Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Clinic
Book Appointment

Dr Pranab Narayan Biswas chamber

Cardiologist Clinic

No. 79 Kakulia Road Ballygunge 700001 Kolkata
1 Doctor
Book Appointment
Call Clinic
Dr Pranab Narayan Biswas chamber Cardiologist Clinic No. 79 Kakulia Road Ballygunge 700001 Kolkata
1 Doctor
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Services
Feed

About

Our goal is to offer our patients, and all our community the most affordable, trustworthy and professional service to ensure your best health....more
Our goal is to offer our patients, and all our community the most affordable, trustworthy and professional service to ensure your best health.
More about Dr Pranab Narayan Biswas chamber
Dr Pranab Narayan Biswas chamber is known for housing experienced Cardiologists. Dr. Pranab Narayan Biswas, a well-reputed Cardiologist, practices in Kolkata. Visit this medical health centre for Cardiologists recommended by 80 patients.

Timings

MON-SAT
10:00 AM - 07:00 PM

Location

No. 79 Kakulia Road Ballygunge 700001
Ballygunge Kolkata, West Bengal - 700001
Click to view clinic direction
Get Directions

Doctor in Dr Pranab Narayan Biswas chamber

48 Years experience
Available today
10:00 AM - 07:00 PM
View All
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr Pranab Narayan Biswas chamber

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Last month in various hospital (Visited due to HDN) my Bp used to come between 130-140. Doctor advised to buy a bp monitor and observe it on home. In home my bp range between 115 to 125 and lower limit 75 to 85. But my heart rate always between 85 to 95 bpm. Should I consult with cardiologist? What are natural method to reduce bpm (exercise and diet)? Note- I have one kidney only. BMI= 19, age=25.

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Zirakpur
Last month in various hospital (Visited due to HDN) my Bp used to come between 130-140. Doctor advised to buy a bp mo...
Light exercises, preferably yoga, morning walks. Definitely breathing exercises/ pranayam. Diet: avoid excess salt, creams, no refined oils at all if triglyceride is up. If not, physically refined oils may be taken in least qty. Ghee: A2 desi cow ghee, bilona preferably. Avoid much meat; take max green leafy veg, salads. In case of need prefer to start herbal med only for this purpose.

Her diastolic bp is high - reads 100 mm of hg Systolic is 120 What does it indicate.

MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, DNB (General Medicine), MNAMS (Membership of the National Academy) (General Medicine)
General Physician, Pune
Her diastolic bp is high - reads 100 mm of hg
Systolic is 120
What does it indicate.
Some suggestions: Get The blood pressure manually checked If the BP is more than 140/90 mmhg on more than 2 occasions she will require medications Till then continue life style modifications Low salt diet Non oily food Exercise for 150 minutes in a week Pranayam and Yoga get an ECG done.

Hi, From last two days facing high blood pressure issue 145/102. Please advise, also facing some gastric issue and breathe issue from nose during sleep. Similar issue was faced a year before but get rid because of cold treatment/gastric and exercise.

MBBS, MD - Internal Medicine, DM - Cardiology, Fellowship in EP
Cardiologist, Delhi
Hi, From last two days facing high blood pressure issue 145/102. Please advise, also facing some gastric issue and br...
Measure BP only once every 6 months on fixed dates after resting for 10 minutes. All other measurements usually cause confusion.

I am 50 years old and my job has a lot of pressure. Today while work suddenly my right hand shake and I was feeling dizzy moreover my blood pressure went up to 170/110 and I do not have hypertension though.

M.B.B.S, MD - Medicine
Internal Medicine Specialist, Mohali
I am 50 years old and my job has a lot of pressure. Today while work suddenly my right hand shake and I was feeling d...
Stress may cause hypertension transiently. But 170 110 is too high. U need to consult me in detail.

My grandmother suffering from high BP and sugar level from past years but from around one week she started vomiting and loss of consciousness .She is admit in hospital. Bp and sugar is in control now but she is still unconscious.

MBBS, PG Diploma In Emergency Trauma Care, Fellowship in Diabetes
General Physician, Delhi
My grandmother suffering from high BP and sugar level from past years but from around one week she started vomiting a...
It has been due to uncontrolled suagr and bp in the past. Now wait and watch. As she is already in the hospital, nothing more can be done, you should have been careful in the past.

I have allergy problem it creates lot of mucus and affects breathing please provide a solution doctor advised me to use montek LC tablet which I am using once a day and cures for that day please provide other solution.

MD (Hom) Medicine, BHMS (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery (BHMS)), CCAH, MCAH
Homeopath, Indore
The tablet which you are taking is an anti allergic tablet. These kind of tablets basically suppress your immune system and hence you get relief. But after taking for longer time it's action will be reduced and stopped. You should switch to homeopathy. Our medicines will act on your immune system and will enhance it. You can consult us online and give your complete history on basis of that the best suitable treatment for you will b planned.
1 person found this helpful

छाती में दर्द के उपाय - Chhati Mein Dard Ke Upay!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
छाती में दर्द के उपाय - Chhati Mein Dard Ke Upay!

छाती में दर्द का कारण हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है पर हमेशा छाती दर्द हार्ट अटैक या हृदय संबंधी बीमारी के कारण नहीं होता है. कई बार छाती दर्द हृदय संबंधी बीमारी के कारण न होकर एनजाइना या अन्य कारण से होता है. कोरोनरी आर्टरी में रक्त के प्रवाह की प्रक्रिया बाधित होने से या बलगम के वजह से उत्पन्न अवरोध के कारण हृदय तक रक्त का प्रवाह कम हो जाता है जिससे ऑक्सीज़न की पूरी पूर्ति नहीं हो पाती है और इस कारण छाती में दर्द होने लगता है. हृदय तक रक्त का प्रवाह कम होने के इस बीमारी को एनजाइना कहते है. इसमें लोगों को छाती कसा हुआ, भारीपन, जलन व ब्रेस्टबोन पर दबाव महसूस होता है. एनजाइना के अलावा अन्य कई कारणों से भी छाती में दर्द हो सकते हैं. एसिडिटी, सर्दी, कफ, बदहजमी, धूम्रपान या तनाव से भी छाती में दर्द हो सकता है. छाती में जिस कारण से भी दर्द हो इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए बल्कि डॉक्टर से मिलकर यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि दर्द हार्ट अटैक या हृदय संबंधी अन्य बीमारी के कारण तो नहीं है. छाती दर्द का इलाज इस बात पर निर्भर करती है कि दर्द किस कारण से हुआ है. यदि छाती में दर्द हार्ट अटैक या हृदय संबंधी किसी बीमारी के कारण हुआ हो तो डॉक्टर से उचित इलाज करानी चाहिए. पर यदि दर्द हार्ट अटैक या हृदय संबंधी किसी बीमारी के कारण न हो तो इसे कुछ घरेलू उपाय से भी ठीक किया जा सकता है.

छाती में दर्द को ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय-
1. लहसुन: -
घरेलू उपाय में लहसुन छाती दर्द के लिए एक प्रभावशाली उपाय है. लहसुन में कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, थियामिन, राइबोफ्लोबिन, नियासीन, बीटामिन सी के अलावा आयोडिन, सल्फर और क्लोरीन भी पाया जाता है. लहसुन हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और प्लाक को धमनियों तक पहुँचने से रोकता है जिससे हृदय में रक्त का प्रवाह सुधरता है. इसके अलावा यह कफ, खाँसी, अस्थमा आदि कारणों से छाती में होने वाले दर्द को दूर करने में भी मदद करता है. एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच लहसुन का रस मिलाकर पीना चाहिए. इसके अलावा रोज सुबह खाली पेट लहसुन की एक या दो कली भी पानी के साथ लिया जा सकता है.

2. अदरक: - अदरक विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए बहुत ही पुराना उपाय है. अदरक में जिंजरोल नमक एक रासायनिक यौगिक पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है. अदरक में एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं जो रक्त वाहिकाओं को खराब होने से बचाते हैं. इस कारण से अदरक छाती दर्द में बहुत ही प्रभावशाली है. जब भी छाती में दर्द का अनुभव हो तो दर्द से राहत पाने के लिए व सूजन कम करने के लिए अदरक के जड़ की चाय का सेवन लाभकारी होता है. हार्टबर्न के कारण होने वाली छाती दर्द को दूर करने में भी अदरक के जड़ की चाय लाभकारी होता है.

3. हल्दी: - हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व पाया जाता है जिस कारण से यह पेट फूलना, घाव, छाती दर्द आदि रोगों में लाभकारी है. करक्यूमिन कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीजन, जो रक्तवाहिकाओं को नुकसान पहुंचाकर धमनियों के दीवारों पर प्लाक को मजबूत बनाता है, को रोकने में मदद करता है. अपने इस गुण के कारण हल्दी छाती यानि सीने के दर्द में बहुत ही लाभकारी होता है. एक गिलास दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर उबाल लेना चाहिए. फिर उबलने के बाद इसमें थोड़ा शहद मिलाकर इस मिश्रण को गुनगुना ही पीना चाहिए.

4. तुलसी: - तुलसी के पत्तियों मैं मौजूद मैग्निशियम रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है. इस कारण तुलसी के उपयोग से हृदय रोग का इलाज होता है व इससे रक्त वाहिकाओं को आराम मिलता है. इसके अलावा तुलसी में उपलब्ध एंटीऑक्सीडेंट के गुण रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को रोकने में मदद करता है. छाती दर्द के दौरान 8-10 ताजी तुलसी के पत्ती को चबाकर खानी चाहिए या एक कप तुलसी के पत्ती का चाय बनाकर पीना चाहिए. छाती के दर्द को रोकने के लिए व हृदय के स्थिति को सुधारने के लिए एक चम्मच तुलसी के पत्ती के रस को एक चम्मच शहद के साथ रोज सुबह खाली पेट पीना चाहिए.

5. मेथी: - मेथी में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट व कार्डिओ-प्रोटेक्टिव गुण कोलेस्ट्रॉल को दूर कर रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है. अपने इन्हीं गुण के कारण मेथी छाती दर्द में फायदेमंद है. एक चम्मच मेथी के बीज को आधा कप पानी में डालकर 5 मिनट तक उबालना चाहिए. फिर इसे छानकर 2 चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिए. कोलेस्ट्रॉल दूर करने के लिए व छाती के दर्द को रोकने के लिए रोज मेथी के बीज को खाना चाहिए. मेथी के बीज खाने के लिए एक चम्मच मेथी के बीज को पानी में डालकर रात भर छोड़ देना चाहिए. फिर अगली सुबह भींगे हुये इस मेथी के बीज को पानी के साथ खाली पेट खाना चाहिए.

6. बादाम: - बादाम में पोलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड होता है जो ब्लड कोलेस्ट्रॉल को दूर करता है. इसमें फाइबर और मैग्निशियम भी पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और छाती के दर्द को रोकता है. इस कारण से छाती के दर्द में बादाम का उपयोग फायदेमंद रहता है. बादाम का तेल व गुलाब का तेल बराबर मात्रा में मिलाकर इस मिश्रण को छाती पर धीरे-धीरे रगड़ना चाहिए. इससे छाती दर्द जल्द ठीक हो जाता है. छाती दर्द व हृदय के रोग को कम करने के लिए रोज मुट्ठी भर बादाम खाना चाहिए.

7. अल्फाल्फा: - अल्फाल्फा कोलेस्ट्रॉल के स्तर को दूर करता है व प्लाक को बढ़ने से रोकता है तथा हृदय तक रक्त के प्रवाह को सुधारता है. अल्फाल्फा में क्लोरोफिल पाया जाता है जिस कारण से यह धमनियों को सही रखता है व छाती के दर्द को दूर करता है. छाती में दर्द रहने पर एक चम्मच सुखी अल्फाल्फा की पत्ती गर्म पानी में डालकर 5 मिनट तक उबालना चाहिए. फिर इसे छानकर इस चाय को पीना चाहिए.

नोट-
यहाँ बताए गए घरेलू उपाय मात्र जानकारी के लिए दिये गए हैं. पाठकों को सलाह दी जाती है कि किसी भी तरह के छाती दर्द को वे नजरअंदाज न करें. उन्हें अपने डॉक्टर से सलाह लेकर उचित जाँच कराकर उचित इलाज करानी चाहिए.

2 people found this helpful

Hi, What will be the natural solution for overcome the situation of high b.p, fatty liver, dyslipidemia, overweight.

MBBS, MD - Internal Medicine, DM - Cardiology, Fellowship in EP
Cardiologist, Delhi
Hi, What will be the natural solution for overcome the situation of high b.p, fatty liver, dyslipidemia, overweight.
This is a diet problem. Reduce foods that increase insulin levels like sugar, alcohol, starches. Discuss diet with a biochemistry graduate or with healthy 90 year olds, avoid other sources.

Taking telma h 40 1-0-0 .nicardia retard 20 1-0-1. Bp is 140/80. microalbuminuria shows 97. On enquiry learnt microalbuminuria test indicates fluctuations in heartbeat. Should I consult a cardiologist immediately or later.

MBBS, MD - Internal Medicine, DM - Cardiology, Fellowship in EP
Cardiologist, Delhi
Taking telma h 40 1-0-0 .nicardia retard 20 1-0-1. Bp is 140/80. microalbuminuria shows 97. On enquiry learnt microal...
You are doing ok, cardiologist may make you loose confidence about your health by discovering many minor variations and raising unwarranted worries. Continue BP medicines, measure BP only once every month on fixed dates after resting for 10 minutes.
1 person found this helpful

Treating Blood Pressure With Home Remedies!

Bachelor In Pharmacy
Pharmacologist, Lucknow
Treating Blood Pressure With Home Remedies!

Apart from having your routine medications for hypertension, just free your mind from taking such medicines and let' pudina chutney' rule your taste buds and lowers your blood pressure.
What you need to do is to mash the pudina leaves to make more than a semi-liquid. 
Add 2-3 pinches of kali mirch powder.
Add some water and mix it well in grinder.
Have it with your breakfast or lunch. You will definitely feel your high bp surge coming down.

Don't forget to measure it on routine basis to see whether it's working.
 

View All Feed

Near By Clinics

Dentacare

Dhakuria, Kolkata, Kolkata
View Clinic
  4.4  (98 ratings)

Doctors' Point

Dhakuria, Kolkata, Kolkata
View Clinic

smile planners

Dhakuria, Kolkata, Kolkata
View Clinic