Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Havila

Physiotherapist, Hyderabad

Book Appointment
Call Doctor
Dr. Havila Physiotherapist, Hyderabad
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning....more
I pride myself in attending local and statewide seminars to stay current with the latest techniques, and treatment planning.
More about Dr. Havila
Dr. Havila is a popular Physiotherapist in Yousufguda, Hyderabad. Doctor is currently associated with Dr. Singh's The Physiotherapy and Pain Management Clinic in Yousufguda, Hyderabad. Save your time and book an appointment online with Dr. Havila on Lybrate.com.

Lybrate.com has top trusted Physiotherapists from across India. You will find Physiotherapists with more than 43 years of experience on Lybrate.com. You can find Physiotherapists online in Hyderabad and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Havila

Dr. Singh's The Physiotherapy and Pain Management Clinic

1st floor,krishna hospital, beside Savera bar and Restaurent, Krishna Nagar Main Road, Landmark: Near Yousufguda Check Post, HyderabadHyderabad Get Directions
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Havila

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I have pain in the back bone above 2 years by cause of have weight up cause know any solution.

MPT - Orthopedic Physiotherapy
Physiotherapist, Dehradun
I have pain in the back bone above 2 years by cause of have weight up cause know any solution.
Dear Lybrate user, According to your age and height, weight is 70 kg, you are overweight and it may be the cause of your back pain. If you have stiffness do Hot Fomentation and start some back care exercises. Avoid heavy weight lifting.
Submit FeedbackFeedback

I have pain in my left shoulder .MRI results show tendinitis & supraspinatus muscle tear .what should I do?

MPT, BPT
Physiotherapist, Noida
I have pain in my left shoulder .MRI results show tendinitis & supraspinatus muscle tear .what should I do?
Hot Fomentation. Gentle Shoulder Stretching. Core Strengthening Exercises. Gentle Neck Exercises. Avoid sleeping on affected side.. Warm up and cool down is a must.
Submit FeedbackFeedback

I am ajay 20 years old and I am suffering from back pain and neck pain frequently. What I should do?

Dip. SICOT (Belgium), MNAMS, DNB (Orthopedics), MBBS
Orthopedist, Delhi
Hi thanks for your query and welcome to lybrate. I am Dr. Akshay from fortis hospital, new delhi. You are very young to actually have persistent back and neck pains. If you have localized back & neck pain with no other symptoms like radiating leg pain, neurological symptoms like numbness, weakness, paresthesias etc, then you can start with following recommendations for initial period of 2-3 weeks: - to maintain proper posture of your back & neck while working and sleeping - if pain is more then you can take a short course of an anti-inflammatory medication like tab etoshine or paracetamol or one which suits you - physical therapy initially under supervision of a trained physiotherapist and then to continue at home - adequate calcium & vitamin d intake if levels are low in body - ice packs can applied if your pain is acute, then hot fomentation can be done at home - analgesic spray for local application can be used and is easily available. - avoid lifting heavyweight/ acute forward bending in mornings etc we will observe you for next 2-3 weeks how you respond to this conservative management protocol. If you are not feeling better, then we will have to get some investigations like, dynamic x rays of your neck & lower back region and few blood tests for evaluation. Do not hesitate to contact me if you need any further assistance. You can also discuss your case and treatment plans with me in a greater detail in a private consultation.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

# I want frank answer respected doctors I have degenerative ACL of left knee for last 3 months .by the time passed gradually I can walk slow with out any trouble with proper gait. If I walk fast feeling my knee giving up crack sounds .Right knee is straining. Does DEGENERATIVE ACL CURES NATURALLY TO ITS FULL STRENGTH OR DFENATILY SURGERY IS THE BEST OPTION?

Orthopedist, Visakhapatnam
# I want frank answer respected doctors
I have degenerative ACL of left knee for last 3 months .by the time passed gr...
Hi lybrate-user It depends on the age. People will be treated. If you’re in the ripe age, need replacement might be choice. People advice as a permanent solution for your pain. Degenerate ACL always associates with knee arthritis changes too. Need to see orrho surgeon for further evaluation.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have pain in my left hand I tried many of medicines consult to many doctor but I can't get relax of my hand wat to do now.

MPT, BPT
Physiotherapist, Noida
I have pain in my left hand I tried many of medicines consult to many doctor but I can't get relax of my hand wat to ...
Advice hot fomentation. Gentle stretching of hand muscles. Ball exercises. Wrist exerciser. Grip exercises.
Submit FeedbackFeedback

घुटनों के दर्द का आयुर्वेदिक इलाज (Knee Pain - Home and Ayurvedic Treatment)

B.A.M.S, Diploma In Nutrition & Health Education (DNHE, PG Diploma In Hospital Managment
Ayurveda, Delhi
घुटनों के दर्द का आयुर्वेदिक इलाज (Knee Pain - Home and Ayurvedic Treatment)

घुटनों की पीडा ( Knee Pain) :-

हमने कई बार अपने बड़े बुजर्गो को घुटनों के दर्द से तडपते हुए देखा है | दिन रात दवाई खाने से भी उन्हें कोई आराम नही मिलता है चलने फिरने में बहुत परेशानी होती है और साथ ही घुटनों को मोड़ने में, उठने – बैठने में भी दिक्कत आती है | कभी कभी उन्हें इतना ज्यादा दर्द होता की वो ठीक ढंग से सो भी नहीं पाते और उनके घुटनों में सुजन तक भी आ जाती है | उम्र के साथ हड्डियों की बीमारी बढती जाती है |

शरीर के जोड़ों में सूजन उत्पन्न होने पर गठिया होता है या कहे कि जब जोड़ों में उपास्थि (कोमल हड्डी) भंग हो जाती है। शरीर के जोड़ ऐसे स्थल होते हैं जहां दो या दो से अधिक हड्डियाँ एकदूसरे से मिलती हैं जैसे कि कूल्हे या घुटने। उपास्थि जोड़ों में गद्दे की तरह होती है जो दबाव से उनकी रक्षा करती है और क्रियाकलाप को सहज बनाती है। जब किसी जोड़ में उपास्थि भंग हो जाती है तो आपकी हड्डियाँ एक दूसरे के साथ रगड़ खातीं हैं, इससे दर्द, सूजन और ऐंठन उत्पन्न होती है।

सबसे सामान्य तरह का गठिया हड्डी का गठिया होता है। इस तरह के गठिया में, लंबे समय से उपयोग में लाए जाने अथवा व्यक्ति की उम्र बढ़ने की स्थिति में जोड़ घिस जाते हैं जोड़ पर चोट लग जाने से भी इस प्रकार का गठिया हो जाता है। हड्डी का गठिया अक्सर घुटनों, कूल्हों और हाथों में होता है। जोड़ों में दर्द और स्थूलता शुरू हो जाती है। समय-समय पर जोड़ों के आसपास के ऊतकों में तनाव होता है और उससे दर्द बढ़ता है।

गठिया क्या होता है?

गठिया एक लंबे समय तक चलने वाली जोड़ों की स्थिति होती है जिससे आमतौर पर शरीर के भार को वहन करने वाले जोड़ जैसे घुटने, कूल्हे, रीढ़ की हड्डी तथा पैर प्रभावित होते हैं। इसके कारण जोड़ों में काफी अधिक दर्द, अकड़न होती है और जोड़ों की गतिविधि सीमित हो जाती है। समय के साथ साथ गठिया बदतर होता चला जाता है। यदि इसका उपचार नहीं किया जाता है, तो घुटनों के गठिया से व्यक्ति का जीवन काफी अधिक प्रभावित हो सकता है। गठिया से पीडि़त व्यक्ति अपनी रोजमर्रा की गतिविधियां करने में समर्थ नहीं हो पाते और यहां तक कि चलने-फिरने जैसा सरल काम भी मुश्किल लगता है। इस प्रकार के मामलों में, क्षतिग्रस्त घुटने को बदलने के लिए डॉक्टर सर्जरी कराने के लिए कह सकता है।

क्यों होता है गठिया

अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी और बढ़ते वजन की वजह से घुटनों का दर्द भारत जैसे देशों में एक बड़ी समस्या का रूप लेता जा रहा है। 40-45 की उम्र में ही घुटनों में दिक्कतें आने लगी हैं। सर्वेक्षण कहते हैं कि दुनिया में करीब 40 प्रतिशत लोग घुटनों में दर्द से परेशान हैं। इनमें से लगभग 70 प्रतिशत आर्थराइटिस जैसी बीमारियों से भी जूझ रहे हैं। इनमें से 80 फीसदी अपने घुटनों को आसानी से मोड़ तक नहीं सकते। घुटनों की खराबी के शिकार 25 फीसदी लोग अपने रोजमर्रा के कामों को भी आसानी से नहीं कर पाते हैं। भारत में यह समस्या काफी गंभीर है। घुटनों का दर्द काफी हद तक लाइफ स्टाइल की देन है। यदि लाइफ स्टाइल और खानपान को हेल्दी नहीं बनाया तो यह समस्या और भी गंभीर हो सकती है। घुटने पूरे शरीर का बोझ सहन करते हैं। इन्हें बचाने का तरीका हेल्दी लाइफ स्टाइल, एक्सरसाइज और हैल्दी खानपान है। खाने में कैल्शियम वाला भोजन सही मात्रा में लें, सब्जियाँ जरूर खायें, फैट और चीनी से परहेज करें और मोटापे का पास भी न फटकने दें।

क्या वजन कम करने से (घुटनों के दर्द) गठिया में लाभ मिलता है?

घुटनो के गठिया से पीडि़त व्यक्ति के लिए निर्धारित वजन से अधिक वजन होना या मोटापा घुटनों के जोड़ों के लिए हानिकारक हो सकता है। अतिरिक्त वजन से जोड़ों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, मांसपेशियों तथा उसके आसपास की कण्डराओं (टेन्डन्स) में खिंचाव होता है तथा इसके कार्टिलेज में टूट-फूट द्वारा यह स्थिति तेजी से बदतर होती चली जाती है। इसके अलावा, इससे दर्द बढ़ता है जिसके कारण प्रभावित व्यक्ति एक सक्रिय तथा स्वतंत्र जीवन जीने में असमर्थ हो जाता है।

यह देखा गया है कि मोटे लोगों में वजन बढ़ने के साथ साथ जोड़ों (विशेष रूपसे वजन को वहन करने वाले जोड़) का गठिया विकसित करने का जोखिम बढ़ जाता है। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि मोटे लोगों को या तो अपने वजन को नियंत्रित करने अथवा उसे कम करने केलिए उचित कदम उठाने चाहिए।

गठिया से पीडि़त मोटापे/अधिक वजन से पीडि़त लोगों में वजन में 1 पाउंड (0.45 किलोग्राम) की कमी से, घुटने पर पड़ने वाले वजन में 4 गुणा कमी होती है। इस प्रकार वजन में कमी करने से जोड़ पर खिंचाव को कम करने, पीड़ा को हरने तथा गठिया की स्थिति के आगे बढ़ने में देरी करने में सहायता मिलती है।

घुटनों के दर्द के कई कारण हो सकते है  ( Cause of Knee Pain )

  • अधिक वजन होना,
  • कब्ज होना,
  • खाना जल्दी-जल्दी खाने की आदत,
  • फास्ट-फ़ूड का अधिक सेवन,
  • तली हुई चीजें खाना,
  • कम मात्रा में पानी पीना,
  • शरीर में कैल्सियम की कमी होना।

घुटनो में दर्द  के बचाव के कुछ आसान तरीके । (Home treatment for knee pain)

  • खाने के एक ग्रास को कम से कम 32 बार चबाकर खाएं। इस साधरण से प्रतीत होने वाले प्रयोग से कुछ ही दिनों में घुटनों में साइनोबियल फ्रलूड बनने लग जाती है।
  • पूरे दिन भर में कम से कम 12 गिलास तक पानी अवश्य पिए। ध्यान दीजिए, कम मात्रा में पानी पीने से भी घुटनों में दर्द बढ़ जाता है।
  • भोजन के साथ अंकुरित मेथी का सेवन करें।
  • बीस ग्राम ग्वारपाठे अर्थात् एलोवेरा के ताजा गूदे को खूब चबा-चबाकर खाएं साथ में 1-2 काली मिर्च एवं थोड़ा सा काला नमक तथा ऊपर से पानी पी लें। यह प्रयेाग खाली पेट करें। इस प्रयोग के द्वारा घुटनों में यदि साइनोबियल फ्रलूड भी कम हो गई हो तो बनने लग जाती है।
  • चार कच्ची-भिंडी सवेरे पानी के साथ खाएं। दिन भर में तीन अखरोट अवश्य खाएं। इससे भी साइनोबियल फ्रलूड बनने लगती है। अनुभूत प्रयोग है।
  • एक्यूप्रेशर-रिंग को दिन में तीन बार, तीन मिनट तक अनामिका एवं मध्यमा अंगुलि में एक्यूप्रेशर करें।
  • प्रतिदिन कम से कम 2-3 किलोमीटर तक पैदल चलें।
  • दिन में दस मिनट आंखें बंद कर, लेटकर घुटने के दर्द का ध्यान करें। नियमित रूप से अनुलोम-विलोम एवं कपालभाति प्राणायाम का अभ्यास करें। अनुलोम-विलोम धीरे-धीरे एवं कम से कम सौ बार अवश्य करें। इससे लाभ जल्दी होने लगता है।

 

हल्दी चुने का लेप (Lime and turmeric paste)

  1. हल्दी और चुना दर्द को दूर करने में अधिक लाभदायक साबित होते है ।
  2. हल्दी और चुना को मिलकर सरसो के तेल में थोड़ी देर तक गरम करे फिर उस लेप को घुटने में लगाकर रखे ।
  3. कुछ समय बाद दर्द मेा आराम मिलेगा
  4. इस प्रक्रिया को दिन मेा दो बार करे ।

हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk) :-

एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी के पावडर को मिलाकर सुबह शाम काम से काम दो बार पीए
यह एक प्राकृतिक दर्द निवारक का काम करता है

नेचुरल ट्रीटमेंट ( Natural treatment):-

विटामिन डी (vitamin D )का सबसे अच्छा स्रोत सूरज से उत्पन धुप ( sun light) है , जिससे आपको नेचुरल विटामिन डी (vitamin D ) मिलती है  जो हड्डी (bones)के लिए अधिक लाभदायक है

आयुर्वेद के अनुसार में बनाई गयी औषधियां ( Natural Medicine made in Ayurveda)

  • अमृता सत्व,
  • गोदंती भस्म,
  • प्रवाल पिष्टी,
  • स्वर्ण माक्षिक भस्म,
  • महावत विध्वंसन रस,
  • वृहद वातचितामणि रस,
  • एकांगवीर रस,
  • महायोगराज गुग्गुल,
  • चंद्रप्रभावटी,
  • पुनर्नवा मंडुर

इत्यादि औषधियों का सेवन  आयुर्वेदिक डॉक्टर  के परामर्श से करे। औषधियों के सेवन से  बिना किसी साइडइपैफक्ट के अधिक लाभ मिलता है।

दर्द के दौरान क्या न खाये। (Donot eat during Pain)

  • अचार,
  • चाय तथा रात के समय हलका व सुपाच्य आहार लें।
  • रात के समय चना, भिंडी, अरबी, आलू, खीरा, मूली, दही राजमा इत्यादि का सेवन भूलकर भी नहीं करें

14 people found this helpful

When I get back from my office to my home my backbone starts badly paining why so doctor?

M.sc Disability studies (Early Intervention), BPTh/BPT
Physiotherapist, Hyderabad
When I get back from my office to my home my backbone starts badly paining why so doctor?
If you are it profession you have to change some postural changes example sitting with straight back support, arms should be rested, avoid prolong standing, forward bending, weight lifting etc. Consult physio they will give treatment to reduce pain after reducing pain you have to strengthen your back muscles. Apply ice or hot pack for 5 to 10 minutes daily 4 to 5 times.
Submit FeedbackFeedback

I have back pain and also I have headhack in nights please give me the suggestion please and iam not well all the times.

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Navi Mumbai
I have back pain and also I have headhack in nights please give me the suggestion please and iam not well all the times.
This back pain is due to no back exercise. Due to this muscle get stiff. When suddenly you get move fast that time this stiff muscle get break and pain start. In ayurved there is mentioned one procedure kati basti. Do this for five days with medicated oil if you want to do it you should do it under doctor observation. So consult ayurvedic doctor near you. You will definitely get good result.
Submit FeedbackFeedback

Hi sir am BAMS student, how to treat for calf muscles pain patient n also they are kapha prakopaka is there.

BPTh/BPT
Physiotherapist, Delhi
Hi sir am BAMS student, how to treat for calf muscles pain patient n also they are kapha prakopaka is there.
For calf take Physiotherapy treatment( ULTRASONIC) and vitamin E SUPPLEMENT for 1 month. Also check calcium and vitamin D 3 levels in body
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My left knee is little swollen, mild pain also pain on right side below knee up-to ankle, Burning sensation in left feet after walking 2/3 kms.

Erasmus Mundus Master in Adapted Physical Activity, MPT, BPTh/BPT
Physiotherapist, Chennai
My left knee is little swollen, mild pain also pain on right side below knee up-to ankle, Burning sensation in left f...
Knee Pain:As arthritis is very common that you get generally bilaterally. Ice therapy would definitely help to reduce the inflammation. We also advise you to use knee cap which would help to prevent the knee from damaging further and also to maintain the quadriceps muscle tone. You can take Ultrasonic therapy in one of the nearby physiotherapy clinics which would help to heal the damaged cartilages along with shortwave diathermy which would help to improve the blood circulation. Simple Knee ExercisesSpecific knee exercises will also help ie. Keeping ball underneath the knee and keep pressing it. That's the simple exercise which will help you to strengthen the knee Ice therapy would definitely help to reduce the inflammation. We also advise you to use knee cap which would help to prevent the knee from damaging further and also to maintain the quadriceps muscle tone. I also advise you to use knee cap which would help to prevent the knee from damaging further and also to maintain the quadriceps muscle tone. Knee pain more than 2 weeks: if your knee is paining since 2 weeks, then you have to rethink whether you had any injury in the previous years. I also advise you to use knee cap which would help to prevent the knee from damaging further and also to maintain the quadriceps muscle tone. As arthritis is very common if anyone would've neglected any injury in the previous years. You can take Ultrasonic therapy in one of the nearby physiotherapy clinics which would help to heal the damaged cartilages along with shortwave diathermy which would help to improve the blood circulation. Ice therapy would definitely help to reduce the inflammation.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

90%
(10 ratings)

Dr. Kiran Kumar Lakkampalli

BPTh/BPT
Physiotherapist
Activelife Physiotherapy & Rehabilitation Centre, 
300 at clinic
Book Appointment