Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Clinic
Book Appointment

Murugan Hospitals

Multi-speciality Hospital (Urologist, Cardiologist & more)

264/125 Kilpauk Garden Road Landmark : Near Kilpauk Garden Bus Stop Chennai
3 Doctors · ₹0 - 500
Book Appointment
Call Clinic
Murugan Hospitals Multi-speciality Hospital (Urologist, Cardiologist & more) 264/125 Kilpauk Garden Road Landmark : Near Kilpauk Garden Bus Stop Chennai
3 Doctors · ₹0 - 500
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Services
Feed

About

We are dedicated to providing you with the personalized, quality health care that you deserve....more
We are dedicated to providing you with the personalized, quality health care that you deserve.
More about Murugan Hospitals
Murugan Hospitals is known for housing experienced Cardiologists. Dr. K Sidharthan, a well-reputed Cardiologist, practices in Chennai. Visit this medical health centre for Cardiologists recommended by 67 patients.

Timings

MON-SAT
09:00 AM - 06:00 PM
SUN
09:00 AM - 04:00 PM

Location

264/125 Kilpauk Garden Road Landmark : Near Kilpauk Garden Bus Stop
Kilpauk Chennai, Tamil Nadu - 600010
Get Directions

Doctors in Murugan Hospitals

Dr. K Sidharthan

DM - Cardiology, MBBS, MD - General Medicine
Cardiologist
19 Years experience
500 at clinic
Unavailable today

Dr. C Ilamparuthi

MBBS, MS - Urology, MCh - Urology/Genito-Urinary Surgery
Urologist
35 Years experience
500 at clinic
Unavailable today

Dr. S Arunan

MBBS, MD - General Medicine, DM - Neurology
Neurologist
32 Years experience
Unavailable today
View All
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Murugan Hospitals

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

मल द्वार या गुदामार्ग में होने वाले रोगो में कौन-कौन से लक्षण मिलते हैं?

BAMS, CERTIFICATE COURSE IN KSHAR-SUTRA SURGERY
Ayurveda, Jodhpur
मल द्वार या गुदामार्ग में होने वाले रोगो में कौन-कौन से लक्षण मिलते हैं?

नमस्कार मित्रो!
एल.एन.आयुर्वेदा एवं क्षारसूत्र क्लीनिक-जोधपुर में आप सभी का स्वागत हैं आज हम इस बात पर चर्चा करेंगें कि मल द्वार या गुदामार्ग में होने वाले रोगो में कौन-कौन से लक्षण मिलते हैं -
. मल द्वार से बिना दर्द के बूंद-बूंद या धार रूप में लगातार या रूक रूक के खून आना 
. मल द्वार में जलन, चुभन, दर्द होना 
. बैठने में या बाइक चलाते वक्त दर्द होना
. मल का पतला या बद्ध कर आना, एक बार या बार-बार आना
. मल द्वार के चारो ओर किसी फोडे. या फुडिया का बार-बार बनना और फूटना और उसमें से पस या चिपचिपा पानी आना 
. रीड्ड की हड्डी के पास नासूर का बनना 
अगर इनमें से कोई लक्षण मिलते हैं तो यह जरूरी नही कि वो पाइल्स ही हो वो और कोई बीमारी भी हो सकती हैं क्योंकि अक्सर ऐसा देखा गया हैं कि सामान्यतया अगर इनमे् से कोई लक्षण मिलता हैं तो रोगी चिकित्सक के पास जाता हैं तो वो हमेशा यही बोलता हैं कि मुझे पाइल्स की समस्या हैं और वो शर्म के कारण या अन्य किसी कारण वो चैक-अप नहीं करवाता हैं कभी कभी चिकित्सक भी बिना चैक-अप के पाइल्स समझ कर सीधा ट्रिटमेन्ट ही लिख देता हैं जिस कारण वो समस्या ठीक ना होकर या थोडे समय के लिये ठीक रहकर अगली बार विकराल रूप में प्रकट होती हैं वो कुछ भी हो सकती हैं.हो सकता हैं वो पाइल्स ना हो के फिशर हो.हो सकता हैं वो फिश्टूला हो.हो सकता हैं वो पिलोनिडल साइनस हो.या ये भी हो सकता हैं इनमें से एक भी ना होकर गुदामार्गगत केन्सर ही हो तो दोस्तो अगर ऊपर बतलाये लक्षण में से कोई भी परेशानी हो तो किसी अच्छे चिकित्सक से चैक-अप जरूर करवाये और उस समस्या का स्थायी समाधान करवायें  क्योंकि कहा भी गया हैं रोग और कर्जा कभी ज्यादा समय नहीं रखना चाहिये!

आइये चुने.स्वस्थ एवं आनन्दमय जीवन.आयुर्वेद के संग!

Ayurvedic Treatment Of Prostate - प्रोस्टेट का आयुर्वेदिक उपचार

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Ayurvedic Treatment Of Prostate - प्रोस्टेट का आयुर्वेदिक उपचार

लगभग 60 वर्ष की उम्र से ज्यादा के लोग ही प्रोस्टेट की समस्या से परेशान होते हैं. हलांकि लगभग तिस फीसदी लोग 30 या उससे ज्यादा के उम्र के भी हैं. प्रोस्टेट डिसऑर्डर की समस्या उत्पन्न होने का कारण प्रोस्टेट ग्लैंड का बढ़ जाना है. आपको बता दें कि प्रोस्टेट ग्लैंड को पुरुषों का दूसरा दिल भी कहा जाता है. हमारे शरीर में पौरुष ग्रंथि कई आवश्यक क्रियाओं को अंजाम देती है. इसके कुछ प्रमुख कामों में यूरिन के बहाव को कंट्रोल करना और प्रजनन के लिए सीमेन निर्मित करना है. प्रारंम्भ में ये ग्रंथि छोटी होती है लेकिन बढ़ते उम्र के साथ इसका बिकास होता जाता है. लेकिन कई बार अनावश्यक रूप से इसमें वृद्धि नुकसानदेह है, इस समस्या को बीपीएच कहा जाता है.
 

प्रोस्टेट में अवरोध का कारण
प्रोस्टेट ग्रंथि में ज्यादा वृद्धि हो जाने के कारण मूत्र उत्सर्जन में परेशानी आने लगती है. इसके आकार में वृद्धि के कारण ही मूत्र नलिका का मार्ग अवरुद्ध हो जा जाता है. इसकी वजह से पेशाब रुक जाता है. अभी तक प्रोस्टेट ग्रंथि में वृद्धि के कारणों का पता नहीं लगाया जा सका है. बढ़ती उम्र के साथ ही हमारे शरीर में होने वाला हार्मोनल परिवर्तन इसका एक संभावित कारण हो सकता है. आइए प्रोस्टेट के आयुर्वेदिक उपचार को जानें.
 

प्रोस्टेट ग्रंथि में गड़बड़ी के लक्षण
* पेशाब करने की आवृति में वृद्धि.
* पेशाब करने जाने पर धार के चालू होने में अनावश्यक विलम्ब होना.
* बहुत जोर से पेशाब का अहसास होना लेकिन पेशाब करने जानें पर बूंद-बूंद करके निकलना या पेशाब रुक-रुक के आना.
* मूत्र विसर्जन के पश्चात् मूत्राशय में कुछ मूत्र शेष रह जाना. इससे रोगाणुओं की उत्पति होती है.
* पेशाब करने  में पेशानी का अनुभव करना.
* अंडकोष में लगातार दर्द का अनुभव करते रहना.
* मूत्र पर नियंत्रण नहीं रख पाना.
* रात्री में बार-बार पेशाब की तलब लगना.
* पेशाब करते समय जलन का अनुभव करना.
 

प्रोस्टेट का आयुर्वेदिक उपचार

  • अलसी के बीज: प्रोस्टेट का उपचार करने के लिए आयुर्वेद काफी उपयोगी औषधियां उपलब्ध कराता है. अलसी का बीज प्रोस्टेट के उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इसके लिए अलसी के बीज को मिक्सी में पीसकर पाउडर बनायें. फिर प्रतिदिन इसे 20 ग्राम पानी के साथ लें.
  • सीताफल के बीज: सीताफल के बीज में कॉपर, मैग्नीशियम, मैंगनीज, आयरन, ट्रिप्टोफैन, फ़ॉस्फोरस, फाइटोस्टेरोल, प्रोटीन और आवश्यक फैटी एसिड आदि पोषक तत्व मौजूद होते हैं. इसके अलावा सीताफल के बीज को जिंक का भी स्त्रोत माना जाता है और इसमें बीटा-सिस्टेरॉल की भी मौजूदगी होती है जो कि टेस्टोस्टेरॉन को डिहाइडड्रोटेस्टेरॉन में परिवर्तित होने से रोकता है. प्रोस्टेट ग्रंथि के बढ़ने की संभावना को ख़त्म करने के लिए आप सीताफल के बीजों को कच्चा, भूनकर या फिर दुसरे बीजों के साथ मिश्रित करके भी ले सकते हैं. यही नहीं आप इन बीजों को सलाद, सूप,पोहा आदि में भी डालकर खा सकते हैं. इनमें बहुत सारे पोषक तत्वों की मौजूदगी होती है.
  • सोयाबीन: प्रोस्टेट से छुटकारा दिलाने में सोयाबीन भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. सोयाबीन की सहायता से आप प्रोस्टेट का उपचार कर सकते हैं. प्रोस्टेट का उपचार सोयाबीन से करने के लिए आपको रोजाना सोयाबीन खाना होगा. ऐसा करने से आपका टेटोस्टरोन के स्तर में कमी आती है.
  • पानी के इस्तेमाल से: अपने दैनिक जीवन में हम सभी पानी पीते ही हैं. लेकिन कई लोग इसे ज्यादा महत्त्व नहीं देते हैं और वो उचित अंतराल या उचित मात्रा में पानी नहीं पीते हैं. ऐसा करने से आपके शरीर में कई अनियमिताएं आने लागती हैं. प्रोस्टेट की परेशानी के दौरान आपको नियमित रूप से पानी पीना लाभ पहुंचाता है.
  • चर्बीयुक्त और वसायुक्त भोजन का परहेज करें: जब भी आपको प्रोस्टेट की समस्या हो तो आपको चर्बीयुक्त और वसायुक्त भोजन का परहेज करें. आप देखेंगे कि चर्बीयुक्त और वसायुक्त भोजन का परहेज करने से प्रोस्टेट डिसऑर्डर में काफी लाभ मिलता है.
  • टमाटर नींबू आदि का खूब इस्तेमाल करें: टमाटर, नींबू आदि में विटामिन सी की प्रचुरता होती है. प्रोस्टेट डिसऑर्डर के दौरान आपको विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा लेनी चाहिए. इसलिए इस दौरान विटामिन सी की प्रचुरता वाले खाद्य पादार्थों का सेवन करना चाहिए.

I am 44 years old male having issues of numbness and pain in my right hand for the last 3 months. It stared from left hand and now shifted to right hand. There is no chest pain and I was not injured. Please suggest.

Neurologist, Hyderabad
I am 44 years old male having issues of numbness and pain in my right hand for the last 3 months. It stared from left...
Check your diabetes status. If required need to get nerve conduction studies and cervical mri studies. Avoid weight lifting.
Submit FeedbackFeedback

5 Effective Management Tips For Kidney Stones!

MCH-Urology
Urologist, Delhi
5 Effective Management Tips For Kidney Stones!

Having a stone in any organ of the body can be a harrowing experience but having a stone in your kidney is the most dreadful experience of the lot. The presence of a kidney stone causes excruciating pain in the host’s pelvic area, and if the stone enters the urinary tract of the host, the misery of the patient increases manifold. The urinary tract may also get jammed due to the presence of the stone, thereby causing problems in the urinary flow of the patient.

Ways to Manage a Kidney Stone-
Consulting a doctor is the first thing you should do when suffering from a situation such as a kidney stone. Doctors will provide the patients with medicines to curb their pain and improve their health. But, one can very well improve their condition by some of the basic home remedies as well. The most common home remedies a patient can act upon to manage a kidney stone in the best possible way are:

  1. Drinking Water- By drinking water in large amounts, the kidney stone starts to break down into smaller pieces, and the elements of the stone get diluted slowly. Ultimately, due to the dilution of the elements of the stone, the stones pass through with the urine of the patient. By drinking the water, you will be passing urine faster than the normal rate. As the stone enters the urinary tract, there are chances that the stone may be passed out while urinating.
  2. Watching Diet- Kidney stone patients should be a bit cautious with the food they consume. They should try and not have food which has high acid content. Low cholesterol levels need to be maintained, so if you want to prevent this from happening you need to cut down on fried and junk food.
  3. High Calcium Intake- Having food which has a high calcium content will help in flushing the stones out. The calcium will combine with oxalates and crystalize them, thereby enabling it to pass it through the urinary tract of the patient.
  4. High lemon consumption- Lemon juice is filled with citrates. Citrates can easily break up the kidney stones into minute particles and give it a Sandy texture. Citrate also helps in moving the stone in the right direction. You can drink lemon juice directly or mix it with warm water and then consume it.
  5. Apple cider vinegar- This again contains a high amount of citric acid which worked very efficiently in our body. It manages to set everything in place. You will be able to digest food in a better manner and will also reduce the pain. It will break down the stone and then pass it. Apple cider vinegar can be consumed with a warm glass of water mixed with one spoon of honey.

Kidney stones is a pretty common yet a serious condition, therefore one should not take it lightly and should consult a doctor as soon as possible.

3 people found this helpful

I have been taking regularly Nebistar 5 mg medicine in night since last 3 year, My BP reading is normally at 130/88. Since last 4-5 days I am having headache in day time and found my BP reading to be 140/95. Please advice if it is temporary due to work stress or I need to increase dosage as I am taking same medicine since last 3 year. My age is 41 year.

MBBS
General Physician, Trichy
I have been taking regularly Nebistar 5 mg medicine in night since last 3 year, My BP reading is normally at 130/88. ...
Hey Mr. lybrate-user, 140/95 is not alarming. You need not worry about it. Just do your routine excercise and maintain your diet. Just make sure you record your BP when your relaxed and do not take any meal 1 hr prior to recording BP. For headache, use T.paracetomol 500 mg 1 SOS (when head ache is present)
Submit FeedbackFeedback

Hi, ECG had revealed Bradycardia. Doctor had attributed this to my athletic lifestyle and said it is a sign of good health. I want to know if there are any long term issues related to this.

Diploma Diabetes, MBBS
General Physician, Chennai
Hi, ECG had revealed Bradycardia. Doctor had attributed this to my athletic lifestyle and said it is a sign of good h...
Hi lybrate-user, jus count your pulse for 1 min n make a note. Do simple squatting (25nos) check your pulse. If it increases more than your baseline then you r hale enough. Thank q.
Submit FeedbackFeedback

Is bradycardia curable with life style changes and healthy habits? Or phase maker is only the solution.

MBBS, MD - Internal Medicine, DM - Cardiology, Fellowship in EP
Cardiologist, Delhi
Is bradycardia curable with life style changes and healthy habits? Or phase maker is only the solution.
Bradycardia may be with symptoms or in healthy people. It is of many types, AV block, sick sinus, etc. Please post your ECG for review. Avoid medications that worsen bradycardia.
Submit FeedbackFeedback

My BP reading is 135/90. By doing exercise I am able to bring the level to 130/90. Sometimes due to rigorous exercise the reading is 125/80. Do I have to consult a doctor for medication.

General Physician, Delhi
My BP reading is 135/90. By doing exercise I am able to bring the level to 130/90. Sometimes due to rigorous exercise...
Your Bp is within normal limits as per latest American studies you must take less salt and more water avoid papad and pickles continue balanced workout regulaly.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My BP is 140/85, bich bich me BP high ho jata hai. And sir me kabhi kabhi bharipan lagta hai.

BHMS
Homeopath, Hyderabad
My BP is 140/85, bich bich me BP high ho jata hai. And sir me kabhi kabhi bharipan lagta hai.
Dear Lybrate user, Aapki age ke anusaar thode lifestyle changes kariye. Go for a walk everyday. Eat less salt. No oily and fried food. Meditation aur yoga kijiye weekly 3 times. Agar improvement na hoto medicine start karenge.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Clinics

  4.5  (19 ratings)

Lifeline Rigid Hospitals

Avadi, Chennai, Chennai
View Clinic

SHASTI PHYSIO CLINIC

Kilpauk, Chennai, Chennai
View Clinic
  4.6  (50 ratings)

Murgan hospitals

Kilpauk, Chennai, Chennai
View Clinic

Dr.Smilez Advanced Dental Center kilpauk

Poonamallee High Road, Chennai, Chennai
View Clinic