Lybrate Mini logo
Lybrate for
Android icon App store icon
Ask FREE Question Ask FREE Question to Health Experts
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Dr. Farhan Ahmed

General Physician, Chennai

0 - 500 at clinic
Dr. Farhan Ahmed General Physician, Chennai
0 - 500 at clinic
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care....more
I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care.
More about Dr. Farhan Ahmed
Dr. Farhan Ahmed is a trusted General Physician in Anna Nagar East, Chennai. You can visit him at Selvaraman Hospital in Anna Nagar East, Chennai. Don’t wait in a queue, book an instant appointment online with Dr. Farhan Ahmed on Lybrate.com.

Lybrate.com has an excellent community of General Physicians in India. You will find General Physicians with more than 35 years of experience on Lybrate.com. You can find General Physicians online in Chennai and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Location

Book Clinic Appointment

D-107, 1st Main Road, Anna Nagar East. Landmark: Near Chinthamani Super Market, ChennaiChennai Get Directions
500 at clinic
...more

D-107, 1st Main Road, Anna Nagar East. Landmark: Near Chinthamani Super Market.Chennai Get Directions
0 at clinic
...more
View All

Consult Online

Text Consult
Send multiple messages/attachments
7 days validity
Consult Now

Services

View All Services

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

How can we cure the problem of constipation and acidity after taking junk food and what measures can be taken? Please tell me.

MBBS, MD - Internal Medicine
Internal Medicine Specialist, Faridabad
How can we cure the problem of constipation and acidity after taking junk food and what measures can be taken? Please...
Take natural 2-tab. Charcoal at night before bed. Syp. Livoluk 10 ml at night.This can help cure in constipation. take green veg., salaad in meal.grapes at night,one apple daily in morning. Banana in morning, juice,whole grain ,oats,more fiber meal,digestive foods, plenty of water during day and 1 glass of water before meal, avoid bad habits...stress ,alcohol, smoking, non-veg.,avoid fatty meal,oily foods. To confirm cause of constipation you may go for tests stool r/m, stool c/s,lft,blood sugar,cbc,usg whole abdomen ,x ray barium meal for examination for rectum,sigmoid, best tests is endoscopy for large intestine . Do not eat papaya if you diabetic. go for walk daily in morning.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am a 28 yr old male and have vertigo and I suffered from past 1 year and I consult doctor also but my problem is not solved then how can I solve my problem?

MBBS, MD - Internal Medicine
Internal Medicine Specialist, Faridabad
HI.. YOU CAN TAKE TAB. VERTIN 8 MG TWICE A DAY CONTINUE. TAKE PHYSIOTHERAPY EXERCISE FOR CERVICAL PAIN. CAP. NEUROKIND ONCE A DAY AFTER MEAL.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have a severe health problem that frequently nightfalls happening in 4 or 5 days interval. After that I feel very weak and no interest to do anything like study etc. Now a days I can't memorize more study related things. Sir please give me best treatment for this problem.

BASM, MD, MS (Counseling & Psychotherapy), MSc - Psychology, Certificate in Clinical psychology of children and Young People, Certificate in Psychological First Aid, Certificate in Positive Psychology
Psychologist, Palakkad
I have a severe health problem that frequently nightfalls happening in 4 or 5 days interval. After that I feel very w...
Dear Lybrate user. I can understand. But please don't worry about your night fall. Night fall happens due to a natural process and it is never unhealthy. Your feeling of tiredness is due to your anxiety and fear about nightfall. You can stop your nightfall just by masturbating once a week. Again, masturbation is also not unhealthy. Take care.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have Fistula in Ano since 3 years. I operated 2 times but now it is recurrent. Please suggest.

MBBS, MS - General Surgery, FIAGES(Fellowship in minimal access surgery), FMAS (Fellowship in Minimal Access Surgery)
General Surgeon, Ghaziabad
Causes of recurrence can be a complex fistula, tubercular etiology or malignancy. Consult a surgeon and rule out these possibilities.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have pain in left side face among teeth & head. I had cold for 4-5 days, Took some medicine from store and got relief but now after 1 day I have again pain. Feeling little swelling over left side face.

BDS
Dentist,
I have pain in left side face among teeth & head. I had cold for 4-5 days, Took some medicine from store and got reli...
As per your symptoms it points out that you may have a very large cavity of any of the tooth on the left side has got infected leading to the swelling. Go for an endodontic consultation.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am a 69 year old female having cold almost every day. What type of medication is advisable to get some relief. Please give me an answer.

MBBS
General Physician, Delhi
Get yourself screened up for allergic rhinitis, perennial rhinitis, sinusitis. Till then take tablet montair lc everyday night time for 15 days
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

सेक्स में कैसे आती है उत्तेजना

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Sexologist, Allahabad
सेक्स में कैसे आती है उत्तेजना
पेनिस (लिंग) में इरेक्शन विचार से होता है, स्पर्श से होता है। दिमाग में एक सेक्स सेंटर है। जब वह उत्तेजित होता है तो संदेश लिंग की तरफ जाता है। बदन में खून का प्रवाह तेज हो जाता है। पूरे शरीर में पेनिस में खून का प्रवाह सबसे ज्यादा तेज होता है। इसी वजह से लिंग में उत्तेजना ओर स्त्रियों की योनि में गीलापन आता है। पेनिस के इरेक्शन के लिए योग्य हॉर्मोन का होना जरूरी है। पुरुषों में 60 साल के बाद और महिलाओं में 45 साल के बाद हॉर्मोन की कमी होने लगती है।

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन क्या है: सेक्स के दौरान या उससे पहले पेनिस में इरेक्शन (तनाव) के खत्म हो जाने को इरेक्टाइल डिस्फंक्शन या नपुंसकता कहते हैं। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कई तरह का हो सकता है। हो सकता है, कुछ लोगों को बिल्कुल भी इरेक्शन न हो, कुछ लोगों को सेक्स के बारे में सोचने पर इरेक्शन हो जाता है, लेकिन जब सेक्स करने की बारी आती है, तो पेनिस में ढीलापन आ जाता है। इसी तरह कुछ लोगों में पेनिस वैजाइना के अंदर डालने के बाद भी इरेक्शन की कमी हो सकती है। इसके अलावा, घर्षण के दौरान भी अगर किसी का इरेक्शन कम हो जाता है, तो भी यह इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की निशानी है।

इरेक्शन सेक्स पूरा हो जाने के बाद यानी इजैकुलेशन के बाद खत्म होना चाहिए। कई बार लोगों को वहम भी हो जाता है कि कहीं उन्हें इरेक्टाइल डिस्फंक्शन तो नहीं। सीधी सी बात है कि आप जिस काम को करने की कोशिश कर रहे हैं, वह काम अगर संतुष्टिपूर्ण तरीके से कर पाते हैं तो सब ठीक है और नहीं कर पा रहे हैं तो समस्या हो सकती है। जिन लोगों में यह दिक्कत पाई जाती है, वे चिड़चिड़े हो सकते हैं और उनका कॉन्फिडेंस लेवल भी कम हो सकता है। वजह: इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की वजह शारीरिक भी हो सकती है और मानसिक भी। अगर किसी खास समय इरेक्शन होता है और सेक्स के समय नहीं होता, तो इसका मतलब यह समझना चाहिए कि समस्या मानसिक स्तर की है। खास समय इरेक्शन होने से मतलब है- सुबह सोकर उठने पर, पेशाब करते वक्त, मास्टरबेशन के दौरान या सेक्स के बारे में सोचने पर। अगर इन स्थितियों में भी इरेक्शन नहीं होता तो समझना चाहिए कि समस्या शारीरिक स्तर पर है। अगर समस्या मानसिक स्तर पर है तो साइकोथेरपी और डॉक्टरों द्वारा बताई गई कुछ सलाहों से समस्या सुलझ जाती है।


- शारीरिक वजह ये चार हो सकती हैं : चार छोटे एस (S) बड़े एस यानी सेक्स को प्रभावित करते हैं। ये हैं : शराब, स्मोकिंग, शुगर और स्ट्रेस।- हॉर्मोंस डिस्ऑर्डर्स इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की एक खास वजह है।- पेनिस के सख्त होने की वजह उसमें खून का बहाव होता है। जब कभी पेनिस में खून के बहाव में कमी आती है तो उसमें पूरी सख्ती नहीं आ पाती और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन जैसी दिक्कतें शुरू हो जाती हैं। कुछ लोगों के साथ ऐसा भी होता है कि शुरू में तो पेनिस के अंदर ब्लड का फ्लो पूरा हो जाता है, लेकिन वैजाइना में एंटर करते वक्त ब्लड का यह फ्लो वापस लौटने लगता है और पेनिस की सख्ती कम होने लगती है।- नर्वस सिस्टम में आई किसी कमी के चलते भी यह समस्या हो सकती है। यानी न्यूरॉलजी से जुड़ी समस्याएं भी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की वजह हो सकती हैं।- हमारे दिमाग में सेक्स संबंधी बातों के लिए एक खास केंद्र होता है। इसी केंद्र की वजह से सेक्स संबंधी इच्छाएं नियंत्रित होती हैं और इंसान सेक्स कर पाता है। इस सेंटर में अगर कोई डिस्ऑर्डर है, तो भी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन हो सकता है।- कई बार लोगों के मन में सेक्स करने से पहले ही यह शक होता है कि कहीं वे ठीक तरह से सेक्स कर भी पाएंगे या नहीं। कहीं पेनिस धोखा न दे जाए। मन में ऐसी शंकाएं भी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की वजह बनती हैं। इसी डर की वजह से लॉन्ग-टर्म में व्यक्ति सेक्स से मन चुराने लगता है और उसकी इच्छा में कमी आने लगती है।- डॉक्टरों का मानना है कि 80 फीसदी मामलों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की वजह शारीरिक होती है, बाकी 20 फीसदी मामले ऐसे होते हैं जिनमें इसके लिए मानसिक कारण जिम्मेदार होते हैं।ट्रीटमेंटपहले इस समस्या को आहार-विहार और कसरत करने से ठीक करने की कोशिश की जाती है, लेकिन जब इससे कोई फर्क नहीं पड़ता तो कोई भी ट्रीटमेंट शुरू करने से पहले डॉक्टर समस्या की असली वजह का पता लगाते हैं। इसके लिए कई तरह के टेस्ट किए जाते हैं। वजह के अनुसार आमतौर पर इलाज के तरीके ये हैं:1. हॉर्मोन थेरपी : अगर इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की वजह हॉर्मोन की कमी है तो हॉर्मोन थेरपी की मदद से इसे दो से तीन महीने के अंदर ठीक कर दिया जाता है। इस ट्रीटमेंट का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता।2. ब्लड सप्लाई : जब कभी पेनिस में आर्टरीज की ब्लॉकेज की वजह से ब्लड सप्लाई में कमी आती है, तो दवाओं की मदद से इस ब्लॉकेज को खत्म किया जाता है। इससे पेनिस में ब्लड की सप्लाई बढ़ जाती है और उसमें तनाव आने लगता है।3. सेक्स थेरपी : कई मामलों में समस्या शारीरिक न होकर दिमाग में होती है। ऐसे मामलों में सेक्स थेरपी की मदद से मरीज को सेक्स संबंधी विस्तृत जानकारी दी जाती है, जिससे वह अपने तरीकों में सुधार करके इस समस्या से बच सकता है।4. वैक्यूम पंप, इंजेक्शन थेरपी और वायग्रा : वैक्यूम पंप, इंजेक्शन थेरपी और वायग्रा जैसे ड्रग्स की मदद से भी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को दूर किया जा सकता है। वैसे कुछ डॉक्टरों का मानना है कि वैक्यूम पंप और इंजेक्शन थेरपी अब पुराने जमाने की बात हो चुकी हैं।- वैक्यूम पंप : आजकल बाजार में कई तरह के वैक्यूम पंप मौजूद हैं। रोज अखबारों में इसके तमाम ऐड आते रहते हैं। इसकी मदद से बिना किसी साइड इफेक्ट के इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का हल निकाला जा सकता है। वैक्यूम पंप एक छोटा सा इंस्ट्रूमेंट होता है। इसकी मदद से पेनिस के चारों तरफ 100 एमएम (एचजी) से ज्यादा का वैक्यूम बनाया जाता है जिससे पेनिस में ब्लड का फ्लो बढ़ने लगता है, और तीन मिनट के अंदर उसमें पूरी सख्ती आ जाती है। लगभग 80 फीसदी लोगों को इससे फायदा हो जाता है। चूंकि इसमें कोई दवा नहीं दी जाती है, इसलिए इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। वैक्यूम पंप आमतौर पर उन लोगों के लिए है जो 50 की उम्र के आसपास पहुंच गए हैं। यंग लोगों को इसकी सलाह नहीं दी जाती है, फिर भी जो भी इसका इस्तेमाल करे, उसे डॉक्टर की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।- वायग्रा : इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के लिए वायग्रा का इस्तेमाल अच्छा ऑप्शन है, लेकिन इसका इस्तेमाल किसी भी सूरत में बिना डॉक्टरी सलाह के नहीं करना चाहिए। वायग्रा में मौजद तत्व उस केमिकल को ब्लॉक कर देते हैं, जो पेनिस में होने वाले ब्लड फ्लो को रोकने के लिए जिम्मेदार है। इससे पेनिस में ब्लड का फ्लो बढ़ जाता है और फिर इरेक्शन आ जाता है। वायग्रा इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को ठीक करने में फायदेमंद तो साबित होती है, लेकिन यह महज एक टेंपररी तरीका है। इससे समस्या की वजह ठीक नहीं होती।इनका असर गोली लेने के चार घंटे तक रहता है। वायग्रा बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेनी चाहिए। कई मामलों में इसे लेने के चलते मौत भी हुई हैं। गोली लेने के 15 मिनट बाद असर शुरू हो जाता है।अगर हाई और लो ब्लडप्रेशर, हार्ट डिजीज, लीवर से संबंधित रोग, ल्यूकेमिया या कोई एलर्जी है तो वायग्रा लेने से पहले विशेष सावधानी रखें और डॉक्टर की सलाह के मुताबिक ही चलें।- सर्जरी : जब ऊपर दिए गए तरीके फेल हो जाते हैं, तो अंतिम तरीके के रूप में पेनिस की सर्जरी की जाती है।प्रीमैच्योर इजैकुलेशनप्रीमैच्योर इजैकुलेशन या शीघ्रपतन पुरुषों का सबसे कॉमन डिस्ऑर्डर है। सेक्स के लिए तैयार होते वक्त, फोरप्ले के दौरान या पेनिट्रेशन के तुरंत बाद अगर सीमेन बाहर आ जाता है, तो इसका मतलब प्रीमैच्योर इजैकुलेशन है। ऐसी हालत में पुरुष अपनी महिला पार्टनर को पूरी तरह संतुष्ट किए बिना ही फारिग हो जाता है। यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें पुरुष का अपने इजैकुलेशन पर कोई अधिकार नहीं होता। आदर्श स्थिति यह होती है कि जब पुरुष की इच्छा हो, तब वह इजैकुलेट करे, लेकिन प्रीमैच्योर इजैकुलेशन की स्थिति में ऐसा नहीं होता।- सेरोटोनिन जैसे न्यूरो ट्रांसमिटर्स की कमी से प्रीमैच्योर इजैकुलेशन की समस्या हो सकती है।- यूरेथेरा, प्रोस्टेट आदि में अगर कोई इंफेक्शन है, तो भी प्रीमैच्योर इजैकुलेशन हो सकता है।- दिमाग में मौजूद सेक्स सेंटर एरिया में अगर कोई डिस्ऑर्डर है तो भी सीमेन का डिस्चार्ज तेजी से होता है।- कुछ लोगों के पेनिस में उत्तेजना पैदा करने वाले न्यूरोट्रांसमिटर्स ज्यादा संख्या में होते हैं। इनकी वजह से ऐसे लोगों में टच करने के बाद उत्तेजना तेजी से आ जाती है और वे जल्दी क्लाइमैक्स पर पहुंच जाते हैं।- कई बार एंग्जायटी, टेंशन और सीजोफ्रेनिया की वजह से भी ऐसा हो सकता है।दवाएं : प्रीमैच्योर इजैकुलेशन की वजह को जानने के बाद उसके मुताबिक खाने की दवाएं दी जाती हैं। इनकी मदद से प्रीमैच्योर इजैकुलेशन को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है। इसमें करीब दो महीने का वक्त लगता है। इन दवाओं के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं।इंजेक्शन थेरपी: अगर खाने की दवाओं से काम नहीं चलता तो इंजेक्शन थेरपी दी जाती है। इनसे तीन मिनट के अंदर पेनिस हार्ड हो जाता है और यह हार्डनेस 30 मिनट तक बरकरार रहती है। इसकी मदद से कोई भी शख्स सही तरीके से सेक्स कर सकता है। ये इंजेक्शन कुछ दिनों तक दिए जाते हैं। इसके बाद खुद-ब-खुद उस शख्स का अपने इजैकुलेशन पर कंट्रोल होने लगता है और फिर इन इंजेक्शन को छोड़ा जा सकता है।टोपिकल थेरपी : यह टेंपररी ट्रीटमेंट है। इसमें कुछ खास तरह की क्रीम का यूज किया जाता है। इन क्रीम की मदद से डिस्चार्ज का टाइम बढ़ जाता है। इनका भी कोई साइड इफेक्ट नहीं होता।सेक्स थेरपी : दवाओं के साथ मरीज को कुछ एक्सरसाइज भी सिखाई जाती हैं। ये हैं :स्टॉप स्टार्ट टेक्निक : पार्टनर की मदद से या मास्टरबेशन के माध्यम से उत्तेजित हो जाएं। जब आपको ऐसा लगे कि आप क्लाइमैक्स तक पहुंचने वाले हैं, तुरंत रुक जाएं। खुद को कंट्रोल करें और सुनिश्चित करें कि इजैकुलेशन न हो। लंबी गहरी सांस लें और कुछ पलों के लिए रिलैक्स करें। कुछ पलों बाद फिर से पेनिस को उत्तेजित करना शुरू कर दें। जब क्लाइमैक्स पर पहुंचने वाले हों, तभी रोक लें और रिलैक्स करें। इस तरह बार बार दोहराएं। कुछ समय बाद आप महसूस करेंगे कि शुरू करने और स्टॉप करने के बीच का समय धीरे धीरे ज्यादा हो रहा है। इसका मतलब है कि आप पहले के मुकाबले ज्यादा समय तक टिक रहे हैं। लगातार प्रैक्टिस करने से इजैकुलेशन कब हो इस पर काबू पाया जा सकता है।कीजल एक्सरसरइज : कीजल एक्सरसाइज न सिर्फ प्रीमैच्योर इजैकुलेशन को कंट्रोल करने में सहायक है, बल्कि प्रोस्टेट से संबंधित समस्याएं भी इससे ठीक की जा सकती हैं। इसके लिए पेशाब करते वक्त स्क्वीज, होल्ड, रिलीज पैटर्न अपनाना होता है। यानी पेशाब का फ्लो शुरू होते ही मसल्स का स्क्वीज करें, कुछ पलों के लिए रुकें और फिर से रिलीज कर दें। इस दौरान इस प्रॉसेस का बार बार दोहराएं। इन सेक्स एक्सरसाइज की प्रैक्टिस अगर कोई शख्स चार हफ्ते तक लगातार कर लेता है तो उसके बाद वह 8 से 10 मिनट तक बिना इजैकुलेशन के इरेक्शन बरकरार रख सकता है। कई बार ऐसा भी देखा गया है कि काफी टाइम बाद सेक्स करने से भी व्यक्ति जल्दी स्खलित हो जाता है। ऐसे मामलों में इन एक्सरसाइजों को कर लिया जाए तो इस समस्या से भी निजात पाई जा सकती है।मास्टरबेशनसेक्स के दौरान पेनिस जो काम योनि में करता है, वही काम मास्टरबेशन के दौरान पेनिस मुट्ठी में करता है। मास्टरबेशन युवाओं का एक बेहद सामान्य व्यवहार है। जिन लोगों के पार्टनर नहीं हैं, उनके साथ-साथ मास्टरबेशन ऐसे लोगों में भी काफी कॉमन है, जिनका कोई सेक्सुअल पार्टनर है। जिन लोगों के सेक्सुअल पार्टनर नहीं हैं या जिनके पार्टनर्स की सेक्स में रुचि नहीं है, ऐसे लोग अपनी सेक्सुअल टेंशन को मास्टरबेशन की मदद से दूर कर सकते हैं। जो लोग प्रेग्नेंसी और एसटीडी के खतरों से बचना चाहते हैं, उनके लिए भी मास्टरबेशन उपयोगी है।नॉर्मल: मास्टरबेशन बिल्कुल नॉर्मल है। सेक्स का सुख हासिल करने का यह बेहद सुरक्षित तरीका है और ताउम्र किया जा सकता है, लेकिन अगर यह रोजमर्रा की जिंदगी को ही प्रभावित करने लगे तो इसका सेहत और दिमाग दोनों पर गलत असर हो सकता है।कुछ तथ्य- सामान्य सेक्स के तीन तरीके होते हैं - पार्टनर के साथ सेक्स, मास्टरबेशन और नाइट फॉल। अगर पार्टनर से सेक्स कर रहे हें तो जाहिर है सीमेन बाहर आएगा। सेक्स नहीं करते, तो मास्टरबेशन के जरिये सीमेन बाहर आएगा। अगर कोई शख्स यह दोनों ही काम नहीं करता है तो उसका सीमेन नाइट फॉल के जरिये बाहर आएगा। सीमेन सातों दिन और चौबीसों घंटे बनता रहता है। सीमेन बनता रहता है, खाली होता रहता है।- मास्टरबेशन करने से कोई शारीरिक या मानसिक कमजोरी नहीं आती।- पेनिस में जितनी बार इरेक्शन होता है, उतनी बार मास्टरबेशन किया जा सकता है। इसकी कोई लिमिट नहीं है। हर किसी के लिए अलग-अलग दायरे हैं।- इससे बाल गिरना, आंखों की कमजोरी, मुंहासे, वजन में कमी, नपुंसकता जैसी समस्याएं नहीं होतीं।- सीमेन की क्वॉलिटी पर कोई असर नहीं होता। न तो सीमेन का कलर बदलता और न वह पतला होता है।- इससे पेनिस के साइज पर भी कोई असर नहीं होता। जो लोग कहते हैं कि मास्टरबेशन से पेनिस का टेढ़ापन, पतलापन, नसें दिखना जैसी समस्याएं हो जाती हैं, वे खुद भी भ्रम में हैं और दूसरों को भी भ्रमित कर रहे हैं।- कुछ लोगों को लगता है कि मास्टरबेशन करने के तुरंत बाद उन्हें कुछ कमजोरी महसूस होती है, लेकिन वास्तव में ऐसा कुछ नहीं होता। यह मन का वहम है।- मास्टरबेशन एड्स और रेप जैसी स्थितियों को रोकने का अच्छा तरीका है।- कामसूत्र या आयुर्वेद में कहीं यह नहीं लिखा है कि मास्टरबेशन बीमारी है।- 13-14 साल की उम्र में लड़कों को इसकी जरूरत होने लगती है। कुछ लोग शादी के बाद भी सेक्स के साथ-साथ मास्टरबेशन करते रहते हैं। यह बिल्कुल नॉर्मल है।मिथ्स क्या हैं1. पेनिस का साइज छोटा है तो सेक्स में दिक्कत होगी। बड़ा पेनिस मतलब सेक्स का ज्यादा मजा।सचाई : छोटे पेनिस की बात नाकामयाब दिमाग में ही आती है। दुनिया में ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे पेनिस के स्टैंडर्ड साइज का पता किया सके। वैजाइना की सेक्सुअल लंबाई छह इंच होती है। इसमें से बाहरी एक तिहाई हिस्सा यानी दो इंच में ही ग्लांस तंतु होते हैं। अगर किसी महिला को उत्तेजित करना है, तो वह योनि के बाहरी एक तिहाई हिस्से से ही उत्तेजित हो जाएगी। जाहिर है, अगर उत्तेजित अवस्था में पुरुष का लिंग दो इंच या उससे ज्यादा है, तो वह महिला को संतुष्ट करने के लिए काफी है। ध्यान रखें, खुद और अपने पार्टनर की संतुष्टि के लिए महत्वपूर्ण चीज पेनिस की लंबाई नहीं होती, बल्कि यह होती है कि उसमें तनाव कैसा आता है और कितनी देर टिकता है। पेनिस की चौड़ाई का भी खास महत्व नहीं है। योनि इलास्टिक होती है। जितना पेनिस का साइज होगा, वह उतनी ही फैल जाएगी। बड़ा पेनिस किसी भी तरह से सेक्स में ज्यादा आनंद की वजह नहीं होता।2. पेनिस में टेढ़ापन होना सेक्स की नजर से समस्या है।सचाई : पेनिस में थोड़ा टेढ़ापन होता ही है। किसी भी शख्स का पेनिस बिल्कुल सीधा नहीं होता। यह या तो थोड़ा दायीं तरफ या फिर थोड़ा बायीं तरफ झुका होता है। इसकी वजह से पेनिस को वैजाइना में प्रवेश कराने में कोई दिक्कत नहीं होती है। ध्यान रखें, घर में दाखिल होना महत्वपूर्ण है, थोड़े दायें होकर दाखिल हों या फिर बायें होकर या फिर सीधे। ऐसे मामलों में इलाज की जरूरत तब ही समझनी चाहिए योनि में पेनिस का प्रवेश कष्टदायक हो।3. बाजार में तमाम तेल हैं, जिनकी मालिश करने से पेनिस को लंबा मोटा और ताकतवर बनाया जा सकता है। इसी तरह तमाम गोलियां, टॉनिक आदि लेने से सेक्स पावर बढ़ोतरी होती है।सचाई : पेनिस पर बाजार में मिलने वाले टॉनिक का कोई असर नहीं होता, असर होता है उसके ऊपर बने सांड या घोड़े के चित्र का। इसी तरह जब पेनिस पर तेल की मालिश की जाती है, तो उस हाथ की स्नायु मजबूत होती हैं, जिससे तेल की मालिश की जाती है, लेकिन पेनिस की मसल्स पर इसका कोई भी असर नहीं होता।4. पेनिस में नसें नजर आती हैं तो यह कमजोरी की निशानी है।सचाई : पेनिस में अगर कभी नसें नजर आती भी हैं तो वे नॉर्मल हैं। उनका पेनिस की कमजोरी से कोई लेना देना नहीं है।5. जिन लोगों के पेनिस सरकमसाइज्ड (इस स्थिति में पेनिस की फोरस्किन पीछे की तरफ रहती है और ग्लांस पेनिस हमेशा बाहर रहता है) हैं, वे सेक्स में ज्यादा कामयाब होते हैं।सचाई : सरकमसाइज्ड पेनिस का सेक्स की संतुष्टि से कोई लेना-देना नहीं है। यह तब कराना चाहिए जब उत्तेजित अवस्था में पुरुष की फोरस्किन पीछे हटाने में दिक्कत हो।6. सेक्स पावर बढ़ाने नुस्खे, गोलियां (आयुर्वेदिक और एलोपैथिक), मसाज ऑयल, शिलाजीत आदि बाजार में हैं। इनसे सेक्स पावर बढ़ाई जा सकती है।सचाई : बाजार में आमतौर मिलने वाली ऐसी गोलियों और दवाओं से सेक्स पावर नहीं बढ़ती। आयुर्वेद के नियम कहते हैं कि मरीज को पहले डॉक्टर से मिलना चाहिए और फिर इलाज करना चाहिए। हर मरीज के लिए उसके हिसाब से दवा दी जाती है, दवाओं को जनरलाइज नहीं किया जा सकता।एक पक्ष यह भीयूथ्स की सेक्स समस्याओं पर एलोपैथी और आयुर्वेद की सोच में अंतर मिलता है। जहां एक तरफ एलोपैथी में माना जाता है कि सीमेन शरीर से बाहर निकलने से शरीर और दिमाग को कोई नुकसान नहीं होता, वहीं आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज करने वाले लोग सीमेन के संरक्षण की बात करते हैं। आयुर्वेदिक डॉक्टरों के मुताबिक :- महीने में दो से आठ बार तक नाइट फॉल स्वाभाविक है, लेकिन इससे ज्यादा होने लगे, तो यह सेहत के लिए नुकसानदायक है।- मास्टरबेशन करने से याददाश्त कमजोर होती है। एकाग्रता और सेहत पर बुरा असर होता है।- प्रीमैच्योर इजैकुलेशन और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को आयुर्वेद में दवाओं के जरिए ठीक किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए मरीज को खुद डॉक्टर से मिलकर इलाज कराना चाहिए। दरअसल, आयुर्वेद में मरीज विशेष के लक्षणों और हाल के हिसाब से दवा दी जाती है, जिनका फायदा होता है।- बाजार में आयुर्वेद के नाम पर बिकने वाले मालिश करने के तेल, कैपसूल और ताकत की दवाएं जनरल होती हैं। इन बाजारू दवाओं से सेक्स पावर बढ़ाने या पेनिस को लंबा-मोटा करने में कोई मदद नहीं मिलती। ये चीजें आयुर्वेद को बदनाम करती हैं।- विज्ञापनों और नीम-हकीमों से दूर रहें। तमाम नीम-हकीम आयुर्वेद के नाम पर युवकों को बेवकूफ बनाकर पैसा ठगते हैं। इनसे बचें और हमेशा किसी योग्य डॉक्टर से ही संपर्क करें।- मर्यादित सेक्स करने से जिंदगी में यश बढ़ता है और परिवार में बढ़ोतरी होती है, जबकि अमर्यादित और बहुत ज्यादा सेक्स रोगों को बढ़ाता है।- मल-मूत्र का वेग होने पर और व्रत, शोक और चिंता की स्थिति में सेक्स से परहेज करना चाहिए।- जो चीजें शरीर को सेहतमंद रखने में मदद करती हैं, वही चीजें सेक्स की पावर बढ़ाने में भी मददगार हैं। ऐसे में अगर आप स्वास्थ्य के नियमों का पालन कर रहे हैं और सेहतमंद खाना ले रहे हैं तो आपको सेक्स पावर बढ़ाने वाली चीजें अलग से लेने की कोई जरूरत नहीं है। http://drbkkashyap.blogspot.in/2015/03/60-45-s-80-20-
71 people found this helpful

I am 65 years old and suffered a Heart Attack 3 years back. I am on medication for the same (Ecosprin 75, Novastat - CV 10/75, Nebicard 2.5, Ativan 2 mg along with Pantocid once a day. Due to Acid Reflux problem, ecosprin 75 was stopped9 since last one year), and was advised to undergo Endoscopy test. I had undergone the test and diagnosed with Lax Cardia. I have been prescribed with Pantocid 40 twice a day since then. I have read in your Advisory tips, as well as advices from other doctors that prolonged use of PPI is very harmful. But, in my case I have to take it continuously. What should I do?

Diploma in Obstetrics & Gynaecology, MBBS
General Physician, Delhi
I am 65 years old and suffered a Heart Attack 3 years back. I am on medication for the same (Ecosprin 75, Novastat - ...
You are right , prolonged use of PPI does carry risk(s). use kitchen remedies like ginger,garlic,ajwain,jeera,heeng,flax seed ground well. modify eating habits. take warm water in the form of green tea/clear soups/diluted milk/normal tea /plain warm water every 2 hours so that acid does not get collected and is washed further with warm nourishing liquids. continue other medicines given after heart attack. aspirin is a blood thinner and is not the only reason for acidity or stomach ulcers as feared. diet is more important than PPI prevention for acidity symptoms.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am 16 years old and I have sleeping disorder till now. What should I do?

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda,
I am 16 years old and I have sleeping disorder till now. What should I do?
At this age your sleeping disorder should not be allowed to become more complex further. Though there are safe, pure herbal, non toxic medicines available in ayurveda yet I suggest you to get the help of yoga postures, deep breathing and meditation only. Start from 5 minutes a day initially to 30 minutes in a fortnight and then practice daily. You will start getting sound sleep and vat, pitt and kafa insomnia will be balanced. Vata has problem in falling asleep, pitta has sudden awakening, kafa has oversleep. Still if needed, brahmi, jatamansi, ashwagandha, tagara, shatavari herbs or its preparations help overcome sleeping disorder.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Can masturbation cause yellowing of urine? For past 1 year I'm experience this problem. When I drink more water in that day the urine is normal colour. Colour of my urine changes from white to pale yellow to dark yellow depending on the amount of water I intake. And I masturbate twice a week. Is it because of masturbation or due to some other reasons ? Jaundice ? Even if I drink more water urine comes frequently. Can anyone suggest me the reasons ?

D.E.H.M, B.E.M.S, M.D.(E.H)
Sexologist, Faridabad
Can masturbation cause yellowing of urine? For past 1 year I'm experience this problem. When I drink more water in th...
IF JAUNDICE IS THERE IT MAY BE THE REASON . BUT ALSO MOST OF EXCESSIVE MASTURBATION CASES PATIENT . COMPLAIN SIMILAR SYMPTOMS . WELL IT IS ADVISABLE TO DROP MASTURBATION MAY REPLACE IT WITH NATURAL SEX . WHICH IS HARMLESS THAN MASTURBATION.
5 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am very recently experiencing a throbbing pain at the left side of my head. Not regularly but when I have to work for long or I am in the sun for long. The pain doesn't reduce by any other way than sleep. Is it migraine? If it is , what should be the cure?

DNB
General Physician,
Dear, your symptoms r suggestive of Migraine. It has to be controlled with medicines. Take paramet tab as and wen needed if headaches r infrequent. If attacks r frequent then you should consult Physician as certain things have to be known before starting you on preventive medicines.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I Ejaculate Within 2 Minutes After Penetration. I have tried vigor 50 mg and vigor 100 mg but it didn't work. Now what next I should do.

MBBS (Gold Medalist, Hons), MS (Obst and Gynae- Gold Medalist), DNB (Obst and Gynae), Fellow- Reproductive Endocrinology and Infertility (ACOG, USA), FIAOG
Gynaecologist, Kolkata
I Ejaculate Within 2 Minutes After Penetration. I have tried vigor 50 mg and vigor 100 mg but it didn't work. Now wha...
Premature ejaculation is a common problem faced by many men. But the solution is really simple- please get a consultation with sexologist. All you need is sex counseling, sex exercise, to follow some sex tips and drugs as prescribed by doctor. Also avoid smoking, alcohol and anxiety.
9 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Having pain in my chest while taking long breath. I do smoke sometimes but not regularly.

MBBS
General Physician,
Having pain in my chest while taking long breath. I do smoke sometimes but not regularly.
This is generally a pleural pain. Stop smoking. Do regular aerobic exercises steam inhalations 4 to 5 times a day of few days will suffice. If still you have pain do follow up. Regards.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

How to improve my sexual stamina and sperm count. I am facing cough most of the time due to flum congestion in chest.

MBBS (Gold Medalist, Hons), MS (Obst and Gynae- Gold Medalist), DNB (Obst and Gynae), Fellow- Reproductive Endocrinology and Infertility (ACOG, USA), FIAOG
Gynaecologist, Kolkata
You must consult your doctor ASAP. I feel your problems are inter-related. We usually treat low sperm count on the basis of severity but it's totally treatable.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am suffering with sinusitis and constipation from 10 years there is result even I am using medicine, and also my body very heat especially my palms and pairs please give advice.

MD PULMONARY, DTCD
Pulmonologist, Faridabad
CTPNS to confirm sinusitis. Have plenty of fluids, fibers in diet, papaya to prevent constipation. exercise and warm lemon water can also help.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have generally a problem of headache. What should I do?

MBBS
General Physician,
I have generally a problem of headache. What should I do?
Hello, you may be having headache because of stress/ refractory problems/ any ENT problem kindly follow advises given below you can take: 1. Tablet Crocin (Paracetamol 500 mg) one tablet after food when required for headache after food for 2-3 days (maximum 2 tablets with gap of 12 hour can be taken in a day) 2. Adequate sleep 6-8 hr in a day 3. Get check eyes for refractive error 4. We need to go for ENT evaluation to rule out sinusitis 5. Get BP checked 6. Regular physical exercise and meditation and yoga complete history of your headache for further management like duration, severity, aggravating factors/relieving/ triggering/ associated factor to reach diagnosis consult physician for further management.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

What are the symptoms of typhoid.

MD - Internal Medicine, MBBS
Endocrinologist,
If Fever comes regularly for 7 to 8 day it may be typhoid fever. Symptoms cause by typhoid fever :- 1). high grade fever temp. Up to 104 degree , 2).headache, 3).abdominal pain, 4). either constipation or diarrhea.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

What is the main foods to make more semen in the body. Is there any vegetable or fruit have name? Suggest please.

BASM, MD, MS (Counseling & Psychotherapy), MSc - Psychology, Certificate in Clinical psychology of children and Young People, Certificate in Psychological First Aid, Certificate in Positive Psychology
Psychologist, Palakkad
What is the main foods to make more semen in the body. Is there any vegetable or fruit have name? Suggest please.
Dear Lybrate user. Sperm Count. 40 million to 300 million is the normal range for the number of sperm per milliliter. Counts below 10 million are considered poor; counts of 20 million or more may be fine if motility and morphology are normal. 1. Avoid overheating your testicles. There's a reason our testicles rest outside our bodies: they need to stay a bit cooler than the rest of our internal organs. When testicles get too warm, they aren't able to produce as much sperm.[1] There are a number of ways to make sure your testicles don't get overheated: Don't wear tight pants and jeans. Wear loose, cotton boxer shorts instead of briefs. Sleep without underwear so that your testicles stay cooler. Avoid hot baths and saunas. 2. Wear a jockstrap when you play sports. It goes without saying, because most men know this from experience, but a blow to the balls will hurt you and kill your sperm. 3. Massage your body with herbal oils. This, along with regular exercise, improves overall blood flow and circulation. Increased circulation means healthier sperm. 4. Reduce stress levels. Stress can decrease your sexual function, leading to reduced sperm production.[2] If you work 12 plus hour days and never give yourself a chance to rest, your count might be down as a result. Try practicing relaxation techniques throughout the day to keep yourself feeling calm. Keep your mind and body healthy by regularly practicing yoga and meditation, or take up running or swimming. Stress hormones block Leydig cells, which are tasked with regulating testosterone production. When your body experiences too much stress, it can actually stop producing sperm altogether. Make sure you're getting enough sleep every night. Exhaustion can also lead to increased stress and cause decreased sperm production. 5. Stop smoking. Smoking cigarettes causes sperm counts to be lower, makes them move more slowly, and causes the sperm themselves to be misshapen. 6. Drink alcohol moderately. Alcohol affects your liver function, which, in turn, causes a dramatic spike in estrogen levels. 7. Ejaculate less frequently. Frequent ejaculations can lower sperm count. Your body produces millions of sperm each day, but if you already have low sperm count, consider storing them up longer between ejaculations. If you have sex or masturbate daily, cut down on the frequency for increased sperm production. 8. Be careful around toxins. Exposure to chemicals can affect the size, movement and count of your sperm. It's more and more difficult to avoid exposure to toxins, but it's absolutely necessary for your overall health and the health of your sperm. Do the following to decrease your exposure: If you work around chemicals all day long, protect your skin with long sleeves and gloves, and make sure you wear a mask and goggles to protect your face. Use natural cleaning supplies instead of cleaning with chemicals. Don't use pesticides or herbicides in your house or yard. 9. Be wary of medications. Certain medications can lead to decreased sperm count and even permanent infertility. If sperm production is a big concern for you, make sure you ask your doctor whether any medication prescribed might affect your sperm count. Look at the labels on over-the-counter medicines, too. 10. Involve in physical exercises. Take care.
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My nose bone is moved towards right so what is the solution to fix my bone in middle please tell me.

MBBS
General Physician, Cuttack
1.You are having Deviated nasal septum(DNS) 2..It requires surgery(Septoplasty) for correction. 3.Consult ENT surgeon
You found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed