Get help from best doctors, anonymously
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Change Language

अँगूठे में मोच के कारण और उपचार

Written and reviewed by
Dr. Kapilchand Narra 92% (22 ratings)
B.P.T, M.P.T
Physiotherapist, Hyderabad  •  16 years experience
अँगूठे में मोच के कारण और उपचार

अंगूठा में मोच एक दर्दनाक स्थिति है, जो अंगूठे में लिगमेंट की चोट के कारण होता है. लिगमेंट एक मुलायम टिश्यू है, जो हड्डियों के जोड़ो को एक दूसरे से जोड़ता है. अंगूठे ज्यादा पीछे मुड़ने के कारण लिगमेंट आंशिक या पूरी तरह से टूट सकता है, जिससे अंगूठे और तर्जनी को चोट से जुड़ने की वजह से लिगमेंट में चोट आ सकती है.

बास्केटबॉल, रग्बी और फुटबॉल खिलाड़ियों के बीच यह समस्या काफी आम है. इस कारण से, इसे स्पोर्ट्स चोट के रूप में जाना जाता है. स्कीइंग अंगूठे को अत्यधिक दबाव भी दे सकती है, जिससे लिगामेंट टूट जाता है. स्कीइंग में चोट को स्कीयर के अंगूठे कहा जाता है.

चोट के कारण अत्यधिक दर्द हो सकता है. इसके कारण अंगूठे या कभी-कभी पुरे हाथ में सूजन हो सकती है. कुछ मामले में, प्रभावित जगह पर कमजोरी और अस्थिरता देखी जा सकती है. एक अंगूठे की मोच आपको पिंच और पकड़ने की क्षमता को काम कर सकता है. मरीज को एक गिलास पकड़ने, झुकने या लिखने में परेशानी होती है. कोई चोट जिसका इलाज नहीं हुआ है, उसके कारण मांसपेशियों में कमजोरी, निशान ऊतक गठन, अंगूठे की अस्थिरता या गठिया भी हो सकता है. प्रारंभिक निदान और उपचार के लिए एक पेशेवर चिकित्सक से मिलने की सलाह दी जाती है.

आम तौर पर, एक्स-रे चोट की उपयुक्त निदानकरने में मदद करता है. डॉक्टर हड्डी और लिगामेंट के चोट को भी जांच करता है, इसके बाद वह इलाज के लिए एक उचित प्लान बनाता है. कुछ स्थिति में लिगामेंट के चोट को पट्टी बांध कर इलाज किया जा सकता है. एक पुरानी लिगामेंट की चोट ठीक नहीं हो सकती है, जिसे सर्जरी कर के ठीक किया जाता है.

एक आंशिक या हल्का लिगामेंट का चोट उपयोगी घरेलू उपचार जैसे बर्फ पैक, पट्टी या स्प्लिंट डालने के माध्यम से उपचार किया जा सकता है. यह भी सलाह दी जाती है की अँगूठे को ऊपर न उठाए या उसमे ज्यादा मूवमेंट नहीं कर सकते है. हॉट पैक भी फायदेमंद है, क्योंकि यह दर्द को कम कर सकता है और मांसपेशियों को आराम दे सकता है. हालांकि, चोट के पहले 48 घंटों के दौरान हॉट पैक से बचा जाना चाहिए, क्योंकि इससे रक्तस्राव हो सकता है.

यदि चोट पुरानी हो और लिगमेंट पूरी तरह टूटा हुआ हो, तो फिर सर्जरी की आवश्यकता होती है. अगर लिगमेंट की चोट का उपचार करने में विफल होता है, तो हड्डियों में एक अलग लिगमेंट जोड़ा जाता है. यह टूटी हुई लिगमेंट के हड्डी में फिर से जोड़ने में मदद करता है. कभी-कभी हड्डी को नुकसान भी हो सकते हैं, क्योंकि हड्डी के टुकड़े अस्थिबंधन से दूर हो जाते हैं. ऐसे मामलों में, हड्डी के टुकड़ों को सर्जरी के माध्यम से अपनी स्थिति में वापस रखा जाता है. सर्जरी के बाद, प्रभावित क्षेत्र पर पट्टी को तब तक रखना चाहिए, जब तक यह ठीक नहीं हो जाता है.

एक फिजियोथेरेपिस्ट की शुरुआती उपचार में संभावित फायदे हैं. एक चिकित्सक उपचार प्रक्रिया को तेज कर सकता है, जिससे दर्द से छुटकारा पाने में मदद मिल सकता है. यह दैनिक कार्यों को फिर से शुरू करने की व्यक्ति की क्षमता में सुधार करता है. प्रभावित क्षेत्र में फिर से चोट लगने और बचने के लिए मालिश और अभ्यास कर सकते है. फिजियोथेरेपी भी योजनाबद्ध गतिशीलता अभ्यासों के माध्यम से सर्जरी के बाद अत्यधिक मदद करता है जो मूवमेंट और मजबूती प्रदान करने में मदद करता है.

5112 people found this helpful

संबंधित लैब टेस्ट

View All