Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Vighanharta Sai Hospital And Laboratory

Multi-speciality Hospital (Pediatrician, Gynaecologist & more)

C/O Vighanharta SAI Hospital Laboratory, Sukh Samruddhi Nagar, Alandi Road, Dighi,Landmark:Parande Nagar. Pune
14 Doctors · ₹0
Book Appointment
Call Clinic
Vighanharta Sai Hospital And Laboratory Multi-speciality Hospital (Pediatrician, Gynaecologist & more) C/O Vighanharta SAI Hospital Laboratory, Sukh Samruddhi Nagar, Alandi Road, Dighi,Landmark:Parande Nagar. Pune
14 Doctors · ₹0
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Feed
Services

About

Our goal is to provide a compassionate professional environment to make your experience comfortable. Our staff is friendly, knowledgable and very helpful in addressing your health and fin......more
Our goal is to provide a compassionate professional environment to make your experience comfortable. Our staff is friendly, knowledgable and very helpful in addressing your health and financial concerns.
More about Vighanharta Sai Hospital And Laboratory
Vighanharta Sai Hospital And Laboratory is known for housing experienced Endocrinologists. Dr. Rao, a well-reputed Endocrinologist, practices in Pune. Visit this medical health centre for Endocrinologists recommended by 80 patients.

Timings

MON-SAT
09:00 AM - 01:30 PM
SUN
09:00 AM - 01:00 PM

Location

C/O Vighanharta SAI Hospital Laboratory, Sukh Samruddhi Nagar, Alandi Road, Dighi,Landmark:Parande Nagar.
Alandi Pune, Maharashtra - 411015
Get Directions

Doctors in Vighanharta Sai Hospital And Laboratory

Dr. Rao

MBBS
Endocrinologist
Unavailable today
Unavailable today

Dr. Patil

MBBS
Pediatrician
Unavailable today

Dr. Subhash Kakne

MBBS
General Physician
Unavailable today

Dr. Bhargavi

MBBS
General Physician
Unavailable today

Dr. Deshpande

MBBS
General Physician
Unavailable today

Dr. Ranjana

Gynaecologist
Unavailable today

Dr. Rahul

Orthopedist
Unavailable today

Dr. Awasthy

MBBS
Neurologist
Unavailable today
Unavailable today

Dr. Sanjay Salve

MBBS
Orthopedist
Unavailable today

Dr. Patil

MBBS
Pediatrician
Unavailable today

Dr. Rao

MBBS
Neurologist
Unavailable today

Dr. Priya

MBBS
Cardiologist
Unavailable today
View All
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Vighanharta Sai Hospital And Laboratory

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

How my night fall will stop for 3 year at least bcz I am student and interested in study but I don't well due to night fall I am 21 years old please suggest me.

DHMS (Hons.)
Homeopath, Patna
How my night fall will stop for 3 year at least bcz I am student and interested in study but I don't well due to nigh...
Hello,  It, usually, happens while you are having a dream about sex without touching your penis, even, forgetting that particular dream, completely, later. Go for meditation to reduce your stress to calm your nerves to check sexual dreams. Tk, plenty of water to hydrate your body to prevent constipation that  triggers wet night. Your diet be easily digestible on time to check gastric disorder to minimise wet dreams. Ensure sound sleep for 6/7 hours in the night. Tk,  homoeopathic medicines. @.AshawagandhaQ-10 drops,  thrice with little water. Avoid, junk food,  alcohol,  nicotine, watching TV in the night. Tk, care.
Submit FeedbackFeedback

I had lab tested for tsh, t3 t4 and got values as 6pIU/ml, 6.51ug/dl and 1.09 ng/ml respectively. My tsh is on higher side and t3 on lower side. I also have all symptoms of hypothyroidism like muscle fatigue, dry skin, weight gain (even though I am very active, play football daily and eat moderate food with low fat). I am planning to take thyronorm, need advice on dosage and anything else that you all feel needs attention. Thanks in advance.

DHMS (Hons.)
Homeopath, Patna
I had lab tested for tsh, t3 t4 and got values as 6pIU/ml, 6.51ug/dl and 1.09 ng/ml respectively. My tsh is on higher...
Hello, need to monitor your weight, first, please. You should restric ,intake of Cauliflower, kale, spinach, turnips, soybeans, peanuts, linseed, pine nuts, millet, cassava, and mustard greens in your dietary regulation. Go for a walk in the morning /evening for 40 mnts.  Take ,homoeopathic medicine to check your hypothyroidism, gently,  rapidly & safely.@ Thyroidinum 3x-4 pills, thrice, dly @ Calcarea carb 200-5 drops, thrice, dly. Tk,  plenty of water to hydrate your body. Go for meditation to condition your thyroid gland. Your diet be non-irritant, easily digestible on time. Tk, care.
Submit FeedbackFeedback

Anterior Cruciate Ligament (ACL) Injury

MS - Orthopaedics, MBBS
Orthopedist, Delhi
Play video

Anterior Cruciate Ligament Sprain is one of the most common knee injury and is a major problem faced by athletes. Surgery may be required to regain full function of knee in case this is diagnosed.

I am 16 year boy my sperm release twice a week I won't see porn and mastburst sometimes bad dreams comes and my sperms release please help me.

MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, Diploma In Psychiatric Medicine
Psychiatrist, Ahmedabad
I am 16 year boy my sperm release twice a week I won't see porn and mastburst sometimes bad dreams comes and my sperm...
Semen production goes on in the testis for 24 hours and gets stored in seminal vesicles. Now imagine seminal vesicles as a water tank. 24 hours production at some time, will make tank full. Its storage capacity runs out. Now overflowing mechanisms take place like night falls and seminal discharge in urine. To avoid this you need to have sex or masturbate regularly.
Submit FeedbackFeedback

Pulmonary Disorder: Obstructive Sleep Apnea

MBBS, MD -Pulmonary Medicine-Tuberculosis ,Respiratory Disease Medicine , Diploma in Tuberculosis and Chest Diseases (DTCD), European Diploma in Respiratory Medicine
Pulmonologist, Delhi
Play video

Obstructive Sleep Apnea is a disease which interrupts sleep by stopping and starting one's breathing. It actually causes snoring and choking or gasping during sleep.

My sister name is soni 25 year old. She is suffering from constipation. She goes bathroom twice a day but tool is not release two to three days and always feel dryness in mouth. So what can I do for better.

General Physician, Delhi
My sister name is soni 25 year old. She is suffering from constipation. She goes bathroom twice a day but tool is not...
Constipation can be due less fluid intake or food refuse value is less you can try by giving more fluids like water lemon water lassi juice and increasing food with lot of refuse like pappita ishabgol husk salad etc if it doesn't work place consult your doctor.
Submit FeedbackFeedback

What can be the reason for voice coming from larynx like its getting tear. This is from 6 months. What's Treatment.

DHMS (Hons.)
Homeopath, Patna
Hello, Your larynx is located just above the trachea that might be obstructung larynx, sounding hoarse. Secondly there might be some cystic growth on larynx obstructing your voice to sound smooth, need local interrogation by an expert, please. Overall, you need to monitor your weight, first. Tk, care.
Submit FeedbackFeedback

Vitamin C Benefits, Deficiency, Sources, Side Effects In Hindi - विटामिन सी के स्रोत, कमी के लक्षण, फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Vitamin C Benefits, Deficiency, Sources, Side Effects In Hindi - विटामिन सी के स्रोत, कमी के लक्षण, फायदे और नुकसान

विटामिन सी हमारे शरीर की मूलभूत रासायनिक क्रियाओं में यौगिकों का निर्माण और उनके कार्य करने में मदद करता है. हमारे शरीर में विटामिन सी कई तरह की रासायनिक क्रियाओं में मददगार होता है जैसे कि तंत्रिकाओं तक संदेश पहुंचाना या कोशिकाओं तक ऊर्जा प्रवाहित करना. इसके अलावा, हड्डियों को जोड़ने वाला कोलाजेन नामक पदार्थ, रक्त वाहिकाएं, लिगामेंट्स, कार्टिलेज आदि अंगों के भी अपने निर्माण के लिए विटामिन सी जरूरी होता है. विटामिन सी हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित करता है. यह एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है. ये शरीर की कोशिकाओं को एकजुट कर के रखता है. इसके एंटीहिस्टामीन गुण के कारण, यह सामान्य सर्दी-जुकाम में दवा के रूप में काम करता है. विटामिन सी के नियमित उपयोग से सर्दी, खांसी व अन्य तरह के इन्फेक्शन होने का खतरा नहीं होता है. इतना ही नहीं विटामिन सी अनेक प्रकार के कैंसर से भी बचाता है और हमें स्वस्थ बनाए रखता है.
विटामिन सी के स्रोत
विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं खट्टे रसदार फल जैसे आंवला, संतरा, अंगूर, टमाटर, नारंगी, नींबू आदि और केला, बेर, अमरूद, सेब, बिल्व, कटहल, शलगम, पुदीना, मूली के पत्ते, मुनक्का, दूध, चुकंदर, चौलाई, बंदगोभी, हरा धनिया और पालक ये सब हमारे शरीर में विटामिन सी की पूर्ति करते हैं. इसके अलावा दालों में भी विटामिन सी पाया जाता है. सूखी दालों में विटामिन सी नहीं पाया जाता है. लेकिन दालों को भीगने के बाद अच्छी मात्रा में दालों से विटामिन सी मिलता है.
विटामिन सी के फायदे
विटामिन सी का उपयोग हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है. विटामिन सी के रोजाना सेवन से हमारे शरीर को रोगों से लड़ने में मदद मिलता है. विटामिन सी झुर्रियों को ठीक करने में काफी लाभदायक होता है. विटामिन सी हमारे शरीर के सबसे छोटे सेल को एकजुट करके रखता है. यह शरीर के रक्त वाहिकाओं को मजबूत बनाने में मदद करता है. साथ में हड्डियों को जोड़ने वाला कोलाजेन नामक पदार्थ, रक्त वाहिकाएं, लाइगामेंट्स, कार्टिलेज आदि को भी निर्माण के लिए विटामिन सी की आवशकता होती है. विटामिन सी के नियमित उपयोग से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी नियंत्रण में रखा जा सकता है.
अधिक मात्रा में विटामिन सी लेने से नुकसान
विटामिन सी शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. विटामिन सी के उपयोग से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है. पर विटामिन सी की अत्याधिक मात्रा लेना हानिकारक हो सकता है जैसे पेट खराब, डायरिया, गुर्दे, हृदय और अन्य जगह में पथरी ये सारी समस्या हो सकती है.
विटामिन सी की कमी के लक्षण और नुकसान
विटामिन सी में रोग प्रतिरोधक क्षमता होता है जिसके कारण हमारे शरीर में अनेकों बीमारियों से बचाव होता है. पर विटामिन सी की कमी से आंखों में मोतियाबिंद, आंख, कान व नाक के रोग, हड्डियों का कमजोर होना, खून का बहना, मुंह से बदबू आना, जोड़ो में दर्द, जुकाम, श्वेत प्रदर, सांस लेने में कठिनाई, फ़ेफ़डे में कमजोरी, मसूड़ों से खून व मवाद निकलना, चर्म रोग, एलर्जी, अल्सर, पाचन क्रिया में दोष, भूख न लगना, गर्भपात आदि जैसे रोग होते हैं.
विटामिन सी कितना खाना चाहिए
अनुशंसित आहार भत्ता के अनुसार जन्म से 6 महीने के उम्र के शिशु को 40 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए. 9 से 13 साल के बच्चे को 45 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए. 14 से 18 साल के पुरुष को 75 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए. 14 से 18 साल की महिला को 65 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए. 19 से 50 साल के पुरुष को 90 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए. 19 से 50 साल की महिला को 75 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए. गर्भवती महिला को 85 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए और स्तनपान कराने वाली महिला को 120 मिलीग्राम के करीब लेना चाहिए.

1 person found this helpful

Vitamin B Benefits, Sources & Side Effects In Hindi - विटामिन बी के स्रोत, फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Vitamin B Benefits, Sources & Side Effects In Hindi - विटामिन बी के स्रोत, फायदे और नुकसान

हमें अपने शरीर को स्वस्थ और जवान बनाए रखने के लिए कुछ विटामिन तथा जरूरी पोषक तत्वों की ज़रूरत होती है. उनमें से एक पोषक तत्व विटामिन बी है. विटामिन बी अपने आप में के समहू है. जिसे हम विटामिन बी कॉम्पलेक्स के नाम से जानते है. इस समूह में विटामिन बी1, विटामिन बी2, विटामिन बी3, विटामिन बी5, विटामिन बी6 , विटामिन बी7, विटामिन बी9, विटामिन बी12 सम्लित हैं. विटामिन बी समहू जल में घुलनशील होता है. यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी विटामिनों में से एक है.
विटामिन बी के फायदे
विटामिन बी हमारे शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में बहुत ही मदद करता है. विटामिन बी का उपयोग हमारे मुंह, जीभ और नेत्रों के लिए बहुत ही जरुरी है. साथ-साथ विटामिन बी के उपयोग से स्नायु और पाचन प्रणाली भी स्वस्थ रहती है. विटामिन बी हमारे शरीर को जीवाणुओं से संघर्ष करने की शक्ति प्रदान करता है. विटामिन बी हमारे शरीर के मेटॉबालिज्म को बढ़ाने में सहायता करता है. और हमारे त्वचा, तंत्रिका, उत्तक, हड्डियों और मांसपेशियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है. विटामिन बी हमारे शरीर के पोषक तत्वो को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है.
इस विटामिन के उपयोग से हमारे शरीर की कोशिकाओं में पाए जाने वाले जीन डीएनए का निर्माण तथा मरम्मत करने में मदद करता है. साथ-साथ यह विटामिन बी हमारे शरीर के मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र को सुचारु रूप से काम करने में मदद करता है. हमारे शरीर में हमारी लाल रक्त कोशिशओं का निर्माण करने में भी विटामिन बी योगदान देता है. यह हमारे शरीर के सभी हिस्सों के लिए अलग-अलग तरह के प्रोटीन बनाने का काम करता है. विटामिन बी हमारे शरीर की त्वचा को चमकदार बनाने तथा उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करता है. विटामिन बी हमारे स्मरणशक्ति को बढ़ने में भी सहायता प्रदान करता है.
विटामिन बी के स्रोत
विटामिन बी समहू के अलग-अलग स्रोत है. विटामिन बी1 का अच्छा स्रोत गेहूँ, संतरे, हरे मटर, खमीर, अंडे, चावल, मूँगफली, हरी सब्जियाँ, अंकुर वाले बीज होते हैं. विटामिन बी2 का अच्छा स्रोत मछ्ली, चावल, मटर, दाल, खमीर, अंडे की ज़र्दी होते हैं. विटामिन बी3 का अच्छा स्रोत दूध, मेवा, अखरोट, अंडे की ज़र्दी होते हैं. विटामिन बी5 का अच्छा स्रोत दूध, दाल, पिस्ता, मक्खन, खमीर होते हैं. विटामिन बी6 का अच्छा स्रोत खमीर, चावल, मटर, गेहूँ, मछ्ली, अंडे की ज़र्दी होते हैं. विटामिन बी7 का अच्छा स्रोत गेहूं, बाजरा, मैदा, सोयाबीन, चावल, ज्वार होते हैं. विटामिन बी9 का अच्छा स्रोत दलिया, मटर, मुगफली, अंकुरित अनाज होते हैं. विटामिन बी 12 का अच्छा स्रोत अंडे, मांस, मछ्ली होते हैं.
अधिक मात्रा में विटामिन बी लेने से नुकसान
विटामिन बी 1 का अधिक मात्रा में उपयोग करना हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है. इसकी अधिक मात्रा से त्वचा में एलर्जी, नींद नहीं आना, होंठो का नीला पड़ना, सीने में दर्द और सांस सम्बन्धित बीमारी हो सकती हैं. और गर्भवती महिला तथा उस के गर्भ में पल रहे शिशु के दिमाग पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है.
विटामिन बी 3 का भी अधिक मात्रा में उपयोग करना हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है. इसके अधिक मात्रा में उपयोग से लिवर को नुकसान पहुंचने, पेप्टिक अल्सर तथा त्वचा पर रैशेज जैसी बहुत सारी समस्याएं होने लगती हैं.
विटामिन बी 6 का भी अधिक मात्रा में उपयोग करना हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है. इसके अधिक मात्रा में उपयोग से पेट में अकड़न जैसी समस्या होती है. साथ में नवजात शिशु को इसका अधिक मात्रा में उपयोग करना नवजात शिशु के लिए भी नुकसानदायक है. विटामिन बी 12 का अधिक मात्रा में उपयोग गर्भवती महिला के लिए अच्छा नहीं होता है.
विटामिन बी 12 का अधिक मात्रा में उपयोग करने से हमारे पर बुरा प्रभाव पड़ता है साथ-साथ त्वचा पर खुजली, चक़्कर आना, सिर में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं.
विटामिन बी की कमी के लक्षण और नुकसान
विटामिन बी हमारे शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक होता है. विटामिन बी पानी मे घुलनशील होता है. विटामिन बी का प्रमुख कार्य स्नायु को स्वस्थ रखना तथा भोजन के पाचन मे मदद करना है. पर जब हमारे शरीर में विटामिन बी की कमी हो जाती है तो बहुत से रोग होने की सम्भावना बढ़ जाती है.

1 person found this helpful
View All Feed

Near By Clinics