Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Book
Call
Dr. Chandrashekhar  - Veterinarian, Bangalore

Dr. Chandrashekhar

BVSc, MVSC - Surgery

Veterinarian, Bangalore

17 Years Experience
Book Appointment
Call Doctor
Dr. Chandrashekhar BVSc, MVSC - Surgery Veterinarian, Bangalore
17 Years Experience
Book Appointment
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

I'm dedicated to providing optimal health care in a relaxed environment where I treat every patients as if they were my own family....more
I'm dedicated to providing optimal health care in a relaxed environment where I treat every patients as if they were my own family.
More about Dr. Chandrashekhar
Dr. Chandrashekhar is a renowned Veterinarian in NRR Hospitals, Bangalore. He has helped numerous patients in his 17 years of experience as a Veterinarian. He is a BVSc, MVSC - Surgery . You can consult Dr. Chandrashekhar at Nandi Veterinary Clinic in NRR Hospitals, Bangalore. Save your time and book an appointment online with Dr. Chandrashekhar on Lybrate.com.

Lybrate.com has a nexus of the most experienced Veterinarians in India. You will find Veterinarians with more than 31 years of experience on Lybrate.com. You can find Veterinarians online in Bangalore and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Education
BVSc - Krnataka Veterinarian College - 2001
MVSC - Surgery - Veterinary College, Bangalore - 2004
Languages spoken
English

Location

Book Clinic Appointment with Dr. Chandrashekhar

Nandi Veterinary Clinic

6th Cross, 60 ft road,Below Relience Fresh ,MEI layout, BagalgunteBangalore Get Directions
...more
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Chandrashekhar

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I have a black rabbit and he's 2 years old, my question is how can I help him wid his loose motions.

M.V.Sc. & PhD Scholar Veterinary Medicine
Veterinarian, Navi Mumbai
Please provide lacto bacillus powder (sporolac sachets) in his diet. You can add it in water or can feed directly also. Don't give any oral antibiotics as these may aggravate the condition. Thank you.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

My 2 month old labrador puppy is detected with canine distemper. Please tell me the cure and treatment for this disease.

Master of sciences, B.V.Sc. & A.H.
Veterinarian, Salem
Can use some poultry vaccine in initial stage to cure but if crosses stages can not do anything but still can maintain it.
Submit FeedbackFeedback

I wanna ask for my pet Labrador, he is suffering from kidney dysfunction, last 1.5 month he is not able to eat any thing as I tried he start vomit after a couple of hours, blood test kft done on 28/10/17. Result are 1) serum phosphorous 18.4 2) serum sodium 149.6 3) blood urea 210.8 4) serum creatinine 20.4 5) serum uric acid 1.01 6) albumin 2.71 7) a:g ratio 0.66 These all are bold in test. Please suggest what should I do he is one of my life member whom I love so much age 8 years. Is there any possibility to make him fine .any kind of treatment.

B.A.M.S, MD (Ayu.) Kayachikitsa
Ayurveda,
Thanks for contacting with your health concern 1. Chronic renal disease [CKD] cannot be cured or reversed but treatment and management aimed at the contributing factors and symptoms can slow its progression. 2. Please see a good and experienced Veterinarian doctor to exclude decreased blood flow or oxygen delivery to the kidneys, any infection (s) and/or urinary obstruction. 3. He needs hospitalization for immediate medical treatment aimed at correcting fluid and electrolyte imbalance, and it's your Veterinarian who is in the best position to let you know about the prognosis. PS. For diet in kidney disease kindly book an appointment on Lybrate itself.
Submit FeedbackFeedback

My pet cat is one month old and she is suffering from cough and cold .what can I do for her?

MVSc, BVSc
Veterinarian, Secunderabad
Better to allow her to breathe steam vapours from a little distance, add eukalyptus oil to cotton and put near her in the room. Also you can apply vicks vapourub near her nose. Wipe any secretions near nose with warm salt water.
Submit FeedbackFeedback

Hi doctor, I have a german shepherd of one and half year old. It is so agressive and barks a lot. We have received complaint from our neighbour regarding this. I just wanted to know is there any injection for dogs to reduce the aggressiveness and not to bark a lot. because I have heard there is a injection for dogs to become calm.

B.V.Sc. & A.H.
Veterinarian, Hoshiarpur
It is a behavioural problem treat the dogs with extra love and affection train him to become calm and avoid undue entry of strangers whole time in dogs area and do not apply force to tackle the problem. Be more friendly and try to play with your dog avoid medication to solely treat this condition
4 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

What should be the temperature range in which kitten live? When at what age will they do not need mother's milk? What will mother do if we give her kitten to new owner?

B.V.Sc. & A.H., M.V.Sc
Veterinarian, Gurgaon
Most conformable temp is 25 degree centigrade. Ideally mother milk is needed upto4 to 6 week of age. Agter age of 20 to 22 days semisolids food can be introduced.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Vaccination In Pets

B.V.Sc
Veterinarian, Ballia
Vaccination In Pets

Vaccination in dog

टीकाकरण की प्रकिया एक ऐसा उपाय है जिससे, कुत्तो में होने वाली कुछ प्रमुख विषाणु एवं जीवाणु जनित जानलेवा एवं लाइलाज, बीमारियों जैसे कैनाइन डिस्टेंपर, हेपेटाइटिस, पार्वो वायरस, लेप्टोस्पायरोसिस, रेबीज तथा केनल कफ़ आदि से बचाव के लिए समय समय पर कुत्तों के शरीर में टीका लगाया जाता है,जिससे इन रोगों के खिलाफ रोगप्रतिरोधक क्षमता का शारीर में विकास हो जाता है और हमारा पालतू जानवर एक सिमित अवधि तक इन बिमारियों के घातक प्रभाव से बचा रहता है |

कुछ टीकाकरण संबंधी सामान्य प्रश्नो के जबाब -
 
१- क्या सभी उम्र के कुत्तो का टीकाकरण जरूरी होता है?
हाँ। आमतौर पर १. ५ महीने (४५ दिन) के उम्र से ऊपर सभी कुत्तो का नियमित समय पर टीकाकरण करना जरूरी होता है यदि किसी कारण वश नयमिति या कभी कराया ही न गया हो तो किसी भी उम्र से टीकाकरण शुरू किया जा सकता है। 

२. छोटे बच्चो को किस उम्र से टीका का पहली खुराक देना शुरू करना चाहिए?
४५ दिन के उम्र से ही टीके की पहली खुराक देना बेहद जरूरी होता है 

३. क्या सभी छोटे पप्स को टीकाकरण के पहले पेट के कीड़े देना जरूरी होता है -
हाँ। बहुत से परजीवी ऐसे होते है जो माँ के पेट से ही या दूध के जरिये से बच्चे के शरीर में प्रवेश कर जाते है जिससे शरीर को कमजोर कर देते है और जब टीका लगाया जाता है तो कमजोरी के वजह से उतना अच्छा शरीर में प्रतिरोधक छमता का विकास नहीं हो पता इसलिए पहले ऐसे परजीवीओ को नष्ट करना जरूरी होता है 

४. क्या होता है टीकाकरण का सही उम्र और समयांतराल?
१. पहली खुराक -जन्म के ६ -८ सप्ताह के उपरांत(कैनाइन डिस्टेंपर, हेपेटाइटिस, पार्वो वायरस, लेप्टोस्पायरोसिस, पैराइन्फ़्लुएन्ज़ा हेतु) 
२. बूस्टर खुराक या दूसरी खुराक - प्रथम खुराक के २-३ सप्ताह बाद ; फिर दूसरी खुराक के ठीक एक साल बाद वार्षिक खुराक साल में एक बार पूरी उम्र तक लगवाते रहना चाहिए। 
३. तीसरी खुराक - रेबीज वायरस हेतु- प्रथम खुराक जन्म के ३ माह के उपरान्त। 
४. बूस्टर खुराक या चौथी खुराक - तीसरी खुराक के २-३ सप्ताह बाद ; फिर तीसरी खुराक के ठीक एक साल बाद वार्षिक खुराक साल में एक बार पूरी उम्र तक लगवाते रहना चाहिए। 

५. क्या बूस्टर खुराक देना जरूरी होता है या नहीं?
जन्म के साथ ही माँ से प्राप्त एंटीबाडीज और प्रथम दूध से मिलने वाली सुरछा कवच कुछ सप्ताह तक नवजात के खून में मौज़ूद रह करअनेको बीमारयों से सुरछा प्रदान करती है परन्तु समय के साथ साथ इनकी मात्रा बच्चे के शरीर में कम होने लगती है। जिससे बीमारी होने की आशंका बढ़ जाती है इसलिए लगभग ४५ दिन के बाद टिका का प्रथम खुराक देते है यद्पि ये पता नहीं रहता की माँ से मिलने वाली सुरछा का असर किस स्तर का है जिससे आमतौर पर ये स्तर अधिक होने पर प्रथम खुराक से बच्चे के शरीर में टीकाकरण की गुणवत्ता को बाधित करती है, जो की पप्पस में रोगप्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न करने में असक्षम हो जाता है इसलिए कुछ सप्ताह बाद टीकाकरण के दूसरी खुराक दे कर टीकाकरण से रोगप्रतिरोधक क्षमता करने के उद्देश्य को प्राप्त करते है ऐसी दूसरी खुराक को बूस्टर खुराक कहते है। 

६. क्या है टीकाकरण की सही खुराक देने के मात्रा:
डॉग चाहे किसी भी उम्र, भार, लिंग अथवा नस्ल के हों उनको समान मात्रा में टीकाकरण का खुराक दिया जाता है 

७. क्या है टीकाकरण का सही तरीका:
टीकाकरण खाल के नीचे:कैनाइन डिस्टेंपर, हेपेटाइटिस, पार्वो वायरस, लेप्टोस्पायरोसिस, पैराइन्फ़्लुएन्ज़ा तथा रेबीज जैसी बीमारियों की रोकथाम के लिए खाल के नीचे दिया जाता है
 नथुनों में:केनल कफ़ का टीकाकरण कुत्ते के नथुनों में दवा डाल कर किया जाता है

८. क्या सभी टीके एक ही प्रकार के होते है:कुत्तों में टीकाकरण दो प्रकार की होती है
 १. कोर टीकाकरण - टीकाकरण जो सभी कुत्तों के लिये आवश्यक है. यह उन बिमारीयों में दिया जाता है जो आसानी से फैलती हैं अथवा घातक होती हैं जैसे रेबीज, एडीनोवायरस, पार्वोवायरस, और डिस्टेंपर.
 २. नान कोर टीकाकरण – उपरोक्त ४ बिमाँरीयों (रेबीज, एडीनोवायरस, पार्वोवायरस, और डिस्टेंपर) के टीकाकरण को छोड़कर अन्य सभी नानकोर टीकाकरण माना जाता है | यह उन बिमाँरियों से सुरक्षा प्रदान करता है जो वातावरण के अनावरण अथवा जीवनचर्या पर निर्भर करती है जैसे लाइम डिजीज, केनलकफ और लेप्टोस्पाइरोसिस.

९. एक सफल टीकाकरण करने के बाद क्या फिर भी टीकाकरण विफल हो सकता है?हाँ। 
 टीकाकरण के विफलता के कारण कुत्ते में बीमारी होने के निम्नलिखित मुख्य कारण हो सकते है –
१. टीकाकरण के दौरान कुत्ते की रोगप्रतिरोधक क्षमता का सम्पूर्ण रूप से कार्य न करना |
२.आयु – कम उम्र के जानवरों की प्रतिरक्षा प्रणाली पूर्णतः विकसित नही होती और बड़े आयु के जानवरों की प्रतिरक्षा प्रणाली कई कारणों से अक्सर कमज़ोर या क्षीण हो जाती है |
३. मानवीय चूक (टीके का अनुचित संग्रहण या अनुचित मिश्रण)- टीकों का संग्रहण एवं इस्तेमाल भी निर्देशानुसार ही होना आवश्यक है | सूरज की रोशनी,गर्म तापमान टीके के प्रभाव को नस्ट कर सकता है | टीके का मिश्रण पशु में टीकाकरण के तुरंत पहले तैयार करना चाहिए | टीके खरीदने के पहले पता करना चाहिए कि टीकों को उचित तापमान एवं देखभाल से रखा गया है या नहीं |
४. डीवार्मिंग – टीकाकरण करने के पहले पेट के कीड़े मारने के लिए डीवर्मिंग करना आवश्यक है, वरना इस तरह का तनाव टीकाकरण के प्रभाव को कम कर सकता है |
५. गलत सीरोटाईप / स्टेन का इस्तेमाल – प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया बहुत विशिष्ट होती है | अतः टीके में होने वाली जीवाणु या विषाणु की सही स्टेन होनी चाहिए वरना उससे उत्पन्न होने वाली प्रतिरक्षा जानवर में सही तौर पर सुरक्षा नहीं कर पाती |
६. अनुवांशिक बीमारियाँ – कुछ जानवरों में आनुवंशिक बिमारियों की वजह से सभी रोगों के लिए प्रतिरोधक छमता सामान्य तौर पर कम ही उत्पन्न हो पाती है |
७. वैक्सीन की गुणवत्ता – टीके में प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयाप्त मात्रा में प्रतिजनी की मात्रा होना चाहिए वरना टीकाकरण के बाद प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया प्रयाप्त नहीं होती है |
८. पुराने या अवधि समाप्त टीके – पुराने टीकों में आवश्यक प्रतिजनी गुण समाप्त या कम हो जाता है | इस तरह के टीके लगाने से जानवरों को बेमतलब तनाव दिया जाता है |
९. टीकाकरण का अनुचित समय – टीका निर्माता के निर्देशों के अनुसार टीकाकरण का समय (उम्र एवं मौसम के अनुसार), लगाने का तरीका एवं मात्रा तथा दोबारा लगाये जाने की अवधि, इत्यादि निश्चित होता है |इन निर्देशों का पालन सही समय पर न करने से टीकाकरण विफल या निष्क्रिय हो जाता है |
१०. पोषण की स्तिथि- कुपोषण की वजह से जिन पशुओं में पोषक तत्वों की कमी रह जाती है उनमे टीकाकरण के बाद भी प्रतिरोधक छमता सामान्य तौर पे कम ही उत्पन्न हो पाती है |

10. क्या वैक्सीन लगते समय कुत्ते पर कोई दुस्प्रभाव हो सकते है? हाँ 
 कुछ कुत्तो प्रतिरोधक छमता अधिक सक्रिय होने की वजह से कुछ सामान्य लचण जैसे ज्वर, उल्टी, दस्त, लासीका ग्रंथियों का सूजना, मुख का सूजना, हीव्स, यकृत विफलता और कभी -कभी मौत भी हो सकती है।

1 person found this helpful

My Dog name is bruzoo, my dog is labera. he is very week and my dog is nothing eat like food pedigree and my dog leg is very slim. Please help me.

M.V.Sc (Surgery)
Veterinarian, Mohali
You can start giving high nutritious diet to you dog like egg, chicken paneer etc. You can give him good quality feed like pedigree professional or royal canin for growth.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I have 3 puppies. They used to play together. They drink water in same bowl. They bite each other while playing. My one puppy died due to rabies. Should my other two puppies have gotten rabies from him?

MBBS
General Physician, Mumbai
Rabies is an infectious disease and vaccination needs to be given to all the puppies and house family members and you will have to inform the municipal authorities
Submit FeedbackFeedback

My female spitz aged 2yr limps frequently, as if she has pain in her hind legs. What could be the possible reason?

Master of sciences, B.V.Sc. & A.H.
Veterinarian, Salem
Check the paws and other inter digits for the foreign bodies and any history of ticks in the body for the past 4-5 months pls let me know
Submit FeedbackFeedback
View All Feed