R Par Suspension Tips

Paracetamol - How It Works On Your Body?

Dr.Amitkumar Gaud 91% (97ratings)
MD - Internal Medicine
General Physician, Nashik
Paracetamol - How It Works On Your Body?

Paracetamol is one of the most commonly consumed medicine to deal with minor pain, body ache, headache, fever etc. It can also be used for getting temporary relief from arthritis pain. This is readily available over the counter and can be obtained without a prescription. The dosage is available in the form of syrup, powder, solution, tablet, suspension, suppository etc.

Considerations to make before consuming paracetamol:
The risk of the medicine must be considered before consuming it. The health care professional should be reported for any allergy related problems. For a person facing allergy, one should carefully read the label before consuming it. Interaction of 2 paracetamol can prove to be fatal sometimes. The dosage, therefore, of these medicines should be consulted with the doctor. This being said, there are certain medicines which act best when they are consumed together. The outcome of the effect is based on the disease one is facing. The effectivity of this medicine can get influenced if the patient has a history of abusing alcohol, suffered from liver and kidney diseases in the past etc.

Proper use of paracetamol:
Paracetamol should be consumed with care. Prolonged consumption can damage the liver. The maximum dosage of this medicine should not exceed 3k milligrams in a day. This can be consumed before or after the consumption of food. Paracetamol in the form of syrup should be shaken well before use. There should be a minimum time span of 4-6 hours between two dosages of paracetamol. In the case of a missed dosage, the medicine should be taken as early as possible. It does not prove to be fatal in case a dosage is missed. Finally, it should be ensured that paracetamol is stored at room temperature and freezing is avoided.

Precautions:
It is of utmost importance to check the progress of the patient in case one is consuming paracetamol. During the process of consuming paracetamol, symptoms such as dark urine, stomach ache, nausea, weakness etc should be immediately reported to the stomach. For patients suffering from diabetes, any drastic change in the blood sugar level due to the consumption of paracetamol should be immediately reported to the doctor.

Side effects:
Certain rare side-effects of paracetamol include lower back pain, bruising, fever, cloudy urine, tarry stools, yellowish skin, bruising, skin rash, itching etc. Some common symptoms of overdosage of paracetamol include increased sweating, tenderness, swelling and pain in the lower abdomen area, vomiting and nausea, diarrhea, appetite loss, increased thrust etc. If any of these symptoms are faced during the consumption of paracetamol are reported, a healthcare professional should be immediately consulted to avoid any further complication. Frequent usage should also be avoided. If you wish to discuss about any specific problem, you can consult a General Physician.

In case you have a concern or query, you can always consult the best general physicians online & get answers to your question via online doctor consultation.

 

9844 people found this helpful

Study Suggests Paracetamol Can Alter Fertility of Female Offspring!

Dr.Garima Sharma 92% (463ratings)
MBBS
General Physician, Fatehabad
Study Suggests Paracetamol Can Alter Fertility of Female Offspring!

As per a study conducted by the Copenhagen University Hospital, it was revealed that consuming paracetamol during pregnancy can be detrimental for your baby, as it can weaken the development of the reproductive system of female offspring. The research was published in Endocrine Connections journal.

Although, paracetamol is an over-the-counter treatment for pain relief that is commonly taken by pregnant women worldwide. The study was conducted on three individual rodents and the results indicated that the rodents, who were given paracetamol during pregnancy at doses equivalent to those that of a pregnant woman may take for pain relief, produced female offspring with fewer eggs.

Further, Dr. Kristensen said, "Although this may not be a severe impairment to fertility, it is still of real concern since data from three different labs all independently found that paracetamol may disrupt female reproductive development in this way, which indicates further investigation is needed to establish how this affects human fertility."
 

10 people found this helpful

Avoid The Ban Medicines To Be Safe

Dr.Sumit Gupta 87% (17ratings)
BHMS
Homeopathy Doctor, Singrauli
Avoid The Ban Medicines To Be Safe

Govt bans 344 drugs, including phensedyl, corex
Sr. No. Product name (irrational fdc) 
1 aceclofenac + paracetamol + rabeprazole
2 nimesulide + diclofenac
3 nimesulide + cetirizine + caffeine
4 nimesulide + tizanidine
5 paracetamol + cetirizine + caffeine
6 diclofenac + tramadol + chlorzoxazone
7 dicyclomine + paracetamol + domperidone
8 nimesulide + paracetamol
9 paracetamol + phenylephrine + caffeine
10 diclofenac+ tramadol + paracetamol
11 diclofenac + paracetamol + chlorzoxazone + famotidine
12 naproxen + paracetamol
13 nimesulide + serratiopeptidase
14 paracetamol + diclofenac + famotidine
15 nimesulide + pifofenone + fenpiverinium + benzyl alcohol
16 omeprazole + paracetamol + diclofenac
17 nimesulide + paracetamol injection
18 tamsulosin + diclofenac
19 paracetamol + phenylephrine + chlorpheniramine + dextromethorphan + caffeine
20 diclofenac + zinc carnosine
21 diclofenac + paracetamol + chlorpheniramine maleate + magnesium trisillicate
22 paracetamol + pseudoephedrine + cetrizine
23 phenylbutazone + sodium salicylate
24 lornoxicam + paracetamol + trypsin
25 paracetamol + mefenamic acid + ranitidine + dicylomine
26 nimesulide + dicyclomine
27 heparin + diclofenac
28 glucosamine + methyl sulfonyl methane + vitamini d3 + maganese + boron + copper + zinc
29 paracetamol + tapentadol
30 tranexamic acid + proanthocyanidin
31 benzoxonium chloride + lidocaine
32 lornoxicam + paracetamol + tramadol
33 lornoxicam + paracetamol + serratiopeptidase
34 diclofenac + paracetamol + magnesium trisilicate
35 paracetamol + domperidone + caffeine
36 ammonium chloride + sodium citrate + chlorpheniramine maleate + menthol
37 paracetamol + prochlorperazine maleate
38 serratiopeptidase (enteric coated 20000 units) + diclofenac potassium & 2 tablets of doxycycline
39 nimesulide + paracetamol suspension
40 aceclofenac + paracetamol + famotidine
41 aceclofenac + zinc carnosine
42 paracetamol + disodium hydrogen citrate + caffeine
43 paracetamol + dl methionine
44 disodium hydrogen citrate + paracetamol
45 paracetamol + caffeine + codeine
46 aceclofenac (sr) + paracetamol
47 diclofenac + paracetamol injection
48 azithromycin + cefixime
49 amoxicillin + dicloxacillin
50 amoxicillin 250 mg + potassium clavulanate diluted 62.5 mg
51 azithromycin + levofloxacin
52 cefixime + linezolid
53 amoxicillin + cefixime + potassium clavulanic acid
54 ofloxacin + nitazoxanide
55 cefpodoxime proxetil + levofloxacin
56 azithromycin, secnidazole and fluconazole kit
57 levofloxacin + ornidazole + alpha tocopherol acetate
58 nimorazole + ofloxacin
59 azithromycin + ofloxacin
60 amoxycillin + tinidazole
61 doxycycline + serratiopeptidase
62 cefixime + levofloxacin
63 ofloxacin + metronidazole + zinc acetate
64 diphenoxylate + atropine + furazolidonee
65 fluconazole tablet, azithromycin tablet and ornidazole tablets
66 ciprofloxacin + phenazopyridine
67 amoxycillin + dicloxacillin + serratiopeptidase
68 azithromycin + cefpodoxime
69 lignocaine + clotrimazole + ofloxacin + beclomethasone
70 cefuroxime + linezolid
71 ofloxacin + ornidazole + zinc bisglycinate
72 metronidazole + norfloxacin
73 amoxicillin + bromhexine
74 ciprofloxacin + fluticasone + clotrimazole + neomycin is
75 metronidazole + tetracycline
76 cephalexin + neomycin + prednisolone
77 azithromycin + ambroxol
78 cilnidipine + metoprolol succinate + metoprolol tartrate
79 l-arginine + sildenafil
80 atorvastatin + vitamin d3 + folic acid + vitamin b12 + pyridoxine
81 metformin + atorvastatin
82 clindamycin + telmisartan
83 olmesartan + hydrochlorothiazide + chlorthalidone
84 l-5-methyltetrahydrofolate calcium + escitalopram
85 pholcodine + promethazine
86 paracetamol + promethazine
87 betahistine + ginkgo biloba extract + vinpocetine + piracetam
88 cetirizine + diethyl carbamazine
89 doxylamine + pyridoxine + mefenamic acid + paracetamol
90 drotaverine + clidinium + chlordiazepoxide
91 imipramine + diazepam
92 flupentixol + escitalopram
93 paracetamol + prochloperazine
94 gabapentin + mecobalamin + pyridoxine + thiamine
95 imipramine + chlordiazepoxide + trifluoperazine + trihexyphenidyl
96 chlorpromazine + trihexyphenidyl
97 ursodeoxycholic acid + silymarin
98 metformin 1000/1000/500/500mg + pioglitazone 7.5/7.5/7.5/7.5mg + glimepiride
99 gliclazide 80 mg + metformin 325 mg
100 voglibose+ metformin + chromium picolinate
101 pioglitazone 7.5/7.5mg + metformin 500/1000mg
102 glimepiride 1mg/2mg/3mg + pioglitazone 15mg/15mg/15mg + metformin 1000mg/1000mg/1000mg
103 glimepiride 1mg/2mg+ pioglitazone 15mg/15mg + metformin 850mg/850mg
104 metformin 850mg + pioglitazone 7.5 mg + glimepiride 2mg
105 metformin 850mg + pioglitazone 7.5 mg + glimepiride 1mg
106 metformin 500mg/500mg+gliclazide sr 30mg/60mg + pioglitazone 7.5mg/7.5mg
107 voglibose + pioglitazone + metformin
108 metformin + bromocriptine
109 metformin + glimepiride + methylcobalamin
110 pioglitazone 30 mg + metformin 500 mg
111 glimepiride + pioglitazone + metformin
112 glipizide 2.5mg + metformin 400 mg
113 pioglitazone 15mg + metformin 850 mg
114 metformin er + gliclazide Mr. + voglibose
115 chromium polynicotinate + metformin
116 metformin + gliclazide + piogllitazone + chromium polynicotinate
117 metformin + gliclazide + chromium polynicotinate
118 glibenclamide + metformin (sr)+ pioglitazone
119 metformin (sustainded release) 500mg + pioglitazone 15 mg + glimepiride 3mg
120 metformin (sr) 500mg + pioglitazone 5mg
121 chloramphenicol + beclomethasone + clomitrimazole + lignocaine
122 of clotrimazole + ofloxaxin + lignocaine + glycerine and propylene glycol
123 chloramphennicol + lignocaine + betamethasone + clotrimazole + ofloxacin + antipyrine
124 ofloxacin + clotrimazole + betamethasone + lignocaine
125 gentamicin sulphate + clotrimazole + betamethasone + lignocaine
126 clotrimazole + beclomethasone + ofloxacin + lignocaine
127 becloemthasone + clotrimazole + chloramphenicol + gentamycin + lignocaine ear
128 flunarizine + paracetamole + domperidone
129 rabeprazole + zinc carnosine
130 magaldrate + famotidine + simethicone
131 cyproheptadine + thiamine
132 magaldrate + ranitidine + pancreatin + domperidone
133 ranitidine + magaldrate + simethicone
134 magaldrate + papain + fungul diastase + simethicone
135 rabeprazole + zinc + domperidone
136 famotidine + oxytacaine + magaldrate
137 ranitidine + domperidone + simethicone
138 alginic acid + sodium bicarbonate + dried aluminium hydroxide + magnesium hydroxide
139 clidinium + paracetamol + dicyclomine + activated dimethicone
140 furazolidone + metronidazole + loperamide
141 rabeprazole + diclofenac + paracetamol
142 ranitidine + magaldrate
143 norfloxacin+ metronidazole + zinc acetate
144 zinc carnosine + oxetacaine
145 oxetacaine + magaldrate + famotidine
146 pantoprazole (as enteric coated tablet) + zinc carnosine (as film coated tablets)
147 zinc carnosine + magnesium hydroxide + dried aluminium hydroxide + simethicone
148 zinc carnosine + sucralfate
149 mebeverine & inner hpmc capsule (streptococcus faecalis + clostridium butyricum + bacillus
Mesentricus + lactic acid bacillus)
150 clindamycin + clotrimazole + lactic acid bacillus

151 sildenafil + estradiol valerate
152 clomifene citrate + ubidecarenone + zinc + folic acid + methylcobalamin + pyridoxine + lycopene
+ selenium + levocarnitine tartrate + l-arginine
153 thyroxine + pyridoxine + folic acid
154 gentamycin + dexamethasone + chloramphenicol + tobramycin + ofloxacin
155 dextromethorphan + levocetirizine + phenylephrine + zinc
156 nimesulide + loratadine + phenylephrine + ambroxol
157 bromhexine + phenylephrine + chlorepheniramine maleate
158 dextromethorphan + bromhexine + guaiphenesin
159 paracetamol + loratadine + phenylephrine + dextromethorphan + caffeine
160 nimesulide + phenylephrine + caffeine + levocetirizine
161 azithromycin + acebrophylline
162 diphenhydramine + terpine + ammonium chloride + sodium chloride + menthol
163 nimesulide + paracetamol + cetirizine + phenylephrine
164 paracetamol + loratadine + dextromethophan + pseudoepheridine + caffeine
165 chlorpheniramine maleate + dextromethorphan + dextromethophan + guaiphenesin + ammonium
Chloride + menthol
166 chlorpheniramine maleate + ammonium chloride + sodium citrate
167 cetirizine + phenylephrine + paracetamol + zinc gluconate
168 ambroxol
+ guaiphenesin + ammonium chloride + phenylephrine + chlorpheniramine maleate + menthol
169 dextromethorphen + bromhexine + chlorpheniramine maleate + guaiphenesin
170 levocetirizine + ambroxol + phenylephrine + guaiphenesin
171 dextromethorphan + chlorpheniramine + chlorpheniramine maleate 
172 cetirizine + ambroxol + guaiphenesin + ammonium chloride + phenylephrine +
Menthol
173 hlorpheniramine + phenylephrine + caffeine
174 dextromethorphan + triprolidine + phenylephrine
175 dextromethorphan + phenylephrine + zinc gluconate + menthol
176 chlorpheniramine + codeine + sodium citrate + menthol syrup
177 enrofloxacin + bromhexin
178 bromhexine + dextromethorphan + phenylephrine + menthol
179 levofloxacin + bromhexine
180 levocetirizine + phenylephrine + ambroxol + guaiphenesin + paracetamol
181 cetirizine + dextromethorphan + phenylephrine + zinc gluconate + paracetamol + menthol
182 paracetamol + pseudoephedrine + dextromethorphan+cetirizine
183 diphenhydramine + guaiphenesin + ammonium chloride + bromhexine
184 chlorpheniramine + dextromethorphan + phenylephrine + paracetamol
185 dextromethorphen + promethazine
186 diethylcabamazine citrate + cetirizine + guaiphenesin
187 chlorpheniramine + phenylephrine + dextromethophan + menthol
188 ambroxol + terbutaline + dextromethorphan
189 dextromethorphan + chlorpheniramine + guaiphenesin
190 terbutaline + bromhexine + guaiphenesin + dextromethorphan
191 dextromethorphan + tripolidine + phenylephirine
192 paracetamol + dextromethorphan + chlorpheniramine
193 codeine + levocetirizine + menthol
194 dextromethorphan + ambroxol + guaifenesin + phenylephrine + chlorpheniramine
195 cetirizine + phenylephrine + dextromethorphan + menthol
196 roxithromycin + serratiopeptidase
197 paracetamol + phenylephrine + triprolidine
198 cetirizine + acetaminophen + dextromethorphan + phenyephrine + zinc gluconate 
199 diphenhydramine + guaifenesin + bromhexine + ammonium chloride + menthol
200 chlopheniramine maleate + codeine syrup
201 cetirizine + dextromethorphan + zinc gluconate + menthol
202 paracetamol + phenylephrine + desloratadine + zinc gluconate + ambroxol
203 levocetirizine + montelukast + acebrophylline
204 dextromethorphan + phenylephrine + ammonium chloride + menthol
205 acrivastine + paracetamol + caffeine + phenylephrine
206 naphazoline + carboxy methyl cellulose + menthol + camphor + phenylephrine
207 dextromethorphan + cetirizine
208 nimesulide + paracetamol + levocetirizine + phenylephrine + caffeine
209 terbutaline + ambroxol + guaiphenesin + zinc + menthol
210 dextromethorphan + phenylephrine + guaifenesin + triprolidine
211 ammomium chloride + bromhexine + dextromethorphan 
212 diethylcarbamazine + cetirizine + ambroxol
213 ethylmorphine + noscapine + chlorpheniramine
214 cetirizine + dextromethorphan + ambroxol
215 ambroxol + guaifenesin + phenylephrine + chlorpheniramine
216 paracetamol + phenylephrine + chlorpheniramine + zinc gluconate
217 dextromethorphan + phenylephrine + cetirizine + paracetamol + caffeine
218 dextromethophan + chlorpheniramine + guaifenesin + ammonium chloride
219 levocetirizine + dextromethorphan + zinc
220 paracetamol + phenylephrine + levocetirizine + caffeine
221 chlorphaniramine + ammonium chloride + sodium chloride
222 paracetamol + dextromethorphan + bromhexine + phenylephrine + diphenhydramine
223 salbutamol + bromhexine + guaiphenesin + menthol
224 cetirizine + dextromethorphan + bromhexine + guaifenesin
225 diethyl carbamazine + chlorpheniramine + guaifenesin
226 ketotifen + cetirizine
227 terbutaline + bromhexine + etofylline
228 ketotifen + theophylline
229 ambroxol + salbutamol + theophylline
230 cetririzine + nimesulide + phenylephrine
231 chlorpheniramine + phenylephrine + paracetamol + zink gluconate
232 acetaminophen + guaifenesin + dextromethorphan + chlorpheniramine
233 cetirizine + dextromethorphan + phenylephrine + tulsi
234 cetirizine + phenylephrine + paracetamol + ambroxol + caffeine
235 guaifenesin + dextromethorphan
236 levocetirizine + paracetamol + phenylephirine + caffeine
237 caffeine + paracetamol + phenylephrine + chlorpheniramine
238 levocetirizine + paracetamol + phenylephirine + caffeine
239 caffeine + paracetamol + phenylephrine + chlorpheniramine
240 ketotifen + levocetrizine
241 paracetamol + levocetirizine + phenylephirine + zink gluconate
242 paracetamol + phenylephrine + triprolidine + caffeine
243 caffeine + paracetamol + phenylephrine + cetirizine
244 caffeine + paracetamol + chlorpheniramine
245 ammonium chloride + dextromethorphan + cetirizine + menthol
246 dextromethorphan + paracetamol + cetirizine + phenylephrine
247 chlorpheniramine + terpin + antimony potassium tartrate + ammonium chloride + sodium
Citrate + menthol
248 terbutaline + etofylline + ambroxol
249 paracetamol + codeine + chlorpheniramine
250 paracetamol+pseudoephedrine+certirizine+caffeine
251 chlorpheniramine+ammonium chloride + menthol
252 n-acetyl cysteine + ambroxol + phenylephrine + levocertirizine
253 dextromethorphan + phenylephrine + tripolidine + menthol
254 salbutamol + certirizine + ambroxol
255 dextromethorphan + phenylephrine + bromhexine + guaifenesin + chlorpheniramine
256 nimesulide + certirizine + phenylephrine
257 naphazoline + chlorpheniramine + zinc sulphate + boric acid + sodium chloride + chlorobutol
258 paracetamol + bromhexine + phenylephrine + chlorpheniramine + guaifenesin
259 salbutamol + bromhexine
260 dextromethorphan + phenylephrine + guaifenesin + certirizine + acetaminophen
261 guaifenesin + bromhexine + chlorpheniramine + paracetamo
262 chlorpheniramine + ammonium chloride + chloroform + menthol
263 salbutamol + choline theophylinate + ambroxol
264 chlorpheniramine + codeine phosphate + menthol syrup
265 pseudoephedrine + bromhexine
266 certirizine + phenylephrine + paracetamol + caffeine + nimesulide
267 dextromethorphan + cetirizine + guaifenesin + ammonium chloride
268 dextromethorphan + cetirizine + guaifenesin + ammonium chloride
269 ambroxol + salbutamol + choline theophyllinate + menthol
270 paracetamol + chlorpheniramine + ambroxol + guaifenesin + phenylephrine
271 chlorpheniramine + vasaka + tolubalsm + ammonium chloride + sodium citrate + menthol
272 bromhexine + cetrizine + phenylephrine ip+guaifenesin + menthol
273 dextromethorphan + ambroxol + ammonium chloride + chlorpheniramine + menthol
274 dextromethorphan + phenylephrine + cetirizine + zinc + menthol
275 terbutaline + n-acetyl l-cysteine + guaifenesin
276 calcium gluconate + levocetirizine
277 paracetamol + levocetirizine + pseudoephedrine
278 salbutamol + choline theophylinate + carbocisteine
279 chlorpheniramine + vitamin c
280 calcium gluconate + chlorpheniramine + vitamin c
281 chlorpheniramine + paracetamol + pseudoephedrine + caffeine
282 guaifenesin + bromhexine + chlorpheniramine + phenylephrine + paracetamol + serratiopeptidase
(as enteric coated granules) 10000 sp units
283 paracetamol + pheniramine
284 betamethasone + fusidic acid + gentamycin + tolnaftate + lodochlorhydroxyquinoline (ichq
285 clobetasol + ofloxacin + miconazole + zinc sulphate
286 clobetasole + gentamicin + miconazole + zinc sulphate
287 levocetirizine + ambroxol + phenylephrine + paracetamol
288 permethrin + cetrimide + menthol
289 beclomethasone + clotimazole + neomycin + lodochlorohydroxyquinone
290 neomycin + doxycycline
291 ciprofloxacin + fluocinolone + clotrimazole + neomycin + chlorocresol
292 clobetasol + ofloxacin + ketoconazol + zinc sulphate
293 betamethasone + gentamicin + tolnaftate + lodochlorhydroxyquinoline
294 clobetasol + gentamicin + tolnaftate + lodochlorhydroxyquinone + ketoconazole
295 allantoin + dimethieone + urea + propylene + glycerin + liquid paraffin
296 acriflavine + thymol + cetrimide
297 betamethasone + neomycin + tolnaftate + lodochlorohydroxyquinoline + cholorocresol
298 clobetasol + neomycin + miconazole + clotrimazole
299 ketoconazole + tea tree oil + allantion + zinc oxide + aloe vera + jojoba oil +
Lavander oil + soa noodels
300 clobetasol propionate + ofloxacin + ornidazole + terbinafine
301 clobetasol + neomycin + miconazole + zinc sulphate
302 beclomethasone diproprionate + neomycin + tolnaftate + lodochlorhydroxyquinoline +
Chlorocresol
303 betamethasone + gentamycin + zinc sulphate + clotrimoazole + chlorocresol
304 borax + boric acid + naphazoline + menthol + camphor + methyl hydroxy benzoate
305 bromhexine + dextromethorphan
306 dextromethophan + chlopheniramine + bromhexine
307 menthol + anesthetic ether
308 dextrometharphan + chlopheniramine + ammonium + sodium citrate + menthol
309 ergotamine tartrate + belladona dry extarct+caffeine + paracetamol
310 phenytoin + phenobarbitone
311 gliclazide 40mg + metformin 400mg
312 paracetamol + ambroxol + phenylephrine + chlorpheniramine
313 oflaxacin + ornidazole suspension
314 albuterol + etofylline + bromhexine + menthol
315 albuterol + bromhexine + theophylline
316 salbutamol+hydroxyethyltheophylline (etofylline) + bromhexine
317 paracetamol+phenylephrine+levocetirizine+sodium citrate
318 paracetamol + propyphenazone + caffeine
319 guaifenesin + diphenhydramine + bromhexine + phenylephrine
320 dried alumnium hydroxie gel + prophantheline + diazepam
321 bromhenxine + phenylephrine + chlorpheniramine + paracetamol
322 beclomethasone + clotrimazole + gentamicin + lodochlorhydroxyquinoline
323 telmisartan + metformin
324 ammonium citrate + vitamin b 12 + folic acid + zinc sulphate
325 levothyroxine + phyridoxine + nicotinamide
326 benfotiamine + metformin
327 thyroid + thiamine + riboflavin + phyridoxine + calcium pantothenate + tocopheryl acetate +
Nicotinamide
328 ascorbic acid + manadione sodium bisulphate + rutin + dibasic calcium phosphate +
Adrenochrome mono semicarbazone
329 phenylephrine + chlorpheniramine + paracetamol + bromhexine + caffeine
330 clotrimazole + beclomethasone + lignocaine + ofloxacin + acetic aicd + sodium methyl paraben +
Propyl paraben

Avoid this combinations and be safe.

390 people found this helpful

Ling Pe Daane Hone Par Kya Karen?

Dr.Pradeep Aggarwal 92% (317ratings)
MBBS, PGDUS, Fellowship In Aesthetic Medicine, Advance Course In Diabetes - USA, MD - Medicine
Aesthetic Medicine Specialist, Delhi
Ling Pe Daane Hone Par Kya Karen?

It would be an understatement to say that the male reproductive organ is the most important and the most sensitive organ in the body of the males. Even a small jerk can put this organ in an intense pain, which can sometimes even prove fatal.

There are a number of conditions and diseases that affect the penis. Ling ko lekar kisi bhi prakaar ki problems purusho ko kaafi pareshaan kar deti hai. For example, ling ka tesha hone, uski lambai kum hona, ling mein dard tatha ling pe dane hona log ek gambhir baat samajhte hain.

Pimples on penis is one of the most talked about topics in male sexuality forum. Log isey ek gambhir baat smjhte hain aur isko lekar kaafi pareshan rehte hain. However, they should know that there is nothing to worry about it and that it is absolutely normal.

Some men feel that pimples on penis appear because of some sought of sexual infection and that it may put their sexual life on hold. However, they must know that this is not the only reason. Dane sharir ke kisi bhi ang par ho sakte hain, including genitals. Pimples are primarily a result of blockage in the pores of the oil glands in the skin.

What causes penis pimples and bumps?

Fordyce spots, folliculitis, STDs, genital warts, sores and even cancer can cause those small zits and bumps on the penis. Knowing what caused the lumps can help understand how to get rid of the problem. Here are the most common causes of penile pimples, zits, cysts and lumps-

  1. Fordyce spots on penis: Fordyce spots can appear as white bumps, pale red or yellowish bumps on the skin. Fordyce spots are not a sexually transmitted infection (STI) although it is easy to mistaken their appearance with some symptoms of an STD. These spots appear as a cluster of small pimples or papules. Therefore, those small white pimples on penis head and shaft are likely to be Fordyce spots.

  2. Folliculitis and white bumps on penis: Folliculitis is the infection of hair follicles. The infection is usually caused by either a fungus or bacteria. This infection is common in the pubic area, especially if your genital hygiene is not so good.

  3. Tyson glands under the penile frenulum: Tyson glands are simply sebaceous glands that appear under the penis head. They are usually referred to by many people as pimples on penis or under the penile head or corona because they appear as small white bumps that are pus-filled. These tiny whitish yellow pimples on the penis are not harmful and should not cause you any worry.

  4. Pearly penile papules: The ridge on the penile glans can have tiny lumps that may appear as pimples forming a line around the penis head. These small pimples on penis can appear in multiple rows or on just a single row around the corona. They are called pearly penile papules (PPP).

  5. Lymphocele lump on penis: A hard pimple on penis or penile shaft is likely to be a lymphocele. Hard spots or bumps normally occur after sex or vigorous masturbation that causes deep bruises. Lymphoceles are not a serious problem but occur as a result of a blockage or swelling of the lymph system on the penile shaft.

  6. Pimple on penis STDs and Genital Herpes and Warts: In some instances, small or even big pimples on penile head or shaft can be caused by a sexually transmitted disease (STD). Genital warts appear as small fleshy growths that are caused by an STI called human papilloma virus (HPV).

  7. Pimple on penile shaft from Molluscum contagiosum: Molluscum contagiosum is a viral infection that affects the skin. It causes round, hard bumps the size of a pinhead on the skin. These bumps can grow into the size of a pencil eraser. Molluscum contagiosum pimples on the penile shaft can affect both children and adults alike.

  8. Acne on penis, zits and whiteheads: It is not common to have acne on the penis, but it happens. Acne on penile shaft is likely to manifest as small white spots on penis or red pimples if they are inflamed. The resultant zits and cysts become infected and may feel painful. Acne zits and whiteheads are common during puberty. If you have an oily acne-prone skin, you are likely to get one red bump on your pubic area.

  9. Cancer and big pimple on the penis: Penile cancer is very rare. When it starts to show signs, you are likely to see small pimple-like bumps on the shaft. The sore lump can be a source of discomfort and could keep growing. The most common area it affects is the head of the penis.

Treatment to Get Rid of Pimples on Penis-

How do you get rid of penile pimples, zits, cysts, acne and bumps? Avoid DIY treatments unless you are sure of what you are dealing with. Most treatments will include antibiotics, antivirals and antifungals. Your doctor will give the appropriate medication depending on the underlying cause of the problem. Here are some of the possible cures of penile bumps and pimples-

  1. Fordyce spots are generally considered a normal occurrence on the skin and should be left to clear on their own.

  2. Pearly penile papules are a normal occurrence on the penis and should not require any form of treatment. The same applies for Tyson glands that appear as yellow pimples or white bumps on penis head.

  3. Anti-acne medications such as salicylic acid can help reduce whiteheads and acne zits in the pubic region.

  4. You can prevent razor bumps on the penis with proper shaving techniques and changing your hair removal methods. If the bumps are itchy, anti-itch medications applied topically will reduce the irritation.

If you suspect that you have a bump on your penis caused by cancer, see a doctor as soon as possible. Cancer can be prevented from spreading when treatment is started early enough.

In case you have a concern or query regarding sexual health ask a doctor online, you can consult the best sexologist doctor online, & get the answers to your questions.

 

6838 people found this helpful

Dengue

Dr.Mool Chand Gupta 93% (37142ratings)
MD - Pulmonary, DTCD
Pulmonologist, Faridabad
Dengue
More than 99% percent can be treated by rest and plenty of oral fluid and paracetamol for fever.

हड्डी टूटने पर उपचार - Haddi Tootne Par Upchar!

Dr.Sanjeev Kumar Singh 91% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
हड्डी टूटने पर उपचार - Haddi Tootne Par Upchar!

हड्डियों के टूटने को मेडिकल टर्म्स में बोन फ्रैक्चर कहा जाता है, यह एक चिकित्सकीय स्थिति होती है. जब बॉडी की किसी हड्डी या उसकी स्ट्रक्चर में क्रैक पड़ जाती है या वह टूट जाती है तो उसे बोने फ्रैक्चर कहते हैं. आमतौर पर बोन फ्रैक्चर, हड्डियों पर अत्यधिक प्रेशर या स्ट्रेस पड़ने पर होता है. कुछ अन्य मेडिकल परिस्थियां भी हैं जो हड्डियों को कमजोर बनाती हैं और उनके टूटने का कारण बनती हैं. उदाहरण के लिए ऑस्टियोपोरोसिस, कुछ प्रकार के कैंसर या ऑस्टियोजेनेसिस इंपरफेक्टा, पैथोलोजिकल फ्रैक्चर इत्यादि के कारण भी हड्डियों के टूटने का कारण बनती है. आइए इस लेख के जरिए हम टूटी हुई हड्डियों के उपचार के तरीकों पर एक नजर डालें.

हड्डी टूटने से उत्पन्न विकारों के विभिन्न प्रकार
सिंपल फ्रैक्चर: -
जब बॉडी की कोई हड्डी दो टुकड़ों में टूट जाती है, तो इसे सिंपल फ्रैक्चर कहते हैं.

ओपन या कंपाउंड फ्रैक्चर - जब किसी प्रकार के फोर्स या स्ट्रेस के कारण हड्डी का कोई हिस्सा या टुकड़ा त्वचा के अंदर से बाहर निकल जाता है.

क्लोज्ड फ्रैक्चर: – जब हड्डी टूट जाए लेकिन ऊपरी की त्वचा में कोई परिवर्तन न हो, तो उसे क्लोज्ड फ्रैक्चर कहते हैं.

स्पायरल फ्रैक्चर: – जब किसी वस्तु या मशीन आदि के प्रभाव के कारण हड्डी में घुमाव आ जाता है, तो इसे स्पायरल फ्रैक्चर कहते हैं.

कम्प्रेशन फ्रैक्चर: – जब हड्डियां किसी दबाव या बल के प्रभाव में आकर क्रश हो जाएं. जैसे दुर्घटना में स्पाइनल में किसी कशेरूका को धक्का लगना.

ग्रीनस्टिक फ्रैक्चर: - यह आमतौर पर बच्चों में होता है. यह तब होता है, जब किसी प्रकार के प्रेशर के कारण हड्डी एक तरफ से ट्विस्ट है और उसके कारण से दूसरी तरफ से टूट जाती है.

कॉमिन्यूटेड फ्रैक्चर: – जब किसी प्रकार की एक्सीडेंट या इंजरी के कारण हड्डी तीन या उससे अधिक हिस्सों में टूट जाए

ट्रांस्वेर्स फ्रैक्चर: – जब टूट-फूट हड्डी के किसी बड़े हिस्से में होने की बजाए शरीर के छोटे-छोटे हिस्सों में होती है.

एवल्शन फ्रैक्चर: – जब किसी हड्डी के खींचे जाने से हड्डी से जुड़े टेंडन्स और लिगामेंट्स हड्डी से अलग हो जाएं या उनमें टूट-फूट हो जाए.

इंपेक्टेड फ्रैक्चर: – यह फ्रैक्चर तब होता है, जब बॉडी की कोई हड्डी अपने सिरों के दोनो तरफ से प्रेशर में आ जाती है.

स्ट्रेन फ्रैक्चर: – यह तब होता है, जब शरीर की किसी हड्डी का अधिकतम उपयोग किया जाता है या उससे बार-बार एक ही गति का काम किया जाता है.

हड्डी टूटने के लक्षण या संकेत-
हड्डी टूटने के लक्षण और संकेत रोगी की उम्र, हेल्थ, इंजरी की गंभीरता और किस हड्डी में चोट लगी है इत्यादि के अनुसार दिखाई देते हैं. अगर आपकी हड्डी टूटने पर है, तो आपको हड्डी या उसके आस-पास की जगह में बहुत ज्यादा दर्द और सूजन भी आ सकती है. जब हड्डी में फ्रैक्चर होती है, तो उस समय पॉपिंग या क्रेकिंग की आवाज सुनाई दे सकती है.

अगर हाथों या पैरों की किसी हड्डी टूटने पर हुआ है, तो वह हिस्सा मुड़ जाती है या विकृत रूप से नजर आती है.
साथ ही फ्रैक्चर वाली हड्डी की ऊपरी त्वचा नीली पड़ सकती है या अन्य परिस्थिति में ब्लड भी निकल सकता है.

अगर कंपाउड फ्रैक्चर है, तो हड्डी का कोई हिस्सा त्वचा से बाहर निकला हुआ दिखाई दे सकता है और वहां पर एक बड़ा घाव बन सकता है.

टूटी हुई हड्डी को हिलने में बहुत मुश्किल हो सकता है, अगर फ्रैक्चर अगर पैर की हड्डी में होता है है, तो चलने घुमने में बहुत परेशानी हो सकती है.

टूटी हुई हड्डियों के ट्रीटमेंट का उद्देश्य
आमतौर पर फ्रैक्चर के ट्रीटमेंट का इस उद्देश्य से किया जाता है कि ट्रीटमेंट के बाद बॉडी का चोटिल हिस्सा जितना हो सके उतने अच्छे तरीके से काम कर सके. प्राकृतिक ट्रीटमेंट प्रक्रिया शुरू करने के लिए, ब्रोकन बोन के सिरे आपस में मिलने जरूरी होते हैं, इसे फ्रैक्चर को कम करने के रूप में जाना जाता है. जब फ्रैक्चर को कम किया जाता है, उस दौरान डॉक्टर रोगी को सामान्य बेहोशी की स्थिति में रखते हैं.

स्थिरीकरण: – जोड़ने के लिए हड्डियों के सिरों को मिलाया जाता है और ठीक तरीके से जुड़ने तक उनको उसी दशा में रखा जाता है. जिसे निम्न की मदद से किया जाता है- प्लास्टर कास्ट या प्लास्टर के फंक्शनल ब्रेसिज़: – ये हड्डी को उसी दशा में बनाए रखते हैं, जब तक वह जुड़ नहीं जाती.
धातु की प्लेट व पेच: - वर्तमान प्रक्रियाएं कम से कम आक्रामक तकनीकों का उपयोग कर सकती हैं
इंट्रा-मेड्यूलरी कील: – आंतरिक धातु की छड़ी को लंबी हड्डियों के बीच में डाला जाता है और बच्चों में लचीले तारों का इस्तेमाल किया जाता है. आम तौर पर फ्रैक्चर हुई हड्डी व उसके आस-पास के क्षेत्र का 2 से 8 हफ्तों को लिए स्थिरीकरण कर दिया जाता है. स्थिरीकरण की अवधि इसपर निर्भर करती है कि कौन सी हड्डी टूटने पर हुआ है या फिर कुछ जटिलताओं पर जैसे खून की आपूर्ति में समस्या या संक्रमण.

हड्डी टूटने पर प्राथमिक चिकित्सा
कुछ घरेलु तकनीक है जो आप हॉस्पिटल पहुँचने के पहलें आप इस्तेमाल कर सकते है. यह तरीकें निम्नलिखित बताए गए हैं:
1. इंजरी वाली जगह पर आइस का इस्तेमाल से दर्द और सुजन से राहत मिल सकती हैं.
2. प्रभावित हिस्से को धीरे-धीरे साबुन और पानी के साथ धोनें से घाव के अंदर बैक्टीरिया से बचाव करने में मदद मिलती है.
3. इसके अलावा आप घाव को किसी पट्टी या साफ कपड़े से ढ़क कर रखें.

अगर फ्रैक्चर हाथों या पैरों में होती है, तो एक स्लिंग या स्पलिंट की सहायता से टूटी हुई हड्डी को हिलने से बचाया जा सकता है और स्थिर बना कर के रखा जा सकता है. स्पलिंट बनाने के लिए अखबार या कोई मैग्ज़ीन का इस्तेमाल कर सकते है. अगर संभावित रूप से लगता है कि ऊपरी पैर, स्पाइनल, पेल्विक या कूल्हे की हड्डी टूटने पर है, तो मेडिकल सहायता आने तक वहीं रहना चाहिए और हड्डियों को हिलाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. इसे हिलाने का प्रयास करने से प्रभावित हिस्से को और ज्यादा नुकसान हो सकता है.

चेहरे पर काली छाया - Chehre Par Kaali Chhaya!

Dr.Sanjeev Kumar Singh 91% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri
चेहरे पर काली छाया - Chehre Par Kaali Chhaya!

चेहरे की काली छाया हटाने के कई उपाय मौजूद हैं जिसे प्राप्त करना बेहद आसान है.चेहरे की झाइयां, झुर्रियां, चेहरे पर दाग धब्बे कई लोगों की परेशानी की वजह से होते हैं. पर आयुर्वेद में ऐसे कई तरीके हैं जिनसे इन परेशानियों से मुक्ति पायी जा सकती है. एलोवेरा के जेल को चेहरे पर लगा लें, झुर्रियां और पिगमेंटेशन नहीं होगा. आप एलोवेरा के पत्तों से जेल निकाल सकते हैं या बाजार से ताज़ा एलोवेरा जेल खरीद लें. चेहरे पर झाइयां के लिए भी एलोवेरा बहुत कारगर है. पर ऐसा भी कई बार होता है कि एलोवेरा भी काम नहीं करता. ऐसे में एलोवेरा के पत्ते और नीम के ताज़ा पत्ते लें. इन पत्तों को मिक्सी में मिलाकर फ्रिज में रख लें, शाम को लगाकर सो जाएँ. आपकी झाइयां कुछ ही दिन में सौ प्रतिशत दूर हो जाएंगी. आइए चहरे पर होने वाली काली छाया को दूर करने के उपाय जानें.

1. अपनाएं स्वच्छ आदतें
जीवन में स्वच्छता बेहद आवश्यक है. जब तक आप स्वच्छता पूर्वक नहीं रहेंगे, आपकी त्वचा कभी साफ़ नहीं रह सकती. अपनी त्वचा को तब तक न छुएं जब तक आप अपने हाथों को धो न लें. कभी भी एकदम गर्म पानी से न नहाएं. हमेशा गुनगुने पानी का ही इस्तेमाल करें. हमेशा एक स्किन केयर रूटीन बनाकर चलें. CTM (क्लींजिंग, टोनिंग, मॉइस्चरिंग) रूटीन को फॉलो करें. हफ्ते में दो बार अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट ज़रूर करें.

2. खाएं स्वस्थ आहार
त्वचा को स्वच्छ रखने के लिए आपका आहार बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. रोजाना हरी सब्जियां का सेवन करें. अपने डाइट में साग, धनिया, करी पत्ता और विटामिन ए से समृद्ध आहार को शामिल करें. यह त्वचा को स्वस्थ रखती है. इसके अलावा खूब सारा पानी पियें और ज़्यादा से ज़्यादा फल खाने की कोशिश करें. इससे आपकी त्वचा हाइड्रेटेड रहेगी. ये आपके सिस्टम से टॉक्सिक पदार्थों को निकालने में भी मदद करेगा.

3. अपनी त्वचा को रखें सूरज से दूर
सूरज आपकी काली छाया की समस्या को और भी खराब कर देता है और आपके मेलानोसाईट को और भी ज़्यादा बढ़ा देता है. झाइयां बहुत ही आम समस्या है और इसे ठीक होने में थोड़ा समय लगता है. सनस्क्रीन मिनिमम SPF 30 काली छाया को हटाने के लिए खासतौर पर बताई जाती है. इसके अलावा त्वचा को सीधे तौर पर सूरज के सामने न आने दें और अपनी त्वचा को समय समय पर साफ़ करते रहें.

4. आवश्यक तेलों के फायदे
जैतून का तेल - जैतून का तेल एक प्रभावी कंडीशनर है और ये आपकी त्वचा को नमी और स्वस्थ बनाने में मदद करता है. ये तेल एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध होता है जिसकी मदद से ख़राब त्वचा को ठीक करने में मदद करता है.

5. नारियल का तेल - नारियल तेल में त्वचा को नमी देने के गुण मौजूद होते हैं. इससे त्वचा सुधरती है. ये तेल आपकी त्वचा को सूरज की किरणों से बचाता है.

6. अरंडी का तेल - अरंडी के तेल को आमतौर पर निशान, काली छाया के लिए सबसे अच्छा माना जाता है. यह इसलिए क्योंकि ये तेल फैटी एसिड और प्रोटीन से भरपूर होता है जिससे आपकी त्वचा ठीक होती है साथ ही पोषण भी देने में मदद करता है.

7. नीम तेल - नीम का तेल मेलानिन का उत्पादन कम कर देता है साथ ही दुबारा प्राकृतिक स्किन टोन दिलाने में भी मदद करता है.

8. जोजोबा तेल - अगर आपकी झाइयां तेलिये त्वचा की वजह से बढ़ रही हैं तो जोजोबा का तेल फिर आपके लिए ही बना है. जोजोबा तेल आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेल को नियंत्रित करता है साथ ही सिबाशियस ग्लैंड्स को कम करता है और आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेल को संतुलित रखता है.

27 people found this helpful

Dr.Ravi Goyal 90% (416ratings)
PG Fellowship In Microdentistry, BDS, Masters in Oral Implantology-MOI
Dentist, Thane
We Recommend the consumption of counter pain relievers like ibuprofen and paracetamol to reduce the pain and inflammation caused in tooth during the routine Root anal Treatment

चेहरे पर काले दाग उपाय - Chehare Par Kaale Daag Ke Upaay!

Dr.Sanjeev Kumar Singh 91% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
चेहरे पर काले दाग उपाय - Chehare Par Kaale Daag Ke Upaay!

कई कारणों से चेहरे पर कले दाग का निशान आ जाता है. इन निशानों को ख़त्म करने के लिए बहु सारे उपाय हैं. लोग इसे इसलिए ख़त्म करना चाहते हैं क्योंकि इससे चेहरे की खूबसूरती प्रभावित होती है. तो आइए इस लेख के माध्यम से हम चहरे के काले दाग खत्म करने के उपायों को जानें.

1. काला दाग का घरेलू नुस्खा है नींबू

नींबू को सबसे पहले कट करें और इसके जूस को एक कटोरे में डाल लें. नींबू के जूस में अब शहद को मिला लें और इस मिश्रण को अच्छे से चलाएं. अब इस मिश्रण को अपनी त्वचा के प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं. 15 मिनट तक इसे लगाकर रखें. इसके बाद अपनी त्वचा को गुनगुने पानी से धोएं. जब तक आप नतीजा न देख लें तब तक इसे पूरे दिन में दो बार ज़रूर लगाएं. नींबू का जूस एक प्राकृतिक ब्लीचिंग पदार्थ है साथ ही शहद भी त्वचा को नमी देता है. ये गुण काला दाग को कम करने में मदद करते हैं. नींबू विटामिन सी का स्त्रोत होता है और इसमें प्रभावित एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं जो त्वचा को सूरज की किरणों से बचाते हैं.

2. मसूर दाल का फेस पैक

दाल को दूध में डालकर रातभर के लिए सोखने के लिए रख दें. सुबह में, दाल को मिक्स कर लें और फिर मिक्स करने के बाद अन्य बची सामग्रियों को मिला लें. पूरे मिश्रण को अच्छे से मिक्सर में मिक्स कर लें. अब इस पेस्ट को अपने प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं. 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें. फिर त्वचा को गुनगुने पानी से धो लें. इस पेस्ट को हफ्ते में दो बार ज़रूर लगाएं. मसूर दाल प्रोटीन से भरपूर होती हैं और मृत त्वचा का इलाज करने में ये बेहद फायदेमंद होती है. ये आपकी त्वचा को नमी के साथ साथ स्वस्थ भी रखती है और काला दाग को भी दूर करती है.

3. बादाम

रातभर के लिए बादाम को पानी में डालकर सोखने के लिए रख दें. फिर सुबह को बादाम को मिक्सर में मिक्स कर लें और एक मुलायम पेस्ट तैयार कर लें. आप थोड़ा दूध भी मिला सकते हैं अगर पेस्ट मुलायम नहीं हो रहा है तो. अब अन्य बची सामग्रीयों को बादाम के पेस्ट में मिला दें. पेस्ट को अच्छे से मिलाने के बाद इसे अपनी त्वचा के प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं. फिर इसे रातभर के लिए त्वचा पर ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें. सुबह में त्वचा को ठंडे पानी से धो लें. हर रात, सोने से पहले इसे दो हफ्ते तक अपनी त्वचा पर लगाएं. दो हफ्ते के बाद इलाज को थोड़ा कम कर दें. फिर इसे आप हफ्ते में दो बार लगा सकते हैं.

4. लाल प्याज का उपयोग

प्याज के सबसे पहले टुकड़े कर लें. अब टुकड़ों को हाथों में लें और फिर उसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं. दस मिनट तक इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर अपनी त्वचा को गुनगुने पानी से धो लें. इसके आलावा आप प्याज को मिक्स करके निचोड़ लें और जूस को अपने प्रभावित क्षेत्रों पर लगाए. जब तक आपको नतीजा न दिख जाये तब तक पूरे दिन में दो बार इसे ज़रूर लगाएं. प्याज विटामिन सी का सबसे अच्छा स्त्रोत है. इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट के गुण काला दाग का इलाज करने में मदद करते हैं.

5. उपयोग करें आवश्यक तेलों का

जैतून का तेल, नारियल का तेल, अरंडी का तेल, नीम का तेल या जोजोबा तेल. इसके अलावा आप इन तेलों को एक साथ भी मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं. सबसे पहले अपनी त्वचा को साफ़ कर लें और तौलिये से अच्छे से सूखा लें. अपनी पसंद के तेल से आप अपनी त्वचा पर मसाज करें. कुछ मिनट मसाज करने के बाद आधे घंटे तक इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें. अब अपनी त्वचा को क्लीन्ज़र से धो लें. इन तेल का इस्तेमाल पूरे दिन में एक बार ज़रूर करें.

6. इलाज है एलो वेरा

एक कटोरे में शहद और एलो वेरा जेल को मिला लें. अब दस मिनट के लिए मिश्रण को ऐसे ही छोड़ दें. दस मिनट के बाद अपनी त्वचा पर मिश्रण को लगाएं. फिर इसे ऐसे ही 20 मिनट तक लगा हुआ छोड़ दें. अब अपनी त्वचा को गुनगुने पानी से साफ़ कर लें. काला दाग पर एलो वेरा का इस्तेमाल कब तक करें – दो हफ्ते के लिए इस मिश्रण को पूरे दिन में एक बार ज़रूर लगाएं. त्वचा के प्राकृतिक PH स्तर और तेल के स्तर को छेड़े बिना एलो वेरा को त्वचा को साफ़ करने के लिए जाना जाता है. ये काले धब्बों को दूर करता है साथ ही सूरज की किरणों से भी बचाता है.

7. उपयोग करें केला

सबसे पहले केले को मैश कर लें और तब तक करें जब तक इसकी गुठली बनना कम न हो जाएँ. फिर इसमें शहद और दूध मिलाएं. फिर सारी सामग्रियां मिलाने के बाद एक मुलायम पेस्ट तैयार कर लें. इस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं. अब इसे त्वचा पर आधे घंटे के लिए लगा हुआ छोड़ दें और फॉर अपनी त्वचा को गर्म पानी से साफ़ कर लें. हफ्ते में दो बार करें. आपको परिणाम तीन हफ़्तों में ही नज़र आने लगेगा. केला एक प्राकृतिक एक्सफोलिएटर की तरह काम करता है जो त्वचा को साफ करता है, जिसकी मदद से काला दाग का इलाज होता है. इसमें विटामिन k और पोटैशियम भी होता है जो त्वचा को नमी देता है साथ ही स्वस्थ भी रखता है.

8. अपनी त्वचा को सूरज से दूर रखें

सूरज आपकी काला दाग की समस्या को और भी खराब कर देता है और आपके मेलानोसाईट को और भी ज़्यादा बढ़ा देताहै. काला दाग बहुत ही आम समस्या है और इसे ठीक होने में थोड़ा समय लगता है. सनस्क्रीन मिनिमम SPF 30 काला दाग को हटाने के लिए खासतौर पर बताई जाती है. इसके अलावा त्वचा को सीधे तौर पर सूरज के सामने न आने दें और अपनी त्वचा को समय समय पर साफ़ करते रहें.
 

1 person found this helpful

आँख में बारूद पड़ने पर क्या करें - Aankh Main Baarud Padne Par Kya Karen!

Dr.Sanjeev Kumar Singh 91% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
आँख में बारूद पड़ने पर क्या करें - Aankh Main Baarud Padne Par Kya Karen!

हमारे शरीर में आँखों का कार्य सबसे महत्वपूर्ण होता है. इसलिए आँखों की देखभाल करना भी उतना ही महत्वपूर्ण हो जाता हैं. वातावरण में फैले प्रदुषण के अलावा भी कई फैक्टर है जिससे आँखों को नुकसान पहुँचता है. यह विशेष रूप से दिपावली जैसे त्योहारों के दौरान होता है, जब आपको अपनी आँखों का अतिरिक्त ख्याल रखना पड़ता है. दिवाली की बात करें, तो इस दौरान हर जगह आतिशबाजी होने के साथ ही पटाखों का शोर सुनाई देता है. ऐसे में अपनी आखों को बचाना जरूरी हो जाता है. जिसके लिए सबसे जरूरी पटाखों से दूरी बनाना है. साथ ही इस समय अपने बच्चों पर विशेष निगरानी रखने की जरूरत होती हैं. बच्चे उत्साह में आकर कई बार पटाखों को समीप जाकर जलाते हैं, जिससे कई बार पटाखे हाथ में ही फूट जाते है और परिणामस्वरूप पटाखों में मौजूद बारूद आँखों में चला जाता है और आँखों को नुकसान पहुंचता है. इस तरह की दुर्घटनाओं से बचने के लिए लिए अपनी आँखों की देखभाल करना जरुरी हो जाता है. आज इस लेख में हम आपको बताएंगे आँख में बारूद जाने पर क्या करें, कुछ बातों का ख्याल रख कर ऐसी दुर्घटनाओं से बच सकते है.

कैसे रखें पटाखों से खुद को सुरक्षित

दिपावली रौशनी का त्यौहार है और जरुरी नहीं है कि आप पटाखें जलाकर ही इस पर्व का आनंद लें. आप यह कोशिश कर सकते है कि आप जितना कम हो सके उतने कम पटाखें जलाएं. अपने बच्चे को पटाखों से होने वाले नुकसान के बारे में समझाएं और उन्हें पटाखे न जलाने के लिए प्रोत्साहित करें. जिससे उनकी हेल्थ समग्र रहें. इसके लिए यहां कुछ निम्नलिखित कुछ सुझाव दिए गए है जो इस प्रकार हैं - प्रयाप्त

  • पटाखें छोड़ते समय प्रयाप्त दूरी बनाना सबसे जरुरी है. यदि आपके बच्चे पटाखे जला रहा है तो उन पर निगरानी रखें. पटाखों से निकलने वाला धुंआ आपकी आँखों को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचता है और साथ ही इनका हाथ में फूटने का डर भी बना रहता है.

  • कभी भी बंद या छोटी जगह पर पटाखे ना छोड़े. इससे आग पकड़ने का खतरा होता है. पटाखे छोड़ने के लिए आप कोई बड़ी जगह पर जा सकते है.

  • पटाखें छोड़ते समय प्रयाप्त सुरक्षा किट अपने पास रखें ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना में त्वरित राहत मिल पाएं.

  • कभी भी पटाखे को दोबारा जलाने का प्रयास ना करें. यदि एक बार पटाखे नहीं जलते है तो फिर उस पटाखे को नष्ट कर दें या उस पर पानी डाल दें.

  • पटाखे जलाते समय हमेशा कॉटन कपडे पहने और सिल्क के कपड़ों को ना पहनें.

यदि पटाखें जलाते समय आँख में बारूद पड़ जाए तो आप कुछ घरेलु उपाय के अलावा गंभीर स्थिति में डॉक्टर के पास जाएँ. इसके पहले आप निम्न तरीकें को अपना सकते है.

  • आँखों में बारूद या चिंगारी पड़ने पर किसी कपड़े या हाथ से रगड़ने के बजाए निरंतर पानी से धोते रहें या अपने आँखों को पानी में डुबोए रखें.

  • आँखों को अच्छी तरह से पानी से धुलने के बाद एक साफ कपड़े को आँख पर रख दें.

  • यदि घर पर एंटीसेप्टिक क्रीम मौजूद है तो आप जलने की स्थिति पर क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं.

  • इसके बाद जितनी जल्दी हो सके, किसी नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें और चिकित्सीय सहायता प्राप्त करें.

3 people found this helpful