Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Ganne ke Juice ke Fayde Aur Nuksaan in Hindi - गन्ने के जूस के फायदे और नुकसान

Written and reviewed by
Dr. Sanjeev Kumar Singh 92% (193 ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri  •  11 years experience
Ganne ke Juice ke Fayde Aur Nuksaan in Hindi - गन्ने के जूस के फायदे और नुकसान

वानस्पतिक नाम सैकेरम औफीसिनरम वाले गन्ने का इस्तेमाल हम प्राचीन काल से ही करते आ रहे हैं. अपने गुणों की मिठास और बेहतरीन स्वाद के कारण गन्ना लगभग पूरे विश्व में इस्तेमाल किया जाता है. ये हमारी प्यास बुझाने के अलावा हमें ऊर्जा से भी भर देता है. गन्ने में प्रचुर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, लोहा, जस्ता और पोटेशियम और विटामिन ए, बी-कॉम्प्लेक्स और सी भी पाया जाता है. गन्ने में फैट नहीं होता है, वास्तव में यह एक 100% प्राकृतिक पेय है. इसमें लगभग 30 ग्राम प्राकृतिक चीनी है. एक गिलास गन्ने के रस में कुल 13 ग्राम आहार फाइबर होता है. आइए गन्ने के फायदे और नुकसान पर प्रकाश डालें.
1. रोके मूत्र पथ संक्रमण
गन्ने का रस गुर्दे को स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए मूत्र पथ के संक्रमण से जुड़ी समस्याओं को रोकता है. इसके इलाज के लिए गन्ने का इस्तेमाल एक दिन में दो बार नींबू और नारियल का पानी मिलाकर गन्ने का रस पीकर करें. गन्ने का रस शरीर में प्रोटीन के स्तर को बढ़ाने के लिए जाना जाता है. यह कई गुर्दा संबंधी रोगों जैसे पत्थरी, यूटीआई और एसटीडी से बचाता है.
2. कैंसर को रोकने के लिए
गन्ना का रस कैंसर, विशेष रूप से प्रोस्टेट और स्तन कैंसर जैसे घातक रोगों के लिए एक व्यापक उपचार हो सकता है. गन्ने में फ्लेवोनोइड की उपस्थिति स्तन ग्रंथियों में कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकती है, इस प्रकार यह ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम को कम करता है.
3. बचाए मुँहासे से
मुँहासे से ग्रस्त लोग प्रभावी परिणाम के लिए गन्ना का रस का मास्क आज़माएं. इसके लिए आपको गन्ने के रस और मुल्तानी मिट्टी की जरूरत है. गन्ने के रस में कुछ मुल्तानी मिट्टी को मिलाकर एक तरल बनाएं. अब इस मिश्रण का उपयोग चेहरे एवं गर्दन पर लगाने के लिए करें. लगभग 20 मिनट तक लगाने के बाद इसे हल्के भीगे तौलिये से साफ कर लें. यदि आप इसका इस्तेमाल हफ्ते में एक बार नियमित रूप से करें तो काफी लाभ होगा.
4. मधुमेह को नियंत्रण में
शुगर से पीड़ित व्यक्ति भी गन्ना, संयम से खाया जा सकता है. गन्ना में सूक्रोज़ होता है जिसमें कम ग्लिसेमिक सूचकांक होता है. यह आपके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रखने में मदद करता है.हलांकि सावधानी जरुरी है.
5. पीलिया के उपचार में
पीलिया, लिवर के खराब कामकाज के साथ भारी हुई पित्त नलिकाओं के कारण होता है. इसके उपचार के लिए 1 गिलास ताजा गन्ना का रस में तोड़ा सा नींबू मिक्स करके दिन में दो बार पिएं. ये स्वभाव से क्षारीय होने के नाते गन्ने का रस आपके शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखकर आपके लिवर को तेज़ी से खराब होने से रोकता है और हमारे पेट एवं आंतों में एसिडिटी और जलन को शांत कर सकता है. गन्ने के रस में मौजूद पोटेशियम आपके पेट के पीएच स्तर को संतुलित करने और पाचन रस के स्राव की सुविधा प्रदान करता है.
6. नाखूनों के पोषण में
रंग उतरे हुए और भंगुर नाखूनों को की समस्या का मुकाबला करने के लिए गन्ने का रस लगायें. ऐसा पोषक तत्वों की कमी के कारण होता है. चूंकि गन्ना का रस पोषक तत्वों से भरा होता है, यह आपके नाखूनों को पोषण देता है और उन्हें स्वस्थ बनाता है.
7. मांसपेशियों की शक्ति के लिए
कोई भी मेहनत का काम शक्तिशाली मांसपेशियों के दम पर ही किया जा सकता है. दिन में दो बार गन्ने का रस पीना शरीर को बहुत आवश्यक ग्लूकोज प्रदान करता है जिसे अपनी मांसपेशियों की शक्ति को बढ़ाने के लिए जाना जाता है.
8. गर्भवती महिला के लिए
गन्ने का रस सुरक्षित गर्भधारण की सुविधा प्रदान करता है. इसमें फोलिक एसिड और विटामिन बी 9 पाया जाता है जो स्पाइना बिफिडा जैसे तंत्रिका जन्म दोषों से रक्षा के लिए जाने जाते हैं. इसके अलावा गन्ना का रस, महिलाओं की समस्याओं को कम कर देता है, जिससे गर्भधारण की संभावना बढ़ती है.
9. त्वचा के लिए
गन्ना रस बुढ़ापे के लक्षणों में देरी करने के लिए मदद कर सकता है. गन्ने के रस में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स, फ्लेवोनोइड्स और फीनोलॉजिक यौगिकों की उपस्थिति चमकीली, नरम और मॉइस्चराइजिंग त्वचा प्राप्त करने का एक अच्छा विकल्प है. इसके अलावा गले में अचानक खुजली या जलन होती है, तो उसे शांत करने के लिए नींबू और काले नमक को एक गिलास गन्ने के रस के साथ मिक्स करके पी लें.
10. बढ़ाए प्रतिरक्षा
गन्ने का रस आवश्यक एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर हैं जो हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को कई परतों से मजबूत करने में सहायता करते हैं. ये एंटीऑक्सिडेंट कई रोगों से लड़ते हैं, जिनमें लिवर और पाचन तंत्र शामिल हैं. आपकी प्रतिरक्षा बढ़ाने के अलावा, गन्ने का रस भी घावों को जल्दी से ठीक करने में मदद करता है.
11. हड्डियों और दांतों को मजबूत
गन्ने के रस का एक गिलास पिलाने से आप दांत और हड्डी से संबंधित समस्याओं को दूर कर सकते हैं. गन्ने कैल्शियम का एक बहुत ही अछा स्रोत है जो हड्डियों और दांतों सहित आपकी कंकाल की ताकत के निर्माण में मदद करता है. इसके अलावा ये सांसों की बदबू को भी दूर करता है.
गन्ने के जूस के नुकसान

  • दैनिक रूप से दो गिलास से अधिक गन्ने के रस का सेवन ना करें इससे आपके शरीर को नुकसान पहुंच सकता है.
  • 15 मिनट से अधिक समय तक फ्रिज के बाहर रखें हुए गन्ने के रस को कभी नहीं पीना चाहिए क्योंकि आपके पेट और आंतों पर इसका प्रतिकूल प्रभाव हो सकता है.
15 people found this helpful