Consult Online With India's Top Doctors
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

कुत्ते के काटने का इलाज - Kutte Ke Katne Ka Ilaj!

Written and reviewed by
Dr.Sanjeev Kumar Singh 92% (193ratings)
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri  •  12years experience
कुत्ते के काटने का इलाज - Kutte Ke Katne Ka Ilaj!

घर के आस-पास कई अवारा कुत्ते होते हैं जिन्हें कई तरह की बीमारियां लगी होती हैं. कई बार घर के बाहर घुमते समय अचानक कुत्ता काट लेता है जिससे काफी पीड़ा होती है. अावारा कुत्ते के काटने से रैबीज के कीटाणु शरीर में चले जाते हैं जिससे व्यक्ति को हाइड्रोफोबिया या पागलपन जैसी समस्या हो सकती हैं. कुत्ते के काटने पर घाव को पानी से अच्छी तरह साफ करना चाहिए और तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए लेकिन कई बार अस्पताल नजदीक नहीं होता तो ऐसे में इंफैक्शन से बचने के लिए तुरंत घरेलू उपचार भी कर सकते हैं. कुत्ते के काटने से रेबीज़ या टेटेनस का संक्रमण हो सकता है. अगर किसी ऐसे कुत्ते ने काटा है, जिसे रेबीज़ है या हो सकता है, तो तत्काल डॉक्टर को दिखाने की ज़रूरत है. संक्रमण के लक्षणों में लाल होना, सूजन, बहुत ज़्यादा दर्द और रिसाव शामिल हैं. ये लक्षण तुरंत किसी डॉक्टर को दिखाए जाने चाहिए. कुत्तों के काटने से होने वाले घाव मामूली से लेकर जानलेवा तक हो सकते हैं और संक्रमण या दर्दनाक जटिलताओं को रोकने के लिए जल्दी इलाज करवाने की ज़रूरत है. पांच या उससे ज़्यादा सालों में टेटेनस शॉट नहीं लेने से टेटेनस का खतरा बढ़ जाता है और बूस्टर शॉट की सलाह दी जा सकती है. आइए इस लेख के माध्यम से हम कुत्तों के काटने के इलाज पर एक नजर डालें.

कुत्ते के काटने के लक्षण-

  • कुत्ते के काटने वाले स्थान पर चमड़े का रंग लाल होने लगता है.
  • जिस स्थान पर कुत्ते ने काटा है वहाँ सूजन भी हो सकती है.
  • कई बार जब कुत्ते ने ज़ोर से काटा होता है तब पीड़ित को बहुत तेज दर्द का भी अनुभव होता है.
  • काटने वाले स्थान से रिसाव भी होने की संभावना बनी रहती है.
  • जाहीर है जब कुत्ता काटेगा तो बहुत हद तक संभव है कि वहाँ खरोंच का निशान हो.
  • जब दाँत ज्यादा गड़ जाता है तो वहाँ से खून भी निकल सकता है.
  • कुत्तों के काटने से संक्रमण होने की भी संभावना रहती है.

क्या है कुत्ते के काटने का इलाज?
कुत्तों के काटने से होने वाले घाव मामूली से लेकर जानलेवा तक हो सकते हैं और संक्रमण या दर्दनाक जटिलताओं को रोकने के लिए जल्दी इलाज करवाने की ज़रूरत है. पांच या उससे ज़्यादा सालों में टेटेनस शॉट नहीं लेने से टेटेनस का खतरा बढ़ जाता है और बूस्टर शॉट की सलाह दी जा सकती है.

  • घाव की सिंचाई: - घाव को साफ़ करने के लिए जीवाणुरहित पानी का उपयोग करना.
  • घाव की मरहम-पट्टी: - त्वचा को क्षति से बचाता है और रक्तस्राव नियंत्रित करने में सहायता करता है.
  • टिटनेस का टीका: - क्लोस्ट्रीडियम टेटानी नाम टिटेनस के कारक जीवाणु के संक्रमण से सुरक्षा करता है.
  • पेनिसिलिन एंटीबायोटिक: - विशिष्ट जीवाणुओं के विकास को रोकता या उन्हें मार डालता है.
  • प्राथमिक देखभाल प्रदाता: - रोगों की रोकथाम, पहचान और इलाज करते हैं.
  • आपातकालीन चिकित्सा के डॉक्टर: - आपातकालीन विभाग में रोगियों का इलाज करते हैं.

अब जानिए कुत्ते के काटने के घरेलू इलाज
1. लाल मिर्च: - कुत्ते के काटने पर काटने वाली जगह को तुरंत पानी से अच्छी तरह से साफ कर लें। इसके बाद ज़हर को फैलने से रोकने के लिए लाल मिर्च पाउडर का इस्तेमाल करें. लाल मिर्च के पेस्ट को सरसों के तेल में मिलाकर घाव पर लगाएं जिससे संक्रमण नहीं होगी.

2. प्याज: - प्याज का रस, नमक, अखरोट की पीसी हुई गिरी और शहद को बराबर मात्रा में मिलाएं और उसे काटने वाली जगह पर लगाकर पट्टी बांध लें. यह कुत्ते के जहर को पूरे शरीर में फैलने से रोकता है. इस प्रकार कुत्ते के काटने के मौके पर प्याज भी आपके काफी काम आ सकता है.

3. काली मिर्च: - काली मिर्च का इस्तेमाल करके भी जहर को फैलने से रोक सकते हैं. इसके लिए 10-15 दाने काली मिर्च और 2 चम्मच जीरा को पीस लें और उसमें पानी मिलाकर लेप तैयार करें. इसे घाव पर लगाने से फायदा होता है.

4. हींग: - अगर किसी व्यक्ति को पागल कुत्ता काट जाए तो हींग का इस्तेमाल करें. पागल कुत्ते के काटने से व्यक्ति को भी पागलपन की समस्या हो सकती है. इसके लिए हींग में पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं और उसे घाव पर लगाएं. इससे सारा जहर खत्म हो जाएगा.

10 people found this helpful