Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Clinic
Book Appointment

Hope Clinic Maternity Centre

Multi-speciality Hospital (General Surgeon, Dentist & more)

#2, H.NO.1184, Sector-21-B, Landmark: Near Scooter Market & Opp Baby Dairy restaurant. Chandigarh
3 Doctors · ₹0 - 300
Book Appointment
Call Clinic
Hope Clinic Maternity Centre Multi-speciality Hospital (General Surgeon, Dentist & more) #2, H.NO.1184, Sector-21-B, Landmark: Near Scooter Market & Opp Baby Dairy restaurant. Chandigarh
3 Doctors · ₹0 - 300
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Services
Feed

About

We like to think that we are an extraordinary practice that is all about you - your potential, your comfort, your health, and your individuality. You are important to us and we strive to ......more
We like to think that we are an extraordinary practice that is all about you - your potential, your comfort, your health, and your individuality. You are important to us and we strive to help you in every and any way that we can.
More about Hope Clinic Maternity Centre
Hope Clinic Maternity Centre is known for housing experienced Dentists. Dr. Aman Bhatia, a well-reputed Dentist, practices in Chandigarh. Visit this medical health centre for Dentists recommended by 74 patients.

Timings

MON-SAT
09:30 AM - 01:30 PM

Location

#2, H.NO.1184, Sector-21-B, Landmark: Near Scooter Market & Opp Baby Dairy restaurant.
Sector 21 Chandigarh, Chandigarh - 160022
Click to view clinic direction
Get Directions

Doctors in Hope Clinic Maternity Centre

Dr. Aman Bhatia

BDS, MDS
Dentist
13 Years experience
Unavailable today

Dr. Sandhu

MBBS
General Surgeon
300 at clinic
Unavailable today

Dr. Samanth Sehgal

MBBS
Pediatrician
Unavailable today
View All
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Hope Clinic Maternity Centre

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

चेहरे का कालापन कैसे दूर करें - Chehre Ka Kalapan Kaise Door Karen!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
चेहरे का कालापन कैसे दूर करें - Chehre Ka Kalapan Kaise Door Karen!

चेहरे का कालापन कई लोगों के परेशानी का कारण बन जाता है. यदि हम इस कालापन को दूर करने के उपायों की बात करें तो ये बहुत आसान है और हमारे आसपास मौजूद चीजों से ही हो सकता है. अगर किसी के चेहरे पर एक स्वाभाविक चमक दिखे तो लोग ऐसे चेहरे की तारीफ़ करते हैं. इसीलिए लोग अपने चेहरे पर चमक लाने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं. लेकिन उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण है कि ये चमक प्राकृतिक तरीके से आए. बाजार में मिलने वाले उत्पादों से चमक तो आती है लेकिन इसका दुष्प्रभाव भी हॉट है. इसलिए आइए इस लेख के जरिए हम चेहरे का कालापन दूर करने के विभिन्न उपायों पर के नजर डालें.

1. बेसन का उपयोग
बेसन भी चेहरा साफ़ करने वाला एक प्रचलित सामग्री है. दो चम्मच बेसन में गुलाब जल डालकर पेस्ट तैयार करें और इस पेस्ट को चेहरे पर सूखने तक लगाए रखें. फिर त्वचा को हल्के गर्म पानी से साफ़ कर लें.

2. संतरे का छिलका
संतरे का छिलका भी चेहरे को साफ़ करने वाली सार्वाधिक इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री के रूप में प्रचलित है. इसके लिए आपको एक बड़ा चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर, एक चम्मच शहद, एक चुटकी हल्दी, नींबू के जूस की कुछ बूँदें और पानी को मिश्रित कर लें. फिर इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और बीस मिनट तक सूखने के लिए ऐसे ही छोड़ दें. अब इस फेस पैक को पानी से धो लें.

3. एलोवेरा से
एलोवेरा एक प्राचीन सामग्री है जिसके अनेक औषधीय इस्तेमाल हैं. चेहरा साफ़ करने के लिए दो चम्मच एलो वेरा जेल और दो चम्मच ब्राउन शुगर को आपस में अच्छे से मिलाकर इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और स्क्रब की तरह इससे अपने चेहरे पर कुछ मिंट तक रगड़ें. फिर स्क्रब को गुनगुने पानी से धो लें. अब पूरा चेहरे धोने के बाद चेहरे को फिर से ठंडे पानी से धो लें.

4. चावल के आटे का उपयोग
आटे का चावल भी चेहरे की सफाई के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसके लिए दो चम्मच चावल का आटा, एक चम्मच खीरे का जूस और एक चम्मच नींबू का जूस मिलाकर एक मुलायम फेस पैक तैयार करें. अब इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के लिए इसे लगा हुआ छोड़ दें. अब अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें.

5. मुल्तानी मिट्टी
ये एक जाना-माना और प्राचीन तरीकों में से है. इसके कोई दुष्प्रभाव भी नहीं हैं. इसके लिए आप दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी और तीन चम्मच संतरे का जूस को एक साथ मिलाकर मुलायम पेस्ट बनाएं. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए लगा हुआ छोड़ दें. अब अपने चेहरे को गुनगुने पानी से साफ़ कर लें.

6. दही
दही आसानी से सबके घरोंन में उपलब्ध होता है इसलिए ये भी एक आसान तरीका है. इसके लिए आपको दो चम्मच दही और एक चम्मच शहद को मिश्रित करके एक अच्छा पेस्ट तैयार करना है. फिर इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 15 मिनट तक लगाए रखने के बाद अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें.

7. दूध
चहरे की सफाई के लिए दूध एक लोकप्रिय पदार्थ है. दूध का इस्तेमाल करने के लिए एक चम्मच दूध और एक चम्मच शहद को मिलाकर मुलायम पेस्ट बनाएं और तब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर हल्के हाथ से रगड़ें. 15 मिनट तक ऐसे ही लगा हुआ छोड़ने के बाद चेहरे को पानी से साफ़ कर लें. अगर आपकी तेलिये त्वचा है तो लो फैट दूध का इस्तेमाल और अगर रूखी त्वचा है तो फुल क्रीम का इस्तेमाल करें.

8. जीरा
अब तक जीरा का इस्तेमाल आपने मसाले के रूप में किया होगा लेकिन अब हम आपको इसे चेहरा साफ़ करने के इस्तेमाल करना बताएंगे. एक चम्मच जीरा के बीज को दो कप पानी में डालकर उबालें. अब इस मिश्रण से अपने चेहरे को धोएं.

9. जई
जई के इस्तेमाल से भी आप चहरे की सफाई कर सकते हैं. इसके लिए तीन चम्मच जई, दो चम्मच गुलाब जल और दही का मिश्रण तैयार करें. फिर इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 15 मिनट तक लगाए रखें.इसके बाद अपने चेहरे को पानी से धो लें.

10. अंडे का उपयोग
चेहरे को साफ़ करने के लिए अंडे को भी इस्तेमाल किया जाता है. इसके लिए आपको एक अंडे को फोड़कर कटोरे में झागदार और मुलायम बनने तक चलाते रहें. फिर इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर सूखने दें. इसके बाद इसे ठंडे पानी से धो लें.

11. गाजर, टमाटर और खीरा
गाजर, टमाटर और खीरा के इस्तेमला से भी आप अपने चेहरे को साफ़ कर सकते हैं. इसके लिए आपको 1 एवोकैडो, 1 मध्यम आकार का उबला हुआ गाजर, 1 बड़ा चम्मच क्रीम, 1 अंडा और 1 चम्मच शहद को अच्छी तरह मिश्रित करके 15 मिनट तक लगाने के बाद ठंडे पानी से धो लें. इसी तरह से आप टमाटर का भी पेस्ट बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा खीरे का इस्तेमाल करने के लिए आपको तीन चम्मच खीरे का जूस और एक चम्मच नींबू का जूस मिश्रित करके इसमें रुई डुबाकर चेहरे पर लगाएं. 15-20 मिनट के बाद इसे धो लें.

12. ग्रीन टी
चेहरे को साफ़ करने के लिए ग्रीन टी का इस्तेमाल करने के लिए 2 इस्तेमाल की हुई ग्रीन टी बैग, 1 चम्मच नींबू का जूस और 1 चम्मच शहद की आवश्यकता होगी. टी बैग को काटकर उसमें से पाउडर को निकाल लें और इसमें नींबू का जूस और शहद को डालें फिर इसे अच्छी तरह से मिला दें. अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें. अब चेहरे को पानी से धो

6 people found this helpful

दांत सफाई युक्तियाँ - Teeth Cleaning Tips In Hindi!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
दांत सफाई युक्तियाँ - Teeth Cleaning Tips In Hindi!

हर कोई चाहता है की उसके दांत सफेद और आकर्षक हो, क्योंकि कोई भी व्यक्ति सबसे पहले आपके चेहरे की मुसकराहट पर ही पड़ती है. एक आकड़े के अनुसार, वर्ष 2015 में, अमेरिका के लोगों ने केवल दांतों को सफाई करने में लगभग 11 बिलियन डॉलर से अधिक रुपये खर्च कर दिए. इसमें घर पर इस्तेमाल करने वाले व्हाइटनिंग प्रोडक्ट पर 1.4 बिलियन डॉलर से अधिक का खर्च शामिल था.

  • जब आपके दांतों को सफेद करने की बात आती है, तो ऐसे बहुत सारे प्रोडक्ट है जिसका आप चुनाव कर सकते हैं.
  • हालांकि, अधिकांश व्हाइटनिंग प्रोडक्ट आपके दांतों को ब्लीच करने के लिए केमिकल का उपयोग करते हैं, जो कई लोगों के लिए समस्या का कारण बन सकता है.
  • यदि आप सफेद दांत चाहते हैं, लेकिन रसायनों से भी बचना चाहते हैं, तो यह लेख कई विकल्पों को सूचीबद्ध करता है जो प्राकृतिक और सुरक्षित हैं.

पीले दांत का कारण क्या है?

  • ऐसे कई कारक हैं जिनके कारण दांत पीले होते हैं और उनकी चमकदार, सफेद चमक खो जाती है.
  • कुछ खाद्य पदार्थ के कारण तामचीनी में दाग लग सकते हैं, जो आपके दांतों की सबसे बाहरी परत है. इसके अतिरिक्त, आपके दांतों पर पट्टिका का निर्माण उनके पीले दिखने का कारण बन सकता है.
  • इस प्रकार के मलिनकिरण का उपचार आमतौर पर नियमित क्लींजिंग और व्हाइटेनिंग उपचार के साथ किया जा सकता है.
  • हालांकि, कभी-कभी दांत पीले दिखते हैं क्योंकि कठोर तामचीनी नष्ट हो जाती है, जिससे दांतों के नीचे की सतह दिखने नजर आने लगता है. डेंटिन एक स्वाभाविक रूप से पीला, बोनी टिश्यू है जो तामचीनी के नीचे स्थित है.

यहां 7 सरल तरीके दिए गए हैं जिनसे आप अपने दांतों को प्राकृतिक रूप से सफेद कर सकते हैं.
1. ऑयल पुल्लिंग इस्तेमाल करें

  • ऑयल पुल्लिंग एक पारंपरिक भारतीय लोक उपचार है जिसका उद्देश्य मौखिक स्वच्छता में सुधार करना और शरीर से टॉक्सिक पदार्थों को निकालना है.
  • इस अभ्यास में बैक्टीरिया को हटाने के लिए आपके मुंह में चारों ओर तेल से गरारे करना होता है. बैक्टीरिया के कारण पट्टिका का निर्माण हो सकता है जो आपके दांतों के पीला होने का कारण बन सकता है.
  • परंपरागत रूप से, भारतीय ऑयल पुल्लिंग के लिए सूरजमुखी या तिल के तेल का उपयोग करते थे, लेकिन इसके लिए किसी भी प्रकार के तेल को उपयोग किया जा सकता है.
  • नारियल तेल एक लोकप्रिय विकल्प है क्योंकि इसमें एक सुखद स्वाद है और कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है.
  • नारियल का तेल लॉरिक एसिड में भी उच्च होता है, जो सूजन को कम करने और बैक्टीरिया को मारने की क्षमता के लिए जाना जाता है.
  • कुछ अध्ययनों से पता चला है कि दैनिक ऑयल पुल्लिंग से मुंह में बैक्टीरिया को कम किया जाता है, साथ ही पट्टिका और मसूड़े की सूजन से राहत प्रदान करता है.
  • स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन्स मुंह में बैक्टीरिया के प्राथमिक प्रकारों में से एक है जो पट्टिका और मसूड़े की सूजन का कारण बनता है. एक अध्ययन में पाया गया है कि तिल के तेल के साथ रोजाना गरारे से लार में स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन्स को बहुत कम किया है.


2. बेकिंग सोडा के साथ ब्रश
बेकिंग सोडा में प्राकृतिक सफेदी गुण होते हैं, यही वजह है कि यह कमर्शियल टूथपेस्ट में एक लोकप्रिय घटक है. यह एक हल्का अपघर्षक है जो दांतों पर सतह के दाग को दूर करने में मदद कर सकता है.
इसके अतिरिक्त, बेकिंग सोडा आपके मुंह में एक क्षारीय वातावरण बनाता है, जो बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है. विज्ञान ने अभी तक यह साबित नहीं किया है कि प्लेन बेकिंग सोडा के साथ ब्रश करने से आपके दाँत सफेद हो जाएंगे, लेकिन कई अध्ययनों से पता चलता है कि बेकिंग सोडा के साथ टूथपेस्ट का महत्वपूर्ण सफेदी प्रभाव है.

3. हाइड्रोजन पेरोक्साइड का उपयोग करें
हाइड्रोजन पेरोक्साइड एक प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट है जो आपके मुंह में बैक्टीरिया को भी मारता है.
वास्तव में, लोग बैक्टीरिया को मारने की क्षमता के कारण घावों कीटाणुरहित करने के लिए वर्षों से हाइड्रोजन पेरोक्साइड का उपयोग कर रहे हैं. कई कमर्शियल व्हाइटनिंग प्रोडक्ट में भी हाइड्रोजन पेरोक्साइड होता है.

4. एप्पल साइडर सिरका का उपयोग करें
ऐप्पल साइडर सिरका का इस्तेमाल सदियों से एक कीटाणुनाशक और प्राकृतिक सफाई उत्पाद के रूप में किया जाता रहा है. एसिटिक एसिड, जो सेब साइडर सिरका में मुख्य सक्रिय घटक है, प्रभावी रूप से बैक्टीरिया को मारता है. सिरका की जीवाणुरोधी गुण वह है जो आपके मुंह को साफ करने और आपके दांत को सफेद करने के लिए उपयोगी है. गाय के दांतों पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि सेब साइडर सिरका का दांतों पर विरंजन प्रभाव पड़ता है. हालांकि, उन्होंने यह भी पाया कि सिरका दांतों को नरम कर सकता है.

5. फलों और सब्जियों का उपयोग करें
फलों और सब्जियों में उच्च आहार आपके शरीर और आपके दांतों दोनों के लिए अच्छा हो सकता है.
हालाँकि, आपके दाँत को ब्रश करने का कोई अन्य विकल्प नहीं है लेकिन कुरकुरे, कच्चे फल और सब्जियों को चबाने से पट्टिका को रगड़ने में मदद मिल सकती हैं.

विशेष रूप से, स्ट्रॉबेरी और अनानास दो फल हैं जिन्हें आपके दांतों को सफेद करने में मदद करने का दावा किया गया है.

1 person found this helpful

My baby is 5 months old today 6 month have started should I start him cerelac, upma,dalia or any other foods is it safe to give him fruit puree's.

Diploma In Paediatric
Pediatrician, Patna
My baby is 5 months old today 6 month have started should I start him cerelac, upma,dalia or any other foods is it sa...
No mam! wait till completion of 6 month and start of 7th month And then only start complimentary food along with breast feeding.
1 person found this helpful

Hi doctor my baby is 5 months old today only 6 month have started from when I should start upma Cerelac etc. Which food is best for my baby.

MD Ayurveda
Pediatrician, Bathinda
Hi doctor my baby is 5 months old today only 6 month have started from when I should start upma Cerelac etc. Which fo...
Dear friend, you should not give any such food upto 6 month age. After that start some liquid items like fruit juices, cerelac.vagetable soup etc. After 8 months completion, start solid food. For better diet chart according to weight and age, you can contact me anytime. Hope this will help you.
1 person found this helpful

My baby is doing green mucous poop since she had her 10 week vaccination. Is it normal?

MRCPCH (London), DNB Paediatrics
Pediatrician, Mumbai
My baby is doing green mucous poop since she had her 10 week vaccination. Is it normal?
The Vaccination does not have any kind of relation with colour of stool. If the frequency of stools has increased then colour can become greenish. You can do Stool routine and microscopy test. If it shows any kind of abnormality then you need to meet your Paediatrician.

HI, My baby was born on 3 December 2018 and first polio vaccine proposed date is 18 th January 2019. As I am traveling can I give vaccine on 25 Jan 2019.

Diploma In Paediatric
Pediatrician, Patna
HI, My baby was born on 3 December 2018 and first polio vaccine proposed date is 18 th January 2019. As I am travelin...
Yes! It can be given after 1 wk. 1st dose of DPT, Hib, Hep B, IPV and PCV is given at the age of 6 wk or 45 days or as soon as possible after 6wk. Under circumstances it can be delayed for few days.

5 Ways To Deal With Stubborn Or Obstinate Child!

PGDPC, MBBS
Psychiatrist, Durgapur
5 Ways To Deal With Stubborn Or Obstinate Child!

While children can light up your life with joy and laughter, sometimes they can appear to be monsters with their temper tantrums and their stubbornness. Stubborn or obstinate children can be very difficult to deal with and could end up disrupting your life as well. However, there are a few techniques that mental health professionals have suggested that can help you deal with your stubborn and obstinate child. These are mentioned here briefly –

  1. Hear Them Out: It’s often the case that children tend to be stubborn or obstinate and start screaming when they think they weren’t heard. This makes them feel helpless and thus forces them to bottle up and then take out their frustration by either not doing what you are telling them to do or doing exactly the opposite of that. The best treatment in this scenario is to hear them out and patiently try to resolve their problems.

  2. Ensure They Follow Your Example: If one or both of the parents are extremely stubborn, then this would translate into a stubborn kid as well. Doctors have said that obstinacy is often in the genes. Also, environmental influence is a big deal for them as well. Ensure that you are flexible enough with your partner and the child picks up on it.

  3. Teaching Kids About Give And Take: This is a very important lesson in life as it teaches kids to choose priorities. If you teach your kid to always give, then it sends a message that puttingObstinate themselves second is the best option. However, if he or she is always fighting to take first priority, it may lead to too many conflicts later. Thus it is best to teach them that it is okay to fight for what is yours but also let others have their way sometimes. This attitude will help them develop a balanced attitude and lessen their obstinacy.

  4. Give Them The Illusion Of Choice: Children are very malleable when it comes to their minds and you can use this trick to do certain things that make them appear they have some control when they actually may not. For example, if they are unwilling to go to sleep, you can say that you cannot make them sleep, but they have to stay in bed. Your child would then automatically fall asleep after some time due to boredom which would end up serving your purpose.

  5. Use Scolding Or The Parent Card As A Last Resort: If any of the techniques mentioned don’t work, then you can scold or warn your kid with consequences which may result in capitulation. For example, if you child is not willing to come back and study, then try and stop them from whatever they were doing and make them sit with their books. This lets them know that certain areas you will absolutely not compromise on and they will understand the limits better.

Filler Injections - Know More About Them!

MBBS, PGDCC - Post Graduate Diploma in Clinical Cosmetology, Fellow Hair Transplant Surgery
Trichologist, Pune
Filler Injections - Know More About Them!

In today's contemporary times, our outer appearance plays a huge role in determining our path of success. Looking good in many ways has become essential for leaving a lasting impression. Nowadays, age is no longer a factor for looking or feeling beautiful. While beauty lies in the eye of the beholder, the onus to maintain that beauty lies with ourselves. Numerous grooming centres and salons are spread all over the street these days to cater to all our beauty needs. Gone are the days when dressing up and putting on make up were scoffed at. Why then do we tolerate wrinkles and scars just because time has decreed so?

With all kinds of correctional therapies and treatments, our skin can be as smooth and glamorous as ever. One of the most popular trick in this regard is filler injections.

What are Filler Injections?

Filler injections enable us to redefine those aspects of our faces, which have been the causes of consternation for a long period of time. These injections makes it possible to cover up unwanted wrinkles, smoothen lines and remove pitted scars. They can also be used to make the lips look fuller. These injections, when injected under the skin, raise up that area, lending it a more wholesome appearance. It is however,  transient in nature and often requires repeated surgeries. While some of the most common aftermaths of this are redness, swelling or itchiness, none these last more than a day.

It is therefore,  a very safe beauty therapy for giving the furrowed skin a new leash of life. Many have vouched for how the filler surgeries have renewed their self confidence. However, there are a few risk factors that one must be mindful of before opting for a filler surgery.

Risk factors of Filler Injections:

Filler injections make the skin prone to certain allergies and rashes or even flu-like symptoms. Infections, bleeding and inflammation are other repercussions of a filler surgery. Filler injections contain Hyaluronic acid, collagens, fat cells and man-made polymers. In case one's skin reacts to any of these ingredients, then one must resort to expert care. However, most of these outbreaks are temporary in nature and this treatment is easily reversible in case one chooses to do so

I'm facing teeth sensitive from past 2-3 weeks. Kindly suggest, How to get rid of teeth sensitive.

MDS, BDS
Dentist, Mohali
I'm facing teeth sensitive from past 2-3 weeks. Kindly suggest, How to get rid of teeth sensitive.
Hi you may need scaling or fillings or only anti sensitivity tooth paste. Get them checked from your dentist. Take care.

Pomegranate peel is said to use for skin. How it should be consumed, whether inner skin parts or outer also as outer is difficult to chew. Suggest the complete method. Regards.

B.N.Y.S.
Yoga & Naturopathy Specialist, Indore
Pomegranate peel is said to use for skin. How it should be consumed, whether inner skin parts or outer also as outer ...
You can dry it and crush it. Like a powder then fo rm a paste with gulab jal and apply on face for 10 mins.
View All Feed

Near By Clinics