Lybrate Mini logo
Lybrate for
Android icon App store icon
Ask FREE Question Ask FREE Question to Health Experts
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dhawan Clinic

  4.3  (19 ratings)

Internal Medicine Specialist Clinic

Dehlon Ludhiana
1 Doctor · ₹400
Book Appointment
Call Clinic
Dhawan Clinic   4.3  (19 ratings) Internal Medicine Specialist Clinic Dehlon Ludhiana
1 Doctor · ₹400
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Feed
Services

About

We like to think that we are an extraordinary practice that is all about you - your potential, your comfort, your health, and your individuality. You are important to us and we strive to ......more
We like to think that we are an extraordinary practice that is all about you - your potential, your comfort, your health, and your individuality. You are important to us and we strive to help you in every and any way that we can.
More about Dhawan Clinic
Dhawan Clinic is known for housing experienced Internal Medicine Specialists. Dr. Balwinder Dhawan, a well-reputed Internal Medicine Specialist, practices in Ludhiana . Visit this medical health centre for Internal Medicine Specialists recommended by 53 patients.

Timings

MON-SAT
09:15 AM - 09:00 AM

Location

Dehlon
Ludhiana , Punjab - 141118

Doctor

Dr. Balwinder Dhawan

MBBS
Internal Medicine Specialist
85%  (19 ratings)
25 Years experience
400 at clinic
Unavailable today
View All
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dhawan Clinic

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

B.Sc - Dietitics / Nutrition, M.Sc - Dietitics / Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Delhi
मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

मोटापा एक ऐसी स्थिति है जहां शरीर में वसा का अधिक भंडारण होता है। मोतापे की समस्या सिर्फ भारत में नहीं बल्कि पूरे विश्व में बढ़ रही है। आज हम आप्को मोतापा कम कर्ने के सरल घरेलु उपचार बताएंगे।

मोतापा, चरबी आदि होने के अनेक कारण हो सक्ते हैं, जैसे कि:

- व्यायाम न करना
- नीन्द पूरी न होना
- अधिक घी, तेल आदि चीज़ो का सेवन
- आनुवंशिक विकार
- हार्मोनल असंतुलन
- गर्भावस्था
- आसीन जीवन शैली
- तनाव
- बड़ी मात्रा में शराब का उपभोग करना

मोतापा बढ़ना जितना आसान है, घटाना उतना ही मुश्किल। केवल व्यायाम वजन कम करने के लिए पर्याप्त नहीं है, सही आहार का पालन करना उतना ही महत्वपूर्ण है।

इससे पहले कि आप अपना वजन कम करने का प्रयास शुरू करें, आप अपना बी.एम.आइ माप ले। बीएमआई आपको बताता है कि आपकी ऊंचाई और आपकी उम्र के अनुसार आपका वजन कितना होना चाहिए। यह आपको बताएगा कि आपको कितना वजन कम करने की आवश्यकता है। यह जानने के बाद आप हमारे बताए घरेलु उपचार का उपयोग कीजिए। आप कुछ ही दिन मे खुदसे हल्का एवं तन्द्रुस्त महसूस करेंगे।

1. पानी: हर दिन कम से कम 8 ग्लास पानी पीजिए, और आप जब भी पानी पीएं, आराम से पीएं. एक ही घूँट मे ना निगल जाएं। पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जो वजन कम करने में सहायता करते हैं। 

2. शहद और नींबू: हनी और नींबू एक साथ शरीर के वजन को नियंत्रित करने के लिए अद्भुत काम करते हैं। गुनगुने पानी का गिलास लें, उस्मे शहद की एक चम्मच, नींबू के रस के 3 बड़े चमच और एक चुटकी पिसी हुई काली मिर्च डाल कर हिला ले। यह मिश्रण हर सुबह खाली पेट पीएं।

3. ग्रीन टी: ग्रीन टी एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो जिद्दी और कठोर वसा जलाती है। इसका सेवन रोज़ बिना चीनी डाले करें।

4. खीरा: क्या आपको पता है कि खीरे मे 90% पानी होता है? खीरे फाइबर समृद्ध और कोलेस्ट्रॉल मुक्त होते हैं। यह आपको ताज़ा रखते हैं, विषाक्त पदार्थों को शरीर से निकालते हैं एवं आपकी त्वचा में सुधार लाते हैं।

5.गाजर: पेट के मोटापे को कम करने का बोहोत अछा उपाय है गाजर। यदि आप रोज़ सुबह खाली पेट 1 ग्लास गाजर का जूस पी लें तो निश्चित रूप से आपका पेट कम होने लगेगा।

6. लौकी: लौकी भी खीरे की तरह फाइबर से समृद्ध होती है और उसमे बिल्कुल वसा नही होती. आप लौकी की सब्ज़ी बना के खा सकते हैं या इसका रस निकाल कर भी पी सकते हैं ।

7. अजमोद: यह आपके गुर्दे को डिटॉक्स करता है और इसके सेवन से पेट भरा भरा महसूस होता है जिसकी वजह से आप कम खाना खाएँगे।

8. गोभी: इसमें टैटरिक एसिड होता है जो चीनी और कार्बोहाइड्रेट को वसा में परिवर्तित होने से रोकता है। इससे आपके पेट और जांघों का मोटापा बोहोत जल्दी हटेगा।

9. जूजूबे की पत्तियां: जूजूबे की पत्तियों को पानी मे सोख कर रात भर रखा रहने दें। सुबह उठकर खाली पेट इसे पीएं । यह एक महीना करने पर आपको इसका असर दिखने लगेगा।

10. सौंफ के बीज: सौंफ के बीज वजन घटाने के लिए सर्वश्रेष्ठ हर्बल तरीकों में से एक हैं। भारी भोजन करने के 15-20 मिनट पहले एक कप सौंफ वाली चाय पी लें। यह आपकी भूख को रोकने में मदद करेगी।

11. टमाटर: टमाटर भी तेज़ी से मोटापा घटाने का बोहोत अछा उपाय है। यदि आप लगभग 2 महीने तक सुबह नाश्ते मे सिर्फ़ 2 टमाटर खा ले तो निश्चित ही आपका वजन घट जाएगा।

You found this helpful

काजू के फायदे और नुकसान

B.Sc - Dietitics / Nutrition, M.Sc - Dietitics / Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Delhi
काजू के फायदे और नुकसान

 

काजू एनार्काडियम आक्सीडेन्टल पेड़ का बीज होता है। यह आम तौर पर भारतीय पॅक्वानो में सूखे फल के रूप में प्रयोग किया जाता है। ठोस, नरम, मीठा और स्वादिष्ट काजू ऊर्जा से भरा होता है। यह ब्राजील के अमेज़ॅन वर्षा वन से दुनियाभर में पुर्तगाली यात्रियों द्वारा फैल गया था। अब, ब्राजील, भारत, वियतनाम आदि जैसे विभिन्न देशों में इसकी खेती की जाती है। काजू मोनोअनसैचुरेटेड वसा और प्रोटीन का अच्छा स्रोत हैं। इसके अलावा, काजू विटामिन और खनिजों से भरा हुआ है। अतः काजू खाने के बहुत सारे लाभ हैं, जैसे कि:

1. ट्यूमर से लड़ता है: इसमें प्रोएन्टोकाइनाइडिन है, जो ट्यूमर कोशिकाओं के खिलाफ उनकी वृद्धि और विभाजन को रोक कर लड़ने की क्षमता रखता है। यह विभिन्न कैंसर जैसे कोलन, प्रोस्टेट आदि के कैंसर को रोकता है। इसके अलावा इस में विटामिन "के" होता है, जो ट्यूमर कोशिकाओं के विकास को दबाने की क्षमता रखता है। इसमें सेलेनियम और विटामिन "ई" जैसे एंटीऑक्सिडेंट हैं जो प्रतिरक्षा को बढ़ा देता है।

2. संक्रमण से लड़ता है: इसमें उच्च मात्रा मे जस्ता होता है जो विभिन्न संक्रमणों से लड़ने में मदद करता है।

3. दिल के लिए काजू के लाभ: इसमें मौजूद मैग्नीशियम रक्तचाप को बनाए रखने में मदद करता है। रक्तचाप को कम करने की इसकी प्रवृत्ति दिल के दौरे को रोकने में मदद करती है। इसमें, कम स्तर मे सोडियम और उच्च स्तर मे पोटेशियम होता है जो रक्तचाप को नियंत्रण में रखता है। काजू में ओलेइक एसिड और पॉमिटॉलिक एसिड नामक आवश्यक फैटी एसिड हैं, जो खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर देते हैं और साथ ही अच्छे कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को बढ़ा देते हैं। काजू इस प्रकार रक्त के लिपिड प्रोफाइल को संतुलित करके कोरोनरी धमनी रोग और स्ट्रोक को रोकता है। इसके अलावा काजू एरोरोस्क्लेरोसिस को रोकता है और धमनियों में पट्टिका के गठन को कम कर देता है। यह ओमेगा -3 फैटी एसिड और ओमेगा -6 फैटी एसिड का भी एक अच्छा स्रोत है जो शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं और रक्त कणों को मुक्त कण और हृद्-अतालता से रोकता है। ओलेइक एसिड की तरह आवश्यक फैटी एसिड, कोलेस्ट्रॉल को रक्तप्रवाह में प्रवेश करने से रोकते है। इस प्रकार काजू कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) को कम करता है और खून में उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) को बढ़ाता है और इस तरह हृदय रोगों के जोखिम को कम करता है।

4. बालों के लिए काजू का लाभ: इसमें तांबा नामक एक महत्वपूर्ण खनिज होता है, जो बालों को अपनी चमक, ताकत और काले रंग को बनाए रखने के लिए मदद करता है। इसमें पाया गया कॉपर कई एंजाइमों के लिए एक आवश्यक घटक के रूप में कार्य करता है। ट्राइरोसेनेस एक तांबे वाला एंजाइम है, जो टाइरोसिन को मेरिनिन (एक रंगद्रव्य जो बाल और त्वचा को रंग प्रदान करता है) में परिवर्तित करने में मदद करता है।

5. हड्डियों के लिए काजू का लाभ: इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस इत्यादि जैसे खनिज होते हैं जो हड्डियों के स्वस्थ विकास के लिए आवश्यक होते हैं। शरीर में अच्छा मैग्नीशियम स्तर भी हड्डियों द्वारा कैल्शियम अवशोषण स्तर को बढ़ाता है। इसकी उच्च स्तरीय प्रोटीन और अच्छे मैग्नीशियम और कैल्शियम का स्तर मजबूत हड्डी संरचना को बनाने में मदद करता है। उच्च तांबे का स्तर हड्डियों और जोड़ों के लचीलेपन को बनाए रखने में मदद करता है। काजू में पाए जाने वाले "विटामिन के" हड्डियों को कड़ा करके स्वस्थ हड्डियों को बनाए रखने में मदद करता है, जो ऑस्टियोपोरोसिस और कंकाल विकृति जैसी बिमारिओं को रोकता है ।

6. तंत्रिकाओं के लिए काजू के लाभ: इसमें मौजूद मैग्नीशियम हड्डियों की सतह पर संग्रहित हो जाता है और कैल्शियम को तंत्रिका कोशिकाओं में प्रवेश करने से रोकता है।

7. वजन घटाने में मदद करता है: काजू की उच्च ऊर्जा घनत्व और आहार के तंतुओं का उच्च स्तर है, दोनों ही अगर सीमित मात्रा में खाए जाएं तो वजन प्रबंधन के लिए सहायता करते हैं।

 

काजू के नुकसान अतः काजू को कम मात्रा में खाने से बहुत स्वस्थ हो सकता है, परंतु अगर बड़ी मात्रा में खाया जाए तो कई दुष्प्रभाव भी उत्पन्न हो सकते हैं। जैसे कि:

1. भार बढ़ना: काजू में काफी कैलोरी होती हैं इसलिए वजन बढ़ा सकता हैं।

2. एलर्जी: कुछ लोगों को काजू से एलर्जी होती है। एलर्जी मुंह और गले में पित्ती, चकत्ते, खुजली पैदा कर सकती है।

3. रक्तचाप बढ़ना: बड़ी मात्रा में काजू उपभोग करने से सोडियम तेजी से बढ़ सकता है, जो आपके रक्तचाप को बढ़ा सकता है।

4. सिरदर्द: यदि आप सिर दर्द और माइग्रेन से पीड़ित हैं, तो काजू से बचें। इस में मौजूद एमिनो एसिड सिरदर्द पैदा कर सकता है।

You found this helpful

Amla Drink

Non-invasive Cardiology
Cardiologist, Thane
Amla Drink

An easy to make recipe which taken regularly helps manage blood sugar levels. The antioxidant property of amla helps boost immunity and metabolism.

You found this helpful

Amla Drink

Non-invasive Cardiology
Cardiologist, Thane
Amla Drink

An easy to make recipe which taken regularly helps manage blood sugar levels. The antioxidant property of amla helps boost immunity and metabolism.

You found this helpful

Amla Drink

Non-invasive Cardiology
Cardiologist, Thane
Amla Drink

An easy to make recipe which taken regularly helps manage blood sugar levels. The antioxidant property of amla helps boost immunity and metabolism.

You found this helpful

Amla Drink

Non-invasive Cardiology
Cardiologist, Thane
Amla Drink

An easy to make recipe which taken regularly helps manage blood sugar levels. The antioxidant property of amla helps boost immunity and metabolism.

You found this helpful

Stay Healthy

PG Diploma in Emergency Medicine Services (PGDEMS), Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS), MD - Alternate Medicine
Ayurveda, Ghaziabad
Stay Healthy

Boil water with 20 to 30 neem leaves in it and use this water for hair bath, this beauty tip is very useful in clearing dandruff problems.

You found this helpful

A Healthy Amla Drink to Manage Your Blood Sugar Level

Non-invasive Cardiology
Cardiologist, Thane
A Healthy Amla Drink to Manage Your Blood Sugar Level

An easy to make recipe which taken regularly helps manage blood sugar levels. The antioxidant property of amla helps boost immunity and metabolism.

You found this helpful

My fasting sugar 135 and Pp 150 Checked by glucometer. How to control provide Diet chart.

Diploma in Diabetology, Pregnancy & Diabetes, Hypertension, Cardiovascular Prevention in Diabetes ,Thyroid
Sexologist, Sri Ganganagar
My fasting sugar 135 and Pp 150
Checked by glucometer.
How to control
provide Diet chart.
Dear lybrate-user you are a cade of fasting Hyperglycemia. Most probably you are obese .if so please decrease weight by exercise and diet control. Take small frequent meal. Take full plate salad before each of Three meals. Take fruits in between meal. Brisk walking daily .More ask on line.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Medicine From Kitchen - Mint

MD- Ayurvedic Pathology
Ayurveda, Amritsar
Medicine From Kitchen - Mint

Mint, scientifically known as ‘mentha’, is a herb with small green leaves and a characteristic strong odour. It is also a virtual cure-all plant. Try using mint by adding it to your meals, oral care and skin care regimen to remain healthy and fresh forever. A few prominent mint health benefits include the following:

Digestion aid: Try mint leaves if you are not feeling hungry. It is a great appetizer as well as a promoter of digestion. It soothes your stomach when you’re suffering from inflammation or indigestion. So, next time you have a stomach upset, go for mint tea or mint oil. Mint’s characteristic aroma acts as an appetizer. It stimulates the salivary glands and other digestive glands to produce saliva and digestive juices, thereby facilitating digestion.

Nausea and headache: Mint leaves, especially freshly crushed leaves, help staunch nausea and headache, thanks to the strong and refreshing aroma. Menthol oil or mint-flavoured products are very useful for alleviating nausea. Similarly, balms with a mint base or mint oil can be rubbed on your forehead and nose to give quick relief from headache. Mint tea oil derived from mint is also very effective in treating nausea and motion sickness while travelling.

Respiratory disorders: The strong minty aroma is very effective in clearing up congestion of the nose, throat, bronchi and lungs. This makes mint a very effective remedy for asthma and common cold. The herb is also a good remedy for cough. This is because mint has a cooling and soothing effect on the throat, nose and other respiratory channels, and this helps relieve the irritation, which causes chronic coughing. Regular use of mint in any form is very beneficial for asthma patients as well, because it is a good relaxant and it relieves congestion that blocks respiratory channels, causing symptoms of asthma.

Depression and fatigue reliever: As mint is a natural stimulant, it can help relieve fatigue and feelings of sadness. Mint essential oil is very good if you are feeling anxious, sad, depressed, low or just plain sluggish. Mint oil can be ingested, applied as a salve topically, or inhaled as a vapour to help with fatigue and depression.

Oral health: Mint has germicidal qualities and can quickly freshen up your breath. It also gets eradicates harmful oral bacteria inside your mouth, alleviating oral health. The mint leaves can be rubbed directly on your tongue, teeth and gums to clean and refresh your mouth. You can also get the benefits of mint by simply chewing on its leaves.

Skin health: Since mint oil is a good antiseptic and anti-pruritic, it acts as an excellent skin cleanser. It is used to clear pimples as well as soothe and cure skin from infections.

Mint’s anti-pruritic properties can be used for treating insect bites, mosquito bites, stings by honeybees etc. With its cooling property, mint will relieve you of the irritation of stings and bring the swelling down. Also, women can use mint oil to relieve cracks and pain in nipples which occur during breastfeeding.

1 person found this helpful

High Blood Pressure Treated By Ayurveda

BAMS
Ayurveda, Sonipat
High Blood Pressure Treated By Ayurveda

आयुर्वेद के अनुसार #high_bp की बीमारी ठीक करने के लिए घर में उपलब्ध कुछ आयुर्वेदिक दबाईया है जो आप ले सकते है । जैसे एक बहुत अच्छी दवा है आप के घर में है वो है दालचीनी जो मसाले के रूप में उपयोग होता है वो आप पत्थर में पिस कर पावडर बनाके आधा चम्मच रोज सुबह खाली पेट गरम पानी के साथ खाइए |
अगर थोडा खर्च कर सकते है तो दालचीनी को शहद के साथ लीजिये (आधा चम्मच शहद आधा चम्मच दालचीनी) गरम पानी के साथ, ये हाई bp के लिए बहुत अच्छी दवा है । और एक अच्छी दवा है जो आप ले सकते है पर दोनों में से कोई एक । दूसरी दावा है मेथी दाना, मेथी दाना आधा चम्मच लीजिये एक ग्लास गरम पानी में और रात को भिगो दीजिये, रात भर पड़ा रहने दीजिये पानी में और सुबह उठ कर पानी को पि लीजिये और मेथी दाने को चबा के खा लीजिये । ये बहुत जल्दी आपकी हाई bp कम कर देगा, देड से दो महीने में एकदम स्वाभाविक कर देगा । 
और एक तीसरी अच्छी दवा है |
हाई bp के लिए वो है अर्जुन की छाल । अर्जुन एक वृक्ष होती है उसकी छाल को धुप में सुखा कर पत्थर में पिस के इसका पावडर बना लीजिये । आधा चम्मच पावडर, आधा ग्लास गरम पानी में मिलाकर उबाल ले, और खूब उबालने के बाद इसको चाय की तरह पि ले । ये हाई bp को ठीक करेगा, कोलेस्ट्रोल को ठीक करेगा, ट्राईग्लिसाराईडको ठीक करेगा, मोटापा कम करता है, हार्ट में अर्टेरिस में अगर कोई ब्लोकेज है तो वो ब्लोकेज को भी निकाल देता है ये अर्जुन की छाल । डॉक्टर अक्सर ये कहते है न की दिल कमजोर है आपका; अगर दिल कमजोर है तो आप जरुर अर्जुन की छाल लीजिये हरदिन, दिल बहुत मजबूत हो जायेगा आपका; आपका esr ठीक होगा, ejection fraction भी ठीक हो जायेगा; बहुत अछि दावा है ये अर्जुन की छाल ।
और एक अछि दावा है हमारे घर में वो है लौकी का रस । एक कप लौकी का रस रोज पीना सबेरे खाली पेट नास्ता करने से एक घंटे पहले ; और इस लौकी की रस में पांच धनिया पत्ता, पांच पुदीना पत्ता, पांच तुलसी पत्ता मिलाके, तिन चार कलि मिर्च पिस के ये सब डाल के पीना. ये बहुत अच्छा आपके bp ठीक करेगा और ये ह्रदय को भी बहुत व्यवस्थित कर देता है, कोलेस्ट्रोल को ठीक रखेगा, डाईबेटिस में भी काम आता है ।
और एक मुफ्त की दावा है, बेल पत्र की पत्ते - ये उच्च रक्तचाप में बहुत काम आते है । पांच बेल पत्र ले कर पत्थर में पिस कर उसकी चटनी बनाइये अब इस चटनी को एक ग्लास पानी में डाल कर खूब गरम कर लीजिये, इतना गरम करिए के पानी आधा हो जाये, फिर उसको ठंडा करके पि लीजिये ये सबसे जल्दी उच्च रक्तचाप को ठीक करता है और ये बेलपत्र आपके सुगर को भी सामान्य कर देगा । जिनको उच्च रक्तचाप और सुगर दोनों है उनके लिए बेल पत्र सबसे अछि दावा है ।
और एक मुफ्त की दावा है हाई bp के लिए - देशी गाय की मूत्र पीये आधा कप रोज सुबह खाली पेट ये बहुत जल्दी हाई bp को ठीक कर देता है । और ये गोमूत्र बहुत अद्भूत है, ये हाई bp को भी ठीक करता है और लो bp को भी ठीक कर देता है - दोनों में काम आता है और येही गोमूत्र डाईबेटिस को भी ठीक कर देता है, arthritis, gout (गठिया) दोनों ठीक होते है । अगर आप गोमूत्र लगातार पि रहे है तो दमा भी ठीक होता है अस्थमा भी ठीक होता है, tuberculosis भी ठीक हो जाती है । इसमें दो सावधानिया ध्यान रखने की है के गाय सुद्धरूप से देशी हो और वो गर्भावस्था में न हो ।
हाई बीपी वाले पेशेंट को बहुत ज्यादा मात्रा में पानी पीना चाहिए ताकि उसके शरीर से विषाक्त पदार्थ निकल जाएं
Low bp:की बीमारी के लिए दावा. निम्न रक्तचाप की बीमारी के लिए सबसे अछि दावा है गुड । ये गुड पानी में मिलाके, नमक डालके, नीबू का रस मिलाके पि लो । एक ग्लास पानी में 25 ग्राम गुड, थोडा नमक नीबू का रस मिलाके दिन में दो तिन बार पिने से लो bp सबसे जल्दी ठीक होगा ।
और एक अछि दावा है.अगर आपके पास थोड़े पैसे है तो रोज अनार का रस पियो नमक डालकर इससे बहुत जल्दी लो bp ठीक हो जाती है, गन्ने का रस पीये नमक डालकर ये भी लो bp ठीक कर देता है, संतरे का रस नमक डाल के पियो ये भी लो bp ठीक कर देता है, अनन्नास का रस पीये नमक डाल कर ये भी लो bp ठीक कर देता है ।
लो bp के लिए और एक बढ़िया दावा है मिसरी और मखन मिलाके खाओ - ये लो bp की सबसे अछि दावा है ।
लो bp के लिए और एक बढ़िया दावा है दूध में घी मिलाके पियो, एक ग्लास देशी गाय का दूध और एक चम्मच देशी गाय की घी मिलाके रातको पिने से लो bp बहुत अछे से ठीक होगा ।
और एक अछि दावा है लो bp की और सबसे सस्ता भी वो है नमक का पानी पियो दिन में दो तिन बार, जो गरीब लोग है ये उनके लिए सबसे अच्छा है ।

1 person found this helpful

Knee Joint Pain

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS), MD- Ayurveda
Ayurveda,
Knee Joint Pain

Use fresh juice of alovera and shunti every day early in the morning.

You found this helpful

Benefits of Hot Packs

BPTh/BPT
Physiotherapist, Delhi
Benefits of Hot Packs

Hot packs are very effective as they dilate blood vessels and increase blood flow, delivering needed nutrients and oxygen to cells in the area being heated, aiding the removal of cell waste and promoting healing.

274 people found this helpful

Hot Therapy

BPTh/BPT
Physiotherapist, Delhi
Hot Therapy

Electric pads, hot water bottles, and gel packs or moist such as damp clay packs are the common hot agents used for hot therapy.

65 people found this helpful

Steps to Prevent Suntan

MBBS, DDV
Dermatologist, Mumbai

Here are 4 ways to deal with that stubborn sun tan:

  1. Make sunscreen your best friend:  Sunscreen is your knight in shining armour against the harsh sun. Apply broad-spectrum, water-resistant sunscreen with an SPF of 30 or higher prior to going out. Re-apply the sunscreen every two hours. And yes! You are exposed to UV rays on cloudy days too.
  2. Go chemical: In case of severe sun tanning which results in hyper-pigmentation, treatments such as chemical peels can work wonders.  The fundamental mechanism of the action of chemical peels is the elimination of unnecessary melanin by causing a controlled chemical burn to the skin 
  3. Prevention better than cure: To avoid getting tanned, opt for scarves and hats to cover up and stay protected. Wear full sleeved clothing when going out, especially during noon time when the sun rays are very strong 
  4. Avoid sun bathing and tanning beds: While getting a tan may appear fashionable, sun bathing for hours can lead to age spots and cause skin wrinkles.
4 people found this helpful

I have been observing for the past couple of months my tummy and hips are coming out and bulky, I do not hv bad eating habits and this makes me feel very uncomfortable to sit or bend, help IN THIS regard TO REDUCE TUMMY FAT OR BULKINESS IS APPRECIATED.

B.Sc.(Hons), P.G.Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Gurgaon
I have been observing for the past couple of months my tummy and hips are coming out and bulky, I do not hv bad eatin...
hello mam, first of all you have to change your dietary pattern . cut down on ghee, butter, limit your carb intake, use only skimmed milk/curd. give up mostly on fried foods. Increase your fibre intake like oats,daliya,brown breads, fruits and vegetables. If possible mix bran into your flour.Go very light with your dinners a plate full of salad made out of veggies,sprouts and fruits. consume as much as water as you can . apart from this walking upto 2-3 kms per day
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am suffering with fever from last 5 days can I know what type of fever and what are the symptoms of viral fever is it dangerous to others are not.

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Bangalore
I am suffering with fever from last 5 days can I know what type of fever and what are the symptoms of viral fever is ...
To know the type of fever, there is only one way. Undergo a blood test. CBC and malarial parasite test. Based on the reports, we can assess your condition. Yes viral fever can spread to other people if you are in close contact, use the same linen/clothes or utensils. So avoid that.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My mother age 56 have Thlisimeya and have lack of blood supply to the body even her bone is weak constantly have pain in both leg need help.

Diploma in Rehabilitation (Physiotherapy), BPTh/BPT
Physiotherapist, Ranchi
My mother age 56 have Thlisimeya and have lack of blood supply to the body even her bone is weak constantly have pain...
Increase intake of natural sources of calcium n protein. Apply cold packs or icing for 20 min 2 time a day .do quadriceps static n slr exercises. Put towel roll under your inme ,press roll down using knee ,it's surrounding muscles. Hold it for 1 5 sec for 1 0 repetition for thrice. Consult me online for further process n information. Thanks.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am not able to loose my weight. I am taking proper meal and doing regular exercise But still I am not able to.

Nutrition - Management of Weight & Lifestyle Related Disorders
Dietitian/Nutritionist, Delhi
I am not able to loose my weight.
I am taking proper meal and doing regular exercise
But still I am not able to.
For weight loss. It is important to take frequent meals at regular interval of time. Empty stomach try to include 2 tsp aleovera juice+ 2 tsp amla juice in equal amount of water. In Breakfast you can museli/oats+ milk+ 1 apple /1 bowl green moong dal sprouts/1-2 besan cheela+ green chutney. In mid morning 1 cup green tea + 1 bowl fruits. Lunch 1-2 wheat bran roti+ 1bowl veg+ 1 bowl salad/1 bowl veg daliya + 1bowl curd E.T:1 cup tea+ 1bowl roasted channa/murmura Dinner: 1 bowl fruits+ 1glass skimmed milk/Grilled/roasted paneer/1-2 bowl cooked yellow moong dal+ 1bowl veg. After Dinner Take 1 cup jasmine tea. Drink soy milk and lots of water. Take fish oil and salmon. Include more fiber in the diet. Use low fat milk, brown sugar, flax seed. Take good sleep. 10 minutes of sunlight for vitamin D.Avoid salt in the diet, caffeine, processed foods like instant noodles, pies, bread rolls, artificial sugar, diet coke, sweetener, spices and hot spicy foods.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am trying to loose my weight for a very long time I am doing regular exercise and having proper meal But still I am not able to loose my weight And don't know the reason. So what should I do?

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
I am trying to loose my weight for a very long time I am doing regular exercise and having proper meal
But still I am...
Take high fiber low fat diet. Drink lot of water everyday. Take small and frequent meals at regular intervals of 2-3 hrs. Avoid outside food completely. Do regular exercise.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Clinics

  4.5  (1129 ratings)

Diet Clinic - Ludhiana

Sarabha Nagar, Ludhiana, Ludhiana
View Clinic
  4.5  (322 ratings) View Clinic
  4.4  (33 ratings) View Clinic
  4.4  (33 ratings)

Jiva Ayurveda - Ludhiana

Mathura Road, Faridabad, Ludhiana
View Clinic
  4.4  (104 ratings) View Clinic