Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call
Jupiter Hospital, Thane

Jupiter Hospital

Multi-speciality Hospital (Dentist, Dermatologist & more)

Cadbury Junction, Eastern Express Highway, Service Road Landmark : Next To Viviana Mall Thane
149 Doctors · ₹0 - 1500
Book Appointment
Call Clinic
Jupiter Hospital Multi-speciality Hospital (Dentist, Dermatologist & more) Cadbury Junction, Eastern Express Highway, Service Road Landmark : Next To Viviana Mall Thane
149 Doctors · ₹0 - 1500
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Feed
Services

About

We like to think that we are an extraordinary practice that is all about you - your potential, your comfort, your health, and your individuality. You are important to us and we strive to ......more
We like to think that we are an extraordinary practice that is all about you - your potential, your comfort, your health, and your individuality. You are important to us and we strive to help you in every and any way that we can.
More about Jupiter Hospital
Jupiter Hospital is known for housing experienced Gastroenterologists. Dr. Mukta Bapat, a well-reputed Gastroenterologist, practices in Thane. Visit this medical health centre for Gastroenterologists recommended by 40 patients.

Timings

MON-SAT
08:00 AM - 09:00 PM
SUN
09:00 AM - 09:00 PM

Location

Cadbury Junction, Eastern Express Highway, Service Road Landmark : Next To Viviana Mall
Thane, Maharashtra - 400604
Get Directions

Doctors

Dr. Mukta Bapat

MBBS - MD - General Medicine - DM - Gastroenterology
Gastroenterologist
16 Years experience
1000 at clinic
Unavailable today

Dr. Kritika Doshi

Pain Management Specialist
1000 at clinic
Available today
05:30 PM - 06:30 PM
Available today
02:00 PM - 04:00 PM
Available today
11:00 AM - 02:00 PM

Dr. Sandeep Vaidya

MBBS
Orthopedist
900 at clinic
Available today
07:00 PM - 09:00 PM

Dr. Sangita Gandhi

DGO, Diploma in Obstetrics & Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
28 Years experience
700 at clinic
Available today
11:00 AM - 05:00 PM

Dr. Manasi Gore

MBBS, Diploma in Obstetrics & Gynecology, DGO
Gynaecologist
18 Years experience
650 at clinic
Available today
08:00 PM - 09:00 PM

Dr. Sandeep Vaidya

Membership of the Royal College of Surgeons (MRCS) , Diploma in Orthopaedics, DNB (Orthopedics) , MS - Orthopaedics, MBBS
Orthopedist
17 Years experience
900 at clinic
Available today
07:00 PM - 09:00 PM

Dr. Rajashree Mane

Diploma in Obstetrics & Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
26 Years experience
1000 at clinic
Available today
04:00 PM - 06:00 PM

Dr. Uma Bansal

MS - Obstetrics and Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
35 Years experience
700 at clinic
Unavailable today

Dr. Sandhya Saharan

MD - Obstetrics & Gynaecology , MBBS
Gynaecologist
27 Years experience
1000 at clinic
Available today
05:00 PM - 06:00 PM

Dr. Prachi Rana

DGO, Diploma of the Faculty of Family Planning (DFFP), DNB (Obstetrics and Gynecology)
Gynaecologist
17 Years experience
700 at clinic
Available today
07:00 PM - 08:00 PM

Dr. Vedhas Nimkar

MBBS, MD - Internal Medicine, AFIH
General Physician
15 Years experience
500 at clinic
Available today
10:00 AM - 07:00 PM

Dr. Alpa Dalal

MBBS, MD - Pulmonary Medicine
Pulmonologist
26 Years experience
1000 at clinic
Available today
10:00 AM - 12:00 PM

Dr. Prajakta P. Gupte

DNB - psychiatry
Psychiatrist
11 Years experience
800 at clinic
Available today
12:00 PM - 02:00 PM
15 Years experience
650 at clinic
Available today
12:00 PM - 02:00 PM

Dr. Rajesh Jadhav

MBBS, MD - Dermatology
Dermatologist
30 Years experience
650 at clinic
Unavailable today
1100 at clinic
Available today
11:00 AM - 01:00 PM

Dr. Anand Bhave

General Physician
650 at clinic
Available today
09:00 AM - 09:00 PM
1100 at clinic
Available today
10:00 AM - 05:00 PM
View All
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Jupiter Hospital

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Know More About Liposuction

FAPS (Cosmetic Surgery)-USA,, M.Ch - Plastic Surgery, MS - General Surgery, MBBS
Cosmetic/Plastic Surgeon, Delhi
Play video

How Liposuction is performed?

Know More About Liposuction

DNB, MCh - Plastic and Reconstructive Surgery, MS - Plastic Surgery, MBBS
Cosmetic/Plastic Surgeon, Delhi
Play video

Briefing on Liposuction and its treatment

I want to get pregnant fast, my Dr. suggest to take ovabless and allylestrenol tablet maintane. This tablet is useful for pregnancy or not?

MBBS, MS-Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist, Delhi
I want to get pregnant fast, my Dr. suggest to take ovabless and allylestrenol tablet maintane. This tablet is useful...
Hi. There are many reasons if you r nt getng pregnant. U need to start folic acid 5 mg one tablet daily. Take good healthy diet which includes fruits. Green veggies n salads. Say no to junk food.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Know More About Kidney Stones!

MBBS, MS - General Surgery, DNB - Urology
Urologist, Delhi
Play video

Causes, Symptoms and Treatment for Kidney Stones

Psychological Disorders

Post Graduate Diploma in Pyschology
Psychologist, Noida
Play video

How to Take Care of Your Emotional Health?

1 person found this helpful

Hair fall from five years. I masturbate weekly thrice. But my friends told that masturbating results in hair loss.

MBBS, MD - Dermatology, venereology & Leprology
Dermatologist, Kota
Hair fall from five years. I masturbate weekly thrice. But my friends told that masturbating results in hair loss.
Dear lybrate-user. Both are not exactly related to each other. But thrice a week masturbation is harmful for the body.
Submit FeedbackFeedback

Hi I have one problem I am 28 year old boy unmarried now I am suffering from pre ejaculate problem wit in 30 second it will discharge so is their any treatment for this problem is this curable ?what type of food can I take please answer me.

MBBS, FASM (ANDROLOGY AND SEXUAL MEDICINE), DCE (EMBRYOLOGY), PHD ( REPRODUCTIVE MEDICINE)
Sexologist, Chennai
Hi I have one problem I am 28 year old boy unmarried now I am suffering from pre ejaculate problem wit in 30 second i...
Eat healthy food rich in fruits and vegetables and trying exercising everyday for 30 mins and you will see a change in ejaculation time.
5 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Cold Sores - Know Everything About It!

MBBS, Diploma In Dermatology And Venerology And Leprosy (DDVL)
Dermatologist, Chennai
Cold Sores - Know Everything About It!

Cold sores alternatively known as fever blisters is a viral infection which usually occurs around the mouth.They occur in patches and heal within 2 to 4 weeks usually without leaving behind any scars. Cold sores are contagious and can be spread from person to person via close contact. Read on more to find all about them.

Symptoms
Usually cold sores passes through multiple stages.

  1. Tingling and itching: People usually experience a tingling, burning sensation around the lips prior to blisters which may appear within a day or two after such a sensation.
  2. Blisters: These blisters are small, filled with fluids and usually break out along the border of the skin and the lips. They can also occur around the nose or cheeks.
  3. Oozing and crusting: The blisters have a tendency to burst which leaves shallow open sores which then usually crust over.

Some other symptoms which accompany cold sores are fever, headache, sore throat, muscle aches and swollen lymph nodes.

Causes
Strands of the herpes simplex virus (HSV-1) typically cause cold sores. In some instances HSV-2 can also cause cold sores. Cold sores are most contagious when they are in the form of oozing blisters. It can spread by sharing the same utensils, kissing, sharing towels and razors and also oral sex. Cold sores can be triggered due to several factors such as stress, fatigue, fever, hormonal changes and changes in the immune system.

Risk Factors
About 90% of adults worldwide test positive for this virus. People who have a weakened immune system are more prone to be infected by the virus. For example people suffering from eczema, AIDSand severe burns have a higher chance of contracting cold sores.

Complications
In certain cases cold sores affect other parts of the body. Fingertips, hands, and some other parts of the body are affected by both HSV-1 and HSV-2 in some instances. It can also cause eye infections which can lead to blindness or may even spread to the spinal cord and the brain in people who have a very weak immune system.

Treatment
Cold sores have no treatment and they usually clear up without any medication within 2 to 4 weeks. However certain antiviral medications are present which speed up the healing process. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a Dermatologist.

1 person found this helpful

Ways To Stop Nightfall!!

MD - Psychiatry, Diploma in Psychological Medicine, MBBS
Sexologist, Mumbai
Ways To Stop Nightfall!!

Nightfall or night discharge is a condition when some men ejaculate in sleep usually in the early hours of the morning or late night. This problem usually worsens due to the weakness in muscles and nerves of the penis due to past bad history of excessive masturbation, thinning of semen viscosity, fluctuation in hormones and a full bladder. Usually, men are able to hold the semen but when it excess then it is eliminated in the form of nightfall. or late night. This problem usually worsens due to the weakness in muscles and nerves of due to past bad history of excessive masturbation, thinning of semen viscosity, fluctuation in hormones and a full bladder. men are able to hold the semen but when it excess then it is eliminated in the form of nightfall.

In the case of excessive semen flow and nightfall, a person might experience insomnia, dizziness, weakness, loss of memory and sight, pain in knees, weaker sexual incapacity, infertility, erectile, dysfunction and not to forget stress. In rare cases, a person might pass urine along with semen. of excessive semen flow and nightfall, a person might experience insomnia, dizziness, weakness, loss of memory and sight, pain in knees, weaker sexual incapacity, infertility, erectile, dysfunction and not to forget stress. In a rare case, a person might pass urine along with semen.

Treatment for nightfall:

It is believed that the best way to stop nightfall is by changing the lifestyle and treating with guidance of doctor. This includes reducing the frequency of masturbation and avoiding porn and nude pictures. However, there are some ways to cure nightfall naturally by doing the following:

  1. Meditation increases concentration and inner feelings can be controlled. This helps distract men from indulging in unwanted activities and is very effective in controlling nightfall.
  2. Exercise and yoga allow a person to have full control of their mind, body and soul. By doing regular yoga and exercises sex-related activities which induce nightfall can be avoided.
  3. Bathing with essential oils before going to bed is helpful as it relaxes the body and mind and allows a good sleep.
  4. Change in diet can prevent nightfall. Men who suffer from this problem should avoid acidic food.

And if the nightfall persists you need to consult a sexologist and with proper treatment of the underlying cause you can cure your problem completely with your lost physical and sexual strength.

Curing nightfall is easy and should be recognized so that it does not hamper the sex life of a man.

Following home remedies can also be taken to control or prevent the situation:

  1. Bottle gourd has a cooling effect thereby cools the system which is responsible for nightfall. It can be used in two ways, either by drinking bottle gourd juice before bedtime or by mixing the juice with sesame oil and massaging it.
  2. Gooseberry or amla helps in increasing the immunity of the body. It is believed that drinking a glass of gooseberry juice can help get rid of nightfall.
  3. Onions and garlic are known to cure many health related conditions. 3-4 cloves of raw garlic and onions in the form of salads should be had to cure nightfall.
  4. Milk, when combined with pre-soaked almonds, banana, and ginger, helps to eliminate this problem. Banana has a cooling property which helps to control the problem. Also, eating curd is beneficial as it has healing properties which cool the system and increase immunity.
  5. Juice of celery and fenugreek are very helpful in nightfall as well as premature ejaculation. These juices can be mixed with honey in a ratio of 2:1. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a Sexologist.
4 people found this helpful

Bar Soap vs. Body Wash: Which is Better for You?

MD - Dermatology, MBBS, DDV
Dermatologist, Pune
Bar Soap vs. Body Wash: Which is Better for You?

The most important part of skincare is keeping your skin cleansed and fresh. But before that, it is imperative to find the right product for the same. Skin type varies from person to person, and hence finding skincare goods most suited to your skin makes all the difference.

Bathing habits directly affect the quality of your skin, which involves picking the appropriate cleanse; i. E. Choosing between a body soap and body wash. Each has a different set of characteristics and comes with its own set of advantages and disadvantages. Let's find out which one is better for your skin.

Why you should choose bathing soap bar:

  •  it is more effective in removing dirt through deep cleansing
  •  it is suited to skin that is excessively oily in nature as it contains ingredients that are highly effective in stripping off excess oil from the skin


Why you should not choose bathing soap bar:

  •  it tends to strip the skin of its natural oils and moisture, making it dry and flaky
  •  it is unhygienic in case of sharing between individuals as soaps tend to accumulate the dirt from your skin due to direct body contact

Reasons to pick a body wash:

  •  it has a very mild and gentle effect on the skin in comparison to soaps
  •  it keeps the skin moisturized by preserving natural oils
  •  it is more hygienic than bar soaps in case of interpersonal sharing
  •  it is the most suitable option for dry skin

Reasons to ditch a body wash:

  •  it contains a large amount of artificial additives and preservatives that can do more harm to your skin than good, giving rise to allergic reactions in some cases

So, who's the winner of the two?

You must certainly base the choice on what's best for your skin type. Body soap is more compatible with oily skin while dry skin is better suited for body wash. A body wash, however, is much more gentle on your skin. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a Dermatologist.

4 people found this helpful

How to clean the yellowness of teeth in Children and elders with out harm? please suggest me.

BDS
Dentist, Gurgaon
How to clean the yellowness of teeth in Children and elders with out harm? please suggest me.
Brush your teeth twice a day with a soft-bristled brush. The size and shape of your brush should fit your mouth allowing you to reach all areas easily. Replace your toothbrush every three or four months, or sooner if the bristles are frayed. A worn toothbrush won’t do a good job of cleaning your teeth. The proper brushing technique is to: Place your toothbrush at a 45-degree angle to the gums. Gently move the brush back and forth in short (tooth-wide) strokes. Brush the outer surfaces, the inner surfaces, and the chewing surfaces of the teeth. To clean the inside surfaces of the front teeth, tilt the brush vertically and make several up-and-down strokes. Of course, brushing your teeth is only a part of a complete dental care routine. You should also make sure to: Clean between teeth daily with floss. Tooth decay-causing bacteria still linger between teeth where toothbrush bristles can’t reach. This helps remove plaque and food particles from between the teeth and under the gum line. Eat a balanced diet and limit between-meal snacks. Visit your dentist regularly for professional cleanings and oral exams.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hello Doctor. Main pahle smoking karta tha. To mere chest main pain hota tha. Aur ab maine karib 2 years se smoking karna chod diya hai. Phir bhi kabhi kabhi dard hota hai. Maine ek doctor ko dikhaya tha to doctor bol rhe hai ki lung problem hai. Kuch medicine diye the US se kuch bhi thik nahi hua. Pls suggest me some medicines for me. I am so depressed about my life.

CCEBDM, PG Diploma In Clinical cardiology, MBBS
General Physician, Ghaziabad
Hello Doctor. Main pahle smoking karta tha. To mere chest main pain hota tha. Aur ab maine karib 2 years se smoking k...
Do not be depressed. There is no big problem, get your blood cbc and Xray chest done and report results with details of medicine taken/taking good luck.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Back Pain and Its Management

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS), MD - General Medicine
Ayurveda, Gurgaon
Play video

Ayurvedic Treatment for Back Pain

Fungal Infection

Diploma in Dermatologist, Venereologist and Laparoscopy , MBBS
Dermatologist, Rewari
Play video

How to get rid of Fungal Infection?

2 people found this helpful

Mere Nabhi key left main upar side Ko Dard ho Raha hai Kafe din se ye Kaya ho Sakta hai jaise kuch chubhta hai. ultra sound main kuch nahin Aya hai.

MBBS
General Physician, Ahmedabad
Mere Nabhi key left main upar side Ko Dard ho Raha hai Kafe din se ye Kaya ho Sakta hai jaise kuch chubhta hai. ultra...
It can be muscle pain or due to indigestion. Details of symptoms like vomiting and diarrhea or fullness after meal duration of it and reports required for proper scientific suggestions. Feel free to ask privately with details for more scientific suggestions.
Submit FeedbackFeedback

Since past 3 months I am trying to conceive for a baby, but I am not able to conceive .what should I need to do?

BAMS
Ayurveda, Bangalore
Since past 3 months I am trying to conceive for a baby, but I am not able to conceive .what should I need to do?
Hi, Please undergo investigations like U/S scan of pelvis for follicular Study and seminal analysis of your husband to know the cause of infertility and revert back with the reports. Only then you can be treated.
Submit FeedbackFeedback

I am non-vegetarian. I am suffering from diabetes. I follow no rules when comes to food. I am presently 86 Kgs at this age of 40 years and height 5'6' Kindly suggest the correct diet in my concern to reduce my weight as per body mass index.

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
I am non-vegetarian. I am suffering from diabetes. I follow no rules when comes to food. I am presently 86 Kgs at thi...
Take high fiber low fat diet. Drink lot of water everyday. Take small and frequent meals at regular intervals of 2-3 hrs. Avoid outside food completely. Ask me privately for customized diet plan for you.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have a problem of loose stools in morning and when I have something heavy in my breakfast or milk instantly I got a feeling of bloating. This condition is may be because I have eaten 9 raw eggs at a time. I don't have any weight loss. But I won't be able to drink milk that I want to. Anyggestions will be appreciated.

M. Sc. Foods, Nutrition & Dietetics, B.Sc-Home Science
Dietitian/Nutritionist, Visakhapatnam
I have a problem of loose stools in morning and when I have something heavy in my breakfast or milk instantly I got a...
I guess you have lactose intolerance or allergic to milk proteins. That's why you are not able to digest the milk consumed. Immediately consult a good physician and get it checked. But until you rule out your symptoms of abdominal bloating do avoid milk and milk products.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hiv Aids Information in hindi - एचआईवी एड्स की जानकारी

MBBS, M.Sc - Dietitics / Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Delhi
Hiv Aids Information in hindi -  एचआईवी एड्स की जानकारी

एड्स नाम अपने आपमें भयावह और दर्दनाक एहसास दिला देता है। बीमारियाँ वैसे तो बदनाम होती ही हैं पर एड्स को बिमारी नहीं बल्कि कई जानलेवा बीमारियों का जरिया कहना गलत नहीं होगा। यह एक ऐसी बीमारी है जिससे पीड़ित व्यक्ति जीने की उम्मीद खोकर मरने की राह देखने लगता है। इसलिए हम सभी को एड्स के बारे में पूरी जानकारी होनी ही चाहिए।

दरसल एड्स एचआईवी वायरस के कारण होने वाली एक बीमारी है। यह तब होता है जब व्यक्ति का इम्यून सिस्टम इंफेक्शन से लड़ने में कमज़ोर पड़ जाता है। और तब विकसित होता है, जब एचआईवी इंफेक्शन बहुत अधिक बढ़ जाता है। एड्स एचआईवी इंफेक्शन का अंतिम चरण होता है। जब शरीर स्वयं की रक्षा नहीं कर पाता और शरीर में कई प्रकार की बीमारियाँ, संक्रमण हो जाते हैं एचआईवी शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता पर आक्रमण करता है। जिसका काम शरीर को संक्रामक बीमारियों, जो कि जीवाणु और विषाणु से होती हैं से बचाना होता है। एच.आई.वी. रक्त में उपस्थित प्रतिरोधी पदार्थ लसीका-कोशो पर हमला करता है। ये पदार्थ मानव को जीवाणु और विषाणु जनित बीमारियों से बचाते हैं और शरीर की रक्षा करते हैं। जब एच.आई.वी. द्वारा आक्रमण करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता क्षय होने लगती है तो इस सुरक्षा कवच के बिना एड्स पीड़ित लोग भयानक बीमारियों क्षय रोग और कैंसर आदि से पीड़ित हो जाते हैं। और शरीर को कई अवसरवादी संक्रमण यानि आम सर्दी जुकाम, फुफ्फुस प्रदाह इत्यादि घेर लेते हैं। जब क्षय और कर्क रोग शरीर को घेर लेते हैं तो उनका इलाज करना कठिन हो जाता है और मरीज की मृत्यु भी हो सकती है। 

अभी तक एचआईवी या एड्स के लिए कोई उपचार उपलब्ध नहीं है। हालाँकि सही उपचार और सहयोग से एचआईवी से ग्रसित व्यक्ति लम्बा और स्वस्थ जीवन जी सकता है। और ऐसा करने के लिए आवश्यक है, कि उचित उपचार लिया जाए और किसी भी संभावित दुष्परिणाम से निपटा जाए। 
  
एड्स कैसे फैलता है
अगर एक सामान्य व्यक्ति एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के वीर्य, योनि स्राव अथवा रक्त के संपर्क में आता है, तो उसे एड्स हो सकता है। आमतौर पर लोग एच.आई.वी. पॉजिटिव होने को एड्स समझ लेते हैं, जो कि गलत है। बल्कि एचआईवी पॉजिटिव होने के 8-10 साल के अंदर जब संक्रमित व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता क्षीण हो जाती है तब उसे घातक रोग घेर लेते हैं और इस स्थिति को एड्स कहते हैं। 

एड्स होने के 4 अहम वजह 
(1) पीड़ित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन सम्बन्ध स्थापित करने 
(2) दूषित रक्त से।
(3) संक्रमित सुई के उपयोग 
(4) एड्स संक्रमित माँ से उसके होने वाली संतान को। 
 
एड्स के लक्षण 
एच.आई.वी से संक्रमित लोगों में लम्बे समय तक एड्स के कोई लक्षण दिखाई नहीं देते। लंबे समय तक (3, 6 महीने या अधिक) एच.आई.वी. का भी औषधिक परीक्षण से पता नहीं लग पाता। अधिकतर एड्स के मरीजों को सर्दी, जुकाम या विषाणु बुखार हो जाता है पर इससे एड्स होने का पता नहीं लगाया जा सकता। एच.आई.वी. वायरस का संक्रमण होने के बाद उसका शरीर में धीरे धीरे फैलना शुरू होता है। जब वायरस का संक्रमण शरीर में ज्यादा बढ़ जाता है, उस समय बीमारी के लक्षण दिखाई देते हैं। एड्स के लक्षण दिखने में आठ से दस साल का समय भी लग सकता है। ऐसे व्यक्ति को, जिसके शरीर में एच.आई.वी. वायरस हों पर एड्स के लक्षण प्रकट न हुए हों, उसे एचआईवी पॉसिटिव कहा जाता है। पर ध्यान रहे ऐसे व्यक्ति भी एड्स फैला सकते हैं। 

एड्स के कुछ शुरूआती लक्षण 

  • वजन का काफी हद तक काम हो जाना
  • लगातार खांसी आना 
  • बार-बार जुकाम होना
  • बुखार
  • सिरदर्द
  • थकान
  • शरीर पर निशान बनना (फंगल इन्फेक्शन के कारण)
  • हैजा
  • भोजन से मन हटना 
  • लसीकाओं में सूजन

ध्यान रहे कि ऊपर दिए गए लक्षण अन्य सामान्य रोगों के भी हो सकते हैं। अतः एड्स की निश्चित रूप से पहचान केवल और केवल, औषधीय परीक्षण से ही की जा सकती है व की जानी चाहिये। एच.आई.वी. की उपस्थिति का पता लगाने हेतु मुख्यतः एंजाइम लिंक्ड इम्यूनोएब्जॉर्बेंट एसेस यानि एलिसा टेस्ट करवाना चाहिए।
 
एड्स का उपचार
एड्स के उपचार में एंटी रेट्रोवाईरल थेरपी दवाईयों का उपयोग किया जाता है। इन दवाइयों का मुख्य उद्देश्य एच.आई.वी. के प्रभाव को काम करना, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना और अवसरवादी रोगों को ठीक करना होता है। समय के साथ-साथ वैज्ञानिक एड्स की नई-नई दवाइयों की खोज कर रहे हैं। लेकिन सच कहा जाए तो एड्स से बचाव ही एड्स का सर्वोत्तम इलाज है।  
 
एड्स से बचाव 
एड्स से बचाव के लिए सामान्य व्यक्ति को एच.आई.वी. संक्रमित व्यक्ति के वीर्य, योनि स्राव अथवा रक्त के संपर्क में आने से बचें। साथ ही साथ एड्स से बचाव के लिए बताई गई कुछ सावधानियां भी बरतें।

  • पीड़ित साथी या व्यक्ति के साथ यौन सम्बन्ध न स्थापित करने से बचें और अगर करें भी तो सावधानीपूर्वक कंडोम का इस्तेमाल करें। लेकिन कई बार कंडोम इस्तेमाल करने में भी कंडोम के फटने का खतरा रहता है। इसलिए एक से अधिक व्यक्ति से यौन संबंध ना रखें।
  • खून को अच्छी तरह जांचकर ही चढ़ाएं। कई बार बिना जांच के खून मरीज को चढ़ा दिया जाता है जोकि खतरनाक है। इसलिए खून चढ़ाने से पहले पता करें कि कहीं खून एच.आई.वी. दूषित तो नहीं है। 
  • उपयोग की हुई सुईओं या इंजेक्शन का प्रयोग न करें क्योंकि ये एच.आई.वी. संक्रमित हो सकते हैं। 
  • दाढ़ी बनवाते समय हमेशा नाई से नया ब्लेड उपयोग करने के लिए कहें। 

एड्स की इन जानकारियों के साथ ही जरूरी हम एड्स के बारे में फैली हुई गलत्फहेमियों से वाकिफ रहें 
 
कई लोग समझते हैं कि एड्स पीड़ित व्यक्ति के साथ खाने, पीने, उठने, बैठने से एड्स हो जाता है। जो कि पूरी तरह गलत है। ऐसी भ्रांतियों से बचें। हकीक़त में रोजमर्रा के सामाजिक संपर्कों से एच.आई.वी. नहीं फैलता जैसे किः-

  • पीड़ित के साथ खाने-पीने से
  • बर्तनों कि साझीदारी से 
  • हाथ मिलाने या गले मिलने से 
  • एक ही टॉयलेट का प्रयोग करने से
  • मच्छर या अन्य कीड़ों के काटने से 
  • पशुओं के काटने से 
  • खांसी या छींकों से 
  • बताई गई बातों को समझकर सावधानी बरतें और पीड़ित व्यक्ति रेगुलर इलाज करवाएं।
     

Menstrual Cycle in hindi - मासिक धर्म क्या है ?

MBBS, M.Sc - Dietitics / Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Delhi
Menstrual Cycle in hindi - मासिक धर्म क्या है ?

अक्सर हमेशा हंसने खेलने वाली चंचल लड़कियां भी महीने के कुछ दिन दबी दबी दुखी सी शर्माती खुदको छिपाती नजर आती हैं। और इसी वक़्त पर हम गौर करें तो पाएंगे कि घर परिवार के कुछ लोग भी उससे कटे कटे रहते हैं कई चीजों को छूने कई जगह जाने पर पर भी मनाही होती है। जी हां बिलकुल सही समझें आप हम बात कर रहे हैं पीरियड्स की। यह केवल महिलाओं ही नही पुरुषों या यूँ कहें मानव वृद्धि के लिए सबसे अहम घटना है। तो चलिए आज हम जानते हैं पीरियड्स क्या हक़ क्यों आता है इसका सही समय, महत्व आदि। 
पीरियड्स या मासिक धर्म स्त्रियों को हर महीने योनि से होने वाला लाल रंग के स्राव को कहते है। पीरियड्स के विषय में लड़कियों को पूरी जानकारी नहीं होने पर उन्हें बहुत दुविधा का सामना करना पड़ता है। पहली बार पीरियड्स होने पर जानकारी के अभाव में लड़कियां बहुत डर जाती है। उन्हें बहुत शर्म महसूस होती है और अपराध बोध से ग्रस्त हो जाती है। 

पीरियड्स को रजोधर्म भी कहते है। ये शारीरिक प्रक्रिया सभी क्रियाओं से अधिक महवपूर्ण है, क्योकि इसी प्रक्रिया से ही मनुष्य का ये संसार चलता है। मानव की उत्पत्ति इसके बिना नहीं हो सकती। प्रकृति ने स्त्रियों को गर्भाशय ओवरी फेलोपियन ट्यूब, और वजाइना देकर उसे सन्तान उत्पन्न करने का अहम क्षमता दिया है। इसलिए पीरियड्स या मासिक धर्म गर्व की बात होनी चाहिए ना कि शर्म की या हीनता की। सिर्फ इसे समझना और संभालना आना जरुरी है। इस प्रक्रिया से घबराने या कुछ गलत या गन्दा होने की हीन भावना महसूस करने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है। पीरियड्स मासिक धर्म को एक सामान्य शारीरिक गतिविधि ही समझना चाहिए जैसे उबासी आती है या छींक आती है। भूख, प्यास लगती है या सू-सू पोटी आती है।

मासिक चक्र

  • दो पीरियड्सके बीच का नियमित समय मासिक चक्र ( Menstruation Cycle ) कहलाता है। नियमित समय पर पीरियड्स( Menses ) होने का मतलब है कि शरीर के सभी प्रजनन अंग स्वस्थ है और अच्छा काम कर रहे है। मासिक चक्र की वजह से ऐसे हार्मोन बनते है जो शरीर को स्वस्थ रखते है। हर महीने ये हार्मोन शरीर को गर्भ धारण के लिए तैयार कर देते है।
  • मासिक चक्र के दिन की गिनती पीरियड्सशुरू होने के पहले दिन से अगली पीरियड्सशुरू होने के पहले दिन तक की जाती है। लड़कियों में मासिक चक्र 21 दिन से 45 दिन तक का हो सकता है। महिलाओं को मासिक चक्र 21 दिन से 35 दिन तक का हो सकता है। सामान्य तौर पर मासिक चक्र 28 दिन का होता है।

मासिक चक्र के समय शरीर में परिवर्तन 

1. हार्मोन्स में परिवर्तन
 मासिक चक्र के शुरू के दिनों में एस्ट्रोजन नामक हार्मोन बढ़ना शरू होता है। ये हार्मोन शरीर को स्वस्थ रखता है विशेषकर ये हड्डियों को मजबूत बनाता है। साथ ही इस हार्मोन के कारण गर्भाशय की अंदरूनी दीवार पर रक्त और टिशूज़ की एक मखमली परत बनती है ताकि वहाँ भ्रूण पोषण पाकर तेजी से विकसित हो सके। ये परत रक्त और टिशू से बनी होती है।
2. ओव्यूलेशन 
संतान उत्पन्न होने के क्रम में किसी एक ओवरी में से एक विकसित अंडा डिंब निकल कर फेलोपीयन ट्यूब में पहुँचता है। इसे ओव्यूलेशन कहते है। आमतौर पर ये मासिक चक्र के 14 वें दिन होता है । कुछ कारणों से थोड़ा आगे पीछे हो सकता है। 
ओव्यूलेशन के समय कुछ हार्मोन जैसे एस्ट्रोजन आदि अधिकतम स्तर पर पहुँच जाते है। इसकी वजह से जननांगों के आस पास ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है। योनि के स्राव में परिवर्तन हो जाता है। जिसके कारण महिलाओं की सेक्सुअल डिजायर बढ़ जाती हैं। इसलिए इस ड्यूरेशन में सेक्स करने पर प्रेग्नेंट होने के चन्वेस बढ़ जाते हैं।
3. अंडा 
फेलोपियन ट्यूब में अगर अंडा शुक्राणु द्वारा निषेचित हो जाता है तो भ्रूण का विकास क्रम शुरू हो जाता है। अदरवाइज 12 घंटे बाद अंडा खराब हो जाता है। अंडे के खराब होने पर एस्ट्रोजन हार्मोन का लेवल कम हो जाता है। गर्भाशय की ब्लड व टिशू की परत की जरुरत ख़त्म हो जाती है। और ऐसे में यही परत नष्ट होकर योनि मार्ग से बाहर निकल जाती है। इसे ही पीरियड्स, मेंस्ट्रुल साइकिल, महीना आना या रजोधर्म भी कहा जाता है। और इस दौर से गुजऱने वाली स्त्री को रजस्वला कहा जाता है।
4. ब्लीडिंग
पीरियड्स के समय अक्सर यह मन में यह मन में यह सवाल आता है की ब्लीडिंग कितने दिन तक होना चाहिए और कितनी मात्रा में होना चाहिए कि जिसे सामान्य मानें। पीरियड यानि MC के समय निकलने वाला स्राव सिर्फ रक्त नहीं होता है। इसमें नष्ट हो चुके टिशू भी होते है। अतः ये सोचकर की इतना सारा रक्त शरीर से निकल गया, फिक्र नहीं करनी चाहिए। इसमें ब्लड की क्वांटिटी करीब 50 ml ही होती है। नैचुरली पीरियड्स तीन से छः दिन तक होता है। तथा स्राव की मात्रा भी अलग अलग हो सकती है। यदि स्राव इससे ज्यादा दिन तक चले तो डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

पीरियड्स से पहले के लक्षण
लड़कियों को शुरू में अनियमित पीरियड्स, ज्यादा या कम दिनों तक पीरियड, कम या ज्यादा मात्रा में स्राव, डिप्रेशन आदि हो सकते है। इसके अलावा पीएमएस यानि पीरियड्स होने से पहले के लक्षण नजर आने लगते है। अलग अलग स्त्रियों को पीएमएस के अलग लक्षण हो सकते है। इस समय पैर, पीठ और अँगुलियों में सूजन या दर्द हो सकता है। स्तनों में भारीपन, दर्द या गांठें महसूस हो सकती है। सिरदर्द, माइग्रेन, कम या ज्यादा भूख, मुँहासे, त्वचा पर दाग धब्बे, आदि हो सकते है। इस तरह के लक्षण पीरियड शुरू हो जाने के बाद अपने आप ठीक हो जाते है। इसलिए उन दिनों में अपने आपको सहारा डैम और मजबूत बनें।

पीरियड्स आने की उम्र 
आमतौर पर लड़कियों में पीरियड्स 11 से 14 साल की उम्र में शुरू हो जाती है। लेकिन अगर थोड़ा देर या जल्दी आजाए तो चिंता न करें। पीरियड्सशुरू होने का मतलब होता है की लड़की माँ बन सकती है। शुरुआत में पीरियड्सऔर ओव्यूलेशन
के समय में अंतर हो सकता है। यानि हो सकता है की पीरियड्सशुरू नहीं हो लेकिन ओव्यूलेशन शुरू हो चुका हो। ऐसे में गर्भ धारण हो सकता है। और इसका उल्टा भी संभव है। यह बहुत महत्त्वपूर्ण है कि पीरियड्स शुरू नहीं होने पर भी प्रेगनेंट होना संभव है इसलिए सावधानी बरतें।

पहले ही किशोरियों को समझाएं 
लड़कियों में शारीरिक परिवर्तन दिखने पर या लगभग 10 -11 साल की उम्र में मासिक धर्म के बारे में जानकारी देकर इसे कैसे मैनेज करना है समझा देना चाहिए। जिससे वे शरीर में होने वाली इस सामान्य प्रक्रिया के लिए मानसिक रूप से भी तैयार हो जाएँ। साथ ही आप लोगों को भी यह समझने की जरूरत है कि पीरियड्स मवं में अपवित्रता जैसा कुछ नहीं है। ये एक सामान्य शारीरिक क्रिया है जो एक जिम्मेदारी का अहसास कराती है। इसकी वजह से लड़कियों पर आने जाने या खेलने कूदने पर पाबन्दी नहीं लगानी चाहिए। पर ध्यान रहे बच्चियों को गर्भ धारण करने की सम्भावना के बारे में जरूर समझाना चाहिए जिससे वे सतर्क रहें। 

पीरियड्स आने पर 
सभी महिलाएं पीरियड्स की डेट जरूर याद रखें जिससे आप पहले ही तैयार रहें। 
इस दौरान खुदको किसी चीज़ से न रोकें नहीं। सामान्य जीवन शैली ही जिएं। बस अगर मौका मिले तो थोड़ा आराम करें।
 

2 people found this helpful
View All Feed

Near By Clinics