Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call
Dr. Chandra Shekhar Singh Hada - Dentist, Rawatbhata

Dr. Chandra Shekhar Singh Hada

BDS

Dentist, Rawatbhata

11 Years Experience  ·  100 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Chandra Shekhar Singh Hada BDS Dentist, Rawatbhata
11 Years Experience  ·  100 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services
Reviews

Personal Statement

My experience is coupled with genuine concern for my patients. All of my staff is dedicated to your comfort and prompt attention as well. Doctor is an active member of Indian Dental Asso......more
My experience is coupled with genuine concern for my patients. All of my staff is dedicated to your comfort and prompt attention as well. Doctor is an active member of Indian Dental Association
More about Dr. Chandra Shekhar Singh Hada
He has had many happy patients in his 11 years of journey as a Dentist. He has completed BDS . Book an appointment online with Dr. Chandra Shekhar Singh Hada on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Dentists in India. You will find Dentists with more than 38 years of experience on Lybrate.com. You can find Dentists online in Rawatbhata and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Education
BDS - K.M. Shah Dental College Hospital - 2006
Languages spoken
English
Hindi
Professional Memberships
Indian Dental Association

Location

Book Clinic Appointment

hada's Smile Concepts Dental Clinic

Shop No.6-7, Chetak Market, Main RoadRawatbhata Get Directions
100 at clinic
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Chandra Shekhar Singh Hada

Your feedback matters!
Write a Review

Reviews

Popular
All Reviews
View More
View All Reviews

Feed

BDS
Dentist, Rawatbhata
अकसर लोग अकल की दाड़ और अकल का सीधा सीधा संबंध समझते हैं.....कुछ पूछ भी लेते हैं कि अगर अकल की दाड़ निकलवाएंगे तो समझ पर तो फर्क नहीं पड़ेगा.?? इस दाड़ का अकल से केवल इतना संबंध जाता है कि यह आम तौर पर मुहं में तब प्रवेश करती है जब आदमी में बुद्धि का विकास हो रहा होता है.....अर्था्त् १७ से २१ वर्ष की उम्र में यह मुंह में दिख जाती है, इसलिए अकल की दाड़ कहलाती है।

BDS
Dentist, Rawatbhata
सच में दांत का कीड़ा वीड़ा कुछ होता नहीं है, यह केवल दांत की सड़न है जिसे पता नहीं कितने समय से लोगों ने कीड़े की संज्ञा दे दी और बस परंपरा के चलते वही नाम चल निकला और इस गलत नाम को और भी पुख्ता किया उन सड़क-छाप दांत का इलाज करने वालों ने जो परेशान मरीज़ को रूमाल में कुछ कीड़ा सा निकाल कर दिखा देते हैं। दरअसल बात यह है कि दांतों में खाना फंसने की वजह से उन पर जब मुंह में मौजूद लाखों-करोड़ों जीवाणु (bacteria) टूट पड़ते हैं तो एसिड (अमल) पैदा होता है जो दांतों को साड़ देता है....एक बार शूरू हो जाने पर यह एक सतत प्रक्रिया है....यह फिर धीरे धीरे दांतों में छेद पैदा कर देती है, सड़न तो होती ही है, जिस से कालापन रहता ही है, इसलिए इसे बुलाया जाने लगा दांत का कीड़ा।

BDS
Dentist, Rawatbhata
Brushing with salt will not whiten teeth. It will cut the gums and rub away the outer layer of the tooth because it is so abrasive. Your teeth may look whiter, but they will be damaged and are likely to need repair.

BDS
Dentist, Rawatbhata
There is a myth among many people that removal of the upper teeth affects vision. This is a misconception. Vision is not affected in any way by undertaking treatment of the upper teeth including its extraction.

BDS
Dentist, Rawatbhata
Research has found a link between gum disease in pregnant women and premature birth with low birth weight.Appropriate dental treatment for the expectant mother can reduce the risk of premature birth by more than 80 per cent.

BDS
Dentist, Rawatbhata
Did you know that heart disease and oral health are linked?
Studies have shown that people with moderate or advanced gum (periodontal) disease are more likely to have heart disease than those with healthy gums.

BDS
Dentist, Rawatbhata
It’s better to buy small tubes of toothpaste, rather than the economy family-size. This reduces the tendency of some toothpastes to harden because of the contents will be used quicker.

BDS
Dentist, Rawatbhata
Changing out your toothbrush every 2-3 months or when the bristles become frayed is important for it’s effectiveness. Remember, you should always rinse your toothbrush out with hot water after every use and change it after you’ve been sick.

BDS
Dentist, Rawatbhata
दिन में कम से कम आठ से दस ग्लास पानी पिएं। जितना पानी आप पिएंगें उतना ही आपके दांत साफ होंगें। इसके अलावा यह चाय, कॉफी, शराब, सोडा आदि के दागों को भी दांतों से मिटाने में कारगर साबित होगा। #30;

BDS
Dentist, Rawatbhata
दवाओं के संदर्भ में लोगों की जानकारी सीमित है, बावजूद इसके देश में 42 प्रतिशत लोग सिरदर्द, फ्लू, वायरल, खांसी और दर्द के लिए बिना डॉक्टर की सलाह के दवाएं लेते हैं,कुछ मरीज तो डॉक्टर की सलाह लिए बगैर ही एक ही पर्चे पर बार बार दवाएं खरीदते रहते हैं ताकि वे डॉक्टर की फीस से बच सकें,खुद डॉक्टर बनने की आदत हमें बीमार और बहुत बीमार करने के लिए काफी है, जिसका असर एक या दो दिन में नहीं, बल्कि तीन से चार साल के अंदर नजर आता है। एंटीबायोटिक के प्रति प्रतिरोधक क्षमता या रिज़िसटेंस पैदा हो रही है जो सेहत के लिए सबसे बड़े खतरों में से एक है।

BDS
Dentist, Rawatbhata
दवाओं का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से ही करें।पेनकिलर खाली पेट बिल्कुल न लें। कई तरह के पेनकिलर्स को खाली पेट लेने से किडनी, लिवर और पेट को नुकसान हो सकता है।पेनकिलर लेने की वजह से अगर पेट दर्द होता है, तो सबसे पहले उस पेनकिलर का इस्तेमाल बंद कर दें। एक एंटैसिड (डाइजीन, जिनटैक आदि) लें और डॉक्टर से सलाह लें।

BDS
Dentist, Rawatbhata
0%तम्बाकू वाले पानमसाला चबाना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इस में मौजूद सुपारी को मुंह के कैंसर की एक पूर्व-अवस्था सब-मयूक्स फाईब्रोसिस(submucous fibrosis) के लिए जिम्मेदार होता है, इस अवस्था में तो कईं बार मरीज का मुंह इतना कम खुलने लगता है कि वह रोटी का एक निवाला तक मुंह के अंदर नहीं रख सकता

BDS
Dentist, Rawatbhata
मसूड़ों से खून निकलने का सबसे आम कारण दांतों की सफाई ठीक तरह से ना होना है जिसकी वजह से दांत पर पत्थर( टारटर) जम जाता है। इस की वजह से मसूड़ों में सूजन आ जाती है और वें बिल्कुल लाल रंग अख्तियार कर लेते हैं। इन सूजे हुये मसूड़ों को ब्रुश करने से अथवा हाथ से छूने मात्र से ही खून आने लगता है। जितनी जल्दी इस अवस्था का उपचार करवाया जाये, मसूड़ों का पूर्ण स्वास्थ्य वापिस लौटने की उतनी ही ज़्यादा संभावना रहती है।

BDS
Dentist, Rawatbhata
टूथपाउडर और लाल मंजन के इस्तेमाल से बचें। टूथपाउडर बेशक महीन दिखता है लेकिन काफी खुरदुरा होता है। टूथपाउडर करें तो उंगली से नहीं, बल्कि ब्रश से।लाल मंजन दांतों की ऊपरी परत को घिस देता है।

BDS
Dentist, Rawatbhata
अगर दांतों पर काले-भूरे धब्बे नजर आने लगें, खाना फंसने लगे और ठंडा-गरम लगने लगे तो कैविटी हो सकती है। इस हालत में फौरन डॉक्टर के पास जाएं। शुरुआत में ही फिलिंग कराने पर कैविटी बढ़ने से रुक जाती है।
View All Feed