Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. Nandini Mittal

Gynaecologist, Gurgaon

Book Appointment
Call Doctor
Dr. Nandini Mittal Gynaecologist, Gurgaon
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care....more
I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care.
More about Dr. Nandini Mittal
Dr. Nandini Mittal is a renowned Gynaecologist in New Gurgaon, Gurgaon. You can meet Dr. Nandini Mittal personally at Dr Nandini Mittal's Clinic in New Gurgaon, Gurgaon. You can book an instant appointment online with Dr. Nandini Mittal on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified Gynaecologists in India. You will find Gynaecologists with more than 37 years of experience on Lybrate.com. Find the best Gynaecologists online in Gurgaon. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Nandini Mittal

Dr Nandini Mittal's Clinic

Sharma Nursing Home, Purkhas Road, Mahavir ColonyGurgaon Get Directions
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Nandini Mittal

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Amla Churna Ke Fayde In Hindi - आंवला चूर्ण के फायदे

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Amla Churna Ke Fayde In Hindi - आंवला चूर्ण के फायदे

कुदरत ने हमें कुछ ऐसी चीजों से नवाजा है जो अनाज की तरह हमारा पेट नहीं भरते और ना ही मसाले सब्जियों की तरह हमारे भोजन का स्वाद बढाते हैं, बल्कि वह तो औषधीय गुणों से परिपूर्ण होकर हमारे गलत खान-पान, अनहेल्दी लाइफस्टाइल के रिजल्ट में हुई शारीरिक तकलीफों से निजात दिलाने में हमारी मदद करता हैं जिनमें से एक है आंवला। जी हां आंवला में हैं कई बीमारियों से निपटने की शक्ति। आंवला में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता हैं। और आंवले  में पोटासियम , कार्बोहायड्रेट , फाइबर, प्रोटीन्स, विटामिन्स ‘ए’, ’बी काम्प्लेक्स, मैग्नीशियम, विटामिन ‘सी’, आयरन युक्त होने के साथ ही यह विटामिन ‘सी’ से भरपूर होता है।

आंवला चूर्ण, अचार जूस आदि किसी ना किसी रूप में लगभग हम सभी के घरों में मौजूद होता है। आंवला की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे किसी भी रूप में खाया जाए यह अपने गुणों फायदा ही पहुंचाता है। हमारे यहां आंवले का चूर्ण खाने का काफी प्रचलन है क्योंकि इसे घर पर बनाना या बाहर से लाकर महीनों रखकर खाना किसी और तरीके से बेहतर है क्योंकि ना खराब होने की टेंशन ना ज्यादा महंगा जबकि इसके फायदे कई दूसरे ऑप्शन्स से कहीं ज्यादा महंगे हैं। आंवला चुर्ण के फायदों की लंबी फेहरिस्त है जिनमें से आज हम जानेंगे कुछ खास होने वाले स्वास्थ्य संबन्धी फायदों की।

शरीर के विभिन्न हिस्सों को आंवला चूर्ण से होने वाले लाभ 


1. मेटाबोलिज्म 
आंवला मेटाबोलिक क्रियाशीलता को बढाता हैं। मेटाबोलिज्म क्रियाशीलता से हमारा शरीर स्वस्थ और सुखी होता हैं। आवला भोजन को पचाने में बहुत मददगार साबित होता हैं खाने में अगर प्रतिदिन आवले की चटनी, मुरब्बा, अचार, रस, चूर्ण या चवनप्रास कैसे भी रोजमरा की जिन्दगी में शामिल करना चाहिए। इससे कब्ज की शिकायत दूर होती हैं पेट हल्का रहता हैं। रक्त की मात्रा में बढ़ोतरी होती हैं। खट्टे ढकार आना, गैस का बनाना, भोजन का न पचना, इत्यादि में 5 ग्राम आवला चूर्ण को पानी में भिगों कर सुबह शाम खाएं इससे अम्लीय पित्त के बुरे प्रभाव से छुटकारा मिलता हैं।

2. डायबिटीज
आवला में क्रोमियम तत्व पाया जाता हैं जो डायबिटिक के उपयोगी होता हैं। आवला इंसुलिन होरमोंस को को सुदृढ़ करता हैं और खून में सुगर की मात्रा को नियंत्रित करता हैं। क्रोमियम बीटा ब्लॉकर के प्रभाव को कम करता हैं, जो की ह्रदय के लिए अच्छा होता हैं ह्रदय को स्वस्थ बनाता हैं।आवला खराब कोलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कोलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं। डायबिटिक आंवले को चूर्ण, जूस या किसी न किसी रूप में अपनी दिनचर्या में शामिल करें। 

3. पीरियड्स प्रॉब्लम
महिलाओं में पीरियड्स संबन्धी पीरियड्स देर से आना, ज्यादा ब्लीडिंग होना, जल्दी जल्दी पीरियड्स आना, कम आना, पेट में दर्द का होने जैसी कई समस्यां होती रहती हैं। इसलिए उन महिलाओं को यह जानना काफी जरूरी है कि अब चिंता ना करें क्योंकि आंवला के सेवन से वे इन तकलीफों से राहत पा सकती हैं। दरसल आवला में मिनिरल्स, विटामिन्स पाया जाता हैं जो महावारी में बहुत आराम दिलाता हैं इसलिए नियमित रूप से आप आंवला और खासकर चूर्ण का सेवन करना शुरू कर दें इससे आपको महावारी की समस्याओ से छुटकारा मिल जाएगा।

4. प्रजनन समस्या
आंवला प्रजनन के लिए बहुत ही उत्तम हैं महिलाओ और पुरुषो के लिए आंवला के सेवन से पुरुषो में शुक्राणु की क्रियाशीलता और मात्रा बढती हैं और महिलाओं में अंडाणु अच्छे और स्वस्थ बनते हैं साथ ही माहवारी नियमित हो जाती हैं। इस तरह दोनों को ही अपनी प्रजनन क्षमता में सुधार और दोषमुक्त करने के लिए नियमित आंवला चूर्ण का सेवन करना चाहिए।

5. हड्डियों की मजबूती 
आंवला के सेवन से हड्डियाँ मजबूत और ताकत मिलती हैं। आंवला के सेवन से ओस्ट्रोपोरोसिस और आर्थराइटिस एवं जोरो के दर्द में भी आराम दिलाती हैं। इए रोजाना आंवला चूर्ण खाने की आदत डालें।

6. तनाव से मुक्ति
आमला खाने से तनाव में आराम मिलता हैं अच्छी नींद आती हैं। आवला के तेल को बालों के जड़ों में लगाया जाये तो कलर ब्लाइंडनेस से छुटकारा मिलता हैं।सर को ठडा रखता हैं।और राहत देता हैं। इसलिए अपनी दिनचर्या में आंवला चूर्ण को स्थान दें।

7. हार्ट प्रॉब्लम
आवला हमारे ह्रदय के मांसपेशियों के लिए उत्तम होता हैं। आमला हमारे ह्रदय को स्वस्थ बनाने में कारगर हैं।आमला ह्रदय की नालिकाओ में होने वाली रुकावट को ख़त्म करता हैं।खराब कलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं।।आवला में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। जो शरीर में फ्री रेडिकल को बनाने ही नहीं देता।एंटी ऑक्सीडेंट के रूप में एमिनो एसिड और पेक्टिन पाए जाते हैं।जो की कलेस्ट्रोल को नहीं बनाने देता हैं और ह्रदय की मांशपेशियों को मजबूती देता हैं।आवला का रस या चूर्ण रोजाना ग्रहण करना काफी फायदेमंद है।

8. आँखों 
आंवला का चूर्ण आँखों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। आंवला आँखों की दृष्टी को या ज्योति को बढाता हैं। मोतियाबिंद में, कलर ब्लाइंडनेस, रतोंधी या कम दिखाई पड़ता हो तो भी आंवला का सेवन किसी भी रूप में करें लाभ होगा। आखों के दर्द में भी काफी फायदा होता हैं।

9. संक्रमण से सेफ्टी 
आंवला में बक्टेरिया और फंगस से लड़ने की क्षमता होती हैं और ये बाहरी बीमारियों से भी हमें बचाती हैं। आंवला शरीर को पुष्ट कर उसे रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाती हैं, और टोक्सिन को यानी विषाक्त प्रदार्थ को हमारे शरीर से निकाल देती हैं। आंवला अल्सर, अल्सरेटिव, कोलेटीस, पेट में संक्रमण, जैसे विकार को  खत्म करता हैं। आंवला का रस या पाउडर रोजाना लेने से बहुत फायदा होता हैं।

10. वजन घटाए
आंवला के रस का सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती हैं। आंवला हमारे मेटाबोलिज्म को तेज कर वजन कम करने में मदद करती हैं। आंवला के सेवन से भूख कम लगती हैं और काफी देर तक पेट भरा हुआ रहता हैं। 

11. नकसीर
अगर किसी को नकसीर की तकलीफ हैं तो उन्हें आवला का सेवन करते रहना चाहिए। रोजाना एक चम्मच आंवला पाउडर को पानी में मिलाकर पीने से नाक से खून आने की आदत से आराम मिलता है।

12. उग्रता व उत्तेजना से आराम
आंवला  के सेवन से हमेशा आने वाले उत्तेजना से शांति मिलती हैं, अचानक से पसीना आना, गर्मी लगना, धातु के रोग, प्रमेय, प्रदर, बार बार कामुक विचार का आना इत्यादि चीजों से आराम दिलाता हैं।इसलिए रोज आंवला चूर्ण की खुराक लें।

13. उल्टी या वमन से राहत
आंवला का पाउडर और शहद का सेवन करें या आवला के रस में मिश्री मिलाकर सेवन करने से उल्टियों का आना बंद हो जाता हैं।

14. रोग प्रतिरोध 
आंवले में एंटी ओक्सिडेंट होते हैं जो शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाता है और ये मौसम में होने वाले बदलाव के कारण होने वाले वाइरल संक्रमण से भी बचाता है। इसलिए आंवला चूर्ण का भरपूर सेवन करें।

2 people found this helpful

How to maintain hemoglobin level naturally, after having heavy flow during periods. And how to maintain calcium intake after 30's for strong bones.

MBBS
Sexologist, Panchkula
How to maintain hemoglobin level naturally, after having heavy flow during periods.
And how to maintain calcium intak...
Take green leafy vegetables daily to increase your haemoglobin. For strong, take milk and milk products and keep your vitamin D levels normal.
Submit FeedbackFeedback

PCOS Can Trigger Infertility - Do You Think It Can Be Treated?

MBBS, MD - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist, Kanpur
PCOS Can Trigger Infertility - Do You Think It Can Be Treated?

PCOS is a disorder characterized by enlarged ovaries and the formation of tiny cysts on the outer sides of the ovaries. Polycystic Ovary is a hormonal condition that stimulates surplus production of androgen in women. Androgen being a “male hormone,” causes development of muscle mass and hair in men, and it has similar effects on women as well when present in high amount. They trigger acne and excessive growth of body hair in women accompanied by irregular or lack of ovulation in the form of absent or erratic menstrual cycle. Hence, owing to troubles in ovulation (discharge of ovules from the ovaries), one may experience difficulties in getting pregnant.

Many women suffering from PCOS are unaffected by the influence of the hormone ‘insulin’, which indicates, that it requires a larger amount of insulin to sustain a normal blood sugar level. High levels of insulin as a result of insulin resistance, in turn drastically boosts androgen production.

Symptoms of PCOS include:

  1. Irregular Menstrual Cycle. Women with PCOS may miss periods or have fewer periods (fewer than eight in a year). Or, their periods may come every 21 days or more often. Some women with PCOS stop having menstrual periods.

  2. Excessive hair. Excessive hair on the face, chin, or parts of the body where men usually have hair. This is called "hirsutism." Hirsutism affects up to 70% of women with PCOS.3

  3. Acne. Acne on the face, chest, and upper back

  4. Hair Loss. Thinning hair or hair loss on the scalp; male-pattern baldness

  5. Weight Gain. Weight gain or difficulty losing weight

  6. Skin Darkening. Darkening of skin, particularly along neck creases, in the groin, and underneath breasts

  7. Skin tags. Skin tags, which are small excess flaps of skin in the armpits or neck area

Treatment for PCOS:

There is apparently no procedure to cure PCOS and improve fertility; but the treatment is tailored as per the symptoms of the condition:

  1. A lack of ovulation and menstrual cycles hinders the secretion of progesterone (a hormone preparing the uterus for pregnancy), thus hampering conception. In this case, the treatment is directed at maintaining a regular ovulation and menstrual cycle which can be fixed by consuming birth control pills. These pills comprise of both progestin and estrogen which aid to bring down androgen production.

  2. PCOS along with insulin resistance warrants the use of certain medications such as metformin which are prescribed to enhance insulin sensitivity. In case you have a concern or query you can always consult an expert & get answers to your questions!

4588 people found this helpful

I am 25 years old married since 2 yrs. My husband report says bilateral small testes, severe left and mild right varicocele. My follicle count is 3-4 gfs of right and 1-2 gfs of left ovary. Wanted to know if ivf works in 1st attempt.

MBBS (Gold Medalist, Hons), MS (Obst and Gynae- Gold Medalist), DNB (Obst and Gynae), Fellow- Reproductive Endocrinology and Infertility (ACOG, USA), FIAOG
Gynaecologist, Kolkata
It all depends on other parameters like semen analysis, tubal status, condition of uterus, hormone levels etc.
Submit FeedbackFeedback

Twin pregnancy one 1is 7 weeks having heartbeat and 2 nd is 5 weeks with no heartbeat. My lmp was 1st april done my ultrasound on 20th may after 4,5 dats tiny blood clots while passing urine. Taking medicine trexana, ecosprin, thyronorm, folvite.

MHA, PGDPMC, DGO, MBBS
Gynaecologist, Delhi
Twin pregnancy one 1is 7 weeks having heartbeat and 2 nd is 5 weeks with no heartbeat. My lmp was 1st april done my u...
it happens often in twin pregnancy that one of the twin does not grow and this seems to be happening in your case. the medicines are being given for growth of the second twin. It should help and a sonography after 2 weeks would give a fair idea about the same
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Is it is ok to eat pine apple or drink its juice after et in ivf. Is there any that must be eaten and which never to be eaten in ivf. Please suggest me some eatables.

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
Hello, There are no restrictions to pineapple intake or any fruits especially after IVF, but in general avoid papaya.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hi doctor, I need to ask about fluctuating dates of my period. Last month my date was 21st and this month my period came on 18th. Is that any problem? Should I take any medicine or something?

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Ahmednagar
Hi doctor, I need to ask about fluctuating dates of my period. Last month my date was 21st and this month my period c...
Hello Lybrate user if your periods coming early two days its normal no need of any medicine bcoz normal period cycle is of 28 days so its not a problem.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Amla Oil Benefits, Side Effects and How to Make in Hindi - आंवला तेल के फायदे, नुकसान और बनाने की विधि

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Amla Oil Benefits, Side Effects and How to Make in Hindi - आंवला तेल के फायदे, नुकसान और बनाने की विधि

आंवला को गुणों की खान भी कहा जाता है क्योंकि इसमें कई सरे गुण पाए जाए हैं. वैज्ञानिक नाम इंडियन गुस्बिरी वाला आंवले से तेल, मुरब्बा, आचार आदि बनता है. दुनिया भर में उगाए जाने वाले इस पौधे को आयुर्वेदिक इस्तेमाल के लिए प्रयोग किया जाता है. इसमें विटामिन सी, टैनिन और पॉलीफेनिक यौगिक आदि पाए जाते हैं. जो कि कई तरह के परेशानियों क ख़त्म करते हैं. आइयेइस्के फायदे और नुकसान पर एक नजर डालते हैं.

1. एंटी एजिंग के रूप में
इसका इस्तेमाल एंटी एजिंग के रूप में किए जाने पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. ये विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने का काम करता है और ये झुर्रियां कम करने में काफी मददगार होती ई.
2. सूजन कम करने में
सूजन कम करने में भी इसके लाभ नजर आते हैं. इसके जैसी ही कई अन्य समस्याओं को कम करने में आप आंवले के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं.
3. रुसी के लिए
रुसी की समस्याओं पर को ख़त्म करने लिखने के लिए भी आंवले के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके नियमित मालिश से बालों में मजबूती और रुसी जैसी समस्याओं का निदान नहीं हो पाता है.
4. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में
आंवले के तेल के नियमित के सिवान से संक्रमण और कई अन्य तरह की बीमारयों में मदद मिलती है. इसे एक टॉनिक की तरह लेने से ये काफी प्रभावी होता है.
5. एंटीऑक्सिडेंट के रूप में
आंवले के तेल में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है. जो कि आपके शरीर को कई खतरों और बिमारिओं से बचाता है.
6. दिल को स्वस्थ रखने में
दिल को स्वस्थ रखने में भी आंवले के तेल की भूमिका होती है. इसमें मौजूद तत्व फैटी एसिड और कोलेस्ट्राल को नियंत्रित करने की क्षमता रखते हैं.
7. त्वचा के लिए
त्वचा को चमकदारर बनाने के लिए इसमें कई तरह के तवों को मौजद होते हैं. यदि आप इसे  घरपर थोड़ा सा भी परेशान करने के लिए निर्णय मानते हैं.
8. बालों के लिए
बालों के टूटने, रूखापन आदि समस्याओं के निदान में आंवला के तेल की सकारात्मक भूमिका होती है. इसके लिए आपको अपने बालों में इसके तेल से मालिश करनी होगी.
9. गठिया के उपाचार में
जोड़ों के दर्द में राहते के लिए इसमें फैटी एसिड पाया जाता है जो कि उतकों को शांत करके जोड़ों के दर्द में राहत देने का काम करता है.

आंवला के तेल के नुकसान

  • सिमित मात्रा में इसका प्रयोग नहीं करने से एलर्जी जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं.
  • कम गुणवत्ता का वाले आंवला के तेल का इस्तेमाल करने से बचें.

आंवला के तेल को बनाने की विधि

  • आंवला में कई तरह के पोष तत्व पाए जाते हैं. इसका तेल निम्न तरीके से आप भी बना सकने हैं.
  • सामग्री
  • एक कप ताजा पिसा हुआ आंवला
  • एक बड़ी चम्मच नारियल का तेल

बनाने की विधि
पिसे हुए आंवले का रस निकाल लें. इसके बाद इसके रस में नारियल का तेल मिलाएं. फिर इसे एक समान रूप से मिश्रित न होने तक मिलाएं. नारियल तेल के पिघलने के लिए इसे थोड़ा गर्म करें. इसके ठंडा होने के बाद इसे अपने बालों में लगाएं.
 

6 people found this helpful
View All Feed

Near By Doctors

90%
(218 ratings)

Dr. Nidhi Agarwal

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology
Gynaecologist
Kidney and Prostate Clinic & Women's Clinics, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(298 ratings)

Dr. Hitu Madan

FIMS, DGO, MBBS
Gynaecologist
Madaan Medical Centre, 
300 at clinic
Book Appointment
92%
(15 ratings)

Dr. Vidya Bisla

MS - Obstetrics and Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
Dayal Eye and Maternity Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
88%
(203 ratings)

Dr. Smita Vats

FICMCH, Diploma In Laproscopic Surgery, Certified in Laparoscopy & Hysteroscopy, DNB (Obstetrics and Gynecology), MBBS
Gynaecologist
The Gynae Point, 
300 at clinic
Book Appointment
83%
(10 ratings)

Miracles Healthcare

MBBS
Gynaecologist
Miracles Fertility & IVF Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Renu Yadav

Diploma in Laparoscopic Surgery, DGO, MBBS
Gynaecologist
Angels Care Clinic, 
400 at clinic
Book Appointment