गुटखा छोड़ने के उपाय

Written and reviewed by
Dr. Sanjeev Kumar Singh 91% (193 ratings)
BAMS
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri  •  14 years experience
गुटखा छोड़ने के उपाय

भारत में तम्बाकू और गुटखे की लत काफी अधिक लोगो में पाई जाती है। शौक में खाने से शुरु होने वाली ये आदत कब लत में बदल जाती है इसका सेवन करने वाला समझ ही नहीं पाता। ये जानते हुए भी कि गुटखा सेहत के लिए बहुत हानिकारक है लोग इस लत को छोड़ नहीं पाते। गुटखा छोड़ने के लिए सबसे अधिक जिस चीज़ की ज़रूरत होती है वो है इच्छाशक्ति। इसलिए अगर आपने भी गुटखा और तम्बाकू छोड़ने का मन बना लिया है तो जानिए आप इस पर अमल कैसे कर सकते हैं।

कई बार गुटखा खाने वाले खुद की तुलना शराब का सेवन करने वालों से करते हैं। पर सच्चाई ये है कि शराब का कम मात्रा में सेवन करने से शरीर को कोई गम्भीर नुक्सान नहीं होता। पर गुटखा स्वास्थ्य को कई बड़ी बीमारियां दे सकता है। यहां तक कि ये लोगों की जान तक ले सकता है। आइए जानते हैं क्या है गुटखा खाने के नुकसान और कैसे आप इस नशे को बाय-बाय कर सकते हैं।

गुटखे के सेवन से होने वाले रोग

1. फेफड़ों का कैंसर

हम में से अधिकतर लोग ये समझते हैं कि फेफड़ों को नुक्सान केवल धूम्रपान से पहुंचता है ।पर गुटखा भी आपके फेफड़ों के लिए खतरनाक हो सकता है।जानकार मानतें हैं कि लम्बे समय तक गुटखे का सेवन करते रहने से फेफड़े कमज़ोर हो सकते हैं औऱ धीरे धीरे गलने की कगार पर आ जाते हैं। ये समस्या गम्भीर रूप लेकर कैंसर में भी बदल सकती है।

2. जिगर का कैंसर

वैसे तो लिवर कैंसर के बहुत से कारण हो सकते हैं। कोई भी नशे की लत आपके लिवर को क्षति पहंचा सकता है ।पर गुटखा खाने वालों को ये समझने की आवश्यकता है कि गुटखा भी उन्हें लिवर कैंसर की तरफ धकेल सकता है। लगातार गुटखे का सेवन करने से उनके लिवर में संक्रमण हो सकता है जो बाद में कैंसर में तब्दील हो सकता है।

3. नपुंसकता

 गुटखे का सेवन करने से पुरुषों में नपुंसकता का खतरा बढ़ा जाता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि अधिकतर पुरुषों में ये इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का कारण बन सकता है। लम्बे समय तक गुटखा खाने वालें पुरुषों में कामेच्छा में कमी आ सकती है और उनके स्पर्म की गुणवत्ता पर भी खराब प्रभाव पड़ सकता है।इरेक्टाइल डिस्फंक्शन पुरुषों के आत्मविश्वास पर गहरा आघात पहुंचा सकता है।साथ ही उनकी शादीशुदा ज़िंदगी पर भी खराब असर डाल सकता है।

4. मुंह का कैंसर

गुटखा खाने वालों में सबसे अधिक होने वाली बीमारी मुंह का कैंसर है। लगातार गुटखा खाते रहने से गाल के अंदर या जीभ पर घाव बन जाते हैं जो कैंसर का रूप ले लेते हैं। इस प्रकार का कैंसर भारत में गुटखे के कारण होने वाली सबसे अधिक मौतों का कारण बनता है।कैंसर के कारण खाने पीने और यहां तक कि रोगी के बोलने की क्षमता तक खत्म हो जाती है।

5. दांतों को क्षति

लगातार गुटखा खाने से आपके दांत भी खराब हो जाते हैं। दांतों पर गुटखे में मिलाए जाने वाले केमिकल का रंग चढ़ जाता है। इसके अलावा दांतों की जड़े ढीली पड़ जाती है। इतना ही नहीं बिना ज़रूरत गुटखे जैसी कठोर चीज़ चबाने से आपके दांत घिस जाते हैं औऱ अंदर से खोखले हो सकते हैं।

कैसे छोड़ें गुटखे की लत

  1. लगातार गुटखा खाने वाले लोग इसे चाहकर भी छोड़ नहीं पाते । कभी इसके लत के आदी लोग परिवार के दबाव में या आत्मग्लानि से भरकर इसे छोड़ने की कोशिश करते भी हैं तो कुछ दिन बाद दोबारा उसी नशे की गर्त में चले जाते है।
  2. अगर आपने भी पहले कभी गुटखा छोड़ने की कोशिश की है तो सबसे पहले एक बात समझ लें कि अचानक गुटखा छोड़ना मुश्किल हो सकता है। इस बुरी लत से छुटकारा पाने के लिए आपके एक योजना की ज़रूरत है।सबसे पहले तो आप मन में तय कर लें कि कब तक आप इस आदत से खुद को आज़ाद कर लेंगे। फिर इसकी मात्रा में थोड़ी थोड़ी कमी करना शुरु करें। अगर दिन भर में 10 पैकेट गुटखा खाते हैं तो पहले इसे 8 पर लाएं औऱ फिर 6 पर।इस प्रकार इसकी संख्य़ा कम करते जाएं।अचानक पूरी तरह इसका सेवन बंद करने से आपका शरीर विदड्रॉल के लक्षण दर्शा सकता है।
  3. कुछ लोगों को काम के दौरान गुटखा चबाने की आदत होती है। कोशिश करें कि काम करते वक्त आप कोई च्युइंग गम पास में रखें और गुटखे की तलब होने पर इसका सेवन करें।
  4. ऐसे लोगों से दूरी बनाएं जो लगातार गुटखा खाते रहते हैं क्योंकि उन्हें ऐसा करते देख आपका मन भी डिग सकता है। ऐसी दुकानों पर जाने से बचें जहां गुटखा आसानी से उपलब्ध हो सकता है।
  5. कुछ लोग कुछ भी खाने या चाय कॉफी का सेवन करने के बाद गुटखा खाने के आदी होते हैं। अगर आप भी उनमें से एक हैं तो अपने पास इलायची या सौंफ रखें। खाने या चाय के बाद गुटखा खाने का मन होने पर इन चीज़ों का सेवन करें जिससे आपकी आदत धीरे धीरे छूट जाए।  
  6. कुछ घरेलू उपाय भी गुटखा छोड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं। अजवाइन इसमें आपके काम आ सकती है। आपको करना ये है कि छोड़ी सी अजवाइन ले लीजिए. अब इसे नींबू के रस और थोड़े से काले नमक के साथ मिला लीजिए।इन सब चीज़ो को एक साथ मिलाकर एख काच के बर्तन में दो दिनों के लिए छोड़ दें। इसके बाद गुटखा खाने की इच्छा होने पर इस मिश्रण का सेवन करें। धीरे धीरे आपकी गुटखे की लत छूट जाएगी।
  7. गुटखा छुड़ाने में अदरक भी आपके काम आ सकती है। इसके लिए आपको थोड़ी सी अदरक ले नी है। इसे धोकर छोटे टुकड़ों में काट लीजिए या कद्दूकस कर लीजिए। इस अदरक को छांव में सुखा लीजिए। जब ये अच्छी तरह सूख जाए तो इसका पाउडर तैयार कर लीजिए औऱ गुटखा खाने का मन करे तो इसका सेवन करते रहिए। जानकार मानते हैं कि अदरक में मौजूद सल्फर गुटखे की आदत छुड़ाने में कारगर साबित हो सकता है।
  8. अगला घरेलू नुस्खा है नींबू और हरड़ से तैयार किया जाने वाली मिश्रण। गुटखा छोड़ने की इच्छा रखने वाले थोड़ी सी छोटी हरड़ को नींबू के रस में मिलाकर रख दें। इसमें थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाना है और दो दिनों के लिए रख देना है। इस मिश्रण को छांव में सुखा लें औऱ गुटखे की जगह इसका सेवन करने की कोशिश करें।
  9. गुटखे की लत से  छुटकारा पाने में ज़ीरा बड़े काम का हो सकता है। आपको करना बस ये है कि एक लीटर पानी में 2-3 चम्मच ज़ीरा मिलाकर उबाल लें। फिर इस पानी को छानकर ठंडा होने दें।दिन में कम से कम चार बार इस पानी का सेवन करने से आपको फर्क महसूस होने लगेगा।
  10. विशेषज्ञ मानते हैं कि गुटखा खाने वाले अगर इस लत से मुक्ति पाना चाहते हैं तो उन्हें खुद को हाइड्रेटेड रखना चाहिए। दिन भर में करीब चार लीटर पानी पीने का लक्ष्य निर्धारित करें। इससे आपकी गुटखा चबाने की इच्छा में कमी आ सकती है।
  11. विशेषज्ञों का मानना है कि आहार में बदलाव कर के भी गुटखे की लत से मुक्ति पाई जा सकती है। उदाहरण के तौर पर भोजन के साथ मूली का सेवन कर से गुटखे की लत को नियंत्रित करने की सलाह दी जाती है।
  12. गुटखे से निजात पाने के लिए सैंप के साथ मुलैठी का सावन करने की सलाह भी दी जाती है। इन दोनों चीज़ों को मिश्रण बनाकर अपने पास रखें और गुटखा खाने का मन करे तो इसे चबा लें। सौंफ आपके पाचन को बेहतर बनाएगी औऱ मुलेठी भी पाचन तंत्र के कामकाज को आसान बनाएगी।
  13. आहार में बदलाव के साथ अधिक पानी पीने की सलाह के बारें में तो आप जानते ही हैं। ऐसे में आप अपने आहार में अधिक पानी वाले फल भी शामिल कर सकते हैं।इसके लिए आप खाने में तरबूज़.खरबूज़ा,पपीता,संतरा आदि फलों का सेवन कर के अपनी लत को खत्म कर सकते हैं।
  14. गुटखा छोड़ने पर आपके पाचन में परेशानी का अनुभव हो सकता है। आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है। इसलिए गुटखा छोड़ने की प्रक्रिया के दारन हल्का भोजन करें जिससे आपको एसिडिटी से परेशान ना होना पड़े। इसके अलावा कम वसा वाले खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में अधिक जगह दें।
16 people found this helpful