Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Clinic
Book Appointment

Shree Devi Hospital

Multi-speciality Hospital (Physiotherapist, Dermatologist & more)

Akash Arcade, Near Bhanusagar Theatre, Dr Deepak Shetty Road, Kalyan. Landmark : Bhanusagar Theatre Thane
8 Doctors · ₹0 - 700
Book Appointment
Call Clinic
Shree Devi Hospital Multi-speciality Hospital (Physiotherapist, Dermatologist & more) Akash Arcade, Near Bhanusagar Theatre, Dr Deepak Shetty Road, Kalyan. Landmark : Bhanusagar Theatre Thane
8 Doctors · ₹0 - 700
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Services
Feed

About

It is important to us that you feel comfortable while visiting our office. To achieve this goal, we have staffed our office with caring people who will answer your questions and help you ......more
It is important to us that you feel comfortable while visiting our office. To achieve this goal, we have staffed our office with caring people who will answer your questions and help you understand your treatments.
More about Shree Devi Hospital
Shree Devi Hospital is known for housing experienced Orthopedists. Dr. Vaibhav Gorde, a well-reputed Orthopedist, practices in Thane. Visit this medical health centre for Orthopedists recommended by 78 patients.

Timings

MON-SAT
12:00 AM - 11:30 PM
SUN
10:00 AM - 12:00 PM

Location

Akash Arcade, Near Bhanusagar Theatre, Dr Deepak Shetty Road, Kalyan. Landmark : Bhanusagar Theatre
Thane, Maharashtra - 421301
Get Directions

Doctors in Shree Devi Hospital

Dr. Vaibhav Gorde

MBBS, MS - Orthopaedics
Orthopedist
9 Years experience
300 at clinic
Available today
05:00 PM - 06:00 PM

Dr. Naren Nayak

MBBS, MS - General Surgery, MCh - Neuro Surgery
Neurosurgeon
17 Years experience
500 at clinic
Available today
12:00 AM - 11:30 PM

Dr. Gourav Trivedi

MBBS, Diploma in Psychological Medicine
Psychiatrist
14 Years experience
500 at clinic
Unavailable today
700 at clinic
Available today
09:00 AM - 09:00 PM

Dr. Tabashu

MBBS
Physiotherapist
200 at clinic
Unavailable today

Dr. Mohammad Esmail

MBBS
Dermatologist
300 at clinic
Unavailable today

Dr. Rilanili Rokande

MBBS
Dermatologist
Unavailable today

Dr. Harsha Bone

MBBS
Nephrologist
Unavailable today
View All
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Shree Devi Hospital

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Preparing For Brain Surgery

Mch Neuro Surgery, MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, International Clinical Fellowship
Neurosurgeon, Mumbai
Play video

In case a patient is recommended brain surgery , usually it becomes quite unnerving for them. Patients get admitted a day before surgery for Preanesthetic evaluation.The operation takes place under very sterile conditions.Treatment success rate is more than 95%.

Skin Disorders: Blemishes And Hyperpigmentation

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS), MBA
Ayurveda, Faridabad
Play video

Facial blemishes can be painful on becoming inflamed. In case these are left untreated, they can get worse and cause discoloration of the skin. Hyperpigmentation can be caused by inflammation , sun damage or other skin injuries. There are a variety depigmenting treatments used for hyperpigmentation conditions, and responses to most are variable.

1 person found this helpful

My legs are swelling and I can't walk with comfort. There's always a pain from the knees to the lower ankle. There's also a problem in urination. Urine is not clear. When the pain starts, after an hour or two the pain becomes unbearable and I can't walk or work any more. The bone in the left ankle have also extended causing pain while walking.

BPTh/BPT, MPTh/MPT, CDNT, CKTT, Osteopathy, Cupping
Physiotherapist, Gurgaon
My legs are swelling and I can't walk with comfort. There's always a pain from the knees to the lower ankle. There's ...
You visit to the nephrologist first for urine problem. Use icing on swollen area also keep your legs elevated while sleep and do ankle toe movement. If still your swelling remain same then visit to the Physiotherapist also for legs pain.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Nocturnal Leg Cramps

M.B.B.S
General Physician, Mumbai
Nocturnal Leg Cramps

Is there anything I can do on my own to feel better? — yes. Things you can try include:

●riding a stationary bike for a few minutes before bed – if you normally get little exercise, this might help.

●doing stretching exercises

●wearing shoes with firm support, especially at the back of your foot around your heel

●keeping bed covers loose at the foot of your bed and not tucked in

●drinking plenty of water, especially if you take diuretics. (do this only if your doctor or nurse has not told you to limit the amount of water you drink.)

●limiting the amount of alcohol and caffeine you drink

●staying cool when you exercise, and not exercising in very hot weather or hot rooms

If you get a cramp, slowly stretch the cramped muscle. To prevent more cramps, you can try:

●walking around or jiggling your leg or foot

●lying down with your legs and feet up

●taking a hot shower with water spraying on the cramp for 5 minutes, or taking a warm bath

●rubbing the cramp with ice wrapped in a towel

Should I see a doctor or nurse? — see a doctor or nurse if:

●you wake up several times a night with leg cramps

●your cramps keep you from getting enough sleep

●your cramps are very painful

●you have cramps in other parts of your body, such as your upper back or belly

Are there tests I should have? — probably not. Your doctor or nurse will talk with you about your symptoms and do an exam to find out what could be causing your nighttime leg cramps. Depending on your symptoms and exam, you might also need some blood tests.

How are nighttime leg cramps treated? — treatment is different for everyone. Most people have to try a few different things before they find a treatment that helps them.

Treatment options include:

●making lifestyle changes – for example, exercising differently, doing stretching exercises, wearing shoes with good support, or drinking enough fluids

●taking supplements – supplements are pills, capsules, liquids, or tablets with minerals or vitamins your body needs. Tell your doctor or nurse about any minerals, vitamins, or herbal medicines you already take.

●stopping any medicines you take that could cause cramps. But do not stop taking any medicine unless your doctor or nurse says it is ok.

●medicines - taking prescription medicines that improve sleep, relax muscles, calm overactive nerves, or help in other ways. Doctors and nurses prescribe medicines for nocturnal leg cramps only when other types of treatment do not work.

What if my child gets nocturnal leg cramps? — nocturnal leg cramps are common in children. Talk to your child's doctor or nurse if your child:

●has leg cramps often

●cannot sleep well because of leg cramps

Nocturnal leg cramps can run in families. Tell your doctor or nurse if someone else in your family also has nocturnal leg cramps.

What are nocturnal (nighttime) leg cramps? — nighttime leg cramps cause pain and sudden muscle tightness in the legs, feet, or both. The cramps can wake you up from sleep. They can last for many minutes or just a few seconds.

Nighttime leg cramps are common in both adults and children. But as people get older, they are more likely to get them. About half of people older than 50 get nighttime leg cramps.

What causes nighttime leg cramps? — most nighttime leg cramps do not have a cause that doctors can find. When doctors do find causes, the causes can include:

●having a leg or foot structure that is different from normal – for example, having flat feet or a knee that bends in the wrong direction

●sitting in an awkward position or sitting too long in one position

●standing or walking a lot on concrete floors

●changes in your body's fluid balance

this can happen if you:

•take medicines called diuretics (also called" water pills")

•are on dialysis (a kind of treatment for kidney disease)

•sweat too much

●exercising

●having certain conditions – for example, parkinson disease, diabetes, or low thyroid

●being pregnant – some pregnant women do not have enough of the mineral magnesium in their blood. This can cause leg cramps.

●taking certain medicines

Safed Daag Treatment In Hindi - सफेद दाग में परहेज

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Safed Daag Treatment In Hindi - सफेद दाग में परहेज

सफ़ेद दाग त्वचा की समस्या है जिसमें आपके त्वचा पर किसी भी जगह सफेद धब्बे उभरने लगते हैं. इसे ल्यूकोर्डमा या विटिलाइगो के नाम से भी जाना जाता है. इसमें शरीर के विभिन्न भागों की त्वचा पर सफेद दाग बनने लग जाते हैं. यह इसलिए होता है क्योंकि त्वचा में वर्णक (रंग) बनाने वाली कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं, इन कोशिकाओं को मेलेनोसाइट्स कहा जाता है. सफेद दाग रोग श्लेष्मा झिल्ली (मुंह और नाक के अंदर के ऊतक) और आंखों को भी प्रभावित करते हैं. सफेद दाग के संकेत और लक्षण में त्वचा का रंग खराब हो जाना, या सफेद हो जाना, शरीर के किसी भी भाग की त्वचा पर दाग पड़ जाना. ये सफेद दाग शरीर में सिर्फ एक भाग पर भी हो सकते हैं या कई भागों में अलग-अलग फैल सकते हैं. इसके ठोस कारण के बारे में अभी तक पता नहीं चल पाया, हालांकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि यह स्व: प्रतिरक्षा प्रणाली की एक स्थिति होती है. उनके अनुसार सफेद दाग तब होते हैं, जब शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से त्वचा की कुछ कोशिकाओं को नष्ट कर देती है.
क्या है सफेद दाग का उपचार
सफेद दाग रोग में अनुवांशिकी घटक होते हैं, जो एक परीवार में एक व्यक्ति से दूसरों में भी फैल सकते हैं. सफेद दाग कई बार अन्य चिकित्सा स्थितियों से भी जुड़े होते हैं, जिसमें थायरॉयड रोग भी शामिल हैं. इस बात को निर्धारित नहीं किया जा सकता कि ये सफेद दाग एक ही जगह पर रहेंगे या अन्य भागों में भी फैल जाएंगे. सफेद दाग कोई दर्दनाक बीमारी या रोग नहीं है, और ना ही इसमें स्वास्थ्य से जुड़े कोई अन्य दुष्प्रभाव हैं. हालांकि, इसमें भावनात्मक और मनोवैज्ञानिकी परिणाम हो सकते हैं. कई चिकित्सा उपचार इसकी कठोरता को कम तो कर सकते हैं मगर इसका इलाज करना काफी कठिन है. सफेद दागों पर रोकथाम पाने के लिए कोई तरीका नहीं मिल पाया है. ऐसा कोई घरेलू नुस्खा भी नहीं है जिससे इसका उपचार या रोकथाम की जा सके, लेकिन प्रभावित त्वचा पर सन स्क्रीन का प्रयोग या डाई आदि का प्रयोग करके दिखावट में सुधार किया जा सकता है. 
भारत में सफेद दाग रोग की स्थिति
डर्मेटोलॉजिकल के प्रसार के मामले 9.25 प्रतिशत और विटिलाइगो के प्रसार के मामले 9.98 प्रतिशत थे. इनमें से स्थिर प्रकार के विटिलाइगो के मामले 65.21 प्रतिशत आंके गए और जिन लोगों के निचले होठ के नीचे दाग (म्यूकोसल विटिलाइगो) थे उनकी संख्या 75 प्रतिशत थी. शरीर के निचले भागों में सफेद दाग का होना विटिलाइगो की शुरूआत का सबसे सामान्य संकेत होता है. विटिलाइगो से ग्रसित लोगों में ज्याादतर लोग 40 साल की उम्र से पहले इस बीमारी से ग्रसित हो चुके जाते, और इनकी आधी संख्या के करीब लोग 20 साल की उम्र से पहले विटिलाइगो का शिकार बन जाते हैं.
सफेद दाग में परहेज़
सफ़ेद दाग की समस्या उत्पन होने पर या जब आपको पता चल जाता है कि आपको ये समस्या है तब आप कुछ सावधानियां बरतकर इसके प्रभाव को काफी हद तक कम कर सकते हैं. इसमें आपको कुछ फलों का परहेज करना लाभकारी साबित होता है. इन फलों में संतरा, करौंदा, सीताफल, अमरूद, सूखा आलूबुखारा, काजू, तरबूज, खरबूज आदि. इन फलों से परहेज करके आप सफेद दाग को फैलने से रोकने में कुछ हद तक कामयाब हो सकते हैं.
इन सब्जियों का हबी करें परहेज
सफेद दाग में फलों के साथ-साथ कुछ सब्जियां का भी आपको इस्तेमाल कम या नहीं करना चाहिए. इन सब्जियों में बैंगन, लाल सोराल, अजमोद, पपीता, नींबू, टमाटर आदि. ऐसा करने से आप इसके प्रभाव को फैलने से रोक सकेंगे.
इसके अलावा आप इमली, लहसुन और दूध उप्तपाद जैसे: दूध दही या छेना छाछ गैर-शाकाहारी खाद्य पदार्थ जैसे: मछली लाल मीट बीफ (गांय का मांस) अन्य खाद्य पदार्थ जैसे: जंक फूड चॉकलेट कॉफी सोढ़ा बाइ कार्ब कार्बोनेटिड पेय पदार्थ चिकनी, तीखी और मसालेदार चीजें जैसे, अचार आदि से भी परहेज करें ताकि सफेद दाग की समस्या से प्रभावी ढंग से निपट सकें.

Ghutno Ke Dard Ka Ilaj - घुटने का दर्द उपाय

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Ghutno Ke Dard Ka Ilaj - घुटने का दर्द उपाय

घुटनों में दर्द कमजोर हड्डी के कारण या उम्र बढ़ने की वजह से भी महसूस हो सकता है. अन्य सामान्य कारण जैसे फ्रैक्चर, लिगामेंट में चोट, मेनिसकस में चोट, गठिया की वजह से घुंटने की हड्डियों का अकड़ जाना और एक जगह से दूसरी जगह खिसक जाना, ल्यूपस और अन्य पुरानी बीमारियों के कारण घुटनों में दर्द हो सकता है. आइए घुटनों में होने वाले दर्द को दूर करने के उपाय जानें.
नींबू है उपयोगी
नींबू में मौजूद सिट्रिक एसिड यूरिक एसिड क्रिस्टल के लिए एक द्रावक की तरह काम करता है जो कि कुछ प्रकार के गठिया का कारण होता है. इसका इस्तेमाल करने के लिए एक या दो नींबू को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें. कॉटन के कपडे में इन टुकड़ों को बाँधकर तिल के तेल में डुबायें और इस कपडे को प्रभावित क्षेत्रों पर दस मिनट तक लगाकर रखें.
ठंडे बैग का इस्तेमाल
घुटने में दर्द होते समय ठंडे बैग का इस्तेमाल करें इससे आपकी सूजन और दर्द दूर होंगे. इससे रक्त वाहिकाएं सिकुड़ जाएंगी, प्रभावित क्षेत्रों पर रक्त का प्रवाह कम होगा और इससे सूजन को भी दूर करने में मदद मिलेगी. मुट्ठीभर बर्फ लें और उसे किसी तौलिये या कपडे में लपेटकर रख दें. 10 से 20 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्रों पर तौलिए या कपडे को लगाएं.
सरसों का तेल
आयुर्वेद के अनुसार, गर्म सरसों के तेल से मसाज करने से सूजन दूर होगी, रक्त रिसंचरण में सुधार होगा दर्द दूर होगा. दो चम्मच सरसों के तेल को गर्म कर लें. अब उसमें लहसुन की फांकों को डालें और तब तक गर्म करने जब तक लहसुन भूरा न हो जाये. अब तेल को छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें. अब इस गुनगुने गर्म तेल से अपने घुटनों पर मसाज करें.
नीलगिरि का तेल
नीलगिरी के तेल में एनाल्जेसिक या दर्द निवारण गुण होते हैं जोघुटनों के दर्द से रहता दिलाने में मदद करते हैं. इस तेल का ठंडा एहसास गठिया के दर्द में आराम पहुंचाएगा. पांच से सात बूंद नीलगिरी तेल और पुदीने की तेल की बूँदें एक साथ मिला लें. फिर उसमें दो चम्मच जैतून का तेल मिलाएं. इस मिश्रण को सूरज से दूर रखे और किसी अँधेरे वाली जगह पर ढक कर रख दें.
सेब का सिरका
सेब साइडर सिरका जोड़ों में चिकनाई लाता है जिससे दर्द दूर होता है और गतिशीलता को बढ़ावा मिलता है. दो चम्मच सेब के सिरके को दो कप पानी में मिलाएं. इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद पी लें. जब तक दर्द चला नहीं जाता इस मिश्रण को रोज़ाना पियें. इसके अलावा दो कप सेब के सिरके को बाल्टी भर गर्म पानी के मिलाएं. अब इसमें अपने प्रभावित क्षेत्रों को आधे घंटे के लिए डालें रखें. अब इस मिश्रण को घुटनों पर मसाज की तरह इस्तेमाल करें.
हल्दी है लाभदायक
हल्दी में करक्यूमिन मौजूद होता है जिसमें सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं. ये गुण दर्द को कम करने में मदद करते हैं. हल्दी हीउमाटोइड आर्थराइटिस को कम करता है जो कि घुटने के दर्द का मुख्य कारण है. हल्दी का इस्तेमाल करने के लिए एक कप पानी में एक या आधा चम्मच अदरक और हल्दी को मिलाकर इसे दस मिनट के लिए इसे ही उबालें. अब इस मिश्रण को छानकर इसमें हल्दी को मिलाकर इसे पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें. एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं. अब इसे शहद के साथ मिक्स करें और पूरे दिन में एक बार ज़रूर पियें.
मेथी का बीज
मेथी के बीज में सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो घुटने के दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं. इसके अलावा मेथी के बीज प्राकृतिक रूप से गर्म होने के कारण गठिया के मरीजों के लिए बेहद लाभदायक होते हैं. इसके लिए रातभर एक चम्मच मेथी के बीज को भिगोकर रख दें. सुबह पानी को निकाल लें और उन बीजों को चबाएं. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में एक या दो हफ्ते तक करें.
लाल मिर्च का करें उपयोग
लाल मिर्च में कैप्साइसिन मौजूद होता है जो दर्द निवारक की तरह काम करता है. कैप्साइसिन के प्राकृतिक एनाल्जेसिक या दर्द से राहत देने के गुण गर्माहट पैदा करते हैं और घुटनों के दर्द को दूर करते हैं. आधे कप गर्म जैतून के तेल में दो चम्मच लाल मिर्च मिलाकर इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्रों पर एक हफ्ते तक रोज़ाना पूरे दिन में दो बार ज़रूर लगाएं. इसके अलावा आप एक चौथाई या एक चम्मच लाल मिर्च को एक कप सेब के सिरके में मिलाएं. अब एक कपडा लें और उसे इस मिश्रण में भिगोएं और प्रभावित क्षेत्रों पर बीस मिनट तक लगाकर रखें.
अदरक
अदरक में सूजनरोधी गुण मौजूद होते हैं. अदरक घुटनों की सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है. इसके लिए ताज़ा अदरक को सबसे पहले काट लें और उसे फिर क्रश कर लें. अब इन्हें एक कप पानी में क्रश कर लें और दस मिनट के लिए उबलने को रख दें. अब इस मिश्रण को छान लें और इसमें बराबर मात्रा में शहद और नींबू का जूस मिलाएं.
सेंधा नमक
सेंधा नमक में मैग्नीशियम सल्फेट प्राकृतिक तरीकों से मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है जिससे ऊतकों से अधिक तरल पदार्थों को निकालने में मदद मिलती है. गर्म पानी के टब या बाल्टी में एक या आधा कप सेंधा नमक मिलाएं. अब अपने घुटनों को गुनगुने पानी में 15 मिनट के लिए डालें रखें. ह्रदय से सम्बंधित समस्यायों वाले और हाई बीपी और शुगर वाले व्यक्ति इसके इस्तेमाल में सावधाने बरतें.

Is their any side effects of kegel exercise. And why the stones are formed in kidney. Is their any relationship between those.

MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, MS - General Surgery, Genito Urinary Surgery
Urologist, Ludhiana
Is their any side effects of kegel exercise. And why the stones are formed in kidney. Is their any relationship betwe...
There are no side effects of kegels exercise. There are multiple reasons for stone formation but most importantly decreased fluid intake has the major role.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I HV black wart on my right hand back side, I HV already used banana peel aloevera on it but it till now dark.

MS - General Surgery, FMAS.Laparoscopy
General Surgeon, Gandhinagar
I HV black wart on my right hand back side, I HV already used banana peel aloevera on it but it till now dark.
Hello dear Lybrate user, Warm welcome to Lybrate.com I have evaluated your query thoroughly. Kindly consult in private with a photo picture of the wart for best possible guidelines and management Hope this clears your query. Wishing you fine recovery. Welcome for any further assistance at my private URL https://www.Lybrate.com/gandhinagar/doctor/dr-bhagyesh-patel-general-surgeon Regards take care.
Submit FeedbackFeedback

I am eighteen years old and I have been suffering from chronic fissures since two years. I consulted the doctor near our locality and he advised me to use laxyalo tablet. I have been consuming this tablet for one year and was improved a little. Can I use this tablet for few more months or else suggest me some other remedies please.

MS - General Surgery, Fellowship in Minimal Access Surgery(FMAS) & Reproductive Medicine, Diploma in Advanced Laparoscopic surgery, Training in Laparoscopy
General Surgeon, Srinagar
Hello. Chronic anal fissures of such a long duration require surgery. Still symptomatic improvement can be achieved by treatment. Do following for one month. Avoid red meat n spices. Syp duphalac 3tsf with water. Sitz baths with saline water thrice a day apply cremagel 2% cream locally tid. Get back to me after 2 weeks.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Is it compulsory to go for arthroscopic surgery for completely tear of ACL and for shorted of prosteriorhorn and medialmeniscus tear? Can it be cure by physiotherapy.

MS - General Surgery, FMAS.Laparoscopy
General Surgeon, Gandhinagar
Is it compulsory to go for arthroscopic surgery for completely tear of ACL and for shorted of prosteriorhorn and medi...
Hello dear Lybrate user, Warm welcome to Lybrate.com I have evaluated your query thoroughly. There is no other option than surgery for this condition Physiotherapy is not a solution of life time Just do not be scared of surgery, think about the future ahead of 35 years and decide for surgery for rest of life stability. Hope this clears your query. Wishing you fine recovery. Welcome for any further assistance at my private URL https://www.Lybrate.com/gandhinagar/doctor/dr-bhagyesh-patel-general-surgeon Regards take care.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Clinics

Shreedevi Hospital

Kalyan West, Thane, Thane
View Clinic

Shreedevi Hospital

Kalyan West, Thane, Thane
View Clinic

Shreedevi Hospital

Kalyan West, Thane, Thane
View Clinic

Shreedevi Hospital

Kalyan West, Thane, Thane
View Clinic