Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी का सेवन - Green Tea During Pregnancy in Hindi

Written and reviewed by
Dr. Sanjeev Kumar Singh 91% (193 ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri  •  11 years experience
गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी का सेवन - Green Tea During Pregnancy in Hindi

गर्भवती महिलाओं को सामान्य लोगों की तुलना में पानी की अधिक मात्रा की सिफारिश की जाती है क्योंकि यह गर्भनाल और एमनियोटिक द्रव के लिए आवश्यक होता है। उन्हें हर दिन लगभग 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए।

क्या गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी पीना सुरक्षित है?

लेकिन जैसा कि यह सर्वविदित है कि पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है इसलिए केवल पीने के पानी के अलावा गर्भवती महिलाएं ग्रीन टी (Green Tea) का भी सेवन कर सकती हैं।

जैसा कि यह सर्वविदित है कि ग्रीन टी पोषक तत्वों से भरपूर होती है, इसलिए, एक दिन में 2 कप ग्रीन टी का सेवन गर्भवती महिलाएं कर सकती हैं।

गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी के फायदे - Benefits of Green tea during Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी के फायदे निम्नलिखित हैं:

  1. ब्लड प्रेशर को बनाए(मेंटेन) रखना:

    गर्भावस्था के दौरान ब्लड प्रेशर में उतार-चढ़ाव सबसे आम समस्याओं में से एक है। ग्रीन टी एंटीऑक्सिडेंट (पॉलीफेनोल्स) का स्रोत है जो कोशिका क्षति की रोकथाम में उपयोगी होता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी का सेवन करने से ब्लड कंट्रोल में रहता है।

  2. ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखना:

    ग्रीन टी गर्भावस्था के दौरान शुगर के स्तर को कंट्रोल करने में भी मदद करती है। यह शुगर के स्तर को संशोधित कर सकता है और जेस्टेशनल डायबिटीज के लिए भी फायदेमंद होता है।

  3. मूड स्विंग को ठिक करता है:

    ग्रीन टी पीने से शरीर का मेटाबोलिज्म बूस्ट होता है जो गर्भावस्था के दौरान मूड स्विंग्स को काउंटर करने का काम करता है। ग्रीन टी में थीनिन होता है जो आराम के प्रभाव प्रदान करता है और मूड को अच्छा करता है।

  4. त्वचा की समस्याओं का समाधान करता है:

    गर्भावस्था के दौरान कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं जिससे त्वचा की समस्याएं भी हो सकती हैं। ग्रीन टी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा की समस्याओं जैसे लालिमा, खुजली या सूजन का इलाज करने में मदद कर सकते हैं।

  5. प्रतिरक्षा को बढ़ाता है:

    ग्रीन टी शरीर में मौजूद टी-सेल्स को उत्तेजित करने में मदद करती है जो प्रतिरक्षा में सुधार के लिए महत्वपूर्ण होते हैं और शरीर को आगामी समस्याओं के लिए भी तैयार करते हैं।

  6. हड्डीयों के ताकत को बढ़ाता है:

    नियमित रूप से ग्रीन टी पीने से हड्डियों की ताकत बढ़ती है और यह मौखिक स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देता है।

गर्भावस्था के लिए सबसे अच्छी ग्रीन टी कौन सी है? Best green tea to drink while pregnant in Hindi

हालांकि गर्भावस्था के दौरान सभी प्रकार की ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है, लेकिन उनमें से कुछ पर्याप्त मात्रा में लेने पर अधिक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती हैं:

  1. ऑर्गेनिक ग्रीन टी: ऑर्गेनिक ग्रीन टी प्रमाणित है कि इसे उस पौधे से निकाला गया है जो बिना किसी कीटनाशक और उर्वरकों के उपयोग से उगाया जाता है।
  2. डेकाफ ग्रीन टी: मानक ग्रीन टी की तुलना में इस चाय में कम से कम कैफीन की मात्रा होती है। इस प्रकार यह गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित होता है।
  3. माचा ग्रीन टी: यह ग्रीन टी बेहतरीन ग्रीन टी की पत्तियों से बनी होती है जिसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स की मात्रा अधिक होती है। लेकिन 2 कप से अधिक का सेवन नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि यह बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है।

क्या प्रारंभिक गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी सुरक्षित है?

हाँ, गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है लेकिन इसे ज़्यादा नहीं लेना चाहिए क्योंकि ज़्यादा मात्रा में ग्रीन टी पीने से फोलिक एसिड के अवशोषण में बाधा पैदा हो सकती है। मां को दिन में केवल 2 कप ग्रीन टी पीनी चाहिए क्योंकि फोलिक एसिड के निम्न स्तर से शिशुओं में जन्मजात विकलांगता हो सकती है।

क्या गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी पीना सुरक्षित है?

हालांकि गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी के कई फायदे हैं। लेकिन कुछ बिंदु हैं जिन्हें आपको ग्रीन टी का सेवन शुरू करने से पहले ध्यान में रखना चाहिए:

  1. आयरन के अवशोषण पर प्रभाव:

    अगर ग्रीन टी का सेवन अधिक मात्रा में किया जाता है तो लाल रक्त कोशिकाओं की आयरन अवशोषित करने की क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। यह बच्चे को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति में बाधा उत्पन्न करता है।

  2. फोलिक एसिड का अवशोषण:

    फोलिक एसिड का अवशोषण ग्रीन टी से बाधित होता है जो गर्भावस्था के पहले तिमाही के दौरान आवश्यक विटामिन होता है। इसलिए यदि आप गर्भवती हैं तो ग्रीन टी का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे शिशु में न्यूरल ट्यूब दोष हो सकता है।

  3. नींद पर असर:

    गर्भावस्था के दौरान, शरीर कैफीन को तोड़ने की अपनी क्षमता खो देता है। इसलिए यदि उच्च मात्रा में ग्रीन टी का सेवन किया जाए तो यह नींद के पैटर्न को प्रभावित कर सकती है, जिससे हृदय की समस्याएं बढ़ सकती हैं और पेशाब भी बढ़ सकता है।

  4. पाचन समस्याएं:

    ग्रीन टी को भोजन के साथ नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे गर्भावस्था के दौरान भोजन को पचाने में समस्या हो सकती है।

  5. चयापचय दर में वृद्धि:

    हालांकि चयापचय दर में वृद्धि अच्छी होती है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान महिला का चयापचय पहले से ही उच्च होता है और ग्रीन टी का ज्यादा सेवन इसे और आगे बढ़ाता है। बढ़ी हुई चयापचय दर अच्छी नहीं होती है क्योंकि इससे मां में शारीरिक परिवर्तन हो सकते हैं जो अंततः बच्चे के लिए अच्छा नहीं होता है।

गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी का सेवन करने के टिप्स:

  • दिन में केवल दो कप ग्रीन टी पियें
  • मिलावटी के रूप में ग्रीन टी की अच्छी गुणवत्ता की खरीद बच्चे के लिए हानिकारक होती है
  • गर्भावस्था के दौरान कभी भी खाली पेट ग्रीन टी न पिएं क्योंकि इससे मतली, एसिडिटी, कब्ज या पेट दर्द हो सकता है
  • भोजन के साथ और भोजन के दो घंटे पहले या बाद तक ग्रीन टी का सेवन न करें
  • सोने से पहले या देर दोपहर में ग्रीन टी पीने से बचें क्योंकि इससे आपके सोने के तरीके में बाधा आ सकती है
  • ग्रीन टी बनाने के लिए छने हुए (फिल्टर) पानी का उपयोग किया जाना चाहिए

इसलिए, गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी का सेवन सीमित मात्रा में किया जा सकता है। लेकिन अगर आपको कोई संदेह है तो आप निश्चित रूप से डॉक्टर विशेषज्ञों से परामर्श कर सकते हैं और गर्भावस्था के दौरान ग्रीन टी सुरक्षित है या नहीं जान सकते हैं।

यदि आपके पास कोई चिंता या प्रश्न है, तो आप हमेशा किसी विशेषज्ञ से परामर्श कर सकते हैं और अपने प्रश्नों के उत्तर प्राप्त कर सकते हैं!

In case you have a concern or query you can always consult a specialist & get answers to your questions!
1 person found this helpful
Icon

Book appointment with top doctors for Green Tea treatment

View fees, clinic timings and reviews