Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

अवलोकन

Change Language

बाल पोषण (Child Nutrition) : उपचार, प्रक्रिया, लागत और साइड इफेक्ट्स (Treatment, Procedure, ‎Cost And Side Effects)‎

बाल पोषण (Child Nutrition) का उपचार क्या है? बाल पोषण (Child Nutrition) का इलाज कैसे किया जाता है? बाल पोषण (Child Nutrition) के इलाज के लिए कौन पात्र (eligible) है? (इलाज कब किया जाता है?)‎ उपचार के लिए कौन पात्र (eligible) नहीं है? क्या कोई भी दुष्प्रभाव (side effects ) हैं?‎ उपचार के बाद दिशानिर्देश (guidelines) क्या हैं?‎ ठीक होने में कितना समय लगता है? भारत में इलाज की कीमत क्या है? उपचार के परिणाम स्थायी (permanent) हैं?‎ उपचार के विकल्प (alternatives) क्या हैं?‎

बाल पोषण (Child Nutrition) का उपचार क्या है?

बच्चे के पैदा होने के साथ साथ उसके लालन पालन की चिंता भी परिवार वालो को सताने लगती है है क्यों की बच्चे की त्वचा बहुत हे नाज़ुक होती है इसलिए उसे हेर चीज़ देख भाल कर दी जाती है है ता के नन्हे शिशु को कोई नुक्सान न हो और वो एक स्वास्थ जीवन जी सके और जब कोई बच्चा पैदा होता है, तो बच्चे के परिवार को अपने कल्याण और अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के ‎लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करना पड़ता है। जबकि इसका एक हिस्सा समय पर टीकाकरण (vaccinations) ‎और अच्छे रहने वाले वातावरण से बना है, बच्चे को पेश किया जाने वाला पोषण भी एक प्रमुख भूमिका ‎निभाता है। बच्चे को पोषण की पेशकश करने का पहला चरण स्तनपान में निहित है जिसके लिए मां को भी ‎स्वस्थ होना चाहिए और पर्याप्त दूध पैदा करना चाहिए। इससे बच्चे को दूध के दूध से अधिकतम पोषक तत्व ‎‎(maximum nutrients) प्राप्त करने में मदद मिलती है, जिसके परिणामस्वरूप उसे स्वस्थ बच्चे बनने में मदद ‎मिलती है। हालांकि, स्तन पोषण की प्रक्रिया स्तनपान कराने से नहीं रोकती है। यह दूध पिलाने पर प्रगति ‎करता है, जो कि बच्चे के आहार में अर्द्ध ठोस और ठोस खाद्य पदार्थों का परिचय है; और तब से यह उचित ‎भोजन के लिए प्रगति करता है जो ताजा फल और सब्जियों जैसे स्वस्थ खाद्य पदार्थों से बने होते हैं और दुबला ‎मांस सांस स्तन (fruits and vegetables and lean meats sans breast milk) बनाते हैं। सही पोषण बच्चे को कई ‎बीमारियों के कारण पीड़ित होने से रोक सकता है। खराब पोषण और बुरी खाने की आदतों के कारण बच्चे के ‎बीच आम रोगों में कुपोषण, मधुमेह, मोटापा, कमजोर प्रतिरक्षा, मानसिक विकास दर ‎‎(include malnutrition, diabetes, obesity, weak immunity, slow physical as wells as mental growth rate) ‎और अन्य समस्याओं की मेजबानी के रूप में धीमी भौतिक कुएं शामिल हैं, जिनमें से कुछ जीवन को खतरे में ‎डाल सकते हैं। यही कारण है कि दुनिया भर में राष्ट्रों की सरकारें बच्चों के पोषण पर बहुत अधिक जोर देती हैं ‎और यहां तक कि यह सुनिश्चित करने के लिए कानून भी हैं कि बच्चों को बुनियादी पोषण संबंधी ‎आवश्यकताओं के संपर्क में लाया जाए ताकि वे स्वस्थ व्यक्ति बन सकें।

बाल पोषण (Child Nutrition) का इलाज कैसे किया जाता है?

बच्चे को पोषण एक स्वस्थ जीवन की ओर इशारा करते हुए यह सुनिश्चित करने के लिए जीवन के तरीके के ‎रूप में एक उपचार नहीं है। सही आहार बच्चे को बढ़ने और सीखने में बहुत मदद कर सकता है। यह सभी ‎प्रकार की बीमारियों को रोकने में भी मदद कर सकता है, जो उनके विकास में बाधाओं के रूप में कार्य करते ‎हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि उनके बच्चे का आहार स्वस्थ है, माता-पिता को स्तन से बाहर होने के बाद ‎अपने बच्चों को पौष्टिक और घर से पकाया भोजन देना चाहिए। एक बच्चे को दिया गया हर भोजन ताजा फल ‎और सब्जियों के एक हिस्से से बना होना चाहिए। इसके अलावा, माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए ‎कि उनके बच्चे का आहार प्रोटीन के स्वस्थ स्रोतों जैसे कि पागल, अंडे, दालें, सोया और दुबला मांस (nuts, ‎eggs, pulses, soy and lean meat) शामिल है। उन्हें नाश्ते देते समय, माता-पिता को आटे से बने अनाज के ‎बजाय पूरे अनाज अनाज और ब्रेड चुनना चाहिए क्योंकि पूरे अनाज के खाद्य पदार्थ फाइबर का समृद्ध स्रोत हैं, ‎जो पेट को पूरा रखता है और जंक फूड लालसा (junk food craving) को नियंत्रित करने में मदद करता है। ‎परिष्कृत अनाज की मात्रा को बच्चे के आहार में कम किया जाना चाहिए क्योंकि इससे उनके स्वास्थ्य पर ‎प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। इसके अलावा, तले हुए खाद्य पदार्थों को यथासंभव हद तक बचाया जाना ‎चाहिए और भोजन खाना पकाने के दौरान, माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वेजी और मांस को ‎तला हुआ नहीं बल्कि बदमाश, भाप या ग्रील्ड (broiled, steamd or grilled) किया जाना चाहिए। इससे पोषक ‎तत्वों को खाद्य पदार्थों में संरक्षित करने में मदद मिलती है ताकि बच्चे अपने भोजन से अधिकतम पोषण प्राप्त ‎कर सकें। बहुत सीमित मात्रा में बच्चों को जंक फूड दिया जाना चाहिए और इसके बजाय स्वस्थ स्नैक्स ‎‎(healthy snacks) की पेशकश की जानी चाहिए। माता-पिता को सोडा और शीतल पेय (sodas and cold ‎drinks) के बजाय अपने बच्चों को दूध या ताजा फलों के रस भी देना चाहिए। बच्चे की खातिर निगरानी करने ‎के अलावा, माता-पिता को एक और चीज करने की ज़रूरत है, जो सही समय पर नियमित रूप से बच्चे के ‎भोजन की पेशकश करे और नियमित रूप से ताकि वे स्वस्थ रह सकें।

बाल पोषण (Child Nutrition) के इलाज के लिए कौन पात्र (eligible) है? (इलाज कब किया जाता है?)‎

प्रत्येक बच्चे को किसी भी अपवाद (exceptions) के बिना उचित पोषण का अधिकार है और उसके पास ‎अधिकार है। तो बाल पोषण के लिए कोई पात्रता मानदंड नहीं है।

उपचार के लिए कौन पात्र (eligible) नहीं है?

चूंकि बचपन वह चरण है जहां खाद्य एलर्जी (allergy) विकसित होती है, माता-पिता को यह सुनिश्चित करना ‎चाहिए कि उनके बच्चे को खाद्य पदार्थों के कारण एलर्जी (allegy) से अवगत कराया जाए। इसके अलावा, ‎कुछ मामलों में, किसी विशेष बीमारी के प्रभावों का मुकाबला करने या कम करने के लिए एक बच्चे को ‎विशेष आहार की आवश्यकता हो सकती है। ऐसे मामलों में, माता-पिता को अपने आहार का एक हिस्सा होना ‎चाहिए, यह जानने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

क्या कोई भी दुष्प्रभाव (side effects ) हैं?‎

जब बच्चे के पोषण की बात आती है तो दुष्प्रभाव (side effects) मौजूद नहीं होते हैं क्योकि इसके कम ही ‎दुष्प्रभाव (side effects) होते हैं। हालांकि, जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, उन खाद्य पदार्थों से बचा ‎जाना चाहिए जिनके बच्चे के स्वस्थ पर गलत असर पड़ता है।ऐसी चीज़ो को खाने से बचना चाहिए जो गलत ‎और खाद्य पदार्थों की श्रेणी में आते हैं।

उपचार के बाद दिशानिर्देश (guidelines) क्या हैं?‎

अगर बच्चे को बीमारी का इलाज करने में मदद करने के लिए एक विशेष आहार की सलाह दी जाती है, तो ‎बच्चे को ठीक महसूस होने के तुरंत बाद माता-पिता को इस आहार को बंद नहीं करना चाहिए। पौष्टिक आहार ‎‎(nutritious diet) लेने से जीवनभर की खुशयो की बात होती है। इसलिए, यहां एकमात्र दिशानिर्देश ‎‎(guidelines) यह है कि माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका बच्चा हमेशा स्वस्थ खाता है।

ठीक होने में कितना समय लगता है?

चूंकि बाल पोषण (child nutrition) सटीक होने के लिए एक उपचार विधि नहीं है, इसलिए कोई रिकवरी ‎अवधि (recovery period) नहीं है। हालांकि, यदि किसी बीमारी के प्रभाव को कम करने के लिए डॉक्टर ‎द्वारा एक विशेष आहार (diet) निर्धारित किया गया है, तो रोग की रिकवरी अवधि (recovery period) इसके ‎आधार पर भिन्न हो सकती है। इस बिमारी से ठीक होने के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी है उचित खान पान। इस बिमारी से ठीक ‎होने का कोई निश्चित समय नहीं है ठीक होना मरीज़ की सेहत और उसके द्वारा लिए जा रहे ‎उपचार पर निर्भर करता है।

भारत में इलाज की कीमत क्या है?

बाल पोषण सही खाद्य पदार्थों (right foods) का उपभोग करने का विषय है; और सालाना खाद्य पदार्थों की ‎कीमत अलग-अलग हो सकती है। इसलिए, बच्चे के पोषण के लिए कोई निश्चित कीमत नहीं है।

उपचार के परिणाम स्थायी (permanent) हैं?‎

बच्चे के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए बाल पोषण महत्वपूर्ण है और कई बीमारियों को भी रोक सकता है। इस ‎तरह, यह कहा जा सकता है कि परिणाम स्थायी (permanent) हैं। हालांकि, सही आहार (diet) का पालन ‎करने के बावजूद कुछ बीमारियां अभी भी हो सकती हैं।

उपचार के विकल्प (alternatives) क्या हैं?‎

बाल पोषण के लिए कोई विकल्प (alternatives) नहीं है; और सही भोजन खाने एक जरूरी है। हालांकि, ‎अगर कोई बच्चा किसी विशेष पोषक तत्व के किसी विशेष स्रोत के लिए एलर्जी (allergy) है, उदाहरण के ‎लिए यदि वह लैक्टोज असहिष्णु (lactose intolerant) है, तो दैनिक पोषक तत्व आवश्यकता को पूरा करने के ‎लिए पूरक दिया जा सकता है। हालांकि, यह केवल डॉक्टर के परामर्श से किया जाना चाहिए।

लोकप्रिय प्रश्न और उत्तर

My 2 years old starts coughing after drinking milk. It started around a few days ago that whenever he drinks milk he starts coughing. Is it just fine with little kids or is there anything to worry about?

Fellowship In PCCM, Fellow-Pediatric Flexible Bronchoscopy, Fellowship In Pediatric Cardiac Critical Care, D.C.H., M.B.B.S
Pediatrician, Ahmedabad
This sign of reflux disease.. Lessen the quantity of milk Get the milk scan done Give more semisolid or solid diet Prefer to give food at regular intervals
2 people found this helpful

Hello doctor, mera 4 months ka baby hai. Kya main Ashwganda le skti hu? Kya breastfeed se koi harm to nhi hoga? Kyuki Kaafi log mana kar rahe hain?

Diploma In Diet & Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Hyderabad
Every food you take or every medicine you take will get transfered to your child through your feed. Therefore please take only medicines that are actually needed for some urgent problem. Other wise it is best to avoid it for some months.
3 people found this helpful

Please suggest a good milk supplement (like pediasure or complain etc) for my 3.5 years old son. We are vegetarians so can not have meat protein. Just want to make sure his daily nutritional requirements are met.

Diploma in Clinical Nutrition, Certified Diabetes Educator, Diploma in Sport & Exercise Nutrition, Diploma in Human Nutrition, Lifestyle Medicine, BSC IN LIFE SCIENCES
Dietitian/Nutritionist, Bangalore
Packed milk powders contain sugar and artificial flavours. Better to mix plain choco powder or cinnamon powder. Packed supplement do not provide any nutrition.

Which ghee is good for kids? Buffalo's or cow's? Is ghee Casein free? Please confirm.

Ph.D(Clinical Nutrition), M.Sc(Foods&Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Delhi
If the child is severe casein or lactose intolerant, please avoid any ghee as it might have traces of casein and lactose. Otherwise cow's ghee is preferred as per Ayurveda.
2 people found this helpful

लोकप्रिय स्वास्थ्य टिप्स

12 Signs Your Child Is Not Eating Properly!

M. Ch (Pediatric Surgery), MNAMS (Membership of The National Academy) (General Surgery), DNB (General Surgery), MBBS, Sardar Vallabhbahi Rashtra Ratna Award 2017 Winner
Pediatrician, Pune
12 Signs Your Child Is Not Eating Properly!
Spitting up, refusing to try new foods and occasionally turning up their noses at feeding times, is normal but consistently refusing food and water, vomiting and allergies may indicate an underlying medical condition that requires attention. Commo...
4071 people found this helpful

List Of Probiotic Food For Kids!

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
List Of Probiotic Food For Kids!
List Of Probiotic Food For Kids!
1 person found this helpful

Healthy Eating For Kids - Say No To Junk!

MSC in Food Processing and Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Indore
Healthy Eating For Kids - Say No To Junk!
If you ask any parent what is the biggest challenge they face concerning their child, the most common answer you are likely to get is - 'Ensuring that my kids eat the right food at the right time'. Children, usually, take time to get into the habi...
3221 people found this helpful

Children Obesity & Gadget Use!

Diploma in Dietetics Health & Nutrition
Dietitian/Nutritionist, Zirakpur
Children Obesity & Gadget Use!
A recent study found that about 14.4 million children in India are overweight or obese. This makes childhood obesity one of the leading health concerns for Indian parents. Research states that on average, children and teenagers who spend over seve...
3449 people found this helpful

बच्चों को क्या खिलाएं - Bachhon Ko Kya Khilayen!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurvedic Doctor, Lakhimpur Kheri
बच्चों को क्या खिलाएं - Bachhon Ko Kya Khilayen!
हम अक्सर देखते हैं कि छोटे बच्चे खाने को लेकर बहुत परेशान करते हैं. कई मां-बाप की तो यहाँ तक शिकायत होती है कि उनका बच्चा तो कुछ खाता ही नहीं है. बच्चे को सिर्फ खाना खिलाने और उसकी शारीरिक व मानसिक जरूरत के हिसाब से उसके आहार का चुनाव करने में काफ...
13 people found this helpful
Content Details
Written By
P.G.In Dietitics,BSc - Dietitics / Nutrition
Dietitian/Nutritionist
Play video
Child Care
Breastfeeding is must for newborn babies
Play video
How To Prepare Diet Plan For Kids?
HI, Hi, this is Dietitian Jyoti. On my facebook page, I got the message from one mother that she wants a kid s diet and I thought this is a good topic to discuss with you all, so today we will discuss some key points which are very necessary for p...
Play video
Children With Special Needs
Hello! I am Dr. R K Lohia. I am an Occupational Therapist. We are dealing with special needs children to make the child capable of daily living and academic problems. And our services are occupational therapy, speech therapy, special education and...
Play video
How To Feed Fussy Eaters ?
Hi, This is Malika Kabra Rathi being a mother of a 5 year old and a paediatric nutrition since 10 years, I know how challenging it is for mothers to feed their fussy, picky or poor eaters. So today I am going to share with you my 5 prong approach ...
Having issues? Consult a doctor for medical advice