Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Body Weakness Tips

5 Foods Which Can Help Boost Energy!

5 Foods Which Can Help Boost Energy!

In our day to day lifestyle, it has become very difficult to maintain routine and habits to the optimal level. But in order to, function efficiently and to put your body in full functioning capacity, here are five energy boosting foods to try: 

  1. Honey: This natural sweetener is extremely low on the glycemic index and acts as muscle fuel, thus helping you to replenish the muscles during and post exercising. It is literally nature's counterpart to an energy drink that can be added to tea, water or even your yoghurt. 
  2. Banana: One of the most popular and well-loved energy foods, bananas being mostly composed of sugars, can provide a head-on energy boost. 
  3. Nuts: They are extremely important in converting sugar into energy. Also, they are extremely handy to munch on when feeling lethargic or low in energy. Nuts like almonds, cashew nuts or hazelnuts are rich in magnesium and help to keep blood sugar levels even and supply protein to keep the hunger away. 
  4. Cardamom: This popular spice is well known to help boost energy by promoting blood flow. Indulge in a cardamom laden curry or a tea infused with cardamom to combat low energy levels. 
  5. Apples: Since they take much longer to digest in comparison to other fruits, these beautiful fruits provide a more prolonged energy boost. Being high in fiber, they're easy to carry around and munch on. 

This is not an exhaustive list, and there are several more where they came from. Pick out the food items that are easily available for you and keep them at hand to pick you up when you function on low energy levels.

2438 people found this helpful

How To Keep Your Hunger In Check?

Many people feel hungry throughout the day. They are lethargic until they lay their hands on food. These bouts of hunger go on like a vicious circle and if not resisted, it can lead to health issues.

Here are some tips.

  1. A high-fiber diet can prevent unnecessary hunger - your diet should be rich in fiber. Body takes a longer span of time to digest fiber-rich foods. It also makes you feel full for hours together. Having fiber will keep your bowel movements in control and is, therefore, healthy. Remember to add extra fiber to your bowl of cereals or salad to keep pangs of hunger at bay.
  2. Divide one heavy meal into two smaller meals - eating heavy meals and that too less frequently is really bad for your health. This can make you feel hungry time and again. To control the constant rumbling inside your tummy, you should divide one big meal into two or more smaller meals. For instance, if you were supposed to eat sandwiches, boiled eggs and soup for lunch, you should probably eat sandwiches at noon and eat the soup and eggs any time later in the day.
  3. Never be a fast eater - jumping on your food is the worst way of tackling things. Research studies show how a human brain takes more than twenty minutes to tell your body it is full and satisfied. If you don't wish to overeat throughout the day, you must consume your food slowly. This way the brain takes more time in realizing it is full and thus, further time in feeling subsequent hunger.
  4. Eat sufficiently during mealtime - many tend to eat inadequately during mealtime and as soon as they are done with their food, they feel hungry. It is important to fill yourself sufficiently when you are already eating. A person snacking on carrots and corns can keep away from binge eating.
  5. Drink more glasses of water - every person should drink around three to four liters of water on a daily basis. Drinking water half an hour after a meal can keep your gustatory concerns in check for long. Water keeps you hydrated, helps in digestion and controls unnecessary hunger.
  6. Eat a good amount of protein - protein makes you full in very little time 


 

1 person found this helpful

हेल्थ बनाने के तरीके - Health Bnane Ke Tarike!

हेल्थ बनाने के तरीके - Health Bnane Ke Tarike!

हैल्थ इज वेल्थ वाली कहावत तो आपने भी सुनी ही होगी. दरअसल ये बात शत प्रतिशत सही है. क्योंकि बिना स्वास्थ्य के इस दुनिया में कुछ भी नहीं है. इस संसार में जीवन यापन करने के लिए आपके शरीर का ठीक ढंग से काम करना बेहद आवश्यक है. यदि आप अभी तक अपने हेल्थ को लेकर सचेत नहीं हैं तो अब आपको इसे लेकर सचेत हो जाना चाहिए.

सण्‍डे हो मण्‍डे रोज खाएं अण्‍डे-
अपने दिन की शुरुआत उबले अण्‍डों से कीजिए. सुबह नाश्‍ते में दो अण्‍डे खाने से आपकी मांसपेशियां और वजन तेजी से बढ़ेगा. अण्‍डा प्रोटीन का उच्‍च स्रोत होता है. एक अंडे में छह से आठ ग्राम तक प्रोटीन होता है. इसके साथ ही इसमें जिंक, विटामिन, आयरन और कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. यह सब चीजें मिलकर इसे एक कम्‍प्‍लीट आहार बनाते हैं.

कलेजी-
चिकन जिम जाने वालों के लिए अति आवश्‍यक आहार माना जाता है. हर सौ ग्राम कलेजी में 30 ग्राम प्रोटीन होता है और इसमें वसा की मात्रा बहुत कम होती है. इनकी कीमत भी कम होती है साथ ही इन्‍हें बनाना भी आसान होता है.

पानी है जरूरी-
पानी कई मामलों में आहार से भी ज्‍यादा जरूरी हो जाता है. हमारे शरीर का 70 फीसदी हिस्‍सा पानी होता है और मांसपेशियां 75 प्रतिशत पानी की बनी होती हैं. अपनी मांसपेशियों में तरलता बनाए रखने और मांसपेशियों की ताकत बनाए रखने के लिए पानी बेहद जरूरी है. इससे एनर्जी लेवल बढ़ता है और पाचन क्रिया ठीक रहती है. अपने वजन के अनुसार पानी पीना चाहिए.

अनानास-
अनानास में मौजूद तत्‍व ब्रोमिलीन प्रोटीन को पचाने में मदद करता है. इसके साथ ही यह मांसपेशियों में जलन को भी कम करता है. इसलिए वर्क आउट के बाद आपके आहार में जरूर शामिल करें. यह खाने में भी लजीज होता है, इसलिए आप एक बार जो इसे खाना शुरू करेंगे तो बस खाते ही जाएंगे.

पालक-
एक रिसर्च के अनुसार पालक मांसपेशियों के निर्माण की गति 20 फीसदी तक बढ़ा देती है. रोजाना करीब एक किलो पालक खाने से आपको काफी फायदा मिलेगा. शाकाहारी लोगों के लिए यह बेहद उपयोगी आहार है.

शकरकंदी-
मांसपेशियां बनाने की चाहत रखने वाले लोगों के लिए यह बहुत उपयोगी हो सकती है. इनमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा काफी अधिक होती है. यह शरीर के लिए बेहद जरूरी पौष्टिक तत्‍व होता है. यह मांसपेशियों के लिए भी मददगार होता है. इसके साथ ही इसमें विटामिन और मिनरल की भी प्रचुर मात्रा होती है. इससे ब्‍लड शुगर का स्‍तर भी नियंत्रित रहता है.

बादाम-
बादाम तो लंबे समय से ताकत और बुद्धिमत्‍ता की पहचान रहा है. इसमें प्रोटीन और वसा प्रचुर मात्रा में पाई जाती है. लेकिन, सबसे अहम इसमें पाया जाने वाला विटामिन ई होता है, जो मांसपेशियों के निर्माण में काफी अहम होता है. यह शक्तिशाली एंटी-ऑक्‍सीडेंट शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है, जिससे आपको व्‍यायाम से जल्‍द रिकवर होने में मदद मिलती है.

पनीर-
कुछ लोगों की नजर में यह खाने के बाद मुंह का जायका बदलने की चीज भर हो सकती है. लेकिन मांसपेशियों के निर्माण में यह बहुत उपयोगी होता है. कॉटेज चीज के एक कप में 28 ग्राम प्रोटीन होता है. इसे खाने के बाद काफी देर तक भूख भी नहीं लगती.

ब्रोकली-
कसरत के बाद के अपने आहार में ब्रोकली, पालक, टमाटर, मक्‍का और प्‍याज जैसे फाइबरयुक्‍त पदार्थों को शामिल करें. दिन में कम से कम पांच से सात बार फलों और सब्जियों का सेवन करें. विटामिन, मिनरल और फाइबर का इससे बेहतर अन्‍य कोई भोजन नहीं हो सकता. अपनी सब्जियों को अधिक न पकाएं इससे उनमें मौजूद पौष्टिक पदार्थ समाप्‍त हो जाते हैं.

चॉकलेट मिल्‍क-
इंटरनेशनल जर्नल ऑफ स्‍पोटर्स एंड एक्‍सरसाइज मेटाबॉलिज्‍म, में प्रकाशित एक स्‍टडी के अनुसार, चॉकलेट मिल्‍क स्‍पोटर्स ड्रिंक्‍स जैसा ही फायदेमंद होता है. इससे व्‍यायाम का पूरा लाभ भी मिलता है साथ ही साथ शरीर खोई हुयी ऊर्जा भी जल्‍द ही हासिल कर लेता है.

साबुत अनाज-
अगर जिम के दौरान उचित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट न मिले तो मांसपेशियां कमज़ोर होने लगती है. इसलिए शरीर को भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स देने के लिए साबुत अनाज खाना चाहिए. साबुत अनाज जैसे – चावल, गेहूं, बाजरा, दलिया आदि हैं. यदि आपके पास ज्यादा एनर्जी होगी तो आप ज्यादा देर तक व्‍यायाम कर सकते हैं.

फल-
ताजे फल जिम के दौरान शरीर का ऊर्जा प्रदान करने के लिए बहुत ही आवश्यक हैं. संतरा और सेब मांसपेशियों के निर्माण के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण फल हैं. संतरे में विटामिन बी और सेब में पेक्टिन पाया जाता है जो मांसपेशियों को मजबूत बनाते हैं.

सूखे मेवे-
सूखे मेवे में प्रोटीन ओर विटामिन की ज्यादा मात्रा होती है. हालांकि इनमें फैट भी अच्छी मात्रा में होता है लेकिन यह स्वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक नहीं होता है और इससे मोटापा नहीं बढता है. जिम करने वाले को हर रोज लगभग, 15-20 बादाम, काजू और अखरोट आदि का सेवन करना चाहिए.

दुबले-पतले शरीर वाले लोगों के लिए-
हाइप्रोटिन फूड रेग्युलर डाइट में शामिल करें. हाई कैलोरी का खाना खाएं. उन खाद्य पदार्थों का सेवन ज्यादा करें जिनमें कैलोरी की मात्रा अधिक हो. सुबह हेवी नाश्ता करें. च्यवनप्राश वजन बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक औषधी है. शतावरी कल्पा लेने से न सिर्फ आंखें और मसल्स अच्छी रहती है बल्कि इससे वजन भी बढ़ता है. वसंतकुसुमकर रस वजन को जल्दी बढ़ाने में भी लाभकारी है. अश्वगंधा वलेहा को पानी और दूध से लेने से जल्दी असर करता है. 50 ग्राम किशमिश को साफ पानी में भिगो दें. सुबह-सुबह उठकर तीन महीनों तक इसका सेवन लगातार करें. ऐसा करने से आपका वजन जल्दी ही बढऩे लगेगा. इसके साथ ही नाश्ते के समय बादाम का दूध या मक्खन, घी इत्यादि भी लेते रहने से आप स्वस्थ रहेंगे और अपना वजन भी बढ़ा पाएंगे.

1 person found this helpful

कमजोरी दूर करने के घरेलू नुस्खे - Kamzori Door Karne Ke Gharelu Nuskhe!

कमजोरी दूर करने के घरेलू नुस्खे - Kamzori Door Karne Ke Gharelu Nuskhe!

कमजोरी का अनुभव करना एक सामान्य समस्या हैं. कमजोरी को शारीरिक या मांसपेशियों में कमी और रोजाना के कार्यो को करने में अतिरिक परिश्रम की आवश्यकता को ही कमजोरी के रूप में दर्शाया जाता है. कमजोरी दूर करने के लिए कुछ लोग तो बाजार से तमाम स्वास्थ्यवर्धक औषधियों को इस्तेमाल करते हैं. इन औषधियों के कई दुष्प्रभाव भी देखने को मिलते हैं. हलांकि इसके लिए आपको अपनी रोजाना की दिनचर्या बदलने से लेकर कई अन्य तरीकों को भी अपनाना चाहिए. कमजोरी के अन्य लक्षणों में बहुत ज्यादा पसीना आना, भूख की कमी, फोकस करने में कठिनाई और पर्याप्त नींद नहीं लेना शामिल हैं. आप आवश्यक पोषक तत्वों की कमी के कारण भी कमजोर महसूस कर सकते हैं जैसे कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली, अत्यधिक शराब पीना, भोजन छोड़ना, भावनात्मक तनाव और अत्यधिक शारीरिक श्रम आदि. कई सरल घरेलू उपाय को अपना कर भी ऊर्जा को बढ़ावा दे सकते हैं और आपकी शक्ति को बहाल कर सकते हैं. इस लेख के माध्यम से आप हेल्थ बनाने के तरीकों के बारे में जानेंगे.

1. अंडे-

कमजोरी से लड़ने के लिए सबसे बेहतर और सरल उपायों में से एक संतुलित आहार का सेवन करना हैं. अंडे के सेवन करना भी एक संतुलित आहार में शामिल है. अंडे में प्रोटीन, आयरन, विटामिन ए, फोलिक एसिड, राइबोफ्लेविन और पैंटोफेनीक एसिड जैसे भरपूर पोषक तत्व हैं. अंडे को किसी भी समय कमजोरी को दूर भगाने के लिए खा सकते है. आप एक हार्ड बॉईल एग, पनीर या हरी सब्जियों के साथ एक आमलेट या एग सैंडविच खा सकते हैं.

2. दूध-
दूध को विटामिन बी का सबसे समृद्ध स्रोत माना जाता है जो कमजोरी को दूर भगाने के लिए जाना जाता है. इसके अलावा इसमें कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में पायी जाती है जो आपकी हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करता है.

3. एक्यूप्रेशर-
यह एक स्पर्श थेरेपी है जिसमें बॉडी को पुनर्जीवित करने के लिए बॉडी के कुछ विशिष्ट बिंदुओं पर प्रेशर का उपयोग किया जाता है. भौंह के बीच, कंधे की मांसपेशियों में लोअर नैक की साइड में 1-2 इंच, घुटने के नीचे, छाती के बाहरी भाग पर, नाभि के नीचे तीन उंगली की चौड़ाई के बिंदुओं पर प्रेशर डालने से सामान्य कमजोरी से छुटकारा पा सकते हैं.

4. मुलेठी-
मुलेठी एक औषधीय जड़ी बूटी है जो कमजोरी के अलग-अलग लक्षणों से लड़ सकती है. इस जड़ी बूटी ने प्राकृतिक रूप से शरीर द्वारा निर्मित एड्रि‍नल हार्मोन को प्रेरित करता है जिससे आपकी एनर्जी और मेटाबोलिज्म को बढ़ावा मिलता है.

5. केला-
केले फ्रुक्टोज, ग्लूकोज और सुक्रोज़ जैसे नैचुरल शुगर का एक बड़ा स्रोत है जो आपको शीघ्र और पर्याप्त ऊर्जा को बढ़ावा देते हैं. इसके अलावा केले में पोटेशियम पायी जाती है, जो एक मिनरल है जिसे आपके बॉडी को शुगर से एनर्जी में बदलने की जरूरत है. केले में मौजूद फाइबर आपके ब्लड में ग्लूकोज लेवल को बनाए रखने में भी सहायता करता है.

6. एक्सरसाइज-
रोजाना एक्सरसाइज और सरल शारीरिक एक्टिविटी से आपकी स्टैमिना बढती हैं और आपकी मसल्स की ताकत बढ़ाती है. सुबह का समय एक्सरसाइज के लिए सबसे अच्छा होता है. दैनिक रूप से 15 मिनट के लिए वार्म अप और स्ट्रेचिंग आपको फ्रेश और एनेर्जेटीक रखेंगी. योग और ध्यान भी आपके एनर्जी के लेवल को हाई रखने के लिए एक बेहतर तरीका है.

7. स्ट्रॉबेरी-
स्ट्रॉबेरी आपको पूरे दिन उर्जा की कमी का अनुभव नहीं होने देता हैं. यह विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध हैं जो बॉडी के टिश्यू को रिपेयर करने में में मदद करते हैं, इम्यून को बढ़ावा देते हैं और फ्री एलेमेंट्स की क्षति से रक्षा करते हैं. इसके अलावा, आपको स्ट्रॉबेरी से मैंगनीज, फाइबर और पानी की एक स्वस्थ खुराक मिलती है.

8. आम-
आम एक मीठा और रसीला फल है जिसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं. आम आहार फाइबर, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कॉपर का भी एक समृद्ध स्रोत हैं. इसके अलावा, आम में मौजूद आयरन बॉडी में रेड ब्लड सेल्स की संख्या को बढ़ाकर कमजोरी दूर करने में मदद करता है. इसके अलावा, आम में स्टार्च होता है जो कि शुगर में परिवर्तित होता है जो आपको शीघ्र ऊर्जा प्रदान करता है.

9. बादाम-
बादाम विटामिन ई से समृद्ध हैं जो आपको ऊर्जावान महसूस करा सकते हैं और सामान्य कमजोरी के लक्षणों से लड़ने में मदद करता हैं. इसके अलावा बादाम में मैग्नीशियम की हाई डोज़ प्रोटीन, फैट और कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा स्रोतों में बदलने में एक अच्छी भूमिका निभाती है. मैग्नीशियम की कमी कुछ लोगों में कमजोरी का कारण हो सकती है.

10. आंवला-
आंवला एक पौष्टिक फल है जो आपके एनर्जी लेवल को सुधार सकता है. यह विटामिन सी, कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन, कार्बोहाइड्रेट और फास्फोरस का एक समृद्ध स्रोत है. हरदिन केवल एक आंवला खाने से भी आप अपनी कमजोर इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सकते हैं.

11. कॉफी-
कॉफी में मौजूद कैफीन माइंड को एक्टिव करता है और आप में तत्काल ऊर्जा को बढ़ावा देता है. कॉफी को सिमित मात्रा में पीने से कोई नुकसान नहीं होता है. ऊर्जावान महसूस कराने के अलावा, यह आपके मेटाबोलिक रेट में भी सुधार कर सकती है, फोकस में सुधार कर सकती है और दर्द कम कर सकती है. प्रति दिन दो कप कॉफी से ज्यादा पीना न पिएं. इसके अधिक सेवन से चिंता और अनिद्रा जैसी जोखिम बढ़ सकते हैं.

2 people found this helpful

खून की कमी - Khoon Ki Kami!

खून की कमी - Khoon Ki Kami!

हमारे शरीर में लगभग 70 प्रतिशत पानी है. इस पानी का ज्यादातर हिस्सा हमारे शरीर में खून के रूप में उपस्थित है. रक्त ही हमारे शरीर में वो महत्वपूर्ण माध्यम है जो कई जरुरी पोषक तत्वों और कई अन्य चीजों को विभिन्न अंगों तक पहुँचाने का काम करता है. यदि खून न हो हो या खून की कमी हो जाए तो हमारे शरीर में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगेंगी. हिमोग्लोबिन, हमारे शरीर में मौजूद रक्त का सबसे महत्वपूर्ण भाग है. हमारे शरीर में कई खनिज पाए जाते हैं. आयरन उनमें से ही एक है.

आयरन का काम है हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करना. लाल रक्त कोशिकाएं हिमोग्लोबिन का निर्माण करती हैं. हिमोग्लोबिन हमारे शरीर में प्राण वायु ऑक्सिजन को फेफड़ों से लेकर हमारे खून में पहुंचाता है. फिर रक्त में संचरण करते हुए ऑक्सिजन शरीर के अन्य हिस्सों में जाता है. लेकिन जब हमारे शरीर में आयरन की कमी होती है तब लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में कमी आती है और इससे हिमोग्लोबिन में भी कमी आ जाती है. इस अवस्था में हमारे शरीर में ऑक्सिजन की भी कमी हो जाती है जिसे हम एनीमिया या खून की कमी कहते हैं. इसमें हमें थाकान और कमजोरी महसूस होने लगता है.

एनीमिया के लक्षण-

  • थकान होना
  • त्वचा का पीला पड़ना
  • आंखों के नीचे काले घेरे
  • चक्कर आना
  • सीने में दर्द
  • लगातार सिर में दर्द
  • तलवे और हथेलियों का ठंडा पड़ना
  • शरीर में तापमान की कमी


कौन होता है आसानी से इसका शिकार?
यदि ध्यान न रखा जाए तो प्राकृतिक कारणों से महिलाएं इसकी आसान शिकार बन जाती हैं. दरअसल पीरियड्स और गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में प्राकृतिक रूप से कई ऐसे परिवर्तन होते हैं जिनसे महिलाओं में एनीमिया जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है. गर्भावस्था के दौरान शरीर को अधिक मात्रा में विटामिन, मिनरल व फाइबर आदि की आवश्यकता होती है. जबकि इस दौरान रक्त में लौह तत्वों की कमी होने से शारीरिक दुर्बलता बढ़ सकती है. जबकि पीरियड्स के दौरान खून ज्यादा निकल जाने के कारण भी एनीमिया की आशंका बढ़ जाती है. स्तनपान कराने वाली माताओं को भी एनीमिया होने का खतरा रहता है. लड़कियों में अक्सर डाइटिंग का क्रेज देखने को मिलता है. वजन कम करने के लिए डाइटिंग कर रही लड़कियां भी इसकी शिकार हो सकती हैं. कुछ अन्य कारणों से भी महिलाओं या पुरुषों में हो सकता है जैस पाइल्स या अल्सर के कारण भी एनीमिया हो सकता है. अब तो पर्यावरण में मौजूद हानिकारक तत्व भी एनीमिया का कारण बन रहे हैं.

बचने के उपाय-
एनीमिया अपने आप में कोई बिमारी नहीं है बल्कि इसके कारण कई अन्य बीमारियाँ हो सकतीं हैं. इस समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए संतुलित और पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेना अत्यंत आवश्यक है. इसको ठीक होने में कम से कम छह महीने का समय लगता है. यदि आप एनीमिया से बचना चाहते हैं तो आपको मांस, अंडा, मछली, किशमिश, सूखी खुबानी, हरी बीन्स, पालक और हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे आयरन से परिपूर्ण आहार आदि का सेवन अवश्य करना चाहिए. आयरन युक्त आहार तभी प्रभावी है जब उसके साथ विटामिन सी का भी सेवन किया जाता है. विटामिन-सी के लिए अमरूद, आंवला और संतरे का जूस लें.

इन आहारों से होती है खून में वृद्धि-
कई ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनका इस्तेमाल रक्तवर्धन के लिए किया जा सकता है. इनके इस्तेमाल से भी आप एनीमिया के जोखिम को कम कर सकते हैं.
1. चुकंदर -
यह आयरन का अच्छा स्त्रोत है. इसको रोज खाने में सलाद या सब्जी के तौर पर शामिल करने से शरीर में खून की कमी नहीं होती.

2. हरी पत्तेदार सब्जी - पालक, ब्रोकोली, पत्तागोभी, गोभी, शलजम और शकरकंद जैसी सब्जियां सेहत के लिए बहुत अच्छी होती हैं. वजन कम होने के साथ खून भी बढ़ता है. पेट भी ठीक रहता है.

3. सूखे मेवे - खजूर, बादाम और किशमिश का खूब प्रयोग करना चाहिए. इसमें आयरन की पर्याप्त मात्रा होती है.

4. फल - खजूर, तरबूज, सेब, अंगूर, किशमिश और अनार खाने से खून बढ़ता है. अनार खाना एनीमिया में काफी फायदा करता है. प्रतिदिन अनार का सेवन करें.

1 person found this helpful

How To Keep Your Hunger In Check?

How To Keep Your Hunger In Check?

Many people feel hungry throughout the day. They are lethargic until they lay their hands on food. These bouts of hunger go on like a vicious circle and if not resisted, it can lead to health issues.

Here are some tips to help you control these hunger pangs:

1. A high-fiber diet can prevent unnecessary hunger - Your diet should be rich in fiber. Body takes a longer span of time to digest fiber-rich foods. It also makes you feel full for hours together. Having fiber will keep your bowel movements in control and is, therefore, healthy. Remember to add extra fiber to your bowl of cereals or salad to keep pangs of hunger at bay.

2. Divide one heavy meal into two smaller meals - Eating heavy meals and that too less frequently is really bad for your health. This can make you feel hungry time and again. To control the constant rumbling inside your tummy, you should divide one big meal into two or more smaller meals. For instance, if you were supposed to eat sandwiches, boiled eggs and soup for lunch, you should probably eat sandwiches at noon and eat the soup and eggs any time later in the day.

3. Never be a fast eater - Jumping on your food is the worst way of tackling things. Research studies show how a human brain takes more than twenty minutes to tell your body it is full and satisfied. If you don't wish to overeat throughout the day, you must consume your food slowly. This way the brain takes more time in realizing it is full and thus, further time in feeling subsequent hunger.

4. Eat sufficiently during mealtime - Many tend to eat inadequately during mealtime and as soon as they are done with their food, they feel hungry. It is important to fill yourself sufficiently when you are already eating. A person snacking on carrots and corns can keep away from binge eating.

5. Drink more glasses of water - Every person should drink around three to four liters of water on a daily basis. Drinking water half an hour after a meal can keep your gustatory concerns in check for long. Water keeps you hydrated, helps in digestion and controls unnecessary hunger.

6. Eat a good amount of protein - Protein makes you full in very little time and thus, doesn't need to be consumed in great quantities. It will make you feel content for as long as your blood sugar levels are in balance through protein consumption. Protein takes time to be digested.

These tips help a great deal in keeping the hunger pangs at bay and prevent you from unnecessary binge eating. So, start using these tips to keep yourself healthy.

6554 people found this helpful

सुस्ती भगाने के उपाय - Susti Bhagane Ke Upay!

सुस्ती भगाने के उपाय - Susti Bhagane Ke Upay!

सुस्ती एक आम लेकिन मानव शरीर के लिए स्वाभाविक समस्या है. दिन भर की भागदौड़ या शरीर के लगातार काम करने से आपको आराम नहीं मिल पाता है और इससे आपको थकावट महसूस होती है. चिंता, अवसाद, दुख और तनाव जैसी मानसिक समस्याओं के कारण भी थका हुआ महसूस कर सकते हैं. इसके अलावा, इस समस्या के लिए अत्यधिक शराब का उपयोग, कैफीन के अत्यधिक सेवन, अत्यधिक शारीरिक गतिविधि, निष्क्रियता, नींद की कमी और खराब भोजन की आदतें भी शामिल है. यहाँ तक कि कुछ बीमारियाँ जैसे जिगर की विफलता, एनीमिया, कैंसर, गुर्दा रोग, हृदय रोग, थाइरोइड रोग, मोटापा, स्लीप एपनिया और शुगर आदि भी इसके कारण हो सकते हैं. कुछ अन्य लक्षण किसी काम में मन न लगना, नकरात्मक सोच का बढ़ना, हर समय नींद आना, कमजोरी महसूस होना, सिर दर्द, चिड़चिड़ापन, भूख और ऊर्जा की कमी शामिल हैं. आइए सुस्ती दूर करने के कुछ उपायों को जानें.

1. खाएं तरबूज-

यदि आपको डिहाइड्रेशन, थकान और सुस्ती महसूस हो रही हो तो तरबूज के सेवन से एनर्जी बढाने में मदद हो सकती है. तरबूज में पानी प्रचुर मात्रा में होता है और इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स मौजूद होते हैं जो डिहाइड्रेशन को दूर करके बॉडी को एक्टिव करते हैं और थकान के लक्षणों को दूर करते हैं. इसके अलावा तरबूज में पोटेशियम, विटामिन सी, लाइकोपने, बीटा कैरोटिन और आयरन इत्यादि जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्त्व होते है जो कमजोरी और थकान दूर करने में म मदद करता है.

2. भोजन में पालक को शामिल करें-
पालकआयरन से भरपूर भोजन है जो बॉडी की ब्लड सेल्स को ऑक्सीजन देने में मदद करता है. इससे बदले में एनर्जी मिलती है जो थकान को कम करती है. पालक शारीरिक कमजोरी को दूर करने में भी फायदेमंद साबित होता हैं. इसके अलावा, पालक मैग्नीशियम, पोटेशियम और विटामिन सी और बी से भरपूर है जो आपके मेटाबोलिज्म को बढ़ावा देने और एनर्जी की कमी को पूरा करने में बहुत मदद करते हैं.

3. खाएं केले-
केले में पोटेशियम मौजूद होता है, क्योंकि शुगर को एनर्जी में बदलने के लिए शरीर को पोटेशियम की जरूरत पड़ती है. इसके अलावा केला कई जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होता है जैसे विटामिन बी, विटामिन सी, ओमेगा-3 फैटी एसिड, ओमेगा-6 फैटी एसिड, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट्स, जो कि थकान, डिहाइड्रेशन और कमजोरी को दूर करते हैं. इसके अलावा केले में मौजूद नैचुरल शुगर जैसे सुक्रोज, फ्रक्टोज और ग्लूकोज शीघ्र ऊर्जा देने का काम करते हैं.

4. दही खाना चाहिए-
दही में मौजूद प्रोटीन,कार्बोहाइड्रेट और हेल्दी प्रो-बायोटिक्स थकान और कमजोरी से लड़ने में बहुत फायदेमंद हैं. शरीर किसी भी सॉलिड आहार की तुलना में दही को जल्दी प्रोसेस कर लेता है, जिसके कारण ये एनर्जी का त्वरित स्रोत माना जा सकता है. दही का सेवन करने तुरंत ऊर्जा मिलता है. दही में मौजूद प्रो-बायोटिक्स हेल्थ सुधारने और पाचन ठीक करने में भी मदद करते हैं.

5. लाल शिमला मिर्च फायदेमंद है-
लाल शिमला मिर्च विटामिन सी के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है. यह एंटीऑक्सीडेंट न केवल आपकी इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देता है, बल्कि यह स्ट्रेस हार्मोन कोर्टिसोल को भी कम करने में मदद करता है जो कि थकान में योगदान देता है. लाल शिमला मिर्च भी विटामिन ए, बी -6 और सी, फोलिक एसिड और फाइबर से भरपूर है. इसलिए मानसिक थकान को मिटाने के लिए लाल शिमला मिर्च का सेवन ज़रूर करें.

6. ओटमील-
ओटमील में उच्च गुणवत्ता के कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो शरीर में ग्लायकोजेन के रूप में स्टोर होते हैं और आपके दिमाग और मांसपेशियों को पूरे दिन के लिए ताकत और ऊर्जा प्रदान करते हैं. इसके अलावा ओटमील में जरूरी पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, मैग्नेशियम, फॉस्फोरस और विटामिन बी-1 भी होते हैं जो आपका एनर्जी लेवल बढ़ाने में मदद करते हैं. इसमें ताजा फल और नट्स मिलाकर और भी स्वस्थ बनाया जा सकता है.

7. पिएं ग्रीन टी-
ग्रीन टी में पॉलीफिनॉल्स होते हैं जो तनाव को कम करते हैं, एनर्जी बूस्ट करते हैं और मेंटल फोकस बढ़ाते हैं. इसके अलावा, ग्रीन टी में मौजूद घटक मेटाबॉलिज्म बढ़ाते हैं और थकान के कारण होने वाले कई नुकसानों से बचाते हैं. एक कप ग्रीन टी बनाने के लिए, 5 मिनट के लिए एक कप गर्म पानी में हरी चाय की पत्तियों को डालें. इसको छान लें और शहद मिलाकर 2 या 3 बार दैनिक रूप से पिएं. ग्रीन टी में शुगर के बजाय हनी का इस्तेमाल करने से और भी फायदा होगा.

8. खाना चाहिए बीन्स-
बीन्स में फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का एक अच्छा अनुपात होने के साथ साथ यह पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, तांबा और लौह सहित खनिजों से भरपूर होता है. यह लंबे समय के लिए स्थायी ऊर्जा देता है और आपकी थकान को रोकता है. आप दिन भर में अलग-अलग भोजन के लिए बीन्स के विभिन्न प्रकार को शामिल कर सकते हैं. आप नाश्ते में उबले हुए सोयाबीन और लंच या डिनर के लिए ब्लैक बीन सलाद या सूप ले सकते हैं.

9. कद्दू के बीज खाएं-
कद्दू के बीज हाई क्वालिटी प्रोटीन से भरपूर होते हैं. इनमें हेल्दी ओमेगा -3 फैटी एसिड और विटामिन बी 1, बी 2, बी 5 और बी -6, साथ ही मैंगनीज, मैग्नीशियम, फास्फोरस, लोहा और तांबा जैसे खनिजों से भरपूर होते हैं. ये सभी पोषक तत्व साथ में मिलकर ऊर्जा लेवल बढ़ाते हैं और कमजोरी और थकान को दूर करने का काम करते हैं. इनके अलावा कद्दू के बीजों में पाया जाने वाला ट्रायप्टोफैन मानसिक थकान से लड़ने में भी कारगर है और अच्छी नींद में मदद करता है. भुने हुए बीजों को नाश्ते के साथ लिया जा सकता है इसके अलावा इन बीजों का बटर भी मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मददगार है.

10. खाएं अखरोट-
अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड अधिक मात्रा में होता है जो बहुत जल्दी थकान को दूर करता है. इससे तनाव को भी कुछ हद तक दूर किया जा सकता है. अखरोट में प्रोटीन और फाइबर होता है जो कि ऊर्जा वापस लौटाने में मददगार हैं. इसमें मैंग्नीज, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन, कॉपर और विटामिन्स भी होते हैं. रोजाना अपनी डाइट में एक चौथाई कप अखरोट शामिल करने से कमजोरी में फायदा होता है.अखरोट को भूनकर नाश्ते में लिया जा सकता है या फिर इसके टुकड़ों को मिल्कशेक, नाश्ते, स्मूदी या सलाद में डालकर खाया जा सकता है.

Hunger - How To Manage It All Day?

Hunger - How To Manage It All Day?

Many people feel hungry throughout the day. They are lethargic until they lay their hands on food. These bouts of hunger go on like a vicious circle and if not resisted it can lead to health issues. Some ways are given below to prevent unnecessary hunger:

1. A high- fiber diet- Your diet should be rich in fiber. Body takes a longer span of time to digest fibre-rich food. It also makes you feel full for hours together. Having fiber will keep your bowel movements in control and is, therefore, healthy. Remember to add extra fiber to your bowl of cereals or salad to keep pangs of hunger at bay.

2. Divide one heavy meal into two smaller meals- Eating heavy meals too frequently is really bad for your health. This can make you feel hungry time and again. To control the constant rumbling inside your tummy, you should divide one big meal into two or more smaller meals. For instance, if you were supposed to eat sandwiches, boiled eggs and soup for lunch, you should probably eat sandwiches at noon and eat the soup and eggs any time later in the day.

3. Never be a fast eater- Jumping on your food is the worst way of tackling things. Research and studies show how a human brain takes more than twenty minutes to tell your body it is full and satisfied. If you don't wish to overeat throughout the day, you must consume your food slowly. In this way, the brain takes more time in realizing it is full and thus, takes further time in feeling subsequent hunger.

4. Eat sufficiently during mealtime- Many tend to eat inadequately during mealtime and as soon as they are done with their food they feel hungry. It is important to fill yourself sufficiently when you are already eating. A person snacking on carrots and corns can keep away from binge eating.

5. Drink more glasses of water- Every person should drink around three to four litres of water. Drinking water half an hour after a meal can keep your gustatory concerns in check for long. Water keeps you hydrated, helps in digestion and controls unnecessary hunger.

6. Eat a good amount of protein- Protein makes you full in very little time and thus doesn't need to be consumed in great quantities. It will make you feel full for long as your blood sugar levels are in balance through protein consumption. Protein takes time to get digested.

Thus, following a proper diet plan can help avoid unnecessary food cravings.

7042 people found this helpful

Know Symptoms Of An Upcoming Sickness!

Know Symptoms Of An Upcoming Sickness!

It is worth noting that there are certain signs which show that you may get an illness. If these signs and symptoms are taken seriously then most probably you will be able to get rid of the illness a lot sooner.

Here are 5 indicators you may acquire an illness sooner than you think - 

1. Reduction in appetite

A reduction in appetite is never good. This is because a reduction in appetite is an indicator of many oncoming illnesses. These range from a simple cold all the way to a strep throat. Sometimes, a strep throat may also be the result of gastroenteritis. Gastroenteritis is when a virus enters your stomach and causes diarrhea as well as vomiting. It is worth noting that a reduction in appetite during summer can be normal. However, feeling nauseous or detesting food can mean that you are going to have one of the illnesses listed above. 

2. Swollen neck glands

The neck glands are just below the jawbones. When these glands swell, it is a sign that you may be falling ill. Common illnesses which may occur when you have swollen neck glands include ear infections, the common cold as well as skin infections. The reason why neck glands usually swell is that when there is an infection, the dead cells and bacteria accumulate in the neck glands.

3. Fatigue

Fatigue is not when you are tired after the day. It is characterized by being tired all the time or after very little work you do. When you face fatigue, it is a sign you may be falling ill.

4. Muscle aches

Muscle aches are a common symptom of flu. This is because when you have flu, antibodies are released. When these antibodies produce histamines and cytokines, they may travel to muscles and trigger the pain receptors.

5. Fever

A fever is the body's way of fighting infections. When you have a fever, it usually means the body is increasing its temperature to kill invading bacteria. Therefore, this is another way of knowing that you have infections.
 

5369 people found this helpful

Renal Stone - How Can Homeopathy Treat It Well?

Renal Stone - How Can Homeopathy Treat It Well?

Solving renal stone problems with the use of the Homeopathic treatment. Renal stones or renal calculi regularly allude to stones in the urinary framework. These are quite stores or minerals that structure anyplace in the urinary framework ie the kidney or the bladder or the urethra. Renal stones can be entirely agonizing. The agony is typically felt in the lower stomach area or lower back which is the kidney region.

In situations where there is some impediment of the urinary tract, there might be largeness in the kidney region. Blazing or trouble might be felt while urinating. In allopathy, there is no known treatment for renal stones or renal calculi aside from surgery. From one viewpoint, getting a surgery includes a ton of passionate and physical enduring.

  1. Berberis Vulgaris mother tincture: It is one of the best Homeopathic solutions for renal stones on the left side. In the event that the renal stone or renal math is in left half of the body, Berberis Vulgaris, the homeopathic medicine is more than liable to evacuate the stone. There is sore wounded agony in the kidney region. There may likewise be deadness or firmness in the kidney region, all the more so in the morning. A trademark sensation is the gurgling vibe that is disturbed by venturing or some other development. The agony stretches out from the backside to the bladder of the urinary area. Berberis vulgaris mother tincture and in addition in the potentised structure can be utilized for the treatment of renal stones.
  2. Cantharis: One of the best Homeopathic medicines for renal stones or renal calculi with smoldering in urine. In some cases, where there happens to be serious blazing on the urethra at the time of urination, Cantharis happens to be an incredible homeopathic medicine. Now and then the torment is depicted as cutting agony. There is exceptional encouraging urinating. Another trademark manifestation of this cure is the successive desire to urinate.
  3. Sarsaparilla: One of the best Homeopathic solutions for renal stones with white sand in urine. While Lycopodium works extremely well in patients that have red sand in urine, Sarsaparilla is substantially more suited to patients that have white dregs in urine. There is exceptional torment toward the end of pee. There is likewise blazing and cutting in the urethra after pee. Urine goes in a stream that is slight and weak.
  4. Benzoic Acid: One of the best Homeopathic medicines for renal stones with extreme smell in urine

In patients where the urine has exceptional terrible scent, homeopathic cure Benzoic corrosive is an extremely valuable solution for renal stones or renal calculi. The urine is dull cocoa in shading and is regularly alterable in shading.

The way of this Homeopathic medicine is such that it is entirely suited for uric corrosive stones or calculi. It can possibly evacuate the stones as well as control the uric corrosive levels in the human body.

4715 people found this helpful
Icon

Book appointment with top doctors for Body Weakness treatment

View fees, clinic timings and reviews