Lybrate Mini logo
Lybrate for
Android icon App store icon
Ask FREE Question Ask FREE Question to Health Experts
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Dr. Giri

Gynaecologist, Mumbai

800 at clinic
Dr. Giri Gynaecologist, Mumbai
800 at clinic
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

I'm a caring, skilled professional, dedicated to simplifying what is often a very complicated and confusing area of health care....more
I'm a caring, skilled professional, dedicated to simplifying what is often a very complicated and confusing area of health care.
More about Dr. Giri
Dr. Giri is a popular Gynaecologist in Kandivali West, Mumbai. You can visit him/her at Ankur Hospital For Women in Kandivali West, Mumbai. Book an appointment online with Dr. Giri and consult privately on Lybrate.com.

Find numerous Gynaecologists in India from the comfort of your home on Lybrate.com. You will find Gynaecologists with more than 26 years of experience on Lybrate.com. You can find Gynaecologists online in Mumbai and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment

1st Floor,Kalpatru,Mathuradas Road,Kandivali West. Landmark: Opp to Punjab National Bank, MumbaiMumbai Get Directions
800 at clinic
...more
View All

Consult Online

Text Consult
Send multiple messages/attachments
7 days validity
Consult Now

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Giri

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I am having pcod problem. I get pregnant. I got cesarean delivery. Aft delivery pcod will cured or not.

MD - Obstetrtics & Gynaecology, DGO
IVF Specialist, Mumbai
I am having pcod problem. I get pregnant. I got cesarean delivery. Aft delivery pcod will cured or not.
Please note that PCOD is not a disease and is a condition you are born with it. So you have to live with it.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My wife is 3 months pregnant now. Is it safe to have intercourse now? if yes, then how deep can I insert? would it not harm the baby?

MBBS- 1996 & MD - (OBG)/DVD/DPM/Dip.Andrology.
Gynaecologist, Hyderabad
Hello ok. if ur intrested n u be carefull without on her body n dont give barden n strongly hardly strokes n also inside of ur penis very slowly n little step by step n small pressings thatsall. Don't press breasts very care fully u do. for ur satisfy only. if u done always like previously strong n roughly its harmful n dangerous once its go to abortion.. becaz now all organs r in there workings with very smoothly. ok...all the best.....
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Properties Of Flax Seed

BAMS
Ayurveda, Sonipat
Properties Of Flax Seed

अचूक औषधि अलसी

अलसी असरकारी ऊर्जा, स्फूर्ति व जीवटता प्रदान करता है। अलसी, तीसी, अतसी, कॉमन फ्लेक्स और वानस्पतिक लिनभयूसिटेटिसिमनम नाम से विख्यात तिलहन अलसी के पौधे बागों और खेतों में खरपतवार के रूप में तो उगते ही हैं, इसकी खेती भी की जाती है। इसका पौधा दो से चार फुट तक ऊंचा, जड़ चार से आठ इंच तक लंबी, पत्ते एक से तीन इंच लंबे, फूल नीले रंग के गोल, आधा से एक इंच व्यास के होते हैं।

 इसके बीज और बीजों का तेल औषधि के रूप में उपयोगी है। अलसी रस में मधुर, पाक में कटु (चरपरी), पित्तनाशक, वीर्यनाशक, वात एवं कफ वर्घक व खांसी मिटाने वाली है। इसके बीज चिकनाई व मृदुता उत्पादक, बलवर्घक, शूल शामक और मूत्रल हैं। इसका तेल विरेचक (दस्तावर) और व्रण पूरक होता है।

अलसी की पुल्टिस का प्रयोग गले एवं छाती के दर्द, सूजन तथा निमोनिया और पसलियों के दर्द में लगाकर किया जाता है। इसके साथ यह चोट, मोच, जोड़ों की सूजन, शरीर में कहीं गांठ या फोड़ा उठने पर लगाने से शीघ्र लाभ पहुंचाती है। एंटी फ्लोजेस्टिन नामक इसका प्लास्टर डॉक्टर भी उपयोग में लेते हैं। चरक संहिता में इसे जीवाणु नाशक माना गया है। यह श्वास नलियों और फेफड़ों में जमे कफ को निकाल कर दमा और खांसी में राहत देती है।

इसकी बड़ी मात्रा विरेचक तथा छोटी मात्रा गुर्दो को उत्तेजना प्रदान कर मूत्र निष्कासक है। यह पथरी, मूत्र शर्करा और कष्ट से मूत्र आने पर गुणकारी है। अलसी के तेल का धुआं सूंघने से नाक में जमा कफ निकल आता है और पुराने जुकाम में लाभ होता है। यह धुआं हिस्टीरिया रोग में भी गुण दर्शाता है। 

अलसी के काढ़े से एनिमा देकर मलाशय की शुद्धि की जाती है। उदर रोगों में इसका तेल पिलाया जाता हैं।
तनाव के क्षणों में शांत व स्थिर बनाए रखने में सहायक है। कैंसर रोधी हार्मोन्स की सक्रियता बढ़ाता है। अलसी इस धरती का सबसे शक्तिशाली पौधा है। कुछ शोध से ये बात सामने आई कि इससे दिल की बीमारी, कैंसर, स्ट्रोक और मधुमेह का खतरा कम हो जाता है। 

इस छोटे से बीच से होने वाले फायदों की फेहरिस्त काफी लंबी है,​​ जिसका इस्तेमाल सदियों से लोग करते आए हैं। इसके रेशे पाचन को सुगम बनाते हैं, इस कारण वजन नियंत्रण करने में अलसी सहायक है। रक्त में शर्करा तथा कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है। जोड़ों का कड़ापन कम करता है।

 प्राकृतिक रेचक गुण होने से पेट साफ रखता है। हृदय संबंधी रोगों के खतरे को कम करता है। उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करता है। त्वचा को स्वस्थ रखता है एवं सूखापन दूर कर एग्जिमा आदि से बचाता है। बालों व नाखून की वृद्धि कर उन्हें स्वस्थ व चमकदार बनाता है। इसका नियमित सेवन रजोनिवृत्ति संबंधी परेशानियों से राहत प्रदान करता है।

 मासिक धर्म के दौरान ऐंठन को कम कर गर्भाशय को स्वस्थ रखता है। अलसी का सेवन त्वचा पर बढ़ती उम्र के असर को कम करता है। अलसी का सेवन भोजन के पहले या भोजन के साथ करने से पेट भरने का एहसास होकर भूख कम लगती है। प्राकृतिक रेचक गुण होने से पेट साफ रख कब्ज से मुक्ति दिलाता है।
अलसी कैसे काम करती है

अलसी आधुनिक युग में स्त्रियों की यौन-इच्छा, कामोत्तेजना, चरम-आनंद विकार, बांझपन, गर्भपात, दुग्धअल्पता की महान औषधि है। स्त्रियों की सभी लैंगिक समस्याओं के सारे उपचारों से सर्वश्रेष्ठ और सुरक्षित है अलसी। (व्हाई वी लव और ऐनाटॉमी ऑफ लव) की महान लेखिका, शोधकर्ता और चिंतक हेलन फिशर भी अलसी को प्रेम, काम-पिपासा और लैंगिक संसर्ग के लिए आवश्यक सभी रसायनों जैसे डोपामीन, नाइट्रिक ऑक्साइड, नोरइपिनेफ्रीन, ऑक्सिटोसिन, सीरोटोनिन, टेस्टोस्टिरोन और फेरोमोन्स का प्रमुख घटक मानती है।

सबसे पहले तो अलसी आप और आपके जीवनसाथी की त्वचा को आकर्षक, कोमल, नम, बेदाग व गोरा बनायेगी। आपके केश काले, घने, मजबूत, चमकदार और रेशमी हो जायेंगे। अलसी आपकी देह को ऊर्जावान और मांसल बना देगी। शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी गहेगी, न क्रोध आयेगा और न कभी थकावट होगी। मन शांत, सकारात्मक और दिव्य हो जायेगा।

 अलसी में ओमेगा-3 फैट, आर्जिनीन, लिगनेन, सेलेनियम, जिंक और मेगनीशियम होते हैं जो स्त्री हार्मोन्स, टेस्टोस्टिरोन और फेरोमोन्स (आकर्षण के हार्मोन) के निर्माण के मूलभूत घटक हैं। टेस्टोस्टिरोन आपकी कामेच्छा को चरम स्तर पर रखता है।

अलसी में विद्यमान ओमेगा-3 फैट और लिगनेन जननेन्द्रियों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती हैं, जिससे कामोत्तेजना बढ़ती है। इसके अलावा ये शिथिल पड़ी क्षतिग्रस्त नाड़ियों का कायाकल्प करती हैं जिससे मस्तिष्क और जननेन्द्रियों के बीच सूचनाओं एवं संवेदनाओं का प्रवाह दुरुस्त हो जाता है। नाड़ियों को स्वस्थ रखने में अलसी में विद्यमान लेसीथिन, विटामिन बी ग्रुप, बीटा केरोटीन, फोलेट, कॉपर आदि की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

 इस तरह आपने देखा कि अलसी के सेवन से कैसे प्रेम और यौवन की रासलीला सजती है, दिव्य सम्भोग का दौर चलता है, देह के सारे चक्र खुल जाते हैं, पूरे शरीर में दैविक ऊर्जा का प्रवाह होता है और सम्भोग एक यांत्रिक क्रीड़ा न रह कर शिव और उमा की रति-क्रीड़ा का उत्सव बन जाता है, समाधि का रूप बन जाता है।

रिसर्च और वैज्ञानिक आयुर्वेद और घरेलू नुस्खों के रहस्य को जानने और मानने लगे हैं। अलसी के बीज के चमत्कारों का हाल ही में खुलासा हुआ है कि इनमें 27 प्रकार के कैंसररोधी तत्व खोजे जा चुके हैं। अलसी में पाए जाने वाले ये तत्व कैंसररोधी हार्मोन्स को प्रभावी बनाते हैं, विशेषकर पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर व महिलाओं में स्तन कैंसर की रोकथाम में अलसी का सेवन कारगर है। 

दूसरा महत्वपूर्ण खुलासा यह है कि अलसी के बीज सेवन से महिलाओं में सेक्स करने की इच्छा तीव्रतर होती है। यह गनोरिया, नेफ्राइटिस, अस्थमा, सिस्टाइटिस, कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह, कब्ज, बवासीर, एक्जिमा के उपचार में उपयोगी है।

सेवन का तरीका
अलसी को धीमी आँच पर हल्का भून लें। फिर मिक्सर में पीस कर किसी एयर टाइट डिब्बे में भरकर रख लें। रोज सुबह-शाम एक-एक चम्मच पावडर पानी के साथ लें। इसे अधिक मात्रा में पीस कर नहीं रखना चाहिए, क्योंकि यह खराब होने लगती है। इसलिए थोड़ा-थोड़ा ही पीस कर रखें। अलसी सेवन के दौरान पानी खूब पीना चाहिए। इसमें फायबर अधिक होता है, जो पानी ज्यादा माँगता है।

हमें प्रतिदिन 30 – 60 ग्राम अलसी का सेवन करना चाहिये, 30 ग्राम आदर्श मात्रा है। अलसी को रोज मिक्सी के ड्राई ग्राइंडर में पीसकर आटे में मिलाकर रोटी, पराँठा आदि बनाकर खाना चाहिये. डायबिटीज के रोगी सुबह शाम अलसी की रोटी खायें।

कैंसर में बुडविग आहार-विहार की पालना पूरी श्रद्धा और पूर्णता से करना चाहिये। इससे ब्रेड, केक, कुकीज, आइसक्रीम, चटनियाँ, लड्डू आदि स्वादिष्ट व्यंजन भी बनाये जाते हैं।
अलसी के तेल और चूने के पानी का इमल्सन आग से जलने के घाव पर लगाने से घाव बिगड़ता नहीं और जल्दी भरता है।

पथरी, सुजाक एवं पेशाब की जलन में अलसी का फांट पीने से रोग में लाभ मिलता है। अलसी के कोल्हू से दबाकर निकाले गए (कोल्ड प्रोसेस्ड) तेल को फ्रिज में एयर टाइट बोतल में रखें। स्नायु रोगों, कमर एवं घुटनों के दर्द में यह तेल पंद्रह मि.ली. मात्रा में सुबह-शाम पीने से काफी लाभ मिलेगा।

अलसी के लाभ
आपका हर्बल चिकित्सक आपकी सारी सेक्स सम्बंधी समस्याएं अलसी खिला कर ही दुरुस्त कर देगा क्योंकि अलसी आधुनिक युग में स्तंभनदोष के साथ साथ शीघ्रस्खलन, दुर्बल कामेच्छा, बांझपन, गर्भपात, दुग्धअल्पता की भी महान औषधि है। सेक्स संबन्धी समस्याओं के अन्य सभी उपचारों से सर्वश्रेष्ठ और सुरक्षित है अलसी। बस 30 ग्राम रोज लेनी है।

सबसे पहले तो अलसी आप और आपके जीवनसाथी की त्वचा को आकर्षक, कोमल, नम, बेदाग व गोरा बनायेगी। आपके केश काले, घने, मजबूत, चमकदार और रेशमी हो जायेंगे।
अलसी में ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर और कोलोन कैंसर से बचाने का गुण पाया जाता है। इसमें पाया जाने वाला लिगनन कैंसर से बचाता है। यह हार्मोन के प्रति संवेदनशील होता है और ब्रेस्ट कैंसर के ड्रग टामॉक्सीफेन पर असर नहीं डालता है।

अलसी आपकी देह को ऊर्जावान, बलवान और मांसल बना देगी। शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी गहेगी, न क्रोध आयेगा और न कभी थकावट होगी। मन शांत, सकारात्मक और दिव्य हो जायेगा।

अलसी में विद्यमान ओमेगा-3 फैट, जिंक और मेगनीशियम आपके शरीर में पर्याप्त टेस्टोस्टिरोन हार्मोन और उत्कृष्ट श्रेणी के फेरोमोन (आकर्षण के हार्मोन) स्रावित होंगे। टेस्टोस्टिरोन से आपकी कामेच्छा चरम स्तर पर होगी। आपके साथी से आपका प्रेम, अनुराग और परस्पर आकर्षण बढ़ेगा। आपका मनभावन व्यक्तित्व, मादक मुस्कान और शटबंध उदर देख कर आपके साथी की कामाग्नि भी भड़क उठेगी।

अलसी में विद्यमान ओमेगा-3 फैट, आर्जिनीन एवं लिगनेन जननेन्द्रियों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती हैं, जिससे शक्तिशाली स्तंभन तो होता ही है साथ ही उत्कृष्ट और गतिशील शुक्राणुओं का निर्माण होता है। इसके अलावा ये शिथिल पड़ी क्षतिग्रस्त नाड़ियों का कायाकल्प करते हैं जिससे सूचनाओं एवं संवेदनाओं का प्रवाह दुरुस्त हो जाता है।

 नाड़ियों को स्वस्थ रखने में अलसी में विद्यमान लेसीथिन, विटामिन बी ग्रुप, बीटा केरोटीन, फोलेट, कॉपर आदि की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ओमेगा-3 फैट के अलावा सेलेनियम और जिंक प्रोस्टेट के रखरखाव, स्खलन पर नियंत्रण, टेस्टोस्टिरोन और शुक्राणुओं के निर्माण के लिए बहुत आवश्यक हैं। कुछ वैज्ञानिकों के मतानुसार अलसी लिंग की लंबाई और मोटाई भी बढ़ाती है।

अलसी बांझपन, पुरूषहीनता, शीघ्रस्खलन व स्थम्भन दोष में बहुत लाभदायक है।
पुरूष को कामदेव तो स्त्रियों को रति बनाती है अलसी। अलसी बांझपन, पुरूषहीनता, शीघ्रस्खलन व स्थम्भन दोष में बहुत लाभदायक है। 

अर्थात स्त्री-पुरुष की समस्त लैंगिक समस्याओं का एक-सूत्रीय समाधान है।इस तरह आपने देखा कि अलसी के सेवन से कैसे प्रेम और यौवन की रासलीला सजती है, जबर्दस्त अश्वतुल्य स्तंभन होता है, जब तक मन न भरे सम्भोग का दौर चलता है, देह के सारे चक्र खुल जाते हैं, पूरे शरीर में दैविक ऊर्जा का प्रवाह होता है और सम्भोग एक यांत्रिक क्रीड़ा न रह कर एक आध्यात्मिक उत्सव बन जाता है, समाधि का रूप बन जाता है।

तेल तड़का छोड़ कर, नित घूमन को जाय।
मधुमेह का नाश हो, जो जन अलसी खाय।।
नित भोजन के संग में, मुट्ठी अलसी खाय।
अपच मिटे, भोजन पचे, कब्जियत मिट जाये।।
घी खाये मांस बढ़े, अलसी खाये खोपड़ी।
दूध पिये शक्ति बढ़े, भुला दे सबकी हेकड़ी।।
धातुवर्धक, बल-कारक, जो प्रिय पूछो मोय।
अलसी समान त्रिलोक में, और न औषध कोय।।
जो नित अलसी खात है, प्रात पियत है पानी।
कबहुं न मिलिहैं वैद्यराज से, कबहुँ न जाई जवानी।।
अलसी तोला तीन जो, दूध मिला कर खाय।
रक्त धातु दोनों बढ़े, नामर्दी मिट जाय।।

7 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Meri wife ko periods ek din ka ata he kya karu kuch solution bataye or kafi time ho gaya.

DNB (Obstetrics and Gynecology), PGDHHM, MBBS
Gynaecologist, Delhi
Meri wife ko periods ek din ka ata he kya karu kuch solution bataye or kafi time ho gaya.
Menstrual irregularities can be caused by a variety of conditions, including pregnancy, hormonal imbalances, infections, malignancies, diseases, trauma, and certain medications. Polycystic ovarian syndrome also leads to irregular ovulation and an irregular menstrual cycle. Seeing a doctor in person really is the most important thing you can do to get your menstrual cycle regular again! and, the standard health advice always applies: to balance your hormones and regulate your menstrual cycle, get regular exercise (but do not exercise excessively), eat a healthy diet, get the sleep your body needs, and deal with stress in healthy ways. And, if you are taking prescription medication, find out if it affects your hormones (which affects your period).
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I had sex yesterday. I used condom with her and after 3 hours I gave her unwanted 72 and after 6 hours she got nausea and fever and her body is achening and she is urinating in 30min gap. Help me out fast. What to do.

Minimal invasive surgery in gynaecology, MD - Obstetrtics & Gynaecology, DNB, MBBS
Gynaecologist, Mumbai
I had sex yesterday. I used condom with her and after 3 hours I gave her unwanted 72 and after 6 hours she got nausea...
Unwanted 72 is high dose of hormone. May cause symptoms like nausea. But high frequency of urine may be due to urinary infection. Let her do a urine routine test.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

If girl is pregnant first time. But husband is not with her, means can she give birth child easily or she must do operation for DAT.

MD - Obstetrtics & Gynaecology, MBBS
Gynaecologist,
If girl is pregnant first time. But husband is not with her, means can she give birth child easily or she must do ope...
Delivery of a baby is dependent on the woman who is pregnant and her baby and whether the labor pains happen properly. Presence of the husband plays no role in the mode of delivery. Usually the pregnant patient is either at her mother's place or at her husband's place when she goes in labor, so some body or the other in the family is there to accompany the pregnant lady to the hospital.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

What should I do to get rid of menstrual pain? Suggest some home remedy to comfort it. Please.

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
What should I do to get rid of menstrual pain? Suggest some home remedy to comfort it. Please.
Hello, you may use hot water fomentation for 15 min each thrice a day to soothe the pain during menses. No other home remedy is effective.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My Mom is 53 yrs. Old. Recently done right mastectomy. - PT2N0, Margins Free - 0/23 Nodes, HPE - IDC - Grade 3 (3*2.5*2 cm) Tumor Size in breast, Ki67 - >60%, ER/PR -+ ve, Her 2 - 2+ - Equivocal, She underwent CABG surgery 3 years ago. Here my local oncologist suggested to proceed with T.Tamoxifen 20 mg - 1 Tab. Each day for 2 years. Request the second opinion from the medical oncologist.

Membership of the Royal College of Surgeons (MRCS), MS - General Surgery, MBBS
General Surgeon, Mohali
Correct treatment being given. Your mother should do well as we are having good results these days for breast cancer.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hi doctor, is taking soy milk prior to ivf increases success rate? I have read mixed reviews. please help. I am 40 yrs old female going for an ivf. Which are other food items that are going to help me?

MBBS
General Physician, Faridabad
take protein diet, green vegetable diet, dal, paneer, cheese, fruits, eggs etc, it will help you, welcome for further help. take cap autrin 1 cap od
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Mera monthly periods 1.5 month se nahi aa raha ha. Mujhe bhut weakness mahsush ho rahi hai. Mera homoglobin 9.8 hai. Meri age 30 years hai. Please mujhe koi dawa, tonic bataiye jisse mere sarir kamjori dur ho jaye. Mujhe gas ki bhi problom hai.?

Advanced Aesthetics
Ayurveda, Gulbarga
Mera monthly periods 1.5 month se nahi aa raha ha. Mujhe bhut weakness mahsush ho rahi hai. Mera homoglobin 9.8 hai. ...
Such as eating disorders, significant weight loss or gain, anemia, menopause, thyroid disorders, hormonal imbalance, liver disease, tuberculosis, irritable bowel syndrome, diabetes, recent birth or miscarriage, polycystic ovarian syndrome, uterine abnormalities, and other health conditions. Lifestyle triggers like increased exercise, smoking, alcohol abuse, caffeine, travel, stress, and certain medications and birth control pills can also contribute to this problem. Treatment home remedies aloe vera aloe vera helps treat menstrual irregularities naturally by regulating your hormones. 1. Extract fresh aloe vera gel from an aloe leaf. 2. Mix in one teaspoon of honey. 3. Consume it daily before having your breakfast. 4. Follow this remedy for about three months. Note: do not use this remedy during your periods turmeric being a warming herb, turmeric is also considered helpful in regulating menstruation and balancing hormones. Its emmenagogue properties help stimulate menstrual flow. Moreover, its antispasmodic and anti-inflammatory properties relieve menstrual pain consume one-quarter teaspoon of turmeric with milk, honey or jaggery. Take it daily for several weeks or until you see improvement you can also take turmeric in supplement form; consult your doctor for proper dosage a combination of dried mint and honey serves as a good ayurvedic remedy for irregular menstrual periods. It also helps ease menstrual cramps. 1. Simply consume one teaspoon of dried mint powder mixed with one teaspoon of honey. Repeat three times a day for several weeks for treatment consult privately any queries inform me.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

How much time take after sex to show the symptoms of pregnancy? And whats symptoms?

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
How much time take after sex to show the symptoms of pregnancy? And whats symptoms?
Hello, symptoms of pregnancy can be seen after 15 days post sex if you have conceived with nausea, headache, vomiting, mood swings, sore brest, constipation and mild lower abdominal pain.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

If she have sex with her boyfriend with condom. Is it safe? And if by chance the condom gets torn then what should be done?

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
If she have sex with her boyfriend with condom. Is it safe? And if by chance the condom gets torn then what should be...
Hello, condom is usually safe but if get torn and you are in your fertile period then you must opt for an emergency contraceptive within next 72 hrs.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am 43 years old female. I have a 25 days period cycle. My periods have always been regular. I had got my period on 7 th march. I had to take prednisolone 1mg once a day for a week from 19th - 25th march (as prescribed by my doctor) for severe rash on my skin. After that I got my period on 27th march. I haven't got my period after that. Pregnancy test is negative. Can you please advise. Thanks.

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Bundi
If its not onset of menopause, it could be because of other simple reasons too like anaemia, nutritional or harmonal reasons. Please take raj pravartini vati 2 tds for 5 days and then 2 bd. If m. C. Starts stop it. Otherwise may take for 2 weeks. Mandoor bhasm 10 gm + kapardika bhasm 10 gm + prawal pishti 5 gm + sitopaladi 100 gms = mix well and take 1tsp with honey thrice a day. Rodhrasav 10 ml + ashokarishta 10 ml + lohasav 10 ml+ 30 ml water after meals. Twice. Taruni kusumakar powder 1 tsp at night with warm water. Lot of leafy veg. Salads. Light food recommended. Walk 30 - 45 minutes daily. Have fun. Chill and enjoy. Report after a month. Cont other med even after m. C.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Her delivery date 23rd march 2016. And LMP Date 16.06. 2015. Now we consulting with gynaecology doctor in our nearest. Taking tablets too as suggested by doctors. Now she feels morning time white discharge like water (not smell and also we check weather it is curd like its not like that) what should she do for that please suggest.

MRCOG, MD -gynaecology, obstretition, MBBS
Gynaecologist, Ghaziabad
Her delivery date 23rd march 2016. And LMP Date 16.06. 2015. Now we consulting with gynaecology doctor in our nearest...
Your wife is near term. White discharge like water could mean that her water nag may have broken. This would mean labour. So go to your obstetrician immediately.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am 24 year old female. I am having some kind of skin abnormality near my vaginal and anal area .its not itchy or painful. Its kind of mushroom like (really small) skin growth .its all started 4 to 5 days ago. I am using a cream name lobate but it has no effect its growing day by day.

B.H.M.S
Homeopath, Patna
Stop all outer application. Wash with CALENDULA Q WITH COTTON THRICE DAILY. THUJA 1 M ONE DROP ONLY ONCE IN A MONTH. PLEASE REPORT IN 10 DAYS. THANKS FOR TAKING HELP FROM WWW.Lybrate.COM.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

When I had kissed my bf. He used his hands on my chest. My friends told me it may lead to loosening and bigger breasts. I already have sagging breasts. How can I lift them up naturally.

M Ch. Plastic Surgery, MS - General Surgery, MBBS
Cosmetic/Plastic Surgeon, Durg
When I had kissed my bf. He used his hands on my chest. My friends told me it may lead to loosening and bigger breast...
Breast ptosis is the term used for loose breasts. It happens either with ageing as the skin and fibres in body become loose or in very lean patients or with sudden weight loss. Mastopexy is the surgical option for loose breasts; in this the breast becomes firm and also is lifted from sagging. Giving proper shape to breast increases the aesthetic appearance of breasts. Wear a tighter bra - preferably sports bra
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback
Submit FeedbackFeedback

I am a mother. I have 2 month baby. I have a question that. What should I can eat in fruit? And should I can have cold things like ice cream n cold drinks?

MBBS
Sexologist, Panchkula
I am a mother. I have 2 month baby. I have a question that. What should I can eat in fruit? And should I can have col...
You are a mother of two months old baby. I advise you to eat apple, guava, oranges, pear, water melon, melon and mangoes in fruits. You can take ice creams or cold drinks occasionally like once a week.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed