Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Doctor

Dr. P. Gulati

Urologist, Delhi

Call Doctor
Dr. P. Gulati Urologist, Delhi
Call Doctor
Submit Feedback
Report Issue
Get Help
Services
Feed

Personal Statement

I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care....more
I believe in health care that is based on a personal commitment to meet patient needs with compassion and care.
More about Dr. P. Gulati
Dr. P. Gulati is a trusted Urologist in Daryaganj, Delhi. You can visit him at Sanjeevan Speciality Hospital in Daryaganj, Delhi. Save your time and book an appointment online with Dr. P. Gulati on Lybrate.com.

Lybrate.com has an excellent community of Urologists in India. You will find Urologists with more than 30 years of experience on Lybrate.com. You can find Urologists online in Delhi and from across India. View the profile of medical specialists and their reviews from other patients to make an informed decision.

Info

Specialty
Languages spoken
English
Hindi

Location

Services

View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Dr. P. Gulati

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

I am male 45 and I am suffering from kidney disease my creatinine has reached to 5.2 and I want you tell me the Indian diet so that my create nine level can reduce.

MBBS
General Physician,
Creatinine is a breakdown product of creatine phosphate in muscle, and is usually produced at a fairly constant rate by the body (depending on muscle mass of your body. Its filtered by your kidney only so if your kidney starts malfunctioning its level rises in serum. So to reduce your creatinine level almost solely dependant on how your kidney is functioning. Now you might be having chronic kidney disease. So you have to follow strict diet to not get any complications of ckd like hyperkalemia (high potassium in blood, high bp, low calcium and high phosphates in blood or anemia. Low potassium diet should contain rice, beans, broccoli, cabbage, carrots, cooked bread and bread products (not whole grains, pasta, cauliflower, celery, coffee cherriescorn, pies without chocolate, cucumber, cookies without nuts, lettuce, white mushrooms, peaches, onions, pears, peas, peppers, plums, radish, strawberries, water chestnuts, tangerine can be taken. Most of the fruits have high potassium but fruits like watermelon (limit to 1 cup, pineapple or apple of medium size, strawberry, cranberries can be taken in small amount. Avoid milk and milk products, meat, egg, salt in high amount. Take max 2 litres of water in a day. Regular follow up of bp, blood sugar and serum urea, creatinine should be done. Iron folic acid tablets can be taken after meal if you are anemic.

In my routine check up my creatinine level was 1.5 and BUN was 18. There is no other abnormalities .no swollen parts .I am active too. Is it cause any concern. Should I consult a doctor?

MD - Homeopathy, BHMS
Homeopath, Vadodara
In my routine check up my creatinine level was 1.5 and BUN was 18. There is no other abnormalities .no swollen parts ...
yes it is a major concern... it suggest kidney function abnormality and kidney failure... you can consult me at lybrate for homoeopathic treatment.
1 person found this helpful

I am confused that at my buttock line that is boil or cyst. It has swelling around it.

BHMS
Homeopath, Hooghly
This may be a boil, which may be harder due to friction, you need to visit a skin specialist for this purpose.

किडनी में सूजन - Kidney Mein Sujan!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
किडनी में सूजन - Kidney Mein Sujan!

किडनी का हमारे शरीर में महत्व से लगभग सभी परिचित हैं. हमारे शरीर में किडनी के मुख्य कार्य अम्ल-क्षार संतुलन, इलेक्ट्रोलाइट सान्द्रता, कोशिकेतर द्रव मात्रा को नियंत्रित करके और ब्लड प्रेशर पर नियंत्रण रखते हुए गुर्दे पूरे शरीर के होमियोस्टैसिस में भाग लेना है. गुर्दे इन होमियोस्टैटिक कार्यों को स्वतंत्र रूप से व अन्य अंगों, विशिष्टतः अंतःस्रावी तंत्र के अंगों, को साथ मिलाकर, दोनों ही प्रकार से पूर्ण करते हैं. इसके लिए जरूरी हार्मोन जैसे रेनिन, एंजियोटेन्सिस II, एल्डोस्टेरोन, एन्टिडाययूरेटिक हॉर्मोन और आर्टियल नैट्रियूरेटिक पेप्टाइड आदि शामिल हैं.

किडनी के कार्यों की रूपरेखा
गुर्दे के कार्यों में से अनेक कार्य नेफ्रॉन में होने वाले परिशोधन, पुनरवशोषण और स्राव की अपेक्षाकृत सरल कार्यप्रणालियों के द्वारा पूर्ण किये जाते हैं. परिशोधन, जो कि वृक्कीय कणिका में होता है, इसे एक प्रक्रिया भी कहा जा सकता है जिसके द्वारा सेल्स, बड़े प्रोटीन ब्लड से छाने जाते हैं. यह एक अल्ट्राफिल्ट्रेट का निर्माण होता है, जो अंततः मूत्र बनाता है. गुर्दे एक दिन में 180 लीटर अल्ट्राफिल्ट्रेट उत्पन्न करते हैं, जिसका एक बहुत बड़ा प्रतिशत पुनरवशोषित कर लिया जाता है और मूत्र की लगभग 2 लीटर मात्रा की उत्पन्न होती है. इस अल्ट्राफिल्ट्रेट से रक्त में अणुओं का परिवहन पुनरवशोषण कहलाता है. स्राव इसकी विपरीत प्रक्रिया है, जिसमें अणु विपरीत दिशा में, ब्लड से मूत्र की ओर भेजे जाते हैं. उत्सर्जित वेस्ट पदार्थों में प्रोटीन न पच पाने से उत्पन्न नाइट्रोजन-युक्त टॉक्सिक यूरिया और न्यूक्लिक अम्ल के मेटाबोलिक प्रोसेस से उत्पन्न यूरिक अम्ल शामिल हैं.

परासरणीयता नियंत्रण
हाइपोथेलेमस द्वारा प्लाज़्मा परासरणीयता लेवल ऊपर या नीचे होने की जाँच की जाती है. यह सीधे पिछली श्लेषमीय ग्लैंड से इंटरैक्ट करती है. ऑस्मोलोलेटी में वृद्धि होने पर यह ग्रंथि एंटीडाययूरेटिक हार्मोन एडीएच का स्राव करती है, जिससे मूत्र की कंसंट्रेशन बढ़ जाता है. ये दोनों कारक एक साथ कार्य करके प्लाज़्मा की परासरणीयता को पुनः सामान्य लेवल पर लाते हैं. एडीएच संग्रहण नलिका में स्थित मुख्य सेल्स से जुड़ा होता है. यह एक्वापोरिन को मैरो में स्थानांतरित करता है, ताकि जल सामान्यतः अभेद्य मैरो को छोड़ सके और फैट द्वारा शरीर में इसका पुन अवशोषण किया जा सके. ऐसा करने से शरीर में प्लाज़्मा की मात्रा में वृद्धि देखने को मिलती है.

ब्लड प्रेशर का नियंत्रण
लंबी-अवधि में ब्लड प्रेशर का नियंत्रण मुख्यतः गुर्दे पर निर्भर होता है. हालांकि, गुर्दे सीधे ही ब्लड प्रेशर का अनुमान नहीं लगा सकते, लेकिन नेफ्रॉन के सुचारू भागों में सोडियम और क्लोराइड की सुपुर्दगी में परिवर्तन द्वारा किए जाने वाले किण्वक रेनिन के स्राव को परिवर्तित कर देता है. जब कोशिकेतर द्रव उपखंड विस्तारित हो और ब्लड प्रेशर उच्च हो, तो इन आयनों की सुपुर्दगी बढ़ जाती है और रेनिन का स्राव घट जाता है. इसी प्रकार, जब कोशिकेतर द्रव उपखंड संकुचित हो और ब्लड प्रेशर निम्न हो, तो सोडियम और क्लोराइड की सुपुर्दगी कम हो जाती है और प्रतिक्रियास्वरूप रेनिन स्राव बढ़ जाता है.

रेनिन उन रासायनिक संदेशवाहकों की श्रृंखला का पहला सदस्य है, जो मिलकर रेनिन-एंजियोटेन्सिन तंत्र का निर्माण करते हैं. रेनिन में होने वाले बदलावों की वजह से इस तंत्र के आउटपुट, मुख्य रूप से एंजियोटेन्सिन II और एल्डोस्टेरॉन परिवर्तित करते हैं. प्रत्येक हार्मोन अनेक कार्यप्रणालियों के माध्यम से कार्य करता है, लेकिन दोनों ही गुर्दे द्वारा किए जाने वाले सोडियम क्लोराइड के अवशोषण को बढ़ाते हैं, जिससे कोशिकेतर द्रव उपखंड का विस्तार होता है और ब्लड प्रेशर बढ़ता है. जब रेनिन के स्तर बढ़े हुए होते हैं, तो एंजियोटेन्सिन II और एल्डोस्टेरॉन की सान्द्रता बढ़ जाती है, जिसके परिणामस्वरूप सोडियम क्लोराइड के पुनरवशोषण में वृद्धि होती है, कोशिकेतर द्रव उपखंड का विस्तार होता है और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है. इसके विपरीत, जब रेनिन के स्तर निम्न होते हैं, तो एंजियोटेन्सिन II और एल्डोस्टेरॉन के स्तर घट जाते हैं, जिससे कोशिकेतर द्रव उपखंड का संकुचन होता है और ब्लड प्रेशर में कमी आती है.

हार्मोन स्राव
मानव शरीर की बात करें तो गुर्दों से अनेक प्रकार के हार्मोन का स्राव होता हैं. जिसमें एरिथ्रोपीटिन, कैल्सिट्रिऑल और रेनिन शामिल हैं. एरिथ्रोपीटिन को डायलिसिस प्रवाह में हाइपॉक्सिया की प्रतिक्रिया के रूप में छोड़ा जाता है. यह बोन मैरो में एरिथ्रोपोएसिस यानि रेड ब्लड सेल के उत्पादन को उत्प्रेरित करता है. कैल्सिट्रिऑल, विटामिन डी का उत्प्रेरित रूप, कैल्शियम के आन्त्र अवशोषण तथा फॉस्फेट के किडनी रिअब्सोर्प्शन को प्रोत्साहित करता है. रेनिन, जो कि रेनिन-एंजिओटेन्सिन-एल्डोस्टेरॉन तंत्र का एक भाग है, एल्डोस्टेरॉन लेवेल के नियंत्रण में शामिल एक एंज़ाइम होता है.

I have no infection of any type. I have to go for urinate again and again. My sugar is normal. Please advise me

B.A.M.S., B.A.M.S.-Dip.C.H.
Pediatrician, Solapur
I have no infection of any type. I have to go for urinate again and again. My sugar is normal. Please advise me
Some times this problem is occure due to ?worms. please take Ayurvedic medicine for this problem. Tab. Krumikuthaar ras. 2 tab× 2 times syp. Vidangarishta 15 ml × times and Tab. Vishtindulk vati .1 tab.× 2 times in a day.

Sir, I keep my skin back during urine and after that I shake it also but when I recover my skin a drop of urine comes again and sometimes 2-3 drops comes.

BHMS
Homeopath, Noida
Sir, I keep my skin back during urine and after that I shake it also but when I recover my skin a drop of urine comes...
If it is of recent occurance, then it could be UTI Do the following-- you maintain high grade of personal hygiene. Do change your underclothes at least 2 times a day Wear cotton underclothesStay hydrated Keep the area dry. For more details you can consult me.
1 person found this helpful

Last year I have suffered from urinary track infection for around 65 days. Fever used to come for 1-2 hours daily. I consulted my doctor and went for urine culture test then he prescribed me following medicines- 1) Azithrysin 500 mg OD for 15 days 2) nitrofurantoin 100 mg TDS 17 days Now again from the last 10 days I am suffering from the same. I drink coconut water daily. I am taking ciprofloxacin 500 mg BD this time. I am tired of this reoccurring fever. What should I do to get rid of all this?

CCAH, BHMS
Homeopath, Palakkad
Last year I have suffered from urinary track infection for around 65 days. Fever used to come for 1-2 hours daily. I ...
Urinary tract infections can be completely cured with homoeopathic medicines. No side effects at all. 100% rapid and effective results. Drink plenty of water. Take following homoeopathic medicines for 3 days which help you to solve the problems soon. Can notharis 200, uva ursi q and ferrum phos6x tabs. Nothing to worry. For treatment please be free to consult me. Thank you.
2 people found this helpful

Dear sir I am suffering with urethral stricture regularly. Previously I visited a doctor and they did surgery two times. How can I solve my problem with medicine?

MBBS Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, MS - General Surgery, Genito Urinary Surgery
Urologist, Ludhiana
Sir there is no medicine for strict cc tyre. Better to get urethroplasty done if it is not done earlier.
2 people found this helpful
View All Feed

Near By Doctors

Dr. Saurabh Mishra

MCH-Urology
Urologist
Moolchand Medcity, 
500 at clinic
Book Appointment

Dr. Sudhir Khanna

MNAMS - Urology, MCh - Urology, DNB - General Surgery, MS - General Surgery, MBBS
Urologist
Sir Ganga Ram Hospital , 
350 at clinic
Book Appointment

Dr. Kuldip Singh

Fellowship of the Royal College of Surgeons (FRCS), MS, MBBS
Urologist
National Heart Institute, 
500 at clinic
Book Appointment

Dr. Aditya Pradhan

DNB (Urology), MS - General Surgery, MBBS
Urologist
BLK Super Speciality Hospital, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Nikhil Sharma

MBBS, MS - General Surgery, DNB (Urology)
Urologist
Shanti Mukand Hospital Earch Centre, 
300 at clinic
Book Appointment

Dr. Parag Gupta

MBBS, MS - General Surgery, M.Ch - Urology
Urologist
PG Gynaecology and Urology Centre, 
300 at clinic
Book Appointment