydrators). The skin also needs to be strengthened, which a crème with a powerful antioxidant, such as alpha lipoic acid, can supply. The antioxidant will attack excess free radicals that can cause oxidative stress.

Health Benefits of Alfalfa

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
Health Benefits of Alfalfa

Health Benefits of Alfalfa

Health Benefits Of Ragi

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
Health Benefits Of Ragi

Health Benefits Of Ragi

View All Feed

Near By Clinics