Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. Sheela Yadav

Gynaecologist, Rewari

Book Appointment
Call Doctor
Dr. Sheela Yadav Gynaecologist, Rewari
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences....more
Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences.
More about Dr. Sheela Yadav
Dr. Sheela Yadav is an experienced Gynaecologist in Sector-6, Rewari. She is currently practising at Dr Sheela Yadav's Clinic in Sector-6, Rewari. You can book an instant appointment online with Dr. Sheela Yadav on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified Gynaecologists in India. You will find Gynaecologists with more than 27 years of experience on Lybrate.com. Find the best Gynaecologists online in Rewari. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Sheela Yadav

Dr Sheela Yadav's Clinic

Yadav Nursing Home, Opposite Civil HospitalRewari Get Directions
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Sheela Yadav

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

When can I have sex during ,after or before the periods of a girl? Explain in detail please.

Certification in Robotic surgery in Gynecology, MRCOG (LONDON), Fellowship in Gyn Endoscopy, MD - Gynaecologist & Obstetrician, MBBS
Gynaecologist, Mumbai
If a woman has a regular 28 day monthly cycle, the days that she can get pregnant are between 10th day to 18th day, considering first day of periods as day one.
Submit FeedbackFeedback
Submit FeedbackFeedback

Staying Lean and Strong Through The Years

PGDD, RD, Bachelor of Home Science
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
Staying Lean and Strong Through The Years

Our workout, activity levels, amount of stress and eating habits will change as we grow older with each passing year. So, what will help you stay lean and strong?
- Eat as per your activity levels.
- Superfoods and celebrity advocated diets look cool, but stick to your basic traditional eating habits. That's what your body recognises and that's what's sustainable. 
- Workout well at least there times per week or 150 minutes per week.
- Do not stress about being a little over or under weight. Your health is not determined by the number on the weighing scale.

If any exercise or food is not working for you; find one that will.
- Listen to your body regarding rest and sleep.
It's all about what works for you. You may need guidance and a helping hand. All you need is to develop a mindfulness in your lifestyle.

69 people found this helpful

I am 25 years old. I got married before 8 months. I have taken the primolut-N tablet for 7 days in april. After stopping the period came. But I want to know when I can be pregnant? How long it will take?

MD. DGO.DSP
Gynaecologist, Mumbai
I am 25 years old. I got married before 8 months. I have taken the primolut-N tablet for 7 days in april. After stopp...
You can be preganat any time we cannot predict when you will have regular intercourse between 10 th m 20 th day of period wait for 2 years of marraige before panicking.
Submit FeedbackFeedback

I had sex on 2nd and had emergency pill on 3rd. And again I had sex on 7th and had pill within 5hrs. Do I have any risk of getting pregnant?

MD Internal Medicine, MBBS
General Physician, Delhi
Unprotected sex always carries a risk of pregnancy and sexually transmitted illness. Frequent and repeated use of post exposure pill can affect your hormonal balances and cycles.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hello! My age is 23. 5 months have passed since my delivery. I have processed the surgery This is my first surgery process. And now I often get itching on the cut and it seems to be stretching the skin. So is this normal or major? Please tell me.

MD - Homeopathy, BHMS
Homeopath, Vadodara
Hello!
My age is 23.
5 months have passed since my delivery.
I have processed the surgery
This is my first surgery pr...
Yes it is normal... it takes time to heal completely.. You may take homoeopathic medicine Staphysagria 200 one dose...
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Sir. I am a mother .I have one girl baby 7 months old baby. When I got my delivery .I have one little problem some times not daily I have tight motion problem. Some times that place paining full day. Give some tips. To avoid this problem.

MBBS DGO PGDCC
Gynaecologist, Belgaum
Sir. I am a mother .I have one girl baby 7 months old baby. When I got my delivery .I have one little problem some ti...
Paining at motion site is due to anal fissures, eating more spicy foods, constipation, piles etc. Contult surgeon for local examination. Take lots of high fiber diet, green leafy vegetables and fruits. Drink plenty of water avoid straining during motion daily eat 2 bananas at night before sleeping.
Submit FeedbackFeedback

What are the medication to be taken before planning a baby and what is the right time in the menstrual cycle to plan.

MD- Ayurveda
Ayurveda, Ujjain
What are the medication to be taken before planning a baby and what is the right time in the menstrual cycle to plan.
After starting the cycle, 7to 21 days are most suitable period to conceive. Use regularly SHIVLINGI + PUTRANJEEVI powder 1-1 gms both twice a day with milk (for wife) and Tab Bungsheel+ Tab Fortage 2-2 twice a day (for husband).
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I had a sex in 22 january and his period date is 29 january so pregnancy is happen or not pease reply.

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
I had a sex in 22 january and his period date is 29 january so pregnancy is happen or not pease  reply.
Hello, there is all possibility that she may get pregnant. she should have taken an emergency contraceptive pill post sex.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

bachelor of science, Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Meerut
कलौंजी के लाभ...

डायबिटीज से बचाता है, पिंपल की समस्या दूर, मेमोरी पावर बढ़ाता है, सिरदर्द करे दूर, अस्थमा का इलाज, जोड़ों के दर्द में आराम, आंखों की रोशनी, कैंसर से बचाव, ब्लड प्रेशर करे कंट्रोल.

कलौंजी एक बेहद उपयोगी मसाला है. इसका प्रयोग विभिन्न व्यंजनों जैसे दालों, सब्जियों, नान, ब्रेड, केक और आचार आदि में किया जाता है. कलौंजी की सब्जी भी बनाई जाती है.

कलौंजी में एंटी-आक्सीडेंट भी मौजूद होता है जो कैंसर जैसी बीमारी से बचाता है.
कलौंजी का तेल कफ को नष्ट करने वाला और रक्तवाहिनी नाड़ियों को साफ़ करने वाला होता है. इसके अलावा यह खून में मौजूद दूषित व अनावश्यक द्रव्य को भी दूर रखता है. कलौंजी का तेल सुबह ख़ाली पेट और रात को सोते समय लेने से बहुत से रोग समाप्त होते हैं. गर्भावस्था के समय स्त्री को कलौंजी के तेल का उपयोग नहीं कराना चाहिए इससे गर्भपात होने की सम्भावना रहती है.

कलौंजी का तेल बनाने के लिए 50 ग्राम कलौंजी पीसकर ढाई किलो पानी में उबालें. उबलते-उबलते जब यह केवल एक किलो पानी रह जाए तो इसे
ठंडा होने दें. कलौंजी को पानी में गर्म करने पर इसका तेल निकलकर पानी के ऊपर तैरने लगता है. इस तेल पर हाथ फेरकर तब तक कटोरी में पोछें जब तक पानी के ऊपर तैरता हुआ तेल खत्म न हो जाए. फिर इस तेल को छानकर शीशी में भर लें और इसका प्रयोग औषधि के रूप में करें.

आयुर्वेद कहता है कि इसके बीजों की ताकत सात साल तक नष्ट नहीं होती. दमा, खांसी, एलर्जीः एक कप गर्म पानी में एक चम्मच शहद तथा आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह निराहार (भोजन से पूर्व) पी लेना चाहिए, फिर रात में भोजन के बाद उसी प्रकार आधा चम्मच कलौंजी और एक चम्मच शहद गर्म पानी में मिलाकर इस मिश्रण का सेवन कर लेना चाहिए. इस प्रकार 40 दिनों तक प्रतिदिन दो बार पिया जाए. सर्दी के ठंडे पदार्थ वर्जित हैं.

मधुमेहः एक कप काली चाय में आधा चाय का चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह नाश्ते से पहले पी लेना चाहिए. फिर रात को भोजन के पश्चात सोने से पहले एक कप चाय में एक चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर पी लेना चाहिए. चिकनाई वाले पदार्थों के उपयोग से बचें. इस इलाज के साथ अंगे्रजी दवा का उपयोग होता है तो उसे जारी रखें और बीस दिनों के पश्चात शर्करा की जांच करा लें. यदि शक्कर नार्मल हो गई हो तो अंग्रेजी दवा बंद कर दें, किंतु कलौंजी का सेवन करते रहें.

हृदय रोगः एक कप दूध में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर प्रतिदिन दो बार प्रयोग करें. इस तरह दस दिनों तक उपचार चलता रहे. चिकनाई वाले पदार्थों का सेवन न करें.

नेत्र रोगों की चिकित्साः नेत्रों की लाली, मोतियाबिंद, आंखों से पानी का जाना, आंखों की तकलीफ और आंखों की नसों का कमजोर होना आदि में एक कप गाजर के जूस में आधा चम्मच कलौंजी का तेल दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार सुबह (निराहार) और रात में सोते समय लेना चाहिए. इस प्रकार 40 दिनों तक इलाज जारी रखें. नेत्रों को धूप की गर्मी से बचाएं.

अपच या पेट दर्द में आप कलौंजी का काढा बनाइये फिर उसमे काला नमक मिलाकर सुबह शाम पीजिये. दो दिन में ही आराम देखिये.
कैंसर के उपचार में कलौजी के तेल की आधी बड़ी चम्मच को एक ग्लास अंगूर के रस में मिलाकर दिन में तीन बार लें.

हृदय रोग, ब्लड प्रेशर और हृदय की धमनियों का अवरोध के लिए जब भी कोई गर्म पेय लें, उसमें एक छोटी चम्मच तेल मिला कर लें.

सफेद दाग और लेप्रोसीः 15 दिन तक रोज पहले सेब का सिरका मलें, फिर कलौंजी का तेल मलें.

एक चाय की प्याली में एक बड़ी चम्मच कलौंजी का तेल डाल कर लेने से मन शांत हो जाता है और तनाव के सारे लक्षण ठीक हो जाते हैं.

कलौंजी के तेल को हल्का गर्म करके जहां दर्द हो वहां मालिश करें और एक बड़ी चम्मच तेल दिन में तीन बार लें. 15 दिन में बहुत आराम मिलेगा.

एक बड़ी चम्मच कलौंजी के तेल को एक बड़ी चम्मच शहद के साथ रोज सुबह लें, आप तंदुरूस्त रहेंगे और कभी बीमार नहीं होंगे; स्वस्थ और निरोग रहेंगे .

याददाश्त बढाने के लिए और मानसिक चेतना के लिए एक छोटी चम्मच कलौंजी का तेल 100 ग्राम उबले हुए पुदीने के साथ सेवन करें.

पथरी हो तो कलौंजी को पीस कर पानी में मिलाइए फिर उसमे शहद मिलाकर पीजिये, १०-११ दिन प्रयोग करके टेस्ट करा लीजिये.कम न हुई हो तो फिर १०-११ दिन पीजिये.


किसी को बार-बार हिचकी आ रही हो तो कलौंजी के चुटकी भर पावडर को ज़रा से शहद में मिलकर चटा दीजिये.

अगर किसी को पागल कुत्ते ने काट लिया हो तो आधा चम्मच से थोडा कम करीब तीन ग्राम कलौंजी को पानी में पीस कर पिला दीजिये, एक दिन
में एक ही बार ३-४ दिन करे.

जुकाम परेशान कर रहा हो तो इसके बीजों को गरम कीजिए ,मलमल के कपडे में बांधिए और सूंघते रहिये.

दो दिन में ही जुकाम और सर दर्द दोनों गायब . कलौंजी की राख को पानी से निगलने से बवासीर में बहुत लाभ होता है.

कलौंजी का उपयोग चर्म रोग की दवा बनाने में भी होता है. कलौंजी को पीस कर सिरके में मिलकर पेस्ट बनाए और मस्सों पर लगा लीजिये. मस्से कट जायेंगे. मुंहासे दूर करने के लिए कलौंजी और सिरके का पेस्ट रात में मुंह पर लगा कर सो जाएँ.

जब सर्दी के मौसम में सर दर्द सताए तो कलौंजी और जीरे की चटनी पीसिये और मस्तक पर लेप कर लीजिये.

घर में कुछ ज्यादा ही कीड़े-मकोड़े निकल रहे हों तो कलौंजी के बीजों का धुँआ कर दीजिये.

गैस/पेट फूलने की समस्या --50 ग्राम जीरा, 25 ग्राम अजवायन, 15 ग्राम कलौंजी अलग-अलग भून कर पीस लें और उन्हें एक साथ मिला दें. अब 1 से 2 चम्मच मीठा सोडा, 1 चम्मच सेंधा नमक तथा 2 ग्राम हींग शुद्ध घी में पका कर पीस लें. सबका मिश्रण तैयार कर लें. गुनगुने पानी की सहायता से 1 या आधा चम्मच खाएं.

View All Feed