Get help from best doctors, anonymously
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Gutka Chhodne Ke Upay - गुटखा छोड़ने के उपाय

Written and reviewed by
Dr. Sanjeev Kumar Singh 91% (193 ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri  •  10 years experience
Gutka Chhodne Ke Upay - गुटखा छोड़ने के उपाय

गुटखा या पानमसाला खाने की शुरुवात शौक के रूप में होती है. लेकिन ये शौक धीरे-धीरे आदत में बदलता जाता है और ये आदत ही आगे चलकर लत बन जाता है. जब एक बार गुटखा खाने की लत लग जाती है तब आप इसे आनन्द के लिए नहीं खाते हैं बल्कि यदि अंदर से खाने का मन न भी हो तो भी आपको इसकी जबदस्त तलब होती है. जब इस स्थिति तक पहुँच जाते हैं तो फिर आपके लिए इसे छोड़ना बहुत मुश्किल हो जाता है. अब आपका शरीर इसका आदि हो गया है और गुटखा न खाने पर आपके शरीर में एक बेचैनी जैसी बनी रहती है.
गुटखा के दुष्प्रभावों की गंभीरता
इसके दुष्प्रभावों को देखते हुए ही सरकार पानमसाला के सभी उत्पादों पर स्वास्थ्य से संबंधित चेतावनी लिखने का आदेश देती है. लेकिन फिर भी हमलोग इन चेतावनियों को नाजांदाज करके इसका धड़ल्ले से सेवन करते हैं. इसलिए इसके दुष्प्रभावों के प्रति लोगों में और ज्यादा जागरूकता पैदा करने की जरूरत है. इसके साथ-साथ हमें गुटखा खाना छोड़ने के उपायों पर भी ध्यान देना होगा ताकि जो व्यक्ति इस लत से छुटकारा पाना चाहता है उसे सहायता मिले. आज की चिकित्सा प्रौद्योगिकी, एकीकृत समुदायों, और प्रभावी मनोवैज्ञानिक परामर्शो ने अब तम्बाकू और गुटखा छोड़ने के लिए नए, बेहतर और आसान तरीके निकाल लिए हैं. इसलिए यदि आप भी इस लत से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इस लेख के माध्यम से हम आपको यहाँ कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं, जो आपको आसानी से गुटखा छोड़ने में मदद करेंगे.
तम्बाकू और गुटखा चबाने के कारण
अधिकतर लोग किशोरावस्था या युवावस्था मेँ दोस्तोँ के साथ सिगरेट, गुट्खा, जर्दा, आदि का शौकिया रूप मेँ सेवन करते हैं. दरअसल इसमें होता ये है कि हम कभी दूसरों की देखा देखी तो कभी किसी की बुरी संगत मे पड़कर और कभी मित्रों के दबाब में लोग इसके शिकार हो जाते हैं. इसके अलावा कई बार तो कम उम्र मेँ लड़के खुद को बड़ा दिखाने की चाहत में और कुछ धुएँ के छ्ल्ले उड़ाने की ललक में भी इसके शिकार होते हैं. कभी-कभी कुछ लोग फिल्मों में अपने लोकप्रिय अभिनेता को धूम्रपान करते हुए देखकर तो कई बार पारिवारिक माहौल का असर तम्बाकू उत्पादों की लत का कारण बनता है.
गुटखा और तम्बाकू चबाना कैसे छोड़ें
विशेषज्ञ की मदद, जीवन शैली में परिवर्तन के साथ-साथ आहार में परिवर्तन और घरेलू उपचार एक व्यक्ति को तम्बाकू और गुटखा छोड़ने में मदद करते हैं. आज हम आपको तम्बाकू या गुटखा चबाना छोड़ने में मददगार कुछ आसान घरेलू नुस्खे, आयुर्वेदिक व हर्बल दवाएं, होम्योपैथिक दवाएं तथा योगासन के बारे में बताएंगे. विभिन्न पद्धतियों में उपचार के साथ-साथ परामर्श और अल्कॉहॉलिक्स एनॉनिमस की मीटिंग गुटखे की लत छोड़ने में कारगर साबित हो सकती हैं.
गुटखा छुड़ाने के लिए योगक्रिया

  • कुंजल क्रिया: नमक मिला गुनगुना पानी भर पेट पिया जाता है. बाद में इसकी उलटी कर दी जाती है. इससे पेट के ऊपरी हिस्से का शुद्धीकरण हो जाता है. इससे आपको इसकी तलब कम करने में मदद मिलती है.
  • वस्ति: इस क्रिया के माध्यम से शरीर के निचले हिस्से की सफाई की जाती है. इसे एनिमा भी कहते हैं. एनिमा की सफाई से भी आप इसकी तलब को कम कर सकते हैं.
  • शंख प्रक्षालन: हल्का गुनगुना नमक मिला पानी पेट भरकर पीने के बाद भुजंगासन किया जाता है. इससे पेट शंख की तरह धुल जाता है. इसके बाद हरी पत्ती पालक, मूली, मैथी आदि का सेवन किया जाता है. इससे शरीर को पर्याप्त ऊर्जा भी मिलती है और पूरी पाचन क्रिया ठीक रहती है.
  • ज्ञान मुद्रा: इसे दिन में दो बार और कुंजल, बस्ती और अर्द्ध शंखप्रक्षालन हफ्ते में दो बार करने की सलाह दी जाती है. इन क्रियाओं को किसी योग प्रशिक्षक के सामने ही करें.

9 people found this helpful