Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor
Book Appointment

Dr. Ekta Bajaj

Gynaecologist, Delhi

70 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Ekta Bajaj Gynaecologist, Delhi
70 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

To provide my patients with the highest quality healthcare, I'm dedicated to the newest advancements and keep up-to-date with the latest health care technologies....more
To provide my patients with the highest quality healthcare, I'm dedicated to the newest advancements and keep up-to-date with the latest health care technologies.
More about Dr. Ekta Bajaj
Dr. Ekta Bajaj is a popular Gynaecologist in Nangloi, Delhi. She is currently associated with Altius Sonia Hospital in Nangloi, Delhi. Save your time and book an appointment online with Dr. Ekta Bajaj on Lybrate.com.

Lybrate.com has an excellent community of Gynaecologists in India. You will find Gynaecologists with more than 30 years of experience on Lybrate.com. You can find Gynaecologists online in Delhi and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Ekta Bajaj

Altius Sonia Hospital

#1 Gulshan Park,Rohtak Rd, Nangloi, Landmark: Near Nangloi Railway Station, DelhiDelhi Get Directions
70 at clinic
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Ekta Bajaj

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Iron Benefits, Sources and Side Effects in Hindi - आयरन के स्रोत, फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Iron Benefits, Sources and Side Effects in Hindi - आयरन के स्रोत, फायदे और नुकसान

हमारे शरीर में पाए जाने वाले कई महत्वूर्ण खनिजों में आयरन भी एक है. दरअसल आयरन ही वो खनिज है जिसकी सहायता से रक्त में मौजूद हिमोग्लोबिन ऑक्सीजन को हमारे शरीर में संचारित करता है. आप कह सकते हैं कि यह हमारे शरीर के रक्त में हीमोग्लोबिन का सबसे महत्वपूर्ण घटक है. हमारे सम्पूर्ण शरीर में ये ऑक्सीजन पहुँचाने का काम करता है. आयरन एक ऐसा खनिज पदार्थ है जिसकी हमारे शरीर में पर्याप्त मात्रा में मौजूदगी हमारे शरीर को उर्जा से भर देती है. आइए आयरन के स्त्रोत, इसके फायदे और नुकसान के बारें में जानें.

  1. आयरन के स्त्रोत: आयरन के मौजूदगी का हमारे स्वास्थ्य पर सीधा प्रभाव पड़ता है. यानी हमारे सम्पूर्ण स्वास्थ के लिए आयरन एक महत्वपूर्ण घटक है. आयरन की कमी को पूरा करने के लिए हमारे पास कई स्त्रोत हैं. कई ऐसे फल और सजियाँ है जिनकी सहयाता से हम आयरन की कमी को पूरा कर सकते हैं. जैसे कि हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ, मेथी और सरसों का साग, आटा, हरी बीन्स, पालक, ब्रोकली, शलजम, शकरकंद, बादाम, किशमिश, चुकंदर, काबुली चना, राजमा, सोयाबीन, खजूर, तरबूज, सेब, अंगूर, अनार, बादाम, सूखे मेवे, मसूर की दाल, अंडा, मछली आदि. इसके अलावा अंकुरित दाल का सेवन हमारे शरीर में खून की मात्रा बढ़ाने के लिए बहुत ही अच्छा विकल्प माना जाता है.
  2. आयरन से होने वाले फायदे: हमारे प्राण वायु ऑक्सीजन को पुरे शरीर में पहुंचाने का काम आयरन का ही है. इसलिए आयरन के कारण ही हम ऑक्सीजन का उपयोग कर पाते हैं. लेकिन कई बार ऐसी स्थिति आती है जब हमारे शरीर में आयरन की कमी से कई समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं. इसे एनीमिया के नाम से जानते हैं इस रोग को रोकने के लिए आयरन हमारे रक्त में हीमोग्लोबिन का निर्माण करता है इसके अलावा आयरन हमारी मांसपेशियों में ऑक्सीजन का उपयोग तथा उसे शरीर में सहेज कर रखने में भी मदद महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इसके साथ ही आयरन बच्चों के विकास तथा गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे नवजात शिशु के संपूर्ण विकास में भी काफी उपयोगी है.
     

आयरन के नुकसान
जाहिर है किसी भी चीज का की अधिकता नुकसानदेह साबित होती है. ठीक इसी तरह से आयरन की भी अत्यधिक मात्रा भी हमारे शरीर में नुकसान पहुंचाती है. यदि हमारे शरीर में आयरन की मात्रा आवश्यकता से अधिक हो जाए निम्नलिखित नुकसान होंगे:-

  • शरीर में खून की कमी से लिवर डैमेज का खतरा उत्पन्न होता है.
  • ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती हैं.
  • खून की कमी के कारण कैंसर होने के जोखिम में भी वृद्धि होती है.
  • जब शरीर में खून की कमी होती है तो आंखों के सामने अंधेरा छाने लगता है.
  • इसमें आपको अत्यधिक कमजोरी व थकावट भी महसूस होता है.
  • खून की कमी के कारण शरीर का रंग पीला पड़ने लगता है.
  • बहुत हद तक संभव है कि आपके जीभ में सूजन की परेशानी उत्पन्न हो.
  • जब शरीर में खून की कमी होती है तो आपका दिल का तेजी से धड़कने लगता है.
  • हाथों पैरों में दर्द होना भी शरीर में खून की कमी को ही दर्शाता है.
  • सांस लेने में दिक्कत होना भी खून की कमी के कारण उत्पन्न होने वाली समस्याओं में से एक है.
  • भूख का ना लगना भी खून की कमी से ही उत्पन्न होता है.
  • खून की कमी के कारण आप जल्दी जल्दी बीमार होने लगते हैं.
  • इस दौरान आपको आवश्यकता से अधिक ठण्ड महसूस हो सकता है.
  • आपके शरीर में खून की कमी के कारण आपको सिर में दर्द की शिकायत भी हो सकती है.
  • खून की कमी के कारण बाल झड़ने की समस्या भी उत्पन्न होने की सम्भावना रहती है.
  • इस दौरान भूख न लगने की समस्या भी देखी जाती है.
     

8 people found this helpful

On 5th feb I have got spontaneous abortion at 22 weeks. Now I got pain in lower abdominal region when I used sit long time. Pls tell me y it s happening? And doctor suggested me to undergo hsg scan at 3 months. What s the procedure for that?

MBBS, MD - Internal Medicine, Post Graduate Program in Diabetology
General Physician, Delhi
lybrate-user get Usg for abdominal pain HSG is a test done to see patency of Fallopian tubes I think you should wait for that because after all you did conceive sun fact investigations need to be done for finding reasons for abortion.
Submit FeedbackFeedback

My wife's periods started on 11th april and ended on 13th april. We had unprotected sex on 14th april and I gave her unwanted 72 pill on 16th in afternoon. Again on 16th april night we had unprotected sex. And on 18th april unprotected unprotected sex. Now 72 hrs will be finished on 19th night (taking base of 16th unprotected unprotected sex) so shall I give her unwanted 72 pill on 19th morning? Please answer its very urgent.

Diploma in Obstetrics & Gynaecology, MBBS, MD - Community Medicine
Gynaecologist, Lucknow
My wife's periods started on 11th april and ended on 13th april. We had unprotected sex on 14th april and I gave her ...
Hello, it is very unlikely that she will get pregnant as told by you. You should wait for another 3-4 days for withdrawal bleeding to occur due to ipill. Too much of it can disturb her cycle. In future, she should use contraceptive pills for avoiding pregnancy.
Submit FeedbackFeedback

Palm oil Benefits and Side Effects in Hindi - ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Palm oil Benefits and Side Effects in Hindi - ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान

ताड़ एक ऐसा पेड़ है जो अपने औषधीय गुणों की ज्यादा लोकप्रियता नहीं है. ये लाल या नारंगी रंग का होता है. इसकी दो किस्में हैं अमेरिकन ताड़ का तेल और अफ़्रीकी ताड़ का तेल. ताड़ के तेल में बीटा कैरोटिन का उच्च स्तर पाया जाता है. इसमें संतृप्त वसा की मात्रा काफी कम होती है. इससे एलडीएल कोलेस्ट्राल को बढ़ाने में मदद मिलती है जिससे कि ह्रदय के विकारों को रोकने में मदद मिलती है. कुछ देशों (दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका और दक्षिण पूर्व एशिया) में इसका इस्तेमला भोजन बनाने के लिए भी किया जाता है. ट्रांस वसा की उपस्थिति के कारण लोग अब इसे अपने आहार में इस्तेमाल करने लगे हैं. खराब कोलेस्ट्राल वाले आहार के रूप में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है. आइए ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान पर एक नजर डालें.
1. कैंसर के उपचार में
कैंसर जैसे गंभीर बीमारियों के उपचार में ताड़ के तेल की सकारात्मक भूमिका दिखाई पड़ती है. दरअसल इसमें टेकोफेरोल नाम का एक तत्त्व पाया जाता है. असल में ये विटामिन ए का ही एक रूप है. ये प्राकृतिक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है. मुक्त कणों को नष्ट करने वाला ये एक शक्तिशाली रक्षात्मक यौगिक है. इससे कैंसर की कोशिकाओं के विकास में मदद मिलती है. ताड़ के तेल का नियमित सेवन आपको कैंसर के खतरे से बचा सकता है.
2. आँखों के लिए
इसमें बहुत सारे एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं जो कि आँखों के स्वास्थ्य के लिए बेहद आवश्यक होते हैं. ये सभी एंटीऑक्सिडेंट्स कोशिकाओं के उपापचय के लिए बेहद आवश्यक हैं. इसके अलावा एंटीऑक्सिडेंट्स मुक्त कणों को नष्ट करके भी आँखों से सम्बंधित कुछ समस्याओं का निदान करते हैं. ये धब्बेदार अधःपतन और मोतियाबिंद की समस्या को रोकने का भी काम करते हैं.
3. गर्भावस्था के दौरान
गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के परिवर्तन होने लगते हैं. उन्हें पोषक तत्वों की जबरदस्त आवश्यकता होती है. इस दौरान जच्चा-बच्चा को विटामिन की भी आवश्यकता होती है. ताड़ के तेल में वित्ममिन ए, डी, और ई पाया जाता है. ये सभी विटामिन उन दोनों के काम आती है. इसलिए गर्भावस्था के दौरान इसका इस्तेमाल करना चाहिए.
4. ऊर्जा बढ़ाने में
ताड़ के तेल में पाया जाने वाले तमाम पोषक पदार्थों में से एक बीटा कैरोटिन भी है. ताड़ के तेल का रंग लाल या नारंगी इसके कारण ही होता है. ये शरीर के ऊर्जा स्तर को सुधार करने और हार्मोनल संतुलन बढ़ाने का काम करता है.
5. दिल के लिए
ह्रदय के लिए भी इसका इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है. क्योंकि इसमें अच्छा कोलेस्ट्राल और खराब कोलेस्ट्राल उच्च मात्रा में पाए जाते हैं. शारीरिक स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए भी ये आवश्यक होता है. कोलेस्ट्राल में संतुलन बनाकर ये ह्रदय से सम्बंधित समस्याओं को रोकता है.
ताड़ के तेल के नुकसान
* ताड़ के तेल का आधिक मात्रा में सेवन करने से ह्रदय से संबंधित समस्याओं में वृद्धि हो सकता है.
* किसी व्यक्ति में ये उच्च रक्तचाप से संबंधित समस्या भी उत्पन्न कर सकती है.
* इसे पचाने में भी बहुत मुश्किल आती है. इसलिए कमजोर पाचन वाले व्यक्ति इसके इस्तेमाल से बचें.

1 person found this helpful

I am 7 months pregnant and 8 months is going on. I have lower back pain and legs pains. Does it affect my baby? What should I do so that I can get relief?

MPT(Neurology), BPTh/BPT
Physiotherapist, Delhi
I am 7 months pregnant and 8 months is going on. I have lower back pain and legs pains. Does it affect my baby? What ...
Back and leg pain are common during pregnacy. It is because of the increasing baby weight and shifting of the line of gravity anteriorly. Avoid sitting for long time, walk around, do ankle pumps, maintain good postures, bend at knees while lifting, sleep in side lying with pillows under your knees, if you have no complication during your pregnancy then you can also do some back exs under the guidance of your doctor
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Can I conceive with polycystic every? is it possible. I have used fertomid 50 mg but egg does not develop this time and egg size is left msg and in right 13*11 on 13 th day and remains same on 16th day what can I do now as my periods are not regular.

MD - Obstetrtics & Gynaecology
Gynaecologist,
Can I conceive with polycystic every? is it possible. I have used fertomid 50 mg but egg does not develop this time a...
Yes it's very much possible to become pregnant in pcod. Try higher dose in next cycle. Along with other drugs.
Submit FeedbackFeedback

I was cuddling with my girlfriend and later on I inserted my penis 2-3 times without protection but did not ejaculate. Maybe I had a precum. She did not take any contraceptive. Also this was on 14 of this month. She is not on her periods till date as it was supposed to be on 20th May. She also have irregular periods. So does that men she is pregnant? If so then what are the solutions. I am confused. Please help.

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology
Gynaecologist, Gurgaon
I was cuddling with my girlfriend and later on I inserted my penis 2-3 times without protection but did not ejaculate...
lybrate-user, wait for a few days and see if she gets her periods, and if she doesn't, do a Urine pregnancy test to confirm for pregnancy, get back to us on an online consulting if she shows positive results, as then we can guide you through the necessary steps to be taken to terminate the pregnancy.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Health Tip

DHMS (Diploma in Homeopathic Medicine and Surgery)
Homeopath,
Health Tip
  • It is commonly recommended to drink eight 8-ounce glasses of water per day (the 8x8 rule).
  • Water helps to maximize physical performance.
1 person found this helpful

Doctor please help me my last period date was 29 july and I do sex with my boyfriend at 13 august nd on 24 august the periods will started again but it was not as same as before blood is coming very low like 5,6 drops please tell me is there any chance of pregnancy?

DGO, MBBS
Gynaecologist, Satara
Doctor please help me my last period date was 29 july and I do sex with my boyfriend at 13 august nd on 24 august the...
Hi. U r only 17 years ,in this age sometimes periods r irregular or scanty or it may be stressed induced scanty flow. Still you had history of 2 time sex in unsafe period, you can go through pregnancy test immediately.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My wife taking treatment for getting pregnant. She afraid to take IUI .when to take genetic test after IUI.

MBBS, MD - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist, Patna
My wife taking treatment for getting pregnant. She afraid to take IUI .when to take genetic test after IUI.
iui is a simple procedure.where washed semen is introduced in uterine cavity by a fine catheter.you don't feel any pain in this.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

89%
(431 ratings)

Dr. Smriti Uppal

DNB (Obstetrics and Gynecology), DGO, MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery
Gynaecologist
Sanjeevan Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(2898 ratings)

Dr. Rita Bakshi

MBBS, DGO, MD, Fellowship in Gynae Oncology
Gynaecologist
International Fertility Centre Delhi, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(173 ratings)

Dr. Mita Verma

MBBS, MS - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist
Dr. Mita Verma Women's Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment
86%
(10 ratings)

Dr. Indu Bala Khatri

MD - Obstetrtics & Gynaecology, MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery
Gynaecologist
Navya Gynae & ENT Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment
88%
(717 ratings)

Dr. Meeta Airen

MBBS, DNB (Obstetrics and Gynecology), MNAMS, Training In USG
Gynaecologist
Wellness Care Polyclinic, 
300 at clinic
Book Appointment
88%
(356 ratings)

Dr. Pooja Choudhary

MD - Obstetrtics & Gynaecology, MBBS
Gynaecologist
Gynae and ENT Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment