Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Srinivasan

BPT

Physiotherapist, madurai

21 Years Experience
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Srinivasan BPT Physiotherapist, madurai
21 Years Experience
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

To provide my patients with the highest quality healthcare, I'm dedicated to the newest advancements and keep up-to-date with the latest health care technologies....more
To provide my patients with the highest quality healthcare, I'm dedicated to the newest advancements and keep up-to-date with the latest health care technologies.
More about Dr. Srinivasan
Dr. Srinivasan is a renowned Physiotherapist in NARAYANAPURAM, Madurai. He has been a successful Physiotherapist for the last 21 years. He is a qualified BPT . You can meet Dr. Srinivasan personally at park physiotherapy in NARAYANAPURAM, Madurai. You can book an instant appointment online with Dr. Srinivasan on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Physiotherapists in India. You will find Physiotherapists with more than 27 years of experience on Lybrate.com. Find the best Physiotherapists online in Madurai. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Education
BPT - govt college of physiotherapy - 1997
Languages spoken
English

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Srinivasan

View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Srinivasan

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I'm 23 years old and I was getting lower back pain a lot k can't sit properly and some times it's paining very high, so I was consulted a doctor and he checked me by yogasana but, I perfectly done. But sometimes I am getting peak level of lower back pain please suggest me what can I do for this?

MBBS, MS - Orthopaedics
Orthopedist, Delhi
I'm 23 years old and I was getting lower back pain a lot k can't sit properly and some times it's paining very high, ...
Dolokind Plus (Mankind) [Aceclofenac100 mg +Paracetamol 350 mg] 1 tab. OD & SOS. X 5 days. --. Caldikind plus  (Mankind) 1 tab OD x 10 days. (You may need help of your local doctor to get these medicines.) --. Fomentation with warm water. Let the part not be exposed to cold air flowing from air conditioner. --. Sleep on a hard bed with soft bedding.  --. Use no pillow under the head. --. Avoid painful acts & activities. -- .Do mild exercises for spine and hips.  --.(Take help of a physiotherapist). --Do not ignore, let it not become beginning of a major problem. --Do ask for a detailed treatment plan. Kindly make sure, there is no allergy to any of these medicines. --For emergency treatment Contact your family doctor or visit nearest hospital. --Wish you a quick recovery & good health. --I hope, I have solved your problem to your satisfaction.    
11 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Sir my shoulders and wrists are feel pain when I take 10 kg of weight o n my hands What is the problem with my hands.

Bachelor of Ayurvedic Medicines and Surgery(BAMS), Post Graduation Diploma in Emergency Medicines And Services(PGDEMS), MD - Alternate Medicine
Ayurveda, Ghaziabad
Sir my shoulders and wrists are feel pain when I take 10 kg of weight o n my hands What is the problem with my hands.
Hi Apply pranacharya restopain oil or prasarini oil on your affected part then give hot fomentation. Take maha rasnadi kwath 2-2 tsf twice a day. And agni tundi vati and maha yograj guggul 1-1 tab twice a day..
Submit FeedbackFeedback

I am 46 years old. Sometime I am facing one problem during sleep in later night, blood circulation in my either hand becomes slow and some time veins of legs become stiff. It may be due to load of body comes on side sleeping, then I require to slow warming up exercise, then hand and legs comes into normal condition during night. My b.p.is normal. Sir I want to what will be the cause and remedy?

MD - Homeopathy, BHMS
Homeopath, Vadodara
I am 46 years old. Sometime I am facing one problem during sleep in later night, blood circulation in my either hand ...
It is called numbness and mostly common on the parts lain on.. But you may improve it by taking multivitamin and multimineral tablet. You may also take homoeopathic medicine Kali phos 6x tds for 1 month...
Submit FeedbackFeedback

I am 26 years male and I always feel very tired after doing little things like stepping up the stairs and also while playing and I also have regular pain in my back. I didn't understand what to do. Help me out.

MD(EH)/AM/Accupressure
Homeopath, Chandigarh
I am 26 years male and I always feel very tired after doing little things like stepping up the stairs and also while ...
Tiredness may be due to indigestion, low hb and low bp. You may take at present arnica 200 (homeo medicine) thrice a day five drops each time with water only one day. After two days give me the report.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

About low back pain, Dr. sir I am taking acupressure not more relief in morning time my position is good, can I drive motor cycle, can I use low hard belt I feel my muscles are gone week or not support proper what is best medicine.

MPT, BPT
Physiotherapist, Noida
About low back pain, Dr. sir I am taking acupressure not more relief in morning time my position is good, can I drive...
Apply Hot Fomentation twice daily. Avoid bending in front. Postural Correction- Sit Tall, Walk Tall.
Submit FeedbackFeedback

She felled from stairs but had bo fracture. But her legs pain. Prescribe medicine for relief.

MPT, BPT
Physiotherapist, Noida
She felled from stairs but had bo fracture. But her legs pain. Prescribe medicine for relief.
Keep your leg raised while sitting or lying quadriceps strengthening exercises hamstring stretching calf muscles stretching contrast bath.
Submit FeedbackFeedback

Spondylitis In Hindi - जाने क्या है स्पोंडिलोसिस की बीमारी

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Spondylitis In Hindi - जाने क्या है स्पोंडिलोसिस की बीमारी

हमारी मॉडर्न लाइफस्टाइल में कुछ बीमारियां ऐसी हैं जो लंबे समय तक हमारा साथ नही छोड़ती। जिनमें से एक है स्पोंडिलोसिस की बीमारी। स्पोंडिलोसिस को हम स्पॉन्डिलाइटिस के नाम से भी जानते है।स्पोंडिलोसिस दो यूनानी शब्द ‘स्पॉन्डिल’ तथा ‘आइटिस’ से मिलकर बना है। स्पॉन्डिल का अर्थ है वर्टिब्रा तथा ‘आइटिस’ का अर्थ सूजन होता है इसका मतलब वर्टिब्रा यानी रीढ़ की हड्डी में सूजन की शिकायत को ही स्पॉन्डिलाइटिस कहा जाता है। इसमें पीड़ित को गर्दन को दाएं- बाएं और ऊपर-नीचे करने में काफी दर्द होता है। स्पोंडिलोसिस की समस्या आम तौर पे स्पाइन यानी रीढ़ की हड्डी को प्रभावित करती है। स्पोंडिलोसिस रीढ़ की हड्डियों की असामान्य बढ़ोत्तरी और वर्टेबट के बीच के कुशन में कैल्शियम की कमी और अपने स्थान से सरकने की वजह से होता है।
आमतौर पर इसके शिकार 40 की उम्र पार कर चुके पुरुष और महिलाएं होती हैं। आज की जीवनशैली में बदलाव के कारण युवावस्था में ही लोग स्पॉन्डिलाइटिस जैसी समस्याओं के शिकार हो रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि इस समस्या का सबसे प्रमुख कारण गलत पॉश्चर है, जिससे मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। इसके अलावा शरीर में कैल्शियम की कमी दूसरा महत्वपूर्ण कारण है। एक दशक पहले के आंकड़ों से तुलना करें तो इस बीमारी के मरीजों की संख्या तीन गुनी बढ़ी है। वे युवा ज्यादा परेशान मिलते हैं, जो आईटी इंडस्ट्री या बीपीओ में काम करते हैं या जो लोग कम्प्यूटर के सामने अधिक समय बिताते हैं। अनुमानतः हमारे देश का हर सातवाँ व्यक्ति गर्दन और पीठ दर्द या जोड़ों के दर्द से परेशान लोग मिल जाते हैं।

स्पोंडिलोसिस के प्रकार

शरीर के विभिन्न भागों को प्रभावित करने के आधार पर स्पोंडिलोसिस तीन प्रकार का होता है

1. सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस
गर्दन में दर्द, जो सर्वाइकल को प्रभावित करता है वह सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस कहलाता है। यह दर्द गर्दन के निचले हिस्से, दोनों कंधों, कॉलर बोन और कंधों के जोड़ तक पहुंच जाता है। इससे गर्दन घुमाने में परेशानी होती है और कमजोर मांसपेशियों के कारण बांहों को हिलाना भी कठिन होता है।
2. लम्बर स्पोंडिलोसिस
इसमें स्पाइन के कमर के निचले हिस्से में दर्द होता है।
3. एंकायलूजिंग स्पोंडिलोसिस
यह बीमारी जोड़ों को विशेष रूप से प्रभावित करती है। रीढ़ की हड्डी के अलावा कंधों और कूल्हों के जोड़ इससे प्रभावित होते हैं। एंकायलूजिंग स्पोंडिलोसिस होने पर स्पाइन, घुटने, एड़ियां, कूल्हे, कंधे, गर्दन और जबड़े कड़े हो जाते हैं।

स्पोंडिलोसिस के सिम्पटम्स

  • गर्दन या पीठ में दर्द और उनका कड़ा हो जाना है।
  • यदि आपकी स्पाइनल कोर्ड दब गई है तो ब्लेडर या बाउल पर नियंत्रण खत्म हो सकता है।
  • इस रोग का दर्द हाथ की उंगलियों से सिर तक हो सकता है। उंगलियां सुन्न होने लगती हैं।
  • कंधे, कमर के निचले हिस्से और पैरों के ऊपरी हिस्से में कमजोरी और कड़ापन आ जाता है।
  • कभी-कभी सीने में दर्द होने लगता है और मांसपेशियों में सूजन आ जाती है।
  • स्पोंडिलिसिस का दर्द गर्दन से कंधों और वहां से होता हुआ हाथों, सिर के निचले हिस्से और पीठ के ऊपरी हिस्से तक पहुंच सकता है।
  • छींकना, खांसना और गर्दन की दूसरी गतिविधियां इन लक्षणों को और गंभीर बना सकती हैं।
  • शारीरिक संतुलन गड़बड़ा सकता है और समय बीतने के साथ दर्द का गंभीर हो जाता है।
  • स्पोंडिलोसिस की समस्या होने पर यह सिर्फ जोड़ो तक ही सीमित नहीं रहती। समस्या गंभीर होने पर बुखार, थकान, उल्टी होना, चक्कर आना और भूख की कमी जैसे लक्षण भी दिखाई दे सकते हैं।

स्पोंडिलोसिस होने की अहम वजह

  • भोजन में पोषक तत्वों, कैल्शियम और विटामिन डी की कमी के कारण हड्डियों का कमजोर हो जाना हीस्पोंडिलोसिस होने का सबसे बड़ा कारण है।
  • बैठने या खड़े रहने का गलत तरीका आपको स्पोंडिलोसिस की समस्या का सामना करवा सकता है।
  • बढ़ती उम्र भी एक एहम कारण है स्पोंडिलोसिस होने का।
  • मसालेदार, ठंडी या बासी चीजों को खाने से भी स्पोंडिलोसिस हो सकता है।
  • आलस्य से भरी जीवनशैली आपको आगे चलके स्पोंडिलोसिस की परेशानी दे सकती है।
  • लंबे समय तक ड्राइविंग करना भी खतरनाक साबित हो सकता है।
  • महिलाओं में अनियमित पीरियड्स आना भी एक बड़ी वजह बन सकता है स्पोंडिलोसिस होने का।
  • उम्र बढ़ने के साथ हड्डियों का क्षय होना भी एक कारण है ,अक्सर फ्रैक्चर के बाद भी हड्डियों में क्षय की स्थिति होने लगती है।

स्पोंडिलोसिस से राहत पाने के आसान तरीके

1. सेंधा नमक 
सेंधा नमक में मैग्नीशियम की मात्रा ज्यादा होने से यह शरीर के पीएच स्तर को नियंत्रित करता है और गर्दन की अकड़ और कड़ेपन को कम करता है।
2. लहसुन
आधे ग्लास पानी में दो चम्मच सेंधा नमक मिला कर पेस्ट बना लें और उसे गर्दन के प्रभावित क्षेत्र में लगाएं, या गुनगुने पानी में दो कप सेंधा नमक डाल कर रोजाना स्नान करें, इन दोनों ही तरीकों से काफी फायदा मिलेगा।

3. लहसुन
सुबह खाली पेट पानी के साथ कच्चा लहसुन नियमित खाएं अथवा तेल में लहसुन को पका कर गर्दन में मालिश करें, इससे दर्द में काफी राहत मिलेगी। दरसल लहसुन में दर्द निवारक गुण होता है और यह सूजन को भी कम करता है।

4. हल्दी
हल्दी असहनीय दर्द को खत्म करने में सबसे कारगर दवाई साबित हुई है। इतना ही नहीं यह मांसपेशियों के खिचांव को भी ठीक करता है।
5. तिल के बीज
तिल के गर्म तेल से गर्दन की हल्की मालिश 5 से 10 मिनट तक करें, फिर वहां गर्म पानी की पट्टी डालें, या आप एक ग्लास गुनगुने दूध में एक चम्मच हल्दी डाल कर पीएं, दर्द से निजात मिलेगी और गर्दन की अकड़ भी कम होगी। तिल में कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैगनीज, विटामिन के और डी काफी मात्रा में पाई जाती है जो हमारे हड्डी और मांसपेशियों के सेहत के लिए काफी जरुरी है। स्पांडलाइसिस के दर्द में भी तिल काफी कारगर है।

आराम पाने के अन्य तरीके

  • पौष्टिक भोजन खाएं, विशेषकर ऐसा भोजन जो कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर हो।
  • चाय और कैफीन का सेवन कम करें।
  • पैदल चलने की कोशिश करें। इससे बोन मास बढ़ता है और शारीरिक रूप से एक्टिव रहें।
  • नियमित रूप से व्यायाम और योग करें।
  • हमेशा आरामदायक बिस्तर पर सोएं। इस बात का ध्यान रखें कि बिस्तर न तो बहुत सख्त हो और न ही बहुत नर्म।
  • स्पोंडिलोसिस से पीड़ित लोग गर्दन के नीचे या पैरो के नीचे तकिया रखने की आदत से बचें। 

24 people found this helpful

My husband has a knee problem due to accident and he is 22years old then what to do? Suggest any treatment for him.

MPT, BPT
Physiotherapist, Noida
My husband has a knee problem due to accident and he is 22years old then what to do? Suggest any treatment for him.
Knee advice. Avoid sitting cross legged. Avoid squatting. Quadriceps exercises. Core strenthening exercises. Hams stretching. Sports taping hot fomentation.
Submit FeedbackFeedback

I am having pain in my foot and knee which is stiff also I can' t sleep due to this pain this is in my right leg what medicine should I take

MCh Ortho, ATLS (AIIMS), Diploma In Orthopaedics (D. Ortho), MBBS, MS - Orthopaedics
Orthopedist, Kolkata
What is the reason for your knee stiffness? you might be having knee arthritis which is causing cramps in your leg. Another possibility is deep vein thrombosis. I recommend that you get yourself thoroughly checked by an orthopedic surgeon. Hot bag and pain relieving gels can give you some relief.
Submit FeedbackFeedback

Does masturbation give back pain? I do masturbation more often like 4 times a week. I get back pain sometimes. Some people told masturbation can lead to back pain. Is that true? How does it affect back?

MBBS
Sexologist, Panchkula
Does masturbation give back pain? I do masturbation more often like 4 times a week. I get back pain sometimes. Some p...
Yes, Masturbation leads to back pain. You can do Masturbation 2 times a week, more than this is harmful.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed