Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Ashish Gulia

Orthopedist, Mumbai

0 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Ashish Gulia Orthopedist, Mumbai
0 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Reviews
Services
Feed

Personal Statement

Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences....more
Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences.
More about Dr. Ashish Gulia
Dr. Ashish Gulia is a popular Orthopedist in Mumbai, Mumbai. He is currently associated with Tata Memorial Hospital in Mumbai, Mumbai. Book an appointment online with Dr. Ashish Gulia and consult privately on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Orthopedists in India. You will find Orthopedists with more than 32 years of experience on Lybrate.com. Find the best Orthopedists online in Mumbai. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Ashish Gulia

Tata Memorial Hospital

#93,Ground Floor, Department of bone & soft tissue services,Tata Memorial Hospital, MumbaiMumbai Get Directions
...more

Tata Memorial Hospital

#93,Ground Floor, Department of bone & soft tissue services,Tata Memorial Hospital.Mumbai Get Directions
0 at clinic
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Ashish Gulia

Your feedback matters!
Write a Review

Reviews

Popular
All Reviews
View More
View All Reviews

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

घुटनों के दर्द का आयुर्वेदिक इलाज (Knee Pain - Home and Ayurvedic Treatment)

B.A.M.S, Diploma In Nutrition & Health Education (DNHE, PG Diploma In Hospital Managment
Ayurveda, Delhi
घुटनों के दर्द का आयुर्वेदिक इलाज (Knee Pain - Home and Ayurvedic Treatment)

घुटनों की पीडा ( Knee Pain) :-

हमने कई बार अपने बड़े बुजर्गो को घुटनों के दर्द से तडपते हुए देखा है | दिन रात दवाई खाने से भी उन्हें कोई आराम नही मिलता है चलने फिरने में बहुत परेशानी होती है और साथ ही घुटनों को मोड़ने में, उठने – बैठने में भी दिक्कत आती है | कभी कभी उन्हें इतना ज्यादा दर्द होता की वो ठीक ढंग से सो भी नहीं पाते और उनके घुटनों में सुजन तक भी आ जाती है | उम्र के साथ हड्डियों की बीमारी बढती जाती है |

शरीर के जोड़ों में सूजन उत्पन्न होने पर गठिया होता है या कहे कि जब जोड़ों में उपास्थि (कोमल हड्डी) भंग हो जाती है। शरीर के जोड़ ऐसे स्थल होते हैं जहां दो या दो से अधिक हड्डियाँ एकदूसरे से मिलती हैं जैसे कि कूल्हे या घुटने। उपास्थि जोड़ों में गद्दे की तरह होती है जो दबाव से उनकी रक्षा करती है और क्रियाकलाप को सहज बनाती है। जब किसी जोड़ में उपास्थि भंग हो जाती है तो आपकी हड्डियाँ एक दूसरे के साथ रगड़ खातीं हैं, इससे दर्द, सूजन और ऐंठन उत्पन्न होती है।

सबसे सामान्य तरह का गठिया हड्डी का गठिया होता है। इस तरह के गठिया में, लंबे समय से उपयोग में लाए जाने अथवा व्यक्ति की उम्र बढ़ने की स्थिति में जोड़ घिस जाते हैं जोड़ पर चोट लग जाने से भी इस प्रकार का गठिया हो जाता है। हड्डी का गठिया अक्सर घुटनों, कूल्हों और हाथों में होता है। जोड़ों में दर्द और स्थूलता शुरू हो जाती है। समय-समय पर जोड़ों के आसपास के ऊतकों में तनाव होता है और उससे दर्द बढ़ता है।

गठिया क्या होता है?

गठिया एक लंबे समय तक चलने वाली जोड़ों की स्थिति होती है जिससे आमतौर पर शरीर के भार को वहन करने वाले जोड़ जैसे घुटने, कूल्हे, रीढ़ की हड्डी तथा पैर प्रभावित होते हैं। इसके कारण जोड़ों में काफी अधिक दर्द, अकड़न होती है और जोड़ों की गतिविधि सीमित हो जाती है। समय के साथ साथ गठिया बदतर होता चला जाता है। यदि इसका उपचार नहीं किया जाता है, तो घुटनों के गठिया से व्यक्ति का जीवन काफी अधिक प्रभावित हो सकता है। गठिया से पीडि़त व्यक्ति अपनी रोजमर्रा की गतिविधियां करने में समर्थ नहीं हो पाते और यहां तक कि चलने-फिरने जैसा सरल काम भी मुश्किल लगता है। इस प्रकार के मामलों में, क्षतिग्रस्त घुटने को बदलने के लिए डॉक्टर सर्जरी कराने के लिए कह सकता है।

क्यों होता है गठिया

अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी और बढ़ते वजन की वजह से घुटनों का दर्द भारत जैसे देशों में एक बड़ी समस्या का रूप लेता जा रहा है। 40-45 की उम्र में ही घुटनों में दिक्कतें आने लगी हैं। सर्वेक्षण कहते हैं कि दुनिया में करीब 40 प्रतिशत लोग घुटनों में दर्द से परेशान हैं। इनमें से लगभग 70 प्रतिशत आर्थराइटिस जैसी बीमारियों से भी जूझ रहे हैं। इनमें से 80 फीसदी अपने घुटनों को आसानी से मोड़ तक नहीं सकते। घुटनों की खराबी के शिकार 25 फीसदी लोग अपने रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नहीं कर पाते हैं। भारत में यह समस्या काफी गंभीर है। घुटनों का दर्द काफी हद तक लाइफ स्टाइल की देन है। यदि लाइफ स्टाइल और खानपान को हेल्दी नहीं बनाया तो यह समस्या और भी गंभीर हो सकती है। घुटने पूरे शरीर का बोझ सहन करते हैं। इन्हें बचाने का तरीका हेल्दी लाइफ स्टाइल, एक्सरसाइज और हैल्दी खानपान है। खाने में कैल्शियम वाला भोजन सही मात्रा में लें, सब्जियाँ जरूर खायें, फैट और चीनी से परहेज करें और मोटापे का पास भी न फटकने दें।

क्या वजन कम करने से (घुटनों के दर्द) गठिया में लाभ मिलता है?

घुटनो के गठिया से पीडि़त व्यक्ति के लिए निर्धारित वजन से अधिक वजन होना या मोटापा घुटनों के जोड़ों के लिए हानिकारक हो सकता है। अतिरिक्त वजन से जोड़ों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, मांसपेशियों तथा उसके आसपास की कण्डराओं (टेन्डन्स) में खिंचाव होता है तथा इसके कार्टिलेज में टूट-फूट द्वारा यह स्थिति तेजी से बदतर होती चली जाती है। इसके अलावा, इससे दर्द बढ़ता है जिसके कारण प्रभावित व्यक्ति एक सक्रिय तथा स्वतंत्र जीवन जीने में असमर्थ हो जाता है।

यह देखा गया है कि मोटे लोगों में वजन बढ़ने के साथ साथ जोड़ों (विशेष रूपसे वजन को वहन करने वाले जोड़) का गठिया विकसित करने का जोखिम बढ़ जाता है। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि मोटे लोगों को या तो अपने वजन को नियंत्रित करने अथवा उसे कम करने केलिए उचित कदम उठाने चाहिए।

गठिया से पीडि़त मोटापे/अधिक वजन से पीडि़त लोगों में वजन में 1 पाउंड (0.45 किलोग्राम) की कमी से, घुटने पर पड़ने वाले वजन में 4 गुणा कमी होती है। इस प्रकार वजन में कमी करने से जोड़ पर खिंचाव को कम करने, पीड़ा को हरने तथा गठिया की स्थिति के आगे बढ़ने में देरी करने में सहायता मिलती है।

घुटनों के दर्द के कई कारण हो सकते है  ( Cause of Knee Pain )

  • अधिक वजन होना,
  • कब्ज होना,
  • खाना जल्दी-जल्दी खाने की आदत,
  • फास्ट-फ़ूड का अधिक सेवन,
  • तली हुई चीजें खाना,
  • कम मात्रा में पानी पीना,
  • शरीर में कैल्सियम की कमी होना।

घुटनो में दर्द  के बचाव के कुछ आसान तरीके । (Home treatment for knee pain)

  • खाने के एक ग्रास को कम से कम 32 बार चबाकर खाएं। इस साधरण से प्रतीत होने वाले प्रयोग से कुछ ही दिनों में घुटनों में साइनोबियल फ्रलूड बनने लग जाती है।
  • पूरे दिन भर में कम से कम 12 गिलास तक पानी अवश्य पिए। ध्यान दीजिए, कम मात्रा में पानी पीने से भी घुटनों में दर्द बढ़ जाता है।
  • भोजन के साथ अंकुरित मेथी का सेवन करें।
  • बीस ग्राम ग्वारपाठे अर्थात् एलोवेरा के ताजा गूदे को खूब चबा-चबाकर खाएं साथ में 1-2 काली मिर्च एवं थोड़ा सा काला नमक तथा ऊपर से पानी पी लें। यह प्रयेाग खाली पेट करें। इस प्रयोग के द्वारा घुटनों में यदि साइनोबियल फ्रलूड भी कम हो गई हो तो बनने लग जाती है।
  • चार कच्ची-भिंडी सवेरे पानी के साथ खाएं। दिन भर में तीन अखरोट अवश्य खाएं। इससे भी साइनोबियल फ्रलूड बनने लगती है। अनुभूत प्रयोग है।
  • एक्यूप्रेशर-रिंग को दिन में तीन बार, तीन मिनट तक अनामिका एवं मध्यमा अंगुलि में एक्यूप्रेशर करें।
  • प्रतिदिन कम से कम 2-3 किलोमीटर तक पैदल चलें।
  • दिन में दस मिनट आंखें बंद कर, लेटकर घुटने के दर्द का ध्यान करें। नियमित रूप से अनुलोम-विलोम एवं कपालभाति प्राणायाम का अभ्यास करें। अनुलोम-विलोम धीरे-धीरे एवं कम से कम सौ बार अवश्य करें। इससे लाभ जल्दी होने लगता है।

 

हल्दी चुने का लेप (Lime and turmeric paste)

  1. हल्दी और चुना दर्द को दूर करने में अधिक लाभदायक साबित होते है ।
  2. हल्दी और चुना को मिलकर सरसो के तेल में थोड़ी देर तक गरम करे फिर उस लेप को घुटने में लगाकर रखे ।
  3. कुछ समय बाद दर्द मेा आराम मिलेगा
  4. इस प्रक्रिया को दिन मेा दो बार करे ।

हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk) :-

एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी के पावडर को मिलाकर सुबह शाम काम से काम दो बार पीए
यह एक प्राकृतिक दर्द निवारक का काम करता है

नेचुरल ट्रीटमेंट ( Natural treatment):-

विटामिन डी (vitamin D )का सबसे अच्छा स्रोत सूरज से उत्पन धुप ( sun light) है , जिससे आपको नेचुरल विटामिन डी (vitamin D ) मिलती है  जो हड्डी (bones)के लिए अधिक लाभदायक है

आयुर्वेद के अनुसार में बनाई गयी औषधियां ( Natural Medicine made in Ayurveda)

  • अमृता सत्व,
  • गोदंती भस्म,
  • प्रवाल पिष्टी,
  • स्वर्ण माक्षिक भस्म,
  • महावत विध्वंसन रस,
  • वृहद वातचितामणि रस,
  • एकांगवीर रस,
  • महायोगराज गुग्गुल,
  • चंद्रप्रभावटी,
  • पुनर्नवा मंडुर

इत्यादि औषधियों का सेवन  आयुर्वेदिक डॉक्टर  के परामर्श से करे। औषधियों के सेवन से  बिना किसी साइडइपैफक्ट के अधिक लाभ मिलता है।

दर्द के दौरान क्या न खाये। (Donot eat during Pain)

  • अचार,
  • चाय तथा रात के समय हलका व सुपाच्य आहार लें।
  • रात के समय चना, भिंडी, अरबी, आलू, खीरा, मूली, दही राजमा इत्यादि का सेवन भूलकर भी नहीं करें
7 people found this helpful

Hi sir mere right ki elbow se niche ki ek bone me fracture ho gya tha, ek month phle operation hua aur usme plate dali hai Dr. Ne, sir plate se koi problem to nhi hogi na? kya mera hand phle ki trah bilkul shi ho jayega? koi kami to nhi rhegi mere hand me? sir operation me jo taanke aaye hai unke nisaan bhi khtm ho jayenge kya?

Diploma In Orthopaedics (D. Ortho)
Orthopedist, Amravati
Hello . Aap chinta mat kijiye. Plate se koi problem nahi hota hai. Ek bar haddi jud jaye to plate nikal bhii sakte. Agar aapko detail information chahiye to mujhe aapka xray dekhne do to mai aapko achhese sab bata saku.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Can one play football again after the replacement of ACL. I had ACL surgery in January 2016. If yes, then what are the various exercises done for proper movement of knee.

MS - Orthopaedics, MBBS
Orthopedist, Hyderabad
Can one play football again after the replacement of ACL. I had ACL surgery in January 2016. If yes, then what are th...
You can return to sport after acl reconstruction. You need to do undergo vigorous physiotherapy rehabilitation program if you are a professional sportsmen. Its better to avoid contact sports for 1years.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I' m 56 years old male I am having knee pain since last 3 years kindly suggest any pain killers. Thankyou.

International Academy of Classical Homeopathy, BHMS
Homeopath, Pune
How many times u r going take painkillers and destroy kidney. Actually according to classical homeopathy we need proper case taking. Bcoz since 3 yrs u are suffering. U can try rhus. Tox. 200 twice for 4 days. Thanks.
Submit FeedbackFeedback

I am 35 years old and I have problems in joint as well as back ache. Give me proper suggestions.

MBBS, MS - Orthopaedics
Orthopedist, Delhi
I am 35 years old and I have problems in joint as well as back ache. Give me proper suggestions.
Sleep on a hard bed with soft bedding on it. Spring beds, folding beds or thick matress are harmful use no pillow under the head. Do hot fomantation. Paracetamol 250mg od & sos x 5days. Caldikind plus 1tab od x10. Do neck, back & general exercises. It may have to be further investigated. You will need other supportive medicines also. Make sure you are not allergic to any of the medicines you are going to take. If it does not give relief in 4-5days, contact me again. Do not ignore. It could be beginning of a serious problem.
Submit FeedbackFeedback

I am suffering from a saviour neck pain. It pains a lot What to do to get a relief from pain.

BHMS
Homeopath, Howrah
Exercise is the main way to reduce neck pain, avoid sitting for long time with neck bended. Apply volini gel.
Submit FeedbackFeedback

Hi. My father facing problem tb ocr past 9 months . he is getting to much l of leg pain I can't say that pain my word's and open heart surgery also done he is taking daily 6 tablet paletex. Give me best suggestions for my father.

Dip. SICOT (Belgium), MNAMS, DNB (Orthopedics), MBBS
Orthopedist, Delhi
Hi thanks for your query and welcome to lybrate. I am Dr. Akshay from fortis hospital, new delhi. I am actually not able to understand your father's problem, is he suffering from tuberculosis for which he is taking medicines? and you have mentioned he is suffering from leg pain only, is there any back pain as weel? are there any s/s of neurological involvement like weakness, numbness, paresthesias, etc also in lower limbs? have you got any investigations done for him, if yes, please send me the reprots so that I can see and advise accordingly. Do not hesitate to contact me if you need any further assistance.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I feel back pain when I continuously sitting more than 7-8 hours, and also face problem of constipation regularly, what can i do?

MBBS, MD - Internal Medicine
Internal Medicine Specialist, Faridabad
I feel back pain when I continuously sitting more than 7-8 hours, and also face problem of constipation regularly, wh...
You should go for tests stool r/m, stool c/s, Lft . blood sugar , Examination of the rectum and lower, or sigmoid, colon (sigmoidoscopy).Examination of the rectum and entire colon (colonoscopy). An X-ray of the rectum during defecation (defecography). Avoid smoking/alcohol if you take. Eat green veg. More fiber foods. Avoid fatty foods,junk foos,oily meal,avoid stress,non-veg.,. drink plenty of water.take digestive meal ,salaad,green veg,whole grain foods,oats.go for walk. You can take tab. Charcol at night. Syp. Aristozyme 10 ml thrice a day.syp. Livoluk 10 ml at night. These can help cure in constipation.
Submit FeedbackFeedback

I am 72 yrs. Male I am having severe pain on right side thy joint near pelvis when I walk or stand. Pain subsides or disappear when I sleep or sit. I have tried hot n cold ice packs bag but no effect. I tried index n magnesium spray but no effect please help me out. Is it because I of prostate or spinal cord. I am having back pain on waist.

MPT, BPT
Physiotherapist, Noida
I am 72 yrs. Male I am having severe pain on right side thy joint near pelvis when I walk or stand. Pain subsides or ...
Contrast bath- Fill two buckets/ tubs with Very Hot Water and Very Cold water. Immerse your legs into the water for 3 minutes and then switch to cold water for 1minute. Repeat this 3 times once a day.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

88%
(64 ratings)

Dr. Kunal Shah

MBBS, MS - Orthopaedics, Spine Fellowship
Orthopedist
Roshan Multispeciality Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
91%
(122 ratings)

Dr. Hardeek N Ghundiyal

Fellowship in Knee Replacement, D.N.B. (Orthopaedics) , MBBS
Orthopedist
Parakh Hospital, 
200 at clinic
Book Appointment
90%
(15 ratings)

Dr. Rakesh G. Nair Nair

DNB (Orthopedics), Diploma in Orthopaedics, MBBS
Orthopedist
Zen Multi Speciality Hospital - Chembur, 
1000 at clinic
Book Appointment
86%
(10 ratings)

Dr. Neeraj R Bijlani

MBBS, Diploma In Orthopaedics, FCPS - Orthopedic
Orthopedist
Ortho Tech Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment
87%
(27 ratings)

Dr. Chirag Dalal

MS - Orthopaedics
Orthopedist
Asha Polyclinic & Sheetal Nursing Home, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Shaival Chauhan

DNB, Diploma In Orthopaedics (D. Ortho), MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, Feloship In Joint Replacement
Orthopedist
Sharan Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment