Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Ashit Mehta

MS - Orthopaedics

Orthopedist, Vadodara

29 Years Experience
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Ashit Mehta MS - Orthopaedics Orthopedist, Vadodara
29 Years Experience
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning....more
I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning.
More about Dr. Ashit Mehta
Dr. Ashit Mehta is one of the best Orthopedists in Akota, Vadodara. He has been a successful Orthopedist for the last 29 years. He is a MS - Orthopaedics . You can meet Dr. Ashit Mehta personally at Anusha Fracture And Orthopedic Hospital in Akota, Vadodara. Save your time and book an appointment online with Dr. Ashit Mehta on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Orthopedists in India. You will find Orthopedists with more than 25 years of experience on Lybrate.com. You can find Orthopedists online in Vadodara and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Education
MS - Orthopaedics - Maharaja Sayajirao University of Baroda - 1989
Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Ashit Mehta

Anusha Fracture And Orthopedic Hospital

14/15, Race Course Park, Near Natubhai Centre, Gotri RoadVadodara Get Directions
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Ashit Mehta

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I am feeling pain in my feet so please help me how can we treat this? Please help me.

MD - Homeopathy, BHMS
Homeopath, Vadodara
I am feeling pain in my feet so please help me how can we treat this? Please help me.
Hi Tj.. You may consult for homoeopathic treatment with more details... Till then take homoeopathic medicine Kali Bich 30 one dose.
Submit FeedbackFeedback

My uncle has a problem in knees, hips and a muscle pain. please suggest some prescription.

BPTh/BPT, MPTh/MPT
Physiotherapist, Noida
My uncle has a problem in knees, hips and a muscle pain. please suggest some prescription.
knee Core Strengthening Exercise- Straight Leg Raised With Toes Turned Outward, repeat 10 times, twice a day. Hams Stretching- lie straight, take the leg up, pull the feet towards yourself, with a elastic tube or normal belt. repeat 10 times, twice a day. Quadriceps Exercises- Lie straight, make a towel role and put it under the knee, press the keen against the role, hold it for 20 secs. Repeat 20 times twice a day. This will help relieve some pain. hip Extension exercises x 15 times x twice daily. Bhujang asana. Core strengthening exercises. Back stretchingstretch do the cat/cow avoid bending in front. Postural correction- sit tall, walk tall. Apply hot fomentation. .
Submit FeedbackFeedback

Hi, My leg is paining due to lack of calcium. Since last two years. It happens often.

BPTh/BPT
Physiotherapist, Delhi
Hi, My leg is paining due to lack of calcium.
Since last two years.
It happens often.
Start with Physiotherapy treatment. Learn spinal exercises to improve your condition. Don't sit on floor. Wear sports shoes. Drink plenty of water. Take calcium and vitamin D3. Share your report.
Submit FeedbackFeedback

Dear doctor. I had a fracture near ankle with tibia bone and having a pop from 20 days what suggest me for calcium intake. I am taking one a tablet for calcium as advised by my doctor is there any other supplement to be used. Please reply.

Ph.D - Ayurveda, FFAM-Post Graduate Fellowship, MD - Ayurveda
Ayurveda, Delhi
If you like you can have herbal origin preparations strengthening bones, one has to consume with milk, if interested may inform.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Age 51 years male. Slip disc happened jan'2010 and get to normal after 4 years doing only exercise till now and used lumbo scrarol belt when out of home. Due to filling uneasy during walking, a tmt brace protocol suggested. Is it ok to do the test.

dnb orthopaedic surgery
Orthopedist, Jaipur
Lumbar brace support is not recommended for you. Stop immediately to used it otherwise it will weaken your back muscles. And consult with spine surgeon.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Cervical Pain Treatment in hindi - सर्वाइकल पेन का इलाज

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Cervical Pain Treatment in hindi - सर्वाइकल पेन का इलाज

इन दिनों कई ऐसी बीमारियाँ हैं जो कुछ साल पहले तक किसी बीमारी की श्रेणी में गिनी ही नहीं जाती थी, जो अब बड़ी तकलीफ बनकर खड़ी हो जाती हैं, जी हां जॉइंट पेन, बैक पेन, सर्वाइकल पेन जैसी शरीरिक तकलीफें ऐसी दर्दनाक होती हैं, जिसे देखने वाला समझ नहीं पाता और झेलने वाला इसके दर्द को बयान नहीं कर पाता। ये समस्याएं आम तो है पर सिर्फ उनके लिए जिनसे अब तक इसका पाला नहीं पड़ा पर जो इस दर्द के साथ जीते हैं उनके लिए हर एक पल काटना भारी हो जाता है। तो दोस्तों आइए आज हम इन्हीं बीमारियों में से एक सर्वाइकल पेन की बात करते हैं। 
यह समस्या हड्डियों से जुड़ी है, जिसके होने पर कंधों, गरदन आदि में भयानक दर्द होता है जिसे हम सर्वाइकल का दर्द कहते हैं। यह समस्या किसीको  भी हो सकती है। आज के दौर में अव्यवस्थित दिनचर्या और अनियमितताओं के कारण लगभग हर तीसरे व्यक्ति को सर्वाइकल की परेशानी सहनी पडती हैं। घंटों बैठे रहना, खराब पोश्चर, झुक कर बैठना और कई अन्य गलत आदतों की वजह से इस परेशानी का सामना बड़ी तादाद में लोगों को करना पड़ता है पर हमें अपनी आदतों या इससे बचने के उपाय नहीं मालूम होते इसलिए हम सभी को सर्वाइकल दर्द की वजह, लक्षण और इसके आसान घरेलू उपचार की जानकारी होनी बहुत जरूरी है । 

सर्वाइकल पेन के कारण

  • गलत पोजीशन में सोने से आपको सर्वाइकल पेन होने लगता है।
  • ज्यादातर लोगों को भारी वजन को सिर पर उठाने से सर्वाइकल पेन होता है।
  • गर्दन को बहुत देर तक झुकाये रखने से भी सर्वाइकल पेन हो सकता है।
  • बहुत देर तक एक ही पोजीशन में बैठने से सर्वाइकल पेन शुरू हो जाता है।
  • ऊंचे और बड़े तकिये का प्रयोग करने से सर्वाइकल पेन होता है।
  • भारी वजन के हेलमेट डालकर बाइक राइडिंग करने से भी सर्वाइकल हो सकता है।
  • गलत उठने, बैठने और सोने के तरीकों के कारण भी सर्वाइकल हो सकता है।

सर्वाइकल पेन के लक्षण

  • सिर का दर्द
  • गर्दन को हिलाने पर गर्दन में से हड्डियों के टिडक्ने के जैसी आवाज़ का आना। 
  • हाथ, बाजू और उंगलियों में कमजोरी महसूस होना या उनका सुन्न हो जाना 
  • व्यक्ति को हाथ और पैरों में कमजोरी के कारण चलने में समस्या होना और अपना संतुलन खो देना 
  • गर्दन और कंधों पर अकड़न होना 

दोस्तों वैसे तो चिकित्सा विभाग के पास हर बीमारी का इलाज उपलब्ध होता है, पर अक्सर ये दवाएं हमें साइड इफ़ेक्ट के तौर पर दूसरी बीमारियों से मिलवा देती हैं और साथ ही जेब पर भी पड़ता है भारी, तो क्यों ना आप देशी घरेलू नुस्खों की आजमाइश करें जिसके सहारे हमारे बड़े बुजुर्ग डॉक्टर्स से हमेशा दूर रहकर भी हेल्दी रहा करते थे।

गर्दन में दर्द के घरेलू उपाय

1. सही ढंग से सोएं 
अक्सर मुलायम ऊंचे गद्दे और तकिए पर हम सोना पसंद करते हैं । पर यह सर्वाइकल पेन का कारण हो सकता है इसलिए सख्त गद्दे का ही हमेशा प्रयोग करें । ऊंची तकिया से दुश्मनी कर लें तो बेहतर है । अपना सिर जमीन के तल पर रखकर सोने की आदत डाल लें। या ज्यादा से ज्यादा पीठ को 15 डिग्री तक मोड़ने वाले तकिये का प्रयोग करें। पेट के बल ना सोएँ। ये गर्दन को फैलाता है। पीठ के बल या करवट लेकर सोएँ। इससे आपको दर्द से राहत पाने में मदद करेगा और जिन्हें नहीं है वह बचे रहेंगे।
2. गर्म और ठंडा सेख
दर्द कम करने के लिए गर्दन पर ठंडा या गर्म पदार्थ लेकर सिंकाई करें। किसी एक से ही करते रहने के मुकाबले बारी-बारी से गर्म और ठन्डे का प्रयोग करना फायदेमंद होगा ।
3. मसाज 
मसाज करवाना तो वैसे भी कई लोगों को पसंद होता है और यह तुरन्त रिलीफ पहुंचाता है पर सिर्फ बॉडी पेन में ही नहीं बल्कि सर्वाइकल पेन के दर्द से राहत के लिए आप मसाज का सहारा भी ले सकते है। 

4. खूब पानी पियें
हम यूँही नहीं कहते कि जल ही जीवन है । हमारे शरीर का अधिकतम वजन पानी की वजह से होता है क्योंकि शरीर में होने वाले अधिकांश कामो के लिए पानी बहुत महत्वपूर्ण पदार्थ है। साथ ही हमारे रीढ़ की हड्डी के जोड़ो के बीच में डिस्क और जॉइंट होते है उनमे अधिकतर हिस्सा पानी का बना होता है और ऐसे में शरीर में पानी की कमी होने से उनकी कार्यक्षमता में कमी हो जाती है इसलिए जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा पानी पियें |

5. स्ट्रेस से बचें
आपको ये सुनकर थोडा अजीब लगेगा कि सर्वाइकल पेन की वजह स्ट्रेस यानी तनाव भी हो सकता है और यह कम से कम 60 फीसदी मामलों में देखा गया है इसलिए अगर आपको पेन है तो आपको इसपर और भी ध्यान देना चाहिए और तनाव को कम करने के लिए उपयोगी कदम उठाने चाहिए।
6. राइट डे शेड्यूल अपनाएं
एक अच्छी दिनचर्या आपके लिए चीजें आसान कर सकती हैं, इसलिए अपनी दिनचर्या में शारीरिक व्यायाम और सही भोजन को शामिल करें और अगर आप  मेहनत वाला काम करते हों तो बिना लापरवाही किए अपने शरीर को भरपुर आराम दें।
7. स्ट्रेच एक्सरसाइज की आदत डालें
अपने शरीर को कुछ छोटे छोटे एक्सरसाइज के साथ आप अपने दर्द से प्रभावित हिस्सों को आराम दे सकते है इनमे कुछ स्ट्रेच एक्सरसाइज भी शामिल है। स्ट्रेच एक्सरसाइज करने से शरीर एवं गर्दन की मास पेशियां खुल जाती है और सर्वाइकल पेन से राहत मिलने लगती है।

जरूरी आदतें

  • दोस्तों सर्वाइकल पेन के कारण,लक्षण और इलाज जानने के साथ ही आपको कुछ आदतें छोड़नी और कुछ आदतें जरूरी तौर पर अपनी लाइफस्टाइल में शामिल करनी होंगी  जैसे कि
  • ज्यादा वजन वाले सामान उठाने की आदत छोड़ दें।
  • वज्रासन, चक्रासन और मत्स्यासन के अलावा गर्दन को गोल गोल घुमाने का अभ्यास करे
  • प्रतिदिन सूर्योदय से पहले उठकर कम से कम 3 किलोमीटर तेज़ रफ्तार से पैदल चलें
  • अपने ऑफिस में ज्यादा देर तक एक ही पोजीशन में न बैठकर हर एक घंटे के बाद थोड़ी थोड़ी देर के लिए ब्रेक लेकर थोडा वाक करने की आदत डालें।
  • अगर आप घरेलू महिला है तो ज्यादा देर न सोये और घरेलू कार्यों के बीच थोडा थोडा ब्रेक ले कर आराम करें।
  • बैठ कर फर्श पर पोछा लगाने का शौख पालें इससे काफी आराम मिलेगा। 
  • ध्यान रहे यह शुरुआती तकलीफ के लिए बेहतर उपाय हैं लेकिन अगर तकलीफ से राहत ना मिले तो तुरन्त डॉक्टर से संपर्क करें।
2 people found this helpful

I am suffering for legs nd feet pain in summer every night last 2 years. What should I have to do. Give me any suggestion pleas.

BPTh/BPT, MPTh/MPT
Physiotherapist, Noida
I am suffering for legs nd feet pain in summer every night last 2 years. What should I have to do. Give me any sugges...
Keep your leg raised while sitting or lying quadriceps strengthening exercises- quad clenches: lie flat on your back or sit upright on a chair with leg kept horizontally on another surface. Now, tighten the muscle on the front of the thigh by pushing your knee down. You should feel your thigh muscles clench, hold for 3 secs. Repeat 10 times twice a day. Short arcs: lie flat on your back or sit upright with your leg placed horizontally on a flat surface like a chair or bed. Place a rolled up towel under the knee. Pull your toes towards you and clench you thigh muscles. Slowly lift your foot up off the bed until your knee is straight (keep your knee resting on the towel). Hold for 3 secs and slowly lower them on the chair. Repeat 10 times twice a day. Straight leg raise: lie flat on your back. One leg and knee will be straight and other leg should be bent. Pull your toes towards you and tighten/clench the muscle on the front of the thigh, locking your knee straight. Lift your foot up in the air, about 6 inches off the bed. Hold for 3 secs and slowly lower the leg. The knee must remain straight the whole time you are doing this exercise.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am having a back pain whenever I drive bike. Any solution or remedies for it? I cannot avoid during bike.

FRHS, Ph.D Neuro , MPT - Neurology Physiotherapy, D.Sp.Med, DPHM (Health Management ), BPTh/BPT
Physiotherapist, Chennai
I am having a back pain whenever I drive bike. Any solution or remedies for it? I cannot avoid during bike.
Do take ift and laser therapy for pain relief for 12 days followed by strengthening exercise from physiotherapist apply hot water fomentation thrice a day for 7 days regularly do revert for further assistance best wishes.
Submit FeedbackFeedback

Acupuncture - How Effective is it in Treating Back Pain

MD - Acupuncture, Ph.D Advance Course in Acupunctre
Acupuncturist, Chennai
Acupuncture - How Effective is it in Treating Back Pain

Lower back pain at some point in time or the other has almost become inevitable in today’s world, especially because of the increasingly sedentary lifestyle that many tend to lead. Acupuncture, borrowed from the ancient domains of Chinese medicine, is often recommended by doctors as one of the foremost remedies to lower back pain.

Acupuncture requires insertion of thin sterilized needles at particular points of the body. The body has over 2000 pressure points which are connected by meridians or pathways, generating an energy flow known as ‘Qi’.

Triggering these points helps to correct and improve the energy flow, which in turn boosts overall health and helps alleviate pain. On using this therapy, the central nervous system stimulates the release of chemicals into the brain, spinal cord and muscles. These chemicals either produce bodily changes or alter one’s experience of pain to promote healing a feeling of well-being.

How acupuncture works by:

1. Accelerating the relay of the electromagnetic signals which initiate the flow of endorphins (hormones secreted by the brain) which have analgesic effects on the body.

2. Stimulating the release of a chemical in the brain, known as natural opioids, which ease the pain and induce sleep.

3. Modifying the brain chemistry by altering the release of neurohormones (hormones secreted by a group of nerve cells) and neurotransmitters (chemical messengers that relay messages within the body, from one neuron to another, known as the ‘target’ neuron, to muscle or a gland cell). Neuro-hormones affect the activity of the concerned organ or the tissue while neurotransmitters dampen the nerve impulses.

Side effects of Acupuncture:

1. If the acupuncture is carried out by a trained and an experienced acupuncturist, it is usually considered safe.

2. Adverse side-effects include ruptured organs or infections. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a doctor and ask a free question.

3249 people found this helpful
View All Feed

Near By Doctors

92%
(84 ratings)

Dr. Kedar Phadke

Diploma In Orthopaedics (D. Ortho), DNB (Orthopedics), Diploma SICOT, Fellowship in Spine Surgery, Fellowship in Spine Surgery, Fellowship in Endoscopic Spine Surgery
Orthopedist
VIO Hospital, 
400 at clinic
Book Appointment