Consult Online With India's Top Doctors
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

कान रोग के लक्षण - Kaan Rog Ke Lakshan!

Written and reviewed by
Dr.Sanjeev Kumar Singh 92% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri  •  12years experience
कान रोग के लक्षण - Kaan Rog Ke Lakshan!

कान में होने वाले दर्द से अक्सर कई लोग परेशान होते हैं. कान हमें दुनिया को और करीब से देखने में मदद करता है. इसलिए कान के महत्व को देखते हुये इसके स्वास्थ्य का ध्यान भी आपको रखना चाहिए. इसके लिए आपको ये जानना होगा कि कान में होने वाली समस्याओं को समझें. इसके बारे में जानने के लिए आपको इसके लक्षणों कोक भी विस्तार से जानना होगा. कान में दर्द एक ऐसी समस्या है जो कान के अंदरूनी हिस्से में होता है. कान में दर्द का सामन्य कारण कान में सूजन और संक्रमण को माना जाता है. कान दर्द की समस्या आमतौर पर बच्चों में देखा जाता है, लेकिन वयस्कों में भी यह समस्या विकसित हो सकते हैं. कान में दर्द का कोई गंभीर संकेत या लक्षण नहीं होता है, लेकिन यह काफी दर्दनाक हो सकता है. कान दर्द होने पर आपके कान में जलन जैसा अनुभव हो सकता है, इसका दर्द आता-जाता रह सकता है या स्थिर भी हो सकता है. आइए इस लेख के माध्यम से कान में होने वाले दर्द के प्रकार और लक्षणों को जानें.

कान में दर्द के प्रकार
कान में होने वाले दर्द के कई प्रकार के होते हैं. दरअसल इसके कई रूप हैं. इसमें अलग-अलग स्थितियों में अलग-अलग तरह की समस्याएँ होती हैं.

1. प्राथमिक कान दर्द: कान का दर्द संक्रमण या चोट के कारण हो सकता है. ये तीनों प्रकार के कान के दर्द एक जैसे अनुभव होते हैं.
बाहरी कान में दर्द हो सकता है.
यांत्रिक – यदि आपके कान में कीड़े, बाल या रुई जैसे बाहरी वस्तु प्रवेश कर जाते है तो कान में दर्द होना शुरू हो सकता है.
इसके अलावा कान के संक्रमण भी एक कारण हो सकता है.
यांत्रिक – जैसे दबाव के कारण आघात, यूस्टेकियन ट्यूब और मध्यकर्णशोथ आदि. सूजन या संक्रमित – तीव्र मध्यकर्णशोथ, कर्णमूलकोशिकाशोथ.

2. निर्दिष्ट कान दर्द: शरीर के किसी अन्य हिस्सों में होने वाले दर्द के कारण भी कान दर्द हो सकता है. यदि आपके दांत में कैविटी के कारण दर्द हो रहा है तो यह कान में दर्द का भी कारण हो सकता है. जैसे दंत पल्प में सूजन होने के कारण दांतों में क्षय होने लगता है, जिसके कारण दर्द दांतों तक जाने लगता है. दांतों की स्थितियों से जुड़े अन्य कारण जो कान में दर्द का कारण भी बन सकती हैं: टेंपॉरोमैंडीबुलर जॉइंट रोग प्रभावित तीसरी दाढ़ मुंह में या जीभ के नीचे घाव

कान में दर्द के लक्षण-
कान में दर्द निम्न दर्द व समस्याओं के साथ जुड़ा हो सकता है.
1. यदि आपके दांतों में दर्द या फोड़े होते है तो कान में दर्द हो सकता है.
2. जब बच्चों के दांत आते है यो भी कान दर्द की समस्या सामने आती है.
3. कान में कुछ फंसने पर कान दर्द हो सकता है.
4. कान के परदे में छेद होना या फटना
6. यदि गले में दर्द या टॉन्सिलाइटिस बुखार होता है, तो भी कान दर्द हो सकता है.
7. कान में संक्रमण या जुकाम होने पर भी कान दर्द हो सकता है.
8. कान में वैक्स जमा होना

अगर आपको कान में दर्द के साथ निम्न लक्षण महसूस हो रहे हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें.
1. यदि आपको तेज बुखार होता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें
2. कान के चारों ओर सूजन होने पर भी कान दर्द हो सकता है.
3. कान से द्रव निकलता है तो डाॅक्टर से संपर्क करना चाहिए
4. कान में कुछ फंसने पर भी डाॅक्टर से मिलें
5. 3 दिन से ज्यादा एक कान में दर्द रहना
6. श्वास सुनने में कमी या बदलाव
7. अन्य लक्षण, जैसे मतली और उल्टी, गले में गंभीर दर्द
8. चक्कर आना, सिर में दर्द, कान के चारों ओर सूजन या चेहरे की मांसपेशियां कमजोर पड़ना
9. गंभीर दर्द होना जो अचानक से बंद हो जाता है
10. दर्द, चिड़चिड़ापन और बुखार जैसे लक्षण जो 24 से 48 घंटों तक बना रहे.
 

3 people found this helpful