सफेद प्याज के फायदे - Saphed Pyaz Ke Fayde!

Written and reviewed by
Dr.Sanjeev Kumar Singh 91% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri  •  13years experience
सफेद प्याज के फायदे - Saphed Pyaz Ke Fayde!

सबके घरों में आसानी से उपलब्ध सफ़ेद प्याज एक उत्कृष्ट औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. इसका ज़्यादातर लाभ हमें विभिन्न यौन रोगों जैसे कि स्वपनदोष, संभोग करने की इच्छा का अभाव, शीघ्रपतन, कमजोरी, थकान इत्यादि में मिलता है. जाहीर है हमारे सामाजिक संरचना के कारण कई लोग इस तरह की समस्याओं के लिए चिकित्सक से संपर्क करने में संकोच करते हैं इसलिए उन लोगों के लिए ये एक बेहतरीन औषधि साबित हो सकता है. हलांकी इसका इस्तेमाल भी किसी विशेषज्ञ के देखरेख में ही किया जाना चाहिए. सफेद प्याज कितना उपयोगी है यह आप इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों से समझ सकते हैं. हर 100 ग्राम सफेद प्यज में 1.2 ग्राम प्रोटीन, 11.1 मि.ग्रा. कार्बोहाइड्रेट, 15 मिग्रा विटामिन, 0.1 ग्राम वसा, 46.9 मिग्रा कैल्शियम, 0.4 ग्राम खनिज, 50 मिग्रा फॉस्फोरस, 50 मि.कै. कैलोरी, 0.6 ग्राम फाइबर, 0.7 मिग्रा आयरन और 86.6 ग्राम पानी होता है. सफ़ेद प्याज में पाये जाने वाले तमाम उपयोगी पोषक-तत्वों के कारण ही हमारे यहाँ इसे खाद्य पदार्थ से ज्यादा औषधि के रूप में जाना जाता था. इसके इस्तेमाल से आप वीर्यवृद्धि, कामशक्ति को बढ़ाने और मर्दाना कमजोरी के साथ ही नपुंसकता इत्यादि समस्याओं को भी दूर कर सकते हैं. इसलिए आप कह सकते हैं कि किसी भी तरह की यौन समस्याओं से छुटाकारा पाने में प्याज एक सस्ता व सुलभ इलाज है. आइए इस लेख के माध्यम से हम सफ़ेद प्याज के फ़ायदों पर एक नजर डालें.

1. नपुंसकता दूर करे-

अक्सर कई मर्दों कम वीर्य निकलने से परेशान रहते हैं. इस तरह की समस्याओं को हम समाज में नपुंसकता का प्रतीक भी मानते हैं. इसलिए जो लोग भी ऐसी किसी तरह की समस्या से ग्रसित हैं तो आपको भी सफेद प्याज का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए. इसे और प्रभावी बनाने के लिए और वीर्यवृद्धि के लिए आपको सफेद प्याज के रस में शहद मिश्रित करके उपयोग करना चाहिए. इसके साथ ही आप नपुंसकता को दूर करने के लिए सफेद प्याज के रस में अदरक का रस, शहद और घी को भी मिलाकर इसका मिश्रण तैयार कर सकते हैं. इस मिश्रण को आप नियमित रूप से सुबह शाम पिएं.

2. शीघ्रपतन और कामोत्तेजना बढ़ाने के लिए-
यदि आप शीघ्रपतन की समस्या से परेशान हैं तो आपको 100 ग्राम अजवाइन लेकर उसे सफेद प्याज के रस में मिलाकर धूप में सुखायें. कुछ दिन में जब ये मिश्रण भली-भाँति सूख जाए तो आप इसका महीन पाउडर बना लें. फिर इस पाउडर को 5 ग्राम घी और 5 ग्राम शक्कर के साथ मिलाकर इसका दिन में तीन बार सेवन करें. ऐसा करने से तत्काल लाभ मिलता है. यदि आप कामोत्तेजना बढ़ाना चाहते हैं तो इसमें भी ये पाउडर बेहद लाभकारी साबित होगा. इसके लिए आपको इस मिश्रण का नियमित रूप से 21 दिनों तक सेवन करना होगा. इससे शीघ्रपतन की परेशानी खत्म होने के साथ ही आपमें कामोत्तेजना की इच्छा भी अपने चरम स्तर तक पहुंच सकती है जिससे कि आप संभोग के दौरान बिस्तर में ज्यादा देर तक टिक सकेंगे.

3. लू लगने से बचाए-
सफेद प्याज में पानी की प्रचुर मात्रा होती है, इसलिए गर्मियों में नियमित रूप से इसे खाने से लू लगने की संभावना कम हो जाती है. इसमें यौन रोगों को ठीक करने की अद्भुत क्षमता होती है. इसे कामशक्ति वृद्धि कारक भी माना गया है, यही कारण है कि पहले विधवा महिलाओं के लिए प्याज-लहसुन का सेवन करना निषेध माना जाता था.

4. सेक्स समस्याओं की असरदार औषधि-
इसलिए काम की अनिच्छा को दूर करने में इसे एक असरदार औषधि माना जाता है. विशेषकर पुरुषों के गुप्त रोगों (शीघ्रपतन आदि) तथा पौरुष समस्याओं को दूर करने में यह अति लाभकारी है. पुरुषों में यह नपुंसकता को भी दूर करता है. विशेषकर घी के साथ सफेद प्याज का सेवन करना हर प्रकार की सेक्स समस्या का निवारण करता है.

5. सभी प्रकार की सेक्स समस्याओं के लिए उपयोग का तरीका-
सफेद प्याज के रस में अदरक का रस, शहद और घी मिलाकर एक मिश्रण तैयार करें. लगातार 21 दिनों तक एक चम्म्च सुबह-शाम इस मिश्रण को खाएं तो पुरुषों में वीर्य वृद्धि होती है. काम की अनिच्छा दूर होती है.

6. नपुंसकता दूर करने के लिए-
100 ग्राम अजवायन में इतनी मात्रा में सफेद प्याज का रस मिलाएं कि वह किसी लुग्दी की तरह बन जाए. इसे अच्छी तरह धूप में सुखा लें. यही प्रक्रिया तीन बार दुहराएं और फिर इसका पाउडर बना लें. एक चम्मच इस पाउडर में 5 ग्राम घी और 5 ग्राम शक्कर मिलाकर हर दिन सेवन करने से नपुंसकता दूर होती है.

7. गले की खराश और मधुमेह-
खराश: गले की खराश, सर्दी या कफ हो, तो गुड़ या शहद के साथ सफेद प्याज का रस लेने से रोगी जल्दी ठीक होता है. लेकिन ज्यादा मात्रा में सेवन ना करें, एक चम्मच की मात्रा काफी होगी. मधुमेह: प्रतिदिन प्याज खाने से शरीर में इंसुलिन बनाता है. इसलिए मधुमेह रोगियों को नियमित रूप से हर दिन इसे खाना चाहिए.

8. हृदय रोग-
सफेद प्याज ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है. इसमें पाया जाने वाला मिथाइल सल्फाइड और एमीनो एसिड कोलेस्ट्रोल को भी नियंत्रित करता है, इस प्रकार आप हृदय रोगों से बचे रहते हैं. हृदयरोगी इसके इस्तेमाल से अपनी परेशानी कम कर सकते हैं.

9. कैंसर-
इसमें सल्फर की प्रचुर मात्रा होती है जो शरीर को पेट, कोलोन, फेफड़ा तथा प्रोटेस्ट आदि कैंसर से बचाता है. सफेद प्याज का सेवन मूत्र संक्रमण होने से भी रोकता है. यदि आप भी कैंसर के जोखिम को कम करना चाहें तो आपको भी सफ़ेद प्याज का इस्तेमाल करना शुरू कर देना चाहिए.

10. एनीमिया-
प्याज एक अच्छा ब्लड प्यूरिफायर (रक्तसफा) भी है और रक्त की कमी भी दूर करता है. इसलिए महिलाओं को इसक सेवन अवश्य करना चाहिए, खासकर मासिक धर्म के समय इसे नियमित रूप से सलाद के रूप में खाएं.

3 people found this helpful