Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Sandhya B Chandra

Gynaecologist, Mumbai

Book Appointment
Call Doctor
Dr. Sandhya B Chandra Gynaecologist, Mumbai
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

To provide my patients with the highest quality healthcare, I'm dedicated to the newest advancements and keep up-to-date with the latest health care technologies....more
To provide my patients with the highest quality healthcare, I'm dedicated to the newest advancements and keep up-to-date with the latest health care technologies.
More about Dr. Sandhya B Chandra
Dr. Sandhya B Chandra is one of the best Gynaecologists in Borivali West, Mumbai. You can visit her at Chandra Hospital in Borivali West, Mumbai. Book an appointment online with Dr. Sandhya B Chandra and consult privately on Lybrate.com.

Find numerous Gynaecologists in India from the comfort of your home on Lybrate.com. You will find Gynaecologists with more than 27 years of experience on Lybrate.com. You can find Gynaecologists online in Mumbai and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Sandhya B Chandra

Chandra Hospital

Ground Floor, Shanti Building, I C Colony Road, Opposite Fish Market, Borivali West, MumbaiMumbai Get Directions
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Sandhya B Chandra

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I am getting married soon. But my fiancée had already declared that he had few boy friends. How would I understand that whether she had sex or not earlier with anyone? What are the symptoms whether she is virgin or not?

MD-Ayurveda, Bachelor of Ayurveda, Medicine & Surgery (BAMS)
Sexologist, Haldwani
I am getting married soon. But my fiancée had already declared that he had few boy friends. How would I understand th...
Hello- Just confront your fiance and trust her statement. As your fiance is true person to share her previous relationship with you. Don't doubt her, it will ruin your relationship.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I'm 23 years girl, sometimes in a day, I feel too much burning in vagina area and urine too, it's too irritating, what to do for this, please help, its really so painful?

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
Hello, you may be suffering from vaginitis and secondary uti. So please get a vaginal saw and urine culture done to rule out infection.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am 29 year old woman. My menses last for 3 days only and the colour of it is kind off yellowish. What can be the reason and is it normal ?

MBBS, MD Obs & Gynae, FNB Reproductive Medicine
Gynaecologist, Jalandhar
If it is the same ever since you got periods its ok but if it has started now then you need further investigation as it could be a sign of infection and could cause an effect on your fertility.
Submit FeedbackFeedback

Late Periods Problem In Hindi - पीरियड मिस या लेट होने के कारण

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Late Periods Problem In Hindi - पीरियड मिस या लेट होने के कारण

पीरियड्स, जिसे हिंदी में महावरी या मासिक धर्म भी बोला जाता हैं, यह महिलाओं को हर महीने होने वाली एक प्राकृतिक प्रकिया है, जिसका सामना हर महिलाओं को हर 28 दिन में करना पड़ता है। वहीं बहुत से महिलाओं और किशोरियों को लेट पीरियड प्रॉब्लम या कहे मासिक धर्म देरी या असमय आते हैं। शादीशुदा या किसी के साथ रिश्ते रखने वाली महिलाओं के जब पीरियड्स देर से आते हैं, तो उनमे से अधिकतर की सोच यही होती हैं कि कही वह प्रेगनेंट तो नहीं है ? 

हालांकि, ऐसा कुछ होता नहीं हैं, उम्र और लाइफस्टाइल के कारण हमारे शरीर में बहुत से बदलाव आते रहते हैं। पीरियड्स लेट या मिस हो जाना उसी प्रक्रिया का एक हिस्सा है। काफी सारे मामलों में देखा गया है कि जिन महिलाओं या युवतियों ने किसी से कोई संबंध नही बनाया होता है, लेकिन फिर भी उनके पीरियड्स की साइकिल बदल जाती हैं। इसका कारण हमारे शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव भी होते हैं।  

इसके अलावा हमारी जीवनशैली में हुए बदलाव भी इसका एक कारण होते है। जैसे - ज्यादा स्ट्रेस, जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज, वजन कम होना या ज्यादा वजन बढ़ना आदि इसमें शामिल है। यह कुछ कारण है जो आपके हॉर्मोन स्तरों को प्रभावित कर, आपके पीरियड्स साइकिल में बदलाव ला सकते हैं।

अगर वैज्ञानिक नजरिए से समझने की कोशिश करें तो महिलाओं में हर माह ओवुलेशन होता है, जिसमें पीरियड्स के 28 दिन की साइकिल के दौरान 12वें या 14वें दिन पर ओवरी से अंडा जारी होता है। अगर ओवुलेशन समय पर नही हो पाता है तो इससे पीरियड्स चक्र पर प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण पीरियड्स लेट प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता हैं। अगर आपको यह समस्या होती है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

पीरियड का लेट  होना कई कारणों पर निर्भर करता है जैसे कि :

1. गर्भावस्था
अगर आपने हाल ही में असुरक्षित यौन संबंध बनाए है, तो हो सकता है प्रेगनेंसी के कारण आपके पीरियड न आए।
सोल्यूशन:  तुरन्त प्रेगनेंसी की जांच कराएं।

2. पीरियड्स साइकिल की शुरुआत
जब पीरियड्स साइकिल शुरू होते है तो जरुरी नहीं की हर महिला में यह चक्र नियमित हो, मतलब कुछ में वो समय से होगा और कुछ में नहीं। कई लड़कियों में शुरुआत के सालों में पीरियड में अनियमितता होती है, जो की बाद में धीरे धीरे ठीक हो जाती है। 

सोल्यूशन: अगर आपका पीरियड हाल ही में शुरू हुआ है, तो आपको ज्यादा घबराने की जरुरत नहीं है। डॉक्टर से संपर्क कर सारी जानकारी साझा करें। 

3. वजन का बढ़ना
मोटापे की वजह से शरीर में हॉर्मोन्स सही ढंग से कार्य नहीं कर पाते है, जिसके कारण पीरियड्स लेट होने की समस्या हो सकती है।

 सोलुशन:  नियमित एक्सरसाइज, सही डाइट और अच्छे लाइफस्टाइल को अपना कर अपना वजन कंट्रोल करें।

 4. अंडर वेट होना
कुछ लडकियां और महिलाएं बहुत दुबली पतली होती हैं और वजन का सामान्य से कम होना भी पीरियड की परेशानियों के लिए जिम्मेदार होता है क्योंकि उनका शरीर उचित मात्रा में एस्ट्रोजन नहीं बना पाता है, जिस कारण उनका ओवुलेशन नहीं हो पाता है।

 सोल्यूशन: व्यायाम और अच्छी डाइट के जरिए कम वज़न और लेट पीरियड की समस्या से छुटकारा पाएं।

 5. सही खान पान का न होना या कमी
कुछ महिलाओं में ईटिंग डिसऑर्डर जैसे एनोरेक्सिया या बुलिमिया पाया जाता है। ऐसे में सही पोषण की कमी का असर उनके पीरियड पर पड़ता है, जिससे पीरियड लेट प्रॉब्लम पैदा हो जाती है।

 सोल्यूशन: शरीर के साथ जो भी करें, एक्सपर्ट की राय और शरीर जरूरत के अनुकूल ही करें।

 6. खिलाडी या डांसर होना
अकसर खिलाडी और डांसर आपना स्टैमिना और परफॉरमेंस बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा प्रैक्टिस कर लेती हैं। शरीर के जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल का विपरीत प्रभाव उनके एस्ट्रोजन हॉर्मोन के लेवल पर पड़ता है, जिसके फलसवरूप ऐसी लड़कियों या महिलाओं को अमेनोररहीया यानि पीरियड देर से होने की समस्या का सामना करना पड़ता है।

सोल्यूशन: सही पोषण युक्त डाइट और कुछ दिन आराम करके माहवारी को फिर से सामान्य करने की कोशिश करें।

 7. ज्यादा एक्सरसाइज
कुछ महिलाएं आकर्षक शरीर पाने के लिए जरुरत से ज्यादा व्यायाम करती हैं। ऐसी महिलाओं को अनियमित पीरियड प्रॉब्लम की समस्या हो जाती है। 

सोल्यूशन: जरुरत से ज्यादा व्यायाम करने से बचें

 8. गर्भनिरोधक गोलियां लेना
गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन भी मासिक चक्र को डिस्टर्ब कर सकता है। 

सोल्यूशन: जितना हो सके गर्भ निरोधक गोलियों के इस्तेमाल से बचना चाहिए। 

9. थाइरोइड की प्रॉब्लम
कई बार हमें थाइरोइड की परेशानी होती है और हमें उसका पता भी नहीं चलता है। दोनों हाइपो-थयरोइडिस्म और हाइपर-थयरोइडिस्म होना, आपकी पीरियड्स साइकिल को प्रभावित कर सकता है। 

सोल्यूशन: पीरियड लेट होने की वजह जानने के लिए अपना थाइरोइड टेस्ट करवाएं और डॉक्टर से संपर्क करें।

 10. हार्मोनल लेवल का असंतुलन
PCOS के अलावा कुछ शारीरिक रोग या मानसिक तनाव होने का असर शरीर के हार्मोनल के संतुलन को बिगाड़ सकता है, जिसके फलसवरूप आपका पीरियड लेट हो सकता है।

सोल्यूशन: हॉर्मोन को संतुलित बनाए रखने का प्रयास करें।

 11. रजोनिवृत्ति
जो महिलाएं रजोनिवृत्ति यानि मेनोपॉज़ की ओर बढ़ रही होती हैं, उनमें पीरियड मिस और लेट होने की प्रॉब्लम आम होती हैं। ऐसी महिलाओं में मासिक स्त्राव और मासिक चक्र की आवर्ती पर काफी असर पड़ता है। 

सोलुशन: रजोनिवृत्ति के आसपास की आयु हैं, तो ज्यादा चिंता न करें।

 12. दवाइयों का सेवन
थाइरोइड, कैंसर, कीमोथेरेपी, डिप्रेशन, मासिक रोगों के लिए दी जाने वाली दवाइयां और स्टेरॉइड्स आदि कुछ ऐसी दवाइयां हैं, जो आपके मासिक चक्र को प्रभावित कर सकती हैं।

 सोल्यूशन: बीमारी के ठीक होने तक ऐसी समस्या पर धैर्य रखें और अगर ज्यादा समय तक सुधार ना हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।

 13. तनाव और चिंता
मानसिक तनाव, चिंता, घरेलू झगड़े, भावनात्मक बदलाव, अवसाद आदि का असर सीधा हॉर्मोनल स्तर पर पड़ता है, जिसके कारण आपके शरीर के हॉर्मोन्स के कार्य प्रभावित होते हैं। हॉर्मोन्स का चेंज होना आपके दिमाग के हाइपो-थैलेमस नाम के हिस्से को प्रभावित करता है। यह हिस्सा आपके मासिक चक्र को नियंत्रित करता है।

 सोल्यूशन: मानसिक तनाव, बात-विवाद, डिप्रेशन, चिंता आदि से बचना चाहिए और मैडिटेशन, योगा को अपने रूटीन में शामिल करना चाहिए।

14. स्केड्यूल बदलने या सफर करना
कई बार ऑफिसियल टाइम बदलने, परीक्षा के दौरान ज्यादा देर जागने, सफ़र का प्रभाव आपके स्केड्यूल, खान पान, नींद, बॉडी क्लॉक, दिमाग आदि को प्रभावित करता है, जिसके कारण आपका पीरियड लेट हो सकता है।

 सोल्यूशन: नींद पूरी लेना, नियमित एक्सरसाइज, सही डाइट आदि से आप पीरियड को नियमित कर सकते हैं।

13 people found this helpful

I'm writing this for my friend. She had unprotected sex with her boyfriend 3 times in last one month (27 days to be exact). She didn't get periods after that. She tried the pregnancy kit test and the results showed negative. But she is still worried of getting pregnant. What should be done regarding this. Is mifepristone tablet be used now to avoid pregnancy. If this tablet is not adequate please suggest a tablet other than this. She is 21 years old.

FRCOG (LONDON) (Fellow of Royal College of Obstetricians and Gynaecologists), (MRCOG), MD obs and gynaecology, DGO
Gynaecologist, Mumbai
I'm writing this for my friend. She had unprotected sex with her boyfriend 3 times in last one month (27 days to be e...
Dear lybrate-user, if she has already conceived then full Medical termination procedure need to be done. If she has not conceived only mifepristone will not help. She needs withdrawal bleed to get period.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have recently diagnosed with chronic cystitis by ultra sound scan. I already have taken treatment for irritable bowel syndrome. I have problem of loose motion after half and hour of eating. And also when I get nausea or loose motion my testicle got shrinked up. I decided to consult to homeopathy doctor. Is there suitable medicines available for my conditions?

BHMS
Homeopath, Navi Mumbai
Homeopathy is right choice for you. Ibs is an autoimmune condition. Homeopathic medicines has ability to modify your immune system naturally. We can restore your current health status to healthy one with the correct choice of homeopathic medicine without any side effects. Homeopathy is found very effective in such autoimmune condition. So please consult a skilled homeopath soon for a long term solution.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have eat meprate tablet for 2 days but I have not got period so what I do and after eat meprate tablet in which day I have periods.

MD - Obstetrtics & Gynaecology, FCPS, DGO, Diploma of the Faculty of Family Planning (DFFP)
Gynaecologist, Mumbai
I have eat meprate tablet for 2 days but I have not got period so what I do and after eat meprate tablet in which day...
First only after gap of 3 to 7 days after stopping Meprate one gets period and second- more successful if Meprate taken for few more days
Submit FeedbackFeedback

I am 48 years female and nearing menopause but due to scanty periods, my breast has increased and tummy too has bloated. What should I do.

MS- Gynaecology, MBBS
Gynaecologist, Delhi
I am 48 years female and nearing menopause but due to scanty periods, my breast has increased and tummy too has bloat...
This is perimenuopausal phase.hormonal r disturbed during this phase. to avoid all these symptoms u shd do reg exercise n diet shd also b well controlled. u shd do reg walk yoga .In diet u shd reduce intake of fat sweet food
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My wife have a vaginal infection. She have irritation burning in her vagina. When she urinate its burning. Please tell me what should I do? Tell me some advice or prescription for get rid off vaginal infection.

MBBS, MS - Obstetrics & Gynecology, Fellowship in Infertility (IVF Specialist)
Gynaecologist, Aurangabad
My wife have a vaginal infection. She have irritation burning in her vagina. When she urinate its burning. Please tel...
Hi lybrate user, it looks like local irritation due to infection. Please visit gynaecologist for internal examination so it can be treated with medication. She should keep local area clean and dry. Use cotton undergarments and change it twice a day. Wear loose cotton trousers.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

89%
(1836 ratings)

Dr. Vandana Walvekar

MD
Gynaecologist
Bhatia Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
90%
(52 ratings)

Dr. Sharmila Naik

MBBS, DNB - Obstetrics and Gynaecology
Gynaecologist
Apollo Clinic, 
250 at clinic
Book Appointment

Dr. Ameya S Kanakiya

MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, DGO, DNB - Obstetrics & Gynecology, CCGDM
Gynaecologist
Sai Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(83 ratings)

Dr. Mohan Krishna Raut

MD - Obstetrtics & Gynaecology, MBBS, DGO
Gynaecologist
Dr. Raut's Women's Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
91%
(817 ratings)

Dr. Prabhjot Manchanda

MBBS, DNB - Obstetrics & Gynecology
Gynaecologist
Sukh Shanti Hospital, 
250 at clinic
Book Appointment
89%
(10 ratings)

Dr. Tejaswi Kamble Kamble

MS - Obstetrics and Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
Shree Hospital Chembur, 
300 at clinic
Book Appointment