Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Dr. Rajesh D. - Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad

Dr. Rajesh D.

90 (164 ratings)
Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing

Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad

5 Years Experience ₹100 online
Dr. Rajesh D. 90% (164 ratings) Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor O... Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
5 Years Experience ₹100 online
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services
Reviews

Personal Statement

Hello and thank you for visiting my Lybrate profile! I want to let you know that here at my office my staff and I will do our best to make you comfortable. I strongly believe in ethics; a......more
Hello and thank you for visiting my Lybrate profile! I want to let you know that here at my office my staff and I will do our best to make you comfortable. I strongly believe in ethics; as a health provider being ethical is not just a remembered value, but a strongly observed one.
More about Dr. Rajesh D.
Dr. Rajesh Patidar is an experienced Yoga & Naturopathy Specialist in Jantanagar, Ahmedabad. He is currently practising at Dr.Rajesh Patidar in Jantanagar, Ahmedabad. Save your time and book an appointment online with Dr. Rajesh Patidar on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified Yoga & Naturopathy Specialists in India. You will find Yoga & Naturopathy Specialists with more than 40 years of experience on Lybrate.com. Find the best Yoga & Naturopathy Specialists online in Ahmedabad. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Education
Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS) - nature cure institute - 2016
bachelor Of Science in Nursing - rajasthan university of health & Science,Jaipur,Rajasthan - 2012
Past Experience
Primary Healthcare Physician at Rajdeep Healthcare Services
Languages spoken
English
Gujarati
Hindi

Location

Book Clinic Appointment

Dr.Rajesh D. Patidar

301,Ajod Residency, Sabarmati Ahmedabad Get Directions
  4.5  (164 ratings)
...more
View All

Consult Online

Text Consult
Send multiple messages/attachments. Get first response within 6 hours.
7 days validity ₹100 online
Consult Now
Phone Consult
Schedule for your preferred date/time
10 minutes call duration ₹150 online
Consult Now
Video Consult
Schedule for your preferred date/time
15 minutes call duration ₹200 online
Consult Now

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Rajesh D.

Your feedback matters!
Write a Review

Patient Review Highlights

"Very helpful" 32 reviews "knowledgeable" 18 reviews "Thorough" 4 reviews "Prompt" 4 reviews "Sensible" 2 reviews "Saved my life" 2 reviews "Well-reasoned" 6 reviews "Caring" 8 reviews "Professional" 3 reviews "Inspiring" 1 review "Practical" 3 reviews "Helped me impr..." 1 review "Nurturing" 1 review

Reviews

Popular
All Reviews
View More
View All Reviews

Feed

गुड़ खाने से फायदे

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad

*गुड़ खाने से 18 फायदे*
-----------------------

1- गुड़ खाने से नहीं होती गैस की दिक्कत l

2- खाना खाने के बाद अक्सर मीठा खाने का मन करता हैं।
इसके लिए सबसे बेहतर हैकि आप गुड़ खाएं।गुड़ का सेवन करने से आप हेल्दी रह सकते हैं

3 - पाचन क्रिया को सही रखना

4 - गुड़ शरीर का रक्त साफ करता है और मेटाबॉल्जिम ठीक करता है। रोज एक गिलास पानी या दूध के साथ गुड़ का सेवन पेट को ठंडक देता है। इससे गैस की दिक्कत नहीं होती।जिन लोगों को गैस की परेशानी है, वो रोज़ लंच या डिनर के बाद थोड़ा गुड़ ज़रुर खाएं.

5 - गुड़ आयरन का मुख्य स्रोत है।इसलिए यह एनीमिया के मरीज़ों के लिए बहुत फायदेमंद है।खासतौर पर महिलाओं के लिए इसका सेवन बहुत अधिक ज़रुर है.

6 - त्वचा के लिए, गुड़ ब्लड से खराब टॉक्सिन दूर करता है, जिससे त्वचा दमकती है और मुहांसे की समस्या नहीं होती है।

7 - गुड़ की तासीर गर्म है,इसलिए इसका सेवन जुकाम और कफ से आराम दिलाता है। जुकाम के दौरान अगर आप कच्चा गुड़ नहीं खाना चाहते हैं तो चाय या लड्डू में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

8 - एनर्जी के लिए - बुहत ज़्यादा थकान और कमजोरी महसूस करने पर गुड़ का सेवन करने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है।गुड़ जल्दी पच जाता है, इससे शुगर का स्तर भी नहीं बढ़ता. दिनभर काम करने के बाद जब भी आपको थकान हो, तुरंत गुड़ खाएं।

9 - गुड़ शरीर के टेंपरेचर को नियंत्रित रखता है।इसमें एंटी एलर्जिक तत्व हैं, इसलिए दमा के मरीज़ों के लिए इसका सेवन काफी फायदेमंद होता है।

10 - जोड़ों के दर्द में आराम-- रोज़ गुड़ के एक टुकड़े के साथ अदरक का सेवन करें, इससे जोड़ों के दर्द की दिक्कत नहीं होगी।

11- गुड़ के साथ पके चावल खाने से बैठा हुआ गला व आवाज खुल जाती है।

12 - गुड़ और काले तिल के लड्डू खानेसे सर्दी में अस्थमा की परेशानी नहीं होती है।

13 - जुकाम जम गया हो, तो गुड़ पिघलाकर उसकी पपड़ी बनाकर खिलाएं।

14 - गुड़ और घी मिलाकर खाने से कान का दर्द ठीक हो जाता है।

15 - भोजन के बाद गुड़ खा लेने से पेट में गैस नहीं बनती.

16 - पांच ग्राम सौंठ दस ग्राम गुड़ के साथ लेने से पीलिया रोग में लाभ होता है।

17 - गुड़ का हलवा खाने से स्मरण शक्ति बढती है।

18 - पांच ग्राम गुड़ को इतने ही सरसों के तेल में मिलाकर खानेसे श्वास रोग से छुटकारा मिलता है।

अच्छी बातें, अच्छे लोगो, को अपने मित्रो, को अवश्य शेयर करे.

1 person found this helpful

What should be the diet plan for 1 month to gain weight as much as possible vegetarian?

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
What should be the diet plan for 1 month to gain weight as much as possible vegetarian?
Do light exercises regularly Eat healthy and balanced meal reach in calories and protein. Take small & frequent diet. Add some fruits and vegetables. It's Advised to book an appointment to Assess you personally for proper & faster results. Your Feedback will be expected. Stay happy n healthy.
Submit FeedbackFeedback

Home Remedies For Common Cold

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad

Solutions:

1. A lemon a day keeps the cold away. For a bad cold, the juice of two lemons in 1/2 a litre (21/2 cups) of boiling water sweetened with honey, taken at bed time, is a very effective remedy.

2. Have ginger (adrak) tea.

3. Cut ginger (adrak) into 1" _ 11/2" pieces and boil with a cup of water. Give 8-10 boils. Strain, sweeten with 1/2 teaspoon sugar and drink hot.

4. A tablespoon of carom seeds (ajwain) crushed and tied up in a muslin cloth can be used for inhalation to relieve congestion/blocked nose.

-a similar small bundle placed near the pillow of sleeping children relieves congestion.

5. A teaspoon of cumin seeds (jeera) is added to 1 glass of boiling water. Strain and simmer for a few minutes. Let it cool. Drink it 1-2 times a day. If sore throat is also present, add a few small pieces of dry ginger (adrak) to the boiling water.

6. Six pepper corns (saboot kali mirch) finely ground and mixed with a glass of warm water, sweetened with 5-6 batasha (a variation of sugar candy) can be taken for a few nights.

7. In the case of the acute cold in the head, boil 1 tablespoon full pepper powder in a cup of milk along with a pinch of turmeric (haldi) and have once daily for at least 3 days. 


Cold with phlegm (balgam) and slight cough

Take 8-10 tulsi leaves and wash well. To 1 cup of water, add these tulsi leaves, 1-2 cloves of garlic (lasan), 1/2" piece ginger, crushed and 4-5 peppercorns (saboot kali mirch). Boil the water and keep simmering on fire till the quantity is reduced to 1/4 cup. Cool. Strain. Add 1 teaspoon honey. Drink this every morning. 

2 people found this helpful

Know About Acne/Pimples

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
Know About Acne/Pimples

Acne/Pimples

Cause

Age/ heredity/ hormonal imbalance/ cheap make up products / polluted surrounding/ stress

Solutions:

  • Grape cleanser- to prepare the cleanser, firstly take some fresh grapes and also should be refrigerated. Cut them in half. Now rub them over the skin especially over the area affected by the acne. Now, wash with cold water.
  • Cucumber mask- take a small sized cucumber and a cup of oatmeal. Blend it well to get a fine paste. Take a spoon of the paste and mix with same amount of curd. Apply over skin. Wash the area after 30 minutes.
  • Fiber- have about 20 to 30 grams of fiber daily.
  • Avoid peanut items
  • Have low fat diet
  • Less salt- avoid food products high in salt like chips, salted popcorn, canned foods and lunched meat.
  • Use oil skin care products. Avoid makeup but if it is necessary then apply medicine before makeup application. Don’t allow the sweat to stay over face.
  • Divya kayakalp vati
  • Clean face with cotton wool dipped in rose water 2-3 times a day. Do not use soap.
  • Orange peel is very good in the treatment of acne. Grind the peel with some water to a paste and apply on affected parts. When oranges are not in season
  • Mix 1 teaspoon lemon juice in 1 teaspoon finely ground cinnamon (dalchini) powder and apply on affected areas frequently. Sift the cinnamon (dalchini) powder to make it into a very fine powder.
  • Crush a fegarlic (lasan) flakes and apply on the face
  • Grind some neem leaves with water to a fine paste. Apply on infected area.
  • Make a paste of ½ teaspoon each of sandalwood and turmeric (haldi) powder in a little water and apply.
  • Grind some black cumin seeds (shah jeera) with a little vinegar (sirka) to a smooth paste. Apply on affected parts. Cumin seeds

Yoga:

Exercise/ brisk walk daily/ slow jogging/fasting

8 people found this helpful

Home Remedies For Diabetes

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
Home Remedies For Diabetes


Natural hone remedies to treat diabetes at home

Diabetes treatment: 15 home remedies to treat diabetes at home (thinkstock photos/getty images)

India is said to be the diabetes capital of the world. With nearly 50 million people in india suffering from diabetes, the country has a big challenge to face. First, let's know what is diabetes. The elevated sugar in the blood is called diabetes. There are two primary reasons behind diabetes - one is when our body stops producing insulin and second is when the body does not respond to insulin that is produced by the body. Insulin is broken down by the body and used as energy, which is transported to the cells. There are two types of diabetes - type I diabetes and type ii diabetes. Let's know about them in a little detail: 

Type I diabetes 


Type I diabetes usually occurs in people who are below the age 20 and that is why it is also called as juvenile diabetes. In this type, the body becomes partially or completely unable to produce insulin. Type I diabetes is an autoimmune disease. In this, your immune system attacks the pancreas from where the insulin is produced, thereby making the pancreas inefficient or unable to produce insulin. Type I diabetes cannot be prevented, it can only be controlled with healthy lifestyle changes.

Type ii diabetes

Type ii diabetes is more common than type I diabetes in india. Type ii diabetes usually happens to people who are above the age of 40. This type of diabetes is caused due to insulin resistance. In this case, the pancreas produces insulin but the body is not able to respond to it properly. There can be many reasons behind type ii diabetes. Some of the reasons can be being overweight, high blood pressure, having a poor diet, taking too much stress, hormone imbalance, certain medications and leading a sedentary lifestyle. Though type ii diabetes can be reversed. 

Let's us know some natural ways by which we can treat diabetes at home: 

What not to eat: 

There are some foods which can negatively impact your diabetes. So, the first thing you need to do is to remove these foods from your diet. 


1. Refined sugar - we all know that sugar, until it is in its most natural form, is bad for people suffering from diabetes. When consumed, refined sugar spikes the blood sugar rapidly. Sometimes even the natural form like honey can cause a sudden spike in the blood sugar levels. So, it's better to avoid refined sugar by all means if you are a diabetic. 


2. Whole grains - grains that have gluten in them should be avoided. Gluten is associated with diabetes as its intake can cause leaky gut leading to inflammation which in turn can lead to auto immune diseases. 


3. Alcohol - alcohol consumption is directly related to diabetes. Alcohol not only damages your liver but also attacks the pancreas that produces insulin. Diabetes is linked with consumption of heavy alcohol which is two to three glasses a day. Beer should especially be avoided as it has a lot of carbohydrates. 


4. Cow's milk - just like whole grains, cow milk can trigger the immune system which can lead to inflammation. Milk coming from sheep and goat is not harmful in fact it helps to maintain the blood sugar level. But the conventional cow milk can be dangerous for you if you are suffering from diabetes. 


5. Gmo foods - gmo foods have the capability to promote diabetes along with causing liver and kidney diseases. Go for products which are labeled as gmo-free. 

What to eat and do 

Cinnamon 

Cinnamon contains a bioactive compound that can help to fight and prevent diabetes. Cinnamon is known to stimulate the insulin activity and thus regulate the blood sugar level. As excess of anything is bad, likewise cinnamon if taken in excess can increase the risk of liver damage due to a compound called coumarin present in it. The true cinnamon, not the one buy from shops (cassia cinnamon) is safer to have.

How to consume cinnamon 

- mix half or one teaspoon of grounded cinnamon with warm water and have it once daily. 

- boil raw cinnamon in 2 glasses of water. Let it cool for 30 minutes and have it daily.

Aloe vera

Aloe vera is easily found in indian households. Though it's bitter in taste, but combing it with buttermilk makes it taste better. Usually, aloe vera is used for beauty purposes but as it has anti-inflammatory properties it can heal the wounds. Due to its anti-inflammatory properties, it is said to control the blood sugar levels. 

Jamun 

Jamun and its leaves have proven to be helpful in lowering the blood sugar levels. Consuming approximately 100 grams of jamun every day is said to show tremendous improvement in your blood sugar levels.

Vitamin c

Vitamin c is not only good for skin but also for diabetes. Recent studies have shown that consuming approximately 600 mg of vitamin c daily can improve the blood sugar level significantly. People who have chronic diabetes should consume foods rich in vitamin c every day. Some foods rich in vitamin c are amla, orange, tomato and blueberry. 

Exercise

One of the main reasons behind type ii diabetes is being overweight. Any kind of physical activity, be it yoga, zumba, aerobics, gymming, playing sports can significantly improve blood sugar level by maintaining your weight. Not only this, walking every day can help to reduce the blood sugar level tremendously. 

3 people found this helpful

भिगोया हुआ चना।

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
भिगोया हुआ चना।

भीगे चने तो आप भी खाते होंगे, लेकिन खाने का तरीका बदलें फिर देखें अपनी बॉडी

  • शास्त्रों में स्वस्थ शरीर को खुदा की तरफ से दिया गया बहुमूल्य वरदान बताया गया है। लेकिन कभी-कभी हम इस भागदौड़ भरी जिंदगी में अपना ख्याल नहीं रख पाते। जिसकी वजह से हमें तमाम तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ जाता है और हमारी शक्ति दिन प्रतिदिन क्षीण होती चली जाती है। परंतु आज भी अगर हम कुछ प्राचीन तरीकों का इस्तेमाल करें तो हम अपनी खोई हुई शक्ति वापस पा सकते हैं। अगर आप भी अपने दिल में शक्तिशाली और सुडौल शरीर की अभिलाषा लिए हुए है तो सुबह उठ कर कच्चे चने का सेवन करना ना भूलेंं।
  • इसके लिए आप शाम को सोते समय तांबे के बर्तन में भरे पानी में चने को डुबोकर रख दें और सुबह होते ही ही उनका सेवन कर ले। चने में ऐसे ख़ास तरह के तत्व होते है जो पानी में मिल कर रासायनिक क्रिया के फलस्वरूप कई तरह के विटामिंस का निर्माण करते है, और ये विटामिन हमारे शरीर में स्फूर्ति भरने और नई ऊर्जा देने में सहायक होते हैं। व्यायाम के बाद सुबह को भीगे हुए चने, चने का पानी सहित नियमित रूप से सेवन करने से आपका स्वास्थ्य बना रहेगा। कहावत भी है खाये चना रहे बना।
  • अंकुरित चना खाना सबसे ज्यादा फायेदमंद है। अंकुरित चना धातु पौष्टिक, मासपेशियों को सुदृढ़ व शरीर को वज्र के सदृश बनाने वाला तथा प्राय: समस्त चर्म रोग नाशक है। विटामिन ‘सी’ की प्रचुरता के कारण यह नाश्ता वजन बढ़ाता है, खून में वृद्धि करता है। इसके इलावा अंकुरित चने का सेवन फेफड़े मजबूत करता है, रक्त में कोलेस्ट्रोल कम करता है और दिल की बीमारियाँ दूर करने में सहायक होता है।
  • दोस्तों पोस्ट पसंद आए तो लाइक और फॉलो जरूर करें क्योंकि हम आपके लिए स्वास्थ्य संबंधित सभी जानकारियां सबसे पहले लाते रहेंगे यदि आपका कोई सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद।
2 people found this helpful

I am 23 years old and getting headache every fifth or sixth day. It is happening for the last 3-4 months. Also my sleeping pattern is altered due to hectic study. Is it migraine or something else. Do I need to medical check up?

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
I am 23 years old and getting headache every fifth or sixth day. It is happening for the last 3-4 months. Also my sle...
Headache is a result of many causes like Heavy work load, eye strain, lose or altered sleep pattern, Gas or acidity etc. Headache frequently, Periodically or in particular period of time shows more chances of migraine. To get rid of migraine one should do following practices -Take proper rest and sleep. -Take plenty of water and juices specially rich in vitamin C n Antioxidants. -Manage stress with Relaxation techniques and meditations. -Relive consultation and gastric trouble if there. -Take Ginger juice 1/2 tsf with 1/2 tsf of honey in morning with empty stomach following by chewing 5 leaf of Tulsi. -checkup of eye sight. For further information or consult privately you are advised to book an appointment. Your feedback will be expected and welcomed. Stay happy n healthy. -
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am having bleeding with clots and foul bleeding with smell frm 3 weeks after d and c process when it would stop n I will get normal periods.

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
I am having bleeding with clots and foul bleeding with smell frm 3 weeks after d and c process when it would stop n I...
3 weeks is a long enough time to stop bleeding but it didn't yet may shows some complications like. -Incomplete Miscarriage -Internal injury During DnC -Chronic Urinary Tract Infections. Information given by you is not enough to Treat or solve problems. It is advised to book an appointment and rewrite in detail for ease to understand Real situation and treat systematically. Your health n feedback matters to us. Have a happy n healthy life ahead.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Since 1 month my 11 year old is complaining about head ache back ache and weakness and even he doesn't eat properly I don't know what's wrong with him many times given medicine please help.

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
Since 1 month my 11 year old is complaining about head ache back ache and weakness and even he doesn't eat properly I...
There are several reasons for headache and weakness like weaken eye sight, stress, Gas n acidity migraine etc. It is highly advisable to consult personally by booking an appointment so we can discuss each and every important things separately and deeply. Have a happy and healthy day. We will look forward for your valuable feedback.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am 22 years old. I have diagnosed with anxiety disorder. I have been taking dulot 60 MG & sizodon since w months once daily. This medication improves my mental condition. Still I am unable to feel emotion. My consultant psychologist recommend fro CBT. I am suffering with this psychiatrist illness since 1 year. How I conquer suicidal thoughts coming to mind every time as I have no emotion attachment with anyone & After taking many medication also my mental condition Is not improving to the expectations. Pls suggest how can I improve my mental condition.

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
I am 22 years old. I have diagnosed with anxiety disorder. I have been taking dulot 60 MG & sizodon since w months on...
You need to start some relaxation techniques like Light Music, Meditation, Pranayam etc. Take Adequate rest and sleep. Take plenty of water and juices specially rich in vitamin C n Antioxidants. It is strongly recommended to consult personally so I can make you understand how to relax tour mind and how to get rid of Dipression without taking medicines. I look forward for your valuable response. Stay happy and healthy.
Submit FeedbackFeedback

Is this possible due to dandruff face affected with small bumps with burning but little in amount with redness on face.

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
Is this possible due to dandruff face affected with small bumps with burning but little in amount with redness on face.
Yes it's possible and happen many of time. Dandruff is a skin problem and it's spreads toward face and neck spontaneously. Do oiling regularly with simple coconut or mustered oil. Take plenty of water and juices specially rich in vitamin C n Antioxidants to make your skin healthy and hydrated. Take diet rich In vitamin E to nourish your scalp and get rid of dandruff and facial problem. For proper and instant relief it's advisable to make and appointment that will train you how to root out dandruff permanently. Your valuable feedback will be expected. Stay happy n healthy.
Submit FeedbackFeedback

I have breathing problem, sneezing,from 4 months just got check up then doctor said that I am suffering from Sinus ,but did not get well after taking medicine from 4 months? What should I do now?

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Ahmedabad
You need to clean your sinus with Yoga, Pranayam and naturopath (Complete Drugless Therapy) for instant and permanent cure of Sinusitis, chronic cold and allergy symptoms. Try to do pranayam Anulom vilom, kapal bhati and jal niti. Avoid cold water and replace it with leukwarm water. Start diet high in vitamin C n Antioxidants like lemon, orange and aamla etc that will boost your immune system and enhance you stamina. For better understanding and Complete Cure I recommend you to book an appointment and consultant privately. I look your response. Wish you Happy and healthy life.
Submit FeedbackFeedback

Hunza Green Tea - A Miracle On Earth

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
Hunza Green Tea - A Miracle On Earth

हुंजा चाय।
हुंजा चाय हुंजा लोगों का पसंदीदा पेय है। ये तुलसी, पुदीना, अदरख, इलाइची, गुड़ और दालचीनी से बनती है। ये सब चीजें एन्टी वायरल, एन्टी बैक्टीरियल और एन्टी एजिंग होती हैं। इस चाय को आप दूध वाली चाय की जगह पी सकते हैं। आप रोजाना दो कप इस चाय के पियें। ये इम्युनिटी स्ट्रांग करेगी, बीमारियों से बचाएगी आपको स्वस्थ रखने में सहायता करेगी। 

हुंजा घाटी पाक अधिकृत कश्मीर के गिलगिट बाल्टिस्तान में पड़ती है। यहां के लोग दुनिया के कुछ सबसे लंबे जीवन जीने वाले लोगों में हैं। ये लोग 110 से 120 साल तक एवरेज जीते हैं। इनकी बहुत सी औरतें 60 65 साल की उम्र में भी बच्चों को जन्म देती हैं। यहां के कुछ लोग 140 साल तक भी जीते हैं। 
यहां के लोग बहुत कम बीमार पड़ते हैं। यहाँ कैंसर जैसी बीमारियां नही होती। 

दुनिया की सबसे “जवान” जनजाति, हुंजा

  • हुंजा गांव हिमालय की पर्वतमाला पर स्थित हैं. इसे दुनिया की छत के नाम से भी जाना जाता है. यह भारत के उत्तरी छोर पर स्थित है जहां से आगे पर भारत, पाकिस्तान, चीन, अफगानिस्तान की सीमाएं मिलती है.
  • हुंजा जनजाति की जनसंख्या लगभग 87 हजार है. यह जनजाति और उनकी जीवन शैली सैकड़ों साल पुरानी लगती है. हुंजा जनजाति के लोग बिना किसी समस्या के कई सालों तक जीवित रहते हैं. कहते हैं इनमें से कई लोग तो 165 साल तक जिंदा रहते हैं. हुंजा जनजाति की खास बात यह है कि यहां के लोग बहुत कम बीमार पड़ते है. ट्यूमर जैसी बीमारी का तो उन्होंने कभी नाम भी नहीं सुना.
  • इन लोगों को देखकर आप ये अंदाजा लगा सकते हैं कि खानपान और अच्छी जीवन शैली लोगों के जीवन को प्रभावित करती है. हुंजा के लोग खूब खुमानी खाते हैं. कुछ लोग इन लोगों को किसी यूरोपीय नस्ल से जोड़ते हैं. वास्तव में यहाँ के लोग गोरे-चिट्टे, जवान, हंसमुख और आसपास की आबादी के बिल्कुल अलग दिखते हैं.
  • हुंजा के लोग शून्य के भी नीचे के तापमान पर बर्फ के ठंडे पानी में नहाते हैं. ये लोग वही खाना खाते हैं जो ये खुद उगाते हैं जैसे कि खुमानी, मेवे, सब्जियां और अनाज में जौ, बाजरा और कूटू. ये कम खाते हैं और पैदल ज्यादा चलते हैं. रोजाना 15 से 20 किलोमीटर तक चलना और टहलना उनकी जीवन शैली में शामिल होता है. साथ ही साथ हँसना भी उनकी जीवन शैली का हिस्सा है.

I am 23 year old. I have constipation problem and before 1 month on a day I felt too much difficulty to passing out stool I put lots off efforts and lots off pressure to passing out stool but after 2 or 3 days I saw some blood on pot after passing out stool for 2 or 3 days not on the regular basic .and I feel sting and small piece of skin or cut I do not what is that but I felt some piece of mass around my anus .qnd I feel sting for long hours after passing out stool .now I am really worried about this .please tell me what should I do.

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
I am 23 year old. I have constipation problem and before 1 month on a day I felt too much difficulty to passing out s...
Chronic constipation may lead to piles or fissures so you should go for immediate n strict interventions. Take plenty of water and juices Take high fiber dirt n fruits like papaya, cabbage, spinach etc Replace your grains to whole grains Take 1tsf of aamla powder at bed time with leukwarm water or milk. You can book an appointment and consultant privately for better benefits Your health n feedback matters to me Stay happy n healthy.
Submit FeedbackFeedback

I want to what should a 19 yr. Girl should eat so that she can have a good and healthy physic and also if didn't eat properly because of the reasons she didn't get hungry so much.

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
I want to what should a 19 yr. Girl should eat so that she can have a good and healthy physic and  also if didn't eat...
You should sleep on time and have 6-8 Hours quality sleep. Eat on schedule time with well balanced diet containing all necessarily nutrients. Do Regular Yoga, Exercise n Pranayam atlist 2-3 times a week. Take plenty of water and juices. For proper diet planning & lifestyle Modification I recommend you to an appointment. You health matters to us.
Submit FeedbackFeedback

Chai Ya Zeher (Tea Or Poison)

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
Chai Ya Zeher (Tea Or Poison)


 एक चाय की प्याली आपको बना रही है बीमार! चाय पीने के नुकसान इतने बड़े है कि चाय से बेहतर होगा इंसान का जहर पीना


1. सुबह उठते ही आपको चाय पीने की एक आदत होगी।
आपको बिना चाय पिए तो जैसे, चैन ही नहीं पड़ता होगा।

2. लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि जो व्यक्ति जितनी ज्यादा चाय पीता है वह उतना ही अधिक बीमार भी होता है।

3. चाय जो यूरोप और अमेरिका जैसे देशों में रहने वाले लोगों के लिए सही है किन्तु गर्म देशों में रहने वाले व्यक्तियों के लिए चाय जहर के समान होती है. गर्म देशों में रहने वाले लोगों के पेट में अम्लीय (एसिडिक) की मात्रा पहले ही अधिक होती है. अब चाय के पीते ही यह और अधिक हो जाती है।

4. इसके कारण से पेट में जलन और सीने में जलन जैसी बीमारियाँ बनने लगती हैं।


5. उसके साथ चाय में उपयोग की गयी चीनी तो आपको बीमार बना रही है. शुगर, दिल की बीमारियाँ, और ब्लडप्रेशर की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है. आप एक प्रयोग भी कीजिये कि जब चाय पी लें तो अपना ब्लडप्रेशर नापें और शुगर को नापें ।


6. चाय पीने के नुकसान इतने भयंकर है कि आप शायद चाय पीना खुद ही छोड़ देंगे।

7. यूरोप में तो चाय के अन्दर ये सफ़ेद चीनी और दूध नहीं डालते हैं. लेकिन वहां की चाय भी हरी पत्तियों वाली होती हैं. भारत में काली चाय एक तरह का कूड़ा है जो गरीबों के बीच भेजी जा रही है।


तो अब हम आपको चाय पीने के नुकसान बताते हैं. शायद तब आप चाय को पीना ही छोड़ देंगे-


1. पेट हो रहा है खराब-----*चाय पीने से आपका पेट पूरी तरह से खराब हो जाता है. आपकी पाचन शक्ति खराब हो जाती है और साथ ही साथ आपके पेट में तेज़ाब बनना शुरू हो जाता है।

2. गैस की समस्या-----* गर्म देशों में चीनी की चाय पीने से गैस की समस्या होने लगती है. वही अम्लीय होने की वजह से आपके शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है. जो गैस और जलन करने लगती है।

3. हाथ पैरों में दर्द की वजह चाय-----* आपके हाथ पैरों में अगर बहुत दर्द होता है तो उसकी वजह चाय ही है. चाय का असर हमारी हड्डियों पर पड़ता है. वह गलने लगती हैं. कम उम्र में ही दर्द होना, सोते वक़्त दर्द होना. यह सब चाय की वजह से ही होता है।

4. ब्लडप्रेशर हाई हो जाता है-----*ठंडे इलाकों में रहने वाले लोगों का ब्लडप्रेशर लो रहता है. लेकिन हमारे यहाँ ऐसा कुछ ही दिन होता है जब अधिक सर्दी होती है. बाकी समय में चाय पीने से हमारा ब्लडप्रेशर तुरंत हाई हो जाता है. अब आपका ब्लडप्रेशर लो है तो आप चाय पि लीजिये लेकिन बाकी लोगों के लिए चाय जहर होती है।

5.केलोस्ट्रोल की मात्रा बढ़ती है------* चाय पीने से शरीर में केलोस्ट्रोल की मात्रा बढ़ जाती है. अर्थात खून में कचरा बढ़ता है और दिल तक खून पहुंचना मुश्किल होने लगता है. बाद में हार्ट प्रोब्लम्स हो जाती हैं।

6.तो अब चाय पीने के नुकसान जानकार आप समझ गये ना कि चाय क्यों एक जहर है?*

7. अब चाय पीने के नुकसान से बचना है और आपको चाय पीनी है तो आप चीनी की जगह गुड़ का उपयोग करें और चाय में दूध ना डालें. साथ ही साथ चाय की हरी पत्तियों का उपयोग करें ना कि काले सूखे कचरे का उपयोग करें ।

8. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अंग्रेजों से पहले देश में चाय की खेती नहीं होती थी।

9. अब अंग्रेज आये तो उन्होंने इस जहर की खेती की. उनको चाय की जरूरत भी थी क्योकि उनका ब्लडप्रेशर लो रहता था।

10.अब अगर आप अब भी चाय पीते हैं तो उससे बेहतर यही है कि आप जहर पीलें क्योकि एक चाय की प्याली ही आपको बहुत-बहुत बीमार बना रही है।


 अब फैसला आपको करना है चाय जहर पीते रहने के लिये क्या क्या होता है आपने पढ ही लिया होगा इस लिये सोचे मत अपने स्वास्थ को निरोगी रखने के लिए आज से त्याग कर देवे ।
 चाय के फायदे आप ने जान ही लिये है अब तो मौका है चाय त्याग करने नही तो चाय ही आप का त्याग कर देगी आप चाय नही त्यागे तो इस लिये आप खुद उसे त्याग देवे ।

 

2 people found this helpful

Gyan, Vigyan N Agyan

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
Vigyan v/s agyan

*वो कुँए का मैला कुचला पानी*
*पिके भी 100 वर्ष जी लेते थे*

*हम RO का शुद्ध पानी पीकर*
*40 वर्ष में बुढे हो रहे है।*

*वो घाणी का मैला सा तैल खाके बुढ़ापे में भी दौड़~मेहनत कर लेते थे।*

*हम डबल~ट्रिपल फ़िल्टर तैल*
*खाकर जवानी में भी हाँफ जाते* है।*

*वो डळे वाला लूण खाके*
*बीमार ना पड़ते थे।*

*हम आयोडीन युक्त खाके*
*हाई~लो बीपी लिये पड़े है।*

*वो निम~बबूल कोयला नमक*
*से दाँत चमकाते थे और 80 वर्ष*
*तक भी चब्बा~चब्बा कर खाते* थे।*

*और हम कॉलगेट सुरक्षा वाले रोज डेंटिस्ट के चक्कर लगाते है ।।*

*वो नाड़ी पकड़ कर*
*रोग बता देते थे और*

*आज जाँचे कराने पर भी*
*रोग नहीं जान पाते है।*

*वो 7~8 बच्चे जन्मने वाली माँ 80 वर्ष की अवस्था में भी* *घर~खेत का काम करती थी।*

*आज 1महीने से डॉक्टर की देख~रेख में रहते है फिर भी बच्चे पेट फाड़ कर जन्मते है।।*

*पहले काळे गुड़ की मिठाइयां*
*ठोक ठोक के खा जाते थे।*

*आजकल तो खाने से पहले ही*
*सुगर की बीमारी हो जाती है।*

*पहले बुजर्गो के भी*
*गोडे मोढे नहीं दुखते थे।*

*जवान भी घुटनो और कन्धों*
*के दर्द से कहराता है ।*

*और भी बहुत सी समस्याये है फिर भी लोग इसे विज्ञान का युग कहते है, समझ नहीं आता ये विज्ञान का युग है या अज्ञान का ?????*

Health Benefits Of Pearl Millet(Bajra)

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
Health Benefits Of Pearl Millet(Bajra)

ज्वार के फ़ायदे और औषधीय गुण

ज्वार एक मोटा अनाज है। ज्वार का रंग पीला, भूरा लाल व सफेद होता है। ज्वार कई सारे पोषक तत्व और फ़ाइबर से भरपूर होता है। इसीलिए इसके सेवन से वज़न घटाने में बहुत मदद मिलती है। अधिकतर लोग ज्वार को पीसकर उसका आटा बनवाते हैं। ज्वार का आटा प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। जो हृदय और मधुमेह रोगियों के लिए फ़ायदेमंद है। ज्वार के फ़ायदे बवासीर और घावों को भरने में भी कारगर हैं। गर्मियों में इसका सेवन शीतलता प्रदान करता है। तो ज्वार और ज्वार की रोटी को अपने भोजन में ज़रूर शामिल करें।

ज्वार के फ़ायदे

1. पोषक तत्व

ज्वार में मिनरल, प्रोटीन, फ़ाइबर, पोटैशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, आयरन और विटमिन बी कॉम्प्लेक्स जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं।

2. दांतों की ख़ास देखभाल के लिए

दांतों की ख़ास देखभाल के लिए ज्वार के दानों का राख बनाकर मंजन करें। इस मंजन को करने से दांत का दर्द बंद हो जाता है तथा मसूढ़ों की सूजन भी समाप्त हो जाती है।

3. वज़न घटाने में मदद करें

ज्वार में बहुत सारा फ़ाइबर पाया जाता है। इसलिए इसे अपने भोजन में ज़रूर शामिल करें। इसे खाने से आपका वज़न नही बढ़ता है और आप मोटापे से भी बचे रहते हैं।

4. कब्ज़ को दूर करें

अगर आपको कब्ज़ की समस्या है तो आज से ही आप अपने खाने में ज्वार की रोटी को शामिल करें। इसे खाने से आपको कब्ज़ की समस्या से निजात मिलता है।

5. शरीर की जलन को दूर करें

अगर शरीर में जलन हो रही हो तो ज्वार का आटा पानी में घोल लें और फिर इस घोल का लेप शरीर पर लगा लें। इससे जलन धीरे धीरे कम हो जाती है।

6. कील व मुहांसों को दूर करें

अक्सर लोग कील मुहांसों को लेकर बहुत परेशान हो जाते हैं। क्योंकि कील मुहांसों के कारण ख़ूबसूरती भी कुछ फ़ीकी पड़ जाती है। तो कील मुहांसों को दूर करने के लिए इस घरेलू उपाय को ज़रूर करें।

घरेलू उपाय – ज्वार के कच्चे दाने पीसकर उसमें थोड़ा कत्था व चूना मिलाकर कील व मुहांसों पर लगाए, इससे कील मुहांसे गायब हो जाएंगे।

7. पेट की जलन शांत करें

भुनी ज्वार बताशे के साथ खाने से पेट की जलन शांत हो जाती है।

8. मासिक धर्म के विकार को दूर करें

मासिक धर्म के दर्द या कोई अन्य समस्याओं में ज्वार के फ़ायदे होते हैं। ज्वार के भुट्टे को जलाकर छान लें। इस राख को 3 ग्राम मात्रा में लेकर पानी के साथ सुबह के समय खाली पेट सेवन करें। इस उपाय को मासिक-धर्म शुरू होने से लगभग एक सप्ताह पहले करें और जब मासिक-धर्म शुरू हो जाए तो इसका सेवन बन्द कर दें। इससे मासिक धर्म के सभी विकार नष्ट हो जाते हैं।

9. प्यास अधिक लगने पर

अगर प्यास अधिक सताए तो गरमागरम ज्वार की रोटी बनाएं और इस रोटी को छाछ में भिगोकर खाने से प्यास कम लगती है।

सावधानी

ज्वार की रोटी कमज़ोर और वात पित्त के रोगी को न दें और अगर ज्वार की रोटी थोड़ी खाने को दे तो ज्वार के संग गुलकन्द मिलाकर दें। गुलकंद मिलाकर ज्वार की रोटी का सेवन करने से ज्वार के दोष दूर हो जाते हैं।

3 people found this helpful

आइये समाज में फैले कु्छ षड्यंत्रों पर प्रकाश डालें!

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
आइये समाज में फैले कु्छ षड्यंत्रों पर प्रकाश डालें!

आइये समाज में फैले कु्छ षड्यंत्रों पर प्रकाश डालें:-


अर्धसत्य ---फलां फलां तेल में कोलेस्ट्रोल नहीं होता है!

पूर्णसत्य --- किसी भी तेल में कोलेस्ट्रोल नहीं होता ये केवल यकृत में बनता है । ✅

अर्धसत्य ---सोयाबीन में भरपूर प्रोटीन होता है!

पूर्णसत्य---सोयाबीन सूअर का आहार है मनुष्य के खाने लायक नहीं है! भारत में अन्न की कमी नहीं है, इसे सूअर आसानी से पचा सकता है, मनुष्य नही! जिन देशों में 8 -9 महीने ठण्ड रहती है वहां सोयाबीन जैसे आहार चलते है । ✅

अर्धसत्य---घी पचने में भारी होता है

पूर्णसत्य---बुढ़ापे में मस्तिष्क, आँतों और संधियों (joints) में रूखापन आने लगता है, इसलिए घी खाना बहुत जरुरी होता है!और भारत में घी का अर्थ देशी गाय के घी से ही होता है । ✅

अर्धसत्य---घी खाने से मोटापा बढ़ता है!

पूर्णसत्य---(षड्यंत्र प्रचार) ताकि लोग घी खाना बंद कर दें और अधिक से अधिक गाय मांस की मंडियों तक पहुंचे, जो व्यक्ति पहले पतला हो और बाद में मोटा हो जाये वह घी खाने से पतला हो जाता है✅

अर्धसत्य---घी ह्रदय के लिए 
 हानिकारक है!

पूर्णसत्य---देशी गाय का घी हृदय के लिए अमृत है, पंचगव्य में इसका स्थान है । ✅

अर्धसत्य---डेयरी उद्योग दुग्ध 
 उद्योग है!

पूर्णसत्य---डेयरी उद्योग -मांस उद्योग है! यंहा बछड़ो और बैलों को, कमजोर और बीमार गायों को, और दूध देना बंद करने पर स्वस्थ गायों को कत्लखानों में भेज दिया जाता है! दूध डेयरी का गौण उत्पाद है । ✅

अर्धसत्य---आयोडाईज नमक से 
 आयोडीन की कमी पूरी 
 होती है!

पूर्णसत्य---आयोडाईज नमक का  कोई इतिहास नहीं है, ये  पश्चिम का कंपनी षड्यंत्र  है आयोडाईज नमक में  आयोडीन नहीं पोटेशियम  आयोडेट होता है जो भोजन  पकाने पर गर्म करते समय  उड़ जाता है स्वदेशी जागरण  मंच के विरोध के फलस्वरूप  सन्2000 में भाजपा सरकार 
 ने ये प्रतिबन्ध हटा लिया था,  लेकिन कांग्रेस ने सत्ता में आते  ही इसे फिर से लगा दिया ताकि  लूट तंत्र चलता रहे और विदेशी कम्पनियाँ पनपती रहे । ✅

अर्धसत्य--- शक्कर (चीनी) का  कारखाना!

पूर्णसत्य--- शक्कर (चीनी) का  कारखाना इस नाम की आड़  में चलने वाला शराब का  कारखाना शक्कर इसका 
 गौण उत्पाद है । ✅

अर्धसत्य---शक्कर (चीनी) सफ़ेद  जहर है!

पूर्णसत्य--- रासायनिक प्रक्रिया के  कारण कारखानों में बनी  सफ़ेद शक्कर(चीनी) जहर  है! पम्परागत शक्कर  एकदम सफ़ेद नहीं होती! थोडा हल्का भूरा रंग लिए  होती है! ✅ 

अर्धसत्य--- फ्रिज में आहार ताज़ा  होता है!

पूर्णसत्य--- फ्रिज में आहार ताज़ा  दिखता है पर होता नहीं है जब फ्रिज का अविष्कार  नहीं हुआ था तो इतनी  देर रखे हुए खाने को  बासा / सडा हुआ खाना  कहते थे । ✅

अर्धसत्य--- चाय से ताजगी आती है!

पूर्णसत्य--- ताजगी गरम पानी से  आती है! चाय तो केवल  नशा(निकोटिन) है । ✅

अर्धसत्य---एलोपैथी स्वास्थ्य 
 विज्ञान है!

पूर्णसत्य---एलोपैथी स्वास्थ्य विज्ञानं 
 ✅ नहीं चिकित्सा विज्ञान है!

अर्धसत्य---एलोपैथी विज्ञानं ने बहुत  तरक्की की है!

पूर्णसत्य--- दवाई कंपनियों ने बहुत  तरक्की की है! एलोपैथी में  मूल दवाइयां 480-520 है जबकि बाज़ार में 1 लाख  से अधिक दवाइयां बिक  रही है ।✅

अर्धसत्य--- बैक्टीरिया वायरस के  कारण रोग होते हैं!

पूर्णसत्य--- शरीर में बैक्टीरिया  वायरस के लायक  वातावरण तैयार होने पर  रोग होते हैं! ✅

अर्धसत्य--- भारत में लोकतंत्र है! जनता के हितों का ध्यान  रखने वाली जनता द्वारा  चुनी हुई सरकार है!

पूर्णसत्य--- भारत में लोकतंत्र नहीं  कंपनी तन्त्र है बहुत से  सांसद, मंत्री, प्रशासनिक  अधिकारी कंपनियों के  दलाल हैं उनकी भी  नौकरियां करते हैं उनके  अनुसार नीतियाँ बनाते  हैं, वे जनहित में नहीं  कंपनी हित में निर्णय लेते  हैं! भोपाल गैस कांड से  बड़ा उदहारण क्या हो 
 सकता है!जंहा एक  अपराधी मुख्यमंत्री और  प्रधानमंत्री के आदेशानुसार  फरार हो सका! लोकतंत्र  होता तो उसे पकड के  वापस लोटाते । ✅ 

अर्धसत्य--- आज के युग में  मार्केटिंग का बहुत  विकास हो गया है!

पूर्णसत्य--- मार्केटिंग का नहीं ठगी  का विकास हो गया है! माल गुणवत्ता के आधार  पर नहीं विभिन्न प्रलोभनों  व जुए के द्वारा बेचा जाता  है! जैसे क्रीम गोरा बनाती  है!भाई कोई भैंस को गोरा  बना के दिखाओ! ✅

अर्धसत्य--- टीवी मनोरंजन के लिए  घर घर तक पहुँचाया  गया है!

पूर्णसत्य--- जब टी वी नहीं था तब  लोगों का जीवन देखो और  आज देखो जो आज इन्टरनेट  पर बैठे सुलभता से जीवन जी  रहे हैं!उन्हें अहसास नहीं होगा  कंपनियों का माल बिकवाने  और परिवार व्यवस्था को  तोड़ने, इसाईवाद का प्रचार  करने के लिए टी वी घर घर  तक पहुँचाया जाता है! ✅

अर्धसत्य--- टूथपेस्ट से दांत साफ  होते हैं!

पूर्णसत्य--- टूथपेस्ट करने वाले  यूरोप में हर तीन में से एक  के दांत ख़राब हैं दंतमंजन  करने से दांत साफ होते हैं  मंजन -मांजना, क्या बर्तन  ब्रश से साफ होते हैं?  मसूड़ों की मालिश करने से  दांतों की जड़ें मजबूत भी  होती हैं! ✅

अर्धसत्य--- साबुन मैल साफ कर  त्वचा की रक्षा करता है!

पूर्णसत्य--- साबुन में स्थित केमिकल  (कास्टिक सोडा, एस. एल.  एस.) और चर्बी त्वचा को  नुकसान पहुंचाते हैं, और  डाक्टर इसीलिए चर्म रोग  होने पर साबुन लगाने से  मना करते हैं! साबुन में गौ  की चर्बी पाए जाने पर  विरोध होने से पहले  हिंदुस्तान लीवर हर साबुन  में गाय की चर्बी का 
 उपयोग करती थी। ✅

किडनी को साफ़ करें वह भी सिर्फ 5 रुपये में।

✅ हमारी किडनी एक बेहतरीन फिल्टर हैं जो सालों से हमारे खून की गंदगी को साफ़ करने का काम करती हैं मगर हर फिल्टर की तरह इसको भी साफ़ करने की जरूरत हैं ताकि ये और भी अच्छा काम करें। आज हम आपको बता रहे हैं इसकी सफाई के बारे में और वह भी सिर्फ 5 रुपये में। 

 ✅ एक मुट्ठी भर धनिया लीजिए इसको छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें और अच्छी तरह धुलाई कर ले। फिर एक बर्तन में १ लीटर पानी डाल कर इन टुकड़ों को डाल दे, 10 मिनट तक धीमी आँच पर पकने दे, बस अब इसको छान लें और ठंडा होने दो अब इस ड्रिंक को हर रोज़ एक गिलास खाली पेट पिएँ। आप देखेंगे के आपके पेशाब के साथ सारी गंदगी बाहर आ रही हैं। ✅

Note: - इसके साथ थोड़ी से अजवायन डाल लें तो सोने पे सुहागा हो जाए। 

अब समझ आया कि हमारी माँ अक्सर धनिये की चटनी क्यों बनाती थी और हम आज उनको old fashion कहते हैं।

 

Wheat Grass Juice!

Diploma in Naturopathy & Yogic Science (DNYS), bachelor Of Science in Nursing
Yoga & Naturopathy Specialist, Gandhinagar
Wheat Grass Juice!

Wheat grass juice is one of the best boon of nature. (prakrati ka ek adbhut vardaan)

2 people found this helpful
View All Feed