Get help from best doctors, anonymously
Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Bhaang Ka Nasha Utarne Ke Upay - भांग के प्रभाव और नशा उतारने के उपाय!

Written and reviewed by
Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri  •  10 years experience
Bhaang Ka Nasha Utarne Ke Upay - भांग के प्रभाव और नशा उतारने के उपाय!

होली को रंगों का त्यौहार माना जाता है, इस पर्व के दौरान लोग रंग और गुलाल के साथ तो खेलते ही है साथ में विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजनों का भी लुत्फ़ उठाते है. इन सब के बीच एक और ऐसी चीज है जिसके बिना होली का मजा अधुरा रह जाता है. यदि आपके मन में भांग और ठंडाई का नाम आया है तो बिल्कुल सही सोच रहे हैं. हम भांग की ही बात कर रहे हैं. होली का मौका हो और भांग और ठंडाई न पी जाए, तो यह बात हजम नहीं होती है.

भारत के उत्तर प्रांत के राज्यों में होली के दिन भांग पीने की बहुत पुरानी प्रथा है. भांग पीने के कई भांग के बिना होली भले ही अधुरा रह जाता हो, लेकिन इससे भी ज्यादा परेशानी की बात तब हो सकती है जब भांग के प्रभाव ज्यादा हो जाता है और आपके रोज के दिनचर्या और स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक साबित होता है. इसलिए भांग का सेवन करें लेकिन इसका भी ख्याल रखें की भांग का नशा आपके दिनचर्या को प्रभावित ना करें.

हालाँकि, भांग में कई तरह के औषधीय गुण भी होते है जो आपको कई गंभीर बिमारियों में इलाज के रूप में उपयोग किया जाता है. भांग के प्रभाव से होने वाले फायदों में निम्न बीमारियां शामिल है:-

  1. ग्लूकोमा- भांग के सेवन से ग्लूकोमा के लक्षण ठीक होते है.
  2. कैंसर- भांग का उपयोग कई कैंसर को ठीक करने के लिए दवाओं में उपयोग किया जाता है. भांग कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में मदद करता है.
  3. कान की समस्या- भांग के 8 से 10 बूँद रस को कान में डालने से कान की समस्या ठीक हो जाती है.
  4. अस्थमा- भांग को जला कर उसके धुंए को सूंघने से अस्थमा की समस्या से लाभ मिलता है.

ऐसे कई लोग हैं जिनको भांग हज़म नहीं होती, वे कई दिनों तक भांग के हैंगओवर से उबर नहीं पाते हैं. यह स्थिति इतनी ज्यादा गंभीर हो सकती है की आपको हस्पताल में भी भर्ती होना पड़ सकता है. आमतौर पर भांग खाने पर नर्वस सिस्टम का नियंत्रण नहीं रहता है इसलिए लोग अपने किसी भी एक्टिविटी को कंट्रोल नहीं कर पाते. जब आपको भांग का हैंगओवर होता है तो आपको कई तरह के लक्षण अनुभव होंगे. जिसमे निम्नलिखित शामिल है:-

  1. असामान्य रूप से हंसना
  2. अचानक रोने लग जाना 
  3. बहुत ज्यादा नींद आना
  4. अत्यधिक भूख लगना
  5. बहुत अधिक भांग खाने से याद रखने में असमर्थता 
  6. भांग खाने के दौरान कई लोग आँख खोल कर सोते है, जो बहुत ही गंभीर स्थिति होती है.

भांग का नशा उतारने के उपाय में सबसे बेहतर घरेलू नुस्खे को अपनाना है. इसके लिए आप खटाई, दही, नींबू छाछ, या फिर इमली का इस्तेमाल कर सकते है. भांग का हैंगओवर आपके बॉडी में कमजोरी, डिहाइड्रेशन, सिरदर्द की समस्या से दो चार होना पड़ सकता है.  इन समस्याओं से निजात पाने के घरेलू उपाय के साथ आयुर्वेदिक उपाय सबसे बेहतर तरीका है. 

भांग का हैंगओवर उतारने के घरेलू तरीके-

  1. भांग हैंगओवर लक्षण दिखने और नशा हो जाने पर उतारने के तरीके में  250 ग्राम से लेकर 500 ग्राम तक घी का सेवन करें. यह उपाय बहुत फायदेमंद साबित होते है.
  2. भांग का हैंगओवर उतारने के घरेलू तरीके लिए खटाई का सेवन भी एक कारगर तरीका है. इसके साथ आप कोई भी खट्टा पदार्थ जैसे निम्बू, दही, इमली का पानी भी ले सकते है.
  3. अगर कोई भांग हैंगओवर उतारने के लिए बेसुध पड़े व्यक्ति के कान में सरसों का तेल हल्का गुनगुना कर ले. एक दो बूँद तेल प्रभावित व्यक्ति के कान में डालें.
  4. सफेद मक्खन भी भांग का हैंगओवर उतारने के उपायों में काफी फायदेमंद साबित होता है. 
  5. भांग का सेवन किसे नहीं करना चाहिए 

बच्चों को भांग का सेवन नहीं करना चाहिए, यह उनके एकग्रता में कमी ला सकता है.

  1. जो लोग रोजाना काम पर जाते हैं उनके लिए भी भांग फायदेमंद नहीं है, क्योंकि यह उनके दिनचर्या के काम को प्रभावित कर सकता है. वह अपने काम पर फोकस नहीं कर पाते हैं.
  2. गर्भवती महिलायों को भी भांग के सेवन से परहेज करना चाहिए, यह गर्भपात जैसी परिस्थिति का भी कारन बन सकती है.
  3. ऐसे लोग जो मानसिक समस्या से पीड़ित है, वे भी भांग के सेवन से दूर रहें. भांग के प्रभाव उनके लिए भी नुकसानदायक सिद्ध हो सकते है.
In case you have a concern or query you can always consult a specialist & get answers to your questions!
You found this helpful