Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment
Dr. Praveen Datt Sharma  - Veterinarian, Noida

Dr. Praveen Datt Sharma

MVSc

Veterinarian, Noida

14 Years Experience  ·  250 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Praveen Datt Sharma MVSc Veterinarian, Noida
14 Years Experience  ·  250 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

I want all my patients to be informed and knowledgeable about their health care, from treatment plans and services, to insurance coverage....more
I want all my patients to be informed and knowledgeable about their health care, from treatment plans and services, to insurance coverage.
More about Dr. Praveen Datt Sharma
Dr. Praveen Datt Sharma is one of the best Veterinarians in Sector-72, Noida. He has helped numerous patients in his 12 years of experience as a Veterinarian. He has done MVSc. He is currently practising at Noida Pet Clinic in Sector-72, Noida. Book an appointment online with Dr. Praveen Datt Sharma and consult privately on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Veterinarians in India. You will find Veterinarians with more than 28 years of experience on Lybrate.com. You can find Veterinarians online in Noida and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Education
MVSc - Hisar University - 2004
Languages spoken
English
Hindi
Awards and Recognitions
MSAWA
MISVS
MISVS
...more
MISVS
MSAWA
MSAWA
Professional Memberships
Small Animal Veterinary Association (SAVA)
Indian Society for Veterinary Surgery

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Praveen Datt Sharma

Noida Pet Clinic

Plot Number C-105, Sector 106, Landmark : Near Sector 71 RedlightNoida Get Directions
250 at clinic
...more
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Praveen Datt Sharma

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.
Submit FeedbackFeedback

Sir my dog is suffering from itching I had given him avil 50 mg medicine, tactic lotion 25 ml, fluka, furglow But still there is a problem of itching and redness of skin m so worried please suggest some medicine that make him free of all these .he got pus (sinuses) on his back do us help his bladder and leg area get reddish. suggest some effective medicine that give him relief.

B.V.Sc. & A.H., MVS
Veterinarian, Ahmedabad
You will need to visit a veterinarian for complete diagnostics to find the cause of infection and itching since Avil alone doesn't seem to be helping. There are many causes of such conditions in dogs including allergies, various ectoparasites, atopy, etc.
Submit FeedbackFeedback

I have a 4 months labrador and now a days he is shedding hairs very much. Please suggest me any medicine to control shedding.

M.V.Sc (Surgery)
Veterinarian, Mohali
Shedding of hair have lot of reasons, but if there is no infection and only shedding then you should use syrup containing omega 3 fatty acid which prevent hair fall like vitabest or glossy coat. Dose as per wt. Mentioned on bottle.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Vaccination In Pets

B.V.Sc
Veterinarian, Varanasi
Vaccination In Pets

Vaccination in dog

टीकाकरण की प्रकिया एक ऐसा उपाय है जिससे, कुत्तो में होने वाली कुछ प्रमुख विषाणु एवं जीवाणु जनित जानलेवा एवं लाइलाज, बीमारियों जैसे कैनाइन डिस्टेंपर, हेपेटाइटिस, पार्वो वायरस, लेप्टोस्पायरोसिस, रेबीज तथा केनल कफ़ आदि से बचाव के लिए समय समय पर कुत्तों के शरीर में टीका लगाया जाता है,जिससे इन रोगों के खिलाफ रोगप्रतिरोधक क्षमता का शारीर में विकास हो जाता है और हमारा पालतू जानवर एक सिमित अवधि तक इन बिमारियों के घातक प्रभाव से बचा रहता है |

कुछ टीकाकरण संबंधी सामान्य प्रश्नो के जबाब -
 
१- क्या सभी उम्र के कुत्तो का टीकाकरण जरूरी होता है?
हाँ। आमतौर पर १. ५ महीने (४५ दिन) के उम्र से ऊपर सभी कुत्तो का नियमित समय पर टीकाकरण करना जरूरी होता है यदि किसी कारण वश नयमिति या कभी कराया ही न गया हो तो किसी भी उम्र से टीकाकरण शुरू किया जा सकता है। 

२. छोटे बच्चो को किस उम्र से टीका का पहली खुराक देना शुरू करना चाहिए?
४५ दिन के उम्र से ही टीके की पहली खुराक देना बेहद जरूरी होता है 

३. क्या सभी छोटे पप्स को टीकाकरण के पहले पेट के कीड़े देना जरूरी होता है -
हाँ। बहुत से परजीवी ऐसे होते है जो माँ के पेट से ही या दूध के जरिये से बच्चे के शरीर में प्रवेश कर जाते है जिससे शरीर को कमजोर कर देते है और जब टीका लगाया जाता है तो कमजोरी के वजह से उतना अच्छा शरीर में प्रतिरोधक छमता का विकास नहीं हो पता इसलिए पहले ऐसे परजीवीओ को नष्ट करना जरूरी होता है 

४. क्या होता है टीकाकरण का सही उम्र और समयांतराल?
१. पहली खुराक -जन्म के ६ -८ सप्ताह के उपरांत(कैनाइन डिस्टेंपर, हेपेटाइटिस, पार्वो वायरस, लेप्टोस्पायरोसिस, पैराइन्फ़्लुएन्ज़ा हेतु) 
२. बूस्टर खुराक या दूसरी खुराक - प्रथम खुराक के २-३ सप्ताह बाद ; फिर दूसरी खुराक के ठीक एक साल बाद वार्षिक खुराक साल में एक बार पूरी उम्र तक लगवाते रहना चाहिए। 
३. तीसरी खुराक - रेबीज वायरस हेतु- प्रथम खुराक जन्म के ३ माह के उपरान्त। 
४. बूस्टर खुराक या चौथी खुराक - तीसरी खुराक के २-३ सप्ताह बाद ; फिर तीसरी खुराक के ठीक एक साल बाद वार्षिक खुराक साल में एक बार पूरी उम्र तक लगवाते रहना चाहिए। 

५. क्या बूस्टर खुराक देना जरूरी होता है या नहीं?
जन्म के साथ ही माँ से प्राप्त एंटीबाडीज और प्रथम दूध से मिलने वाली सुरछा कवच कुछ सप्ताह तक नवजात के खून में मौज़ूद रह करअनेको बीमारयों से सुरछा प्रदान करती है परन्तु समय के साथ साथ इनकी मात्रा बच्चे के शरीर में कम होने लगती है। जिससे बीमारी होने की आशंका बढ़ जाती है इसलिए लगभग ४५ दिन के बाद टिका का प्रथम खुराक देते है यद्पि ये पता नहीं रहता की माँ से मिलने वाली सुरछा का असर किस स्तर का है जिससे आमतौर पर ये स्तर अधिक होने पर प्रथम खुराक से बच्चे के शरीर में टीकाकरण की गुणवत्ता को बाधित करती है, जो की पप्पस में रोगप्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न करने में असक्षम हो जाता है इसलिए कुछ सप्ताह बाद टीकाकरण के दूसरी खुराक दे कर टीकाकरण से रोगप्रतिरोधक क्षमता करने के उद्देश्य को प्राप्त करते है ऐसी दूसरी खुराक को बूस्टर खुराक कहते है। 

६. क्या है टीकाकरण की सही खुराक देने के मात्रा:
डॉग चाहे किसी भी उम्र, भार, लिंग अथवा नस्ल के हों उनको समान मात्रा में टीकाकरण का खुराक दिया जाता है 

७. क्या है टीकाकरण का सही तरीका:
टीकाकरण खाल के नीचे:कैनाइन डिस्टेंपर, हेपेटाइटिस, पार्वो वायरस, लेप्टोस्पायरोसिस, पैराइन्फ़्लुएन्ज़ा तथा रेबीज जैसी बीमारियों की रोकथाम के लिए खाल के नीचे दिया जाता है
 नथुनों में:केनल कफ़ का टीकाकरण कुत्ते के नथुनों में दवा डाल कर किया जाता है

८. क्या सभी टीके एक ही प्रकार के होते है:कुत्तों में टीकाकरण दो प्रकार की होती है
 १. कोर टीकाकरण - टीकाकरण जो सभी कुत्तों के लिये आवश्यक है. यह उन बिमारीयों में दिया जाता है जो आसानी से फैलती हैं अथवा घातक होती हैं जैसे रेबीज, एडीनोवायरस, पार्वोवायरस, और डिस्टेंपर.
 २. नान कोर टीकाकरण – उपरोक्त ४ बिमाँरीयों (रेबीज, एडीनोवायरस, पार्वोवायरस, और डिस्टेंपर) के टीकाकरण को छोड़कर अन्य सभी नानकोर टीकाकरण माना जाता है | यह उन बिमाँरियों से सुरक्षा प्रदान करता है जो वातावरण के अनावरण अथवा जीवनचर्या पर निर्भर करती है जैसे लाइम डिजीज, केनलकफ और लेप्टोस्पाइरोसिस.

९. एक सफल टीकाकरण करने के बाद क्या फिर भी टीकाकरण विफल हो सकता है?हाँ। 
 टीकाकरण के विफलता के कारण कुत्ते में बीमारी होने के निम्नलिखित मुख्य कारण हो सकते है –
१. टीकाकरण के दौरान कुत्ते की रोगप्रतिरोधक क्षमता का सम्पूर्ण रूप से कार्य न करना |
२.आयु – कम उम्र के जानवरों की प्रतिरक्षा प्रणाली पूर्णतः विकसित नही होती और बड़े आयु के जानवरों की प्रतिरक्षा प्रणाली कई कारणों से अक्सर कमज़ोर या क्षीण हो जाती है |
३. मानवीय चूक (टीके का अनुचित संग्रहण या अनुचित मिश्रण)- टीकों का संग्रहण एवं इस्तेमाल भी निर्देशानुसार ही होना आवश्यक है | सूरज की रोशनी,गर्म तापमान टीके के प्रभाव को नस्ट कर सकता है | टीके का मिश्रण पशु में टीकाकरण के तुरंत पहले तैयार करना चाहिए | टीके खरीदने के पहले पता करना चाहिए कि टीकों को उचित तापमान एवं देखभाल से रखा गया है या नहीं |
४. डीवार्मिंग – टीकाकरण करने के पहले पेट के कीड़े मारने के लिए डीवर्मिंग करना आवश्यक है, वरना इस तरह का तनाव टीकाकरण के प्रभाव को कम कर सकता है |
५. गलत सीरोटाईप / स्टेन का इस्तेमाल – प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया बहुत विशिष्ट होती है | अतः टीके में होने वाली जीवाणु या विषाणु की सही स्टेन होनी चाहिए वरना उससे उत्पन्न होने वाली प्रतिरक्षा जानवर में सही तौर पर सुरक्षा नहीं कर पाती |
६. अनुवांशिक बीमारियाँ – कुछ जानवरों में आनुवंशिक बिमारियों की वजह से सभी रोगों के लिए प्रतिरोधक छमता सामान्य तौर पर कम ही उत्पन्न हो पाती है |
७. वैक्सीन की गुणवत्ता – टीके में प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयाप्त मात्रा में प्रतिजनी की मात्रा होना चाहिए वरना टीकाकरण के बाद प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया प्रयाप्त नहीं होती है |
८. पुराने या अवधि समाप्त टीके – पुराने टीकों में आवश्यक प्रतिजनी गुण समाप्त या कम हो जाता है | इस तरह के टीके लगाने से जानवरों को बेमतलब तनाव दिया जाता है |
९. टीकाकरण का अनुचित समय – टीका निर्माता के निर्देशों के अनुसार टीकाकरण का समय (उम्र एवं मौसम के अनुसार), लगाने का तरीका एवं मात्रा तथा दोबारा लगाये जाने की अवधि, इत्यादि निश्चित होता है |इन निर्देशों का पालन सही समय पर न करने से टीकाकरण विफल या निष्क्रिय हो जाता है |
१०. पोषण की स्तिथि- कुपोषण की वजह से जिन पशुओं में पोषक तत्वों की कमी रह जाती है उनमे टीकाकरण के बाद भी प्रतिरोधक छमता सामान्य तौर पे कम ही उत्पन्न हो पाती है |

10. क्या वैक्सीन लगते समय कुत्ते पर कोई दुस्प्रभाव हो सकते है? हाँ 
 कुछ कुत्तो प्रतिरोधक छमता अधिक सक्रिय होने की वजह से कुछ सामान्य लचण जैसे ज्वर, उल्टी, दस्त, लासीका ग्रंथियों का सूजना, मुख का सूजना, हीव्स, यकृत विफलता और कभी -कभी मौत भी हो सकती है।

1 person found this helpful

My street dog pup is 1 month old .not having any feed from yesterday morning. And is crying having cramps need medical help .pls suggest me medicine or any injection my sis is mbbs and she can inject the pup maybe.

MVSc (Ph.D)
Veterinarian,
Streat dog means uncared one & will have infection both microbial as ell as parasitic or even hepatitis, it is better to exam stools for worm infection, Assuming, the mixed infection, you may give, Antibacterial, antifungal & anthelmintics, After this, you give Live tonic, with B, Complex, oral feeding woth suplements. With Milk, Egg, Raagi gruel it will be allright. If Temp, is noiticed small amount of paracetamol say 50 mg will take care. Do this it will be allright.
Submit FeedbackFeedback

I have 3 puppies. They used to play together. They drink water in same bowl. They bite each other while playing. My one puppy died due to rabies. Should my other two puppies have gotten rabies from him?

MBBS
General Physician, Mumbai
Rabies is an infectious disease and vaccination needs to be given to all the puppies and house family members and you will have to inform the municipal authorities
Submit FeedbackFeedback

I've a female dog she gave birth to 6 pups. 5 were adopted early and 1 is adopted yesterday. Now she is missing her so much. What should I do?

Master of sciences, B.V.Sc. & A.H.
Veterinarian, Salem
Buy her few dolls to play and take it to a vet to stop her milking as far they milk they mis the puppies.
Submit FeedbackFeedback

My puppy (Golden Retriever) is 38 days old. It shakes its head very often. My parents are planning to give it back. So please tell me, is it really something so serious. Please give me reply Asap. Please .

MVSc (Ph.D pursuing)
Veterinarian, Hyderabad
Head shaking as if shivering or fits? it could be a simple low sugar problem to severe brain problem. Please check a simple blood sugar check like we do for humans and see if the blood glucose level is below 60.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hi, I have a six year old yellow labrador. Her underbelly is turning black and the discoloration has reached up to her neck. What could be the reason? also she has developed bad breath recently!

M.V.Sc (Surgery)
Veterinarian, Mohali
She had skin problem. Kindly share some pic. So that I can guide you. Blackening of skin mainly because of chronic infection.
4 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed