Masturbation Addiction Tips

Male masturbation: Tips for Solo Play

Dr. Dinesh Kumar Jagpal 93% (83090 ratings)
MBBS
Sexologist, Panchkula

Masturbation is also called a practice of self pleasure. It is the most common practice in men. About 95% of men in the world practice this act of self pleasure called masturbation. When we try anything  often we get bored from it, same as with masturbation. When we use the same method or solo practice we get bored of it. So we need to understand it for a more satisfying result.

When you are at home or idle, taking biological chemical demands there are sexual thoughts of repeating what you have experienced earlier. You feel horny and you masturbate. All men do it. Old fashioned men do it with hands, new ones do with sex toys or hands. You can spend a loving time with yourself which has few benefits. It's always good to have a partner but solotime can help to experiment with less performance pressure to learn new and good ways. You go beyond masturbation with your penis and  experiments with masturbation can  result in better sex and bonding.

Is masturbation good for health?

Masturbation is a healthy act if done in a controlled way, however doing something many times is bad for the body. It is a way to  know yourself more physically as well as discover your fantasies that make you feel good. Apart from sexual pleasure there are many benefits in masturbation to the body. When masturbation is taken on moral ground, it may sound wrong, however it has many health benefits, which may aid masturbating you easily and without pressure:

  • Masturbation  lowers your stress levels in the body: Doing Masturbation in a private place releases stress and anxiety. When masturbating the self is forgotten and the whole body gets excited and after orgasm it relaxes down which helps the men who are stressed, they feel relaxed.
  • Masturbation is best for penis  health as it increases blood in the veins and capillaries  of penis. This provides blood which maintains the health of penis, as it is the area of opening where infection can occur.
  • Masturbation is the safest sex like experience we can have: In this we can avoid sex diseases like STI, HIV etc. here you can enjoy without any risk. In this you can't get pregnant by any chance. 
  • As masturbation releases dopamine and serotonin:  these are pain relievers and stress relievers which help during stress or if the mood is not right.

Tips for solo masturbation:

Set the mood

Masturbation  is, always for men , a quickie either in a room or in a bathroom due to fear somebody will see us. But men can plan for more time with themselves and set up room for more satisfying or having more quality time. You can make masturbation more satisfying by following some steps like:

  • We can turn down the lights in the room.
  • We can play some good and erotic music inside the room.
  • We can try some dirty talk to ourselves and tease ourselves.
  • Do not get scared and  be relaxed. 

Position:

We always try on one position and stick to it for a long period of time. We should try many exciting positions. We all try masturbating while standing and leaning ourselves to the counter or wall but we can try pushing your hip to the wall wall. We can try by lying down and applying force to bed. We can try by sitting on a bed or chair. There are different positions which sensate differently  and make you more satisfied.

Different Stroking

We can use both hands while masturbating. We always masturbate by moving our hands up and down in a motion, it leads to orgasm to mostly all men with a penis. There are many movements or stroke should be applied for more satisfy experience or orgasm.we should experiment yourself like:

  • We can masturbate by moving penis clockwise or anticlockwise. 
  • We can rub it with our palm and tickle the forehead of penis.
  • We can try holding tight grip and move your hip forward and backward.

There are many types of stroke in which you can find which sensate you more or gives you pleasure more.

Prostate 

We have a prostate which is called as male g-spot. This can, when tickled , give you the body feel of sex. If you have tried it, do it now.  We can use one finger to rub the outside and inside of anal opening slowly. Then insert to massage your prostate slowly. Now increase the motion and speed to feel more until you're ready to finish it off.  If you can't use the finger to feel your prostate , we can use toys to do so. Please use it for more pleasure.

We always watch porn to have sexual pleasure. But we can use many methods to do so like listening to audio books, reading magazines.

Conclusion:

Masturbation is a healthy practice which can be done by everybody. We should keep in mind that in doing so we should not harm ourselves . If you have any problem related to masturbation please refer to a doctor immediately.

22 Masturbation tips for women

Dr. Ajaz 90% (666 ratings)
B.U.M.S
Sexologist, Bhopal

When you are at home or idle, taking biological chemical demands there are sexual thoughts of repeating what you have experienced earlier. You feel horny and you masturbate. All women as well as women do it. Old fashioned women do it with their fingers, new ones do with sex toys. You can spend a loving time with yourself which has few benefits. It's always good to have a partner but solo time can help to experiment in less performance pressure to learn new and good ways. You go beyond via clitoral stimulation or by deep penetration, this experiment result can be conveyed to our partner for better sex and bonding.

Health benefits:

When masturbation is taken on moral ground, it may sound wrong, however it has many health benefits, which may aid masturbating you easily and without pressure:

  • Masturbation  lowers your stress levels in the body: Doing Masturbation in a private place releases stress and anxiety. When masturbated the self is forgotten and the whole body gets excited and after orgasm it relaxes down which helps the women who are stressed, they feel relaxed.
  • Masturbation is best for vaginal health as it increases blood in the veins and capillaries  of vagina. This provides blood which maintains the health of vagina as it is the area of opening where infection can occur.
  • Masturbation is the safest sex like experience we can have: In this we can avoid sex diseases like STI, HIV etc. here you can enjoy without any risk. In this you can't get pregnant by any chance. 
  • As masturbation releases dopamine and serotonin:  these are pain relievers which help in period cramps occurring per month.

Steps:

  1. Have a diagram of vagina showing its anatomy and have a shave of pubic hair which can be good in seeing. Now look at the diagram of vagina and relate it with your vagina. You had seen it in 9th grade after which you had never seen it. Memorize it and spend time with it. 
  2.  Have a big mirror to look at on your own because you can't see vagina and clitoris physically by bending the neck. See where the clitoris or vulva or vagina and whether our hands are going at the correct place. It is always best to use a hand held mirror and do it by spreading your leg as much as you can while sitting. 
  3.  The upper node cover with prepuce is filled with 15,000 nerve endings  where masturbation tricks or magic occur. Women up to 70% need clitoris stimulation to reach beyond called orgasm said by research. So it is good to find your clit and have a good experience.
  4.  Find and explore other parts too. Clitoris touching may help to go beyond as well as other parts also help to experience good. When you touch other parts, be gentle and slow and it will make you feel aroused and tickled. Labia when touched clockwise or anticlockwise it feels good. Mind it all which you read and explore in the mirror and later have experience of it.
  5.  We have a tradition to never discuss anything about sex or masturbation. We should avoid talking about it and anything related to sex should be taken to only the partner and in the room. There is shyness and many problems due to lack of teaching about sex and masturbation which can in turn be problems to overcome. It should be conveyed that it is not shameful to masturbate and we should not feel guilty about it. If shyness or guilt occur try to self talk and mind that is negative thoughts about sex and masturbation. We should convince ourselves and if possible please see sex therapist. They are specialists in removing shyness and other masturbation problems.
  6. Open a sex scene on the phone to get aroused and have the door locked or when no one is at home. set yourself at bed with lowered pants. Now you can touch your clitoris and get aroused. After a time insert your finger inside vagina and do inside and out motion which is like penis inserting. There you can touch your g-spot which is a place of muscle giving you maximum magic. You can touch boobs or your ass or even feel your ass opening. You can masturbate in different positions at any place.
  7. Now if I have an orgasm there will be discharge of fluid which can be spread on the sheet. So switch off the phone after having an orgasm and wipe your vagina area  with tissue paper. Change the sheet cover and spread a new one.
  8. You can use lubricant to masturbate if your vagina goes dry. You may feel guilty of doing it but it's ok and try to convince yourself of it.
  9. Try to touch areas like the nipple and neck. They are non-genital erogenous areas.
  10. Have your finger at the  anus tip and feel it slowly. This will give you joy.
  11. We should try to stimulate two or more areas at the same time.
  12. You can use your palm to rub the nipple.
  13. We can try by changing the positions. Sometimes in a chair, against the wall.
  14. We should imagine many stories and boys who are sexy.
  15. Watch porn which is slow and story-like.
  16. We can listen to audio which tells sexual stories.
  17. Read a naughty magazine.
  18. Use lubricant to feel more around vagina and anus.
  19. We can use vibrator to masturbate.
  20. Try to seduce yourself orally if possible
  21. We can try it in the bathroom.
  22. Have masturbation between 10 am to 11 am for more pleasure as the body releases the libido.

Conclusion:

However, All women masturbate in the world. Masturbating is good for health and stress reliever. There are a few tips about masturbating given above. To avoid certain diseases but if you have a problem please visit a doctor. For any information please visit sex therapist.             

पुरुष हस्तमैथुन को उत्तेजित करने के लिए कुछ टिप्स

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Sexologist, Surat
पुरुष हस्तमैथुन को उत्तेजित करने के लिए कुछ टिप्स

हस्तमैथुन पुरुषों और महिलाओं द्वारा की जाने वाली एक सामान्य क्रिया है। हालांकि, लोग इसे हीन भावना और घृणा की दृष्टि से देखते हैं इसलिए हम सामाजिक रूप से इस विषय पर चर्चा नहीं कर सकते। हस्तमैथुन को इंग्लिश में मास्टरबेशन (Masturbation) कहते हैं। हस्तमैथुन पुरुषों और महिलाओं दोनों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।

हस्तमैथुन करने से तनाव से राहत मिलती है, दर्द कम करता है और आपको अपनी खुद की यौन इच्छा के बारे में किसी और की तुलना में अधिक सिखाता है। लेकिन यह ध्यान रहे अत्यधिक हस्तमैथुन करने के दुष्परिणाम भी हैं।

हस्तमैथुन के लिए एक ही तरीका इस्तेमाल करने से ऊबन महसूस हो सकती है। तो चलिए आपको हस्तमैथुन को और अधिक संतोषजनक बनाने के लिए वह सब कुछ बताते हैं जिसका जानना आपके लिए आवश्यकता है। लेकिन इसके पहले यह जान लेते हैं कि हस्तमैथुन कहते किसे हैं।

हस्तमैथुन किसे कहते हैं

हस्तमैथुन को सोलो सेक्स के नाम से भी जाना जाता है। मतलब एक ऐसी क्रिया जिसे करके आप स्वयं की कामेच्छा पूर्ति कर सकते हैं। इसके लिए आप स्वयं के हाथों या सेक्स टॉय का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे हम यूं भी समझ सकते हैं कि हस्तमैथुन अक्सर लोगों का पहला यौन अनुभव होता है। इसका मतलब यौन आनंद के लिए अपने लिंग को हिलाकर या रगड़ कर यौन तरीके से खुद को उत्तेजित करना है। हस्तमैथुन आमतौर पर चरमोत्कर्ष की ओर ले जाता है।

पुरुषों के लिए हस्तमैथुन करने का तरीका

पुरुषों के लिए हस्तमैथुन करने का तरीका बेहद आसान है। बस आपको अपने हाथ की उँगलियों और अंगूठे के सहारे अपने लिंग को पकड़ना और और इसके शाफ्ट को ऊपर और नीचे करना हैं। हालांकि अच्छा और देर तक आनंद लेनी के लिए यह क्रिया तेजी से न करें बल्कि इसे आराम से करें। बस खुद को उत्तेजित करने के लिए केवल सही दबाव, उंगली की स्थिति और गति मिलनी चाहिए। इस क्रिया के दौरान एक समय ऐसा आता है जब आपका वीर्य लिंग से बाहर आ जाता है और संतुष्टि का अनुभव करते हैं। हालांकि, यह पुराना और सबसे संतोषजनक हाथ अभ्यास है।

वासनोत्तेजना को बढ़ाने के कुछ अन्य तरीके

पुरुष हस्तमैथुन के दौरान अपनी कामोत्तेजना को बढ़ाने के लिए इसे और ज्यादा रोमांचकारी बना सकते हैं। बस उन्हें हस्तमैथुन में विविधताओं को शामिल करना है। तो चलिए जानते हैं ये विविधताएं क्या हैं-

मूड बनाएं: हस्तमैथुन को  करना सही तरीका नहीं हैं। इसके लिए आपो स्वयं के लिए पूरा समय देना पड़ेगा। हस्तमैथुन को आनंददायक बनाने  के लिए खुद का मूड बनाना जरुरी है। आप कमरे की बत्तियां बंद करके, अपनी पसंदीदा सेक्सी वीडियो देखकर या खुद क तनाव मुक्त रखकर हस्तमैथुन के लिए अपनी कामुखता को बढ़ाएं। हस्तमैथें के लिए खुद को ज्यादा उत्तेजित न करें बल्कि धीरे-धीरे वासनोत्तेजना की लहर में गोते लगाएं।

अपनी स्थिति को बार-बार बदलें: जैसे कि पार्टनर के साथ संभोग क्रिया के दौरान आप अलग-अलग पोजिशंस को आजमातें हैं। उसी तरह ही हस्तमैथुन के दौरान भी आपको अपनी स्थितियां बार-बार बदलनी चाहिए और उत्तेजना को बढ़ाना चाहिए। जैसे यदि आप हमेशा खड़े रहते हैं, तो अपने कूल्हों को आगे की ओर ढकेलते हुए दीवार के सामने झुक कर देखें। यदि आप हमेशा लेटे रहते हैं, तो अपने बिस्तर पर या कुर्सी पर बैठकर हस्तमैथुन करें। आप चारों ओर खड़े होकर एकल सत्र का आनंद भी ले सकते हैं। अलग-अलग स्थिति का मतलब अलग-अलग संवेदनाएं हैं और इसका मतलब अधिक संतुष्टि हो सकता है। 

हाथ बदलें: जिस तरह से पोजिशंस को बार बार-बदलने से आपकी संवेदनाएं और उत्तेजना बढ़ती है, उसी प्रकार से हाथ बदलने से अलग-अलग संवेदनाएं पैदा हो सकती हैं। इससे तीव्र स्खलन हो सकता है। आप हस्तमैथुन करने के लिए अपने गैर-प्रमुख हाथ का प्रयोग करके अपने आनंद को और बढ़ा सकते हैं। आप कुछ अलग खोज भी कर सकते हैं। जैसे कि आप अपने लिंग को अपने पेट के खिलाफ पकड़ने की कोशिश करें और गैर-प्रमुख हाथ से अपने शाफ्ट को सहलाएं।

अलग-अलग स्ट्रोक आजमाएं: अपने हाथ को ऊपर और नीचे गति में ले जाना हस्तमैथुन की आम तकनीक हैऔर यह तकनीक लोगों को लगभग हमेशा एक संभोग सुख की ओर ले जाता है। लेकिन आप अपने सोलो प्ले को बोरिंग न रखें। इसके लिए आप कुछ अलग-अलग स्ट्रोक्स ट्राई कर सकते हैं। इसके लिए आप आप बेस से टिप तक लंबे, घुमावदार स्ट्रोक का उपयोग कर सकते हैं। हस्तमैथुन करते समय आप अपने लिंग के सिर को हथेली से पकड़ कर खींच सकते हैं। इसके अलावा आप क्लासिक थ्री-फिंगर ग्रिप में थोड़ा सा रगड़ भी जोड़ सकते हैं। खुद को अधिक सुखद महसूस करने के लिए बस अलग-अलग स्ट्रोकिंग शैलियों के साथ खेलें।

अपने कूल्हे को हिलाएं: हस्तमैथुन के दौरान शायल ही कोई अपने कूल्हों को हिलाता होगा। लेकिन जब आप पार्टनर के साथ संभोग क्रिया करते हैं तो कूल्हे को हिलाना जरुरी हो जाता है, इससे आपको उत्तेजना भी मिलती है।हस्तमैथुन के दौरान भी वही उत्तेजना हासिल करने के लिए अपने लिंग को पकड़कर अपने कूल्हे को हिलाएं। या जो भी आपको सबसे अच्छा लगे। वह करें। जैसे-जैसे आप चरमोत्कर्ष के करीब हों, गति बढ़ाएँ।

अन्य जननांगों के साथ भी खेलें: जब आपका साथी आपके टेस्टिकल्स, शाफ्ट और पेरिनेम के साथ खेलता है तो आप आनंदी महसूस करते हैं। फिर सोलो सेक्स के दौरान आप इससे अछूते क्यों रहें। दरअसल, लिंग के अलावा आपके शरीर में कुछ ऐसे जननांग और होते है जिनको छूने से आपकी कामुखता बढ़ती है।  इसलिए हस्तमैथुन के दौरान आपको इन जननांगों के साथ भी खेलना चाहिए।  उदाहरण के लिए, आपके अंडकोष में लगभग उतने ही तंत्रिका अंत होते हैं जितने आपके लिंग में होते हैं। यदि आप अपने आनंद को बढ़ाना चाहते हैं, तो चरमोत्कर्ष से ठीक पहले अपनी अंडकोष को धीरे से नीचे खींचने पर विचार करें।इसके अलावा आप इसकी हलके हाथों से मालिश भी कर सकते हैं।

अपने इरोजेनस जोन की खोज करें: कान, निप्पल, गर्दन, मुँह और होंठ जैसे आपके इरोजेनस ज़ोन आपकी कामोत्तेजना को विकसित कर सकती हैं। इसलिए हस्तमैथुन के दौरान इन अंगों का भी स्पर्श करना चाहिए। बस आपको  यह पता हों चाहिए कि इनमें से कौन से अंग का स्पर्श आपको ज्यादा आनंदित करता है।

गुदा पर स्पर्श करें: हस्तमैथुन में महिलाओं की गुदा भी अहम भूमिका निभाती है। दरअसल गुदा के बाहरी तहस (प्रवेश द्वार) पर कई तंत्रिका अंत होते हैं जो कामुखता बढ़ाने में मददगार होते हैं। इसलिए गुदा खेल शुरू करते समय अपनी ऊँगली के माध्यम से गुदा के बाहरी सतह को सहलाना चाहिए। इसके लिए ऊँगली पर कोई चिकना पदार्थ भी लगा सकती हैं।

सेक्स टॉय का करें प्रयोग: पुरुषों के लिए ऐसे कई खिलौने उपलब्ध हैं जो सोलो सेक्स में अधिक मज़ा जोड़ सकते हैं। स्वचालित स्ट्रोकर, फ्लेशलाइट्स, पॉकेट स्ट्रोकर्स, प्रोस्टेट उत्तेजकऔर गुदा मोती ऐसे ही कुछ खिलौने हैं। अगर सोलो प्ले के दौरान आप अपने ऑर्गेज्म को बढ़ाना चाहते हैं तो इन खिलौनों को शामिल कर सकते हैं।

एजिंग ट्राई करें: सोलो प्ले के दौरान खुद को वासनोत्तेजना तक ले जाने का मतलब यह नहीं है कि आपको हमेशा पूरी ताकत लगानी होगी। इसलिए आपको एजिंग ट्राई करना चाहिए। यह एक ऐसी तकनीक है जिससे आपके वासनोत्तेजक क्षेत्रों में तनाव पैदा होती है और आप हस्तमैथुन का ज्यादा आनंद लेते हैं। मतलब हस्तमैथुन के दौरान जब भी स्खलन होने वाला हो तो हस्तमैथुन की क्रिया को रोक दें, और किसी अन्य जननांगों को सहलाने लगे। ऐसा करने से आप एक लंबा और अधिक आनन्दिक अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

सेक्सी वीडियो-ऑडियो या कहानी का लें सहारा: हस्तमैथुन की क्रिया को सेक्सी वीडियो देखने, प्रेम या सेक्सी काव्य पढ़ने या इरोटिक म्यूजिक सुनने के साथ करना चाहिए। यह आपको वासनोत्तेजना के करीब पहुंचाने में मदद करते हैं।  

खुद को पूरा समय दें: अपने सोलो-प्ले को एन्जॉय करने के लिए आपको खुद को पूरा समय देना जरूरी है। जल्दबाजी में किए गए हस्तमैथुन से आप स्खलित होकर संतुष्ट तो हो सकते हैं, लेकिन चरम सुख का आनंद नहीं प्राप्त कर सकते। चरमसुख का आनद प्राप्त करने के लिए जरुरी है आप हस्तमैथुन क्रिया को पूरा समय दें और  भरपूर आनंद लें।

हस्तमैथुन के नुकसान

कभी कभार हस्तमैथुन करने से कोई नुकसान नहीं होता। हालांकि अगर यह आपकी आदत में शुमार हो गया तो इसके कई दुष्परिणाम भी हैं-

प्रतिदिन और ज्यादा बार हस्तमैथुन  करने से आपके शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ सकती है। ये शुक्राणु पिता बनने में हमारी मदद करते हैं। इसलिए शुक्राणुओं में कमी आने से आपको पिता बनने का सुख मिलने में मुश्किल हो सकती है।

कई लोग हस्तमैथुन में जल्दबाजी करने की वजह से स्खलन से पहले लिंग से निकलने वाला तरल मांसपेशियों में जा सकता है, जिसकी वजह से लिंग में सूजन भी आ सकती है।

हस्तमैथुन के दौरान लिंग को कसकर दबाने या मोड़ने का प्रयास हानिकारक हो सकता है इससे ‘पायरोनी’ नाम की बीमारी हो सकती है। यही नही पेनाइल फ्रेक्‍चर भी हो सकता है।  

हस्तमैथुन करने का कोई सही या गलत तरीका नहीं है। अपना समय अपने शरीर और उन सभी चीजों की खोज में निकालें जो आपको उत्तेजित करती हैं। शैलियों, खिलौनों और तकनीकों के साथ प्रयोग करें। सहज महसूस करने के लिए आपको जो कुछ भी करना है वह करें और इसके हर पल का आनंद लें!

महिलाओं के लिए हस्तमैथुन के 32 टिप्स

Dr Raman Dabas 84% (461 ratings)
MBBS, DGO
Gynaecologist, Delhi
महिलाओं के लिए हस्तमैथुन के 32 टिप्स

हम सामाजिक रूप से चर्चा नहीं कर सकते, हालांकि, उसका प्रयोग लगभग सभी करते हैं। ऐसा ही एक विषय है हस्तमैथुन जिसे इंग्लिश में मास्टरबेशन (Masturbation) कहते हैं। समाज में दुष्प्रचार है कि हस्तमैथुन शारीरिक रूप से नुकसानदायक है, लेकिन नहीं ऐसा है। हस्तमैथुन पुरुषों और महिलाओं दोनों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।

हमारे समाज में कई पुरुष और महिलाएं खुद को संतुष्ट करने के लिए हस्तमैथुन करती हैं। हस्तमैथुन करने से तनाव से राहत मिलती है, दर्द कम करता है और आपको अपनी खुद की यौन इच्छा के बारे में किसी और की तुलना में अधिक सिखाता है। हां, अत्यधिक हस्तमैथुन करने के दुष्परिणाम भी हैं। तो चलिए पहले समझते हैं कि हस्तमैथुन है क्या और महिलाएं किन तरीकों से इस क्रिया को कर सकती हैं।

हस्तमैथुन किसे कहते हैं

हस्तमैथुन को सोलो सेक्स के नाम से भी जाना जाता है। मतलब एक ऐसी क्रिया जिसे करके आप स्वयं की कामेच्छा पूर्ति कर सकती हैं। इसके लिए आप स्वयं के हाथों या सेक्स टॉय का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसे हम यूं भी समझ सकते हैं कि हस्तमैथुन अक्सर लोगों का पहला यौन अनुभव होता है। इसका मतलब यौन आनंद के लिए अपने जननांगों और शरीर के अन्य हिस्सों को छूकर और रगड़ कर यौन तरीके से खुद को उत्तेजित करना है। हस्तमैथुन आमतौर पर चरमोत्कर्ष की ओर ले जाता है, लेकिन ऐसा हमेशा नहीं होता।

महिलाएं कैसे करती हैं हस्तमैथुन

हस्तमैथुन आपके मूड को बढ़ावा देने और आपके शरीर में तनाव कम करने का एक शानदार तरीका है। यदि आप पहली बार हस्तमैथुन करने जा रही हैं और आपको यह नहीं पता कि इसे कैसे किया जाए तो आज हम बताएंगे कि महिलायें पहली बार सोलो सेक्स कैसे करें। दरअसल, महिलायें अपनी क्लिटोरिस को स्पर्श करके या रगड़कर खुद को उत्तेजित करती हैं। कई बार इसके लिए वे सेक्स टॉय का इस्तेमाल भी करती हैं। हस्तमैथुन करने के लिए महिलायें कई तरीकों का इस्तेमाल करती हैं।

विभिन्न प्रकार के हस्तमैथुन

क्लिटोरल उत्तेजना

महिलाओं की योनि का ऊपरी भाग को क्लिटोरिस के नाम से जाना जाता है। यह आनंद के लिए एक छोटा गर्म स्थान है। ज्यादातर महिलाएं अपने क्लिटोरिस के साथ खेलने के लिए अपने हाथ या उंगलियों का इस्तेमाल करती हैं लेकिन आप वाइब्रेटर जैसे सेक्स टॉयज का भी इस्तेमाल कर सकती हैं।

योनि प्रवेश

अपनी योनि में प्रवेश करने के लिए अपनी उंगलियों या एक सेक्स टॉय का उपयोग करें।

गुदा खेल

गुदा यानी कि मलद्वार तंत्रिका अंत से भरा हुआ है और यह क्षेत्र भी आपको उत्तेजित कर सकता है। गुदा खेलने के लिए अपनी उंगलियों का प्रयोग करें या सेक्स टॉय का प्रयास करें।

संयोजन

सेक्स टॉयज और दोनों हाथों की उंगलियों को जोड़कर उपयोग करे और अपनी योनि और क्लिटोरिस को एक साथ उत्तेजित करें। ऐसा करके भी महिलाएं हस्तमैथुन कर कर सकती हैं।

वासनोत्तेजक स्थान का स्पर्श

महिलाओं के शरीर में कई ऐसे स्थान या अंग होते हैं जिनको स्पर्श करने या रगड़ने से उनमे वासना की उत्तेजना बढ़ती है। इन स्थानों में निपल्स, आंतरिक जांघों, कान या गर्दन प्रमुख हैं। महिलाएं हस्तमैथुन के दौरान कामेच्छा ता पहुंचने के लिए इन अंगों का प्रयोग भी कर सकती हैं।

हस्तमैथुन के लिए 32 जरूरी टिप्स

अब आपको कुछ ऐसे टिप्स देते हैं जो आपको हस्तमैथुन के दौरान काफी मददगार साबित होंगे 

महिला शरीर रचना के आरेख की जानकारी आवश्यक

हस्तमैथुन करने से पहले महिलाओं को इस  जानकारी जरूर होनी चाहिए कि उनके शरीर के कौन कौन से अंग उनकी वासना की उत्तेजना को बढ़ा सकते हैं। इसलिए हस्तमैथुन के लिए महिलाओं को शरीर के अंगों के विषय में जानकारी जरूरी है। महिलाओं को महिला शरीर के आरेख के साथ बैठना चाहिए और उसे अच्छे से समझना चाहिए।

दर्पण के माध्यम से अपनी योनि को अच्छे से देखें

हस्तमैथुन के लिए महिलाओं को अपनी योनि के बारे में पता होना चाहिए। इसलिए महिलाओं को दर्पण की मदद से अपनी योनि को अच्छे से देखना चाहिए और उन्हें छूकर महसूस करना चाहिए। क्योंकि बिना दर्पण की मदद से महिलाएं अपनी योनि को अच्छी तरह से नहीं देख सकती। इसलिए लिए महिलाओं को एक हाथ से पकड़ने वाले छोटे दर्पण का प्रयोग करना चाहिए।

अपनी क्लिटोरिस का पता लगाएं

क्लिटोरिस वह जगह है जहां आमतौर पर हस्तमैथुन के लिए ज्यादा प्रयोग किया जाता है। इसलिए महिलाओं को पता होना चाहिए कि उनकी योनि के कौन से भाग को क्लिटोरिस कहते हैं। यह योनि का एक ऐसा हिस्सा है जो वासनोत्तेजना के चरम पर पहुंचने के लिए सबसे जरूरी है।

योनि के अन्य हिस्सों का भी पता लगाए

महिलाओं को हस्तमैथुन के दौरान अपनी फिनिश लाइन को पार करने के लिए क्लिटोरल उत्तेजना की आवश्यकता जरूर होती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि योनि के अन्य हिस्सों को छूने से भी अच्छा महसूस नहीं हो सकता है। इसलिए महिलाओं को योनि के उन सभी हिस्सों का पता लगाना है जहां छूने या रगड़ने से उनकी वासना बढ़नी हो। इसलिए हस्तमैथुन के दौरान योनि के सभी हिस्सों को बारी-बारी धीरे से स्पर्श करना चाहिए और उन हिस्सों की पहचान करनी चाहिए जो सबसे संवेदनशील, उत्तेजित, गुदगुदी और असहज महसूस करते हैं।

हस्तमैथुन के लिए किसी शर्म की जरूरत नहीं

भले ही हमारे समाज में हस्तमैथें पर खुलकर चर्चा नहीं की जा सकती और इसे करना गलत माना जाता है लेकिन ये सही नहीं है। हस्तमैथुन महिलाओं या पुरुष के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है और स्वास्थ्यवर्धक भी है। इसलिए हस्तमैथुन करने के लिए आपको शर्म और झिझक को छोड़ना पड़ेगा, क्योंकि अगर आप अपने शरीर को छूने से शर्म करेंगे या झिझक करेंगे तो वासना के चरम सुख तक नहीं पहुँच सकते। इसलिए सोलो सेक्स के लिए आपको शर्म को बाय-बाय कहना चाहिए।

साफ़-सफाई जरूरी

हस्तमैथुन के लिए कमरे की सफाई जरूरी होती है क्योंकि गंदगी में आप खुद को असहज फील कर सकती हैं। इसलिए हस्तमैथुन के लिए अपने कमरे को अच्छे से साफ़-सुथरा और गोपनीयता से भरा हुआ बनाए।

दरवाजा लॉक करना न भूले

हस्तमैथुन के लिए दरवाजे को अच्छे से लॉक करना बहुत जरूरी है क्योंकि ऐसा न करने से आप अपना ध्यान सेक्स पर केंद्रित नहीं कर पाएंगे। फिर चाहे आप घर में अकेले ही क्यों न हो आपके मन में किसी के आ जाने का डर बना रहेगा, जो आपके ध्यान में बाधा बन सकता है। इसी वजह से हस्तमैथुन से पहले दरवाजे को अच्छे से लॉक करना बहुत जरुरी होता है।  

अपने फोन को दूर रखें

कोई भी महिला हस्तमैथुन उस समय करती है जब वह खुद के लिए समय निकाल पाती है। इसलिए हस्तमैथुन या सोलो सेक्स के दौरान इस दुनिया के अस्तित्व को भूल जाना चाहिए। इसके लिए आपको अपना मोबाइल भी स्विच ऑफ करना पड़ेगा या अपनी पहुँच से दूर रखना होगा। क्योंकिं हस्तमैथुन के दौरान फोन आने पर आप डिस्टर्बेंस फील कर सकती हैं।

अपने शरीर से प्यार करें

हस्तमैथुन के लिए जरूरी है कि आप खुद को किसी से कम न आंके। आप अपने शरीर के अंगों के बजाय कामुखता पर ध्यान दें और यह सोंचे आपको कितना आनंद मिल रहा है। क्योंकि अधिक यौन संतुष्टि के लिए सकारात्मक शरीर की छवि का होना जरूरी है।

अपनी पसंदीदा इनरवियर पहने

आपको अपनी पसंदीदा या ऐसी ब्रा और अंडरवियर पहननी चाहिए जिसमें देखकर आप खुद को सेक्सी महसूस करती हो। क्योंकि ऐसे कपडे आपकी कामुखता बढ़ाते हैं फिर चाहे आप इन्हे खुद ही क्यों न उतार रहे हों।

अपने गैर जननांग वासनोत्तेजक क्षेत्रों को स्पर्श करें।

हस्तमैथुन के दौरान महिलाओं को गैर-जननांग इरोजेनस जोन में रोमांस करने में समय बिताना चाहिए और उन अंगों को छूना चाहिए जो महिलाओं को कामोत्तेजना की तरफ धकेलने में सहायक हो। यदि आप हस्तमैथुन के शुरुआती चरणों में हैं, तो आप अपने शरीर के उन क्षेत्रों को जानना चाहते हैं जो आपको गुदगुदी करते हैं। योनि के अलावा कुछ ऐसे अंग और होते हैं जिन्हे छूने या रगड़ने से कामोत्तेजना प्रभावित होती है।

उँगलियों से करें शुरुआत

महिलाओं के लिए हस्तमैथुन की शुरुआत उँगलियों से करना सबसे अच्छा तरीका माना जाता है। आप अपनी योनि के चारों ओर छुएं। ऐसे में आप एक साथी की उंगलियों की भावना का अनुकरण करेंगे, जो आपकी कामुखता बढ़ाने में मदद करेगा। इसके बाद आप अन्य तरीकों से शरीर में और सनसनी पैदा कर सकते हैं।

अपनी उंगलियां डालें।

हस्तमैथुन के दौरान आप अपनी उँगलियों को अपणु योनि में प्रवेश कराएं। इसके लिए लिंग के आकार के वाइब्रेटर का उपयोग किया जा सकता है। इसे धीरे \-धीरे योनि में डालें और सेक्स फील करते हुए चरम सुख का आनंद लें।

शुरू करें गुदा खेल

हस्तमैथुन में महिलाओं की गुदा भी अहम भूमिका निभाती है। दरअसल गुदा के बाहरी तहस (प्रवेश द्वार) पर कई तंत्रिका अंत होते हैं जो कामुखता बढ़ाने में मददगार होते हैं। इसलिए गुदा खेल शुरू करते समय अपनी ऊँगली के माध्यम से गुदा के बाहरी सतह को सहलाना चाहिए। इसके लिए ऊँगली पर कोई चिकना पदार्थ भी लगा सकती हैं।

कई उत्तेजना को मिलाएं

महिलाओं के कई इरोजेनस ज़ोन (जैसे क्लिटोरिस, योनि, गर्भाशय ग्रीवा, निप्पल, भीतरी जांघों और गुदा) से उत्तेजना का संयोजन कुछ गंभीर आनंद को जोड़ सकता है। इसलिए हस्तमैथुन के दौरान इन सभी अंगों का स्पर्श करें। आप एक हाथ अपनी ब्रेस्ट पर एक एक हाथ से योनि या दूसरे अंगों को छू सकती हैं। यह काम आप लेट कर भी कर सकती हैं।

ध्यान केंद्रीय करें

हस्तमैथुन करने के लिए आपको दिमागी रूप से हस्तमैथुन करने की जरूरत नहीं है। इसके बजाय उन संवेदनाओं पर ध्यान दे जो अपनी कामुखता को बढ़ाए।

अपना समय लें।

हस्तमैथुन करते समय जल्दबाजी नहीं करना चाहिए बल्कि पूरा समय लेना चाहिए। जल्दबाजी करने से आप चरम सुख का आनंद नहीं ले सकते। इसलिए हस्तमैथुन करने समय पूरा समय देना चाहिए।  सप्ताह में एक बार या हर दो सप्ताह में एक बार संभोग के बिना एक आत्म-आनंद सत्र में जाना चाहिए। ऐसा करने से आपको वास्तव में अपने शरीर का पता लगाने में मदद मिल सकती है।

आनंद पर ध्यान दें, कामोन्माद पर नहीं।

हस्तमैथुन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा सनसनी का स्वाद लेना है। इस दौरान संभोग के के बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहिए । हस्तमैथुन के दौरान आनंद का अनुभव होना महत्वपूर्ण है। किसी भी अपेक्षा के साथ हस्तमैथुन में नहीं जाना सबसे अच्छा होता है क्योंकि इससे आप चिंतित महसूस कर सकते हैं।

अपनी कल्पना का इस्तेमाल करे

हस्तमैथुन के दौरान एक कल्पना का होना आवश्यक होता है। इस कल्पना में आप अपने साथ किसी अन्य महिला को भी सोंच सकती हैं और किसी पुरुष पार्टनर को भी। यह कल्पना भी आपके यौन क्रिया को प्रभावित करती है और आपको चरम सुख तक पहुंचाती है।

कुछ नैतिक पोर्न देखें।

यदि आप कल्पना नहीं कर पा रही हैं तो परेशान न हो। इस दौरान नैतिक पोर्न और सेक्सी फिल्म के दृश्य को बार-बार देखना आपके लिए अच्छा होगा। यह फ़िल्में आपको कामुखता की ओर ले जा सकती हैं।

ऑडियो इरोटिका सुनें

अगर आपके पास पोर्न फिल्म देखने का साधन नहीं है या मन नहीं है तो आप ऑडियो इरोटिका सुनें। आप एक सेक्सी ऑडियो कहानी सुन सकते हैं। यह आपको गर्म और वासनोत्तेजना में मदद करे। इससे आपका दिमाग हस्तमैथुन की ओर आकर्षित होगा।

सेक्सी कहानियां पढ़े

पॉर्न किताबे या सेक्सी स्टोरीज भी आपकी उत्तेजना बढ़ाने में मदद कर सकती हैं। इसलिए हस्तमैथुन के दौरान आपको इन्हे भी आजमाना चाहिए।

जननांगों को लुब्रिकेट करें

स्नेहन हस्तमैथुन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि यह आपके जननांगों को अधिक आरामदायक बनाता है। इसलिए हस्तमैथुन के दौरान अपने जननांगों को लुब्रिकेट करें। इससे आपके जननांगों में रूखापन भी नहीं होगा।

वाइब्रेटर के साथ खेलें

अधिकांश वाइब्रेटर विशेष रूप से आपको वह क्लिटोरल उत्तेजना देने के लिए बनाए जाते हैं जिसकी आप लालसा रखते हैं। बुलेट वाइब्रेटर से लेकर जादू की छड़ी तक ऐसे कई बाइब्रेटर बाजारों में उपलब्ध हैं जिनका इस्तेमाल आप कर सकती हैं।

एक ओरल सेक्स सिम्युलेटर का प्रयास करें।

हस्तमैथुन के दौरान एक ओरल सेक्स सिम्युलेटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे आप ओरल सेक्स की कल्पना करते हुए इस्तेमाल करें। यह आपको वासनोत्तेजना के अंतिम पड़ाव तक पहुंचाने में कारगर है।

दूसरे तरह का सेक्स टॉय ट्राई करें।

निप्पल क्लैम्प्स से लेकर निप्पल पंप तक, नॉन-वाइब्रेटिंग वैंड्स से लेकर बिजली की छड़ें, सी-रिंग्स से लेकर जेनिटल स्लीव्स तकहस्तमैथुन में सहायता करने के लिए कई तरह के सेक्स टॉय हैं। आप इन सेक्स टॉय का इस्तेमाल भी कर सकती हैं।

इन खिलौनों से खेलते हुए अपने शरीर को हिलाएं।

सेक्स टॉय का इस्तेमाल करते समय आपको अपने शरीर को भी हिलना चाहिए। इससे आप सोलो सेक्स का ज्यादा आनंद अनुभव कर सकती हैं। इसलिए सेक्स टॉय का यूज करते वक्त अपने कूल्हों को कंपन की लय में हिलाएँ, या अपने श्रोणि को गोलाकार शैली में घुमाएँ। ऐसा करने से आपको उपस्थित रहने में मदद मिलेगी और आप जो भी संवेदना महसूस कर रहे हैं उसे अधिकतम कर पाएंगी।

जगह बदलें

हस्तमैथुन के दौरान समय समय पर जगह बदल देनी चाहिए। अगर आपने बिस्तर पर लेट कर हस्तमैथुन की शुरुआत की है और चरण सुख तक पहुँचने वाले हैं तो आपको जगह बदल देनी चाहिए और कुर्सी पर नए सिरे से शुरू करना चाहिए।

शॉवर में करें सोलो सेक्स

हस्तमैथुन के लिए आप शॉवर को सेक्स टॉय की तरह इस्तेमाल कर सकती हैं। एक हाथ से चलने वाला शावरहेड आपका नया बेस्ट फ्रेंड बन सकता है। कई महिलाएं हस्तमैथुन के दौरान अपने क्लिटोरिस पर पानी की धारा को इंगित करके संभोग के आनंद तक पहुंचती हैं।  यह एक त्वरित और आसान वाइब्रेटर की तरह है जो मानव शरीर पर सबसे संवेदनशील क्षेत्र पर स्पंदित सनसनी करता है।

एजिंग ट्राई करें

सोलो प्ले के दौरान खुद को वासनोत्तेजना तक ले जाने का मतलब यह नहीं है कि आपको हमेशा पूरी ताकत लगानी होगी। इसलिए आपको एजिंग ट्राई करना चाहिए। यह एक ऐसी तकनीक है जिससे आपके वासनोत्तेजक क्षेत्रों में तनाव पैदा होती है और आप हस्तमैथुन का ज्यादा आनंद लेती हैं।

इसे एक शो के रूप में बनाए

आप अपने पार्टनर के साथ भी हस्तमैथुन कर सकती हैं, इससे आप एक दूसरे के शरीर के बारे में अच्छे से जान सकती हैं। लंबी दूरी के रिश्तों में रहने वाले जोड़ों के लिए भी यह अच्छा विकल्प है। वे एक वीडियो कॉल पर आ सकते हैं और एक दूसरे के लिए एक सेक्सी शो डाल सकते हैं।

What Is An Orgasm?

Dr. Ajaz 90% (666 ratings)
Bachelor of Unani Medicine & Surgery (B.U.M.S), Bachelor of Unani Medicine and Surgery (B.U.M.S)
Sexologist, Bhopal
What Is An Orgasm?

An orgasm is the release of tension that can happen during sex or masturbation. It’s often intense and feels really good. Having an orgasm is sometimes called coming/cumming or climaxing.
Before and during an orgasm, you might notice changes to your body like:

  • Your face and chest become warm and red
  • Your heart beats faster
  • Muscle spasms in your genitals
  • A pleasurable feeling in your genitals or even across your whole body

During an orgasm, the penis squirts a small amount (1-2 tablespoons) of semen, a white liquid that contains sperm and other fluids. This is called ejaculation. It’s possible to have an orgasm without ejaculating or to ejaculate without an orgasm, but they usually happen together.
It’s also possible for fluid to squirt out of the vulva before or during an orgasm — this is sometimes called female ejaculation. This fluid isn’t pee. Female ejaculation is less common than ejaculation out of the penis, but if it happens to you, it’s totally okay - nothing is weird or wrong with you.
Every body is different and there’s not one “right” way to have an orgasm. You might be able to have an orgasm quickly and easily. Or you might need more time or a very specific type of stimulation. You might be able to have an orgasm when you masturbate but not when you have sex with a partner. All of these differences are normal. Experimenting with what feels good can help you understand your body and what feels good for you.
Although people tend to think that having an orgasm is the goal of sex, you can get lots of pleasure from doing sexual things even if you don’t have an orgasm. In fact, putting a lot of pressure on having an orgasm can make you or your partner anxious, which can make sex stressful and less enjoyable. Relax, and remember that pleasure, not orgasms, is the goal.

6 people found this helpful

Impact Of Porn & Masturbation Addiction On Health!

Dr. Kapil Arora 88% (777 ratings)
BHMS
Sexologist, Kota
Impact Of Porn & Masturbation Addiction On Health!

After the advent of the internet, the availability of pornography or explicit video material became widespread. The availability of this material resulted in a large section of the population relying on it for sexual pleasures as well as living their fantasies through the digital realm.

Internet porn is the new drug -

The easy availability and dependence on internet porn to get a quick fix of dopamine through sexual pleasure have resulted in patterns of addiction among many people. Porn addiction is a phenomenon which has been exacerbated by the easy availability of pornography on the internet. It has not only affected sexual habits such as masturbation but has also caused hindrances in the daily lives of people and has become a mental disorder as well.

A brain on porn is similar to a brain on alcohol -

While it may seem a bit far-fetched, studies of brain scans have shown that people watching porn experience the same effects or pleasure that alcohol gives them. It is a neural circuit which releases pleasure hormones when you sexually pleasure yourself by masturbating to porn. The reward circuit of the brain recognizes this pattern and starts creating please pathways where you want more of it. As you keep doing it more and more, the resistance level increases and you tend to need more. This is a classic sign of addiction.

Healthy and unhealthy masturbation - 

Masturbation is a natural and normal process that every human indulges in. However, a brain addicted to porn will use it as an addict uses a substance. Masturbation is the physical act through which the dopamine would be released. Once it has become an addiction, you would either want to have the daily fix for at least a few hours which you would ensure to take out of your daily routine. This time could have been invested in other fruitful activities when it ends up going to the addiction. In some cases, studies have shown that many would rather do it a few times a week but would spend extended hours masturbating to porn.

Effects of excess masturbation -

Some of the effects of porn addiction and excessive masturbation could be –

  • Premature ejaculation.

  • Erectile dysfunction when you are with a partner and in a real-life scenario due to dependence on particular porn fantasies.

  • Inability to have or form intimate relationships which are not just sexual but emotional and mental as well.

  • Lethargy to go to work or school due to addiction-related problems.

  • Breakdown in relationships, even with family members and friends among many others.

It is thus imperative that you seek sexologist help to slow down the habit and break the cycle of addiction and ensure that you are able to lead a normal life without disruptions so as to allow yourself to be able to form normal sexual relationships.

2138 people found this helpful

Masturbation - 10 Most Common Myths Associated To It!

Sexologist
Sexologist, Delhi
Masturbation - 10 Most Common Myths Associated To It!

For a stress free live we all need a release, both physical and emotional, and pleasuring yourself can provide you at times with that much needed release. Masturbation is rarely discussed, even amongst the closest of friends. Even though this is a normal part of human sexuality, society frowns on it and young people are often taught to avoid masturbation.

Lack of knowledge and opportunities to talk about it have given rise to a number of myths on this subject. Let's take a look at a few of them. 

  1. Masturbation can damage the genitals: Touching your genitals is very unlikely to damage them. The sex organs are designed to withstand friction and hence are very tough organs. The maximum damage that can be caused by masturbation is a little chafing. Using lubricant can prevent this from occurring. 
  2. It causes health problems: Pleasuring yourself is the ultimate form of safe sex. There is no way for you to catch an STD or for it to cause any sort of mental health problem. The only risks involved are allergic reactions to lubricants or toys and a feeling of guilt or shame due to societal pressure. 
  3. It lowers the chances of you having an orgasm during sex: Masturbation does not reduce your sex drive or prevent you from having orgasms. Many people also claim that women get addicted to vibrators and cannot enjoy sex without them. However, there is no truth behind this. 
  4. Masturbation is akin to cheating: Single people, as well as people in committed relationships, masturbate. While it can lead to problems in a relationship depending on your partner's views about it, it does not amount to cheating on him or her. 
  5. It can cause blindnessBlindness is the most outrageous myth associated with self-induced orgasms. Till date, there has not been a medical case to prove it. 
  6. It causes infertilityPleasuring yourself does not reduce your chances of getting pregnant or getting someone else pregnant. However, for men with a low sperm count, restricting ejaculations while trying to get their partner pregnant is a good idea. The only way masturbation can lead to infertility is if partners who share sex toys do not keep them clean and pass on STDs through them. 
  7. Only men masturbate: Men and women across the world masturbate. 
  8. It can cause erectile dysfunctionErectile dysfunction has a number of psychological and biological causes, such as heart disease, stress and obesity but masturbation is not one of them.  
  9. Eating certain foods can help control the urge to masturbate: Pleasuring yourself is normal and not affected by what you eat or do not eat. 
  10. It is only for young people: Men and women of all ages can enjoy self-induced orgasms. This does not have any adverse effects on your health.
5881 people found this helpful

Busted Myths About Masturbation!

 Gautam Clinic Pvt Ltd 92% (8272 ratings)
Sexologist Clinic
Sexologist, Faridabad
Busted Myths About Masturbation!

In spite of being the land where the first book about sex ‘Kamasutra,’ was written, Indian society has always been skeptical about the topic of sex. Many taboos are still prevalent in the twenty-first century. Some of these taboos revolve around masturbation.

Just like other sexual activities, masturbation is also a forbidden topic. For this reason, many myths about masturbation go around which people start believing since they have no source from which they can confirm its validity. Following are some myths about masturbation that have been busted.

Myth: People who are in a relationship do not masturbate.
Fact: This one is probably the most prevalent myths about masturbation. People are made to believe that masturbation is not needed when a person regularly indulges in sexual intercourse. But, this is far from the truth. Masturbation has nothing to do with sex. It is entirely reasonable to feel the need to masturbate even after being a relationship. Masturbation will help you understand what exactly excites and pleasure you. This, in turn, will lead to better performance in bed. Masturbation also helps in case the sexual desires of the two people in a relationship differ on a great level.

Myth: You should not masturbate ‘too much.’
Fact: Most people believe that people should only masturbate a certain number of times. This is not the case. Until and unless masturbation becomes an obsession and hinders with your daily activities, one can masturbate as many time as they want. Doctors suggest that if masturbation starts affecting your physical or emotional health, you should start to consider cutting back on it. But, very few people reach this point.

Myth: Women do not masturbate.
Fact: Studies reveal that women masturbate almost as much as men. The difference is that women are not as vocal about it as men are. Indian society has great stigmas attached to women exploring their sexuality. Due to these stigmas, even though most women do indulge in masturbation regularly, they choose to lie when confronted with this topic.

Myth: Masturbation is not related to any health benefits.
Fact: Masturbation has both emotional and physical health benefits. It helps in achieving better sleep, a youthful appearance, better self-esteem, reduced stress levels and much more. In case of women, it helps them to eliminate premenstrual tension, pain during sexual intercourse and vaginal dryness. In men, it helps to control premature ejaculation.

Myth: Masturbating at an early age can lead to deviant sexual behaviour.
Fact: It is perfectly fine for teens to masturbate. Studies reveal that teens who masturbate have positive sexual experience later in their life. They learn about sex without coming in contact with STD’s and the risk of pregnancy.

Thus, masturbation is quite normal irrespective of gender and age. And with these myths busted, you can indulge in it in an informed manner without any doubts in your mind.

In case you have a concern or query regarding sexual health ask a doctor online, you can consult the best sexologist doctor online, & get the answers to your questions.

 

7580 people found this helpful

Is Masturbating Is Good For Male And Female????

Dr. Nisha Motwani 91% (1085 ratings)
BAMS
Ayurvedic Doctor, Ahmedabad
Is Masturbating Is Good For Male And Female????

Masturbation -

Masturbation is a natural sexual activity that most people do at some point in their lives. Some people masturbate more than others.

People often ask me the question, what is normal? 

My answer to them is that there is no “normal” frequency, but if a person masturbates so much that it affects daily life, that is a cause for concern.

There is scientific evidence regarding the frequency of the same from a study conducted in the united states of America. According to the study, respondents of all ages masturbated. Masturbation is more frequent for young adults right from teenage years since sexual contact is limited. This number also goes up in elderly people for the same reasons, as their contact to is limited at times.

Frequency varies in men from few times per month to weekly. 

It is estimated that roughly 20% men masturbate 2 to 3 times each week. Less than 20% masturbate more than 4 times a week. Most of the women masturbated once a week or less in the same study.

The more worrisome question for people is: how much masturbation is too much?

The answer depends on the person. No activity should be compulsive or one which interferes with personal/professional life or relationships. Masturbating more than four times each week is not necessarily a problem, which people often think is.

Why do some people enjoy masturbation than real sexual activity?

The performance anxiety in masturbation is much lesser and the person can fantasize beyond what normally occurs in his/her sexual life. Also, the availability of the time for this activity is more convenient for some people not bound by external factors

The most important thing to remember, that addiction to anything is not okay, but everything in moderation is acceptable, and so is the case with masturbation.

It is normal to masturbate, so do not be ashamed about it.

5 people found this helpful

Masturbation Issues At Early Age And Ayurvedic Cure For Them!

Dr. P K Jain 92% (32 ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Sexologist, Lucknow
Masturbation Issues At Early Age And Ayurvedic Cure For Them!

Erectile Dysfunction (ED) is the condition in which a man cannot achieve or maintain his erection. It happens because of a lack of blood flow to the penis. This causes rifts in sex life and takes a toll on the patient’s social life or love life. ED can affect young men too and the problem is very much common these days. One-fourth of men under 40 years show symptoms of ED. Only 5% of them have acute ED, though.

Causes-
Determining the cause of ED is absolutely necessary because the treatment depends on the cause. Some common causes and risk factors are:
Obesity.
Smoking.
● Excessive alcoholism.
● Lack of physical exercise resulting in poor blood flow.
● Performance anxiety.
● Psychological causes like depression or anxiety.
● Injuries to the neurological system like in the spine or the genitals itself.
● Neurological diseases like Multiple sclerosis or Parkinson’s.
Hormonal imbalance like hypogonadism or testosterone deficiency.
Diabetes causing microvascular disease.

Effects-
The lifestyle problems, neurological issues, and other physical issues that cause ED need to be addressed because they can make the person’s physical health deteriorate further. However, ED causes immense stress on a person’s psyche. It affects both, the patient and his long-term partner. Sexual pleasure and fertility are crucial to a lasting and happy relationship. ED can cause depression, anxiety, and a sense of inadequacy and body image issues in both partners. In many cases, it can end a relationship.

Even if the patient does not have a long-term partner, it causes anxiety, feelings of inadequacy, and confidence issues which can make him irritable and withdraw from social life. This in turn adversely affects the person’s overall performance and behavior at work and at home, effectively lowering his quality of life.

Treatment-
Treatment for ED depends on its cause.

● If ED is diagnosed to be the result of medicinal side effects, the dose or type of medication might be changed or other medication can be given to counter the side effects.
● Medication directly targeted to treat ED to increase blood flow.
● If diabetes or some other disease is the cause, it needs to be treated or kept in check while blood flow medication continues.
● ED caused by lifestyle issues will definitely reverse if the person quits smoking, reduces alcohol consumption and starts exercising moderately and eating healthy.
Psychotherapy can be used to regain confidence and self-worth. It can play a major role in overcoming performance anxiety.

Apart from these, Ayurvedic medication is also helpful to treat this problem. One should always consult a certified and reputed practitioner who help treat the symptoms of ED without hindering with other medication. Some common Ayurvedic medication for ED contains Indian ginseng and ashwagandha, Cassia cinnamon, Safed Musli, and asparagus racemosus.

These ayurvedic herbs are effective for improving the functioning of the male reproductive system. It improves blood circulation, sperm count, fertility, regulates hormones, etc.

3459 people found this helpful
Icon

Book appointment with top doctors for Masturbation Addiction treatment

View fees, clinic timings and reviews