Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call

Dr. K.A. Rajeshwari

General Physician, Bangalore

Book Appointment
Call Doctor
Dr. K.A. Rajeshwari General Physician, Bangalore
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

My favorite part of being a doctor is the opportunity to directly improve the health and wellbeing of my patients and to develop professional and personal relationships with them....more
My favorite part of being a doctor is the opportunity to directly improve the health and wellbeing of my patients and to develop professional and personal relationships with them.
More about Dr. K.A. Rajeshwari
Dr. K.A. Rajeshwari is a renowned General Physician in Subramanyapura, Bangalore. He is currently associated with Sri Balaji Clinic in Subramanyapura, Bangalore. Book an appointment online with Dr. K.A. Rajeshwari on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified General Physicians in India. You will find General Physicians with more than 43 years of experience on Lybrate.com. You can find General Physicians online in Bangalore and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English

Location

Book Clinic Appointment

Sri Balaji Clinic

Kadirenahalli, Banashankari 2nd Stage, Subramanyapura Main RoadBangalore Get Directions
...more
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. K.A. Rajeshwari

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I have suffering from fever so iam feel my self please help me air iam waiting help me iam qaijh.

MBBS
General Physician, Cuttack
I have suffering from fever so iam feel my self please help me air iam waiting help me iam qaijh.
1.Take paracetamol 500mg, one tablet sos upto a maximum of three tablets daily after food 2.Drink plenty of water 3.Take rest 4. If no relief do blood examination like CBC, Widal/ Typhidot test, Blood for mp and Dengue antigen(NS1) test after consulting doctor 5. Consult for further advice
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My ear is paining when I hear some loud noise. Some times it does kur kur sound if I hear high decibel noise.

MBBS, MD (PSM), M.F.Hom (London)
Homeopath, Nagpur
My ear is paining when I hear some loud noise. Some times it does kur kur sound if I hear high decibel noise.
Bhimrao Patil you are sufferrig from hyperacusis where there is high sensivity to to certain frequency and volume ranges of sound. The most common cause of this condition of high decible level, then diseases of ear like Menier's disease where there vertigo and excessive sensitivity to noise and headache , temporo mandibular diseases. Homeopathy give very good result with proper selection . some of drug of homeopathy can restore the sensitivity of the nerve

I have frequent dry cough especially during night time ,can you give suggestions to overcome my problem.

MD PULMONARY, DTCD
Pulmonologist, Faridabad
I have frequent dry cough especially during night time ,can you give suggestions to overcome my problem.
can be asthma, reflux or ch rhinosinusitis. Get investigated for these. Have light and early dinner
Submit FeedbackFeedback

Sir mera ear me lagbhag 20 dino se dard hai. Drop bhi liya tha per koi asar nahi. Awaz bhi acha trah sun pata hu. Lekin mai ye samajh nahi pa raga ki dard mere kaan keep under hai uske bagal me.

MBBS
General Physician, Cuttack
Sir mera ear me lagbhag 20 dino se dard hai. Drop bhi liya tha per koi asar nahi. Awaz bhi acha trah sun pata hu. Lek...
It could be due to wax in ear or ear infection. Take crocin 500mg one tablet sos after food for the pain, Get your ear checked by ENT specialist.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Hello doctor help me I have high fever its almost kill me, please doctor help me and what should I do?

MBBS
General Physician, Mumbai
Hello doctor help me I have high fever its almost kill me, please doctor help me and what should I do?
For fever take tablet paracetamol 650 mg and eat nutritious food and have adequate fluid intake and take physical rest.
Submit FeedbackFeedback

I am a boy of 18 years old and I am really very tensed due to which I am not able to sleep properly. It has affected my daily routine of studies and sports. What can I do to get relieved?

MBA (Healthcare), JRNA, MBBS
General Physician,
I am a boy of 18 years old and I am really very tensed due to which I am not able to sleep properly. It has affected ...
Drink lot if water go movie, for shopping n enjoy the full day, get tired enough! tk deep sleep and starts new day with new life!
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am facing Ringworm how to kill this fungus. Night time too much itching. Tell me some tablet names to kill Ringworm.

MBBS, Diploma in Venerology & Dermatology (DVD)
Dermatologist, Delhi
Ringworm requires both external and internal treatment .If you suspect you have the infection, see your doctor for an accurate diagnosis. It is better to be sure if it is candida or something else .You also need to be certain if there are other underlying issues causing the infection so that a proper treatment can be advised.
Submit FeedbackFeedback

I am not having food properly I am having food only for 2 tes a day is this will effect for my future now I am feeling good.

PGDD, RD, Bachelor of Home Science
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
I am not having food properly I am having food only for 2 tes a day is this will effect for my future now I am feelin...
Hye, thanks for the query. You are underweight for your height. Now you are young hence the body is trying to cope up by breaking down energy from within. There will come a time when body will give up and you will start showing signs of malnutrition. Being underweight can be a concern if it's the result of poor nutrition. Here are some healthy ways to gain weight when you're underweight: eat more frequently. When you're underweight, you may feel full faster. Eat five to six smaller meals during the day rather than two or three large meals. Choose nutrient-rich foods. As part of an overall healthy diet, choose whole-grain breads, rice and cereals; fruits and vegetables; dairy products; lean protein sources; and nuts. Don't fill up on diet soda, coffee and other drinks with few calories and little nutritional value. Instead, drink smoothies or healthy shakes. Snack on nuts, dried fruits and fresh fruits. Even when you're underweight, be mindful of excess sugar and fat. An occasional slice of cake or ice cream is fine. But most sweets should be healthy and provide nutrients in addition to calories. Sheera, lassi and chikki are good choices. Exercise, especially strength training, can help you gain weight by building up your muscles. Exercise may also stimulate your appetite.
Submit FeedbackFeedback

Hlw doctor mujhe 3 -4 month se bahut neend aata hai har waqt sone ka Mann karta h. Mujhe kya ho gya h.

General Physician, Lucknow
Hlw doctor mujhe 3 -4 month se bahut neend aata hai har waqt sone ka Mann karta h. Mujhe kya ho gya h.
Hello lybrate-user basically aap ka problem aapki sleeping habits ki wajah se hai. Normal adult need 6 to 7 hrs of sound sleep. There is something called as sleep hygiene. You have to maintain that. Aap agar dopahar ko sooti hai to mat sonye. Sham ko tea coffee ka sewan mat kare. Sham ko sone se phele 10 15 min exercise kare. Hope isse aapka sleeping pattern improve hoga. As such abhi apko koi medications ki zarurat nahi hai.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Cure Chicken Pox

Ayurveda, Delhi
Cure Chicken Pox

घरेलू उपचार
Remedies to cure chicken pox in hindi / varicella at home – चिकन पॉक्स (छोटी माता) को ठीक करने के घरेलू नुस्खे


चिकन पॉक्स एक फैलने वाली बीमारी है, जिसके पैदा होने का मुख्य कारण वैरीसेला जोस्टर (varicella-zoster) नामक वायरस (virus) होता है। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से हवा, थूक, म्यूकस (mucus) या किसी प्रभावित व्यक्ति के फोड़े फुंसियों से निकले द्रव्य से फ़ैल सकता है। संक्रमण वाला यह समय रैशेस (rashes) होने के 2 से 3 दिन पहले शुरू हो जाता है और तब तक चलता है, जब तक फोड़े फुंसियों के अंश सूखकर गिर ना जाएं।

चिकन पॉक्स (चेचक)के वायरस से संक्रमित होने के 15 से 20 दिनों के बाद आपके सारे शरीर पर खुजली के साथ लाल दाग और फोड़े फुंसी हो जाते हैं। चिकन पॉक्स के लक्षण, छोटी माता (choti mata) बीमारी के अन्य लक्षण हैं बुखार, थकान, भूख ना लगना और मांसपेशियों में दर्द रहना। यह एक सामान्य बीमारी है जो नवजात बच्चों, गर्भवती महिलाओं तथा कमज़ोर प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्तियों को अपना शिकार बनाती है। इस बीमारी से बचने का एक सामान्य टीका है, जिसे ज़्यादातर लोगों को दिया जाता है।

चिकन पॉक्स (छोटी माता/choti mata) एक सामान्य संक्रमण है जो स्वस्थ बच्चों और व्यस्कों के लिए ज़्यादा घातक नहीं होता। इस संक्रमण के फलस्वरूप त्वचा पर छोटे छोटे दाग हो जाते हैं जिससे काफी खुजली होती है। कभी कभी यह काफी दर्दनाक भी हो जाता है तथा इसके साथ बुखार और सिरदर्द की समस्या भी होती है।

भीतरी जांघ पर चकत्ते के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार
चिकन पॉक्स के कारण (causes of chicken pox)

  • चिकन पॉक्स होने का सबसे सामान्य कारण एक व्यक्ति के शरीर में इस बीमारी का शिकार होने के 2 दिन के बाद दाग धब्बों का आना है।
  • चिकन पॉक्स के फ़टे दानों के संपर्क में आने पर आपको भी ये बीमारी हो सकती है।
  • प्रतिरोधक क्षमता का कमज़ोर होना
  • हर्पीस जोस्टर (herpes zoster) की वजह से यह बीमारी हो सकती है।
  • हवा में पैदा होने वाली पानी की बूँदों से भी चिकन पॉक्स की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • चिकन पॉक्स के लक्षण (symptom of chicken pox)

चिकन पॉक्स के सामान्य फोड़े निकलने से पहले द्रव्य भरे फोड़े निकलना

  • बुखार
  • थकान
  • लाल और खुजली वाले दाने
  • फ़टे फोड़ों पर पपड़ी जैसी परत आना
  • भूख ना लगना
  • सिरदर्द

चिकन पॉक्स (छोटी माता) के उपचार एवं इसकी पीड़ा कम करने के कुछ नुस्खे – चेचक का घरेलू उपचार(here are some tips for hot to treat chicken pox and how to reduce the discomfort caused due to it)

कफ के उपचार के घरेलू नुस्खे
1. किसी डॉक्टर से सलाह करने के बाद पेरासिटामोल या एसेटामीनोफेन जैसी दवाइयाँ लें जिससे बुखार और दर्द कम होता है। दवाई के बारे में पढ़े बिना तथा डॉक्टर से सलाह किये बिना कोई भी दवाई ना लें।

2. अगर आपको अपनी खुजली से ज़्यादा ही पीड़ा और दर्द हो रहा है तो दुकान से एंटीहिस्टामिन्स लें। अगर यह स्थिति दवाई से ठीक न हो तो किसी डॉक्टर की सलाह लें। वह आपको सही मात्रा में एंटीहिस्टामिन्स की खुराक देगा।

3. चिकन पॉक्स का उपचार/छोटी माता का इलाज(choti mata ka ilaaj), शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए काफी पानी पीते रहें।

4. छोटी माता का इलाज(choti mata ka ilaaj) अपने खानपान में केवल हलके भोजन शामिल करें। नमकीन,तीखे,एसिड युक्त या ज़्यादा गर्म खाने से दूर रहे क्योंकि अगर आपके मुंह में छाले हैं तो इससे काफी हानि होगी।

5. कसे हुए कपडे ना पहनें क्योंकि इससे शरीर का तापमान बढ़ जाता है। हलके सूती के कपडे पहनें जो शरीर के तापमान को सामान्य रखते हैं।

6. अगर आपकी त्वचा में काफी जलन तथा पीड़ा हो रही हो तो त्वचा पर कैलामाइन लोशन लगाएं। इससे त्वचा को सुकून मिलेगा और आपको अपनी पीड़ा से मुक्ति।

7. अगर आप अपने घाव बुरी तरह खुजला देते हैं तो आपके घाव खुल जाते हैं जिन्हें ठीक होने में काफी समय लगता है। इससे संक्रमण भी हो सकता है। अतः अपने नाखून काटकर रखें और बच्चों के हाथ मोज़े या दस्तानों से ढककर रखें।

8. छोटी माता का घरेलू उपचार, अगर आपको इससे आराम मिले तो ठन्डे पानी से नहाएं। पानी में थोड़ा बेकिंग सोडा या दलिया डालें जिससे दर्द और खुजली से आराम मिलेगा।

9. किसी गंभीर समस्या की स्थिति में डॉक्टर को दिखाएँ।

10. चिकन पॉक्स की रोकथाम, बिना किसी डॉक्टर को दिखाए खुद की चिकित्सा करने का प्रयास न करें।

सिरदर्द भगाने के घरेलू नुस्खे

  • चिकन पॉक्स से बचने के घरेलू नुस्खे (homemade remedies to cure chickenpox/choti mata)
  • चिकन पॉक्स से बचने के लिए बेकिंग सोडा (baking soda)
  • बेकिंग सोडा चिकन पॉक्स के फलस्वरूप होने वाली खुजली और जलन को दूर करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक गिलास पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा घोल लें और इस मिश्रण का प्रयोग अपने शरीर के प्रभावित भाग पर अच्छे से करके सूखने के लिए छोड़ दें।
  • चेचक का घरेलू उपचार नीम की पत्तियां (margosa or neem leaves)

तुरंत उपचार के लिए भारतीय नीम का प्रयोग करीबन हर घर में किया जाता है। नीम की पत्तियों में एंटीवायरल (antiviral) गुण होते हैं, जो प्रभावी रूप से चिकन पॉक्स का इलाज करके इसे ठीक करते हैं। ये आपके फोड़ों को सुखाने में काफी मदद करता हैं और इस बीमारी के समय होने वाली खुजली को भी काफी कम कर देता है। इस उपचार के लिए मुट्ठीभर नीम के पत्ते लें और इन्हें पीसकर एक सौम्य पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट का प्रयोग चिकन पॉक्स के फोड़ों पर करें। इन पत्तों को नहाने के गर्म पानी में डाल दें और इन्हें कुछ देर तक उबलने दें। इसके बाद नीम के पत्ते डले हुए इस पानी से स्नान कर लें। इससे आपको काफी बेहतरीन परिणाम प्राप्त होंगे।

नीम चिकन पॉक्स के इलाज में काफी कारगर साबित होता है, क्योंकि इसमें एंटीवायरल गुण (antiviral properties) होते हैं। यह फोड़े फुंसियों को सुखाने में काफी सहायता करता है और आपको खुजली से भी पूरी तरह निजात दिलाता है। नीम का प्रयोग करने का सबसे असरदार तरीका यह है कि ताज़ी नीम की पत्तियों को पीस लें और इनका प्रयोग अपने फोड़ों पर करें। आप नीम की पत्तियों को पानी में डुबोकर इस पानी से स्नान भी कर सकते हैं।

चिकन पॉक्स से बचने के लिए गाजर और धनिये के पत्ते (carrot and coriander leaves)

गाजर और धनिये के पत्ते दोनों की ही तासीर काफी ठंडी होती है, अतः इन दोनों का प्रयोग चिकन पॉक्स को ठीक करने तथा इसके दाग धब्बे दूर करने के लिए किया जा सकता है। चिकन पॉक्स की बीमारी के दौरान वे शरीर को आतंरिक रूप से ठंडक प्रदान करने में काफी प्रभावी साबित होते हैं। गाजर और धनिये की पत्तियों को मिश्रित करके एक सूप (soup) तैयार करें। इससे आपको त्वरित रूप से ठीक होने में काफी सहायता मिलती है। ये एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) से भी भरपूर होते हैं तथा इसी वजह से इनके प्रयोग से शरीर को जल्दी ठीक होने में काफी मदद मिलती है। एक गाजर को काटें और धनिये को भी छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें। इन्हें आधे कप पानी में कुछ देर के लिए उबालें और फिर इस मिश्रण को छान लें। इसे कुछ देर तक ठंडा होने दें। रोज़ाना इस मिश्रण का एक महीने तक हल्की गर्म अवस्था में सेवन करें। इससे आपको अपनी गंभीर बीमारी से तेज़ी से उबरने में काफी मदद मिलेगी।

छोटी माता के उपाय, यह सूप चिकन पॉक्स के उपचार में काफी प्रभावशाली साबित होता है, क्योंकि यह एंटी ऑक्सीडेंट्स (antioxidants) से भरपूर होता है, जो इस बीमारी से ठीक होने के समय में आपकी काफी सहायता करते हैं। इस सूप को तैयार करने के लिए कुछ गाजरों को थोड़े से धनिये के पत्तों के साथ मिश्रित करके पानी में उबाल लें। अगर आपको बेहतरीन परिणाम प्राप्त करने हैं, तो एक महीने तक इस सूप का सेवन रोज़ाना अवश्य करें।

त्वचा पर लगी चोट ठीक करने के घरेलू नुस्खे
चिकन पॉक्स से बचने के लिए सूरजमुखी का फूल (marigold flower)

चिकन पॉक्स के दौरान चेहरे पर होने वाली खुजली से निजात दिलाने का यह काफी बेहतरीन उपाय साबित होता है। चिकन पॉक्स का आयुर्वेदिक उपचार, सूरजमुखी के फूलों तथा हैजेल (hazel) की पत्तियों को पानी में मिश्रित करें और इन्हें रातभर के लिए छोड़ दें। इन दोनों पदार्थों को पीसकर इनका एक पेस्ट (paste) बनाएं तथा त्वचा की खुजली से तुरंत निजात प्राप्त करने के लिए इसका प्रयोग अपने फोड़े फुंसियों तथा रैशेस पर करें।

विटामिन इ और चन्दन का तेल से छोटी माता का इलाज (choti mata ka ilaaj with vitamin e oil and sandalwood oil)

चिकन पॉक्स के लक्षणों से निजात प्राप्त करने के लिए इस तेल से बेहतर तरीका शायद ही कोई हो। इनमें से किसी भी तेल को दिन में दो बार लगाएं और चिकन पॉक्स के दौरान पैदा हुए लालपन, खुजली और फुंसियों में हुए दर्द से छुटकारा पाएं। इन तेलों से वो दाग भी होने से बचते हैं, जिनकी उत्पत्ति आमतौर पर चिकन पॉक्स के फोड़ों से होती है। ऐसा इसलिए संभव होता है क्योंकि इसमें ऐसे कंपाउंड्स (compounds) होते हैं, जिनकी मदद से धब्बे हलके होते हैं और त्वचा को सुकून मिलता है।

चेचक से बचने के लिए जई के आटे से स्नान (oatmeal bath)

यह चिकन पॉक्स से पैदा हुई खुजली को दूर करने का एक काफी प्रसिद्ध घरेलू उपाय है। जई के आटे को पीसकर एक महीन पाउडर का रूप दे दें और इसे गुनगुने पानी से भरे पानी के टब (bath tub) में मिश्रित कर दें। अब इस पानी में अपने शरीर को 20 मिनट तक डुबोकर रखें। आपको इस विधि के द्वारा चिकन पॉक्स के दर्द और खुजली से काफी आराम मिलेगा।

मलाशय को साफ़ करने के घरेलू नुस्खे
उनके लिए नुस्खे/उपचार जिनका प्रतिरक्षा तंत्र कमज़ोर है (tips to those who have weak immune system)

उनके लिए नुस्खे जिनका प्रतिरक्षा तंत्र कमज़ोर है अगर आपको इस संक्रमण के लक्षणों के बारे में पता चला है तो तुरंत चिकित्सकीय सहायता लें। जितनी जल्दी आप इस संक्रमण का इलाज करेंगे, इसका असर उतना ही कम भयानक होगा।beauty tips in hindi
Home घरेलू उपचार
घरेलू उपचार
Remedies to cure chicken pox in hindi / varicella at home – चिकन पॉक्स (छोटी माता) को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

  • चिकन पॉक्स एक फैलने वाली बीमारी है, जिसके पैदा होने का मुख्य कारण वैरीसेला जोस्टर (varicella-zoster) नामक वायरस (virus) होता है। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से हवा, थूक, म्यूकस (mucus) या किसी प्रभावित व्यक्ति के फोड़े फुंसियों से निकले द्रव्य से फ़ैल सकता है। संक्रमण वाला यह समय रैशेस (rashes) होने के 2 से 3 दिन पहले शुरू हो जाता है और तब तक चलता है, जब तक फोड़े फुंसियों के अंश सूखकर गिर ना जाएं।
  • चिकन पॉक्स (चेचक)के वायरस से संक्रमित होने के 15 से 20 दिनों के बाद आपके सारे शरीर पर खुजली के साथ लाल दाग और फोड़े फुंसी हो जाते हैं। चिकन पॉक्स के लक्षण, छोटी माता (choti mata) बीमारी के अन्य लक्षण हैं बुखार, थकान, भूख ना लगना और मांसपेशियों में दर्द रहना। यह एक सामान्य बीमारी है जो नवजात बच्चों, गर्भवती महिलाओं तथा कमज़ोर प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्तियों को अपना शिकार बनाती है। इस बीमारी से बचने का एक सामान्य टीका है, जिसे ज़्यादातर लोगों को दिया जाता है।
  • चिकन पॉक्स (छोटी माता/choti mata) एक सामान्य संक्रमण है जो स्वस्थ बच्चों और व्यस्कों के लिए ज़्यादा घातक नहीं होता। इस संक्रमण के फलस्वरूप त्वचा पर छोटे छोटे दाग हो जाते हैं जिससे काफी खुजली होती है। कभी कभी यह काफी दर्दनाक भी हो जाता है तथा इसके साथ बुखार और सिरदर्द की समस्या भी होती है।
  • भीतरी जांघ पर चकत्ते के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार
  • चिकन पॉक्स के कारण (causes of chicken pox)
  • चिकन पॉक्स होने का सबसे सामान्य कारण एक व्यक्ति के शरीर में इस बीमारी का शिकार होने के 2 दिन के बाद दाग धब्बों का आना है।
  • चिकन पॉक्स के फ़टे दानों के संपर्क में आने पर आपको भी ये बीमारी हो सकती है।
  • प्रतिरोधक क्षमता का कमज़ोर होना
  • हर्पीस जोस्टर (herpes zoster) की वजह से यह बीमारी हो सकती है।
  • हवा में पैदा होने वाली पानी की बूँदों से भी चिकन पॉक्स की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • चिकन पॉक्स के लक्षण (symptom of chicken pox)


चिकन पॉक्स (छोटी माता) के उपचार एवं इसकी पीड़ा कम करने के कुछ नुस्खे – चेचक का घरेलू उपचार(here are some tips for hot to treat chicken pox and how to reduce the discomfort caused due to it)

कफ के उपचार के घरेलू नुस्खे
1. किसी डॉक्टर से सलाह करने के बाद पेरासिटामोल या एसेटामीनोफेन जैसी दवाइयाँ लें जिससे बुखार और दर्द कम होता है। दवाई के बारे में पढ़े बिना तथा डॉक्टर से सलाह किये बिना कोई भी दवाई ना लें।

2. अगर आपको अपनी खुजली से ज़्यादा ही पीड़ा और दर्द हो रहा है तो दुकान से एंटीहिस्टामिन्स लें। अगर यह स्थिति दवाई से ठीक न हो तो किसी डॉक्टर की सलाह लें। वह आपको सही मात्रा में एंटीहिस्टामिन्स की खुराक देगा।

3. चिकन पॉक्स का उपचार/छोटी माता का इलाज(choti mata ka ilaaj), शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए काफी पानी पीते रहें।

4. छोटी माता का इलाज(choti mata ka ilaaj) अपने खानपान में केवल हलके भोजन शामिल करें। नमकीन,तीखे,एसिड युक्त या ज़्यादा गर्म खाने से दूर रहे क्योंकि अगर आपके मुंह में छाले हैं तो इससे काफी हानि होगी।

5. कसे हुए कपडे ना पहनें क्योंकि इससे शरीर का तापमान बढ़ जाता है। हलके सूती के कपडे पहनें जो शरीर के तापमान को सामान्य रखते हैं।

6. अगर आपकी त्वचा में काफी जलन तथा पीड़ा हो रही हो तो त्वचा पर कैलामाइन लोशन लगाएं। इससे त्वचा को सुकून मिलेगा और आपको अपनी पीड़ा से मुक्ति।

7. अगर आप अपने घाव बुरी तरह खुजला देते हैं तो आपके घाव खुल जाते हैं जिन्हें ठीक होने में काफी समय लगता है। इससे संक्रमण भी हो सकता है। अतः अपने नाखून काटकर रखें और बच्चों के हाथ मोज़े या दस्तानों से ढककर रखें।

8. छोटी माता का घरेलू उपचार, अगर आपको इससे आराम मिले तो ठन्डे पानी से नहाएं। पानी में थोड़ा बेकिंग सोडा या दलिया डालें जिससे दर्द और खुजली से आराम मिलेगा।

9. किसी गंभीर समस्या की स्थिति में डॉक्टर को दिखाएँ।

10. चिकन पॉक्स की रोकथाम, बिना किसी डॉक्टर को दिखाए खुद की चिकित्सा करने का प्रयास न करें।

सिरदर्द भगाने के घरेलू नुस्खे

  • चिकन पॉक्स से बचने के घरेलू नुस्खे (homemade remedies to cure chickenpox/choti mata)
  • चिकन पॉक्स से बचने के लिए बेकिंग सोडा (baking soda)
  • बेकिंग सोडा चिकन पॉक्स के फलस्वरूप होने वाली खुजली और जलन को दूर करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक गिलास पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा घोल लें और इस मिश्रण का प्रयोग अपने शरीर के प्रभावित भाग पर अच्छे से करके सूखने के लिए छोड़ दें।
  • चेचक का घरेलू उपचार नीम की पत्तियां (margosa or neem leaves)

तुरंत उपचार के लिए भारतीय नीम का प्रयोग करीबन हर घर में किया जाता है। नीम की पत्तियों में एंटीवायरल (antiviral) गुण होते हैं, जो प्रभावी रूप से चिकन पॉक्स का इलाज करके इसे ठीक करते हैं। ये आपके फोड़ों को सुखाने में काफी मदद करता हैं और इस बीमारी के समय होने वाली खुजली को भी काफी कम कर देता है। इस उपचार के लिए मुट्ठीभर नीम के पत्ते लें और इन्हें पीसकर एक सौम्य पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट का प्रयोग चिकन पॉक्स के फोड़ों पर करें। इन पत्तों को नहाने के गर्म पानी में डाल दें और इन्हें कुछ देर तक उबलने दें। इसके बाद नीम के पत्ते डले हुए इस पानी से स्नान कर लें। इससे आपको काफी बेहतरीन परिणाम प्राप्त होंगे।

नीम चिकन पॉक्स के इलाज में काफी कारगर साबित होता है, क्योंकि इसमें एंटीवायरल गुण (antiviral properties) होते हैं। यह फोड़े फुंसियों को सुखाने में काफी सहायता करता है और आपको खुजली से भी पूरी तरह निजात दिलाता है। नीम का प्रयोग करने का सबसे असरदार तरीका यह है कि ताज़ी नीम की पत्तियों को पीस लें और इनका प्रयोग अपने फोड़ों पर करें। आप नीम की पत्तियों को पानी में डुबोकर इस पानी से स्नान भी कर सकते हैं।

चिकन पॉक्स से बचने के लिए गाजर और धनिये के पत्ते (carrot and coriander leaves)

गाजर और धनिये के पत्ते दोनों की ही तासीर काफी ठंडी होती है, अतः इन दोनों का प्रयोग चिकन पॉक्स को ठीक करने तथा इसके दाग धब्बे दूर करने के लिए किया जा सकता है। चिकन पॉक्स की बीमारी के दौरान वे शरीर को आतंरिक रूप से ठंडक प्रदान करने में काफी प्रभावी साबित होते हैं। गाजर और धनिये की पत्तियों को मिश्रित करके एक सूप (soup) तैयार करें। इससे आपको त्वरित रूप से ठीक होने में काफी सहायता मिलती है। ये एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) से भी भरपूर होते हैं तथा इसी वजह से इनके प्रयोग से शरीर को जल्दी ठीक होने में काफी मदद मिलती है। एक गाजर को काटें और धनिये को भी छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें। इन्हें आधे कप पानी में कुछ देर के लिए उबालें और फिर इस मिश्रण को छान लें। इसे कुछ देर तक ठंडा होने दें। रोज़ाना इस मिश्रण का एक महीने तक हल्की गर्म अवस्था में सेवन करें। इससे आपको अपनी गंभीर बीमारी से तेज़ी से उबरने में काफी मदद मिलेगी।

छोटी माता के उपाय, यह सूप चिकन पॉक्स के उपचार में काफी प्रभावशाली साबित होता है, क्योंकि यह एंटी ऑक्सीडेंट्स (antioxidants) से भरपूर होता है, जो इस बीमारी से ठीक होने के समय में आपकी काफी सहायता करते हैं। इस सूप को तैयार करने के लिए कुछ गाजरों को थोड़े से धनिये के पत्तों के साथ मिश्रित करके पानी में उबाल लें। अगर आपको बेहतरीन परिणाम प्राप्त करने हैं, तो एक महीने तक इस सूप का सेवन रोज़ाना अवश्य करें।

त्वचा पर लगी चोट ठीक करने के घरेलू नुस्खे
चिकन पॉक्स से बचने के लिए सूरजमुखी का फूल (marigold flower)

चिकन पॉक्स के दौरान चेहरे पर होने वाली खुजली से निजात दिलाने का यह काफी बेहतरीन उपाय साबित होता है। चिकन पॉक्स का आयुर्वेदिक उपचार, सूरजमुखी के फूलों तथा हैजेल (hazel) की पत्तियों को पानी में मिश्रित करें और इन्हें रातभर के लिए छोड़ दें। इन दोनों पदार्थों को पीसकर इनका एक पेस्ट (paste) बनाएं तथा त्वचा की खुजली से तुरंत निजात प्राप्त करने के लिए इसका प्रयोग अपने फोड़े फुंसियों तथा रैशेस पर करें।

विटामिन इ और चन्दन का तेल से छोटी माता का इलाज (choti mata ka ilaaj with vitamin e oil and sandalwood oil)

चिकन पॉक्स के लक्षणों से निजात प्राप्त करने के लिए इस तेल से बेहतर तरीका शायद ही कोई हो। इनमें से किसी भी तेल को दिन में दो बार लगाएं और चिकन पॉक्स के दौरान पैदा हुए लालपन, खुजली और फुंसियों में हुए दर्द से छुटकारा पाएं। इन तेलों से वो दाग भी होने से बचते हैं, जिनकी उत्पत्ति आमतौर पर चिकन पॉक्स के फोड़ों से होती है। ऐसा इसलिए संभव होता है क्योंकि इसमें ऐसे कंपाउंड्स (compounds) होते हैं, जिनकी मदद से धब्बे हलके होते हैं और त्वचा को सुकून मिलता है।

चेचक से बचने के लिए जई के आटे से स्नान (oatmeal bath)

यह चिकन पॉक्स से पैदा हुई खुजली को दूर करने का एक काफी प्रसिद्ध घरेलू उपाय है। जई के आटे को पीसकर एक महीन पाउडर का रूप दे दें और इसे गुनगुने पानी से भरे पानी के टब (bath tub) में मिश्रित कर दें। अब इस पानी में अपने शरीर को 20 मिनट तक डुबोकर रखें। आपको इस विधि के द्वारा चिकन पॉक्स के दर्द और खुजली से काफी आराम मिलेगा।

मलाशय को साफ़ करने के घरेलू नुस्खे
उनके लिए नुस्खे/उपचार जिनका प्रतिरक्षा तंत्र कमज़ोर है (tips to those who have weak immune system)

उनके लिए नुस्खे जिनका प्रतिरक्षा तंत्र कमज़ोर है अगर आपको इस संक्रमण के लक्षणों के बारे में पता चला है तो तुरंत चिकित्सकीय सहायता लें। जितनी जल्दी आप इस संक्रमण का इलाज करेंगे, इसका असर उतना ही कम भयानक होगा।

2 people found this helpful

My voice has gone bad since last three days after shouting in anger. Please help.

BASM, MD, MS (Counseling & Psychotherapy), MSc - Psychology, Certificate in Clinical psychology of children and Young People, Certificate in Psychological First Aid, Certificate in Positive Psychology
Psychologist, Palakkad
Dear, anger and aggression are emotions. Anger comes when you become irritated. Irritation happens when you don't like something, or when something is repeated. As anger is an emotion, it should be vent out. You should be able to throw anger out instead of controlling it. But more perfect will be, know the frustrating situations and stop being emotional. If practiced properly, you will not get irritated at those circumstances at all. Those techniques are much easier to understand.
Submit FeedbackFeedback

Living With Asthma - 10 Tips To Help You Control It!

MBBS.DTCD
Pulmonologist, Hyderabad
Living With Asthma - 10 Tips To Help You Control It!

If you are experiencing a wheezing sound while you breathe or having difficulty in breathing, you are suffering from asthma. It is a medical condition characterized by paroxysmal wheezing respiration dyspnoea. There is no definite way to prevent asthma, but by following a step-by-step daily plan, you can prevent asthma attacks or keep them in check.

Symptoms of Asthma or Asthma Attack 

  1. Wheezing 
  2. Chest tightness or chest discomfort 
  3. Breathing discomfort with or without cough

Here are some important measures to follow to prevent asthma:

  1. You need to strictly follow your asthma action plan. The plan should be laid down after a detailed discussion with your doctor or healthcare team. All the medicines you require to prevent the asthma attacks will be written down for you.
  2. You should get vaccinated for pneumonia and influenza. This will prevent these conditions from triggering asthma attacks or flare-ups.
  3. You need to identify the asthma triggers and stay away from them. Several outdoors irritants and allergens from pollen to cold air can trigger asthma attacks.
  4. You have to monitor your breathing. By recognising the warning signs of an attack like wheezing, slight coughing or shortness of breath, you can prevent an asthma attack. You need to measure and record your peak airflow regularly using a home peak flow meter.
  5. By acting quickly, you can identify a fatal attack and prevent it from occurring. When the peak flow measurement decreases, you need to take your medicines immediately and abstain from any activity which may have triggered the attack.
  6. You need to keep taking your prescribed medicines, even if your asthma symptoms have improved. You should not change your medication schedule without consulting a doctor. It is recommended that you to bring along the medicines you take at your doctor’s appointment as he will be able to tell whether you are taking them right.
  7. If you use your quick relief inhaler a lot, the asthma is not under control. You need to visit your doctor as soon as possible and he/she will make some modifications to your treatment.
  8. For prevention of asthma, you should use allergy proof pillow covers and mattresses. You must wash your bedding every week in hot water to eliminate dust mites. You may use a dehumidifier for reducing excess moisture to prevent mold.
  9. Do not allow your pets in the bedroom and on the furniture. Pet dander is a common trigger of asthma and it cannot be avoided by people who own pets.
  10. You can also fit an air filtration system in your home. It will help in the elimination of asthma triggers such as pollen, dust mites and other allergens.

Doctor suggests immunotherapy for asthma prevention in the form of allergy shots. Immunotherapy aims at altering a person’s immune response by making it less sensitive to asthma triggers. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a Pulmonologist.

2898 people found this helpful

I have a hugh swelling on middle finger of my right hand. It is very painful. It pains a lot when we touch it. Is it a hair line fracture or it just swelling. Please let me know at the earliest.

Fellow of Academy of General Education (FAGE)
General Physician, Bangalore
I have a hugh swelling on middle finger of my right hand. It is very painful. It pains a lot when we touch it. Is it ...
If you remember the fall or any body twisting your finger then yes there could be a fracture. Get it confirmed with x-ray.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am suffering from cough & cold very badly from 10 days please solve my problem.

BHMS
Homeopath, Faridabad
Hi. Take homoeopathic medicine - schwabe's alpha-nc and alpha-cf - both thrice daily for 4 days. Use bakson's nasal-aid spray/ 1-2 sprays after every 4 hours. Management: - avoid cold drinks and fried food, take healthy food. -avoid exposure to air-conditioner or cold air. -take steam-inhalation once before going to bed. -take enough sleep and rest.
Submit FeedbackFeedback

Hey I've been diagnosed as pcos at the age of 16 is it possible that pcos disease is curable and the hormone rate can be re regulated I'm currently 22 but after that I've not conducted any test of pcos. Looking forward for your advice thank you.

MBBS, DNB (Obstetrics and Gynecology), MNAMS, Training in USG
Gynaecologist, Delhi
Hey I've been diagnosed as pcos at the age of 16 is it possible that pcos disease is curable and the hormone rate can...
Hi PCOS can be treated by life style changes and medical treatment. For further advice you need to tell menstrual details, body weight and also if facing any problems like acne, hairfall.
Submit FeedbackFeedback

What type of food should be taken in winters where the weather remains sub zero like areas of kashmir.

BSc - Food Science & Nutrition, PGD in Sports Nutrition and Dietitics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
What type of food should be taken in winters where the weather remains sub zero like areas of kashmir.
Hello, Warm foods like grilled chicken,vegetable tandoor platters,soups,broths help. In winters you need to give heat producing foods to the body to adjust ith external cold temperature. Have more proteins in the diet.
Submit FeedbackFeedback

Understanding Low Libido - 8 Worrying Factors You Should Know!

MBBS
Sexologist, Delhi
Understanding Low Libido - 8 Worrying Factors You Should Know!

Many people suffer from a low libido problem. This can be a problem for their partners as well as for themselves. A low sex drive can also reduce one's self esteem and confidence. In severe cases it also leads to depression.

Factors which cause low sex drive:

  1. Sexual problems: Many sexual problems also lead to a low sex drive. An inability to experience orgasm even after a lot of attempts can make one indifferent to sex. Some people also experience pain because of a tight vagina. In such cases their desire to have sex reduces greatly.
  2. Medical diseases: Many medical conditions also affects your libido, such as cancer, arthritis, blood sugar (diabetes), artery diseases, high blood pressure and neurological diseases.
  3. Medications: Some people suffer from depression and anxiety disorders. To get over these disorders most doctors prescribe them antidepressants and anti-anxiety pills, these medications create a very low libido.
  4. Habits: Many lifestyle habits such as over-consumption of alcohol can make your sex drive reduce a lot. Smoking also decreases the blood flow in your body which may make your libido fall.
  5. Surgery: Reconstructive surgeries such as breast reconstruction surgery and genital tract surgery can also affect sexual desire and give your body signals to not engage in an intercourse.
  6. Fatigue: Tiredness because of physical activities or caring for your old parents or young children can also make you uninterested in sex. Your body and brain might not have the energy to engage in an intercourse due to fatigue.
  7. Menopause: The levels of estrogen reduce greatly during menopause. Low estrogen levels make your vagina dry hence sex can be uncomfortable and painful. Women also go through hormonal changes which make them suffer from a low libido.
  8. Pregnancy: After pregnancy, breastfeeding your baby becomes an everyday activity. This can reduce sexual desire because of the pressure of caring for a new born baby.

Regular exercising complemented with enough sleep is known to reduce stress thus giving you a high sex drive. Avoid consuming alcohol. Testosterone replacement therapy (a therapy used for treating erectile dysfunction) also treats low desire. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a Sexologist.

6736 people found this helpful

My stomach is always upset. Recurring Stomach infection feels lazy, Acidity problem Piles problem.

BHMS
Homeopath, Faridabad
My stomach is always upset.
Recurring Stomach infection feels lazy, Acidity problem
Piles problem.
Hi, Gas and acidity is the result of constipation and indigestion.Take Homoeopathic medicine to get relief:-1. Gastrobin (WSG), 10 drops+ 1/2 cup of water, half an hour before meals, 3 times a day. 2. Natrum phos 6x, 4 tablets at a time, 3 times a day 10 mins. after meals. 3. Drink 10 to 12 glasses of water daily. 4. Drink two cups of coconut water daily. 5. . Avoid heavy spicy and oily food , pickles. Revert me after 7 days.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

After how many days a patient who had surgery of urethral stricture can consume whisky or also.

BHMS
Homeopath,
After how many days a patient who had surgery of urethral stricture can consume whisky or also.
Whisky is not a healthy habit for a person having such type renal disease...but u can take it after one month of surgery...
Submit FeedbackFeedback

From 2 day's I am having very mild fever, and Body pain also my nose block during nights, Please refer medicine, Tx.

Diploma in Child Health (DCH), MBBS
General Physician, Bangalore
From 2 day's I am having very mild fever, and Body pain also my nose block during nights, Please refer medicine, Tx.
Sir, As a first aid I advice you to take tab calpol 650 mg 3 times per day for 2 days. Take rest at home Drink lots of water, fruit juices. Have soft diet, not spicy, not oily. Any persistent problems beyond 2 days or increasing problem, contact me through Lybrate.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed

Near By Doctors

Dr. K. P. Loknath Kumar

MBBS
General Physician
Respi Care, 
500 at clinic
Book Appointment
90%
(546 ratings)

Dr. Ali Zama

MBBS, PG Diploma In Emergency Trauma Care, Fellowship In Diabetology
General Physician
Zama Health Care, 
200 at clinic
Book Appointment
91%
(687 ratings)

Dr. Ramesh Babu

MD, MBBS
General Physician
K C G Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment
90%
(723 ratings)

Dr. Arun R

MD - Microbiology
General Physician
My Clinic, 
200 at clinic
Book Appointment

Dr. Suprabha P

MBBS, M.Sc
General Physician
Cosmo Clinic & Diagnostic Centre, 
150 at clinic
Book Appointment
85%
(335 ratings)

Dr. Rajashekhar

MD, MBBS
General Physician
Health Cottage Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment