Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Clinic
Book Appointment

Bethesada Hospital

Multi-speciality Hospital (General Surgeon, Ayurveda & more)

St.mary Church, Stavely Road, Camp. Landmark: Opp Poolgate Petrol Pump. Pune
3 Doctors · ₹0
Book Appointment
Call Clinic
Bethesada Hospital Multi-speciality Hospital (General Surgeon, Ayurveda & more) St.mary Church, Stavely Road, Camp. Landmark: Opp Poolgate Petrol Pump. Pune
3 Doctors · ₹0
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Services
Feed

About

We will always attempt to answer your questions thoroughly, so that you never have to worry needlessly, and we will explain complicated things clearly and simply....more
We will always attempt to answer your questions thoroughly, so that you never have to worry needlessly, and we will explain complicated things clearly and simply.
More about Bethesada Hospital
Bethesada Hospital is known for housing experienced Ayurvedas. Dr. Pritam Bhambl, a well-reputed Ayurveda, practices in Pune. Visit this medical health centre for Ayurvedas recommended by 87 patients.

Timings

MON-TUE, THU-SUN
10:00 AM - 06:00 PM

Location

St.mary Church, Stavely Road, Camp. Landmark: Opp Poolgate Petrol Pump.
Camp Pune, Maharashtra - 412211
Click to view clinic direction
Get Directions

Doctors in Bethesada Hospital

Available today
10:00 AM - 06:00 PM
Available today
10:00 AM - 06:00 PM

Dr. Mohan Bhambl

General Surgeon
Available today
10:00 AM - 06:00 PM
View All
View All

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Bethesada Hospital

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Diminished Penis Sensation - Tips On What To Do

MD - General Medicine
Sexologist, Delhi
Diminished Penis Sensation - Tips On What To Do

Diminished Penis Sensation: Tips on What to Do

For a sexually active man, the degree of penis sensation has a clear and direct impact on the amount of pleasure he derives from any form of sex. When the degree of penis sensation is high, the sensitivity in his manhood creates sublime and ecstatic feelings that can lead to very satisfying releases. But when the degree is diminished, the pleasure factor is negatively impacted. The experience is still enjoyable, but a man feels like something is missing. In such a situation, tips for proper penis care can help to improve penis sensitivity and make sexual contact - whether with a partner or with himself - more engaging and satisfying.

Why diminished penis sensation?

A man might very reasonably ask, "Why am I experiencing this decrease in penis sensation?" Some men may panic and think this is a sign of aging (even if they are quite young) and that therefore there's nothing they can do to alter it. In fact, this is not the case.

Diminished sensitivity in the member is common and there are a number of reasons for it. For example, often a man may use a cleanser on his equipment that is too harsh for the task. This may cause some wear on the penis skin, undetected by the man in question. The body responds by adding a new, thin layer of skin cells on top of the damaged skin. When too many layers are added, there's more of a barrier between a source of sensation and the penile nerve endings.

Mental forces also play a role in diminished sensation. If a man is anxious or worried, whether about sexual performance issues or about other things occurring in his life, his mind is "not in the game" when he's in the sack. This can create a mental barrier that impacts the ability to perceive sensation as fully as one might.

Handling issues

But probably the most common reason for diminished sensitivity is rough handling, either by a partner or by oneself. Having sex without sufficient lubrication, experiencing too tight a grip on the member or rubbing against surfaces that are not sufficiently welcoming can create the same kind of damage as using a harsh cleanser. And as with the cleanser situation, layers of tissue can build up that get in the way of maximum pleasure.

Tips

So what can one do to help restore lost sensation? Here are a few tips:

- Switch cleansers. Use a mild soap that doesn't irritate the penis skin.

- Avoid commando. Wearing soft cotton underwear keeps the penis from rubbing against rough denim, wool or other trouser fabrics. Going without underwear can definitely rub the penis the wrong way.

- Lay on the lube. Whether masturbating or partnering, make sure that the penis is well-lubricated throughout the sex act. Apply more lubricant if the session is lengthy and the original application wears off.

- Maintain penile health. One of the most important tips to prevent and treat diminished penis sensation is to regularly use a top-drawer penis health creme (health professionals recommend Man1 Man Oil). In terms of prevention, a crème that focuses on keeping penis skin healthy is crucial. Select one that includes protective ingredients such as Shea butter and vitamin E (two powerful moisturizing agents) and a potent antioxidant (such as alpha lipoic acid) which helps offset harmful oxidative damage. For treatment purposes, that crème should also include acetyl L-carnitine, an invaluable ingredient that serves a neuroprotective purpose. Acetyl L-carnitine has been proven to help avoid peripheral nerve injury resulting from rough handling, thereby helping to restore lost sensitivity. Those who are concerned about loss of penis sensation are well-advised to make the daily application of Man1 Man Oil a part of their health regimen.

 

चरम रोग घरेलू उपचार - Charam Rog Ke Liye Ghareloo Upachaar!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
चरम रोग घरेलू उपचार - Charam Rog  Ke Liye Ghareloo Upachaar!

ऐसे विकार या संक्रमण जो मानव त्वचा को प्रभावित करते हैं, उन्हें चर्म रोग कहा जाता है. पोषण में कमी और त्वचा का ठीक से खयाल न रखने के कारण कई तरह की त्वचा संबंधी परेशानियां हो जाती हैं. दरअसल अस्वस्थ खानपान और अनियमित जीवनशैली के कारण हमारा पाचन और रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है इस वजह से कई तरह के इंफेक्शन और चर्मरोग शरीर में हो सकते हैं. इन चर्मरोगों के पीछे बैक्टीरयल या फंगल इंफेक्शन होते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता के कम होने के कारण शरीर को प्रभावति करते हैं. गर्मी के मौसम में इस तरह की समस्याएं अधिक होती हैं. ऐसे में त्वचा का बचाव करना बहुत जरूरी होता है. आइए हम आपको चर्म रोग से बचने के कुछ घरेलू उपाय के बारे में बताते हैं.

क्या है इसका कारण?

इनके कई कारण होते हैं. हालांकि त्वचा को प्रभावित करने वाले अधिकांश रोग त्वचा की परतों में शुरू होते हैं, यह विभिन्न प्रकार के आंतरिक रोगों के निदान में भी मदद करते हैं. यह माना जाता है कि त्वचा से एक व्यक्ति के आंतरिक स्वास्थ्य का पता चलता है. चर्म रोग के लक्षणों और गंभीरता में काफी भिन्नताएं हैं. यह अस्थायी या स्थायी होने के साथ ही दर्द रहित या दर्दयुक्त दोनों ही तरह के हो सकते हैं. कुछ मामलों में यह स्थितिजन्य हो सकते हैं, जबकि अन्य में यह आनुवांशिक भी होते हैं. कुछ त्वचा विकारों की स्थिति बेहद ही सुक्ष्म होती है, और कुछ जीवन के लिए खतरनाक हो सकते हैं. अधिकांश चर्म रोग सुक्ष्म होते हैं, जबकि अन्य एक अधिक गंभीर समस्या की ओर संकेत करते है. आइए चर्म रोग के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में जानें.

अलसी के बीज

अलसी के बीजों में ओमेगा थ्री फैटी एसिड होता है जो हमारे इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाने में मदद करता है. इसमें सूजन को कम करने वाले तत्‍व मौजूद होते हैं. यह स्किन डिस्‍ऑर्डर, जैसे एक्जिमा और सोरायसिस को भी ठीक करने में मदद गरता है. दिन में एक-दो चम्‍मच अलसी के बीजों के तेल का सेवन करना त्‍वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है. बेहतर रहेगा कि इसका सेवन किसी अन्‍य आहार के साथ ही किया जाए.

गेंदे के फूल

गेंदा गहरे पीले और नारंगी रंग का फूल होता है. यह त्‍वचा की समस्‍याओं का प्रभावशाली घरेलू उपाय है. यह छोटे-मोटे कट, जलने, मच्‍छर के काटने, रूखी त्‍वचा और एक्‍ने आदि के लिए शानदार घरेलू उपाय है. गेंदे में एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-वायरल गुण होते हैं. यह सूजन को कम करने में भी मदद करता है. इसके साथ ही गेंदा जख्‍मों को जल्‍दी भरने में मदद करता है. यह हर प्रकार की त्‍वचा के लिए लाभकारी होता है. गेंदे की पत्तियों को पानी में उबालकर उससे दिन में दो-तीन बार चेहरा धोने से एक्‍ने की समस्‍या दूर होती है.

बबूने का फूल

कैमोमाइल का फूल त्‍वचा पर लगाने से जलन को शांत करता है और साथ ही अगर इसका सेवन किया जाए तो आंतरिक शांति प्रदान करता है. इसके साथ ही यह केंद्रीय तंत्रिका प्रणाली पर भी सकारात्‍मक असर डालता है. यह एक्जिमा में भी काफी मददगार होता है. इसके फूलों से बनी हर्बल टी का दिन में तीन बार सेवन आपको काफी फायदा पहुंचाता है. इसके साथ ही एक्जिमा और सोरायसिस जैसी बीमारियों से उबरने में भी यह फूल काफी मदद करता है. एक साफ कपड़े को कैमोमाइल टी में डुबोकर उसे त्‍वचा के सं‍क्रमित हिस्‍से पर लगाने से काफी लाभ मिलता है. इस प्रक्रिया को पंद्रह-पंद्रह मिनट के लिए दिन में चार से छह बार करना चाहिए. कैमोमाइल कई अंडर-आई माश्‍चराइजर में भी प्रयोग होता है. इससे डार्क सर्कल दूर होते हैं

कमफ्रे

इस फूल के पत्‍ते और जड़ें सदियों से त्‍वचा संबंधी रोगों को ठीक करने में इस्‍तेमाल की जाती रही हैं. यह कट, जलना और अन्‍य कई जख्‍मों में काफी लाभकारी होता है. इसमें मौजूद तत्‍वा तवचा द्वारा काफी तेजी से अवशोषित कर लिए जाते हैं. जिससे स्‍वस्‍थ कोशिकाओं का निर्माण होता है. इसमें त्‍वचा को आराम पहुंचाने वाले तत्‍व भी पाए जाते हैं. अगर त्‍वचा पर कहीं जख्‍म हो जाए तो कमफ्रे की जड़ों का पाउडर बनाकर उसे गर्म पानी में मिलाकर एक गाढ़ा पेस्‍ट बना लें. इसे एक साफ कपड़े पर फैला दें. अब इस कपड़े को जख्‍मों पर लगाने से चमत्‍कारी लाभ मिलता है. अगर आप इसे रात में बांधकर सो जाएं, तो सुबह तक आपको काफी आराम मिल जाता है. इसे कभी भी खाया नहीं जाना चाहिए, अन्‍यथा यह लिवर को नुकसान पहुंचा सकता है. गहरे जख्‍मों पर भी इसका इस्‍तेमाल नहीं करना चाहिए. इससे त्‍वचा की ऊपरी परत तो ठीक हो जाती है, लेकिन भीतरी कोशिकायें पूरी तरह ठीक नहीं हो पातीं.

तिल के तेल

तिल के तेल से चार गुनी मात्रा में पानी लेकर सारे सामानों को एक बर्तन में मिला लीजिए. उसके बाद मिश्रण को मंद आंच पर तब तक गर्म करते रहिए जब तक सारा पानी भाप बनकर उड़ ना जाए. इस पेस्ट को पूरे शरीर में जहां-जहां खुजली हो रही हो वहां पर या फिर पूरे शरीर में लगाइए. इसके लगाते रहने से आपके त्वचा से चर्म रोग ठीक हो जाएगा

अन्‍य उपाय
 

हल्दी, लाल चंदन, नीम की छाल, चिरायता, बहेडा, आंवला, हरेडा और अडूसे के पत्ते को एक समान मात्रा में लीजिए. इन सभी सामानों को पानी में पूरी तरह से फूलने के लिए भिगो दीजिए. जब ये सारे सामान पूरी तरह से फूल जाएं तो पीसकर ढ़ीला पेस्ट बना लीजिए. अब इस पेस्ट से चार गुना अधिक मात्रा में तिल का तेल लीजिए.
 

Asthma Prevention!

MBBS, MD
General Physician, Lucknow
Asthma Prevention!

Eating peanuts, fish oils and other antigenic food during pregnancy normal vaginal delivery.

Avoidance of paracetamol during 1st year of life.Antigen exposure and avoiding strict hygiene in children.

Calorie Requirement For Diabetes!

Dietitian/Nutritionist, Jaipur
Calorie Requirement For Diabetes!

Waist - hip ratio is important in diabetes. (1.0 for male and 0.7 for female) 

Calorie should be calculated on the basis of optimal body weight. Energy can be 30-35kcal 7day on the basis of ideal body weight. Obese diabetics must lose weight & thin diabetics must gain normal weight. 

Prohibited items:

Sugar, jaggery 
Sherbat, sweets, candies. 
Honey, chocolates
Cakes, pastries 
Jams, jellies, murabbas etc.

Disease And Water!

DNB Family Medicine, MBBS
General Physician, Ahmedabad

Keep your body hydrated, it will treat many diseases.

Ovarian Cyst!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Rampur

महिलाओं में आग की तरह फ़ैल रही है ovarian cyst नाम की बीमारी

आज के इस भागदौड़ भरे ज़माने में किस इंसान को कब कौन सी बीमारी लग जाये कहा नहीं जा सकता. आज कोई इंसान हँसता-खेलता खुश है, कल पता चलता है कि उसके अंदर एक गंभीर बीमारी पनप रही है. वैसे इस बात का ज्यादातर श्रेय हमारे-आपके रहन-सहन को भी जाता है. ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी बीमारी के बारे में जागरूक करने जा रहे हैं जो महिलाओं-लड़कियों में इन दिनों आग की तरह फ़ैल रही है. समय रहते अगर इस बीमारी को पकड़ा और इसका इलाज़ नहीं किया गया तो ये कैंसर का रूप भी ले लेती है. इस बीमारी का नाम है ओवेरियन सिस्ट.

तो आइये जानते हैं इस बीमारी के लक्षण और बचाव के तरीके.

सबसे पहले यहाँ ये समझने की ज़रूरत है कि आखिर ये ओवेरियन सिस्ट किस बला को कहते हैं. तो ऐसे समझिये कि, ओवेरियन सिस्ट यानि अंडाशय के ऊपर एक परत का बन जाना. डॉक्टर मानते हैं कि कई मामलों में यह सिस्ट एकदम सामान्य होती है, इससे कोई खतरा नहीं होता और इसका उपचार भी आसानी से हो जाता है लेकिन अगर यह परत सामान्य से अधिक मोटी है तो यह मासिक धर्म को प्रभावित करती है साथ ही गर्भावस्था के लिए भी खतरनाक है. सिर्फ इतना ही नहीं कुछ मामलों में ओवेरियन सिस्ट कैंसर का भी रूप ले लेती हैं.

दर्द के साथ पेट में सूजन: अगर किसी को भी पेट के निचले भाग में दर्द के साथ-साथ सूजन का होना जैसे लक्षण नजर आयें तो ये ओवेरियन सिस्ट का पहला गंभीर लक्षण हो सकता है. अगर आपके साथ अक्सर ऐसा होता है, तो जल्द-से-जल्द स्त्री रोग विशेषज्ञ से जरूर संपर्क करें.

यूरिनेशन: अगर ओवरी पर सिस्ट बन जाता है तो पेशाब करते समय दर्द या तकलीफ होने के साथ-साथ लगतार यूरिनेशन की समस्या हो सकती है. इससे ब्लेडर पर दबाव भी पड़ सकता है. अगर आपके साथ भी ऐसी कोई समस्या हो रही है तो जल्द-से -जल्द स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें.

मासिक धर्म: अगर लंबे समय तक आपका मासिक धर्म यानि कि पीरियड्स समय पर नहीं हो रहा है तो ओवेरियन सिस्ट इसका कारण हो सकता है. इस स्थिति में पेट के एकदम निचले भाग में तेज या हल्का दर्द भी हो सकता है. ये भी ओवेरियन सिस्ट का एक महत्वपूर्ण लक्ष्ण हैं.

उबकाई या उल्टी आना: अंडाशय की ऊपरी झिल्ली का झरण नहीं होने पर कई बार उबकाई या ऊल्टी आने की स्थिति भी बन सकती है. इस समय तुरंत देखभाल और जल्द से जल्द उचित उपचार की जरुरत होती है ताकि इंफेक्शन न फैले.

वजन बढ़ना: अगर काफी कम समय में आपका वजन बहुत ज्यादा और तेजी से बढ़ रहा है, तो इसका कारण ओवेरियन सिस्ट भी हो सकता है.

अपचन और जलन: कई मामलों में ऐसा भी देखा गया है कि बहुत कम खाने के बावजूद पेट भरा हुआ महसूस होता है, तो यह पेट पर पड़ने वाले दबाव के कारण है. बता दें कि ये भी ओवेरियन सिस्ट का एक लक्षण है.

कमर में दर्द: यदि ओवरी पर सिस्ट है, तो इससे आपकी कमर पर भी दबाव पड़ता है जिसके कारण मासिक धर्म के समान कमर दर्द होना सामान्य हो जाता है. इसके साथ-साथ जांघों में भी दर्द हो सकता है.
ज़रूरी नहीं है कि अगर आपके शरीर में ये लक्षण नज़र आयें तो आपको कोई गंभीर समस्या ही हो लेकिन ऐसे लक्षण दिखने पर एक बार डॉक्टर से परामर्श ले लेने में कोई हर्ज़ भी नहीं है क्योंकि बीमारी भला किसे ही पसंद होती है.

इसका पूर्णरूप से आयुर्वेद में इलाज है।

Health Benefits Of Giloy!

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
Health Benefits Of Giloy!

Health Benefits Of Giloy!

When a Penis Rash Is Something to Worry About!

MD - General Medicine
Sexologist, Delhi
When a Penis Rash Is Something to Worry About!

When a Penis Rash Is Something to Worry About

At some point in his life, every man deals with a penis rash. It might be a recurring event for some, especially during the summer when jock itch becomes more difficult to avoid. It might happen right after introducing something new into the daily routine, like something as simple as trying out a new laundry detergent. In other words, a penis rash is so common that men can actually become accustomed to seeing it.

Unfortunately, that means that sometimes a man can become so familiar with penis rash that they don't even think about consulting a physician or looking deeper into the issue. Though most penile problems are quite easily remedied, especially with excellent penis care on a regular basis, some rare issues might be cause for concern. Here's how to know when a penis rash is something to worry about.

Dental Implants!

MDS - Orthodontics, BDS
Dentist, Meerut
Dental Implants!

Now get your missing teeth replaced with implants.

Benefits Of Turmeric!

BSc-Food & Applied Nutrition, Msc in Clinical Dietetics & Food Service Management
Dietitian/Nutritionist, Bhubaneswar
Benefits Of Turmeric!

Turmeric is a root which is used in our kitchen and lives widely in various forms.It is staple in all Indian Cooking and used to fix health problems in every Indian household.With its primary compound curcumin,it gives the dishes that lovely yellow tinge. 

This golden spice is known for its health benefits but because of some of its side effects, turmeric may not be worth taking for some people.And hence it is always better to speak with your doctor before you use turmeric to treat any health condition that you have.

Turmeric is available in the powder form which is used for cooking and supplements also available in the capsule form, but out of all raw turmeric is considered to be the most effective.

View All Feed

Near By Clinics