Get help from best doctors, anonymously
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

यूरिक एसिड में परहेज - Uric Acid Me Parhez!

Dr. Sanjeev Kumar Singh 90% (192 ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri  •  9 years experience
यूरिक एसिड में परहेज - Uric Acid Me Parhez!

यूरिक एसिड की बीमारी से ग्रस्त मरीजों के शरीर के कई अंग प्रभावित होते हैं जैसे पैरों के अंगूठे, टखने. घुटने, जोड़ों और एड़ी आदि भी. आपको बता दें कि रक्त में यूरिक एसिड नामक रसायन की मात्रा असंतुलित होने के कारण ये बीमारी उत्पन्न होती है. इसके गुणों के आधार पर इसे अर्थराइटिस का ही एक रूप माना जाता है. क्योंकि इसमें भी जोड़ों और अन्य स्थानों पर सूजन होती है. जैसे कि अर्थराइटिस में दिखाई पड़ती है. यह बीमारी आमतौर पर लंबे समय तक भोजन ना करने डीहाइड्रेशन तनाव कसरत ना करना शराब का सेवन बहुत ज्यादा करना आदि से हो सकती है. इसके साथ ही जंक फूड और जीवन शैली में बदलाव भी इसके कारण हो सकते हैं. किसी भी बिमारी के दौरान कुछ सामान्य परहेज करके उसके लक्षणों को काफी हद तक कम किया जा सकता है. कई बार तो हम परहेज करके बिमारी को भी ख़त्म करने में सफलता प्राप्त कर लेते हैं. इसलिए आइए यूरिक एसिड से पीड़ित मरीजों के लिए परहेज किए जाने वाले खाद्य पदार्थों के बारे में जानें.

1. सरसों के तेल का इस्तेमाल करें कम

खाना पकाने के लिए हम आम तौर पर सरसों के तेल का इस्तेमाल करते हैं लेकिन यदि आपको यूरिक एसिड की समस्या है तो आप कोल्ड प्रेस जैतून के तेल का इस्तेमाल खाना बनाने के लिए करें. इससे आपकी परेशानी कम होगी.

2. बेकरी के उत्पाद से बचें

जो व्यक्ति यूरिक एसिड से ग्रसित हैं उन लोगों को बेकरी उत्पादों से बचना चाहिए. क्योंकि बेकरी के उत्पाद जैसे की एक पेस्ट्री में अनसैचुरेटेड फैट की अधिकता होती है. इन के सेवन से यूरिक एसिड के स्तर में और वृद्धि होने का खतरा रहता है. इसलिए इसके सेवन से बचना चाहिए.

3. एल्‍कोहल से दूर रहें

शराब पीना भी यूरिक एसिड की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए काफी जोखिम भरा फैसला हो सकता है. क्योंकि यदि आप अल्कोहल का सेवन करेंगे तो इससे आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है. जिससे अटैक भी आ सकता है. इसलिए अल्कोहल से दूरी बनाकर रखने में ही समझदारी होगी.

4. डिब्‍बा बंद भोजन से बनाएं दुरी

यूरिक एसिड के स्तर में वृद्धि होने की शिकायत होने पर आपको डिब्बा बंद भोजन से बिल्कुल किनारा कर लेना चाहिए. क्योंकि डिब्बा बंद भोजन में आपको यूरिक एसिड को बूस्ट अप करने वाले तत्व मिलते हैं और यदि आप इनका सेवन करें इससे यूरिक एसिड एसिड के स्तर में वृद्धि हो जाएगी.

5. मछली और मीट से भी परहेज

मछली और मीट का सेवन भी यूरिक एसिड की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए खतरनाक है. कुछ विशेष प्रकार की मछलियां तो बिल्कुल ही नहीं खाना चाहिए क्योंकि इन सब खाद्य पदार्थों के सेवन से आपकी यूरिक एसिड के स्तर में वृद्धि होने की संभावना बढ़ जाती है.

6. एंटीआक्सीडेंट युक्त भोजन

एंटीऑक्सीडेंट युक्त भोजन करना भी कुछ यूरिक एसिड से पीड़ित लोगों की काफी मदद करता है. इसके लिए आप टमाटर, अंगूर, ब्लूबेरी, लाल शिमला मिर्च आदि का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इनमें एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी की भरपूर मात्रा मौजूद रहती है. एंटीऑक्सीडेंट्स मुक्त अणुओं को शरीर से बाहर निकालने में मददगार होते हैं. इसके अलावा इससे यूरिक एसिड के स्तर में भी कमी होती है.

7. सेब का सिरका
 

सेब के सिरके की सहायता से भी यूरिक एसिड की समस्या से निजात पाई जा सकती है. क्योंकि सेब का सिरका हमारे शरीर में रक्त का PH मान को बढ़ाकर यूरिक एसिड के स्तर को कम करता है. यह ध्यान रहे कि सिरका बनाते समय सेब कच्चा बिना पाश्चुरीकृत और बिना पानी मिला हुआ होना चाहिए

8. अजवाइन के बीज का अर्क

यदि आप यूरिक एसिड की समस्या से ग्रसित हैं तो आपको अपना दर्द कम करने के लिए अजवाइन के बीज के अर्क का सेवन करना चाहिए. क्योंकि अजवाइन में दर्द को कम करने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स में डाइयुरेटिक्स का गुण पाया जाता है. इसके अलावा यह एंटीसेप्टिक भी होता है. कई बार तो इसका इस्तेमाल नींद ना आने, नर्वस ब्रेकडाउन या व्यग्रता जैसी समस्याओं के उपचार में भी किया जाता है.
 

2 people found this helpful