Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. Gawade

MBBS

Gynaecologist, Pune

350 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Gawade MBBS Gynaecologist, Pune
350 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning....more
I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning.
More about Dr. Gawade
Dr. Gawade is a popular Gynaecologist in Kasba peth, Pune. Doctor studied and completed MBBS . You can consult Dr. Gawade at Surya Hospital in Kasba peth, Pune. Don’t wait in a queue, book an instant appointment online with Dr. Gawade on Lybrate.com.

Lybrate.com has top trusted Gynaecologists from across India. You will find Gynaecologists with more than 42 years of experience on Lybrate.com. You can find Gynaecologists online in Pune and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Education
MBBS - - -

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Gawade

Surya Hospital

SR No 1317, Off Shivaji RD, Kasba Peth,Landmark: NR Shaniwar Wada, PunePune Get Directions
350 at clinic
...more

Surya Hospital

# 1317, Kasba Peth, Agarwale Road, Off Shivaji Road, Pune, Landmark: Near Shaniwar Wada .Pune Get Directions
350 at clinic
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Gawade

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I miss my period before 11 it should come n I test with pregnancy kit 2 time I get always negative.

BHMS
Homeopath, Howrah
I miss my period before 11 it should come n I test with pregnancy kit 2 time I get always negative.
Test should be done after 3to7 days of last menstrual date, to get accuracy. If negative wait for seven to ten days to appear naturally.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

M.Sc - Psychology, PGDEMS, Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Delhi
Laxative that can be safe during pregnancy-

Isabgol is the best natural laxative which can be used safely in pregnancy. During the pregnancy, hormone progesteron is responsible for constipation which causes relaxation of all smooth muscles of body including intestine. So the movement of food along the intestine slows down that allows the water in the food to be absorbed almost totally from the intestine, so that the end product reach the rectum is less bulky, hard and difficult to expel.

Isabgol is a bulk forming laxative so more water should be consumed with it.

Sweet Flag (Vacha) Benefits and Side Effects in Hindi - वच के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Sweet Flag (Vacha) Benefits and Side Effects in Hindi - वच के फायदे और नुकसान

वच के फायदे और नुकसान जानने से पहले इसके बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें जान लीजिए. संस्कृत में घोरबच के नाम से उल्लिखित वच का वैज्ञानिक नाम एकोरस कैलेमस है. भारत का ये स्थानीय पौधा 1800 मीटर की ऊंचाई तक पाया जाता है. उँगलियों जैसी मोटी जड़ों वाले वच के पत्ते हरे, चमकीले नुकीले और सुगंध युक्त होते हैं. इसका औषधीय उपयोग पेट, मस्तिष्क, लीवर, गर्भाशय, फेफड़े और स्वर रज्जू से सम्बंधित समस्याओं में होता है. इसके फायदे और नुकसान निम्लिखित हैं.

1. तंत्रिका तंत्र में
जाहिर है. तंत्रिका तंत्र का हमारे शरीर में बहुत ज्यादा महत्व है. इसलिए तंत्रिका तंत्र का ठीक से काम करना बेहद जरूरी है. तंत्रिका तंत्र में आई समस्याओं से निपटने में वच का महत्वपूर्ण योगदान देखा गया है. इसके लिए सुबह पानी के साथ दो चुटकी वच की जड़ का पाउडर लगभग 1 महीने तक इस्तेमाल करें.
2. सरदर्द में लाभकारी
वच का इस्तेमाल सर दर्द में प्राचीन काल से ही किया जा रहा है. दरअसल वच की जड़ का पाउडर बनाकर पानी की सहायता से इसका पेस्ट बनाते हैं इस पेस्ट को सिर के ऊपर लगाने से सर दर्द में काफी राहत मिलती है. कई लोगों को सर में भारीपन जैसे समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है. ऐसे लोगों के लिए भी यह पोस्ट बेहद उपयोगी है. इसका फायदा गठिया में भी देखा जाता है.
3. विषाक्त पदार्थों के निष्कासन में
कई बार हमारे शरीर में पाचन तंत्र में विषाक्त पदार्थों का आगमन हो जाता है. ऐसे में वच हमें इन से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित होता है. वर्ष के सक्रिय घटक शरीर के विभिन्न हिस्सों में उपापचय को प्रोत्साहित करके इन विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में सहायता करते हैं. इसके लिए 500 मिलीग्राम वॉच को शहद में मिलाकर प्रयोग किया जाता है. इसे गर्म पानी के साथ लेने पर ज्यादा फायदेमंद साबित होता है.
4. मुंहासों के लिए
आज की तारीख में मुंहासा कई लोगों को परेशान करता है. तरह-तरह के क्रीम लगाने या कई अन्य कारणों से लोगों में मुंहासे की समस्या में वृद्धि देखी जा रही है. इस मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के तरीके इस्तेमाल करते हैं इसके लिए आप वर्ष की भी मदद ले सकते हैं वच धनिया और लोध्र की छाल का पेस्ट बनाकर इसे चेहरे पर मुंहासे की जगह पर लगाने से मुंहासे ठीक होता है.
5. बोलने से संबंधित समस्याओं में
किसी भी आदमी को यदि बोलने में समस्या हो तो यह उसके लिए बहुत ही अजीब लगने वाला एहसास होता है. बोलने की समस्याओं मैं वच ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है. इसके लिए वच की जड़ का पाउडर आवश्यकतानुसार दो महीने तक इस्तेमाल करने से बोलने की समस्या से पीड़ित को काफी हद तक आराम मिल सकता है.
6. याददाश्त सुधारने में
किसी भी व्यक्ति के यादाश्त को ठीक रखने के लिए जरूरी है. कि उसके दिमाग को शांति मिले जितना ज्यादा उसका दिमाग शांत और सक्रिय रहेगा उतना ही उसका याददाश्त ठीक रहेगा. किसी भी आदमी का मानसिक तनाव कम करने और उसकी याददाश्त में सुधार लाने के लिए वच की जड़ का पाउडर दिन में दो बार शहद के साथ लेने से यह प्रभावी होता है.
7. फोड़े-फुंसियों के उपचार में
शरीर में फोड़े फुंसी का होना भी आम बात है. कई बार यह हमें बेहद परेशानी में भी डाल देते हैं. इसलिए फोड़े-फुंसियों या गांव की परेशानी से बचने के लिए वच के जड़ का पाउडर बनाकर प्रभावित क्षेत्र में लगाएं.
8. कफ में
आमतौर पर होने वाली बीमारियों में कफ़ भी है. कफ़ से निपटने के लिए 500 मिलीग्राम वच के जड़ का पाउडर त्रिकटु पाउडर ढाई सौ मिलीग्राम और ढाई सौ ग्राम दूध के साथ मिलाकर इसका सेवन करें. इससे नाक की रुकावट शरीर दर्द गले में खराश और छींकने आदि की समस्याओं से निपटारा होता है. यह और भी कई समस्याएं जैसे फेफड़ों में जलन छाती की रुकावट घरघराहट आदि को भी कम करता है. खांसी को कम करने में भी इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है. इसके लिए 5 रत्ती वच चूर्ण को गुनगुने दूध के साथ लें.
9. सिफिलिस में
सिफलिस में वच का फायदा लेने के लिए हमें वच की जड़ का पाउडर, कॉस्टस पाउडर और अश्वगंधा पाउडर को एक साथ मिलाकर इस मिश्रण में घी को भी मिला कर सिफली से प्रभावित क्षेत्रों में बाहरी रूप से लगाएं इससे काफी राहत मिलती है.
10. बुखार में
बुखार एक आम बीमारी है. जिसके इलाज के लिए कई सारे उपाय मौजूद हैं इन उपायों में वच का भी नाम है. वच के जड़ का पाउडर मैं पानी मिलाकर बनी पेस्ट से बुखार की समस्या को ठीक किया जा सकता है. इस पोस्ट को आप माथे पर लगाएं इससे राहत मिलती है.
11. है.जा में
हमें भी वच के फायदे नजर आते हैं इसके लिए एक बड़ा चम्मच वच की जड़ का पाउडर 12 मिलीलीटर पानी में उबालें उबालने के बाद इसे छानकर दिन में तीन चार बार प्रिय ऐसा करने से काफी राहत मिलती है.
12. दस्त में
दस्त की समस्या से निपटने में भी वर्ष के फायदे देखे गए हैं दस्त से छुटकारा पाने के लिए आपको सुबह में दो छोटकी वच की जड़ का पाउडर शहद के साथ लेना होगा ऐसा करने से आप देखेंगे कि दस्त की समस्या काफी हद तक कम हो गई

वच का नुकसान

  • अल्सर और जनन तंत्र के लिए अच्छा नहीं माना जाता है.
  • लगातार बहुत दिन तक इसका प्रयोग करने से भी या नुकसान पहुंचा सकता है..
  • वच के गर्भाशय में संकुचन पैदा करने के कारण इसे गर्भ के दौरान लेना सुरक्षित नहीं माना जाता है..
  • स्तनपान कराने वाली माताओं को भी इस दौरान भी वच के सेवन से बचना चाहिए.
  • वच एक गर्म प्रभाव वाला वाली बूटी है. इसलिए कुछ लोगों में यह ब्लीडिंग की समस्या बढ़ा सकती है..
  • वच के इस्तेमाल से लोगों में सर दर्द होने की भी शिकायत देखी जाती है..
  • जिन लोगों को भी हृदय से संबंधित बीमारियां होती हैं उन्हें वच का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए.
  • बच्चों को यह बहुत कम मात्रा में दी जानी चाहिए.
3 people found this helpful

My wife is 47 years and she has entered into menopause stage. But occasionally she gets into" Light Period" symptoms. The discharge is light and lasts, at times for a day and disappears, only to show up after 3 or 4 days. Sometimes this repeats after a month when there is a small discharge and no further. What this can be due to and how to over come this discomfort?

MD-Ayurveda, Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Sexologist, Haldwani
My wife is 47 years and she has entered into menopause stage. But occasionally she gets into" Light Period" symptoms....
Hello- this kind off symptoms are faced by most women in their early fifties due to menopausal changes in the body physiology. You can understand this by a simple example, as when a pipe is connected to a tab and later when you close the tap, the water output from the pipe decreases gradually and finally after dribbling it ceases completely. Still you can use these safe ayurvedic medicines- a) dashmolaristha 2 tsp twice daily. B) tab chandraprabha vati 1 twice daily.
Submit FeedbackFeedback

Doctor, I had sex before 25 feb two weeks. I took pill after that. And now after two week waste sperm (brown in color) in low quantity is occurring with little cramp. I want to know whether I'm pregnant or not. If I'm pregnant then what medicine I can take to stop it. Or if I'm not pregnant then why it is occurring. My last menstruation cycle was 13 to 16feb.

MBBS
General Physician, Chandigarh
Doctor, I had sex before 25 feb two weeks. I took pill after that. And now after two week waste sperm (brown in color...
Brownish discharge with cramps could be because you got pregnant and then because you took pill it got disrupted please wait for your next cycle and if you don't get it then go in for pregnancy test and proceed accordingly.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hello doc I'm planning for a baby and my intercourse day is 1 to 10 so v had on 1,2 and 3 it has not done, so will be any chances of getting pregnant. In my last message I written that I checked ovulation kit on Saturday I checked c line and t line is dark but again I checked on Sunday it show that c line is dark and t line is light. So what will be the symptoms. Help me out thank you.

BASM, MD, MS (Counseling & Psychotherapy), MSc - Psychology, Certificate in Clinical psychology of children and Young People, Certificate in Psychological First Aid, Certificate in Positive Psychology
Psychologist, Palakkad
Hello doc I'm planning for a baby and my intercourse day is 1 to 10 so v had on 1,2 and 3 it has not done, so will be...
Dear user. FERTILE PHASE is the phase of a female's menstrual cycle when an egg (ovule) is released from the ovaries. In humans, ovulation occurs about midway through the menstrual cycle, after the follicular phase. The few days surrounding ovulation (from approximately days 10 to 18 of a 28 day cycle), constitute the most fertile phase. So if you have ejaculatory sexual inter course from day 10 from the first day of period and to day 20, the chances of pregnancy are much more. There are many determinants of pregnancy. You should be sexually matured. Your partner should be sexually matured. The period of your partner should be in the fertile stage. Her egg and your sperm cells should healthy enough. Then her uterus should be capable to get conceived. If all these were satisfied, the pregnancy could be a result. Take care.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Dr sahab, my wife is suffering from thyroid antibodies disease. Due to this disease,we are facing the problem of child growth during pregnancy. Child dead after 1 or 2 months in pregnancy. Please help and advice me

MBBS (Gold Medalist, Hons), MS (Obst and Gynae- Gold Medalist), DNB (Obst and Gynae), Fellow- Reproductive Endocrinology and Infertility (ACOG, USA), FIAOG
Gynaecologist, Kolkata
You need to consult doctor and have some other tests done and get the solution. Remember, even after loss of 5 children in pregnancy, there is 50% chance of having a term baby in next pregnancy. So, don't get disheartened.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

90%
(53 ratings)

Dr. Seema Jain

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, DNB (Obstetrics and Gynecology), Royal College of Obstetricians and Gynaecologists (MRCOG)
Gynaecologist
Dr. Seema Jain's GynaeGalaxy - A Women's Specialty & Fertility Clinic, 
350 at clinic
Book Appointment
91%
(374 ratings)

Dr. Kuldeep R Wagh

MS - Obstetrics and Gynaecology, MBBS, Post Doctoral Fellowship in Reproductive Medicine, Fellowship in Minimal Access Surgery
Gynaecologist
Cloudnine Hospital - Shivaji Nagar, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(119 ratings)

Dr. Nitin Sangamnerkar

MBBS, MD - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist
Colony Nursing Home, 
200 at clinic
Book Appointment
91%
(183 ratings)

Dr. Neelima Deshpande

EMDR, FRCOG (LONDON) (Fellow of Royal College of Obstetricians and Gynaecologists), MFSRH , Diploma in psychosexual therapy, Medical diploma in clinical Hypnosis, Diploma in Evidence Based Healthcare, DNB (Obstetrics and Gynecology), MD - Obstetrics & Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
Health Point Polyclinic, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(26 ratings)

Dr. Sagar

DGO , MBBS
Gynaecologist
Dr Bumb Nursing Home, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Arpita Porecha

MBBS, MD - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist
Prudent International Health Clinic, 
0 at clinic
Book Appointment