Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. Arti Saini

Gynaecologist, Delhi

200 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Arti Saini Gynaecologist, Delhi
200 at clinic
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care....more
I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care.
More about Dr. Arti Saini
Dr. Arti Saini is a renowned Gynaecologist in Madangir, Delhi. She is currently practising at Saini Medical Centre in Madangir, Delhi. You can book an instant appointment online with Dr. Arti Saini on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified Gynaecologists in India. You will find Gynaecologists with more than 27 years of experience on Lybrate.com. You can find Gynaecologists online in Delhi and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Arti Saini

Saini Medical Centre

82, Madangir, Landmark: NR MCD Dispensery, Madan GIR VillageDelhi Get Directions
200 at clinic
...more
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Arti Saini

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

MS - Obstetrics and Gynaecology, MBBS
Gynaecologist, Agra
Consumption of dark chocolate during the menstrual cycle is considered healthy. Dark chocolate stimulates the secretion of serontin - which generates happy feelings.
12 people found this helpful

Pregnancy Test At Home in hindi - घर पर गर्भावस्था का परीक्षण

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Pregnancy Test At Home in hindi - घर पर गर्भावस्था का परीक्षण

जीवन के बेहतरीन अनुभवों में से एक अनुभव है माँ बनने का अनुभव। एक माँ और बच्चे से ज्यादा निजी और क्लोज कोई और रिश्ता नहीं होता। पर कई बार इसी रिश्ते की शुरुआत यानी प्रेगनेंसी का पता करना हीकंफ्यूजन से भरा होता है। कई बार तो प्रेग्नेंट होने की जानकारी ना होने पर हम खुदके साथ सावधानी नहीं बरतते हैं जिसकी वजह से बाद में मिसकैरेज या मां शिशु के स्वास्थ्य समस्या होने का खतरा बन जाता है। पर अब चिंता करने की जरूरत नहीं। शरीरिक संबन्ध बनाने के दौरान जिस भी महीने का आपका पीरियड मिस होउल्टी, पीठ में दर्द, आलस कगने जैसे कुछ शारीरिक बदलाव होने पर बिना किसी कंफ्यूजन के हमारे बताए गए घरेलू नुस्खों से पता कर लें कि आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं।

1. टूथपेस्ट 
घर पर ही प्रेगनेंसी जांचने के लिए के आपको सफेद रंग के टूथपेस्ट की जरूरत होगी। 
सबसे पहले एक डिसपोजल ग्लास में सुबह के समय के यूरिन (पेशाब) को सैंपल के तौर पर रख लें। सुबह का यूरिन टेस्ट करने के लिए इसलिए इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि उस समय पेशाब में HCG हार्मोन का स्तर काफी ज्यादा होता है जिसकी वजह से प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट सुनियोजित करने में आसानी होती है।
अब उस पेशाब के सैंपल में एक चम्मच के बराबर टूथपेस्ट मिला लें और उसे अच्छी तरीके से फेट ले। अगर उसको मिक्स करने के कुछ मिनट बाद टूथपेस्ट झागदार दिखता है और नीला रंग हो जाता है तो यह पॉजीटिव प्रेगनेंसी के संकेत हैं, लेकिन अगर आपको कोई प्रतिक्रिया नहीं होती तो आप प्रेगनेंट नहीं हैं।

2. ब्लीच
डिसपोजल या किसी पात्र में थोड़ी मात्रा में ब्लीच पाउडर लें और उसमे पेशाब के सैंपल को मिक्स कर लें। अगर मिक्स करने के बाद बुलबुले दिखाई देते हैं तो यह पॉजीटिव प्रेगनेंसी के संकेत हो सकते हैं।

3. विनेगर 
थोड़ी मात्रा में विनेगर लें और उसमे पेशाब के सैंपल को मिक्स कर लें। अगर मिक्स करने से विनेगर का रंग बदलता है, तो समझें की पॉसिबली आप गर्भवती हो सकती हैं।

4. शक्कर
चीनी में थोड़ी मात्रा में पेशाब का सैंपल मिलाएं। अगर चीनी घुलने की बजाय गुच्छों में हो जाए, तो सम्भवतः आपका यह प्रयोग आपको गर्भवती होने की ओर इशारा करता हैं।

5. कांच के ग्लास 
कांच के एक गिलास में यूरीन डालें। कुछ देर बाद अगर यूरीन पर सफेद परत बन जाए, तो यह टेस्ट पॉजिटिव हो सकता है अथवा नेगेटिव।

6. साबुन 
एक पात्र में साबुन और यूरीन मिलाएं। अगर थोड़ी देर बाद इसमें बुलबुले बनते हैं, तो समझें कि प्रेगनेंसी टेस्टपॉजिटिव है।

7. डंडेलिओन की पत्ती
डंडेलिओनकी पत्तियों को एक पैकेट में बांधकर कर जमीन पर रख दें और ध्यान रहे की इन पत्तियों को सूरज की किरणों से बचा कर रखें उसके पश्चात इन पत्तियों पर यूरिन की कुछ बुँदे डाले और दस मिनट बाद इन पत्तियों पर लाल रैंड के फफोले उठ जाते है तो इसका मतलब है आप प्रेगनेन्ट हैं।

8. डेटॉल से प्रेगनेंसी टेस्ट 
एक शीशी में 15 एमएल यूरिन और उतनी ही मात्रा में डेटॉल लें। इसे अच्छी तरीके से मिक्स कर लें। थोड़ी देर बाद अगर डेटॉल और यूरिन जो आपस में मिक्स हो गया था, अलग-अलग हो जाते हैं और यूरिन, डेटॉल पर तेल की तरह तैरने लगता है तो समझ लीजिये कि आप प्रेग्नेंट हैं। लेकिन इसके बजाय यदि यूरिन और डेटॉल आपस में अच्छे से घुल जाते हैं और दूध सी सफेदी जैसा एक पदार्थ बन जाता है तो समझ लीजिये कि आप प्रेग्नेंट नहीं हैं।

9. पाइन सोल 
पाइन सोल को एक क्लीनर की तरह यूज में ला सकते हैं। जो की आसानी से किसी भी दुकान पर मिल जाता है। समान मात्रा में पाइन सोल और यूरिन को मिक्स करें। थोड़ी देर बाद अगर उस मिश्रण का रंग बदल जाए तो आपका यह प्रयोग आपको गर्भवती होने की ओर इशारा करता हैं।

10. बेकिंग सोडा 
2 चम्मच बेकिंग सोडा और 1 चम्मच यूरिन को आपस में मिला लें अगर थोड़ी देर बाद इसमें बुलबुले बनते हैं, तो समझें प्रेगनेंसी टेस्ट पॉजिटिव है।

11. प्रेगनेंसी टेस्ट किट 
प्रेगनेंसी टेस्ट किट के इस्तेमाल का तरीका अलग अलग हो सकता हैं।
बहुत से टेस्ट किट में केवल टेस्ट स्टिक पर पेशाब करना होता है। वहीं, कुछ अन्य में आपको पहले पेशाब को एक छोटे कप में इकट्ठा करना होता है, और फिर टेस्ट स्ट्रिप को उसमें डुबोना होता है। या फिर आपको साथ में ड्रॉपर दिया जा सकता है, ताकि टेस्ट स्टिक पर पेशाब का थोड़ा सा नमूना डाला जा सके।
जांच का परिणाम किस तरह दर्शाया जाता है इसमें भी अंतर हो सकता है। कुछ टेस्ट में गुलाबी या नीली रेखाएं दिखाई देती हैं। कुछ अन्य में प्लस या माइनस के निशान या फिर पेशाब के नमूने के रंग में बदलाव आता है। डिजिटल टेस्ट में “प्रेग्नेंट” या “नॉट प्रेग्नेंट” लिखा हुआ आ जाता है और कुछ में तो यह भी अनुमान दिया होता है कि आपने कितने हफ्ते पहले गर्भाधान किया था।

लेकिन हां किसी भी घरेलू प्रेगनेंसी टेस्टकी शुरुवात करने से पहले कुछ खास बातों का ध्यान जरूर रखें।

  • घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट करने के तीन घंटे पहले तक मूत्र त्याग नहीं करना चाहिए। क्योंकि गर्भावस्था परीक्षण या प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए यूरिन का नमूना लिया जाता है. क्योंकि यूरिन यानि पेशाब में मौजूद HCG हार्मोन से ही गर्भ का पता लगाया जाता है।
  • घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए आप जितने भी चीजो का प्रयोग कर रही हो उन चीजो की सफाई का खासा ख्याल रखे।
  • घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट विधि पुराने समय से लोग सफलतापूर्वक अपना रहे हैं। लेकिन फिर भी अपने संतुष्टि के लिए किसी उचित चिकित्सक से सलाह-मुशरह जरूर कर ले
  • प्रेगनेंसी टेस्ट निगेटिव आने के बाद 72 घंटे बाद ही दोबारा जांच करें.
  • अगर पीरियड और मिस हो जाए और टेस्ट में रिपोर्ट नेगेटिव आये तो स्त्री रोग विशेषज्ञ से सम्पर्क करें।
     
4 people found this helpful

I am 6 weeks pregnant as per my lmp which was 15 Oct. Ultrasound shows pregnancy of 4 weeks one day and sac 11.3 mm with no heart beat and no fetal pole. Gyno said it may be case of late conception. Please help me it is normal pregnancy or not.

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
I am 6 weeks pregnant as per my lmp which was 15 Oct. Ultrasound shows pregnancy of 4 weeks one day and sac 11.3 mm w...
Hello, Late conception is possible and foetal heart beat arrives by 6-8 weeks from lap. So get a repeat USG after 2 weeks to check for heart beat.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Modern Homeopathy: Cure For Every Disease

MD - Homeopathy, BHMS
Homeopath, Indore
Modern Homeopathy: Cure For Every Disease

Modern Homoeopathy has newly introduced a scientifically advanced system of homoeopathy based on clinical practices which include some new concept of development along with a traditional system of homoeopathy.

Complete Cure: Modern homoeopathy completely recovers the diseases and patient as a whole in the physical, mental and holistic way in order to prevent relapse of diseases for rest of life which is very essential and important. Most importantly, Modern Homoeopathy allows treatment of multiple diseases with same medicines at the same time, along with the rest of existing treatment.

Easy: In Modern homoeopathy, we use different types of medicinal forms and scales like decimal potency, centimal potency, 50 millisimel potency, mother tinctures, biochemic medicines, patents etc.

In Modern Homeopathy, mode of medicinal intake is very easy which can be taken without any confusion under the guidance of an expert homoeopathic consultant. Modern Homeopathy does not believe in the traditional law of homoeopathy that while taking homoeopathic medicines, there should be a restriction of high smelling foods or any other such thing.

Safe: In modern homoeopathy, there are no side effects of medicines even after use of highly potentised medicinal selection as per requirement of response or stages of diseases. As we know that in 'homoeopathy potentisation process', the power or potency or quality of medicines will increase gradually and simultaneously its quantity of medicinal substance will be reduced, hence, chances of side effects are almost nil.

Fast: The most differential concept of modern homoeopathy is its fast treatment process which gives it tremendous difference from the old system of homoeopathy, because in modern homoeopathy as of now 4,000 new medicines are available and 0-50 lakh potency is available, which are scientifically proved and capable of curing any health disease without any side effects.

Cost-Effective: Modern Homoeopathy even after its multi-dimensional importance is very cost-effective in comparison to the rest of the other branches of medical science.

Related Tip: 4 Factors that determine the time span of homeopathic treatments?

3016 people found this helpful

Is brufen 400 tablet safe while breastfeeding. If not suggest another medicine for breast inflammation, pain.

M.B.B.S, Post Graduate Diploma In Maternal & Child Health
Gynaecologist, Bokaro
Is brufen 400 tablet safe while breastfeeding. If not suggest another medicine for breast inflammation, pain.
A pain killer for breast inflammation is only half of the treatment. The most important thing is to assess why there is inflammation and tackle the root cause. If you like, please contact me for a detailed discussion and treatment.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My wife's hsbag report of hepatitis b is positive and also she is pregnant but my report for same is negative or nonreactive. Can it affect to baby and can I do sex with her.

MBBS
General Physician, Mumbai
My wife's hsbag report of hepatitis b is positive and also she is pregnant but my report for same is negative or nonr...
I will suggest you to get your self vaccinated against hepb three injection within a period of six months and you can maintain sexual relationship with your wife and hepb can become positive in infant.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My wife is 4th month pregnant. Can we be close if it is safe or we should wait till delivery?

DGO, MD, MRCOG, CCST, Accredation in Colposcopy
Gynaecologist, Kolkata
My wife is 4th month pregnant. Can we be close if it is safe or we should wait till delivery?
There is no evidence to suggest that intercourse is harmful in pregnancy provided she has no problems with vaginal bleeding or leakage of fluid.
Submit FeedbackFeedback

We r tried month after month to having a baby. But failed evry time. Now my wife and me get very negative to having a baby. What should I do. To having a baby?

MD - Obstetrtics & Gynaecology
Gynaecologist, Mumbai
We r tried month after month to  having a baby. But failed evry time. Now my wife and me get very negative to having ...
You should cosily infertility specialist. she only can advice the proper treatment self treatment is frustrating
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hello Sir, can you please tell me whether having frequent sex or having sex with multiple partners loosens the vagina of a woman? Does sex before marriage creates any problem after marriage for a woman?

DNB (Obstetrics and Gynecology), PGDHHM, MBBS
Gynaecologist, Delhi
Hello Sir, can you please tell me whether having frequent sex or having sex with multiple partners loosens the vagina...
yes repeated sex do cause loosening of vagina. sex before marriage as such doesnot create problem unless one doesnot get any infection
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

92%
(599 ratings)

Dr. Anju Ahuja

DGO, MBBS
Gynaecologist
Ahuja Clinic, 
300 at clinic
Book Appointment
88%
(75 ratings)

Dr. Rahul Manchanda

MBBS, MD
Gynaecologist
Manchandas Endoscopic Center, 
300 at clinic
Book Appointment
88%
(10 ratings)

Dr. Anita

MBBS, MS - Obstetrics and Gynaecology, Gynae-Laproscopy
Gynaecologist
Fortis La Femme, 
300 at clinic
Book Appointment
84%
(21 ratings)

Dr. Supriya Malhotra

MBBS, MD - Obstetrics & Gynaecology
Gynaecologist
Fortis La Femme - Greater Kailash, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Jasbir Chandna

MBBS, MD
Gynaecologist
Fortis La Femme - Greater Kailash, 
at clinic
Book Appointment
90%
(35 ratings)

Dr. Usha. M. Kumar

Diploma in Advance Endoscopy, Royal College of Obstetricians and Gynaecologists (MRCOG), MS, MBBS
Gynaecologist
Saket City Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment