Common Specialities
{{speciality.keyWord}}
Common Issues
{{issue.keyWord}}
Common Treatments
{{treatment.keyWord}}
Call Clinic
Book Appointment

Kanwa Diagnostic Clinic

General Physician Clinic

#2/10, Dr. Rajkumar Road, 4Th 'N' Block, Rajaji Nagar. Landmark: Near Planet Honda. Bangalore
1 Doctor · ₹200
Book Appointment
Call Clinic
Kanwa Diagnostic Clinic General Physician Clinic #2/10, Dr. Rajkumar Road, 4Th 'N' Block, Rajaji Nagar. Landmark: Near Planet Honda. Bangalore
1 Doctor · ₹200
Book Appointment
Call Clinic
Report Issue
Get Help
Services
Feed

About

Our medical care facility offers treatments from the best doctors in the field of General Physician . Our entire team is dedicated to providing you with the personalized, gentle care that......more
Our medical care facility offers treatments from the best doctors in the field of General Physician . Our entire team is dedicated to providing you with the personalized, gentle care that you deserve. All our staff is dedicated to your comfort and prompt attention as well.
More about Kanwa Diagnostic Clinic
Kanwa Diagnostic Clinic is known for housing experienced General Physicians. Dr. Venkatappa, a well-reputed General Physician, practices in Bangalore. Visit this medical health centre for General Physicians recommended by 105 patients.

Timings

MON-SAT
07:00 AM - 09:00 PM
SUN
07:00 AM - 01:30 PM

Location

#2/10, Dr. Rajkumar Road, 4Th 'N' Block, Rajaji Nagar. Landmark: Near Planet Honda.
Rajaji Nagar Bangalore, Karnataka - 560010
Click to view clinic direction
Get Directions

Doctor in Kanwa Diagnostic Clinic

Dr. Venkatappa

MBBS, MD - General Medicine
General Physician
49 Years experience
200 at clinic
Available today
07:00 AM - 09:00 PM
View All
View All

Services

Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
Get Cost Estimate
View All Services

Submit Feedback

Submit a review for Kanwa Diagnostic Clinic

Your feedback matters!
Write a Review

Feed

Nothing posted by this doctor yet. Here are some posts by similar doctors.

फिस्टुला का घरेलू उपचार - Fistula Ke Gharelu Upchar!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
फिस्टुला का घरेलू उपचार - Fistula Ke Gharelu Upchar!

गुदा से जुड़ी बीमारी फिस्टुला को ही अङ्ग्रेज़ी में फिस्टुला कहते हैं. दरअसल बवासीर जब लंबे समय तक ठीक नहीं होता है तो यही पुराना होकर फिस्टुला का रूप ले लेता है. जाहीर है फिस्टुला के रूप में आ जाने पर बवासीर बहुत खतरनाक हो जाता है. इसलिए हमारा सलाह है कि आपको बवासीर को कभी नज़र अंदाज़ नहीं करना चाहिए. यही नहीं फिस्टुला एक ऐसी बीमारी है जिसका इलाज़ यदि ज्यादा समय तक ना करवाया जाए तो कैंसर का रूप भी ले सकता है. यहाँ आपको बता दें कि इस कैंसर को रिक्टम कैंसर कहते हें. रिक्टम कैंसर कई बार जानलेवा भी साबित हो सकता है. हालांकि इस बात के सम्भावना बहुत ही कम होती है. इस बीमारी को आप नाड़ी में होने वाला रोग कह सकते हैं, जो गुदा और मलाशय के पास के भाग में स्थित होता है. फिस्टुला में पीड़ाप्रद दानें गुदा के आस-पास निकलकर फूट जाते हैं. इस रोग में गुदा और वस्ति के चारो ओर योनि के समान त्वचा फैल जाती है, जिसे फिस्टुला कहते हैं. इस घाव का एक मुख मलाशय के भीतर और दूसरा बाहर की ओर होता है. फिस्टुला रोग अधिक पुराना होने पर हड्डी में सुराख बना देता है जिससे हडि्डयों से पीव निकलता रहता है और कभी-कभी खून भी आता है. कुछ दिन बाद इसी रास्ते से मल भी आने लगता है. फिस्टुला रोग अधिक कष्टकारी होता है. यह रोग जल्दी खत्म नहीं होता है. इस रोग के होने से रोगी में चिड़चिड़ापन हो जाता है. आइए इस लेख के माध्यम से हम फिस्टुला के विभिन्न इलाज के बारे में जानें ताकि इस विषय में जागरूक हो सकें.

1. चोपचीनी और मिस्री

फिस्टुला का इलाज चोपचीनी और मिस्री के सहयाता से भी किया जा सकता है. इसके लिए आपको इन्हें बारीक पीसकर समान मात्रा में इसमें देशी घी मिलायें. फिर इससे 20-20 ग्राम के लड्डू बना कर इसे सुबह शाम नियमित रूप से खाना होगा. ध्यान रहे इस दौरान आप नमक, तेल, खटाई, चाय, मसाले आदि न खाएं. क्योंकि इसे खाने से इस दवा का असर खत्म हो सकता है. यानि इलाज के दौरान आप फीकी रोटी को घी और शक्कर के साथ खा सकते हैं. इसके अलावा आप दलिया और बिना नमक का हलवा इत्यादि भी खा सकते हैं. यदि आपने नियमित रूप से इसका पालन किया तो लगभग 21 दिन में आपका फिस्टुला सही हो सकता है. आप चाहें तो इसके साथ सुबह शाम 1-1 चम्मच त्रिफला चूर्ण को भी गुनगुने पानी के साथ ले सकते हैं.

2. पुनर्नवा
फिस्टुला के कई घरेलू उपचार हैं जिनसे इसे ठीक किया जा सकता है. इसके लिए आपको पुनर्नवा, हरड़, दारुहल्दी, गिलोय, हल्दी, सोंठ, चित्रक मूल, भारंगी और देवदार को एक साथ मिलाकर काढ़ा बनाएँ. फिर इस काढ़े को नियमित रूप से पियें तो सूजनयुक्त फिस्टुला में काफी लाभकारी साबित होता है. पुनर्नवा शोथ-शमन कारी गुणों से युक्त होता है.

3. नीम
नीम की पत्तियों का इस्तेमाल भी फिस्टुला के उपचार के लिए किया जाता है. इसके लिए इस पत्तियों को घी और तिल की 5-5 ग्राम की मात्रा में लें. फिर उसे कूट-पीसकर उसमें 20 ग्राम जौ का आटा मिलाकर उस पानी की सहायता से इसका लेप तैयार करें. अब इस लेप को किसी साफ कपड़े के टुकड़े पर फैलाकर फिस्टुला पर बांध लें. इससे काफी लाभ मिलता है.

4. गुड़
पुराना गुड़, नीलाथोथा, गन्दा बिरोजा और सिरस की एक समान मात्रा को थोड़े से पानी में घोंटकर इसका मलहम बनाएं. इसके बाद उस मलहम को कपड़े पर लगाकर फिस्टुला के घाव पर कुछ दिनों तक लगातार रखने से यह रोग ठीक हो सकता है.

5. शहद
फिस्टुला के इलाज के लिए शहद और सेंधानमक को एकसाथ मिलाकर इसकी एक बत्ती तैयार करें. फिर इस बत्ती को फिस्टुला के नासूर में रखें. यदि आप नियमित रूप से ऐसा करेंगे तो आपको इसका निश्चित लाभ मिलेगा.

6. केला और कपूर
एक पके केले और कपूर भी फिस्टुला के उपचार के लिए बहुत सहायक होता है. आप पके हुए केले के बीच में चीरा लगा कर चने के दाने के बराबर कपूर को रख दें और फिर इसको खाए और इसे खाने के एक घंटा पहले और एक घंटा बाद में कुछ भी नहीं खाना पीना चाहिए. यदि फिस्टुला बहुत पुरानी हो गयी हो और इस प्रकार की उपाय से सही नहीं होती है तो कृपया सर्जरी का सहारा लें.

7. भोजन और परहेज
आहार-विहार के असंयम से ही रोगों की उत्पत्ति होती है. इस तरह के रोगों में खाने-पीने का संयम न रखने पर यह बढ़ जाता है. अत: इस रोग में खास तौर पर आहार-विहार पर सावधानी बरतनी चाहिए. इस प्रकार के रोगों में सर्व प्रथम रोग की उत्पति के कारणों को दूर करना चाहिए क्योंकि उसके कारण को दूर किये बिना चिकित्सा में सफलता नहीं मिलती है. इस रोग में रोगी और चिकित्सक दोनों को सावधानी बरतनी चाहिए.

गुर्दे से संबंधित समस्याएं - Gurde Se Sambandhit Samasyaen!

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery (BAMS)
Ayurveda, Lakhimpur Kheri
गुर्दे से संबंधित समस्याएं - Gurde Se Sambandhit Samasyaen!

गुर्दा हमारे शरीर में खून की सफाई के लिए प्रयुक्त होने वाला दुसरे नम्बर का फ़िल्टर है. इसी से हमें गुर्दे का महत्व पता चल सकता है कि ह्रदय द्वारा पम्प किए हुए रक्त का 20 प्रतिशत किडनी द्वारा साफ़ किया जाता है. फिर इसमें से निकले विषैले और अपशिष्ट पदार्थों को मूत्र के जरिए बाहर कर दिया जाता है. दुर्भाग्य से हमें गुर्दे में होने वाले रोग की जानकारी इसके पहले चरण में नहीं हो पाती है. इसलिए हमें बेहद सतर्क रहने की आवश्यकता है. इस संबंध में जागरूकता के लिए हमें गुर्दे से संबंधित समस्याओं के लक्षणों की पहचान करनी पड़ेगी. आइए हम गुर्दे में उत्पन्न होने वाली समस्याओं के लक्षणों को जानें.

1. बार-बार पेशाब आना

किडनी में संक्रमण के कई लक्षणों में से एक बार-बार पेशाब आना भी है. इसकी वजह से आपकी यूरीन की मात्रा और आवृत्ति में पबदलाव आ सकता है. खासतौर से रात में यूरीन में ज्‍यादा वृद्धि हो सकती है. इसमें आपको कम या ज्‍यादा मात्रा में यूरीन पीले रंग के साथ भी हो सकता है. ये भी हो सकता है कि पेशाब करने में समस्या आए और ये समस्या लगातार बनी रहे.

2. हाथ पैर या टखने का सूजन
किडनी रोग की पहचान का ये भी एक मुख्य लक्षण है. जब किडनी संक्रमित हो जाती है तो शरीर से विषैले तत्‍व बाहर नहीं निकल पाते हैं. इसलिए इससे कई तरह की समस्याएं आने लगती हैं. शरीर में इकठ्ठा होने वाले अतिरिक्त तरल पदार्थ हाथ, पैर, चेहरे और टखनों में सूजन का कारण बनते हैं.

3. पेशाब में रक्त या प्रोटीन का आना
जब पेशाब में खून आने लगता है तब तो हमें आसानी से पता चल जाता है. लेकिन पेशाब के जरिए प्रोटीन के बाहर आने का पता लगाना ज़रा मुश्किल है. इसके लिए आपको लगातार निरिक्षण करते रहना होता है. दोनों ही स्थितियों में आपको तुरंत चिकित्सक के पास जाकर उन्हें पूरी बात बतानी चाहिए.

4. भूख का कम लगाना या वजन घटना
हमारे शरीर को लगातार काम करते रहने के लिए उचित पोषण और ऊर्जा की जरूरत होती है. जाहिर है ये ऊर्जा और पोषण हमें भोजन के जरिए ही मिलता है. लेकिन यदि भूख ही न लगे तो इसका एक कारण किडनी की कोई बिमारी भी हो सकती है. इसलिए जरुरी है कि किसी डॉक्टर को दिखाएँ.

5. उच्च रक्त चाप
उच्च रक्तचाप तो अपने आप में एक समस्या है. लेकिन कई बार इसका कारण किडनी में रोग भी हो सकता है. दरअसल होता ये है कि शरीर की क्षमता में कमी आने से हमारा ह्रदय तंत्रिका तंत्र के विभिन्न कार्यों को करने के लिए तेजी से रक्त पम्प करना शुरू कर देता है. ऐसे में जब दिल ज्यादा काम करता है तो उच्च रक्तचाप की समस्या हो जाती है.

6. त्वचा में रैशेज
जैसा कि हमने आपको बताया कि किडनी का काम भी खून से विषैले पदार्थों को बाहर निकालना है. लेकिन जब किडनी में संक्रमण हो जाता है तो अपशिष्ट पदार्थ बाहर नहीं आ पाते हैं. इसकी वजह से त्वचा पर चकत्ते और खुजली जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है.

7. थकान और सांस लेने में समस्या
शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालते समय किडनी इरिथरोपोटीन नामक हार्मोन का उत्पन करता है. ऑक्सीजन को लाल रक्त कोशिकाएं बनाने में इस हार्मोन की ही भूमिका होती है. इसलिए जब किडनी में कोई समस्या आती है तो इरिथरोपोटीन का उत्पादन प्रभावित होता है. इससे शरीर में ऑक्सीजन के वितरण के लिए जिम्मेदार लाल रक्त कोशिकाएं कम पड़ जाती हैं और सांस लेने में भी दिक्कत होने लगती है. इसके साथ ही हमारा दिमाग, मसल्स और पूरा शरीर जल्दी ही थक जाते हैं. इसे रक्ताल्पता भी कहते हैं.

8. जी मितलाना और चक्कर आना
किडनी के काम न करने पर शरीर में अपशिष्ट पदार्थों के अधिकता हो जाती है. जिसकी वजह से जी मितलाना और उल्टी जैसी परेशानियाँ भी उत्पन्न होने लगती हैं. इसके अलावा रक्ताल्पता की वजह से भी चक्कर आने या एकाग्र न कर पाने जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं.

9. मासपेशियों में ऐंठन
कई बार ऐसा भी हो सकता है कि किडनी में आने वाली परेशानियों की वजह से मांसपेशियों में गंभीर रूप से ऐंठन और दर्द उत्पन्न हो सकता है. ये दर्द शरीर के विभिन्न भागों में उत्पन्न हो सकता है.

10. टेस्ट
अंतिम और सबसे ज्यादा भरोसेमंद उपाय के रूप में आप इन लक्षणों के आधार पर टेस्ट करा सकते हैं. किडनी रोग में किडनी की कार्यक्षमता का अंदाजा लगाने के लिए क्रिएटिनिन के स्तर का पता लगाया जाता है. इसके लिए साधारण-सी जांच की जाती है. इसके अतिरिक्त पेशाब और स्‍क्रीनिंग के द्वारा भी किडनी के रोग की जांच होती है.
 

6 Natural Laxative Food!

M.Sc. in Dietetics and Food Service Management , Post Graduate Diploma In Computer Application, P.G.Diploma in Clinical Nutrition & Dietetics , B.Sc.Clinical Nutrition & Dietetics
Dietitian/Nutritionist, Mumbai
6 Natural Laxative Food!

6 Natural Laxative Food!

3 people found this helpful

Yoga And ED!

Diploma In Traditional Siddha, B.H.M.S
Sexologist, Bilaspur
Yoga And ED!

Yoga helps you beat erectile dysfunction (ed) through stress relief, improved blood flow which is essential for stronger and long-lasting erections, and other mechanisms that scientists are now beginning to elucidate.

If you want to beat ED, study says yoga poses as an effective, natural, and inexpensive solution. We bring you seven poses to try.

1. Boat pose (naukasana)
Boat pose activates sexual hormones in men and helps you last longer between the sheets by strengthening your hips, buttocks, and thigh muscles. It belongs to one of the basic yoga poses due to its simplicity. Here’s how to do it:

• lie on the back with arms beside your body and feet together
• inhale and as you’re exhaling start lifting your chest and feet off the ground

• stretch your arms toward your feet

• your eyes, fingers, and toes should be in a straight line, but at first, it might be easier for you to keep them at knee height

• maintain the pose for a few seconds while taking a deep breath

• exhale and return to the starting position

2. Plank (kumbhakasana)
Plank is one of the most beneficial poses or exercises, you can do and it happens to combat ed. Improved endurance during the sexual performance and upper body strength are additional benefits of this useful pose. To maximize your effort, combine plank with one of the top male enhancement pills for super strong and hard erections. Here’s how to get into this posture:

• begin with the kneeling position with hands resting on your thighs

• bend forward with hands on the floor right in front of you

• raise the buttocks with knees still on the ground

• slide both feet backward and raise your knees making sure that your head, trunk, back, and legs are forming a straight line

• don’t bend your knees and elbows

• maintain the pose for a few seconds and release

3. Raised leg pose (uttanpadasana)
This particular yoga posture provides an intense workout to your core and engages glutes and quadriceps. As a result, you last longer in bed, particularly in the missionary position. Raised leg pose stretches the psoas and the hip flexor muscles, thus boosting your energy levels and increasing blood flow to the pelvic area, thus helping you beat ed. To make this pose, you should:

• lie flat on the back and breathe normally

• place hands by your sides with palms facing down

• inhale and lift the legs from the ground at about 45 to 60-degree angle

• hold the posture for 15-20 seconds

• exhale and return to the starting position

4. Seated forward bend (paschimottanasana)
Seated forward bend is yet another pose that combats ed and helps you last longer in bed. It does so by improving your endurance and strength while targeting perineal muscles, the group of muscles found between scrotum and anus. Here are the instructions:

• sit straight with legs extended and toes flexed towards you

• inhale as you’re raising arms over your head

• exhale and bend forward moving the chin towards your toes

• stretch out your arms and try to let them reach the furthest they can (preferably all the way to your toes) without making it feel uncomfortable or too painful

• inhale, lift your head and elongate the spine

• exhale while trying to bring the navel to your knees

• remain in that position for a few seconds and release

5. Bow pose (dhanurasana)
One of the most important characteristics of bow pose is the stimulation of reproductive organs. Besides ed, bow pose tackles premature ejaculation and intensifies your orgasms. To get into the bow pose, you should:

• lie on the stomach with feet hip-width apart and arms at your sides

• raise your legs so that feet are facing the direction of your head and hold your ankles

• inhale while lifting the chest off the floor

• pull your legs up and back

• stay in this position for 15-20 seconds and release

6. Half camel pose (ardha ustrasana)
Half camel pose improves your digestion and helps you tone the entire body. Also, it has a beneficial impact on a man’s urogenital system. In order to get into this incredibly simple pose, you should:

• being with kneeling position with hands on your thighs and knees apart

• rise up with arms beside your body

• hold the left ankle with right hand and stretch left arm in front of the head, like you’re pointing something at the horizon

• stay in this position for 30 seconds

• return to the initial pose and switch sides

7. Half moon pose (ardha chandrasana)
With this pose, you can improve stamina and endurance as well as tone your entire body. As you already know, stamina and endurance are crucial for your sexual health and performance which is why enhancement pills like endovex provide ed relief as well as a boost in endurance, strength, and other factors vital to your sex life. So, here’s the process:

• stand straight on your mat and bring right foot back so that you are at a low lunge with left leg

• your hands should be framing your left foot

• bring right hand to your right hip

• lift up right foot

• straighten your left leg out behind you

• rotate your right hip back stacking it on top of the left hip

• extend right hand toward the sky

• maintain this position for 5 deep breaths

• return to the starting position

Conclusion
Yoga isn’t just for women; it benefits male sexual health as well. Yoga improves your endurance, increases blood flow, and strengthens muscles thus allowing you to improve your sexual performance in a natural manner.

Natural Medicine For ED!

Diploma In Traditional Siddha, B.H.M.S
Sexologist, Bilaspur
Natural Medicine For ED!

Ginger: Ginger is used widely in alternative medicine for its antioxidant anti-inflammatory properties.
Cinnamon: Cinnamon stimulate the production of sperm and testosterone, to improve sexual functioning.
watermelon seed; watermelon seed extracts have antioxidant properties and can protect sperm.
Aloe Vera: Aloe vera extracts may be useful for treating sexual dysfunctions as it can stimulate cell division.
Nutmeg: Nutmeg used to treat sexual dysfunction in males.
Clove: Clove extracts are another traditional aphrodisiac used in Unani medicine.

Homeopathy To Boost Immunity!

Homeopath, Delhi
Homeopathy To Boost Immunity!

Homeopathy works on Immunity by decreasing

  • Frequency of episodes of sickness
  • Intensity of sufferings in attacks
  • duration of an episode till back to Normal           

Hii I am suffering from premature ejaculation and also watery sperm some time I have few drops of pure white liquid some time totally water please suggest me any treatment and I also consume fast food.

BHMS
Homeopath, Sindhudurg
Hii I am suffering from premature ejaculation and also watery sperm some time I have few drops of pure white liquid s...
Hi. Early discharge / ejaculation may result in unsatisfactory sex for both partners. There are many homeopathic remedies which are very effective and powerful in curing premature ejaculation without side effects but I need detailed case history to find out best suitable medicine for you. Homoepathic treatment depends on cause of problem. Generally 3 months course required to cure completely. You can buy premature ejaculation package offered by me at affordable price.

Blood in a stool ,I think it's piles, it's bleeding, I get pain during motion .it's been happening for 20 days ,what is the cure and precaution for this case.

BHMS
Homeopath, Noida
Blood in a stool ,I think it's piles, it's bleeding, I get pain during motion .it's been happening for 20 days ,what ...
You need to take treatment for this. 1. Take home cooked, fresh light food. Take a lot of green vegetables n fruit. 2. Increasing the fibre in your diet is known to be as effective as injections for preventing further problems 3. Increasing your fluid intake which can help prevent further problems with haemorrhoids 4. Avoiding straining and constipation which is the most useful thing patients can do to prevent the problem coming back. If the fibre content of your diet is not sufficient to keep your stools soft, then a fibre supplement can help. 5. Maintain active life style 6. Curd is good for u. 7. Avoid fast foods, spicy n fried foods Homeopathy has very encouraging results. Consult online with details.

Blood in a stool ,I think it's piles ,it's bleeding, I get pain during motion and its been happening for 20 days.

BHMS, CAFE
Homeopath, Lucknow
Blood in a stool ,I think it's piles ,it's bleeding, I get pain during motion and its been happening for 20 days.
Please follow this medicine for 15 days. Aesculus hip 30 5 drops morning evening hamamellis -Q 10 drops in half cup of water afternoon hydrastis can -Q 5 drops in half cup of water night.
View All Feed

Near By Clinics

Kanva Diagnostic Services Pvt. Ltd.

Rajaji Nagar, Bangalore, Bangalore
View Clinic

Brahma Homeopathic Centre

Basaveshwara Nagar, Bangalore, Bangalore
View Clinic

Kanva Diagnostic Services Pvt. Ltd.

Rajaji Nagar, Bangalore, Bangalore
View Clinic

Kanva Diagnostic Services Pvt Ltd

Rajaji Nagar, Bangalore, Bangalore
View Clinic