Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. Rawal's Clinic

Ayurveda Clinic

Sco-19, Ground Floor, Main Market, Near Wine Shop, Sector-16 D Chandigarh
1 Doctor · ₹300
Book Appointment
Call Clinic
Dr. Rawal's Clinic Ayurveda Clinic Sco-19, Ground Floor, Main Market, Near Wine Shop, Sector-16 D Chandigarh
1 Doctor · ₹300
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Feed
Services

About

Our entire team is dedicated to providing you with the personalized, gentle care that you deserve. All our staff is dedicated to your comfort and prompt attention as well....more
Our entire team is dedicated to providing you with the personalized, gentle care that you deserve. All our staff is dedicated to your comfort and prompt attention as well.
More about Dr. Rawal's Clinic
Dr. Rawal's Clinic is known for housing experienced Ayurvedas. Dr. Arun Rawal, a well-reputed Ayurveda, practices in Chandigarh. Visit this medical health centre for Ayurvedas recommended by 40 patients.

Timings

MON-SAT
03:30 PM - 08:00 PM 09:00 AM - 01:00 PM
SUN
09:00 AM - 12:00 PM

Location

Sco-19, Ground Floor, Main Market, Near Wine Shop, Sector-16 D
Sector-16D Chandigarh, Chandigarh - 160015
Get Directions

Doctor in Dr. Rawal's Clinic

39 Years experience
300 at clinic
Available today
03:30 PM - 08:00 PM
09:00 AM - 01:00 PM
View All
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Rawal's Clinic

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Amazing Roles of Water in our body .

MBBS, MS - General Surgery
General Surgeon, Kota
Amazing Roles of Water in our body .

1. Helps in weight loss

Let us tell you that water doesn’t have some magical property that kills fat (sorry!), but it can help you with your weight loss efforts.

First off, by staying hydrated, one can prevent overeating. That is because a lot of people confuse thirst with hunger! Isn’t drinking water better than eating high energy foods?

2. Flushes out toxins early on

It is a long known secret that drinking water as soon as you get up, i.e. before eating anything is a good way to purify your internal system.

This practice helps to flush off the toxins from our body and cleanses the colon thus it enables better absorption of nutrients from various foods.

3. Helps in getting a glowing skin throughout the day

Water, the first thing in the morning, helps improve the skin glow by flushing off the toxins from the body. It also helps the skin do its job of regulating the body’s temperature through sweating, renewing the body cells.

किडनी स्टोन के शुरुवाती लक्षण.

MBBS, MS - General Surgery
General Surgeon, Kota
किडनी स्टोन के शुरुवाती लक्षण.
  • किडनी स्‍टोन गलत खान-पान व जरुरत से कम पानी पीना किडनी की पथरी का अहम कारण है। 
  • किडनी स्‍टोन के शुरुआती लक्षण गुर्दे की पथरी से पीठ या पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द हो सकता है, जो कुछ मिनटो या घंटो तक बना रह सकता है। 
  • यूरीन में ब्‍लड 
  • दर्द के साथ बार-बार यूरीन आना 
  • पीठ दर्द 
  • मतली और उल्टी 
  • बदबूदार यूरीन 
  • बैठने में परेशानी

Now Live Pain Free Life With Homoeopathy

B.H.M.S.
Homeopath, Balaghat
Now Live Pain Free Life With Homoeopathy

Homoeopathy is easy to use at home. It is ideal for first aid situations and minor acute illnesses (such as coughs, colds, flu, food poisoning), but if you are frequently, persistently or chronically ill see a qualified homeopath for constitutional care.

Mindset and mood are Directly related with Praana Vaayu

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS), cRAV, CKS
Ayurveda, Amritsar
Mindset and mood are Directly related with Praana Vaayu

Praana vaayu in human body is responsible for performing many vital functions. One of them is our intelligence. So mind related issues are directly related to dis-order of praana vaayu.

Signs of dis-ordered praana vaayu.

1. Anger
2. Stress & depression
3. Unable to forgive anyone
4. Confused state of mind.
5. Loss of joy in life
6. Week memory 
7. Sudden mood alterations
8. Head ache after having mental exercise
9. Over blinking of eyes
10. Always in seek of company (uncomfortable if stayed alone)

How to cure prana-vaayu.

1. Getting up early before sun rise is must to cure praana vaayu disorder.

2. Atleast 48 mins in morning should be given daily for deep breathing, walk, praanayam or yog.

3. Nasya (nasal adminstration) of luke warm cow's ghee is very effective in recovering all praana vaayu dis-orders.

4. Fresh n healthy food should be consumed (canned- packed should never be consumed)

5. Keep body hyderated drink adequate amount of water.

6. Spices, excessive salt, fried, non-veg, mashroom, alcohol, tobacco harm praana-vaayu.

7. Keeping anger in mind for a person, community or anyone will never let you heal. Forgiveness is the only key to happiness.

 

How To Control Hair Fall?

DHMS (Diploma In Homeopathic Medicine & Surgery)
Homeopath, Dhanbad
How To Control Hair Fall?

The issue of hair loss is prevalent among both men and women. Excessive hair loss can result due to psychological issues, unhealthy life style and genetics. If left untreated, the problem of hair loss can lead to baldness.

What problems are addressed ?
- Androgenic alopecia
- Alopecia Diffusa
- Alopecia Areata
- Scalp Allergies
- Dandruff
- Fungal infections
- Psoriasis
- Trichotillomania

it treat the root cause of abnormal hair loss through homeopathy. It intends to absolve and slow down the issues that are responsible for hair loss. Improvement will be witnessed within 15 days of the treatment.

- Homeopathy treatment is utilized
- Proper lifestyle and healthy diet is recommended
- Precautions and exercises are recommended

Plan of treatment:
1. Symptoms are analyzed
2. Information on medical history, lifestyle and dietary habits are obtained
3. The prime cause of the problem is identified
4. Necessary lifestyle and dietary changes are advised
5. Exercises and medication is prescribed

Anticipated outcomes:
- Reduced hair loss
- Improved appearance
consult me online for the proper treatment

Leucoderma - Mechanism of Skin Depigmentation in Vegetarians

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Sexologist, Ghaziabad
Leucoderma - Mechanism of Skin Depigmentation in Vegetarians

Leucoderma is one of the most common diseases today; we can easily find people around us having “white patches” on different parts of their body, which clearly indicates they are suffering from the disease of Leucoderma. In the beginning these patches can be easily seen on the body parts which are exposed to the sunlight but have the tendency to get enlarged and affect other parts later, if not treated effectively.

Commonest reasons behind the occurrence of these patches are due to the destruction of melanocytes present on the skin which results into de-pigmentation of the skin. Other causes are hormonal imbalances, improper hygiene, health problems, liver dysfunction, ulcers, impurities of blood, stress and it can inherited from generations to generations also.

There are various misconceptions about the disease that non- vegetarians are at higher risk in comparison to vegetarians, but the researches and studies have proved that vegetarians can be at the risk of same nature. It is a known fact that consuming meat (fish) and milk together can bring discoloration on the skin then how does vegetarians can get affected?

Vegetarians are also equally prone to the disease with their odd food combinations like milk and salt, intake of excessive vitamin C, pesticide treated vegetables, consumption of stale fruits and vegetables can deplete digestive enzymes which eventually cause skin lesions.

Ayurveda provides most authentic, effective and promising treatment for the disease without any side effects, it doesn’t even stops white spots from spreading to the other body parts but also enhances the mechanism of pigmentation to recover from the discoloration of the skin.

 

 

 

Simple ways to show courtesy.

M.A In Clinical Psychology, B.A - Psychology
Psychologist, Faridabad
Simple ways to show courtesy.

Simple ways to show courtesy.

1. Don't break up with someone over text messages.

2. In case you miss a call, drop a message as soon as possible if you're unable to call.

3. Pay back borrowed money as soon as possible no matter how little the amount is. Don't assume that they don't need it and never make them ask you for it.

4. Turn the volume down when you're watching a video, playing music or playing a game on your phone in a public place or better yet, use headphones.

5. Don't press your phone or use headphones when someone is having a conversation with you. Unplug the headsets from your ears even if nothing is playing and give them your undivided attention.

6. When using someone else's phone or computer, don't go through their stuff without permission.

7. Always leave the last piece (of meat) for the person who bought it unless they insist they won't eat it.

8. Don't use speaker phone to have a two person conversation unless your hand are unable to hold the phone.

9. When someone else cooks for you, offer to help clean the kitchen.

10. If you stay the night at someone's house, make the bed or fold the blankets when you leave.

11. Don't let your arguments escalate in public. Find some where else to continue arguing where others won't feel uncomfortable or interested.

12. If you ask your friends for help with some house work, feed them as payment.

13. When someone buys you food or coffee, try to return the favour within a week (if You can)

14. When you borrow someone's car, fill up the tank as a way of saying'thank you'

15. Don't smoke when someone around is feeling uncomfortable. (so wrong)

16. Make sure you don't forget to return that book you borrowed.

17. When someone gives you a gift, no matter how small it is or the way it was presented, even if it wasn't up to your expectation, just say'thank you.

18. When you have someone deserving of Your respect by way of age or status who's friendly and makes himself free with you, speak to them with respect.

19. Don't feel too big to be corrected or reject good advice because you feel it's your life. 

Green Chilli Benefits and Side Effects in Hindi - हरी मिर्च खाने के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Green Chilli Benefits and Side Effects in Hindi - हरी मिर्च खाने के फायदे और नुकसान

यदि आप मसालेदार भोजन करने के आदि हैं तो बिना हरी मिर्च के ये संभव नहीं है. जाहिर है इसके इस्तेमाल से खाने में स्वाद आ जाता है. हरी मिर्च का तड़का केवल खाने का स्वाद ही नही बढ़ाता बल्कि इसमें शरीर के लिए ज़रूरी कई सारे विटामिन्स की आपूर्ति भी कारता है. इसके सेवन से आपको सेहत के कई सारे फायदे मिलते हैं. जिन लोगों में आयरन की कमी होती है उनके लिए हरी मिर्च बहुत फायदेमंद है क्योंकि हरी मिर्च आयरन का प्राकृतिक स्रोत है. इसलिए इसे खाने से ऑस्टियोपोरोसिस की संभावना कम होती है. हरी मिर्च विटामिन के और एंटीऑक्सिडेंट का बहुत अच्छा स्रोत है. इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण कई प्रकार के संक्रमण से हमे दूर रखते हैं. आइए इसके फायदे और नुकसान को जानें.
1. मस्तिष्क के लिए
हरी मिर्च मस्तिष्क में एंडोर्फिन का रिसाव करके हमारी मनोदशा में सुधार करती है और हम खुश महसूस करते हैं. इसलिए लोग व्यंजनों में अधिक मिर्च होने पर भी इसे खाते रहते हैं. इसलिए आप कह सकते हैं कि हरी मिर्च मस्तिष्क के लिए भी फायदेमंद है.
2. फायदे त्वचा के लिए
अपनी त्वचा को खूबसूरत बनाने वाले लोगों को भी अपने खाने में हरी मिर्च का इस्तेमाल शुरू करना चाहिए. इसमें मौजूद विटामिन सी और ए, त्वचा के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है. लेकिन आपको हरी मिर्च का संतुलित मात्रा में ही उपयोग करना है नही तो आपके पेट में जलन होने लगेगी. हरी मिर्च में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं. इसलिए यह त्वचा में होने वाले इन्फेक्शन को भी दूर करती है.
3. हृदय को फायदा
यदि आप चाहते हैं कि आपका ह्रदय स्वस्थ रहे तो आपको भी हरी मिर्च का असवान करना चाहिए. क्योंकि यह यह बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करके धमनियों के सख्त होने को रोकती है. इसके अलावा यह फिब्रिनोल्य्टिक की गतिविधि को बढाकर हमारे शरीर में खून को जमने से रोकने में मदद करता है जिससे दिल का दौरा आने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है.
4. वजन घटाने में
हरी मिर्च डाइटिंग करने वाले लोगों के लिए भी बेहद उपयोगी है. क्योंकि इसके सेवन से वजन घटाने में भी मदद मिलती है. जब हम तीखा खाना खाते हैं तो हमारे शरीर में बनने वाली ऊष्मा से ही हमारे शरीर की कैलोरी जलती है. इसके सेवन से मेटाबोलिज्म के स्तर को भी बढ़ जाता है.
5. प्रतिरोधक क्षमता के लिए
यदि आप सर्दी-खाँसी जैसी बीमारियां से आये दिन परेशान रहते हैं तो आपको अपने प्रतिरक्षातंत्र को मजबूत बनाने के लिए अपने आहार में हरी मिर्च को शामिल करना चाहिए. इससे आपको विटामिन सी मिलता है और आप की रोगों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ जाती है.
6. हड्डियों और दांतों के लिए
हरी मिर्च में भी नारंगी के जैसा ही विटामिन सी मौजूद होता है. आपको बता दें कि विटामिन सी हमारे शरीर में हड्डियों और दांतों की मजबूती के लिए बेहद आवश्यक होता है. इसके सेवन से हड्डियां और दांत को भी मजबूत बनते हैं.
7. उच्च रक्तचाप में
उच्चरक्तचाप की समस्या से पीड़ित व्यक्ति भी हरी मिर्च का सेवन करके अपनी परेशानी कम कर सकते हैं. हरी मिर्च में रक्तचाप को नियंत्रण करने के गुण होते हैं. इसलिए उच्च रक्तचाप के मरीज को अपने आहार में संतुलित मात्रा में हरी मिर्च को शामिल करना चाहिए.
8. आँखो के लिए
हमारी आँखो के लिए फायदेमंद विटामिन सी और बीटा-कैरोटीन भी हरी मिर्च में मौजूद होता है. हमेशा हरी मिर्ची को अंधेरी जगह पर रखें क्योंकि रोशनी और धूप के संपर्क में आने से इसके अंदर का विटामिन सी ख़त्म हो जाता है.
हरी मिर्च के नुकसान
* हरी मिर्च में मौजूद कैप्साइसिन पेट की गर्मी को बढ़ाता है जिससे अनेकों प्रकार की स्वास्थ्य सम्बंधित परेशानियां हो सकती हैं.
* इसमें अधिक फाइबर होता है इसलिए डायरिया होने का खतरा होता है.
* इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट अल्सर की सम्भावना को बढ़ा सकते हैं.
* हरी मिर्च के अधिक सेवन से पेट में जलन और चक्कर की समस्या भी हो सकती है.
* हरी मिर्च के अधिक सेवन से मधुमेह सामान्य से भी नीचे हो जाता है.
* इसके अधिक सेवन से आप को त्वचा सम्बंधित एलर्जी हो सकती है.

Karela ke Juice ke Fayde in Hindi - करेले के जूस के फायदे

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
Karela ke Juice ke Fayde in Hindi - करेले के जूस के फायदे

करेला का इस्तेमाल आप सब्जियों और अन्य औषधीय इस्तेमाल के अलावा जूस बनाने के लिएभी कर सकते हैं. करेला एक चिकित्स्कीय औषधि है जिसका इस्तेमाल बहुत सी दवाइयों में किया जाता है. हालांकि कई लोगों को यह स्वाद में कड़वा और आँखों को नहीं सुहाता है. रोजाना एक गिलास करेले का जूस पीने से बहुत सी स्वास्थ्य की समस्याएं दूर होती हैं. करेला खाएं रोग को दूर भगाएं कच्चे करेले का जूस बहुत फायदेमंद है क्यों कि इसमें सभी जरूरी विटामिन्स और एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं. आइए हम आपको करेले के जूस से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी देते हैं.
1. रक्त शर्करा के स्तर को कम करे
अपने शुगर को नियंत्रित करने के लिए आप तीन दिन तक खली पेट सुबह करेले का जूस ले सकते हैं. मोमर्सिडीन और चैराटिन जैसे एंटी-हाइपर ग्लेसेमिक तत्वों के कारण करेले का जूस ब्लड शुगर लेवल को मांसपेशियों में संचारित करने में मदद करता है. इसके बीजों में भी पॉलीपेप्टाइड-पी होता है जो कि इन्सुलिन को काम में लेकर डायबेटिक्स में शुगर लेवल को कम करता है.
2. भूख बढ़ाता है
भूख नहीं लगने से शरीर को पूरा पोषण नहीं मिल पाता है जिससे कि स्वास्थ्य से सम्बंधित परेशानियां होती हैं. इसलिए करेले के जूस को रोजाना पीने से पाचन क्रिया सही रहती है जिससे भूख बढ़ती है.
3. अग्नाशय के कैंसर के उपचार में उपयोगी
रोजाना एक गिलास करेले का जूस पीने से अग्नाशय का कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाएं नष्ट होती हैं. ऐसा इसलिए होता हैं क्यों कि करेले में मौजूद एंटी- कैंसर कॉम्पोनेंट्स अग्नाशय का कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं में ग्लूकोस का पाचन रोक देते हैं जिससे इन कोशिकाओं की शक्ति ख़त्म हो जाती हैं और ये ख़त्म हो जाती हैं.
4. सोराइसिस के लक्षणों को दूर करता है
एक कप करेले के जूस में एक चम्मच नींबू का जूस मिला लें इस मिश्रण का खली पेट सेवन करें. 3 से 6 महीनें तक इसका सेवन करने से त्वचा पर सोराइसिस के लक्षण दूर होते हैं. यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है और सोराइसिस को प्राकृतिक रूप से ठीक करने में मदद करता है.
5. यह लिवर से विषैले पदार्थों को निकालता है
रोजाना एक गिलास करेले का जूस पीने से लिवर मजबूत होता है क्यों कि यह पीलिया जैसी बिमारियों को दूर रखता है. साथ ही यह लिवर से जहरीले पदार्थों को निकालता है और पोषण प्रदान करता है जिसे लिवर सही काम करता है और लिवर की बीमारियां दूर रहती हैं.
6. पाचन शक्ति को बढ़ाए
नियमित रूप से करेले के जूस का सेवन आपके पाचन तंत्र में सुधार करता है और अपच दूर करता है. दरअसल इसमें एसिड के स्त्राव को बढ़ाता की क्षमता मौजूद होती है जिससे पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद मिलती है. इसलिए अच्छी पाचन क्षमता के लिए सप्ताह में एक बार सुबह करेले का जूस जरूर लें.
7. आँखों की नजर बढ़ाने में
करेले के जूस के नियमित सेवन से आप विभिन्न दृष्टि दोषों को दूर कर सकते हैं. करेले में बीटा- कैरोटीन और विटामिन ए की अधिकता होती है जिससे दृष्टि ठीक होती है. इसके अलावा इसमें उपस्थित विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट्स, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से होने वाली नजरों की कमजोरी से भी बचाने का काम करता है.
8. रक्तशोधक के रूप में
करेले का जूस एक प्राकृतिक रक्त शोधक के रूप में कार्य करता है. ये जहरीले तत्वों को बाहर निकालता है और मुक्त कणों से हुए नुकसान से बचाता है. इसलिए ब्लड को साफ़ करने और मुहासों जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए रोज एक गिलास करेले का जूस अवश्य लें.

I am loosing hair quickly and have tried shampoos but no effect. Can you suggest me what can I do?

MD Dermotology, GOV MEDICAL COLLEGE AMRITSAR
Dermatologist, Jalandhar
I am loosing hair quickly and have tried shampoos but no effect. Can you suggest me what can I do?
Hair fall treatment require s a comprehensive treatment from both inside and outside it seems like you have a normal hair fall problem which can be I would like to recommened some natural products to you which are dermatological tested and have great R&D behind them 1 Get satinique hair fall control shampoo 2 .get satinique hair sclap tonic (this tonic is incredible a gold standard for hair fall problem) 3 .nutrilite daily mutivitamin they are chemicals free formulas use them twice a week + daily mutivitamin it has shown great results on my patients with similar concerns as yours. If you have any queries do not hesitate to ask.
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Clinics

SUMANT SAGAR SAHGAL

Sector-16D, Chandigarh, chandigarh
View Clinic

Orthodontic Dental Clinic

Sector-16D, Chandigarh, Chandigarh
View Clinic