Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}

Dr. Meenakshi Titoria Sahu

Gynaecologist, Ghaziabad

Dr. Meenakshi Titoria Sahu Gynaecologist, Ghaziabad
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Feed
Services

Personal Statement

Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences....more
Our team includes experienced and caring professionals who share the belief that our care should be comprehensive and courteous - responding fully to your individual needs and preferences.
More about Dr. Meenakshi Titoria Sahu
Dr. Meenakshi Titoria Sahu is an experienced Gynaecologist in Shastri Nagar, Ghaziabad. She is currently associated with Dr Meenakshi Titoria Sahu's Clinic in Shastri Nagar, Ghaziabad. Don’t wait in a queue, book an instant appointment online with Dr. Meenakshi Titoria Sahu on Lybrate.com.

Lybrate.com has a number of highly qualified Gynaecologists in India. You will find Gynaecologists with more than 44 years of experience on Lybrate.com. Find the best Gynaecologists online in Ghaziabad. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Languages spoken
English
Hindi

Location

Book Clinic Appointment

Dr Meenakshi Titoria Sahu's Clinic

SF-43, F-Block, shastri nagar, GhaziabadGhaziabad Get Directions
...more
View All

Consult Online

Text Consult
Send multiple messages/attachments
7 days validity
Consult Now

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. Meenakshi Titoria Sahu

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

Drinking lots of water - atleast 2 litres everyday

MS - Obstetrics and Gynaecology, MBBS
Gynaecologist, Agra
Drinking lots of water - atleast 2 litres everyday
Drinking lots of water - atleast 2 litres everyday - everyday during periods helps in maintaining the water level in your body and fastens the digestive process while taking care of the hormonal changes.
53 people found this helpful

Do's and Dont's for Knee Pain Patients

BPTh/BPT
Physiotherapist, Delhi
Do's and Dont's for Knee Pain Patients
The knee joint is one of the most commonly injured joints in the body. Whether you play sport, are extremely active or just spend all day on your feet, the knees are under constant stress. Knee pain can develop over time, or it can be the result of injury. Physiotherapists provide expert advice, assessment and treatment to correctly diagnose the problem and speed up the recovery.

Do's for knee pain:

1. Make a habit of walking for 15-20 minutes twice a day.

2. Apply hot pack in painful area for 10-15 minutes.

3. Start taking calcium reach foods in diet such as milk, paneer etc.

4. Try using knee cap or knee braces if there is pain while walking.

5. Maintain normal healthy weight.

Dont's for knee pain:

1. Avoid running in high speed.

2. Avoid sitting cross legged.

3. Avoid sitting in low height chair.

4. Try to avoid stair climbing.

Also consider for physiotherapy exercises guided by physios for better results if the pain persists.

My wife is 8 months pregnant I want to live with her at delivery time in the delivery room with doctor Because my wife have some problems I can't leave alone at this time It is possible that I can live with her at any type delivery like surgical or normal in the delivery room Can I get this facility there in your hospital Can you allow me in delivery room.

Advanced Infertility, MIS TRAINING, FICMCH, PGDS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, MBBS
Gynaecologist, Faridabad
My wife is  8 months pregnant I want to live with her at delivery time in the delivery room with doctor Because my wi...
what is your location nowadays we encourage the presence of husband in labour room or operation theater at the time of child birth so that won't be a problem.
Submit FeedbackFeedback

My period was skipped there is no chances of conceive also I have taken deviry 10 mg for 5 days 2 days r over still my period not came what will be the reason or I go for ultrasound please help me.

MBBS, DNB (Obstetrics and Gyneacology), FNB Reproductive Medicine
Gynaecologist, Hyderabad
My period was skipped there is no chances of conceive also I have taken deviry 10 mg for 5 days 2 days r over still m...
Hello, you need to wait for atleast 10 days after finishing the tablets for your periods to start. Even after that if your periods do not start, please consult a gynecologist for advice. Good luck.
2 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Properties Of Flax Seed

BAMS
Ayurveda, Sonipat
Properties Of Flax Seed

अचूक औषधि अलसी

अलसी असरकारी ऊर्जा, स्फूर्ति व जीवटता प्रदान करता है। अलसी, तीसी, अतसी, कॉमन फ्लेक्स और वानस्पतिक लिनभयूसिटेटिसिमनम नाम से विख्यात तिलहन अलसी के पौधे बागों और खेतों में खरपतवार के रूप में तो उगते ही हैं, इसकी खेती भी की जाती है। इसका पौधा दो से चार फुट तक ऊंचा, जड़ चार से आठ इंच तक लंबी, पत्ते एक से तीन इंच लंबे, फूल नीले रंग के गोल, आधा से एक इंच व्यास के होते हैं।

 इसके बीज और बीजों का तेल औषधि के रूप में उपयोगी है। अलसी रस में मधुर, पाक में कटु (चरपरी), पित्तनाशक, वीर्यनाशक, वात एवं कफ वर्घक व खांसी मिटाने वाली है। इसके बीज चिकनाई व मृदुता उत्पादक, बलवर्घक, शूल शामक और मूत्रल हैं। इसका तेल विरेचक (दस्तावर) और व्रण पूरक होता है।

अलसी की पुल्टिस का प्रयोग गले एवं छाती के दर्द, सूजन तथा निमोनिया और पसलियों के दर्द में लगाकर किया जाता है। इसके साथ यह चोट, मोच, जोड़ों की सूजन, शरीर में कहीं गांठ या फोड़ा उठने पर लगाने से शीघ्र लाभ पहुंचाती है। एंटी फ्लोजेस्टिन नामक इसका प्लास्टर डॉक्टर भी उपयोग में लेते हैं। चरक संहिता में इसे जीवाणु नाशक माना गया है। यह श्वास नलियों और फेफड़ों में जमे कफ को निकाल कर दमा और खांसी में राहत देती है।

इसकी बड़ी मात्रा विरेचक तथा छोटी मात्रा गुर्दो को उत्तेजना प्रदान कर मूत्र निष्कासक है। यह पथरी, मूत्र शर्करा और कष्ट से मूत्र आने पर गुणकारी है। अलसी के तेल का धुआं सूंघने से नाक में जमा कफ निकल आता है और पुराने जुकाम में लाभ होता है। यह धुआं हिस्टीरिया रोग में भी गुण दर्शाता है। 

अलसी के काढ़े से एनिमा देकर मलाशय की शुद्धि की जाती है। उदर रोगों में इसका तेल पिलाया जाता हैं।
तनाव के क्षणों में शांत व स्थिर बनाए रखने में सहायक है। कैंसर रोधी हार्मोन्स की सक्रियता बढ़ाता है। अलसी इस धरती का सबसे शक्तिशाली पौधा है। कुछ शोध से ये बात सामने आई कि इससे दिल की बीमारी, कैंसर, स्ट्रोक और मधुमेह का खतरा कम हो जाता है। 

इस छोटे से बीच से होने वाले फायदों की फेहरिस्त काफी लंबी है,​​ जिसका इस्तेमाल सदियों से लोग करते आए हैं। इसके रेशे पाचन को सुगम बनाते हैं, इस कारण वजन नियंत्रण करने में अलसी सहायक है। रक्त में शर्करा तथा कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है। जोड़ों का कड़ापन कम करता है।

 प्राकृतिक रेचक गुण होने से पेट साफ रखता है। हृदय संबंधी रोगों के खतरे को कम करता है। उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करता है। त्वचा को स्वस्थ रखता है एवं सूखापन दूर कर एग्जिमा आदि से बचाता है। बालों व नाखून की वृद्धि कर उन्हें स्वस्थ व चमकदार बनाता है। इसका नियमित सेवन रजोनिवृत्ति संबंधी परेशानियों से राहत प्रदान करता है।

 मासिक धर्म के दौरान ऐंठन को कम कर गर्भाशय को स्वस्थ रखता है। अलसी का सेवन त्वचा पर बढ़ती उम्र के असर को कम करता है। अलसी का सेवन भोजन के पहले या भोजन के साथ करने से पेट भरने का एहसास होकर भूख कम लगती है। प्राकृतिक रेचक गुण होने से पेट साफ रख कब्ज से मुक्ति दिलाता है।
अलसी कैसे काम करती है

अलसी आधुनिक युग में स्त्रियों की यौन-इच्छा, कामोत्तेजना, चरम-आनंद विकार, बांझपन, गर्भपात, दुग्धअल्पता की महान औषधि है। स्त्रियों की सभी लैंगिक समस्याओं के सारे उपचारों से सर्वश्रेष्ठ और सुरक्षित है अलसी। (व्हाई वी लव और ऐनाटॉमी ऑफ लव) की महान लेखिका, शोधकर्ता और चिंतक हेलन फिशर भी अलसी को प्रेम, काम-पिपासा और लैंगिक संसर्ग के लिए आवश्यक सभी रसायनों जैसे डोपामीन, नाइट्रिक ऑक्साइड, नोरइपिनेफ्रीन, ऑक्सिटोसिन, सीरोटोनिन, टेस्टोस्टिरोन और फेरोमोन्स का प्रमुख घटक मानती है।

सबसे पहले तो अलसी आप और आपके जीवनसाथी की त्वचा को आकर्षक, कोमल, नम, बेदाग व गोरा बनायेगी। आपके केश काले, घने, मजबूत, चमकदार और रेशमी हो जायेंगे। अलसी आपकी देह को ऊर्जावान और मांसल बना देगी। शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी गहेगी, न क्रोध आयेगा और न कभी थकावट होगी। मन शांत, सकारात्मक और दिव्य हो जायेगा।

 अलसी में ओमेगा-3 फैट, आर्जिनीन, लिगनेन, सेलेनियम, जिंक और मेगनीशियम होते हैं जो स्त्री हार्मोन्स, टेस्टोस्टिरोन और फेरोमोन्स (आकर्षण के हार्मोन) के निर्माण के मूलभूत घटक हैं। टेस्टोस्टिरोन आपकी कामेच्छा को चरम स्तर पर रखता है।

अलसी में विद्यमान ओमेगा-3 फैट और लिगनेन जननेन्द्रियों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती हैं, जिससे कामोत्तेजना बढ़ती है। इसके अलावा ये शिथिल पड़ी क्षतिग्रस्त नाड़ियों का कायाकल्प करती हैं जिससे मस्तिष्क और जननेन्द्रियों के बीच सूचनाओं एवं संवेदनाओं का प्रवाह दुरुस्त हो जाता है। नाड़ियों को स्वस्थ रखने में अलसी में विद्यमान लेसीथिन, विटामिन बी ग्रुप, बीटा केरोटीन, फोलेट, कॉपर आदि की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

 इस तरह आपने देखा कि अलसी के सेवन से कैसे प्रेम और यौवन की रासलीला सजती है, दिव्य सम्भोग का दौर चलता है, देह के सारे चक्र खुल जाते हैं, पूरे शरीर में दैविक ऊर्जा का प्रवाह होता है और सम्भोग एक यांत्रिक क्रीड़ा न रह कर शिव और उमा की रति-क्रीड़ा का उत्सव बन जाता है, समाधि का रूप बन जाता है।

रिसर्च और वैज्ञानिक आयुर्वेद और घरेलू नुस्खों के रहस्य को जानने और मानने लगे हैं। अलसी के बीज के चमत्कारों का हाल ही में खुलासा हुआ है कि इनमें 27 प्रकार के कैंसररोधी तत्व खोजे जा चुके हैं। अलसी में पाए जाने वाले ये तत्व कैंसररोधी हार्मोन्स को प्रभावी बनाते हैं, विशेषकर पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर व महिलाओं में स्तन कैंसर की रोकथाम में अलसी का सेवन कारगर है। 

दूसरा महत्वपूर्ण खुलासा यह है कि अलसी के बीज सेवन से महिलाओं में सेक्स करने की इच्छा तीव्रतर होती है। यह गनोरिया, नेफ्राइटिस, अस्थमा, सिस्टाइटिस, कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह, कब्ज, बवासीर, एक्जिमा के उपचार में उपयोगी है।

सेवन का तरीका
अलसी को धीमी आँच पर हल्का भून लें। फिर मिक्सर में पीस कर किसी एयर टाइट डिब्बे में भरकर रख लें। रोज सुबह-शाम एक-एक चम्मच पावडर पानी के साथ लें। इसे अधिक मात्रा में पीस कर नहीं रखना चाहिए, क्योंकि यह खराब होने लगती है। इसलिए थोड़ा-थोड़ा ही पीस कर रखें। अलसी सेवन के दौरान पानी खूब पीना चाहिए। इसमें फायबर अधिक होता है, जो पानी ज्यादा माँगता है।

हमें प्रतिदिन 30 – 60 ग्राम अलसी का सेवन करना चाहिये, 30 ग्राम आदर्श मात्रा है। अलसी को रोज मिक्सी के ड्राई ग्राइंडर में पीसकर आटे में मिलाकर रोटी, पराँठा आदि बनाकर खाना चाहिये. डायबिटीज के रोगी सुबह शाम अलसी की रोटी खायें।

कैंसर में बुडविग आहार-विहार की पालना पूरी श्रद्धा और पूर्णता से करना चाहिये। इससे ब्रेड, केक, कुकीज, आइसक्रीम, चटनियाँ, लड्डू आदि स्वादिष्ट व्यंजन भी बनाये जाते हैं।
अलसी के तेल और चूने के पानी का इमल्सन आग से जलने के घाव पर लगाने से घाव बिगड़ता नहीं और जल्दी भरता है।

पथरी, सुजाक एवं पेशाब की जलन में अलसी का फांट पीने से रोग में लाभ मिलता है। अलसी के कोल्हू से दबाकर निकाले गए (कोल्ड प्रोसेस्ड) तेल को फ्रिज में एयर टाइट बोतल में रखें। स्नायु रोगों, कमर एवं घुटनों के दर्द में यह तेल पंद्रह मि.ली. मात्रा में सुबह-शाम पीने से काफी लाभ मिलेगा।

अलसी के लाभ
आपका हर्बल चिकित्सक आपकी सारी सेक्स सम्बंधी समस्याएं अलसी खिला कर ही दुरुस्त कर देगा क्योंकि अलसी आधुनिक युग में स्तंभनदोष के साथ साथ शीघ्रस्खलन, दुर्बल कामेच्छा, बांझपन, गर्भपात, दुग्धअल्पता की भी महान औषधि है। सेक्स संबन्धी समस्याओं के अन्य सभी उपचारों से सर्वश्रेष्ठ और सुरक्षित है अलसी। बस 30 ग्राम रोज लेनी है।

सबसे पहले तो अलसी आप और आपके जीवनसाथी की त्वचा को आकर्षक, कोमल, नम, बेदाग व गोरा बनायेगी। आपके केश काले, घने, मजबूत, चमकदार और रेशमी हो जायेंगे।
अलसी में ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर और कोलोन कैंसर से बचाने का गुण पाया जाता है। इसमें पाया जाने वाला लिगनन कैंसर से बचाता है। यह हार्मोन के प्रति संवेदनशील होता है और ब्रेस्ट कैंसर के ड्रग टामॉक्सीफेन पर असर नहीं डालता है।

अलसी आपकी देह को ऊर्जावान, बलवान और मांसल बना देगी। शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी गहेगी, न क्रोध आयेगा और न कभी थकावट होगी। मन शांत, सकारात्मक और दिव्य हो जायेगा।

अलसी में विद्यमान ओमेगा-3 फैट, जिंक और मेगनीशियम आपके शरीर में पर्याप्त टेस्टोस्टिरोन हार्मोन और उत्कृष्ट श्रेणी के फेरोमोन (आकर्षण के हार्मोन) स्रावित होंगे। टेस्टोस्टिरोन से आपकी कामेच्छा चरम स्तर पर होगी। आपके साथी से आपका प्रेम, अनुराग और परस्पर आकर्षण बढ़ेगा। आपका मनभावन व्यक्तित्व, मादक मुस्कान और शटबंध उदर देख कर आपके साथी की कामाग्नि भी भड़क उठेगी।

अलसी में विद्यमान ओमेगा-3 फैट, आर्जिनीन एवं लिगनेन जननेन्द्रियों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती हैं, जिससे शक्तिशाली स्तंभन तो होता ही है साथ ही उत्कृष्ट और गतिशील शुक्राणुओं का निर्माण होता है। इसके अलावा ये शिथिल पड़ी क्षतिग्रस्त नाड़ियों का कायाकल्प करते हैं जिससे सूचनाओं एवं संवेदनाओं का प्रवाह दुरुस्त हो जाता है।

 नाड़ियों को स्वस्थ रखने में अलसी में विद्यमान लेसीथिन, विटामिन बी ग्रुप, बीटा केरोटीन, फोलेट, कॉपर आदि की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ओमेगा-3 फैट के अलावा सेलेनियम और जिंक प्रोस्टेट के रखरखाव, स्खलन पर नियंत्रण, टेस्टोस्टिरोन और शुक्राणुओं के निर्माण के लिए बहुत आवश्यक हैं। कुछ वैज्ञानिकों के मतानुसार अलसी लिंग की लंबाई और मोटाई भी बढ़ाती है।

अलसी बांझपन, पुरूषहीनता, शीघ्रस्खलन व स्थम्भन दोष में बहुत लाभदायक है।
पुरूष को कामदेव तो स्त्रियों को रति बनाती है अलसी। अलसी बांझपन, पुरूषहीनता, शीघ्रस्खलन व स्थम्भन दोष में बहुत लाभदायक है। 

अर्थात स्त्री-पुरुष की समस्त लैंगिक समस्याओं का एक-सूत्रीय समाधान है।इस तरह आपने देखा कि अलसी के सेवन से कैसे प्रेम और यौवन की रासलीला सजती है, जबर्दस्त अश्वतुल्य स्तंभन होता है, जब तक मन न भरे सम्भोग का दौर चलता है, देह के सारे चक्र खुल जाते हैं, पूरे शरीर में दैविक ऊर्जा का प्रवाह होता है और सम्भोग एक यांत्रिक क्रीड़ा न रह कर एक आध्यात्मिक उत्सव बन जाता है, समाधि का रूप बन जाता है।

तेल तड़का छोड़ कर, नित घूमन को जाय।
मधुमेह का नाश हो, जो जन अलसी खाय।।
नित भोजन के संग में, मुट्ठी अलसी खाय।
अपच मिटे, भोजन पचे, कब्जियत मिट जाये।।
घी खाये मांस बढ़े, अलसी खाये खोपड़ी।
दूध पिये शक्ति बढ़े, भुला दे सबकी हेकड़ी।।
धातुवर्धक, बल-कारक, जो प्रिय पूछो मोय।
अलसी समान त्रिलोक में, और न औषध कोय।।
जो नित अलसी खात है, प्रात पियत है पानी।
कबहुं न मिलिहैं वैद्यराज से, कबहुँ न जाई जवानी।।
अलसी तोला तीन जो, दूध मिला कर खाय।
रक्त धातु दोनों बढ़े, नामर्दी मिट जाय।।

7 people found this helpful

Is it safe to eat grapes during pregnancy. I'm in my 1st trimester. What are the fruits should be avoided during pregnancy.

BASM, MD, MS (Counseling & Psychotherapy), MSc - Psychology, Certificate in Clinical psychology of children and Young People, Certificate in Psychological First Aid, Certificate in Positive Psychology
Psychologist, Palakkad
Is it safe to eat grapes during pregnancy. I'm in my 1st trimester. What are the fruits should be avoided during preg...
Dear user. Medical professionals suggest that pregnant women should avoid eating grapes especially in the last trimester due to their heat content. In fact, raisins, which are dried grapes, have also been labelled as foods to avoid during pregnancy. So avoid grapes.
Submit FeedbackFeedback

How can I improve my appetite for home food so that I can increase my weight? Please advice.

MD, Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Bangalore
How can I improve my appetite for home food so that I can increase my weight? Please advice.
1) drink boiled jeera water whole the day 2) daily 30min brisk walk 3) have daily greenleafy vegetables 4) avoid panner, chat masala, sweets like jamoon, jilebi, mysorepak, badasha etc.
111 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Im a 20 year old girl. Im getting my periods every 20 to 23 days. Earlier 6 months ago I had a menstrual cycle of 30 to 32 days. I am worried. Please help. As sometimes I get periods twice in a month.

DHMS (Diploma in Homeopathic Medicine and Surgery)
Homeopath, Hyderabad
Im a 20 year old girl. Im getting my periods every 20 to 23 days. Earlier 6 months ago I had a menstrual cycle of 30 ...
Sometimes, the periods may be disturbed due to physical exertion, stress, sickness and hormonal disturbance. Homoeopathy has effective treatment for your problem without adverse effects. Take pulsatilla 200 ---once daily in the morning for 5 days.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

CCMTD, CCEBDM, C.Diabetology, American Diabetes Association, DOMS, MBBS
Endocrinologist, Mumbai
Laziness and lack of energy can be due to thyroid disorder. So don't neglect it.

Is kissing and licking vagina of my wife is healthy. Secretions occurring in vagina can go in my mouth.

BDS, D.pharm
Dentist, Chennai
Is kissing and licking vagina of my wife is healthy. Secretions occurring in vagina can go in my mouth.
It is not healthy if you not sure about the virginal secretion of your wife. First get her blood test done and if all fine then you can do what ever you want without any fear. But yes there are many bacteria that's very bad if it enters from virgina to your mouth you may have to face those bacterial and fungal infections in your mouth later.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

I am 44 years old female. I am fully healthy. But have family history of b. P, diabetes thyroid etcc. Kindly suggest me how shall I protect myself from not being diseased in future. I do not do any exercise but I am very conscious of what I eat . Whatever option of exercise I take, I feel too tired and can't pursue the household chores. Other wise I am active the whole day. So kindly suggest me the steps to be healthy in future.

DNB (Obstetrics and Gynecology), DGO, MBBS
Gynaecologist, Hyderabad
I am 44 years old female. I am fully healthy. But have family history of b. P, diabetes thyroid etcc. Kindly suggest ...
Hi if your bp is normal than please do this tests 1 fbsl/ppbsl 2 tsh 3 lipid profile if this test comes normal than its confirm that right now you are not suffering from any such disease. Regarding prevention for future you start doing yoga half an hour, aerobic exercise, take healthy diet including more of proteins/ dry fruits, eat less oil/ghee in diet. Eat more vegetables that much is enogh for future protection and after doing yoga you will feel more enertize and you will not tired thanks.
Submit FeedbackFeedback

Hello doctor please reply me. I am 21 yr old girl I had intimate with my husband at3/5/2015 on my periods date. But my hubby hadn't ejaculated inside. We hadn't. Took any precaution I felt cramp on body from dat tym ownwards. Am I pregnant?

MBBS, MD - Obstetrtics & Gynaecology, FMAS, DMAS
Gynaecologist, Noida
Hello, you had sex during the safe period and also as there was no ejaculation, the chances of pregnancy are negligible. Regards.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

At what age normal Menopause starts. What are the symptoms. Will there be any mood swings or emotional distress related to this?

MD-Ayurveda, Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Sexologist, Haldwani
At what age normal Menopause starts. What are the symptoms. Will there be any mood swings or emotional distress relat...
Hello- Menopause is a natural decline in reproductive hormones when a woman reaches her 40s or 50s. Common symptoms include hot flashes and vaginal dryness. There may also be sleep disturbances. The combination of these symptoms can cause anxiety or depression. Many women note that stress is not the major issue, and that depression is really frustration that their libido is not in sync with that of their partner. However certain aphrodisiac herbs (in ayurveda) and specific tips can offer significant help for this condition and overall well-being.
1 person found this helpful
Submit FeedbackFeedback

Improving Dental Health

Post-Graduate Certificate in Endodontics
Dentist, Cuttack
Improving Dental Health
Do not use your teeth for doing something other than chewing food. Using them for cracking nuts, removing bottle tops or ripping open packaging can result in chipped or broken teeth.
26 people found this helpful

On 25 April I was with my boyfriend we didn't have sex only foreplay. But only for fraction of second he rubbed his penis over my vagina. After that immediately he removed it. I want to ask can I get pregnant thought this action. My period was on 11 April and till now it has not come. My exams are also going on.

MBBS, DNB - Obstetrics & Gynecology
Gynaecologist, Mumbai
Hi lybrate-user pregnancy after unprotected contact can not be ruled out. Stress can also be a factor of delayed periods in your case, as you have exams. Nonetheless, get a pregnancy test done to be sure.
Submit FeedbackFeedback

I recently had a urine test and bacteria ,mucus was present in the report also it has some trace of urine what does it mean do in having uti, m 7 month pregnant?

PGDMCH, MBA( CHA) , MBBS
General Physician, Gurgaon
I recently had a urine test and bacteria ,mucus was present in the report also it has some trace of urine what does i...
Dear Lybrateuser, you seem to be suffering from UTI in pregnancy. Pl get Urine tested for Culture and Sensitivity so that treatment could be worked out. Meanwhile take Tracfree XT one pouch dissolved in a cup of water twice a day and incease fluid intake.
Submit FeedbackFeedback

Hello my age is 22 and I have a period nd what should I do its so much pain ful then what should I do.

BHMS
Homeopath,
Hello my age is 22 and I have a period nd what should I do its so much pain ful then what should I do.
Apply heat over your lower abdomen. If it's very much painful in every period then you need to do usg for detection of pcos or ovarian cyst. U can take mag. Phos 1 m in globules. Take 3-4 globules 3 hrs intetval. During that time. U need proper homeopathic treatment by this your problem will be shorted out permanently. Soo you can contact me through Lybrate.
Submit FeedbackFeedback

I took pills twice in a week last month after 2 days of my period. I have not got my periods this month. Is there a chance I can be pregnant?

D.N.B, D.G.O, M.B.B.S
Gynaecologist, Delhi
I took pills twice in a week last month after 2 days of my period. I have not got my periods this month. Is there a c...
In an event of missed periods chances of pregnancy are always there. Please do a urine pregnancy test done.
3 people found this helpful
Submit FeedbackFeedback
View All Feed