Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. B Kishore

Pediatrician, Delhi

200 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. B Kishore Pediatrician, Delhi
200 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

My favorite part of being a doctor is the opportunity to directly improve the health and wellbeing of my patients and to develop professional and personal relationships with them....more
My favorite part of being a doctor is the opportunity to directly improve the health and wellbeing of my patients and to develop professional and personal relationships with them.
More about Dr. B Kishore
Dr. B Kishore is a popular Pediatrician in Uttam Nagar, Delhi. You can meet Dr. B Kishore personally at Ashirwad Nursing Home in Uttam Nagar, Delhi. Book an appointment online with Dr. B Kishore on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified Pediatricians in India. You will find Pediatricians with more than 36 years of experience on Lybrate.com. You can find Pediatricians online in Delhi and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. B Kishore

Ashirwad Nursing Home

29/3, Budh Bazar,Vikas Nagar. Landmark:-Opposite DDA Park, DelhiDelhi Get Directions
200 at clinic
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. B Kishore

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

My wife was having mensuration date on 10 but still not done. We hd intercourse before few days but had taken the pill. So is she pregnant? And if so we do not nid child at this stage. What can be done?

Certification in ADHD in children and adolescents, Clinical Assessment and treatment of depression in primary care, BHMS
Homeopath, Amravati
My wife was having mensuration date on 10 but still not done. We hd intercourse before few days but had taken the pil...
Hi lybrate-user, the simplest way is to do preg card checkup at home, if it's positive then consult gynaec, if negative then wait for 2-3 days else consult for irregular menses, thanks.
Submit FeedbackFeedback

My child is 3 year 3 month old, his thalassemia minor, hemoglobin label is 8•4 what should I do?

BSc - Food Science & Nutrition, PGD in Sports Nutrition and Dietitics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
My child is 3 year 3 month old, his thalassemia minor, hemoglobin label is 8•4 what should I do?
Hello, The baby might be needed to be examined by the pediatrician. Exclusive breast feeding for first 6 months, is important. Later the child can be given protein and iron rich diet. Being thalesemic minor you should be worrying as they are usually anaemic, but a proper diet and regular examinations, might be needed.
Submit FeedbackFeedback

Bachon ki Khansi ka ilaj

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Bachon ki Khansi ka ilaj

बहुत आम पर हालत बिगाड़ देने वाली आम बीमारियों में से एक है खांसी। खांसी अगर गम्भीर रूप में हो जाए तो हेल्दी हेल्दी व्यक्ति भी थक हार कर सुस्त पड़ जाता है। शरीर का हर हिस्सा दर्द महसूस करने लगता है क्योंकि खांसते समय इसका असर केवल गले पर ही नही बल्कि सीना पेट हाथ पैर सब पर इफ़ेक्ट पड़ता है। बड़े तो फिर भी अपनी तकलीफ बयान कर भी लेते हैं और उसका इलाज भी कर लेते हैं पर सोचने की बात है कि बच्चों को खांसी होने पर उनका क्या हाल होता होगा। क्योंकि ना वो बता पाते हैं ना खुदसे अपनी मदद कर सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि हमें पूरी जानकारी हो बच्चों को होने वाली खांसी की वजह और उसके इलाज के लिए घरेलू नुस्खों के बारे में।

दरसलश्लेम यानी म्यूकसको बाहर निकालने की कोशिश में या फिर गले और वायु मार्ग में सूजन होनेकी वजह से शिशु खांसता है।खांसी की वजह बहुत सी होती हैं, मगर आमतौर पर यह सर्दी-जुकाम या फ्लू का लक्षण होता है। ऐसे में हम अक्सर दवाओं का सहारा लेते हैं पर आपको यह बात पता होनी चाहिए कि सर्दी, जुकाम, खांसी जैसी बीमारियों में दवा देने की बजाय होम रेमेडीज अपनानी चाहिए। क्योंकि इन बीमारियों का नेचुरल तरीके से इलाज करना जितना बेहतर होता है उतना ही अंग्रेजी दवाओं से इलाज करना नेगेटिव साइड इफ़ेक्ट से भरपूर। तो आइए आज हम जानेंगे शिशुओं को होने वाली खांसी कारण और इससे राहत दिलाने वाले कुछ घरेलू नुस्खे।

खांसी के कारण

1. सर्दी-जुकाम
अगर आपके शिशु को सर्दी-जुकाम की वजह से खांसी हो रही हो, तो उसे साथ में बंद नाक, बहती नाक, गले में खारिश, आंखों में पानी और बुखार जैसे लक्षण भी हो सकते हैं। जुकाम की वजह से बनने वाले अतिरिक्त श्लेम को निकालने के लिए आपका शिशु खांसता है।

2. फ्लू
फ्लू के लक्षण सर्दी-जुकाम की तरह ही लग सकते हैं। अगर, आपके शिशु को फ्लू हो, तो उसे बुखार, नाक बहना और कई बार दस्त (डायरिया) या उल्टी भी हो सकती है। मगर फ्लू की वजह से होने वाली खांसी, जुकाम वाली खांसी से अलग होगी। यह बलगम वाली खांसी की बजाय सूखी खांसी होगी। इसका मतलब यह है कि आपका शिशु खांसी के साथ काफी कम बलगम निकाल रहा होगा।

3. क्रूप
अगर शिशु को क्रूप हो, तो उसे वायु मार्ग में सूजने होने की वजह से खांसी होगी। शिशुओं का वायु मार्ग काफी संकरा होता है और आपसे काफी छोटा होता है। इसलिए इनमें सूजन होने पर शिशु के लिए सांस लेना मुश्किल हो जाता है। छह माह और तीन साल के बीच के बच्चों को क्रूप होने की संभावना ज्यादा होती है। क्रूप खांसी मे भौंकने जैसी आवाज निकलती है। जो कि अक्सर रात में शुरु होती है।

4. काली खांसी 
काली खांसी या कुक्कर खांसी एक बैक्टिरियल इंफेक्शनहै। यह काफी संक्रामक होती है। काली खांसी में बहुत ज्यादा और खुश्क खांसी होती है। इसमें बहुत सारा श्लेम निकलता है और खांसते समय सांस लेते हुए उच्च स्वर या ध्वनि निकलती है।

5. दमा
शिशु को दमा की वजह से भी खांसी हो सकती है। अस्थमा से ग्रस्त शिशु की सांस लेते व छोड़ते समय श्वास फूलती है। उनकी छाती भी कस जाती है और सांस की कमी होने लगती है।

6. तपेदिक 
लगातार रहने वाली खांसी टी.बी. का लक्षण हो सकता है। टी.बी. की खांसी दो सप्ताह से ज्यादा जारी रहती है। टी.बी. से ग्रस्त शिशु की खांसी में खून आ सकता है, उसे सांस लेने में कठिनाई हो सकती है और भूख लगना कम हो सकती है। शिशु को बुखार भी हो सकता है।

बच्चों की खांसी के उपचार के लिए घरेलू नुस्खे 

1. गर्म तरल चीजें पिलाएं
बच्चे को ठंडे की बजाय गर्म पानी और बाकी चीज भी गर्म तासीर वाली ही पिलाएं जिससे गले की सूजन को आराम मिलेगा।

2. वाष्पित्र या वेपोरब का इस्तेमाल करें
वेपोरब २ साल के बच्चे को भी खॉँसी में तेजी से राहत देता है। इस जादुई रगड़ में मेन्थॉल, कपूर और नीलगिरी जैसी सामग्री हैंबच्चे को आराम दिलाती है।

3. सिर ऊंचा कर के सुलाएं
बलगम नाक से गले में टपक सकता है, जिसके परिणाम में गंभीर खाँसी हो सकती है। शरीर की ऐसी मुद्रा बहाव को प्रेरित कर सकती है। इसलिए बच्चे को उंचे स्थान पर सिर रखकर सोने से बहाव न होने में मदद होगी।

4. हल्दी की मदद लें
गर्म दूध के साथ आधी चम्मच हल्दी पाउडर मिलाए और बेहतर राहत पाने के इस मिश्रण को गरम ही पिलाएं। या फिरगर्म पानीमें एक चुटकी हल्दी पाउडर और नमक मिलाकर बच्चे से गरारा करवाने की कोशिश करें।

5. शहद अपनाएं
रात के समय सूखी खांसी से राहत के लिए बच्चे को सुलाने के पहलेउसे गर्म दूध में मिलाकर पिलाएं।

6. अदरक
एक कप पानी में अदरक के टुकड़ों को ड़ाल कर इस मिश्रण को आधि मात्रा होने तक उबालकर छान के इसमे एक चम्मच शहद डालकर बच्चे को पिलाएं।

7. तुलसी
तुलसी के पत्तों का रस निकाल कर बच्चे को पिलाएं।

8. अंगूर का जादू
अंगूर प्राकृतिक कफोत्सारक हैं और वे आपके फेफड़ों से कफ निकाल देते हैं। इन फलों के रस में शहद मिलाए और इस रसको बच्चे सोने से पहले थोड़ा सा पिलाएं।

9. एलोवेरा
बड़ों की खांसी हो या बच्चे की खांसी एलोवेरा का रस और शहद के मिश्रण काफी असरदार नुस्खा है।

MBBS, DNB (Pediatrics)
Pediatrician, Kolkata
Rather than asking your children to stop playing computer games, ask them to play outdoors. That will be easily accepted by child.
5 people found this helpful

I'm 32 years old female. I'm so much depressed for the past 3 months. My husband betrayed me. He's in relationship with a girl of age 31. Both told me that they were friends. But both of them planning to marry in Malaysia cause she's a Malaysian citizen. We've a kid of age 5. Don't know what to do?

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS), Post Graduate Certficate in Ksharsutra & Ano-Rectal Diseases, MD - Medicine
Ayurveda, Mumbai
I'm 32 years old female. I'm so much depressed for the past 3 months. My husband betrayed me. He's in relationship wi...
Dear lybrate-user, you struck with bitter truth of life. If you want to be overcome this situation:- 1) be strong, be a fighter and face reality. 2) under stand situation & accept truth. 3) hope for best & prepare for worst. 4) god help them who help them self. 5) keep your self physically & mentally busy in your work, it will help you to over come from depression. 6) do regularly breathing exercise - pranayama - omkar pramayama thrice daily. 7) where one road ends you have two options to progress.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My 6 year-old daughter has asthma. What is the effect of using an asthma preventer long-term? I heard that using it for years might cause bone shrinkage. Is it true? My stomach aches, thought it becomes fine in a day, but still it pains regularly, what to do?

Diploma in Child Health (DCH)
Pediatrician, Sikar
My 6 year-old daughter has asthma. What is the effect of using an asthma preventer long-term? I heard that using it f...
Inhaler is best treatment for asthma but however side effect are also with inhaler but least as compare to other methods like pills and syrup.
Submit FeedbackFeedback

I have 4 month baby having multiple disorder & low birth weight & still not gain weight.Please do help.

M.D.( Pediatrics), DCH
Pediatrician,
Taking care of disorders will help you gain her weight, follow up with your doctor regularly. It's difficult a task but we have to do it.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have 6 months old kid. I'm breastfeeding her. Initially my Dr. Told me to continue calcium and iron tablets till I feed the baby. So I'm planning to continue breastfeeding at least for a year. So till that I need to continue calcium and iron tablets?

Diploma in Child Health (DCH), F.I.A.M.S. (Pediatrics)
Pediatrician, Muzaffarnagar
I have 6 months old kid. I'm breastfeeding her. Initially my Dr. Told me to continue calcium and iron tablets till I ...
You may continue iron and cal as suggested by your doctor. But I suggest to add complementary food to baby in addition to breast milk as he is now 6 months old.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

what is minimum sugar level in new born baby? Is it possible that a new born baby has a low sugar level (in between 30 to45)?

MBBS, Diploma in Child Health (DCH), Pediatric Gastroenterology
Pediatrician, Delhi
A new born baby should maintain a sugar level above 50-60mg/dl. If the sugar is between 30-45 mg/dl it is termed as hypoglycemia and warrants immediate treatment.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

Dr. Gaurav Nigam

MBBS, MD - Paediatrics, CRT in Autism
Pediatrician
Dr Nigams Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Ashish Sahani

MBBS, Diploma in Child Health (DCH), DNB
Pediatrician
Dr Ashish Clinic, 
0 at clinic
Book Appointment
90%
(73 ratings)

Dr. Dinesh Mittal

Diploma in Child Health (DCH), MBBS
Pediatrician
Child Care Clinic, 
299 at clinic
Book Appointment
88%
(43 ratings)

Dr. Richa Arora Agarwal

Visiting Consultant - Rajiv Gandhi Cancer Hospital, Saroj Super Speciality Hospital, D.N.B. PEDIATRICS, MD - Paediatrics, MBBS, Bhagwati Hospital, Rainbow Hospital- Panipat
Pediatrician
Child Clinic & Endocrine Centre, 
300 at clinic
Book Appointment
88%
(117 ratings)

Dr. Ashima Aggarwal

PALS, MD, MBBS
Pediatrician
TENDER HEARTS CHILD CARE CLINIC, 
300 at clinic
Book Appointment
89%
(18 ratings)

Dr. J P Singh

MD - Paediatrics, MBBS
Pediatrician
Tirath Ram Shah Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment