Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Cranberry Benefits and Side Effects in Hindi - करौंदा के फायदे और नुकसान

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri  •  8 years experience
Cranberry Benefits and Side Effects in Hindi - करौंदा के फायदे और नुकसान

करौंदा एक ऐसा पौधा है जो सबसे पहले उत्तरी अमेरिका में उगाया गया था. अंग्रेजी में इसे क्रेनबेरी कहते हैं. इसका वैज्ञानिक नाम वैक्सीनियम मैक्रोकार्पोंन है. करौंदा छोटी-छोटी झाड़ियों के रूप में उगने वाला पौधा है. इसमें कांटे भी लगे होते हैं. इसकी फली आकार में बहुत छोटी होती है. जिसका रंग गहरा गुलाबी होता है. करौंदा को यदि कच्चा खाया जाए तो यह काफी खट्टा होता है. लेकिन पकने के बाद इसमें मिठास आ जाती है. करौंदा का इस्तेमाल सॉस, ड्रिंक्स आदि बनाने में किया जाता है. करौंदा में पोषक तत्वों की उच्च मात्रा और एंटीऑक्सीडेंट्स थी पाया जाता है. इसे अक्सर सुपर फूड के नाम से भी संबोधित किया जाता है. आइए करौंदा के कुछ फायदे और नुकसान को समझते हैं.

1. वजन घटाने में 
करौंदा में पाया जाने वाला फाइबर हमारे हमें लंबे समय तक पेट भरे रहने का एहसास कराता है. जिसकी वजह से भूख जल्दी-जल्दी नहीं लगती. इसके अलावा इसमें पाया जाने वाला रस हमारे शरीर में जमा होने वाले वसा को भी खत्म करके हमारे वजन और मोटापा घटाने का काम करता है.
2. प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में
करौंदा का इस्तेमाल हम अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी कर सकते हैं. क्योंकि करौंदा में एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. इसलिए करौंदा हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करके हमें बिमारियों से दूर रखने का काम करंता है.
3. दांतों को स्वस्थ रखने के लिए
करौंदा हमारे दांतो को भी स्वस्थ रखने में काफी उपयोगी है. कई शोधों में यह पाया गया है कि करौंदा में पाए जाने वाले तमाम लाभदायक तत्वों में से एक प्रोएंथोसायनिडीन जीवाणुओं को दांतो से दूर रखने में मददगार है. इसके अलावा यह हमारे मसूड़ों को भी कई रोगों से बचाने का काम करता है.
4. त्वचा की बेहतरी के लिए
करौंदा हमारे शरीर को कई रोगों से तो बचाता ही है. इसके अलावा ये हमारे त्वचा को भी कोमल और बेहतर बनाने में लाभदायक होता है. यदि आप ड्राई करौंदा एक चौथाई इसके तेल के साथ मिक्स करके इस्तेमाल करें तो बेहतर परिणाम मिलते हैं. इस पेस्ट को 10 मिनट के लिए त्वचा पर लगाकर इसे अच्छे से धो लें ऐसा करने से त्वचा कोमल बनती है.
5. मस्तिष्क के लिए
करौंदा की फली हमारे मस्तिष्क के लिए भी काफी उपयोगी तत्व मानी जाती है. इसमें पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट्स सूजन को तो कम करता ही है. हमारे स्मृति और समन्वय की क्षमता में भी सुधार लाता है. यानी इसका इस्तेमाल हम अपनी यादाश्त को बढ़ाने के लिए भी कर सकते हैं.
6. कैंसर के उपचार में
करौंदा का इस्तेमाल हम कैंसर के उपचार में भी करते हैं. विशेष रुप से प्रोस्टेट कैंसर, लीवर कैंसर, स्तन कैंसर और ओवेरियन कैंसर में इसके इस्तेमाल का प्रभाव काफी सकारात्मक देखा गया है. करौंदा ट्यूमर के बढ़ने की प्रक्रिया को भी धीमा करने का काम करता है.
7. पेशाब इन्फेक्शन को दूर करने के लिए
करौंदा का इस्तेमाल मूत्रमार्ग की दीवारों से बैक्टीरिया को कम करने में भी किया जा सकता है. इसका कारण करौंदा में पाया जाने वाला प्रोएथोकेनिडिन नामक तत्व है. इसके आलावा करौंदा के सेवन से मूत्र में होने वाले संक्रमण को दूर कर सकते हैं.
8. दिल को स्वस्थ रखने में
दिल को स्वस्थ रखने में भी करौंदा का इस्तेमाल किया जा सकता है. दरअसल करौंदा का रस एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने का काम करता है. जिसे कि अच्छा कोलेस्ट्रॉल भी कहा जाता है. इसके अलावा करौंदा में पॉलीफेनाल्स भी पाया जाता है. जोकि रक्तचाप को कम करने में महत्वपूर्ण होता है.

करौंदा के नुकसान

  • गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली माताएं इसके इस्तेमाल से बचें.
  • जिन लोगों को एस्पिरिन से एलर्जी है उन्हें भी इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए.
     
1 person found this helpful