Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. D

Ayurveda, Mahasamund

2 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. D Ayurveda, Mahasamund
2 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning....more
I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning.
More about Dr. D
Book an appointment online with Dr. D and consult privately on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Ayurvedas in India. You will find Ayurvedas with more than 30 years of experience on Lybrate.com. Find the best Ayurvedas online in Mahasamund. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. D

dhannunull

mahashmundMahasamund Get Directions
2 at clinic
...more
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. D

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I am a 18 years male. But I have tooth problems. When I am brush mouth has been bleeding. What should I do.

MDS - Periodontics
Dentist, Thane
I am a 18 years male. But I have tooth problems. When I am brush mouth has been bleeding. What should I do.
Mr. Lybrate-user, you should immediately consult your nearest dentist and get it checked. Bleeding from mouth (gums) when you brush is a common sign of periodontitis also known as pyorrhoea. Ideally you should get a professional cleaning done from a gum specialist (periodontist) which should help you in reducing the bleeding.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

With the increasing age the gastric problem is also hamper my daily life though its my genetic prob also. So tell me some solution to overcome this problem and decrease unwanted fat. Thank you.

Certificate in Basic Course on Diabetes Management, CCEBDM Certificate in Diabetes, MBBS
General Physician, Pune
With the increasing age the gastric problem is also hamper my daily life though its my genetic prob also. So tell me ...
No details of Gastric problem. Presuming it is acidity Regular. timely simple food. Not spicy or fried items. No tobacco and alcohol. Relaxing tehniques and life style changes. Any anti acidity medication prescribed by your doctor to be taken for about 4 weeks. If no relief, see Consulting Physician or Gastro enterologist for clinical examination, investigations as necessary, diagnosis and advice. To reduce unwanted fat aim at 70 Kg Maximum. Avoid sugars, fried items. Overeating, junk food frequent intake. Reduce calorie intake by 300 cal daily by consulting a Dietitian,.To burn more calories regular exercise like walking, running, cycling, sports etc.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

जानें पुदीना के अचूक फायदे

DHMS (Diploma in Homeopathic Medicine and Surgery)
Homeopath, Delhi
जानें पुदीना के अचूक फायदे

हम सभी जानते है कि गर्मियों के दिनों में खुशबूदार पुदीने कई सारे फायदे होते हैं।

सबसे पहला फायदा इसमें पाये जाने वाला औषधी गुण है। खाने में स्वादिष्ट पुदीना को अंग्रेजी में मिंट (Mint) कहते हैं। खाने के साथ अगर इसे जोड़ लिया जाये तो आपके खाने के स्वाद में चार चांद लगा देता है।

पुदीना लंबे समय से खाने के साथ इस्तेमाल होता आ रहा है। सभी प्रकार की ज़डी बुटियों में हरा व फ्रेश पुदीना सबसे कारगर होता है।

अगर किसी भी जूस के साथ इसे मिला लिया जाये तो ये आपको तरोताजा कर देता है।

 

पुदीना के औषधी गुण को लोग बहुत पहले से जानते हैं इसीलिये पुराने जमाने में भी कई प्रकार की बीमारियों में इसका इस्तेमाल किया जाता था। सीने और पेट के दर्द के लिये तो पुदीना रामबाण औषधी है। इसके अलावा कई लोग इसे दांतों को सफेद व चमकीले करने के लिये भी इस्तेमाल करते थे।

पाचन शक्ति में वृद्धि – पुदीना पाचन शक्ति को बढ़ाकर, पाचन क्रिया को दुरस्त कर भूख बढ़ाने में सहायक होता है। पुदीने की खुशबू मुंह में सलाइवा और पाचन एन्जाइम को ज्यादा बनाती है। जिससे पाचन क्रिया में तेजी से सुधार आता है।

अपने शरीर को रखें ठण्डा – पुदीना ठण्डा होता है। इसे खाने से शरीर के तापमान में कमी आती है और हम ठण्डा महसूस करते हैं।

अस्थमा से राहत – कई वैज्ञानिकों से शोध में पाया कि पुदीने के सेवन से अस्थमा दूर किया जा सकता है।

कैंसर से बचाव – कैंसर के मरीज को पुदीना जरूर खाना चाहिये इससे कैंसर से लड़ने की शक्ति मिलती है।

मुंहासों से छुटकारा –  चेहरे पर पुदीने का लेप लगाने से मुंह के मुहासों से छुटकारा मिलता है।

 

पुदीना के अन्य गुण व फायदे 

  • अगर आपके मुंह में बदबू आ रही है तो पुदीने की पत्तियों को रोज़ाना चबाने और पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह की बदबू तुरन्त दूर हो जाती है। इस तरह ये माउथफ्रेशनर के जैसे काम करता है।
  • किसी चोट या घाव पर पुदीने का लेप लगाने से घाव जल्दी ही ठीक हो जाता है।
  • गर्मी में लू लगने पर पुदीने के रस को प्याज के रस के साथ मिलाकर पिलाने से जल्दी आराम मिलता है।
  • पुदीना, प्याज का रस, नींबू का रस बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर पिलाने हैजा होने पर बहुत फायदा करता है।
  • यदि किसी को उल्टी हो रही है तो पुदीने का रस हर दो घण्टे में पिलाने से रोगी को आराम मिलता है।
  • पेटदर्द होने पर पुदीने को जीरा, हींग, काली मिर्च में नमक मिलाकर पीने से दर्द जल्दी ही आराम मिल जाता है।
  • महिला को प्रसव के समय पुदीने का रस पीना चाहिए, इससे आसानी से प्रसव हो जाता है।
  • पुदीना की पत्तियों को पानी के साथ उबालकर चाय की तरह पीने से बुखार में आराम मिलता है।
  • यदि किसी को बहुत हिचकी आती तो पुदीना देने से तुरन्त लाभ मिलता है।
  • हरा पुदीना पीसकर तकरीबन 15 लगाने से चेहरे की थकावट दूर हो जाती है एवं निखार भी आता है।

हम SSOHM में चाहता है लोग समझ सके की अभी भी आपके शरीर को सफाई करने में देरी नहीं हुई है। हम केवल आपके शरीर को साफ ही नहीं बल्कि कई खतरनाक बीमारियों से भी बचाएंगे।

जिससे आप जीवन पर्यन्त निरोगी रह सकें।

11 people found this helpful

I am suffering from asthma. How can I treatment my disease and which medicine should I take ?

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Faridabad
Take 11 guava leaves, 11 black pepper, 1 cup milk and one cup water. Put all of them in pot and boil it well, when it reduced to one cup, drink in empty stomach. Take this daily for at least six months or a year. Boil cumin seeds in water and inhale the steam. It helps dilate the bronchial passage. Take 5 gm of ginger, black pepper, cardamom, clove, cinnamon, turmeric and 30 gm of sugar. Grind the mix to a powder. Take half to one teaspoonful and mix it nicely with honey. Take it twice a day.
Submit FeedbackFeedback

Mere ek problem h mere penis me white cream type jama hua rehta h aur khujli chalti rehti h me is problem se bohut pareshaan hu.

BHMS, OCRT KOLKATA
Homeopath, Asansol
Mere ek problem h mere penis me white cream type jama hua rehta h aur khujli chalti rehti h me is problem se bohut pa...
Yes there infection present you need complete treatment permanent solution come our clinic online for complete solution. For time being ANTIM CRUD 6 4 TIMES DAILY.
Submit FeedbackFeedback

Shankhpushpi (Convolvulus Pluricaulis) Benefits And Side Effects In Hindi - शंखपुष्पी के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Shankhpushpi (Convolvulus Pluricaulis) Benefits And Side Effects In Hindi - शंखपुष्पी के फायदे और नुकसान

जब भी एकाग्रता या दिमागी क्षमता बढ़ाने की बात आती है तब शंखपुष्पी के लाभ की बात की जाती है. वानस्पतिक नाम कोनोवुल्लुस प्लुरिकालिस वाली शंखपुष्पी के फुल, पत्ते, टहनी और जड़ सभी का प्रयोग हम औषधीय उपचारों के लिए करते हैं. 1-4 सेमी लम्बे पत्तियों वाले शंखपुष्पी के पौधे लगभाग 1 फुट ऊँचे होते हैं.लाल, नीला और सफ़ेद रंग वाले शंखपुष्पी में सबसे अच्छा सफ़ेद रंग के फूलों वाले शंखपुष्पी को माना जाता है. आइए शंखपुष्पी के फायदे और नुकसान को जानें.

1. एकाग्रता बढ़ाए
आजकल कई ऐसे कारण मौजूद हैं जिनसे हमारे अन्दर चिड़चिड़ापन आ जाता है. ऐसे में शंखपुष्पी आपको ध्यान एकाग्र करने में आपकी मदद करती है. इसके लिए आपको 250 मिग्रा शंखपुष्पी पाउडर, 500 मिग्रा ब्राह्मी, 125 मिग्रा मुक्ता भस्म और 30 मिग्रा अभ्रक भस्म को मिलाकर इसका सेवन करने से ध्यान में एकाग्रता आती है.
जब आप चिड़चिड़ापन के साथ आक्रामकता, पसीना और बेचैनी आदि भी महसूस कर रहे हैं तो इसके लिए 250 मिग्रा शंखपुष्पी पाउडर, मुक्ता भस्म, प्रवाल पिष्टी, गिलोय सत्व और 500 मिग्रा मुलेठी का ठीक से मिक्स किया हुआ मिश्रण दिन में दो बार दूध, पानी या शहद के साथ लें.
2. भूख बढ़ाए शंखपुष्पी
ये तब और ज्यादा प्रभावी होती है जब भावनात्मक विशेषताओं से एनोरेक्सिया नर्वोसा जिसे भूख की हनी भी कहते हैं, हो जाए. शंखपुष्पी में पाए जाने वाले भूख और पाचन के उत्तेजक गुण आपकी भूख की समस्या को ठीक करते हैं.
3. मेमोरी लॉस से बचाए
मेमोरी लॉस एक ऐसी बीमारी है जिसमें व्यक्ति के अंदर संज्ञानात्मक गड़बड़ीयां होने लगती है. जैसे कि मनोभ्रंश के कारण. इसमें मस्तिष्क की कोशोकाएं क्षति की ओर जाती हैं. यह मनोभ्रंश की स्थिति को सुधारने के के लिए तंत्रिका तंत्र की कोशिकाओं में सुधार करने के साथ ही ये प्रगतिशील डिमेंशिया में मदद करते हैं.
4. अतिसंवेदंशिलता से बचाए
250 मिग्रा शंखपुष्पी पाउडर, 125-125 मिग्रा मुक्त भस्म, प्रवाल पिष्टी, अभ्रक भस्म और 50 मिग्रा रजत भस्म का संयोजन हमें अतिसंवेदंशिलता की समस्या ने निजात दिलाता है.
5. गर्भपात को रोके
कई महिलाओं में गर्भाशय के संरचनाओं के कारण बार-बार गर्भपात की समस्या देखने को मिलती है. इसके लिए जरुरी है कि गर्भाशय को मजबूत करें ताकि अनचाहे गर्भपात को रोका जा सके. 1.5 ग्राम शंखपुष्पी और अश्वगंधा पाउडर 3 महिना तक लेने से गर्भपात रुकता है.
6. मानसिक थकान में राहत
आज के भागदौड़ भरी जिंदगी में मानसिक थकान का होना एक आम समस्या है. कई बार अधिक काम करने के कारण, पढ़ाई, कम्पूटर पर लगातार देर तक काम, याद रखने वाले काम इनसे भी मानसिक थकान का अनुभव होता है.
जाहिर है मासिक थकान का सीधा सम्बन्ध मस्तिष्क से है. ऐसे में मस्तिष्क को ज्यादा से ज्यादा उत्साहित करने की जरुरत होती है. और शंखपुष्पी ये काम बखूबी करता है. इसके लिए एक चम्मच शंखपुष्पी पाउडर को पानी के साथ दिन में दो बार लें.
7. तनाव से मुक्ति
तनाव से मुक्ति पाने के लिए कई लोग शंखपुष्पी का इस्तेमाल करते हैं. हलांकि मस्तिष्क के हार्मोन पर्वर्तनों पर शंखपुष्पी के प्रभाव का कारण अभी तक ज्ञात नहीं है. लेकिन शंखपुष्पी मस्तिष्क में डोपामाइन के स्तर को बढ़ाता है. इससे लोग अच्चा और सचेत महसूस करने लगते हैं.
8. सरदर्द में भी करे मदद
सरदर्द के कई कारण हैं. लम्बे समय तक पढ़ाई, मानसिक थकान, मानसिक कार्यभार, मानसिक तनाव आदि के कारण होने वाले सरदर्द में शंखपुष्पी से काफी राहत मिलती है. ये मस्तिष्क के परेशान नसों को शांत करके आपका हेडेक कम करती है.
9. खुद में खोए रहने से बचाए
व्यक्ति का आत्मकेंद्रित हो जाना भी एक बीमारी है. खासकरके बच्चों में ये समस्या ज्यादा देखने को मिलती है. इसे दूर करने के लिए 250 मिग्रा शंखपुष्पी पाउडर, 100-100 मिग्रा ब्राह्मी, अश्वगंधा और मंडूकपर्णी एवं 50-50 मिग्रा जटामांसी और मुक्त भस्म एवं 25 मिग्रा अदरक का भस्म मिलाकर पिने से लाभ मिलता है.

शंखपुष्पी के नुकसान
रक्त चाप की समस्या वाले लोगों को इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

1 person found this helpful

I always feel sleepy these days. Moreover I feel tired and exhausted. Is there anything to worry about?

BAMS, MD Ayurveda
Sexologist, Navi Mumbai
I always feel sleepy these days. Moreover I feel tired and exhausted.
Is there anything to worry about?
For you suggesting following remedy Natural home remedy using ashwagandha and milk: • Ashwagandha is a commonly available ayurvedic herb. It helps stimulate the immune system an counteracts the effects of stress. 1. Take 1 glass lukewarm milk 2. Add 1 tbsp ashwagandha powder 3. Mix well 4. Drink once daily This will surely help you.

My LMP is 15 aug 2015, EDD-22-05-16 Test conducted on 28-02-16, following results obtained: 1. Hb-11.8 g/dl 2. SGOT (AST)-87 U/L 3. SGPT (ALTI)-160 U/L 4. ALKALINE PHOSPHATASE-123 U/L 5. FBS-79 MG/DL 6. PPBS-154 MG/DL My weight is 60.4kg I m vegetarian. Whether everything is normal? If any specific advice, please let me know? I m trying to increase my weight but unable to increase it. Please suggest me how to increase my weight? My doctor advise me to ta.

Vaidya Visharad
Sexologist, Narnaul
My LMP is 15 aug 2015, EDD-22-05-16
Test conducted on 28-02-16, following results obtained:
1. Hb-11.8 g/dl
2. SGOT (...
Dandelion root:-though this herb is bitter, but it leads to incredible increase in weight. It stimulates digestion and enhances hunger pangs. Due to the presence of potassium, iron, zinc, vitamins c, d, a and b complex, pregnant women can also ingest this.

What is the best food for low bp. I have extremely low bp. And need to lose weight too.

M.Sc - Dietitics / Nutrition, Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS)
Dietitian/Nutritionist, Vadodara
What is the best food for low bp.
I have extremely low bp. And need to lose weight too.
Food source reach in sodium is preferable like tomato potato green veg curd milk. But diet for hypotention is different for person to person. It is depend on many factors like history, cause, medicines, life style etc. You need day to day diet plan.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have a burnt skin mark on my right hand (back of my palms/near knuckles) which was caused due to hot iron in my childhood. That mark is around 2 sq. Inches and it looks ugly. I want to get rid of that mark. Is it possible? How can I do it? Please advise medication. Thank you.

M.D. Consultant Pathologist, CCEBDM Diabetes, PGDS Sexology USA, CCMTD Thyroid, ACDMC Heart Disease, CCMH Hypertension, ECG
Sexologist, Sri Ganganagar
I have a burnt skin mark on my right hand (back of my palms/near knuckles) which was caused due to hot iron in my chi...
Use a coconut oil on the affected part and gently massage it .You can also use coconut oil with lemon this help in lighten the scar use tis 2-3 times a day.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed