Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Abhijit Sarkar

Gastroenterologist, Kolkata

Book Appointment
Call Doctor
Dr. Abhijit Sarkar Gastroenterologist, Kolkata
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences....more
Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences.
More about Dr. Abhijit Sarkar
Save your time and book an appointment online with Dr. Abhijit Sarkar on Lybrate.com.

Find numerous Gastroenterologists in India from the comfort of your home on Lybrate.com. You will find Gastroenterologists with more than 43 years of experience on Lybrate.com. We will help you find the best Gastroenterologists online in Kolkata. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Abhijit Sarkar

View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Abhijit Sarkar

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

With the increasing age the gastric problem is also hamper my daily life though its my genetic prob also. So tell me some solution to overcome this problem and decrease unwanted fat. Thank you.

Certificate in Basic Course on Diabetes Management, CCEBDM Certificate in Diabetes, MBBS
General Physician, Pune
With the increasing age the gastric problem is also hamper my daily life though its my genetic prob also. So tell me ...
No details of Gastric problem. Presuming it is acidity Regular. timely simple food. Not spicy or fried items. No tobacco and alcohol. Relaxing tehniques and life style changes. Any anti acidity medication prescribed by your doctor to be taken for about 4 weeks. If no relief, see Consulting Physician or Gastro enterologist for clinical examination, investigations as necessary, diagnosis and advice. To reduce unwanted fat aim at 70 Kg Maximum. Avoid sugars, fried items. Overeating, junk food frequent intake. Reduce calorie intake by 300 cal daily by consulting a Dietitian,.To burn more calories regular exercise like walking, running, cycling, sports etc.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hi my dad have a eye problem, so he uses his eye drop daily, but today by default my mom got confused and she put some drops of clenorush which is used for oral thrush which includes 1 choline salicylate 2. Tannic acid 3 clotrimazole 4 cetrimide Glycerin. So his eye is paining very badly. I just need to know is it gonna cause big problem later? Please advice.

Fellowship In Comprehensive Ophthalmology, DOMS
Ophthalmologist, Sangrur
Hi my dad have a eye problem, so he uses his eye drop daily, but today by default my mom got confused and she put som...
Hello dear relax clean eye with clean water for 15v minutes. Consult eye specilist doctor will prescribe you 1. Steroid eye drop 2. Antibuotic eye drop 3. Lubricating eyedrop.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Home Remedies For Acidity In Hindi - एसिडिटी के लिए घरेलू उपचार

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Home Remedies For Acidity In Hindi - एसिडिटी के लिए घरेलू उपचार

हमारे पूरे शरीर में पेट सबसे अहम हिस्सों में से एक है। अगर यह दुरुस्त ना हो तो शरीर का संतुलन में रह पाना असंभव है। क्योंकि पेट के ही एक्टिविटीस की बदौलत पूरे शरीर को मिलती है ऊर्जा और अन्य पोषक तत्व। पर आज का माहौल ऐसा है कि हर दूसरा व्यक्ति पेट की किसी ना किसी तकलीफ से बेहाल है और इनमें सबसे ज्यादा पेट संबन्धी समस्या में मिलते हैं एसिडिटी के मरीज। पहले तो एक उम्र गुजारने के बाद पेट की अन्य बीमारी या एसिडिटी की शिकायत होती थी पर अब समय ऐसा बिगड़ा है कि बड़े- बूढ़े, महिला-पुरूष किसीको भी एसिडिटी की समस्या सताने लगती है। इसलिए जरूरी है की हम सभी एसिडिटी होने के कारणों, लक्षण से वाकिफ हों ताकि इसका उचित इलाज कर सकें। 

दरसल हमारे पेट में बनने वाला एसिड या अम्ल उस भोजन को पचाने का काम करता है, जो हम खाते हैं, लेकिन कई बार पचाने के लिए पेट में पर्याप्त भोजन ही नहीं होता या फिर एसिड ही आवश्यक मात्रा से ज्यादा बन जाता है। ऐसे में एसिडिटी या अम्लता की समस्या हो जाती है। इसे आमतौर पर दिल की चुभन या हार्टबर्न भी कहा जाता है। वसायुक्त और मसालेदार भोजन का सेवन आमतौर पर एसिडिटी की प्रमुख वजह है। इस तरह का भोजन पचाने में मुश्किल होता है और एसिड पैदा करने वाली कोशिकाओं को जरूरत से ज्यादा एसिड बनाने के लिए उत्तेजित करता है।

एसिडिटी के कारण 

  • लगातार बाहर का भोजन करना।
  • खाना न खाना
  • ईररेगुलर खाना खाना
  • ज्यादा मसालेदार भोजन करना
  • ज्यादा स्ट्रेस लेना 
  • ज्यादा समय तक वर्क लोड रहना
  • आदि एसिडिटी के कारण हो सकते हैं।

एसिडिटी के लक्षण 

  • पेट में जलन होना
  • गले में जलन
  • खट्टी डकार आना
  • कब्ज होना
  • बेचैनी महसूस होना
  • पेट में गैस होना

ऐसी तकलीफें अगर होने लगे तो समझ जाइए की आप एसिडिटी के शिकार हो गए हैं। और जब एसिडिटी हो ही गया हो तो बिना देर के फौरन बताए गए आसान घरेलू नुस्खे आजमाएं और एसिडिटी से राहत पाएं।

1. जीरा
एक गिलास पानी में कुछ जीरे के दाने डालकर उबाल ले और ठंडा होने के बाद बाद इसे पिए। पेट में जलन एसिडिटी के इलाज  में जीरा एक अच्छा घरेलु नुस्खा है।  जीरा से एक प्रकार का सलाइवा बनता है जो पाचन प्रक्रिया को बेहतर बनाता है जिससे पेट के गैस बाहर निकलने और तेज़ाब खत्म करने में मदद मिलती है।

2. इलायची
2 इलायची के पाउडर को एक गिलास पानी में डालकर उबालें और ठंडा करके पी जाएं। 
इलायची में कई ऐसे गुण होते है जो ज्यादा एसिड बनने से रोकने के साथ खाना हजम करने की प्रक्रिया को अच्छा करता है।  पेट में होने वाला स्पाज्म को भी काम करने में मददगार है।
 
3. पानी
 सुबह उठने के तुरंत बाद पानी पिएं। इस तरह रात भर में पेट में बने आवश्यकता से अधिक एसिड और दूसरी गैर जरूरी और हानिकारक चीजों को इस पानी के जरिए शरीर से बाहर निकाल जाता है। इसलिए सुबह सबसे पहले चाय नही बल्कि खाली पेट पानी पिएं।

4. फ्रूट्स 
 फलों की खूबियों से तो हम सभी वाकिफ हैं इसलिए हम सभी को रोजाना फल खाने की आदत डालनी चाहिए। और अगर आप एसिडिटी शिक़ार हों तो केला, तरबूज, पपीता और खीरा को रोजाना के भोजन में शामिल करें। तरबूज का रस भी एसिडिटी के इलाज में बड़ा कारगर है।

5. नारियल पानी
अगर किसी को एसिडिटी की शिकायत है, तो नारियल पानी पीने से काफी आराम मिलता है। 

6. अदरक
खाने में अदरक को शामिल करें। इससे पाचन क्रिया बेहतर होती है और जलन से भी राहत मिलेगा। 

7. ठंडा दूध
बिना शक्कर के ठंडा दूध दिन में 2-3 बार पिएं। डर्सलक दूध में काफी मात्रा में कैल्शियम होता है जो एसिड बनने से रोकता है और जो पहले से मौजूद एसिड है दूध उसको अपने में ऑब्जर्व कर लेता है। जो पेट में तेज़ाब से छुटकारा दिलाता है। और जो जलन होती है उससे भी राहत मिलती है। बेहतर रिजल्टके लिए दूध में एक चमच्च देसी घी मिला लें। 

8. सब्जियां
बींस, सेम, कद्दू, बंदगोभी और गाजर जैसी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें। इससे एसिडिटी से लम्बी राहत मिलेगी।

9. लौंग
 एक लौंग अगर कुछ देर के लिए मुंह में रख ली जाए तो इससे एसिडिटी में राहत मिलती है। लौंग का रस मुंह की लार के साथ मिलकर जब पेट में पहुंचता है, तो इससे काफी आराम मिलता है।
10. तुलसी की पत्ती
जब भी  कभी आपको ये महसूस की एसिडिटी का प्रकोप बढ़ रहा है तो तुलसी की कुछ पत्तियां  चबाएं। कुछ देर में महसूस होगा कि पेट में जलन, बेचैनी कम होने लगी है। 

11. कार्बोहाइडे्रट
 कार्बोहाइडे्रट से भरपूर भोजन जैसे चावल एसिडिटी रोकने में मददगार है, क्योंकि ऐसे भोजन की वजह से पेट में एसिड की कम मात्रा बनती है। शेंग, डॉयफ्रूइट्स, फ्रूट्स, फ्रूट्स सलाद जैसी चीजें खाएं।

12. व्यायाम
नियमित व्यायाम और ध्यान की क्रियाएं पेट, पाचन तंत्र और तंत्रिका तंत्र का संतुलन बनाए रखती हैं।

एसिडिटी से बचने के लिए कुछ विशेष परहेज

  • तला भुना, वसायुक्त भोजन, ज्यादा चॉकलेट और जंक फ़ूड न खाएं।
  • शरीर का वजन बढ़ने न दें।
  • ज्यादा धूम्रपान और किसी भी तरह की मदिरा का सेवन एसिडिटी बढ़ाता है, इसलिए इनसे परहेज करें।
  • सोडा युक्त कोल्डड्रिंक व कैफीन आदि का सेवन न करें। इसकी बजाय हर्बल टी का प्रयोग करना बेहतर है। 
  • घर का बना खाना ही खाएं। 
  • जितना हो सके, बाहर के खाने से बचें।
  • दो बार के खाने में ज्यादा अंतराल रखने से भी एसिडिटी हो सकती है।
  • कम मात्रा में थोड़े-थोड़े समय अंतराल पर खाना खाते रहें।
  • अचार, मसालेदार चटनी और सिरके का प्रयोग भी न करें।
     

3 people found this helpful

I have hyper acidity and the air used to choke in the chest causing pain now I am better but if I perform any rigorous activity I get a mild pain in the chest section. Is it fatal?

MD - Alternate Medicine, BHMS
Homeopath, Surat
I have hyper acidity and the air used to choke in the chest causing pain now I am better but if I perform any rigorou...
It is not fatal. But reduce excessive exercises. It affects the heart because exercising adds more load to heart. You should keep continuing exercises, but not as rigorous as you say.
Submit FeedbackFeedback

I'm having OCD for many years I have identified that it was called" OCD" an year back! But it does not affect my normal life except and ony except my toilet practices! All the time when I go poo I feel like there is still sumthng, and I spend at least half an hour in toilet and I shit less! I have a fear to travel because of this I always think abt my stomach and when i'm thinking I feel so much of gas. I'm tired of this and I wanna get rid of it Is there any simple measures to it which I can do? I just want to be like others.

MBBS
General Physician, Chandigarh
I'm having OCD for many years
I have identified that it was called" OCD" an year back!
But it does not affect my norm...
Your problem is not isolated there are many others who face this problem there is no medicine to cure this particular problem you need Counselling and guidance you can get back to me on Lybrate website at instant contact or private questions section and I will help you out
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have been experiencing pain at the left side of my abdomen since yesterday .i do workouts and weights .could this be the reason .i have normal motion .no vomiting or nausea. Plzzz advice.

MBBS
General Physician, Cuttack
I have been experiencing pain at the left side of my abdomen since yesterday .i do workouts and weights .could this b...
It could be due to strain in abdominal muscle following heavy work out. Avoid sustained severe physical exertion and sternuous abdominal exercise.
Submit FeedbackFeedback

Blood through the stool in intermediate time and ununiform stooling process. What is the cause pls answer.

PGDMLS, PGDHHM, LLB, PhD Surgery, MS - General Surgery
General Surgeon, Gurgaon
Yes, this could well be piles or a fissure. Anal fissure improves with general measures but may require surgery. Piles of an early grade also improves with general measures. The general measures I would suggest are 1. Take lot of vegetables & fruits in your diet 2. Avoid chillies & spices 3. Take lot of fluids 4. Avoid constipation 5 periodically do anal exercises (alternately contracting & relaxing the buttocks, anal area & upper thighs) 6. Take sitz bath 3-4 times a day. This means sitting in a tub of warm water & doing anal exercises 7. Atleast once get it examined by a general surgeon.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am suffering from heart burn and indigestion even if I eat non spicy food. Please advise how can I overcome?

BHMS at Motiwala Homoeopathic medical college and Hospital,Nashik, PGDPC at Institute for Behavioral and Management studies, MS (Psychology) at Institute for Behavioral and Management studies
Homeopath, Nashik
I am suffering from heart burn and indigestion even if I eat non spicy food. Please advise how can I overcome?
Take Homeopathy medicine for best results 1) Nux vomica 200. 4 pills. 3 times a day for 15 days See the results and contact me for Follow up. Thanks.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

93%
(51 ratings)

Dr. Vijay Rai

MBBS,MD, DM
Gastroenterologist
Americana Gastro & Diagnostic Center, 
300 at clinic
Book Appointment